Tuesday, September 4, 2018

भ्रष्टाचार, मंहगाई के खिलाफ बुलंद आवाज बनेगा 8 का हरियाणा बंद- अशोक अरोड़ा


फतेहाबाद: इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि 8 सितंबर को विभिन्न जनहित मुद्दों को लेकर किया जाने वाले इनेलो-बसपा का हरियाणा बंद आमजन मानस की बुलंद आवाज बनकर कुंभकरणी नींद में सोई भाजपा सरकार को जगाने का काम करेगा। वे आज स्थानीय अनाज मंडी में आयोजित व्यापारियों की बैठक को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित कर रहे थे। अध्यक्षता इनेलो व्यापार सैल प्रदेश संयोजक कुलभूषण गोयल ने की। इस दौरान किसान सैल प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला, जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कुलजीत कुलड़िया, मोलूराम रूलहानियां, व्यापार सैल जिला प्रधान अनिल भाटिया, आत्मप्रकाश बत्तरा, सुरेन्द्र लेगा, हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, हरि सिंह मेहरिया व शहरी प्रधान पवन चुघ आदि नेताओं ने भी संबोधित किया। व्यापार मंडल प्रधान सुभाष मुंजाल फतेहाबाद के नेतृत्व में व्यापार मंडल जिला इकाई ने इनेलो प्रदेशाध्यक्ष को शाल पहना कर उनका अभिनंदन किया। इस दौरान व्यापारियों ने उनके समक्ष अपनी समस्याएं रखी। इस पर प्रदेशाध्यक्ष ने व्यापरियों द्वारा रखी गई मांगों व समस्याओं को विधानसभा में उठा सरकार से हल करवाने का आश्वासन दिया।
प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने व्यापारी वर्ग का आह्वान करते हुए कहा कि वे एक राष्ट्र, एक टैक्स प्रणाली को लागू करवाने, भ्रष्टाचार मुक्त, भयमुक्त प्रदेश बनाने के लिए 8 सितम्बर के हरियाणा बन्द को सफल बनाएं। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम औमप्रकाश चैटाला के नेतृत्व वाली इनेलो सरकार में व्यापारियों को जो राहत व व्यापार को बढ़ावा देने की नीतियां बनाई गई उन्हें बीते डेढ दशक में कांग्रेस और वर्तमान भाजपा सरकार ने खत्म करने का काम किया है, जिससे व्यापार व व्यापारी बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो सरकार के दौरान चुंगी खत्म करके व्यापारियों को इंस्पेक्टरी राज से मुक्ति दिलाई गई थी। व्यापारियों की आढ़त को 1.5 से बढ़ाकर 2.5 प्रतिशत किया। व्यापारियों की सुविधा के लिए फार्म एसटी-14, 14-ए और एसटी-15ए, बी, सी, डी फार्म समाप्त किए। प्लाईवुड उद्योग को ईंट भट्टों की तर्ज पर एकमुश्त कर भुगतान प्रणाली की सुविधा प्रदान की। 21 जिन्सों पर मार्किट फीस 2 प्रतिशत से कम करके 1 प्रतिशत की गई थी। शो टैक्स पूरी तरह समाप्त किया तथा फिल्मों पर मनोरंजन कर 125 फीसदी से घटाकर 50 फीसदी किया। अन्तरराज्यीय स्पर्धा को ध्यान में रखते हुए मोटर वाहनों के टायर ट्यूब की बिक्रीकर की दर 12 प्रतिशत से घटाकर 8 प्रतिशत की तथा अन्य मदों पर भी इसी प्रकार की मदद की। इसके विपरित आज के हालात की बात की जाए तो पेट्रोल-डीजल के दाम इतिहास में सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गए है। नोटबंदी जैसे गलत निर्णय ने बाजार और व्यापार दोनों को खत्म कर दिया। आमजन से लेकर व्यापारी वर्ग तक सुरक्षित नहीं है। बंदूक की नोक पर अपराधी सरेआम व्यापारियों, महिलाओं से लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। बेरोजगारी की मार से हताश युवा गलत रास्तों पर चलने को मजबूर हो गए है।
प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार मुक्त भर्ती का दावा करने वाली सरकार में कर्मचारी चयन आयोग के अधिकारी रिश्वत के दागदार हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री किस मुंह से नौकरियों में भ्रष्टाचार मुक्त भर्ती का दावा करते हैं। वास्तव में सीएम सब कुछ जानकर भी अनजान बनने का दिखावा कर रहे हैं। उन्होंने एसवाईएल मुद्दे पर कहा कि सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने के बावजूद सरकार हरियाणा को उसके हिस्से का पानी नहीं दिलवा पाई। उसकी इस नीति से किसान वर्ग को बड़ा धक्का लगा है, क्योंकि एसवाईएल का पानी मिलने से प्रदेश में एक नये कृषि क्रांति दौर का उदय होना था। इनेलो-बसपा गठबंधन लगातार एसवाईएल को प्रदेश की जीवन रेखा मानते हुए नेता प्रतिपक्ष अभय चैटाला के नेतृत्व में आंदोलनरत है। उन्होंने 6 राज्यों की पानी की समस्या को हल करने के लिए प्रस्तावित लखवार बांध के मुद्दे को एक तरह से राजनीतिक शगूफा करार दिया। उन्होंने कहा कि यह केवल जनता का ध्यान एसवाईएल नहर से हटाने के साथ-साथ जनता को भ्रमित करने भर से आगे कुछ नहीं है। जो मुख्यमंत्री व भाजपा के सांसद प्रदेश को उसके हिस्से का पानी दिलाने के लिए प्रधानमंत्री से समय तक नहीं ले पाए, वे एसवाईएल या जलसंकट हल करने के प्रति गंभीर हो ही नहीं सकते। इस अवसर पर व्यापारियों में व्यापार मंडल टोहाना प्रधान रमेश गोयल, सुरेश भलाड़िया, रमेश तनेजा, लक्ष्मी नारायाण देहडू, हरपाल बैनीवाल, बलदेव कसवां, अनिल जांगू, हरबंस खन्ना, दलीप कथूरिया, औंकार जोगी, भूषण बंसल, खैराती लाल छौक्कर, अजय संधू, राकेश सिहाग, राणा जोहल, विकास मेहता, रवि गढ़वाल, जोनी मेहता, अशोक मेहता, बलदेव बजाज, बलबीर शर्मा, रवि लांबा, धर्मबीर, अजय गोयल, दर्शन धवन, रामकुमार पूनिया, नौरंग जांगड़ा, कुलदीप सैनी, रामचंद जैन, बंटी बरसीन, बनवारी खोबड़ा सहित अनेक व्यापारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment