Friday, November 2, 2018

इनेलो को कमजोर करने का प्रयास कर रही हैं कुछ ताकतें- अभय चौटाला 


कुरुक्षेत्र: जिन ताकतों ने चौ. देवीलाल तथा चौ. ओम प्रकाश चौटाला को कमजोर करने का काम किया था, आज फिर वही ताकतें इनेलो को कमजोर करने का प्रयास कर रही हैं, लेकिन पार्टी के अनुशासित व समर्पित कार्यकर्ता इन ताकतों के मंसूबों को कभी सफल नहीं होने देंगे। यह विचार हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने स्थानीय पंजाबी धर्मशाला में इनेलो व बसपा कार्यकर्ताओं की जिला स्तरीय विशाल बैठक को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। इस बैठक को इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, बसपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, पूर्व मंत्री एवं पिहोवा के विधायक जसविन्द्र सिंह संधु, इनेलो नेता पूर्ण चन्द बडशामी, इनेलो जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, बसपा जिला प्रधान मान सिंह, इनेलो हलका थानेसर प्रधान रणबीर सिंह बूरा, लाडवा हलका प्रधान सुरेश सैनी, पिहोवा हलका प्रधान करन सिंह इशहाक, शाहाबाद हलका प्रधान अमनदीप सिंह कांबोज, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मायाराम चन्द्रभानपुरा, शहरी प्रधान विवेक मेहता, प्रदेश प्रवक्ता प्रवीन आत्रोय, प्रो. संतोष दहिया, जोगध्यान, कलावती, सुरजीत कौर, हलका प्रवक्ता सुरेन्द्र सैनी, व्यापार प्रकोष्ठ के जिला प्रधान नीतिन गोयल बंटू, व्यापारी नेता नलिन गोयल, मास्टर हरि सिंह पांचाल, चन्द्रभान बाल्मिकी, अजराना के सरपंच संदीप बाल्मिकी, बलजिन्द्र सिंह बब्बू, जोगध्यान, सुभाष मिर्जापुर सहित गठबंधन के अनेक नेताओं ने संबोधित किया। बैठक में पहुंचने पर बसपा नेताओं ने अभय चौटाला को नीली पगड़ी तथा इनेलो नेताओं ने प्रकाश भारती को हरी पगड़ी सम्मान स्वरूप भेेंट की। प्रवीन कश्यप के नेतृत्व में कश्यप समाज ने भी अभय चौटाला को सम्मानित किया। अनेक युवाओं ने इनेलो का दामन थामा। बैठक में विशाल उपस्थिति देखकर अभय चौटाला सहित गठबंधन के नेता गद्गद नजर आए। बैठक में अनेक युवा ढ़ोल ढमाकों के साथ शामिल हुए। महिलाएं भी भारी संख्या में उपस्थि थी। अभय चौटाला ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में आने वाले चुनावों में 1987 का इतिहास दोहराया जाएगा। गठबंधन विधानसभा की सभी 90 सीटों पर तथा लोकसभा की सभी 10 सीटों पर विजय प्राप्त करेगा। देश की प्रधानमंत्री मायावती बनेंगी और प्रदेश में ओमप्रकाश चौटाला मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने कहा कि गठबंधन होने से भाजपा और कांग्रेस को काफी तकलीफ हुई। उन्होंने कहा कि जिन ताकतों ने 1987 में बनी देवीलाल की सरकार को गिराया था और षडयंत्र रचके ओमप्रकाश चौटाला को जेल भिजवाया आज फिर वही ताकतें सक्रिय होकर इनेलो को तोडऩे का प्रयास कर रही हैं और पार्टी की कुछ कमजोर कड़ी ऐसी ताकतों के संपर्क में हैं, लेकिन इनेलो के समर्पित व कर्मठ कार्यकर्ता इन ताकतों के मंसूबे कभी सफल नहीं होने देंगे। अभय चौटाला ने कांग्रेस और भाजपा को आड़े हाथों लेतेे हुए कहा कि इन दोनों दलों ने एसवाईएल के पानी को राजनीति के भेंट चढ़ा दिया है। 1966 से 76 तक प्रदेश में कांग्रेस के राज में हरियाणा के हिस्से का पानी लाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया। चौ. देवीलाल और ओमप्रकाश चौटाला के शासन में ही एसवाईएल नहर बनी। सुप्रीम कोर्ट से हरियाणा के हक में फैसला होने के बावजूद भी केन्द्र व प्रदेश सरकार ने एसवाईएल में पानी लाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। 2 वर्ष से मुख्यमंत्री हरियाणा के सर्वदलीय नेताओं को एसवाईएल के मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मिलने का समय नहीं दिला पाए हैं। हरियाणा सरकार ने तो एसवाईएल में पानी लाने की बजाए इस इलाके की दादुपुर नलवी परियोजना को ही रद्द कर दिया। अभय चौटाला ने कहा कि एसवाईएल, दादुपुर नलवी नहर तथा मेवात कैनाल के मुद्दों को लेकर 15 नवंबर के पश्चात गठबंधन की प्रदेश स्तरीय बैठक में नये सिरे से आंदोलन चलाने का फैसला लिया जाएगा। बसपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश में गठबंधन की जिला स्तरीय बैठकें रैली का रूप ले रही हैं। कार्यकर्ताओं की आवाज पर दोनों दलों का गठबंधन हुआ है। गठबंधन की शुरूआत अभय चौटाला और अशोक अरोड़ा ने की थी। कांगे्रस गठबंधन को लेकर अनेक प्रकार की अफवाहें फैला रही है। कांग्र्रेस और भाजपा में कोई फर्क नहीं है। दोनों दलों का गठबंधन अटूट है। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने आरोप लगाया कि भाजपा और कांग्रेस दोनों मिलकर इनेलो को कमजोर करने का षडयंत्र रच रहे हैं। पार्टी पूरी तरह से ओमप्रकाश चौटाला के साथ है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने षडयंत्र के तहत चौटाला तथा पार्टी के अन्य नेताओं को जेल भिजवाया। जो लोग कहते थे कि इनेलो खत्म हो जाएगा। आज वही लोग हासिये पर हैं और कार्यकर्ताओं की बदौलत इनेलो और अधिक मजबूत हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में नमी के नाम पर किसानी की धान की फसल को लूटा जा रहा है। सरकार हर मोर्चे पर विफल है। पिहोवा के विधायक एवं पूर्व मंत्री जसविन्द्र सिंह संधु ने कहा कि गोहाना की रैली में कुछ लोगों ने अनुशासनहीनता करके अभय चौटाला को उकसाने का प्रयास किया लेकिन अभय चौटाला ने संयम बरता। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता और इनेलो पूरी तरह से अभय चौटाला के साथ है। गठबंधन की इस जिला स्तरीय बैठक में इतना अधिक जनसैलाब उमड़ा कि बैठक रैली में तबदील हो गई। आयोजकों की उम्मीद से ज्यादा कार्यकर्ता इस बैठक में शामिल हुए। भारी संख्या में युवा व महिलाएं भी बैठक में उपस्थित थी, बैठक में युवा ढ़ोल-नगाडों की थाप नाचते-गाते शामिल हुए तो महिलाएं गीत गाती हुई आई। बैठक में उमड़े जनसैलाब को देखकर अभय चौटाला व गठबंधन के अन्य नेता काफी खुश नजर आए। रैली में पूर्व विधायक नरेन्द्र सांगवान, मामूराम गोंदर, प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय, बसपा नेता डॉ. बलदेव, गुरमीत सिंह, हंसराज कश्यप, बसपा लोकसभा क्षेत्र प्रभारी सूरजभान नरवाल, बसपा नेत्री शशि सैनी, युवा इनेलो नेता विनोद राणा, प्रदेश महासचिव बूटा सिंह लुखी, तून खान, शंकुतला भट्टी, मास्टर हरि सिंह पांचाल, सुलतान ब्राह्मण माजरा, प्रवीण कश्यप, नगर पार्षद नीतिन भारद्वाज लाली, कुवि के पार्षद नरेन्द्र वर्मा, संदीप टेका, शहरी प्रधान विवेक मेहता, रामस्वरूप चोपड़ा, सतबीर शर्मा, पूर्व पार्षद नरेन्द्र शर्मा निन्दी, पूर्व पार्षद ओमप्रकाश ओपी, मनु जैन, दीपक सिंगला, दीपक फौजी, तरसेम हरियापुर, प्रहलाद शर्मा, विक्रम चक्रपाणी सहित दोनों दलों के अनेक नेता उपस्थित थे।
अभय चौटाला की उपस्थिति में हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की सचिव मारथा गुलजार, ब्लॉक समिति की पूर्व मेंबर अमरजीत कौर सैनी सिंहपुरा, थानेसर के पूर्व यूथ कांग्रेस प्रधान बिंदर बोडला, अमनपाल, मौजी लोहाट, लोकेन्द्र , आशु सिंगला, संजीव मनचंदा, आशीष बागड़ी, रोबिन ओजला, अंकित लौहाट सहित अनेक युवाओं ने इनेलो में शामिल होने की घोषणा की।

No comments:

Post a Comment