Wednesday, October 31, 2018

अभय चौटाला करेंगे गठबंधन की बैठक को संबोधित


कुरुक्षेत्र, 31 अक्तूबर: हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला 1 नवंबर को कुरुक्षेत्र की पंजाबी धर्मशाला में इनेलो-बसपा गठबंधन की जिला स्तरीय बैठक को संबोधित करने के लिए आ रहे हैं। इस बैठक में अधिक से अधिक भीड़ जुटाने की कमान पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा तथा उनके सुपुत्र हिमांशु अरोड़ा हन्नी ने संभाली हुई है। अशोक अरोड़ा ने जहां ग्रामीण इलाकों में जोनवाईज कार्यकर्ताओं की बैठकें लेकर भीड़ जुटाने के लिए उनकी ड्यूटी लगाई हैं। उसी के साथ-साथ हिमांशु अरोड़ा हन्नी ने युवाओं की बैठक आयोजित करके उन्हें जिम्मेवारी सौंपी है। बैठक की तैयारियों को लेकर आज जिला इनेलो कार्यालय में युवा वर्ग की बैठक में हिमांशु अरोड़ा हन्नी ने कार्यकर्ताटों की ड्यूटियां लगाई। इस अवसर पर युवा इनेलो के पूर्व महासचिव सुल्तान ब्राह्मणमाजरा, पूर्व प्रदेश सचिव एवं पार्षद नितिन भारद्वाज लाली, पूर्व शहरी प्रधान अनिरुद्ध शर्मा हन्नी, जोगध्यान, दिनेश मिर्जापुर, जोगेन्द्र पिंडारसी, सोहेल खान, रोहित सैनी, कुलदीप हथीरा, प्रवीन कश्यप, सुमित, नवनीत, दीपक फौजी, साहिल अरोड़ा सहित पार्टी से जुड़े अनेक युवाओं ने भाग लिया।
जिला इनेलो कार्यालय में युवा वर्ग की बैठक को संबोधित करते हुए हिमांशु अरोड़ा हन्नी ने अपील की कि इस बैठक में अधिक से अधिक युवाओं की भागीदारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ओम प्रकाश चौटाला देश के एकमात्र ऐसे नेता हैं जो कार्यकर्ताओं के लिए जेल काट रहे हैं। जबकि आमतौर पर कार्यकर्ता नेताओं के लिए जेल जाते हैं। अभय चौटाला को युवाओं का आदर्श बताते हुए हन्नी ने कहा कि प्रदेश के युवा वर्ग को अभय चौटाला से अनेक आशाएं हैं। भाजपा ने युवाओं को रोजगार देने का वायदा किया था लेकिन सत्ता में आते ही भाजपा सरकार ने रोजगार देने की बजाए रोजगार छीनने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आज युवा वर्ग इनेलो के साथ जुड़ चुका है। युवा वर्ग का भाजपा से मोहभंग हो चुका है। कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए युवा इनेलो नेता ने कहा कि कांग्रेस ने भी युवा वर्ग का शोषण किया। प्रदेश की जनता भाजपा और कांग्रेस दोनों से दुखी है। आने वाले चुनावों में प्रदेश में चौ. ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनेगी जबकि मायावती देश की प्रधानमंत्री होंगी।
अभय चौटाला ने प्रदेशवासियों को हरियाणा दिवस शुभकामनाएं दीं


चंडीगढ़, 31 अक्तूबर: नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने इनेलो परिवार की ओर से प्रदेशवासियों को हरियाणा दिवस के अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए उनके मंगल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि यह चौधरी देवीलाल के संघर्ष व प्रयासों का ही फल है, जो हरियाणा प्रदेश को 1 नवंबर 1966 को खुद की पहचान मिली और हम सभी को हरियाणवी होने का गौरव हासिल हुआ। इनेलो वरिष्ठ नेता ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला की नीतियों ने हरियाणा प्रदेश को देश ही नहीं बल्कि विश्व पटल पर चमकाने का काम किया। उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा प्रदेश ने देश के अन्न भंडार भरने के साथ-साथ राष्ट्र के विकास व खेलों में अह्म योगदान दिया है। हरियाणा के जवानों ने देश की सीमा की रक्षा में सबसे अधिक कुर्बानियां देकर पूरे देश के सामने एक मिसाल कायम की। अभय सिंह चौटाला ने प्रदेशवासियों से यह भी अपील की कि जननायक के सपनों का हरियाणा बनाने के लिए उनकी बातों का अनुसरण करें और उनके दिखाए मार्ग पर चलें। उन्होंने यह भी कामना कि आने वाला समय सभी के लिए खुशियां, सुख समृद्धि एवं खुशहाली लेकर आए और आपसी भाईचारा हमेशा कायम रहे।
हरियाणा, दिल्ली, चण्डीगढ़, राजस्थान के बाद देश के अन्य प्रदेशों में जाऐगा इनसो- दिग्विजय चौटाला


भिवानी,31 अक्तूबर:  राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में शानदार जीतदर्ज कर इनसो का मान बढ़ाने वाली बहन रेणू चौधरी के कार्यालय का इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने आज शुभारंभ किया। दिग्विजय ने बताया कि पिछले दिनों राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में इनसो ने अपने चुनिंदा प्रत्याशी उतारे थे। जिसमें इनसो ने शानदार प्रदर्शन करते हुए विश्वविद्यालय के उप प्रधान की शीट पर कब्जा जमाया। वहां बहन रेणू चौधरी ने उपाध्यक्ष पद पर शानदार जीत दर्ज की वहीं अधिकतर प्रत्याशी कुछ अतंरों से रह गए लेकिन इनसो के वोट प्रतिशत को यदि जोड़ा जाए तो वह अपने आप में एक अनूठे रिकार्ड के बराबर है। इनसो अध्यक्ष ने इनसो विश्वविद्यालय उपाध्यक्ष रेणू चौधरी के कार्यालय का उदघाटन करते हुए कहा कि बहन रेणू चौधरी ने राजस्थान में इनसो संगठन को आगे बढ़ाकर इसका विस्तार किया है वह काबिलेतारीफ है। आज इनसो अपने छात्र हितों की लड़ाई के कारण और सामाजिक कार्यों के कारण देश में सुर्खिया बटोर रहा है। निश्चित तौर पर इनसो देश का सबसे बड़ा छात्र संगठन बन चुका है। यदि इनसो के विस्तार की बात की जाए तो हरियाणा, दिल्ली, चण्डीगढ़, राजस्थान के  बाद इनसो मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब, के साथ साथ गुजरात के अंदर भी अपनी शानदार उपस्थिति दर्ज करवाऐगी। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि भविष्य में इनसो संगठन से वहीं साथी जुड़ पाऐंगे जो सक्रिय है और छात्र हितों के साथ- साथ युवा हितों की पैरवी करेंगे। इसके लिए कॉलेज व विश्वविद्यालयों में विशेष अभियान भी चलाया जाएगा और इनसो संगठन में सक्रिय छात्रों को जगह दी जाएगी। दिग्विजय ने बताया कि राजस्थान में प्रत्याशी उतारने से पहले इनसो के बारे मेें यहां कम ही लोग जानते थे लेकिन अब राजस्थान के सभी कॉलेजों व विद्यालयों में इनसो संगठन के साथियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती नजर आ रही है।दिग्विजय ने कहा कि रेणू चौधरी ने विश्वविद्यालय उपाध्यक्ष पद जीत कर यह दर्शा दिया कि इनसो संगठन बेटियों हकों के प्रति जागरूक है और इनसो की नीतियां बेटियों लिए कारगर सिद्ध होगी। उन्होंने बकायदा रेणू चौधरी को कार्यालय की मुख्य सीट पर बैठाकर उन्हें शुभ कामनाएं दी और कहा कि बहनों के इस हौंसले को वो सलाम करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में इनसो के विस्तारीकरण के लिए उत्तर प्रदेश ,पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात को चिहिन्त कर लिया गया है और जल्द ही इनसो संगठन के कर्मठ कार्यकर्ता यहां पर नियुक्त कर दिए जाऐंगे। 

Tuesday, October 30, 2018

प्रदेश में नहीं है सरकार नाम की चीज- अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र, 30 अक्तूबर: हरियणा में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है। सारे प्रदेश के कर्मचारी सडक़ों पर हैं। कानून व्यवस्था का दिवाला पिट चुका है। जनता समस्याओं से जूझ रही है। यह आरोप इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने गांव मंझाड़ा, भिवानीखेड़ा, ज्योतिसर, हथीरा और फतुहपुर में जनसभाओं को संबोधित करते हुए लगाया। अरोड़ा ने लोगों से 1 नवंबर को प्रात: 11 बजे कुरुक्षेत्र की पंजाबी धर्मशाला में इनेलो-बसपा गठबंधन की बैठक में आने का निमंत्रण देते हुए कहा कि इस बैठक को हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती सहित दोनों दलों के अनेक नेता संबोधित करेंगे। इस अवसर पर इनेलो हलका प्रधान रणबीर सिंह बुरा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राम स्वरूप चोपड़ा, इनेलो नेता तरसेम हरियापुर, चन्द्रभान बाल्मिकी, इनेलो हलका प्रधान सुरेन्द्र सैनी, मोहित सैनी, सतबीर शर्मा, ओमप्रकाश हंसाला, केहर सिंह सिंहपुरा, राजबीर सहित अनेक नेताओं ने लोगों को 1 नवंबर की जिला स्तरीय बैठक में पहुंचने का निमंत्रण दिया। अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश की हालत बद से बदतर होती जा रही है। पिछले 15 दिन से रोडवेज कर्मचारी हड़ताल पर हैं और अब 2 दिन के लिए उनके समर्थन में प्रदेश के 140 संगठनों ने हड़ताल की हुई है। सरकार अपनी हठधर्मिता पर अड़ी हुई है। हरियाणा रोडवेज का निजीकरण करने की जिद पर सरकार अड़ रही है, जबकि कर्मचारी हरियाणा रोडवेज को बचाने के लिए बसें खरीदने हेतु अपना एक महीने का वेतन व बोनस देने की पेशकश कर चुके हैं, लेकिन कुछ चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए सरकार 720 प्राईवेट बसों को परमिट देने पर अमादा है। अरोड़ा ने कहा कि सरकार को जिद छोडक़र कर्मचारियों के साथ वार्ता करनी चाहिए वरना स्थिति इतनी भयानक हो जाएगी जिसे सरकार के लिए संभालना मुश्किल हो जाएगा। प्रदेश के हर वर्ग में सरकार के प्रति गहरा रोष है। कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। बेटी बचाओ का नारा लाने वाली भाजपा की सरकार में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। प्रतिदिन सामुहिक बलात्कार जैसी घिनौनी घटनाएं हो रही हैं। कारोबार ठप्प होने से व्यापारी दुखी हैं। रोजगार देने की बजाए सरकार रोजगार छीनने पर लगी हुई है। उन्होंने कहा कि गठबंधन ने एसवाईएल, बढ़ती महंगाई, बिगड़ती कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों को लेकर लंबे समय से संघर्ष छेड़ा हुआ है। अब दोबारा से फिर पार्टी इन मुद्दों को लेकर सडक़ों पर उतरेगी।
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा जब अनाजमंडियों में किसानों की धान की फसल को नमी के नाम पर लूटा जा रहा था और फर्जी खरीद दिखाकर व्यापारी और सरकार के चहेते चूना लगाने मेें लगे हुए थे। उस समय सरकार ने चुप्पी साधी हुई थी। बड़े-बड़े मगरमच्छों पर हाथ डालने की बजाए अब छोटे कर्मचारियों को फंसाया जा रहा है। अरोड़ा ने कहा कि धान खरीद में बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। यदि धान की खरीद और शैलरों में पड़े धान की फिजिकल वैरिफिकेशन करवाई जाए तो करोड़ों रुपये का घोटाला उजागर हो जाएगा। मंडियों में धान की खरीद के जे फार्म न्यूनतम समर्थन मूल्य के काटे गए, लेकिन किसानों को 200 से 250 रुपये प्रति क्विंटल कम दिया गया। उन्होंने कहा कि धान खरीद घोटाला कॉमन वेल्थ गेम्स से भी बड़ा घोटाला है।

दुष्यंत की कामयाबी और प्रदेश की शांति के लिये दिग्विजय ने अजमेर शरीफ दरगाह पर मांगी दुआयें 

भिवानी 30 अक्टूबर: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने आज जयपुर स्थित ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती शरीफ दरगाह पर जाकर मन्नत मांगी। चौटाला ने देश के सबसे सफल सांसद दुष्यंत चौटाला की कामयाबी के साथ हरियाणा प्रदेश की जनता की भलाई और प्रदेश के अमन शांति के लिए दरगाह पर चद्दर चढ़ा दुआऐ मांगी। अपने दो दिनी राजस्थान दौरे के दौरान जब दिग्विजय चौटाला जयपुर पहुंचे तो सबसे पहले उन्होंने विश्व प्रसिद्ध इस धार्मिक स्थल पर मथ्था टेकने का मन बनाया। दिग्विजय ने कहा की जब दुआऐ जनता की भलाई के लिऐ मन से मांगी जाती कहते है तो संसार की सारी कायनात उसको कामयाब करने में लग जाती है। दिग्विजय ने बताया की उन्होंने जनलोकप्रिय सांसद दुष्यंत चौटाला की कामयाबी के साथ साथ हरियाणा प्रदेश की खुशहाली के लिये दरगाह आने का मन बनाया है उन्होंने कहा की यंहा आकर उन्हें स्वयं अहसास भी हुआ की दुआओं मे शक्ति होती है यदि वह मन से की जाऐ। अजमेर दरगाह तो वैसे भी विश्वविख्यात है की यंहा आने वाला शक्स कभी खाली हाथ नहीं जाता।इसलिए उन्होंने दुष्यंत की कामयाबी के साथ हरियाणा के अमन चैन को ध्यान मे रखते हुऐ यंहा आने का फैसला लिया.दिग्विजय ने बताया की भारतवर्ष विश्व मे इसलिए भी प्रसिद्ध है की यंहा अनेको धर्मो के लोग रहते है और अनेको धार्मिक स्थल भी है जिनकी अपनी अपनी महत्वता है।अजमेर दरगाह मे लोग आस्था के साथ दर्शन करने आते है और आश्चर्य है की कभी भी खाली हाथ नहीं जाते।उन्होंने कहा की आज दुष्यंत चौटाला जनहित के कार्यो मे लगे रहते है वे हर समय हरियाणा की जनता की आवाज सडक से लेकर ससंद तक उठाते है। आज हरियाणा प्रदेश को दुष्यंत चौटाला जैसे राजनैतिकों की आवश्यकता है। दुष्यंत हमेशा सबको साथ लेकर चलने की सोच रखते है। वहीं दिग्विजय ने कहा की हरियाणा जैसे खुशहाल प्रदेश को पिछले काफी वर्षो से नजर लग गई है हरियाणा के भाईचारे को तोडने का काम समय समय पर जनविरोधी ताकते करती आई है लेकिन हरियाणा के लोग बहुत समझदार है और उन्होंने भाईचारे के दुश्मनो को पिछले दिनो जवाब भी दिया है।उन्होंने कहा की आज वे हरियाणा प्रदेश की शांति के लिये अजमेर दरगाह पर आऐ और दुवाऐ मांगी की हरियाणा हमेशा खुशहाल रहे।ज्ञात है की डा.अजय सिंह चौटाला के साथ साथ नैना चौटाला, दुष्यंत चौटाला व दिग्विजय चौटाला समय निकालकर धार्मिक स्थलो पर जाते रहते है इससे पहले भी वे विश्वप्रसिद्ध शिवमंदिर,सालासर,बालाजी मंदिर के साथ साथ अनेको स्थानो पर गये है।उनकी आस्था रहती है की वो जनकल्याण के लिऐ धार्मिक स्थलों के दर्शन करे।।

Monday, October 29, 2018

 
चुनरी चौपाल सत्ता परिवर्तन में निभाऐगा अह्म भूमिका- दिग्विजय चौटाला


भिवानी, 29 अक्तूबर: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि जब-जब देश व प्रदेश के अंदर ज्यादती हुई है तो सबसे पहले नारी शक्ति ने उन जुल्मों के खिलाफ आवाज उठाई है। इसी कड़ी में आज डबवाली से जनलोकप्रिय विधायिका नैना सिंह चौटाला की चुनरी चौपाल महिलाओं की आवाज उठाने के लिए अग्रसर है। 1 नवम्बर को बाढड़ा के खेल स्टेडियम में होने वाली चुनरी चौपाल अपने आप में सत्ता परिवर्तन और ज्यादती की इस लड़ाई में अह्म भूमिका निभाऐगी। यही नहीं यह चुनरी चौपाल देश के अंदर एक इतिहास लिखने जा रही है जिसमें महिलाओं के सम्मान के लिए उन्हें एकजुटता का पाठ पढ़ाया जा रहा है। दिग्विजय ने कहा कि चुनरी चौपाल की सफलता को देखकर यह बात बिलकुल साफ हो गई है कि हरियाणा प्रदेश में होने वाले सत्ता परिवर्तन में मातृ शक्ति की अह्म भूमिका होगी वहीं चुनरी चौपाल को लेकर विरोधियों के चेहरे की चमक उडऩा लाजिमी है। दिग्विजय ने कहा कि नैना चौटाला के चुनरी चौपाल कार्यक्रम हरियाणा के इतिहास में आज तक के नारी शक्ति में  सबसे सफल कार्यक्रम साबित हुए हैं। आए दिन सैंकड़ों मातृ शक्ति इस अभियान से जुड़ रही है और न्याय की इस लड़ाई में अपनी भूमिका निभाने के लिए आगे आ रही हैं। दिग्विजय ने चुटकी लेते हुए कहा कि आज चुनिंदा स्वार्थी लोग अपने मतलब के लिए माहौल को खराब करना चाहते हैं, लेकिन मेहनतकश संगठन को कभी भी मिटाया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि भिवानी जिला वैसे भी डा. अजय सिंह चौटाला की कर्मभूमि रहीं है और भिवानी के साथ लगते दादरी जिले में पिछले दिनों चुनरी चौपाल के सफल आयोजन ने यह साबित भी कर दिया था। उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं को एकजुटता का पाठ पढ़ाते हुए 1 नवम्बर को बाढड़ा के खेल स्टेडियम में होने वाले चुनरी चौपाल कार्यक्रम को लेकर सफल बनाने की अपील की। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि आज मातृ शक्ति के साथ-साथ युवा, छात्र, इकाई दिनरात मेहनत करके संगठन को ओर आगे लेकर जाने के लिए प्रयासरत हैं। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि बाढड़ा की धरती परिवर्तन और क्रांतिकारी धरती मानी जाती है। चुनरी चौपाल के कार्यक्रम को लेकर नारी शक्ति में उत्साह है उससे तो यह साफ प्रतीत होता है कि यह कार्यक्रम इतिहास लिखने जा रहा है। दिग्विजय ने कहा कि आज हरियाणा प्रदेश के अंदर महिला उत्पीडऩ के सैंकड़ों मामले सुर्खियों में है, लेकिन सरकार नारी शक्ति के उपर हो रहे अत्याचारों को लेकर गम्भीर नहीं है। प्रदेश विकास कार्यों में जहां पीछे रहा वहीं लूट, बलात्कार, डकैती, छेड़छाड़ के मामलों में एक नम्बर पर आ गया है। प्रदेश की प्रमुख शहरों में महिलाओं पर अत्याचारों की लिस्ट लम्बी है। 
उन्होंने कहा कि नैना सिंह चौटाला ने महिलाओं के उत्थान के लिए और उनके भविष्य को सुरक्षित करने के लिए जिस उदेश्य के साथ चुनरी चौपाल कार्यक्रम आयोजित किए थे वह सफल होते नजर आ रहे हैं। 1 नवम्बर को हलका बाढड़ा की धरती पर नारी शक्ति का नया रूप देखने को मिलेगा। 


मनोहर सरकार ने रोडवेज व्यवस्था को सुधरने के बजाय निजीकरण किया- अभय चौटाला 

चंडीगढ़, 29 अक्तूबर: नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के उस बयान की कड़ी निंदा की है जिसमें उन्होंने कहा है कि निजीकरण से सड़क परिवहन सुविधाएं यात्रियों के लिए अधिक लाभप्रद होंगी। उन्होंने इस बात पर खेद व्यक्त किया कि राज्य के मुख्यमंत्री ने हरियाणा रोडवेज व्यवस्था को सुधारने के प्रयास करने की बजाए उसके स्थान पर निजीकरण के विकल्प को उचित ठहराया है। इससे भी अधिक खेद की बात यह है कि उन्होंने परिवहन के निजीकरण के साथ-साथ यह तर्क भी दिया कि शिक्षा के साथ स्वास्थ्य सुविधाओं के निजीकरण से राज्य के लोगों को लाभ पहुंचा है। 
नेता विपक्ष ने कहा कि ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री की खुशहाल हरियाणा की तस्वीर में उन गरीबों के लिए कोई स्थान नहीं है जिन्हें शिक्षा के लिए सरकारी स्कूलों और स्वास्थ्य के लिए सरकारी अस्पतालों पर निर्भर होना पड़ता है। जहां सरकार की प्राथमिकता यह होनी चाहिए कि न केवल शिक्षा और स्वास्थ्य में अधिक निवेश कर उसे बेहतर बनाया जाए वहीं सडक़ परिवहन में भी आवश्यक प्रबंधन संबंधी और साधनों संबंधी सुधार भी करने चाहिए। ऐसा लगता है कि चूंकि भाजपा की सरकार धनीवर्ग से ही संबंधित इस लिए उसकी नजर में गरीबों को न तो जीने का अधिकार है और न ही अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाएं और सस्ते परिवहन की आवश्यकता है। 
इनेलो नेता ने याद दिलाया कि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के मुख्यमंत्री काल में हरियाणा रोडवेज रिकोर्ड मुनाफा देती थी उसे पूरे देश में उदाहरण के तौर पर देखा जाता था। किन्तुु भाजपा सरकार के कार्यकाल में राज्य की प्राथमिकताएं बदलकर अब केवल संपन्न समाज के कल्याण के लिए ही रह गई हैं। सरकार की आलोचना करने के साथ-साथ नेता विपक्ष ने एक बार फिर सरकार से कहा है कि वह अपनी हठधर्मिता छोड़ कर हड़ताल पर गए कर्मचारियों के साथ बातचीत कर उचित मार्ग तलाश करे।

1 नवंबर को अभय चौटाला कुरुक्षेत्र में लेंगे गठबंधन की जिला स्तरीय बैठक


कुरुक्षेत्र:  1 नवंबर को हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला स्थानीय पंजाबी धर्मशाला में इनेलो व बसपा के कार्यकर्ताओं की जिला स्तरीय बैठक को संबोधित करने के लिए आ रहे हैं। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने आज पंजाबी धर्मशाला का निरीक्षण करके पार्टी पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए और यह भी कहा कि इस बैठक में दोनों दलों के अधिक से अधिक कार्यकर्ताओं का भाग लेना सुनिश्चित किया जाए। उनके साथ इनेलो के जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, हलका प्रधान रणबीर सिंह किरमच, सुभाष मिर्जापुर, तून खान सहित पार्टी के अनेक पदाधिकारी थे।
प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने बताया कि 1 नवंबर को आयोजित एक जिला स्तरीय बैठक में पार्टी की प्रदेश कार्यकारिणी द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार हरियाणा में एसवाईएल का पानी लाने, बिगड़ती कानून व्यवस्था, जीएसटी व नोटबंदी के कारण व्यापार पर पड़े कुप्रभाव जैसे ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इन मुद्दों को लेकर पार्टी शीघ्र ही प्रदेश में आंदोलन चलाएगी। आंदोलन की रणनीति तैयार करने के लिए पूरे प्रदेश में दोनों दलों के कार्यकर्ताओं की जिला स्तरीय बैठकें आयोजित की जा रही हैं। 
उन्होंने कहा कि आज पूरे प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ी हुई है। सरकार नाम की कोई चीज नहीं है। रोडवेज सहित सभी कर्मचारी सडक़ों पर हैं। सरकार हठधर्मिता पर अड़ी हुई है जिस कारण रोडवेज की हड़ताल लंबी खिंच रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अपील की कि वे कर्मचारियों का उत्पीडऩ करने की बजाए हठधर्मिता छोडक़र रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों के साथ वार्ता करें। पूर्व परिवहन मंत्री अशोक अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा रोडवेज की बस सेवा पूरे देश में बेहतरीन मानी जाती थी। रोडवेज मुनाफे में है, लेकिन अब सरकार की गलत नीतियों के कारण जानबूझकर रोडवेज को घाटे में धकेल दिया गया है। सरकार अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए 720 प्राईवेट बसें रोडवेज के बेड़े में शामिल कर रही है। कर्मचारी रोडवेज को बचाने के लिए सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। अरोड़ा ने कहा कि बढ़ती महंगाई के कारण जनता का जीना दुभर हो रहा है। प्रदेश में प्रतिदिन सामुहिक बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। विकास के नाम पर सरकार सडक़ें एवं गलियां बनाकर अपनी पीठ थपथपा रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनावों में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा। प्रदेश में ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में गठबंधन की सरकार बनेगी तथा बहन मायावती देश की प्रधानमंत्री होंगी।
ओमप्रकाश चौटाला और संगठन को मजबूत करने के लिए सब मिल कर काम करें- नैना चौटाला 


घरौंडा: दुष्यंत व दिग्विजय चौटाला पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए पिछले पांच वर्षों से प्रदेश की गली-गली में जाकर पसीना बहा रहे हैं परन्तु कुछ लोगों को उनकी मेहनत अखर रही है और वे उन्हें नोटिस दिलवा कर दबाना चाहते हैं परन्तु हरियाणा की जनता के साथ और आशीर्वाद के  चलते किसी तरह का दबाव का प्रयास सहन नहीं किया जाएगा। यह बात डबवाली से विधायक नैना सिंह चौटाला कही। वे रविवार को यहां गगसिना में आयोजित हरी चुनरी की चौपाल कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता बोल रही थी। उन्होंने कहा कि मैंने दुष्यंत को जन्म अवश्य दिया है परन्तु हरियाणा की जनता ने दुष्यंत व दिग्विजय को संभाला है, उन्हें सिखाया, संवारा है और हर पल उनका साथ देकर आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया है। 
इनेलो विधायिका ने कहा  डा. अजय सिंह चौटाला ने 40 वर्षों तक दिन-रात पार्टी के लिए पसीना बहा कर मजबूती प्रदान की है। उन्होंने रायमलिकपुर से लेकर चंडीगढ़ तक पैदल चल कर गांव-गांव जाकर लोगों को पार्टी से जोड़ा है और पार्टी को ताकत दी।  डबवाली की विधायिका ने कहा कि स्व. चौ. देवीलाल के चरणों में बैठकर राजनीति सीखने वाले डा. अजय सिंह चौटाला ने ताऊ की नीतियों को हर-जन और हर घर तक पहुंचाया है, उनके कठिन परिश्रम और संगठित करने की अदभुत क्षमता को न तो भुलाया जा सकता और न ही दरकिनारा किया जा सकता। प्रदेश का बच्चा-बच्चा अजय सिंह चौटाला के चार दशक के कठिन परिश्रम और योगदान से वाकिफ है। नैना चौटाला ने पार्टी में चल रही उठा-पठक को लेकर कहा कि कुछ ही दिनों में डा. अजय सिंह चौटाला जेल से बाहर आएंगे और उनके फैसले पर प्रदेश की जनता की निगाहें टिकी हुई हैं तथा उनका फैसला मंजूर होगा।
नैना चौटाला ने कहा कि चौ. ओमप्रकाश चौटाला जी संगठन और परिवार के मुखिया हैं, उनका नेतृत्व और दिशा-निर्देश हमें सदा मंजूर है और हमेशा रहेगा। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी ताऊ स्व. देवीलाल जी का लगाया हुआ एक वटवृक्ष है और कुछ लोग पार्टी को दीमक की तरह खा कर खोखला करना चाहते हैं, उनके मंसूबे प्रदेश की जनता किसी भी सूरत में पूरे नहीं होने देगी। 
उन्होंने उपस्थित कार्यकर्ताओं से अपील करती आप सभी चौटाला साहब के नेतृत्व और दिशा-निर्देश को हमेशा मान-सम्मान दें और दुष्यंत और दिग्विजय चौटाला को अपना आशीर्वाद देकर पार्टी संगठन को मजबूती प्रदान करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर वह आप माताओं-बहनों और सरकार के बीच वकील का काम करूंगी और आपकी हर समस्या को हल करवाने की जिम्मेवारी उनकी होगी। 
सरकार पर भी बरसी नैना चौटाला-
विधायिका नैना चौटाला ने सरकार को जमकर घेरा और कहा कि सरकार चलाना भाजपा के बस की बात नहीं है, प्रदेश में रोडवेज कर्मचारी अपनी जायज मांगों को लेकर पिछले दो सप्ताह से हड़ताल पर हैं और सरकार अपनी हठधर्मिता पर अड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार की जिद्द और अडिय़ल रवैये के चलते प्रदेश की जनता परेशान है। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ और बेटी बचाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार के राज में बच्चियां और महिलाएं असुरक्षित हैं। करनाल के गांवों की हर सड़क टूटी है और जर्जर हालत में है। 
इस अवसर पर महिला विंग की प्रदेशाध्यक्ष शीला भ्याण, जिला प्रधान प्रकाश कौर,विधायक अनूप धानक, पूर्व विधायक नरेंद्र सांगवान, कार्यक्रम प्रभारी राजेंद्र लितानी, पूर्व विधायक रमेश खटक, कार्यक्रम के आयोजक व गगसिना के सरपंच जगरूप संधू, मोहसिन चौधरी, राजीव पाटा, हरिसिंह संधू, जयप्रकाश कंबोज, मेहम सिंह राजोपुर, हरिसिंह संधू, जयप्रकाश कंबोज, राजपाल कैमला,गुरदेव रंबा, भीम मड़ान, प्रेम शारपुर, एडवोकेट संतोष यादव, रविंद्र संधू, रमेश सिद्धपुर, भीम जलाला, जसबीर गगसिना, सुरेंद्र, विजेंद्र,  संडाना नैन, नरेंद्र कौर, सुमरे कंबोज, रिषी ज्याणी, अमन चावला, इंद्रजीत गोल्डी, सतीश कुटैल, धर्मवीर खरकली, विनोद रायपुर, सुमित सैबला, संदीप दहिया सहित भारी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी। 

Friday, October 26, 2018

निजीकरण हुआ तो रोडवेज में प्रभावित होंगी 40 जन सुविधाएं- बलवान दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने परिवहन निगम कर्मियों की हड़ताल को प्रदेश की भाजपा सरकार की तानाशाही हठधर्मिता का परिणाम करार दिया है। उन्होंने कहा कि सीएम केवल मात्र अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने मात्र की मंशा से रोडवेज का निजीकरण करना चाहते हैं। यदि ऐसा हुआ तो रोडवेज में आमजन मानस को मिल रही 40 तरह की जनसुविधाएं प्रभावित होंगी, जिसका सीधा नुकसान सरकारी बसों में सफर करने वाले बुर्जूगों, पूर्व सैनिकों, बच्चों आदि को होगा। विधायक बलवान सिंह अपने अनाज मंडी स्थित कार्यालय में पार्टी पदाधिकारियों व समर्थकों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उनके साथ निर्वतमान युवा इनेलो प्रदेश उपाध्यक्ष राणा जोहल, जिप पार्षद प्रतिनिधि जोगी सिहाग, युवा नेता सतेन्द्र श्योराण, विनित बिश्नोई आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।
इनेलो विधायक दौलतपुरिया ने कहा कि रोडवेज के बाड़े में 720 नई बसें शामिल करने के पीछे सीएम का रोडवेज की वर्तमान बसें मंहगी पड़ने का दावा झूठ के सिवाय कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपना झूठ छुपाने के लिए ब्यान दे रहे हैं कि रोडवेज की बसें 45 से 54 रूपये प्रति किमी मंहगी पड़ती है। लेकिन सच्चाई इसके बिल्कुल विपरित है, वास्तविकता यह है कि रोडवेज की बसें इस समय सरकार को 24 से 27 रूपये प्रति किमी पड़ रही हैं, जो बेहद सस्ती है। उन्होंने का कि इनेलो सुप्रीमो औमप्रकाश चौटाला की सरकार के समय हरियाणा परिवहन निगम व्यवस्था पूरे हिंदुस्तान में नंबर एक पर थी। इनेलो सरकार ने अपने कार्यकाल में बड़े स्तर पर चालक-परिचालक भर्ती करने के साथ-साथ 1600 नई बसें रोडवेज के बाड़े में शामिल करने का काम किया था। गुरूग्राम के परिवहन निगम वर्कशॉप में राजस्थान, पंजाब तक की बसों की मरम्मत से लेकर उनकी पुनःनिर्माण तक का काम होता था। आमजन के सफर को सुगम बनाने के लिए चौटाला सरकार ने लंबे रूटों पर डिलक्स बसें चलाई और उनके पीछे साधारण किराया लिखवाकर आम जनता को सस्ते किराये में सुहाने सफर का लाभ दिया। आज प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरियाणा परिवहन निगम को 600 करोड़ के घाटे में होने के ब्यान दे रहे हैं, लेकिन सच यह है कि हरियाणा रोडवेज घाटे में नहीं है। उन्होंने कहा कि एक ऐसा कोरीडोर है, जिसकी वजह से दिल्ली के तीन तरफ हरियाणा की सीमा लगती है। इन तीन सीमाओं में से पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और यूपी की बसें आवागमन करती है, जिनसे बड़ा टैक्स वसूल कर सरकारी खजाने में डाला जाता है। दौलतपुरिया ने कहा कि यदि यही टैक्स सरकार अपने खजाने में डालने की बजाय परिवहन निगम के खाते में डाले तो इसका फायदा रोडवेज विभाग को मिलेगा। पूरे देश में हरियाणा परिवहन निगम के चालक-परिचालकों का आमजन मानस के साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार है और ये चालक-परिचालक पूरे देश में सबसे सक्षम माने जाते हैं। यदि सरकार अपने तानाशाही रवैये पर कायम रहते हुए रोडवेज का निजीकरण करती है तो हरियाणा रोडवेज व्यवस्था के स्तर में गिरावट आएगी। आमजन का विश्वास रोडवेज से कम होगा। आज रोडवेज के जो सरकारी चालक-परिचालक छात्र वर्ग या बुर्जूग, विधवा, दिव्यांग आदि को उसके शिक्षण संस्थान या ठिकाने तक मान-सम्मान के साथ छोड़ने का काम करते हैं, रोडवेज की बसों का निजीकरण होने पर यह व्यवस्था भी प्रभावित होगी। उन्होंने प्रदेश की भाजपा सरकार को चेताया कि यदि उसने जल्द रोडवेज के निजीकरण के तानाशाही निर्णयों को वापस ले कर्मियों की हड़ताल को खत्म करवाने का काम नहीं किया तो प्रदेश में हालात बद् से बद्तर होंगे और यह हड़ताल सरकार के खिलाफ एक बड़े जन आंदोलन के साथ उसे देश-प्रदेश से चलता करने का काम करेगी।

Thursday, October 25, 2018



इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन ने हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल को समर्थन दिया


हरियाणा रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों के समर्थन में आज लघु सचिवालय नूंह पर दिए जा रहे एक दिन के भूख हड़ताल धरना-प्रदर्शन पर नूंह से इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन ने पंहुचकर उनको अपना और इनेलो-बसपा पार्टी की तरफ से पूर्ण समर्थन दिया। इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन ने सभी रोडवेज कर्मचारियों को अपना पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि  कर्मचारी लगभग पिछले 10 दिन से हड़ताल पर बैठे हैं लेकिन बीजेपी सरकार अपना तानाशाही रवैया अपना रही है। उन्होंने कहा की इतिहास गवाह है कि हरियाणा के सभी कर्मचारियों के दुखों का दर्द सबसे पहले इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला व खेलरत्न चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में इंडियन नेशनल ने बांटने का काम किया है। 22 अक्तूबर सोमवार को इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला के आशीर्वाद व खेलरत्न चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में सभी विधायकों व पदाधिकारियों ने चंडीगढ़ में हरियाणा निवास पर मुख्यमंत्री से मुलाकात कर हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों की मांगों को जोर शोर से उनके सामने विस्तारपूर्वक रखा था, लेकिन  मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपनी बात पर अड़े रहे जिसका इनेलो-बसपा ने भरपूर विरोध किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा रोडवेज व अन्य कर्मचारियों की मांगों को इनेलो पार्टी ने विधानसभा सत्र में भी इस मुद्दे को जोर शोर से उठाया था।
उन्होंने कहा कि सरकार अपने चेहतो को लाभ पहुंचाने के लिए 720 बसों को खरीदवा कर कर्मचारियों के पेट पर लात मारना चाह रही है। जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।सरकार के इस घटिया मंसूबो को हर्गिज पूरा नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा की पुलिसकर्मी रोडवेज बसों को चला रहे है,वह उन पैसो को जेब में रख रहे हैं तथा सरकार को आर्थिक चुना लगा रहे है। अभी भी वक़्त है सरकार चेत जाए अन्यथा यह हड़ताल रोडवेज कर्मचारियों की न होकर कर्मचारी समाज की होने पर सरकार को मुँह की खानी पड़ेगी। हुसैन ने प्रदेश सरकार की कर्मचारियों के प्रति तानाशाही व दमनकारी कार्यवाही की घोर निन्दा करते हुए कहा कि सरकार अपनी निजीकरण नीति को वापिस लें ।सरकार की कर्मचारियों के प्रति तानाशाही लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमले, सरकार द्वारा कर्मचारियों पर ऐसमा जैसा कानून थोपकर केस दर्ज करना बीजेपी सरकार के असली चेहरे को उजागर करता है। इनेलो विधायक ने रोडवेज कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री से अपील की कि आम जनता की परेशानियों के मद्देनजर इस समस्या का जल्द ही हल निकाला जाए। उन्होंने कहा कि सरकार सभी कर्मचारियों पर हुई कार्रवाई को वापिस ले और एस्मा को समाप्त कर जनजीवन को सामान्य करने वाला फैसला ले। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार निजी बसों के बजाय सरकारी बसों की संख्या में बढ़ौतरी करे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को कर्मचारियों के साथ बैठकर उनकी मांगों को ध्यान में रखते हुए संतोषजनक हल निकालना चाहिए ना कि उन पर दमनकारी नीति अपना कर उनके हितों पर कुठाराघात करें। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में कर्मचारियों से जो लम्बे चौड़े वायदे किये थे उन सभी को पूरा करने का काम करें। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि कर्मचारियों की मांग जल्द से जल्द पूरा किया जाये नही तो इंडियन नैशनल लोकदल पार्टी के कार्यकर्ता भी कर्मचारियों का समर्थन करने में पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने साथ ही रोडवेज कर्मचारियों को बधाई दी और कहा कि कर्मचारी अपने निजी स्वार्थ की बजाए हरियाणा रोडवेज के वजूद व् अस्तित्व को बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।  उन्होंने कहा कि इनेली-बसपा का पूर्ण समर्थन उनके साथ है, इसके लिए उन्हें अगर जेल भी जाना पड़ा तो आपका यह बेटा और भाई सबसे पहले जेल जाने के लिए तैयार है। इस अवसर पर सर्व कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष तय्यब हुसैन, इकबाल प्रधान हरियाणा रोडवेज जिलाध्य्क्ष, योगराज दीक्षित, अब्दुल हकीम, असगर हुसैन पचानका, मौ. अब्बास, सुमईयां, गफ्फार, शाहिद हुसैन, देवेन्द्र, महबूब आदि सैंकड़ो हरियाणा रोडवेज व अन्य कर्मचारी मौजूद थे।
आखिर निजी बसें चलवाने में सरकार इतनी रूचि क्यों ले रही है- दिग्विजय चौटाला


भिवानी,25 अक्तूबर: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेज तर्रार नेता दिग्विजय चौटाला ने हरियाणा में निजी बसें चलाने में रूचि दिखा रही हरियाणा सरकार को आड़े हाथो लेते हुए कहा कि आखिर सरकार निजी बसों को लेकर इतनी चिंतित क्यों हैं जबकि निजी बसे चलाने से हरियाणा रोड़वेज को करोड़ों रूपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं सरकारी खजानें पर भी इसका गलत प्रभाव पड़ता है। दिग्विजय ने कहा कि सरकार के अडियल रवैये के कारण आज हरियाणा परिवहन निगम का दिवाला निकलने पर है। वहीं निगम में कार्यरत कर्मचारियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। दिग्विजय ने हरियाणा रोडवेज कर्मचारी एसोसिएशन को पूर्ण रूप से समर्थन देते हुए कहा कि यदि कर्मचारी के हित की बात सरकार नहीं करेगी तो कर्मचारी काम करने में असमर्थ होगा। यदि सरकार ने निजी बसें चलानी ही हैं तो वह हरियाणा परिवहन निगम की शर्तों को मानकर और कर्मचारियों के द्वारा दिए गए रास्ते को अपनाकर चला ले लेकिन भ्रष्टाचार मुक्त हरियाणा का नारा देने वाले हरियाणा सरकार ही आज कटघरे में नजर आती है चौटाला ने कहा कि यदि पूरे मामले को गहराई से देखा जाए तो 720 बसों को बेड़े में शामिल कर सरकार हरियाणा रोड़वेज कर्मचारियों के खिलाफ एक षडय़ंत्र रच रही है। जिसका वे विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि आज कर्मचारियों को अपनी मांगे मनवाने के लिए आए दिन हड़तालों का सामना करना पड़ता है अडियल रवैये की सरकार को कर्मचारियों के हितों से कुछ लेना देना नहीं है। वह अपने दोयम दर्जे के फैसले से कर्मचारियों को दबाना चाहती है। 


वहीं इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बेरोजगारी की मार झेल रहे प्रदेश के युवाओं को फार्म भरवाने के नाम पर सरकार युवाओं की लम्बी लम्बी लाईनें लगवाने में व्यस्त है यदि धरातल पर नजर दौड़ाई जाए तो सरकार के द्वारा ड्राईवर व कडेक्टर के जो फार्म भरवाए जा रहे हैं वह  केवल मात्र हरियाणा रोड़वेज के कर्मचारियों केा डराने के लिए मात्र एक ढकोसला दिखाई देता है। उन्होंने कहा कि सरकार एक तरफ कर्मचारियों का शेाषण करने पर तूली है वहीं दूसरी तरफ युवाओं को नौकरी के नाम पर झूठी आस बंधा उनका मजाक उड़ा रही है। दिग्विजय ने दावा करते हुए कहा कि उक्त कंडक्टर व ड्राईवरों की भर्ती केवल औपचारिकता है। धरनातल पर शायद ही इन बेरोजगार युवाओं को भाजपा रोजगार दे। उन्होंने कहा कि सरकार को यदि नौकरी लगानी ही है तो वह कच्चे ना लगाकर के विज्ञापन लगाकार पक्के कर्मचारी लगाने का काम करे। 

Wednesday, October 24, 2018

निजी स्वार्थपूर्ति के लिए रोडवेज का निजीकरण कर रही है भाजपा- बलवान दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार रोडवेज कर्मियों की हड़ताल को दबाने के लिए गलत ब्यानबाजी कर रही है, ताकि वह जनता को बरगला कर हड़ताल को गलत ठहरा सके। उन्होंने कहा कि रोडवेज कर्मियों की हड़ताल पूरी तरह से प्रदेश व जनहित में है, जिसका हर सामाजिक, धार्मिक संगठन के साथ-साथ आम जनमानस को भी समर्थन करना चाहिए। वे भट्टू रोड स्थित विद्युत निगम कार्यालय प्रांगण में हड़ताल पर बैठे कर्मियों को समर्थन देते हुए उन्हें संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पटवार भवन में हड़ताल के समर्थन में आयोजित हुए सेमिनार में भी शिरकत की। इस दौरान उनके साथ पार्टी जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, वरिष्ठ नेता मोलूराम रूलहानियां, विद्या रत्ति, यश तनेजा व हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार सहित कई अन्य वरिष्ठ नेतागण व पदाधिकारी भी उपस्थित रहे।
इनेलो विधायक ने कहा कि देश-प्रदेश की भाजपा सरकार के झूठे वायदों से जनता और कर्मचारी पूरी तरह से तंग आ चुके हैं। सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों ने प्रदेश भर के विभिन्न विभागिय कर्मियों को जिस तरीके से सड़कों पर उतर आंदोलन करने को विवश किया है, उसकी जितने कड़े शब्दों में निंदा की जाए वह कम है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के इतिहास में रोडवेज कर्मियों द्वारा वर्तमान में की जा रही हड़ताल सबसे लंबी व सफल साबित हुई है, जिसमें समस्त कर्मचारी संगठनों ने एकजुटता का परिचय देकर सरकार को स्पष्ट कर दिया है कि इस बार वे किसी तरह का तानाशाही निर्णय लागू नहीं होने देंगे। बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष एवं इनेलो शीर्ष नेता अभय चौटाला के दिशा-निर्देश पर इनेलो का एक-एक कार्यकर्त्ता व पदाधिकारी रोडवेज कर्मियों की हड़ताल का समर्थन करता है। यदि सरकार ने किसी भी तरीके से कर्मचारियों के आंदोलन, उनकी आवाज को दबाने का प्रयास किया तो इनेलो इसका कड़ा विरोध करते हुए सड़क से लेकर विधानसभा तक सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। उन्होंने आम जनता का भी आह्वान किया कि वे कर्मचारियों की हड़ताल का समर्थन करें ताकि निजी स्वार्थपूर्ति की चाह में भाजपा सरकार रोडवेज के बाड़े में जो तानाशाही तरीके से 750 निजी बसें चलाने पर आमदा है, उसे जनहित में रोका जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार बेशक 750 निजी बसों से परिवहन निगम को लाभ होने के खोखले दावे कर रही हो, लेकिन सच यही है कि सरकार की मंशा इस निर्णय से परिवहन निगम को निजी हाथों में सौंपने मात्र से ज्यादा कुछ नहीं।
सरकार पर विभिन्न मुद्दों को लेकर दवाब बनाने के लिए बैठक करेंगे 

चंडीगढ़: नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती एसवाईएल निर्माण और किसान के मुद्दों को लेकर सरकार पर दबाव बनाने के लिए प्रदेशभर में जिला स्तरीय बैठकों का आयोजन करेंगे। इस बार में जानकारी देते हुए नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार विपक्ष और प्रदेश की जनता द्वारा बार-बार हरियाणा की जीवन-रेखा एसवाईएल के निर्माण के लिए किए जा रहे प्रयासों की अनदेखी कर रही है। जिसके लिए इनेलो-बसपा उन प्रयासों को जारी रखते हुए फिर से लोगों के बीच जाकर नहर निर्माण के आंदोलन को आगे बढ़ाएगी। वहीं किसानों के मुद्दों पर भी जनता को साथ जोडऩे का काम करेंगे ताकि सरकार पर दबाव बनाया जा सके।
नेता विपक्ष ने कहा कि सरकार की अनियमितताओं और जनता विरोधी नीतियों को लोगों के बीच लेकर जाएंगे साथ ही बेमौसम बरसात से बर्बाद धान, कपास और बाजरे की फसल का उचित मुआवजा और कम उत्पादन पर बोनस किसान को मिल सके, उसके लिए सरकार पर दबाव बनाने का काम करेंगे।


गठबंधन नेताओं द्वारा इस जन-चेतना के लिए जिलास्तर पर संयुक्त कार्यक्रम किए जाएंगे जिसमें 27 अक्तूबर को फरीदाबाद व पलवल, 28 को सोनीपत-रोहतक, 29 को दादरी-झज्जर और 31 अक्तूबर को पानीपत और करनाल में बैठकें होंगी। पहली नवंबर को कुरूक्षेत्र-यमुनानगर, 2 नवबंर को पंचकुला-अंबाला, 3 को कैथल-फतेहाबाद, 4 को सिरसा-भिवानी और 5 नवंबर को हिसार और जींद जिले में इनेलो-बसपा नेता संयुक्त बैठकें करेंगे।
न विचलितहूं और न ही निराश, कार्यकर्ताओं का आर्शीवाद और स्नेह ही मेरी ऑक्सीजन 

जींद में पहुंचे दुष्यंत के लिए हजारों कार्यकर्ताओं ने बिछाए पलक पांवड़े


जींद: परीक्षा की इस घड़ी में न तो विचलित हूं, न डरा हूं और न ही निराश। मेरा हौसला कार्यकर्ता हैं और इन्हीं कार्यकर्ताओं से मिल रहा अपार स्नेह और आशीर्वाद मेरे लिए ऑक्सीजन है। यह शब्द हिसार से युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहे। यहां पहुंचने पर सांसद दुष्यंत चौटाला का जोरदार स्वागत किया गया। कार्यकर्ताओं में दुष्यंत को लेकर जोश का आलम यह था कि वे 9 बजे ही दुष्यंत के लिए पलक पांवड़े बिछाए खड़े थे। उनके आगमन पर कार्यकर्ताओं ने फूल बरसा कर अपनी भावनाएं व्यक्त की। आज की बैठक में कुछ चेहरों को छोड़कर अधिकांश पदाधिकारी और कार्यकर्ता दुष्यंत को सुनने के लिए पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। 
जींद इनेलो पार्टी कार्यालय में सांसद ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी ने उनको जो नोटिस दिया है। उसे पढकर उनको दुख हुआ है, क्योंकि पत्र में लिखे कठोर शब्द इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के नहीं बल्कि पार्टी के खिलाफ साजिश कर्ताओं के हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कठोर लहजे में ओपी चौटाला के खिलाफ बोलने पर भी आपति जताते हुए कहा कि चौटाला साहब उनके लिए आदरणीय है। कोई भी कार्यकर्ता उनके खिलाफ नहीं बोलेगा। सांसद ने कहा कि पार्टी ने उनको नोटिस देने से पहले भूंकप की गहराई नहीं नापी। इस दौरान उन्होंने हर बात पर कहा कि इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला के फैसले का वह स्वागत करेंगे और अपने कार्यकर्ताओं के हौसले नहीं टूटने देंगे। सांसद ने कहा कि आज प्रदेश में बेरोजगार युवाओं की फौज है। वह इन बेरोजगार युवा साथियों के रोजगार की लड़ाई के लिए इस शिक्षित वर्ग को साथ लेकर सड़क पर उतरकर इनकी लड़ाई लड़ेंगे। सांसद ने कहा कि अकेले गुरूग्राम में १७.५० लाख नौकरियां है। यहां पर प्रदेश के युवाओं का हिस्सा निर्धारित करवाया जाएगा। इस अवसर पर जिला प्रधान कृष्ण राठी, विधायक अनूप धानक, दयानंद कुंडू, प्रदीप गिल, कृष्ण मिढ़ा, शीला भ्यान, डॉ. रामचंद्र जांगड़ा,सत्येंद्र ढुल, विनोद सिंगला, बिजेंद्र रेढू, अशोक गोयल, विकास सिहाग,काला नंबरदार, बिट्टू नैन, नसीब घसो, अनिल कुंडू, उमेद लोहान, सुनील राणा सहित भारी संख्या में पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

इनेलो-बसपा शिष्टमण्डल ने राज्य के किसानों के मुद्दों पर मुख्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन 


चंडीगढ़: नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती और इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा की अगुआई में इनेलो-बसपा शिष्टमण्डल ने राज्य के किसानों से संबंधित अनेक मुद्दों बारे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को ज्ञापन सौंपा। 
ज्ञापन में ध्यान दिलाया गया है कि सितम्बर माह के अंत में भारी बारिश के कारण धान, बाजरा और कपास की फसलों को विशेष रूप से हानि हुई थी जिस कारण यह आवश्यक था कि सरकार तुरंत एक स्पैशल गिरदावरी के आदेश देती और प्रभावित किसानों को कम से कम 25 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा देती। इसके अतिरिक्त  उन बारिशों के कारण खेतों में पानी भी भर गया था जिसे निकालने के लिए पम्पों की आवश्यकता थी। किसानों और राज्य के हित में सरकार से यह मांग की गई थी कि वह अपने खर्चे पर किसानों को पम्प उपलब्ध करवाए ताकि खेतों से पानी को निकाला जा सके। ऐसा न करने की स्थिति में यह संभावना है कि रबी की फसल की बिजाई तक वह खेत अगली फसल के लिए तैयार नहीं किए जा सकते। इसका किसानों की अर्थ व्यवस्था पर कैसा विपरीत प्रभाव पड़ेगा यह सभी किसान भलीभांति समझते हैं।
ज्ञापन में यह भी कहा गया कि किसान एक ऐसे वर्ग से संबंधित है जिसके पास आय तभी आती है जब फसलें तैयार होकर बाजार में बिकती हैं। यह बड़े खेद की बात है कि इस वर्ष भी पिछले कुछ वर्षों की तरह ही एक ऐसा चलन मंडियों में चल रहा है जिसके तहत किसानों की फसल में से धान में नमी की आड़ में भारी कटौती की जाती है। विडंबना यह है कि सरकार ने अभी हाल में ही धान के समर्थन मूल्य में वृद्धि की घोषणा बड़े धूमधमाके के साथ की थी परंतु जब इस प्रकार के बहानों की आड़ में कटौती की जाती है तो किसान हितैषी होने का दावा खोखला सिद्ध हो जाता है। 
ज्ञापन में यह भी आरोप लगाया गया कि मंडियों में खरीद करने वाली सरकारी एजेंसियों की सांठगांठ की राइस मिलरों के साथ है जिस कारण कभी नमी की आड़ में किसानों का शोषण होता है तो कभी तोलने में धांधली की जाती है। केवल धान उत्पादों का शोषण ही इन मंडियों मेंं नहीं किया जाता क्योंकि इसका शिकार बाजरा और कपास उत्पादक भी हैं। यह एक विचित्र संयोग है कि जब बाजरे की फसल को लेकर किसान मंडी में पहुंचता है तो यह खरीद एजेंसियां मौके से गायब होती हैं जिस कारण किसान को मजबूरी में औने-पौने दाम पर अपनी फसल बेचनी पड़ती है। जाहिर है कि इन उदाहरणों से यह सिद्ध हो जाता है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में घोषित की गई वृद्धि मात्र एक ढकोसला है और सरकार के संरक्षण में किसानों का शोषण निरंतर जारी है। 
इनेलो ने यह भी मांग की है कि राज्य में चीनी मिलों द्वारा गन्ने की खरीद को बंद किए छह महीने से अधिक का समय हो गया है परंतु दुर्भाग्य की बात यह है कि अभी तक इन निजी चीनी मिलों द्वारा किसानों के उत्पाद का भुगतान नहीं किया गया है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए इनेलो द्वारा मांग की गई है कि तुरंत स्पैशल गिरदावरी करवाई जाए, 25 हजार रुपए प्रति एकड़ का मुआवजा उन किसानों को दिया जाए जिनकी फसल सितंबर माह की बारिश के कारण खराब हुई, मंडियों में नमी, कम तुलाई और अन्य कारणों से हो रहे शोषण को बंद कर उन्हें पूरा घोषित समर्थन मूल्य दिया जाए और गन्ना किसानों का पिछला भुगतान तुरंत दिलवाया जाए। ऐसा न करने की स्थिति में इनेलो को मजबूरन आंदोलन करना पड़ेगा जिसके परिणामों की जिम्मेवारी पूरी तरह से सरकार पर होगी। नेता विपक्ष ने धान के अवशेष जलाने को लेकर किसानों पर दर्ज मामले वापिस लेने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को इस समस्या से निपटने के लिए आर्थिक सहायता व तकनीक मुहैया करवाए। 
इनेलो वरिष्ठ नेता ने रोडवेज कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री से अपील की कि आम जनता की परेशानियों के मद्देनजर इस समस्या का जल्द ही हल निकाला जाए। उन्होंने कहा कि सरकार सभी कर्मचारियों पर हुई कार्रवाई को वापिस ले और एस्मा को समाप्त कर जनजीवन को सामान्य करने वाला फैसला ले। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार निजी बसों के बजाय सरकारी बसों की संख्या में बढ़ौतरी करे। 


ज्ञापन के दौरान पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी व रामकुमार कश्यप, सभी विधायकगण, आरएस चौधरी व प्रवीण आत्रेय भी मौजूद थे।
सांसद दुष्यंत ने तलवंडी रुक्का में की पूजा अर्चना


हिसार: इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने नलवा हलके के गांव तलवंडी रुक्का पहुंचकर हनुमान जी की पूजा अर्चना करते हुए प्रदेश की जनता की खुशहाली की मंगल कामना की। सांसद दुष्यंत चौटाला गांव तलवंडी रुक्का में ग्रामीणों द्वारा आयोजित बजरंग बली के जागरण व विशाल भण्डारे में शिरकत करने पहुंचे थे। कार्यक्रम में पहुंचने पर युवा सांसद का समिति के पदाधिकारियों ने जोरदार स्वागत किया । इस अवसर पर सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करने से क्षेत्र में आपसी भाईचारा बढ़ता है और एक दूसरे के नजदीक आने का मौका मिलता है, जब व्यक्ति में धार्मिक सदभाव आता है तो वह सर्व समाज के लिये कार्य करता है और समाज मे खुशहाली आती है। इस अवसर पर सांसद चौटाला ने ग्रामीणों से उनका हाल चाल जानते हुए उनकी कुशलक्षेम पूछी। उन्होंने उपस्थित किसानों से उनकी मौजूदा फसल बाड़ी के बारे में जानकारी ली। उपस्थित किसानों ने नहरी पानी की कमी के बारे में बताया तो सांसद दुष्यंत ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार किसानों को खेती के लिये पर्याप्त पानी उपलब्ध करवाने में पूर्णतया असफल रही है। बार बार आंदोलन करने पर भी किसानों को केवल आश्वासन के अलावा कुछ नही मिला। यंहा तक कि उन्होंने स्वयं भी पत्र लिखकर  सरकार से किसानों को पर्याप्त पानी उपलब्ध करवाने को लेकर पत्र लिखा था परन्तु इस विषय मे सरकार के  वही ढाक के तीन पात साबित हुए है। युवा सांसद चौटाला ने कहा कि जब उन्हें लगा कि सरकार की तरफ से गांवों में पीने के पानी की समुचित व्यवस्था नही है तो उन्होंने अपनी सांसद निधि से लोकसभा क्षेत्र के गांवों में पानी के टैंकर देने का निर्णय लिया है जिस पर लगातार वे ग्राम पंचायतों को पानी के टैंकर उपलब्ध करवा रहे है ताकि गांव के लोगों के लिये पीने के पानी की कुछ हद तक व्यवस्था हो सके। इस अवसर पर राजेन्द्र लितानी, होशियार सिंह, विधायक रणवीर गंगवा के सपुत्र संजीव गंगवा, राजेन्द्र चुटानी, राज कुमार कौशिक, ओम प्रकाश राजपूत  अमित बूरा, रामचन्द्र गंगवा, महेंद्र गंगवा, लाल सिंह धानक, सुरेश चौधरी, भीम सिंह सेलपाड, राजू भाटी, किरसन स्वामी, इद्रजीत जांग?ा, रामोतार कौशिक,  अंकित सिंघरान, दलबीर धिरणनवास, एडवोकेट प्रभु दयाल जाख?, अनूप धनखड़, हरदीप मलिक, सोमबीर श्योराण, परवीन ढांडा,  सत्यवान पानू, राजेश सरपंच, रमेश गोदारा, छोटू प्रधान, राम मेहर सहारण, डॉ अजीत सिंह, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, दलबीर पंवार, राजमल काजल, योगेश गौतम, आशीष कुंडू, नरेश पूनियां, रामनिवास बिश्नोई सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।
राजनीति नहीं, जनसेवा ही मेरा उद्देश्य- दुष्यंत चौटाला

दुष्यंत चौटाला ने रिकार्ड 150 गांवों से अधिक गांवों में  पीने के पानी के टैंकर देकर अनूठी मिसाल  कायम की


भिवानी: अपने जनहितैषी कार्यो के लिये आऐ दिन सुर्खियों में रहने वाले इनेलो संसदीय दल के नेता हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने एक ओर कडी जोड दी।दुष्यंत ने आज बवानीखेड़ा हल्के के 25 गांवो को पीने के पानी के टेंकर देकर पानी की समस्या से जुझ रहे ग्रामीणों का सहयोग किया।आज बवानीखेड़ा के शहीद गुलाब सिंह पार्क मे पहुचकर दुष्यंत ने 25 पंचायतों को पानी के टेंकर उपलब्ध करवाऐ। इस अवसर पर दुष्यंत चौटाला ने कहा की वे राजनीति नहीं, जनसेवा में विश्वास रखते है और यदि जनता की प्यास बुझाने के लिए मौका मिले तो यह जनहितैषी कार्य हर किसी को करना चाहिए।दुष्यंत ने कहा की उनकी हमेशा कोशिश रहती है की जनता की मूलभूत समस्याओं को दूर करना चाहिए और वे इसके लिए प्रयास भी करते है।उन्होंने कहा की अब तक हिसार लोकसभा में 150 से ज्यादा पीने के पानी के टैंकर दिये जा चुके है जो एक रिकार्ड भी है। बता दें की इससे पहले भी दुष्यंत ने बवानीखेड़ा हल्के के 20 गांवो को पीने के पानी के टैंकर दिये थे ।
जलभराव के लिये प्रशासन नाकाम, दुष्यंत ने की पहल वही उपस्थित जनता को सम्बोधित करते हुऐ दुष्यंत ने कहा की पिछले दिनों बेमौसम बारिश से किसानों के खेतो में पानी भर गया था जिसको लेकर वे स्थानीय प्रशासन को कई बार अवगत करवा चुके है लेकिन प्रशासन किसानो की जलभराव की समस्या को गम्भीरता से नहीं ले रहा है इसके लिये उन्होंने टैंकरो द्वारा खेतो से पानी निकालने के लिये आदेश जारी कर दिये है। उन्होंने कहा कि जलभराव के कारण किसानों की 100 प्रतिशत फसलें खराब हो चुकी है। सरकार अभी तक कोई भी कदम ना उठाना किसान विरोधी सोच को दर्शाता है, लेकिन वे किसानों के मुददों केा हमेशा उठाते रहे हैं और आगे भी उठाते रहेंगे। भाजपा पर चुटकी लेते हुऐ कहा की आज जनविरोधी नीतियों के कारण भाजपा सरकार हर मोर्चै पर विफल साबित हुई है उन्होंने कहा की  जनता को पीने के पानी तक के लाले पडे हुऐ है।दुष्यंत ने कहा की सरकार की नाकामी से जनता को परेशान नहीं होने दूंगा और हमेशा सेवाभाव से तैयार रहुंगा।उन्होंने कहा की जननायक चौ.देवीलाल कहा करते की ग्रामीण आंचल से ही खुशहाली का दरवाजा खुलता है इसलिए हमेशा ग्रामीण आंचल की समस्याओं को दूर करना चाहिए। यदि ग्रामीण क्षेत्र की जनता खुश है तो समझो आप सही दिशा में जा रहे है।


सांसद दुष्यंत ने मौके पर ही क्षेत्र के लोगो की समस्या को निपटारा किया ओर अन्य समस्याओं के लिये प्रशासन को फोन भी किया ।दुष्यंत के इस तरह जनसमस्याओं का मौके पर ही निपटारा करने करने के तरीके सब प्रभावित नजर आऐ।खासकर बुजुर्गों ने कहा की दुष्यंत की कार्यशैली जनहितकारी साबित हो रही है।आज देश ओर प्रदेश के लोगो को दुष्यंत चौटाला जैसी कार्यशैली का नेता ही चाहती है।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने गांव लुहारी जाटू पहुंचकर  शोक व्यक्त किया उन्होंने लुहारी जाटू निवासी महाबीर के दो बेटो के आकस्मिक निधन पर गहरा दु:ख प्रकट करते हुए भगवान से पीडि़त परिवार के  प्रति संवेदना व्यक्त की वही दुष्यंत ने युवा इनेलो नेता बिट्टू तंवर के ताऊ ठाकुर मल्खान सिंह के निधन पर भी शोक जताया।
उनके साथ मुख्य रूप से हलका प्रधान जगदीश धनाना, मनमोहन भुरटाना, शकुंतला स्यानी, वीना सारसर, चेयरमैन पे्रेम धनाना, डीएसपी होश्यार सिंह थानेदार, बलवंत औरंगनगर, सुरेश ठेकेदार, अमित ओला, आजाद गिल, राजेंद्र कस्वा, पार्षद पंकज महता, कृष्ण फोगाट, दीपक राठौर, दीपक सिवाड़ा, रामफल फौजी, भगतवीत जाटू लुहारी, जिला प्रवक्ता राजू मेहरा, सूरजभान एसडीओ, सेठी धनाना, मनीष राणा, संजय कारखल, अनिल बल्हारा, जस्सू कुंगड़, मनदीप तालू, राम सिंह वैद्य, अजीत तिगड़ाना, दयाकिशन बूरा, मैनेजर रामफल जाखड़, जशबीर जमालपुर, पवन पूनिया, विकास तालू, डा. अनिल मंढाना, सुभाष वाल्मीकि, विरेंद्र वाल्मीकि, सूरतल धनाना, राजेश गुर्जर, रामकिशन काजल, जितेेंद्र शर्मा, कपूरा घुसकानी, सतबीर घुसकानी, बिटटू शर्मा, दिलबाग चेयरमैन, ईश्वर पूनिया, रामकला सिहाग, विजय पानू, दिनेश नम्बरदार, पारस भिवानी,अजय पुर, भान कुंगड़, बलराज चौहान, हरिओम गिल, रूपेश धानक, विक्रम बडेसरा, रजत धानिया, यशबीर घनघस, राज कुमार रतेरा, जोगेंद्र ढूल, दीपक रिवाड़ीखेड़ा, पवन फौजी, प्रदीप कुंडू, राजेंद्र मित्ताथल, सतबीर गिल, सिद्धार्थ ढूल, अशोक गुजरानी, जयपाल बूरा, काला नम्बरदार, कुलदीप शौरी, प्रदीप तालू, सुरेंद्र गौदारा, उमेद सिंह, अमित तालू, कुलदीप केलगां, वेदप्रकाश घनघस, सुखबीर परमार, अजय कौशिक, मा. हरीपाल, नवनीत बल्हारा, अमरदीप नेहरा, अमित तालू, सुभाष जमालपुर, ओमबीर नेहरा, जोगेंद्र, महाबीर दुर्जनपुर, डा. सुभाष बड़सी, बीर ङ्क्षसह, रामेहर बूरा, मनजीत दुर्जनपुर, रामधारी दुर्जनपुर, अजय वाल्मीकि, मा. रणपाल सिंह, नफे सिंह घनघस, बजरंग जांगड़ा, सतबीर कुंगड़, अशोक जाखड़, रवि चाहर, अजय सोहलत, राहुल बिलोटा, राजेंद्र गोयत, उमेद सारसर, अजय, संदीप, रवि, मनीराम, राज कुमार तंवर, नरेश तंवर, मेघराज तंवर, वकीला पंच, राजबीर काजल, जोगेंद्र धानक सहित अनेक लोग उपस्थित थे। 

Saturday, October 20, 2018

दुष्यंत के संघर्ष में 306 खाप पंचायत आई समर्थन में, विजयी भवः का दिया आशीर्वाद : दिग्विजय चौटाला


दिल्ली : संघर्ष कभी व्यर्थ नहीं जाता,और यदि संघर्ष जनता के लिए किया जाये तो हमेशा विजय ही प्राप्त होती है। इसलिए खाप 306 देश के सबसे संघर्शील सांसद दुष्यंत चौटाला को समर्थन देती है। यह बात आज दिल्ली के पालम मे खाप 306 के प्रधान चौ.कृष्ण सिंह सोलकीं ने इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला के आगमन पर दादा देव मंदिर में बैतार मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करने पर कहे। दिग्विजय चौटाला आज पालम में विजय दशमी के उपलक्ष में दादा देव मंदिर में मथा टेकने पहुंचे थे।वहीं इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला का खाप की तरफ से पगडी पहनाकर करके स्वागत किया गया।दिग्विजय ने कहा की पगडी हमारे आनबान शान की प्रतीक है लिहाजा खाप 306 के समर्थन को और सम्मान को हमेशा याद रखा जाऐगा।दिग्विजय ने खाप की संयुक्त पंचायत को सम्बोधित किया और कहा की जननायक चौ.देवीलाल ने इस मंदिर के निर्माण मे अहम भूमिका निभाई थी।वे यहां समय समय पर आकर दर्शन किया करते और जनता की समस्याओं का निपटारा भी एक कलम से किया करते थे।उनके बाद चौ.ओमप्रकाश चौटाला भी यंहा आते रहते थे और अब  मुझे इस प्रसिद्ध मंदिर में दर्शन करने का मौका मिला। दिग्विजय चौटाला ने बताया की आज खाप 306 का दिल्ली, उतरप्रदेश, राजस्थान, पंजाब से  लेकर हरियाणा मे अच्छा खासा दबदबा है। खाप का दुष्यंत चौटाला के समर्थन में आना बहुत बडी बात है इस समर्थन को हमेशा याद रखा जाऐगा।वही चौटाला को खाप 306 ने भरोसा दिलाया की खाप दुष्यंत चौटाला के कार्यो से प्रभावित है।खाप प्रतिनिधियो ने कहा की दुष्यंत चौटाला सरीखे राजनैतिको की आज देश व हरियाणा प्रदेश को बहुत आवश्यकता है। दुष्यंत ने देश के किसान,नौजवान, दलित, पिछडो के हको की लडाई बेखुबी लडी है ।जनता के अहम मुद्दों को दुष्यंत चौटाला ने संसद मे उठाया और समस्याओं को खत्म करवाने का काम किया है।खाप प्रधान कृष्ण सिहं सोलकीं व प्रतिनिधियों ने दिग्विजय चौटाला के सर पर हाथ रख विजयी भवः का आशीर्वाद भी दिया। बैठक में देश के सबसे मेहनती सांसद दुष्यंत चौटाला के संघर्शील राजनैतिक जीवन पर भी प्रकाश डाला। दिग्विजय ने बताया की चौ.देवीलाल की चौथी पीढी का इस तरह खाप 306 के द्वारा समर्थन करना अहम बात है।दुष्यंत ने बिना लोभ लालच के देश प्रदेश के अहम मुद्दों की लडाई लडी है।उन्होंने हमेशा साफ और स्वच्छ राजनीति की है जब दुष्यंत चौटाला राजनीति मे आये थे तो हरियाणा की राजनीति का अलग रुप था लेकिन अब उनके द्वारा संसद में समय समय पर जनता की आवाज उठाना इस बात का प्रतिक है की देश की नौजवान पीढी राजनीति की परिभाषा बदलने जा रही है अब केवल जनता के हितो के मुद्दों पर ही काम होना चाहिए। उन्होंने खाप 306 के प्रतिनिधियो को भरोसा दिलाया की दुष्यंत चौटाला व वे स्वयं हमेशा सेवाभाव के लिए तैयार रहेंगे।
सरकार हठधर्मिता छोडक़र हड़ताली कर्मचारियों के साथ करे बातचीत: अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र : इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने हरियाणा सरकार से मांग की है कि वह हठधर्मिता छोडक़र हरियाणा रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों के साथ बातचीत का रास्ता अपनाये। अरोड़ा सेक्टर 10 के पार्क में धरने पर बैठे हरियाणा रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों को संबोधित कर रहे थे। अरोड़ा ने कहा कि सरकार का काम पैसा कमाना नहीं बल्कि जनकल्याण करना है। पिछले 4 दिन से हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों की हड़ताल के कारण पूरे प्रदेश में जनता परेशान है। सरकार बातचीत का रास्ता अपनाने की बजाए दमनकारी नीतियां अपना रही है। अपने चुनावी घोषणापत्र में प्रदेश के कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतनमान देने का वायदा करने वाली भाजपा की सरकार में कर्मचारियों पर एस्मा जैसे काले कानून लगाए जा रहे हैं। सैंकड़ो हड़ताली कर्मचारियों पर मुकदमे दर्ज किए गए हैं और अनेक कर्मचारी नेताओं को गिरफ्तार किया गया है। रोजगार देने की बजाए सरकार रोजगार छीनने पर लगी हुई है। आऊटसोर्सिंग पर रोडवेज में सेवारत सैंकड़ों कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया गया है। ऐसा लगता है कि प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है। हरियाणा रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों के समर्थन में प्रदेश के सभी कर्मचारी संगठन लांमबद हो गए हैं। उन्होंने सरकार को चेताया कि यदि शीघ्र ही बातचीत का रास्ता नहीं अपनाया तो प्रदेश में स्थिति बहुत खराब हो जाएगी। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार ने रोडवेज के हड़ताली कर्मचारियों पर दमनकारी कार्रवाई बंद न की और बातचीत का रास्ता अपनाकर समस्या का हल न किया तो इनेलो कर्मचारियों के समर्थन में कूद जाएगी। अरोड़ा ने कहा कि आज प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बड़ी खराब है। प्रतिदिन हत्या और बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। मुख्यमंत्री, मंत्री और सत्तारूद्ध दल के विधायक जनता की समस्याओं को हल करने की बजाए राहगिरी जैसे कार्यक्रम आयोजित करके कहीं डांस कर रहे हैं तो कहीं गिल्ली-डंडा खेल रहे हैं। अशोक अरोड़ा ने कहा कि बढ़ती महंगाई के कारण जनता के लिए दो रोटी का जुगाड़ करना मुहाल हो गया है। किसान की धान की फसल नमी के नाम पर लूटी जा रही है। धान खरीद घोटाले को कॉमन वेल्थ गेम से बड़ा घोटाला बताते हुए उन्होंने कहा कि मंडिय़ों में धान की खरीद के फर्जी फार्म काटे जा रहे हैं। करोड़ों रुपये का घोटाला हो रहा है, लेकिन मुख्यमंत्री चुप्पी साधे बैठे हैं। उन्होंने कहा कि जनता का चुनाव के इंतजार में है। भाजपा का सूपड़ा साफ करेगी। प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार चौ. ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में बनेगी और बहन मायावती देश की प्रधानमंत्री होंंगी।

Thursday, October 18, 2018

इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला ने आज गुड़गांव में आयोजित की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक


गुड़गांव 18 अक्टूबर : इंडियन नैशनल लोकदल स्व. चौ. देवीलाल जी की विचारधारा है। सभी कर्मठ कार्यकर्ता विषम और विपरित परिस्थितियों में जननानायक के आजीवन संघर्ष, त्याग व विचारधारा को निरन्तर आगे बढाने का काम कर रहे है। संगठन में अनुशासन कायम रखने के लिए जो भी निर्णय लिए वो पार्टी को नई दिशा और दशा प्रदान करेंगे। मेरी गैर मौजूदगी में आपने निरन्तर संघर्ष करके संगठन को ओर अधिक मजबूती प्रदान की जिसके लिए आप सभी बधाई के पात्र है। उक्त शब्द इनेलो सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री चौ. ओमप्रकाश चौटाला ने आज गुड़गांव में आयोजित प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक को सम्बोधित करते हुए कहे। श्री चौटाला ने गोहाना में आयोजित ताऊ देवीलाल सम्मान दिवस समारोह रैली का अभूतपूर्व एंव ऐतिहासिक सफलता पर पार्टी कार्यकर्ताओं का हृदय से धन्यवाद व्यक्त किया। श्री चौटाला ने कहा कि इनेलो की पहचान हमेशा से आदर्शवादी और सबसे अनुशासित मजबूत संगठन की रही है। उन्होंने सभी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सोशल मिडिया में चल रही कुछ अफवाहों पर ध्यान ना देकर पार्टी का प्रचार प्रसार करते हुए बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत करें। श्री चौटाला ने कहा कि एसवाईएल  मुददें को लेकर अगली लड़ाई आगामी 1 नवम्बर को कुरूक्षेत्र से शुरू की जायेगी जिसमें प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्र में गांव गांव जाकर संघर्ष करने का काम करें। इस संघर्ष में सभी कार्यकर्ता व पदाधिकारी अपनी अपनी जिम्मेवारी समझकर बढचढकर हिस्सा लें जिससे हरियाणा प्रदेश को अपने हक का पानी मिल सके। श्री चौटाला ने कहा कि स्व. चौ. देवीलाल ट्रस्ट द्वारा जींद में अस्पताल की अधारशीला रखी गई है जिसमें गरीबों का मुफत में इलाज हो सकेगा। वहीं मेवात में आगामी 10 दिनों में 12वीं तक का स्कूल का निर्माण भी कराया जायेगा जिसमें गरीब बच्चों को मुफत में अच्छी पढाई मिलेगी जिससे मेवात का पिछड़ापन दूर होगा। श्री चौटाला ने कहा कि पार्टी में जिन लोगों द्वारा अनुशासन हीनता फैलाई जा रही है उनकी लिस्ट बनाकर प्रदेश अध्यक्ष को सौंपने का काम करें तथा किसी संधर्षशील व मेहनती कार्यकर्ता किसी कारणवश पद से वंचित रह गया हो उनकी भी लिस्ट बनाकर जल्द से जल्द प्रदेश अध्यक्ष को सौंपने का काम करें। श्री चौटाला ने कहा कि इनेलो बसपा गठबन्धन चट्टान की तरह मजबूत है तथा आने वाले समय में बसपा सुप्रीमो बहन मायावती को प्रधानमंत्री बनाने का काम करेंगे। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि इनेलो सुप्रीमो की गैर मौजूदगी में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में पार्टी ने किसान, मजदूर व हर जनहित मुद्दे को हल करवाने में जमीनी स्तर पर लड़ाई लड़ी है। एक ईमानदार विपक्ष की भूमिका निभाते हुए अभय चौटाला ने प्रदेशहित व जनहित में विपक्ष की जिम्मेवारी का बखूबी निर्वाह किया है। किसानों को मुआवजा दिलवाने, फसलों के सही भाव देने जैसे सभी मुद्दों पर इनेलो ने सरकार को घेरने में कभी कोई कसर नहीं छोड़ी। परिणामस्वरूप सरकार ने जब-जब किसान, मजदूर विरोधी कोई निर्णय लिया, इनेलो के संघर्ष के आगे सरकार को अपने ऐसे सभी निर्णय वापस लेने पड़े। संगठित कार्यकर्त्ताओं ने जहां खेत-खलिहान से लेकर सड़कों पर उतरकर जनहित मुद्दों के लिए संघर्ष किया तो विधायकों ने विधानसभा में सरकार को घेरने में कभी कोई कमी नहीं छोड़ी। एसवाईएल मुद्दे पर सभी विरोधी दलों ने किसान हित में इनेलो के आंदोलन का साथ देने की बजाय राजनीतिक रोटियां सेंकने का काम किया। दूसरी तरफ नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला की अगुवाई में कार्यकर्ता प्रदेश व किसानहित में जेल भरने, दिल्ली-पंजाब में लाठियां खाने तक से पीछे नहीं हटे। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था का दिवाला पिट चुका है। प्रदेश के किसानों की दशा सरकार के ढुलमुल रवैये के कारण बहुत दयनीय हो चुकी है, किसानों को उनकी फसल का समर्थन मूल्य तक ना मिल पाना सरकार के किसान हितेषी दावों की पोल खोलते हुए नजर आ रहा है। आज प्रदेश में व्यापारी, कर्मचारी, मजदूर व किसान आयेदिन धरना प्रदर्शन कर सरकार की गलत नीतियों को उजागर कर रहें है वहीं पिछले कई दिनों से रोड़वेज कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल सरकार के अडि़यल रवैयो को दर्शाता है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आगामी 1 नवम्बर को कुरूक्षेत्र की पावन धरा से शुरू होने वाले संघर्ष में हिस्सा लेकर सरकार को अपनी मांगे मनवाने के लिए मजबूर करें। आज की बैठक में इनेलो के वरिष्ठ नेता रामपाल माजरा, पूर्व डिप्टी स्पकीर गोपीचन्द गहलोत, परमिन्द्र सिंह ढुल, केहर सिंह रावत, महेन्द्र सिंह मलिक, डॉ. के.सी. बांगड़, बलवान सिंह दौतलपुरिया, अनंतराम तंवर, जाकिर हुसैन, जसबीर ढिल्लो, आर.एस. चौधरी, बी.डी. ढालिया, चरणजीत सिंह रोड़ी, रामकुवांर कश्यप, रणबीर सिंह गंगवा, वेद नारंग, मक्खनलाल सिंगला, किशोर यादव, प्रवीन अत्रेय, कपिल त्यागी सहित पार्टी के सभी प्रदेश, जिला व हल्का स्तर के पदाधिकारी उपस्थित थे।
एसवाईएल निर्माण को लेकर इनेलो-बसपा 1 नवंबर से करेगी प्रदेशव्यापी आंदोलन


चंडीगढ़, 18 अक्तूबर: आज गुरुग्राम में हुई इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) की कार्यकारिणी की बैठक में दुष्यंत चौटाला, सांसद और उनके छोटे भाई दिग्विजय सिंह चौटाला, भंग की गई इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष के विरुद्ध अनुशासनहीनता के आरोपों पर भी विचार किया गया। कार्यकारिणी ने यह निर्णय लिया कि इस मुद्दे को पार्टी की अनुशासनात्मक समिति को भेजा जाए। उपरोक्त समिति से कहा गया है कि वह आरोपों पर विचार कर 25 अक्तूबर 2018 तक अपनी रिपोर्ट कार्यकारिणी को प्रस्तुत करे। तब तक दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित रहेंगे। उन दोनों पर यह आरोप है कि 7 अक्तूबर 2018 को गोहाना में आयोजित चौधरी देवीलाल के 105वें जन्मदिवस उत्सव में हुड़दंग करने वालों को उनके द्वारा प्रोत्साहित किया गया था। उन पर यह भी आरोप है कि हरियाणा के इतिहास में सबसे बड़ी रैली को पार्टी विरोधी शाक्तियों से मिलकर बाधित करने का प्रयास किया गया। कार्यकारिणी की बैठक की अध्यक्षता इनेलो राष्ट्रीय पार्टी अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने की और उन्होंने अपने वक्तव्य के दौरान बार-बार पार्टी में अनुशासन के महत्व पर बल दिया। उन्होंने कड़े शब्दों में यह चेतावनी भी दी कि यदि कोई भी व्यक्ति अनुशासनहीनता में संलिप्त पाया जाता है तो उसके पद को देखे बिना कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने याद दिलाया कि इनेलो की प्रतिष्ठा उसके अनुशासित कार्यकर्ताओं पर निर्भर करती है जिस प्रकार के दृश्य रैली में देखे गए, उनको कर्मठ कार्यकर्ता और नेता आहत हुए और उन्होंने उसे गंभीरता से लिया है। इस कारण अनुशासनात्मक कार्रवाई ऐसे मामलों में आवश्यक हो जाती है। वहीं बैठक में इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि एसवाईएल निर्माण को लेकर इनेलो-बसपा 1 नवंबर  से प्रदेशव्यापी आंदोलन खड़ा करेगी। इसके अलावा उन्होंने मौसम की मार के चलते बर्बाद हो चुकी फैसलों की अभी तक गिरदावरी न करवाने के लिए प्रदेश सरकार की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि  भाजपा सरकार  किसानों की समस्याओं की अनदेखी कर रही है। बारिश और ओलावृष्टि के कारण जहां फसलें नष्ट हो चुकी हैं वहीं जो फसल बची है उसकी उत्पादकता भी घटी है। इस लिए इनेलो सरकार से मांग करती है कि बर्बाद हो चुकी फसल का कम से कम 25 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाए। वहीं उपज कम होने से किसान के नुकसान की भरपाई करने के लिए 200 रुपए प्रति क्विंटल बोनस दिया जाए। इनेलो वरिष्ठ नेता ने खट्टर सरकार में कानून-व्यवस्था पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि भाजपा के राज में प्रदेश की कानून व्यवस्था खस्ता हाल है। इसको दुरुस्त करने में प्रदेश सरकार पूर्ण रूप से विफल हुई है। आज प्रदेश में बच्चियों से लेकर वृद्ध महिलाओं तक कोई भी सुरक्षित नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश मेें बेरोजगारी चरम पर है। प्रदेश के पढ़े-लिखे युवाओं को रोजगार और नौकरियों के नाम पर आउटसोर्सिंग मिला है। बैठक सम्पन्न होने के बाद नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला और इनेलो परिवार की ओर से प्रदेशवासियों को दशहरा की शुभ कामनाएं दी।

Wednesday, October 17, 2018

कार्यकर्ताओं के बहाए पसीने को सत्ता तक पहुंचाकर लेंगे दम: दुष्यंत चौटाला



भिवानी, 16 अक्तूबर : इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला ने आज भिवानी देवीलाल सदन में पहुंचकर भिवानी व दादरी कार्यकर्ताओं का हालचाल जाना। उमड़े जनसैलाब को देखकर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आज इस भारी भीड़ ने यह दर्शा दिया है कि भिवानी डा. अजय ङ्क्षसह चौटाला की कर्मभूमि है। दुष्यंत ने कहा कि पार्टी के प्रत्येक कार्यकर्ता के बहाए पसीने को सत्ता के  दरवाजे तक पहुंचाकर ही दम लेंगे। भिवानी पहुंचने पर आज बड़ी संख्या में बुजुर्गों, महिलाओं व नौजवानों ने दुष्यंत का स्वागत किया। सांसद ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल के नक्षेकदम पर चलकर और चौ. औम प्रकाश चौटाला के निर्देश पर संगठन को और ज्यादा मजबूत किया जाएगा। वहीं उन्होंने कहा कि डा. अजय सिंह चौटाला ने 40 साल तक पार्टी के कार्यकर्ताओं को गले लगाकर जो प्यार दिया है आज ये उसी का परिणाम है कि हजारों की संख्या में एक छोटे से अल्टीमेटम पर कार्यकर्ता यहां पहुंचे। दुष्यंत ने कहा कि उन्हेांने क भी बुजुर्गों के माध्यम से 1987 और सन 1998-99 की सरकार के आने से पहले उमड़े जनसैलाब के बारे में बताया था आज इन हजारों निष्ठावान कार्यकर्ताओं को देखकर निश्चित तौर पर यह कहा जा सकता है 2019 में कार्यकर्ताओं की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि चौ. देवीलाल की विचारधारा से जुड़े लोग ही संघर्ष की महत्वता को समझते हैं। दूनिया में जिसने संघर्ष किया उसे कामयाबी अवश्य मिली है। उन्हेांने अपने परदादा, दादा और पिता से संघर्ष करना ही सीखा है। दुष्यंत ने कहा कि अभी परीक्षा की घड़ी बाकी है कार्यकर्ता अपने आपकों और मजबूत करके लक्ष्य निर्धारित करे। उन्होंने कहा कि वो बड़ों का आदर करना जानते हैं । उन्होंने हमेशा इनेलो सुप्रीमों से बहुत कुछ सीखा है इसलिए प्रत्येक कार्यकर्ता अपनी भूमिका को सही अंजाम देते हुए संगठन को और मजबूती दे ताकि 2019 में किसान, युवा, कमेरे, दलित , छात्र व पिछड़ों की सोच को लाया जा सके। दुष्यंत के स्वागत में जहां नौजवान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे वहीं बुजुर्ग उनके सिर पर हाथ रखकर आशीर्वाद दे रहे थे। बुजुर्ग महिलाओं ने दुष्यंत के सिर पर हाथ रखकर कहा कि बेटा अभी ओर मेहनत करनी है और उन्होंने दुष्यंत को देशी घी का चुरमा खिलाकर हौसला अफजाई किया। धनाना से आई बिमला घनघस ने कहा कि दुष्यंत जैसा बेटा हर किसी को मिले जो अपने बड़ों का आदर करता है और युवाओं को साथ लेकर प्रदेश की जनता की आवाज को उठाता है। इस अवसर पर विधायक राजदीप फोगाट, नरेश द्वारका, रामचंद्र कोटिया, डीएसपी होश्यार सिंह, जगदीश धनाना, मनोज यादव, वजीर मान, राजेश फोगाट, भूपेंद्र बौंद्र, विजय प्रकश चीफ, डा. दिनेश सनसनवाल, रिषीपाल फोगाट, जिला प्रवक्त राजू मेहरा, भगवती जाटू लुहारी औमधारा श्योराण, शकुंतला स्यानी, लक्ष्मी बलौदा, सुलोचना पोटलिया, वीना सारसर, बिमला घनघस, वेदपाल ढिल्लो, धर्मराज फोगाट, रामफल फौजी,दिलबाग बुढेड़ा, डा. विजय मंदौला, कुलवंत कोटिया, जितेंद्र शर्मा, राम सिहं वैद्य, प्रेम धनाना, राजेश भारद्वाज, जैना शर्मा, डा. जयबीर बूरा, राजेश झोझू, उमेद फोगाट, उमेद गौरीपुर, पप्पल ठा. प्रदीप गोयल, देवेंद्र नकीपुर, सेठी धनाना, मनदीप सुई, यशवीर घनघस, कर्मबीर धनाना, कमलजीत यादव, वेद प्रकाश धनाना, लीला मुण्ढाल, दिनेश नम्बरदार, सचिन जताई, फोर्ड धनाना, मनमोहन भुरटाना, विक्रम बड़ेसरा, दीपक सिवाड़ा, विरेंद्र बापोड़ा, मित्रपाल चेयरमैन, प्रदीप तालू, बलवंत औरंगनगर, रमेश तालू, दिलबाग तालू, शिव कुमार खरक, मेवा फोजी, मैनपाल नम्बरदार देवेंद्र कलिंगा, संजय तिगड़ाना, प्रदीप मित्ताथल, रामेश्वर चांग, प्रदीप खरकिया, जसवंत चांग, जीतू बापोड़ा, दीपक वाल्मीकि, जगबीर नांगल, रामानंद राजगढ़, अजमेर कितलाना, अशोक बाली शर्मा, राजेंद्र ढाणा, अशोक सिहाग, सुनील मनसरवास, गोलू मलिक, रवि तोशाम, हरीश तोशाम, अजीत तिगड़ाना, पवन फौजी, ईश्वर पूनिया, रामकला सिहाग, प्रदीप कुंडू, दिलबाग चेयरमैन, बीर सिंह रेवाड़ी, सुनील सैनी, जोनी राजपूत, बादर सिरसा घोघड़ा, डा. सुरेंद्र ढाणा, भूपेंद्र गोदारा, श्रीपाल राजपूत, शमशेर पंडित, संजय राव, मदन जूसवाला, जोगेंंद्र मुण्ढाल, विकास तालू, सुरेंद्र गोदारा, नरेश सिवाड़ा, टोनी सिवाड़ा, नीलम जैन, जस्सू कुंगड, बिटटू शर्मा, शुगनपाल खान, मनीष छिल्लर, अमनदीप मेहड़ा, वेद प्रकाश वाल्मीकि, बलराज चौहान, मांंगेराम सिवाड़ा, आजाद गिल, सतबीर गिल, कृष्ण फोगाट, सतपाल सरपंच, महाबीर मा. जोगी धानक, प्रदीप दूहन, सुरेश ठेकेदा, बबलू फौजी, भान कूंगड, पंकज सिरसा घोघड़ा, सुखबीर सिरसा घोघड़ा, जयबीर पुर, धर्मेंद्र कलिंगा, सुरज मलिक, माईराम खटिक, राजेंद्र मित्ताथल, राजेंद्र लोहानी, आशू वाल्मीकि, शंकर आहूजा, अतर धनाना, रमन नौरंगाबाद सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे। 
कार्यकर्ताओं के दम पर होगा हर मैदान फतेह - दुष्यंत चौटाला


हिसार : इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने हिसार लोकसभा को अपनी जन्म व कर्मभूमि बताते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं के दम पर हर मैदान फतेह होगा। युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने देवीलाल सदन में उपस्थित हजारों कार्यकर्ताओं से रूबरू होते हुए कहा हिसार के साथियों की मेहनत से लोकसभा में सबसे कम उम्र का सांसद बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि इंडियन नेशनल लोकदल को उनके पड़दादा पूर्व उपप्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल व दादा पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के साथ उनके पिता डॉ अजय सिंह चौटाला ने अपने खून पसीने से सींचा है। वे स्वयं भी पिछले काफी समय से संगठन को मजबूती देने में लगे है। युवा सांसद ने कहा कि पार्टी के कुछ लोग उन्हें दोषी ठहराने के प्रयास में है, परन्तु इससे अपने लक्ष्य से विचलित होने वाले नही है। जिस प्रकार से उनके पिता डॉ अजय सिंह चौटाला ने हमेशा संघर्ष का रास्ता चुना और इसी कारण आज भी उनका कार्यकर्ताओ के दिलों पर राज कायम है। जननायक चौधरी देवीलाल के बताए रास्ते पर चलते हुए वे हमेशा आम जनता की आवाज को हर मंच पर उठाते रहेंगे। सांसद चौटाला ने कहा कि इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला संगठन के साथ परिवार के मुखिया भी है, वे उनका पूरा मान सम्मान करते है और करते रहेंगे। वे जो भी फैसला लेंगे उनका पूरा आदर के साथ स्वीकार करेंगे। कार्यकर्ताओ को सम्बोधित करते हुए सांसद ने कहा कि उन्होंने एक सांसद के तौर पर कार्यकर्ताओं के सहयोग से अपनी जिम्मेदारी अच्छे से निभाने का प्रयास किया है और आगे भी निभाते रहेंगे।सांसद ने कहा कि आप सब चौधरी देवीलाल की विचारधारा से जुड़े लोग हो और संघर्ष की महत्व को समझते हो। इस दुनिया मे जिसने सँघर्ष किया है उसी ने कामयाबी का स्वाद चखा है। पिछले लोकसभा में जिस प्रकार सब साथियों ने अपना सर्वस्व लगाते हुए उन्हें लोकसभा में भेजा था उसी प्रकार आने वाली लड़ाई भी आप लोगों ने लड़नी है। हिसार लोकसभा से अगला चुनाव लड़ने की बात कहते हुए हिसार में उनका जन्म हुआ और पहली राजनैतिक सफलता भी हिसार में ही हासिल हुई। इस अवसर पर इनेलो विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, शीला भ्याण, हरफूल खान भट्टी,  तरुण जैन, सजन लावट, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित बूरा,  डॉ राज कुमार दिनोंदिया, सत्यवान बिछपडी, कैप्टन छाजू राम, इंद्र फौजी, सुभाष गिल, कर्ण सिंह दैपल, राजेन्द्र चुटानी, राजीव शर्मा, प्रताप बूरा, गुलाब सिंह खेदड़, रवि आहूजा, जिला पार्षद सरोज बामल, वीना चौधरी, कृष्णा खर्ब, मोहित अरोड़ा, गौरव सैनी, विपिन गोयल, संतोष पानू, सेवा पति पाँनु, शन्नो देवी, एडवोकेट प्रभुदयाल जाखड़,  प्रदीप लोहान सहित बहुत से कार्यकर्ता उपस्थित थे।

इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने जननायक चौधरी देवीलाल मैमोरियल सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का शिलान्यास किया


चंडीगढ़ : सम्मान दिवस रैली में 7 अक्तूबर को इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला द्वारा की गई घोषणाओं में से एक को पूरा करते हुए आज जींद में जींद-गोहाना रोड स्थित गांव बराह खुर्द में ‘जननायक चौधरी देवीलाल मैमोरियल सुपर स्पेशलिटी अस्पताल’ का शिलान्यास किया। अस्पताल का शिलान्यास इनेलो सुप्रीमो द्वारा किया गया। शिलान्यास के मौके पर मुख्यत: जननायक चौधरी देवीलाल मैमोरियल ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला और पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक कुमार अरोड़ा उपस्थिति थे। जननायक चौधरी देवीलाल मैमोरियल ट्रस्ट द्वारा बनाए जाने वाले इस अस्पताल में गरीब लोगों को मुफ्त चिकित्सा सुविधाएं दी जाएंगी। इस अस्पताल के निर्माण से सीधे तौर पर जींद, गोहाना, कैथल, कलायत, नारनौंद व महम सहित आसपास के क्षेत्र के लोगों को लाभ होगा। इनेलो सुप्रीमो ने गोहाना रैली में जननायक चौधरी देवी लाल के 105वें जन्मदिवस समारोह के अवसर पर प्रदेश में स्वास्थ्य और शिक्षा की बदहाली पर चिंता व्यक्त करते हुए घोषणा की थी कि वह प्रदेश में मुफ्त शिक्षा और इलाज के लिए एक शिक्षण संस्थान और एक अस्पताल का निर्माण करवाएंगे। उन्होंने प्रदेश की जनता से किए वादे को निभाते हुए अस्पताल की नींव रख दी है और जल्द ही शिक्षण संस्थान का भी शिलान्यास किया जाएगा। इस मौके पर विधायक परमेंद्र ढुल, पिरथी नम्बरदार नरवाना, पूर्व विधायक श्रीमती सरोज मोर, कलीराम पटवारी, रामफल कुंडू जिला प्रधान कृष्ण राठी, प्रताप लाठर, हलका प्रधान भूपेंद्र जुलानी, डॉ. कृष्ण मिढ्ढा (सुपुत्र स्व. हरिचंद मिढ्ढा, विधायक जींद), भगवान दास, सुभाष देशवाल, पूर्व युवा अध्यक्ष प्रदीप गिल, एससी प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष बलदेव बाल्मीकि, कृष्ण ढांडा, व्यापार प्रकोष्ठ के जिला प्रधान सतीश जैन, बलराज नंगूरा, दयानंद कुंडू, महिला प्रकोष्ठ की प्रधान श्रीमती सुमित्रा देवी, कृष्ण लबाणा, सुरेश काला, अतुल मलिक व पवन जागसी के सहित अनेकों गठबंधन कार्यकर्ता मौजूद थे।