Wednesday, November 14, 2018

अजय चौटाला पर हुई अनुशासनात्मक कार्यवाही 


चंडीगढ़, 14 नवम्बर: इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने चंडीगढ़ में हुई प्रैसवार्ता में अजय सिंह चौटाला को राज्य इकाई के प्रधान महासचिव के पद से मुक्त करने के साथ-साथ उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी निष्कासित कर दिया है। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला द्वारा लिखित अजय चौटाला का निष्कासन पत्र पढ़ते हुए यह औपचारिक घोषणा की। प्रैसवार्ता में नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला भी मौजूद थे। प्रदेशाध्यक्ष ने इनेलो सुप्रीमो के पत्र के हवाले से कहा कि अजय चौटाला पार्टी विरोधी गतिविधियों में सलिंप्त पाए गए हैं उन्होंने संगठन के समानांतर संगठन चलाने की कोशिश की है जिस पर संज्ञान लेते हुए इनेलो राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओम प्रकाश चौटाला ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही करते हुए उन्हें पार्टी की राज्य इकाई के प्रधान महासचिव पद से हटा दिया है और उनको इनेलो पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी निष्कासित कर दिया है। उन्होंने एक बार फिर बता दिया है कि उनके लिए पार्टी सर्वप्रिय है और उससे बड़ा न कोई व्यक्ति है और न कोई परिवार का सदस्य है। इसके अतिरिक्त इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने पार्टी की ओर से सार्वजनिक सूचना जारी करते हुए कहा कि 17 नवंबर, 2018 को सिंह अजय चौटाला द्वारा जो तथाकथित राज्य कार्यकारिणी की बैठक बुलाई गई है, वह इंडियन नैशनल लोकदल के संविधान के अनुच्छेद 9 की धारा 5 की उल्लंघना करती है। संविधान के अनुच्छेद की धारा 5 के तहत कोई भी आम या विशेष राज्यकार्यकारिणी की बैठक को बिना राष्ट्रीय अध्यक्ष की पूर्व अनुमति के नहीं बुलाया जा सकता है। इसकी उल्लंघना करने वाले के विरुद्ध राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुशासनात्मक कार्यवाही कर सकते हैं।

No comments:

Post a Comment