Tuesday, September 4, 2018

सरकार द्वारा कर्मचारियों पर एस्मा लगाना दमनकारी निर्णय- अशोक अरोड़ा 


सिरसा: इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के शासन में बढ़ रही महंगाई, महिलाओं, बच्चियों के साथ घिनौने अपराध, व्यापारियों से लूटपाट छीना झपटी, प्रदेश के हक के रूप में एसवाईएल पानी की प्राप्ति व किसानों का किए जा रहे दमन आदि विभिन्न मुद्दों के खिलाफ इनेलो बसपा गठबंधन आगामी 8 सितंबर को हरियाणा बंद करेगी और इसमें व्यापारियों का अहम सहयोग अपेक्षित है।
वे मंगलवार को रॉयल प्लाजा में इनेलो बसपा के तत्वावधान में आयोजित व्यापारी स मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से परेशान होकर करीब चार साल पहले देशवासियों ने देश की सत्ता नरेंद्र मोदी को महज इसलिए सौंपी थी क्योंकि उन्होंने चुनावों से पूर्व कहा था कि वे व्यापारियों सहित सभी वर्गों के कल्याण के लिए कार्य करेंगे और इसी वजह से देश में अच्छे दिन आएंगे मगर उनकी कथनी और करनी में इतना फर्क रहा कि उन्होंने सभी वर्गों के कल्याण की बातें पीछे छोड़कर सभी वर्गों पर टैक्स का चाबुक चलाकर उन्हें प्रताडि़त किया है। हरियाणा में भी भाजपा सरकार ने केंद्र की भाजपा सरकार का अनुसरण करते हुए अनेक प्रकार से व्यापारियों, किसानों, आमजन, युवाओं, महिलाओं को प्रताडि़त किया और आज यही वजह है कि हरियाणा के हित पूरी तरह से गौण नजर आते हैं। उन्होंने सभी व्यापारियों से उपरोक्त महत्वपूर्ण मुद्दों को लेकर इनेलो बसपा गठबंधन की ओर से किए जाने वाले 8 सितंबर के बंद में पूर्ण सहयोग की मांग की। इससे पूर्व इनेलो व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष कुलभूषण गोयल ने भी व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी से जिस प्रकार देश की अर्थव्यवस्था चरमराई, उससे देश का आमजन बुरी तरह प्रभावित रहा मगर केंद्र सरकार ने आमजन को राहत देने की बजाए उस पर और अधिक जुल्म ढाते हुए 2017 में जीएसटी जैसा कानून पारित कर उसे लागू कर दिया और व्यापारियों पर 28 फीसदी तक टैक्स लगाकर उसकी पूरी तरह से कमर तोड़ दी। उन्होंने कहा कि हरियाणा में जब इनेलो की सरकार थी, उस समय इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने व्यापारियों से मिलकर उनकी समस्याएं जानी और उनके हित के लिए योजनाएं बनाकर उन्हें अमलीजामा पहनाया। उन्होंने इस बात को भी स्वीकार किया कि इनेलो शासन में देशभर में हरियाणा ने ही वैट टैक्स को लागू किया था जिसका उस समय तो कांग्रेस ने पुरजोर विरोध किया मगर बाद में कांग्रेस ने स्वयं ही वैट टैक्स को जारी रखा। गोयल ने कहा कि पूर्व मेंं हुई गलतियों को सुधारते हुए आने वाले समय में इनेलो बसपा गठबंधन व्यापारियों के हित से जुड़ी योजनाओं को ही लागू करेंगे। उन्होंने कहा कि व्यापारियों के दम पर ही कोई भी पार्टी सत्ता में आती है और इस बार वे आशा करते हैं कि व्यापारी वर्ग के सहयोग से इनेलो बसपा गठबंधन सत्ता में आएगा और प्रदेश के विकास के लिए प्राथमिकता से कार्य करेगा। हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल की ओर से हीरालाल शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि व्यापारी बोलता नहीं तोलता है और आज जिस प्रकार से भाजपा ने प्रदेश के व्यापारियों से हित के नाम पर छल किया है, चुनावों के समय व्यापारी उसका पूरा बदला लेंगे। शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार ने जीएसटी लागू तो कर दिया मगर भारत में इसे अमलीजामा पहनाने के लिए कम से कम 7 जी के संचार कार्यक्रम का होना जरूरी था मगर भारत में अभी तक केवल 3 जी ही पूरी तरह से कार्य नहीं कर पा रहा, ऐसे में जीएसटी को कैसे लागू किया जाए, बड़ी समस्या है। उन्होंने इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा और इनेलो व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष कुलभूषण गोयल से स्पष्ट कहा कि यदि व्यापारी हित के लिए वे कोई बड़ा कदम उठाते हैं तो बतौर व्यापारी वे उनके साथ हैं और अपेक्षा करते हैं कि सत्ता में आने पर वे व्यापारियों की समस्याओं को प्राथमिकता पर दूर करेंगे मगर सत्ता प्राप्ति के बाद यदि उन्होंने व्यापारियों से छल किया तो वे इनेलो बसपा के खिलाफ भी मुखर हो सकते हैं। कार्यक्रम के दौरान सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, रानियां के विधायक रामचंद्र कंबोज, इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, इनेलो व्यापार प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष कृष्ण मेहता आदि ने भी अपने विचार प्रकट करते हुए व्यापारियों के समर्थन में इनेलो का सहयोग करने का आह्वान किया। इनेलो व्यापार प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष कृष्ण मेहता ने इस मौके पर अपने प्रकोष्ठ के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ अतिथियों को शॉल ओढाकर व फूलगुच्छ देकर उनका स मान किया। कार्यक्रम में सिरसा के विधायक मक्खनलाल गोयल, पूर्व चेयरमैन अमीर चावला, गुरदयाल मेहता, रमेश मेहता आढती, मुल्तान सभा के प्रधान हरीश गोस्वामी, सुमेरचंद गर्ग, केदार पाहवा, डॉ. हरिसिंह भारी सहित अनेक व्यापारी और गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे। मंच संचालन प्रदीप मेहता एडवोकेट ने किया। बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कर्मचारियों पर लगाए गए एस्मा की कड़ी आलोचना करते हुए इसे एक दमनकारी निर्णय बताया। कुरुक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी पर टिप्पणी करते हुए इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि स्वयं वे तो भाजपा से बाहर नहीं जा रहे मगर अपनी निजी पार्टी में लोगों को शरीक करने का आह्वान कर रहे हैं जो उनकी दोहरी मानसिकता दर्शाता है। उन्होंने कहा कि पूर्व मु यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और रॉबर्ट वाड्रा पर दर्ज किए गए मुकदमे बारे पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि यह मुकदमा पहले दर्ज होना चाहिए था मगर देरी से हुआ है। उन्होंने कहा कि एसवाईएल के मुद्दे पर इनेलो सड़कों पर और संसद से लेकर विधानसभा तक संघर्ष करती रही है और अब इसी श्रृंखला में 8 सितंबर को पूरा हरियाणा बंद रखकर केंद्र को अपने आक्रोश से वाकिफ कराया जाएगा। 

No comments:

Post a Comment