Wednesday, July 18, 2018

लोकसभा सत्र में दुष्यंत के पिटारे से निकलेंगे युवा और किसानों से जुड़े मुद्दे


हिसार: लोसकभा सत्र में सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरने के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला ने विशेष रणनीति बनाई है। इस सेशन में सांसद न केवल सरकार से रोजगार, फसल बीमा योजना, महिला विरूद्ध अपराध सहित विभिन्न मुद्दों पर जवाब मांगेंगे बल्कि देश भर में जिला प्रशासन द्वारा सांसदों के प्रति विकास कार्यों में असहयोगात्मक रवैये को भी लोकसभा के पटल पर रखेंगे। दस अगस्त तक चलने वाले इस लोकसभा के इस सत्र में स्थानीय मुद्दों के साथ साथ प्रदेश में हुए दवा घोटाले का मुद्दा भी उठाएंगे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार से उपरोक्त मुद्दों पर जवाब तलबी करने के लिए न केवल लिखित प्रश्न पूछे हैं बल्कि सदन में जीरो ऑवर व नियम 377 के तहत हिसार लोकसभा के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बुधवार से शुरू हो रहे सेशन के लिए 100 से अधिक लिखित प्रश्न तैयार किए हैं। सांसद ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट सांसद आदर्श ग्राम योजना का जमीनी स्तर पर क्या हश्र है, इसका खुलासा लोकसभा के पटल पर करेंगे। सांसद ने बताया कि हिसार ही नहीं देश के अधिकतर सांसदों के साथ जिला प्रशासन ऐसा ही रवैया अपना रहा है जैसा कि मेरे लोकसभा क्षेत्र के गोद लिए गांवों के साथ प्रशासन अपना रहा है। लोकसभा में बताएंगे कि किस तरह से अधिकारी गोद लिए गांवों को तिरस्कृत कर रहे हैं। इन गांवों में राज्य सरकार की योजनाएं तो दूर केंद्र सरकार की एक भी योजना प्रभावी ढंग से लागू नहीं की जा रही है। एक बानगी तो देखिए, गोद लिए गांव घुसकानी में तो सरकार ने स्कूल की बिल्डिंग को तोड़ कर बच्चों को पढऩे के लिए टेंट में बैठा दिया। इतना ही नहीं स्कूल की बिल्डिंग का मेटिरियल भी सरकार ने लाखों रूपये में बेच कर अपना खजाना भर लिया। 
सांसद दुष्यंत ने बताया कि प्रधानमंत्री की एक और महत्वाकांक्षी फसल बीमा योजना औंधे मुंह गिरी है। इस मामले को भी वह फिर से लोकसभा में उठाएंगे और केंद्र सरकार से जवाब मांंगेगे कि किसान का प्रीमियम लेने के बाद भी हिसार के किसानों को बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा एक वर्ष बाद तक क्यों नहींं दिया जा रहा। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हिसार लोकसभा क्षेत्र के साथ साथ पूरे हरियाणा में पानी की किल्लत के मामले को भी प्रमुखता से लोकसभा में रखेंगे। हालात ये हैं कि लोगों को पीने का स्वच्छ पानी भी नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि दक्षिण हरियाणा के लोग आज भी पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं और हरियाणा सरकार ने अभी तक इन्हें पीने का पानी उपलब्ध करवाने के लिए कोई भी कारगर योजना लागू नहीं की। सांसद ने हैरानी जताते हुए कहा कि पेट्रोल एवं डीजल के भाव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तुलनात्मक रूप से काफी कम हैं परन्तु केंद्र की भाजपा सरकार आज तक पेट्रोल डीजल के भाव कम करने की बजाय लगातार बढ़ा रही है। उन्होंने बताया कि बुधवार से शुरू हो रहे लोकसभा के सत्र में सरकार से यह भी पूछा जाएगा कि पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों को रोकने के लिए सरकार क्या कदम उठा रही है।
युवा सांसद ने बताया कि हरियाणा सहित देशभर में गेस्ट टीचर पर नौकरी हटने की तलवार हर समय लटकती रहती है। उन्होंने कहा कि इस बार सेशन में वह हरियाणा के गेस्ट टीचर्स को पक्का करने की मांग भी उठाएंगे। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि प्रदेश भर के कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर पिछले कई महीनों से आंदोलनरत हैं और सरकार उनकी अनुसनी कर रही है। सांसद ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली की कर्मचारियों की मांग जायज है और मांग को वह लोकसभा में जोर-शोर से उठाएंगे। 
राखी गढ़ी गांव के सैंकड़ों परिवारों को घर उजाडऩे एवं बीड़ बबरान, ढंढूर, झिड़ी सहित पांच गांवों को उजाडऩे के मामले  को भी लोकसभा में उठाएंगे तथा केंद्र सरकार से उन्हें न उजाडऩे की गुजारिश भी करेंगे। इस बार लोकसभा में सांसद दुष्यंत प्रदेश भर में पुरातत्व महत्व की इमारतों के रख-रखाव के लिए उठाए जा रहे कदमों को लेकर भी जवाब मांगेगे। 

No comments:

Post a Comment