Friday, September 21, 2018

वायदों पर खरा नहीं उतरी भाजपा, मंत्री-नेता भी नहीं करते अब अच्छे दिनों के दावे- दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि सत्ता के 4 साल पूरे करने के बाद भी भाजपा सरकार चुनाव पूर्व जनता से किए एक भी वायदे पर खरा नहीं उतर पाई है। मंहगाई, बेरोजगारी, अफसरशाही पर लगाम जैसी समस्याओं पर लगाम कस अच्छे दिन लाने के दावे करने वाले भाजपा नेता व मंत्री अब जनता के बीच गलती से भी अच्छे दिनों की बात करने से कतराने लगे है। आम जनमानस के साथ-साथ स्वयं सरकार के मंत्री, विधायक व नेताओं तक यह समझ चुके हैं कि अच्छे दिन लाने के उनके वायदे केवल मात्र चुनावी वायदे ही थे। वे जननायक स्व. देवीलाल के गोहाना में 25 सितंबर को होने वाले जयंती समारोह बाबत जारी जनसंपर्क अभियान के तहत गांव काजल, खाराखेडी, कुम्हारियां, चबलामोरी, धांगड़ आदि में ग्रामीण सभाओं को संबोधित कर रहे थे। ग्रामीण सभाओं को इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैंरों, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़, राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कुलजीत कुलडि़या, मोलूराम रूहलानियां, विद्या रत्ति, इनेलो जिला उपाध्यक्ष सुरेन्द्र लेगा, बसपा जिला उप-प्रधान सुभाष गोड़, बसपा जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, बसपा हलकाध्यक्ष कुलदीप बड़गुज्जर, सरपंच अमरपाल तामसपुरा, एडवोकेट सुमनलता सिवाच आदि ने भी मुख्य रूप से संबोधित किया। 
विधायक बलवान दौलतपुरिया ने ग्रामीणों को 25 सितंबर की रैली में पहुंचने का न्यौता देते हुए कहा कि जननायक स्व. देवीलाल का यह सम्मान समारोह ही अब प्रदेश में एक बड़े राजनीतिक बदलाव का गहवा बनेगा। चौटाला ने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल किसी एक जाति व वर्ग के नेता नहीं थे अपितु सभी 36 बिरादरियों के सर्वमान्य नेता थे। जिन्होंने हरियाणा राज्य में मुख्यमंत्री तथा देश के उपप्रधानमंत्री रहते हुए समान विकास करवाए और गरीब, कमेरे और किसान वर्ग को खुशहाल रखने की अनेक नीतियां बनाई थी। जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों ने कहा कहा कि जनता आज भी स्व देवीलाल की प्रदेश के प्रति की गई विकास गाथाओं को याद करती है। चौधरी देवीलाल ने ही सबसे पहले हरियाणा में बेरोजगार युवकों को बेरोजगारी भत्ता देने की पहल की थी। हरियाणा में बुढ़ापा पैंशन भी शुरू करने वाले भी चौधरी देवीलाल ही थे जबकि अनूसूचित जाति की महिलाओं हेतु जच्चा-बच्चा स्कीम भी जननायक ने अपने शासन में आरंभ की थी। आज भाजपा सरकार घमंड में चूर है और आम आदमी की आवाज को दबाया जा रहा है तथा समान विकास की बातें केवल जुमला ही बनकर रह गई है। पिछले डेढ़ साल से किसानों को उनकी खराब हुई फसल का मुआवजा न मिलने के कारण आज किसानों को धरने पर बैठने व पानी की टंकी पर चढ़ने हेतु मजबूर होने पड़ रहा है। प्रदेश में युवाओं को नौकरियां न मिलने के कारण बेरोजगारों की लंबी फौज हरियाणा में खड़ी हो गई है। किसान, व्यापारी, छात्र व कर्मचारी वर्ग दुखी और परेशान होकर आंदोलन करने के लिए मजबूर है और भाजपा सरकार चैन की बंसी बजा रही है। इस अवसर पर अनिल नहला, अनुराग भांभू, राजेन्द्र माचरा, रामसिंह फौजी भोड़ा, राजबीर सांई सहित इनेलो-बसपा गठबंधन के अनेक कार्यकर्त्ता व पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment