Saturday, November 3, 2018

दुष्यंत, दिग्विजय चौटाला के इनेलो से निष्कासित फैसले को कार्यकर्ताओं ने बताया षडयंत्र


भिवानी,3 नवम्बर: इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला और इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला के पार्टी निष्कासन के फैसले के विरोध में आज भिवानी में अनेक जगहों पर इनेलो कार्यकर्ताओं की बैठकें आयोजित हुई। जिसमें जनलोकप्रिय सांसद दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला के खिलाफ फैसले पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने संदेह जताते हुए कहा कि यह फैसला पार्टी सुप्रीमो औम प्रकाश चौटाला का नहीं है यह फैसला केवल मात्र चुनिंदा लोगों का है जो पार्टी को तोडऩा चाहते हैं। उन्होंने कहा कि दुष्यंत और दिग्विजय  चौटाला के लिए अब खाप प्रधानों के साथ-साथ पार्षदो, पूर्व पार्षदों, सरपंचों व बीडीसी सदस्यों के साथ साथ विभिन्न समाज की समितियों से समर्थन मांगा जाऐगा। वहीं 5 नवम्बर को बड़ी संख्या में दिल्ली के 18 जनपथ पर पहुंचकर दुष्यंत व दिग्विजय के हाथ मजबूत किए जाऐंगे। भिवानी के देवीलाल सदन, गांव धनाना, हलका लोहारू, बवानीेखेड़ा, हलका तोशाम में अनेक कार्यकर्ताओं ने इस फैसले विरोध में बैठकें आयोजित की और दुष्यंत, दिग्विजय के खिलाफ पार्टी निष्कासन को षडयंत्र बताया। भिवानी में जहां पूर्व चेयरमैन रामचंद्र कोटिया, पूर्व चेयरमैन प्रेम धनाना, डीएसपी होश्यार सिंह, पप्पल ठाकुर, डा. विजय सांगवान मंदौला, डा. दिनेश सनसनवाल, राजू मेहरा, औमधारा श्योराण प्रदेश उपाध्यक्ष, जितेंद्र शर्मा धारेडू, बाली शर्मा धारेडू, रामफल फौजी, पार्षद सुशीला पूनिया, पार्षद मदन लाल जूसवाला, सुरेंद्र पूनिया टीटीई,  रामफल जाखड़ चेयरमैन, दिनेश नम्बरदार, सचिन जताई, सेठी धनाना, विरेंद्र वाल्मीकि, मनमोहन भुरटाना, कृष्ण मित्ताथल,  शकुंतला परमार, वीना सारसर, अजीत बड़ेसरा, ईकबाल सहरावत, दीपक सिवाड़ा, दीपक रिवाड़ीखेड़ा, बिटटू शर्मा, राम सिंह वैद्य,पवन फौजी तिगड़ाना, अनिल मोटू,  जितेंद्र रिवाड़ीखेड़ा, रूपेश धानक, विजय मित्ताथल, नरेंद्र मित्ताथल, दयानंद मित्ताथल, प्रदीप मित्ताथल,मंदीप सुई, विक्रम बड़ेसरा, बलवंत औरंगनगर, मैनपाल नम्बरदार, विक्रम धनाना, विकास बुडानिया, दयाकिशन बूरा,  भौम सिंह, सतपाल सरपंच घुसकानी, सतबीर घुसकानी, दीपक वाल्मीकि, महेंद्रनम्बरदार, लीला डोहकी, सुरेश ठेकेदार, धीरा शर्मा मुण्ढाल, रामकिशन काजल, सुभाष धानक खरक, अशेाक धानक, जितेंद्र तंवर, अशोक बाली शर्मा, आसू वाल्मीकि, रमेश भौरिया, प्रदीप गोयल, कमलजीत यादव, माईराम खटीक, प्रमोद जोगी आदि भिवानी में वहीं तोशाम में पार्षद सुलोचना पोटलिया, युवा नेता राजेश भारद्वाज, रमेश चेयरमैन, कृष्ण वर्मा प्रवक्ता, नरेश रापडिय़ा, जैना शर्मा, हरीश तोशाम, सीना पायल, सुनील पटवारी, डा. जयबीर बूरा, रण सिंह सिहाग, दल सिंह पंघाल, सुभाष रंगा, ओमी बापोड़ा, सरपंच औम प्रकाश कैरू, अधिवक्ता सुमित श्योराण, सत्यवान शर्मा बीडीसी, पूर्व चेयरमैन भूपेंद्र बौंद, छतरपाल बीड़ीसी, कुलदीप पटवारी, सोमबीर तोशाम, सोमबीर ढाणी माहू, नवनीत रापडिय़ा, कृ ष्ण सरपंच, गुलाब सैनी, राज कुमार जांगड़ा, संदीप थिलोड़, संदीप बापेाड़ा, जय ङ्क्षसह ढाणी माहू, विनोद गोयत, उमेद सरपंच, सुनील बिड़ोला, सुखबीर सण्डवा, अमन सरल, विरेंद्र पडग़ढ़, आस ढाडम, बलजीत पोहकरवास, राजा अत्री, मुखत्यार पाथरवाली, उमेद भैरा, टोनी सांगवान, गोलू मलिक, टोनी सांगवान, रविकांत जांगड़ा, मनोज खानक, रमेश जटासरा ने दुष्यंत, दिग्विजय का समर्थन किया वहीं लोहारू में वरिष्ठ इनेलो नेता विजय गोठड़ा, वजीर मान, वेदपाल चैहड़, सुरेंद्र राठी, नरवेंद्र धोलिया, सुरेश गुडा, मनोज बेडवाल, अधिवक्ता देवेंद्र नकीपुर, राजेश आर्य, गौरव चौधरी, धु्रव सांगवान, पार्षद अनिल गोकुलपुरा, दिनेश सिहाग, अमित सिधन्वा, हिम्मत जावला, प्रदीप बिधनोई, वजीर खरकड़ी, अनिल फरटिया, सुरेश कुडल, दीपक पंघाल, विरेंद्र ढाणी लक्ष्मण, अधिवक्ता दिलबाग ङ्क्षसह, सुल्तान सिंह, गौरव चौधरी, संजीव काकड़ोली, अशोक सिहाग, सहित अनेक लोगों ने दुष्यंत व दिग्विजय का समर्थन करते हुए इस फैसले को षडयंत्र करार दिया।  

No comments:

Post a Comment