Tuesday, October 9, 2018

रोजगार की मांग को लेकर दुष्यंत पहुंचे राजभवन
सरकार ने समाधान नहीं निकाला तो 9 अक्तूबर से सरकार की पोल खोलेंगे घर-घर जाकर: दुष्यंत



चंडीगढ़ :प्रदेश भर के युवाओं को रोजगार दिलाने की मांग को लेकर हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला सोमवार को राजभवन पहुंचे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने महामहिम राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को हरियाणा की युवाओं की तरफ से एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में सांसद ने महामहिम को बताया कि प्रदेश की भाजपा सरकार अपने चुनावी घोषणा पत्र से मुंह मोड़ रही है। उन्होंने बताया कि चुनावी घोषणा पत्र में युवाओं को रोजगार देने की बात कही गई थी लेकिन युवाओं से फार्म तो भरवा लिए लेकिन उन्हें नौकरी नहीं दी गई। सांसद ने यह भी कहा कि अन्य प्रदेशों की तरह हरियाणा में स्थित प्राइवेट कंपनियों में हरियाणा के युवाओं के लिए 50 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित की जाएं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि महामहिम ने भरोसा दिलाया है कि वे इस पर जरूर कार्रवाई करेंगे। महामहिम को ज्ञापन सौंपने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि रोजगार देने की दिशा में ठोस कदम उठाने के लिए उन्होंने 6 सितम्बर को गुरुग्राम में हजारों युवाओं के साथ प्रदर्शन कर जिला उपायुक्त को ज्ञापन देकर सरकार को चेताया था। साथ ही सरकार को चेतावनी भी दी थी कि अगर 2 अक्टूबर तक सरकार ने युवाओं की नौकरियों के लिए कोई ठोस रणनीति नहीं बनाई तो वे प्रदेश स्तर पर इस मुहिम को लेकर जाएंगे। सांसद ने कहा कि इसी कड़ी में आज महामहिम को ज्ञापन देने आए थे। महामहिम ने बड़ी गौर से युवाओं की बात सुनी और भरोसा दिलाया है कि वे इस संबंध में आवश्यक जरूरी कदम उठाएंगे। दुष्यंत ने कहा कि प्रदेश के युवा सरकार से कोई खैरात नहीं मांग रहे हैं बल्कि रोजगार हर युवा का अधिकार है और युवा अपना अधिकार मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं के लिए रोजगार का प्रबंध करेे अन्यथा वह सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगे। दुष्यंत चौटाला ने सरकार से सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों पर युवाओं की नियमित भर्ती करने, हरियाणा की जमीन पर स्थापित होने वाली निजी कंपनियों में प्रदेश के युवाओं के लिए 50 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित करने सहित अन्य मांगें की। सांसद ने कहा कि अगर 9 अक्तूबर तक सरकार नहीं चेती तो युवा इनेलो के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता गांव-गांव गली-गली जाकर सरकार की पोल खोलेंगे। एक सवाल के जवाब में इनेलो सांसद ने कहा कि भाजपा सरकार ने युवाओं को रोजगार के नाम पर धोखा दिया है। भाजपा ने सत्ता में आने से पूर्व लाखों युवाओं को रोजगार देने का वायदा किया था। परन्तु सत्ता में आने के बाद भाजपा युवाओं को रोजगार देने में पूरी तरह से फेल रही है। इनेलो सांसद ने कहा कि सरकार ने तो बेरोजगारों को छह व नौ हजार रूपये बेरोजगारी भत्ता देने के वायदे से मुकर गई है। सांसद चौटाला ने सरकारी आंकड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों में सरकार ने आवेदनों के नाम पर करोड़ों रूपये से सरकारी खजाना तो भर लिया परन्तु एचपीएससी के माध्यम से रोजगार केवल 209 युवकों को ही मिला। सांसद दुष्यंत ने कहा कि हरियाणा के अकेले गुरुग्राम जिले में ही निजी कंपनियों में लाखों युवाओं के रोजगार हैं। इन कंपनियों को सडक़ें, जमीन, बिजली-पानी हरियाणा से मिलता है और रोजगार किसी अन्य राज्यों के युवाओं को दिया जाता है। उन्होंने सरकार से मांग की कि इसके लिए कानून बनाए कि प्रदेश में लगने वाले हर कंपनी में प्रदेश के युवाओं के लिए 50 प्रतिशत रोजगार आरक्षित हो। इस दौरान पूर्व डीजीपी एमएस  मलिक, पूर्व युवा प्रदेशाध्यक्ष सुमित राणा, पूर्व युवा प्रदेश प्रभारी गुरविंद्र तेजली, अमित बूरा, अरविंद भारद्वाज, नितिन जांगू, सुरेंद्र धोला, भीम सिंह, सोनू पंचकूला, अमरेंद्र सोंटा , विक्रम हड़तान, अमनदीप चावला, अनिल गुज्जर, बलराज नोच, कुणाल गहलावत, विनोद भारद्वाज, प्रवीन डुडी, सतीश राघव, विजय भुरथला, मनोज, रविंद्र गागड़वास, मनोज यादव, काला नंबरदार, अजायब ओला, अजय संधू, उपेंद्र कादियान, अनुराग खटकड़ तथा बिट्टू नैन सहित युवा इनेलो के पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment