Tuesday, July 31, 2018



कर्ण चौटाला ने बीमार लोगों को इलाज के लिए चैक वितरित किये 


सिरसा, 31 जुलाई: जिला परिषद के उपाध्यक्ष कर्ण सिंह चौटाला ने मंगलवार को ऐलनाबाद हलके के विभिन्न गांवों का दौरा कर ऐलनाबाद के विधायक चौधरी अभय सिंह चौटाला के विधायक कोटे से बीमारियों से ग्रस्त लोगों के उपचार के लिए 1 लाख 11 हजार रुपए की राशि के चैक वितरित किए। इनेलो नेता ने जिन गांवों के बीमार लोगों को चैक वितरित किए उनमें माखोसरानी की गुड्डी देवी को 8 हजार, रायपुरिया के बलबीर सिंह को 8 हजार, ढूकड़ा के बलबीर को 8 हजार, हंजीरा के मोहनलाल को 10 हजार, गुडियाखेड़ा के जयसिंह और मनीराम को क्रमश: 8-8 हजार, नाथूसरी कलां के महेंद्र सिंह को 10 हजार, बकरियांवाली के देवीलाल को 10 हजार, उमेदपुरा के नाहरसिंह को 10 हजार, मिठीसुरेरां के साहबराम को 10 हजार, ढाणी बच्चन सिंह तलवाडा निवासी संदीप सिंह को 10 हजार व अरनियांवाली की निर्मला रानी को 11 हजार रुपए के चैक वितरित किए गए। इस अवसर पर उनके साथ जिला परिषद की चेयरपर्सन के प्रतिनिधि महेंद्र बाना, जिला पार्षद जरनैल चंदी, रमन मेहता सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी मौजूद थे।
टेबल टेनिस मेडल विजेताओं को लेकर दुष्यंत मिले मोदी से


नई दिल्ली, 31 जुलाई। राष्ट्रमंडल खेलों में मेडल विजेता टेबल टेनिस खिलाड़ियों को लेकर भारतीय टेबल टेनिस संघ के अध्यक्ष व सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नई दिल्ली में मुलाकात की। संसद भवन स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में दुष्यंत चौटाला और खिलाडिय़ों की 15 मिनट तक चली इस मुलाकात में टेबल टेनिस की आधारभूत सुविधाओं और प्रशिक्षण को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। इस दौरान प्रधानमंत्री कार्यालय में केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान भी मौजूद थे। 
दुष्यंत चौटाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से टेबल टेनिस में मेडल जीतने वाले खिलाडिय़ों परिचय करवाया और खिलाडिय़ों के सामने आ रही समस्याओं से अवगत करवाया। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भारत में टेबल टेनिस का भविष्य उज्जवल है और खिलाड़ी देश के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अधिक मेडल जीतकर नाम रोशन करने में समक्ष में हैं। दुष्यंत ने कहा कि देश में खेलप्रतिभाओं की कमी नहीं परन्तु सुविधाएं और श्रेष्ठ प्रशिक्षण की कमी के चलते हम ओलम्पिक  जैसी प्रतिस्पर्धाओं में अन्य देशों के मुकाबले पिछड़े हुए हैं। केंद्रीय खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने भारतीय टेबल टेनिस संघ के खिलाडिय़ों के लिए दो और विदेशी कोच उपलब्ध करवाने करवाने का आश्वासन दिया। फिलहाल भारतीय टेबल टेनिस टीम के लिए एक विदेश कोच उपलब्ध है। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान ने भी खिलाडिय़ों को बेहतर प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया। प्रधानमंत्री से मिलने गए दल में टेनिस स्टार मनिका बतरा, मोउमा दास, मधुरिका पाटकर, पूजा सहसबुर्धे, सुतरिथा मुखर्जी, सनील शेट्टी, हरमीत देसाई, शरतकमल, अमलराज, जी सैथ्यन, डा. प्रेम वर्मा, सौम्यादीप राय, मसिमो कोस्टनटीनी, शरतकमल अचंता शामिल थे। 
इनेलो ने अनुसूचित जाति व व्यापार प्रकोष्ठ के जिला संयोजकों की नियुक्ति की 

चंडीगढ़, 31 जुलाई: इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला, डॉ. अजय सिंह चौटाला एवं प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित सभी पदाधिकारियों से विचारविमर्श के बाद इनेलो ने अनुसूचित जाति व व्यापार प्रकोष्ठ के जिला संयोजकों की नियुक्तियां की हैं।  
इनेलो सुप्रीमो ने अनुसूचित वर्ग का प्रदेश संयोजक बलदेव बाल्मीकि को नियुक्त किया है, इसी के साथ अनुसूचित वर्ग के जिला संयोजकों में अशोक बामनिया को सिरसा, सतबीर धानक को फतेहाबाद, सतनारायण मंगाली को हिसार, राममेहर दनोदा को जींद, रामदिया चावरिया को कैथल, सोमनाथ गांव वोह को अम्बाला, रामपाल को यमुनानगर, चन्द्रभान बाल्मीकि को कुरुक्षेत्र, राजेश बधान को करनाल, बलवान सिंह बाल्मीकि को पानीपत, हरिप्रकाश मंडल को सोनीपत, साधूराम को झज्जर, बलराज खासा को रोहतक, मनमोहन भुर्टाना को भिवानी, ईश्वर खटक को दादरी, रतिराम आर्य को महेंद्रगढ़, जगदीश ढहिनवाल को रेवाड़ी, संतलाल ज्योतरिवाल को गुरुग्राम, रामपाल को पलवल, धर्मेंद्र कुमार को फरीदाबाद व धर्मपाल पिनगवा को जिला मेवात का अनुसूचित जाति वर्ग का जिला संयोजक नियुक्त किया गया है।
इसी तरह व्यापार प्रकोष्ठ का प्रदेश संयोजक कुलभूषण गोयल को नियुक्त गया है और कृष्ण मेहता को सिरसा, अनील भाटिया टोहाना को फतेहाबाद, राजकुमार आर्य को हिसार, सतीश जैन को जींद, नरेंद्र शोरेवाला को कैथल, ओंकार सिंह को अम्बाला, अमित अग्रवाल को यमुनानगर, नीतिन गोयल को कुरुक्षेत्र, मदन चौधरी को करनाल, राजेंद्र गुप्ता को पानीपत, ओमप्रकाश गोयल को सोनीपत,  अशोक मोंगा को झज्जर, राजू भूटानी को रोहतक, प्रदीप गोयल को भिवानी, मनफूल सिंह को दादरी, केदार नाथ को महेंद्रगढ़, सुभाष गर्ग को रेवाड़ी, रमेश गर्ग को गुरुग्राम, सुरेश गुप्ता को पलवल, विष्णु सूद को फरीदाबाद व हरीश मलिक को जिला मेवात का व्यापार प्रकोष्ठ का जिला संयोजक बनाया गया है।
दिग्विजय चौटाला ने 3 दर्जन जरूरतमंद परिवारों को बांटे चैक


डबवाली: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने हलका के जरूरतमंदों को चैक बांटने के साथ अनाज मंडी में इनेलो कार्यालय के सामने खुले में नीम के पेड़ के नीचे बैठकर करीब 2 घंटे तक लोगों के बीच ही समस्याएं सुनी व मौके पर ही अधिकारियों से बात करके उनका समाधान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इनेलो सदैव जननायक की नीतियों पर चलते हुए लोगों के बीच जाकर समस्याएं जानकर उनका हल करवाने का प्रयासरत है व आगे भी जारी रहेंगे। जब प्रदेश के मुख्य सेवक चौधरी ओम प्रकाश चौटाला थे तो हर गांव व शहर के वार्डो में जाकर लोगों की समस्याओं का हल करते थे। जबकि कांग्रेस व भाजपा नेता आम जन से दूर लोगों के बीच ना आकर एसी कमरों में बैठकर नीतियों बनाते है व सरकार चलाते है। उन्होंने कहा कि इनैलो की सरकार बनने पर ही आम लोगों की सुनवाई होगी।
विधायक की सामाजिक व राजनीतिक इमेज की हो रही चर्चा
विधायक नैना सिंह चौटाला द्वारा हलका डबवाली में दी जा रही आर्थिक सहायता की कड़ी को आगे बढाते हुए इनसो नेता ने हलका के करीब 3 दर्जन जरूरतमंद परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करके हलका के लोगों के प्रति अपनी जिम्मेवारी की गंभीरता दर्शाई है। हलका डबवाली में जो स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं व बिमारियों से जूझ रहे आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की जरूरत को समझते हुए उन्होंने गांव गांव जाकर सहायता देकर उनका दर्द बांटा। भाजपा सरकार की गलत स्वास्थ्य नीतियों के कारण आम आदमी के लिए महंगाई के इस दौर में इलाज करवाना असंभव है। जब नैना सिंह चौटाला विधायक बनकर हलका में आए तो उन्होंने आमजन की इस तकलीफ को महसूस किया व बीमार लोगों की सहायता करने का निर्णय लिया।  इलाज ना करवा पा रहे परिवारों की आर्थिक रूप से सहायता करने के लिए वे सदैव तैयार रहते है। बच्चियों की शिक्षा, गरीबों के लिए मकान बनवाने, इलाज, लड़कियों की शादी सहित अन्य जरूरत को विधायक अपना सामाजिक कर्तव्य समझ कर सहायता करने में कोई कमी नहीं छोड़ते। इस सामाजिक छवि के कारण उनकी राजनीतिक पैठ दिन प्रतिदिन मजबूत होती जा रही है। पिछले 4 सालों से उनकी राजनीतिक सूझबूझ की चर्चा प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में खुब चल रही है।
इस मौके पर इनसो नेता ने गांव बनवाला में 2 लड़कियों की शादी के लिए आर्थिक मदद करते हुए दिग्विजय चौटाला ने 20 हजार की आर्थिक मदद की व गांव के करंट से घायल हुए युवक से मिलकर उनका हालचाल जानते हुए आर्थिक मदद का भरोसा दिया। गांव गोरीवाला में सरस्वती देवी पत्नी मिठू राम, इन्द्राज  पुत्र सहीराम, संतरो पत्नी सही राम, गांव गोदिकां की शकुंतला पत्नी पृथ्थी राज, माया देवी पत्नी अशोक कुमार, सरोज देवी पत्नी दुलीचंद, भीखी देवी पत्नी रामस्वरूप, गांव बिज्जूवाली के जसवंत सिंह पुत्र मनफूल, गांव बिज्जूवाली के दीपक पुत्र ओमप्रकाश, गांव अलीकां के संदीप कुमार पुत्र दर्शन सिंह, गांव चटठा के छोटा सिंह पुत्र काका सिंह, डबवाली शहर के गुरदीप सिंह पुत्र करनैल सिंह, मूर्ति देवी पत्नी छज्जू राम, सुशीला देवी पत्नी दिनेश कुमार, कमलेश रानी पत्नी कुंदन लाल, गांव चौटाला की सुमन पत्नी बलवीर सिंह, वीना पत्नी ओमप्रकाश, कमला पत्नी दाना राम, सुमित्रा देवी पत्नी दौलत राम, सरोज देवी पत्नी सोहन लाल, भीखम चंद पुत्र शेरा राम, माला राम पुत्र चिरंजी लाल, राजेश पुत्र लीलू राम, रानी कौर पत्नी मंगत लाल, राज रानी पत्नी बिन्द्र कुमार, हरिन्द्र पत्नी बुधराम आदि को चैक वितरित किए।
चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने पार्टी के विभिन्न पदों पर की नई नियुक्तियां 

चंडीगढ़: इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला, डॉ. अजय सिंह चौटाला एवं प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित सभी पदाधिकारियों से विचारविमर्श के बाद पार्टी संगठन को और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए पार्टी के विभिन्न पदों पर नई नियुक्तियां की हैं। जिला सिरसा के रानियां शहरी प्रधान के पद पर बिशम्बर छाबड़ा की जगह मक्खन सिंह ढिल्लों पूर्व पार्षद को नियुक्त किया गया है। इसी के साथ प्रदेश के प्रकोष्ठों के जिला संयोजकों की भी नियुक्तियां की गई हैं।
इनेलो सुप्रीमो ने पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का प्रदेश संयोजक श्री तेलू राम जोगी को नियुक्त किया है, इसी के साथ पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिला संयोजकों में सिरसा से मलिक साहब, फतेहाबाद से रमेश चंद्र कम्बोज, हिसार से सज्जन लावट सोनी, जींद से मास्टर बलवंत जोगी, कैथल से हरि कृष्ण सैनी, अम्बाला से मक्खन सिंह लबाणा, यमुनानगर से धनवंतरी सैन, कुरुक्षेत्र से मास्टर हरि सिंह, पानीपत से रणधीर सिंह जांगड़ा, सोनीपत से ओमप्रकाश पांचाल, झज्जर से महेंद्र सैन ढाकला, रोहतक से धर्मवीर पांचाल, भिवानी से रमेश नुनसर, दादरी से अशोक स्वामी, महेंद्रगढ़ से अमर सिंह जांगड़ा, रेवाड़ी से टेक चंद सैनी, गुरुग्राम से अशोक जांगड़ा, पलवल से रामशरण, फरीदाबाद से सतपाल चपराना व मेवात से अकबर शाह को जिला संयोजक की जिम्मेदारी दी है। 
इसी तरह महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश संयोजक श्रीमती शीला भ्यान को नियुक्त गया है। महिला प्रकोष्ठ की जिला संयोजकों में कृष्णा फोगाट को सिरसा, सरोज सांगा फतेहाबाद, छन्नो देवी हिसार, सुमित्रा देवी जींद, कमलेश बलबेहड़ा कैथल, सर्वजीत कौर अम्बाला, विजय बब्बर यमुनानगर, सुरजीत कौर कुरुक्षेत्र, प्रकाश कौर करनाल, मिनाक्षी वालिया पानीपत, प्रोमिला मलिक सोनीपत, बबीता पुनिया झज्जर, उमेश देवी रोहतक, इन्दु परमार भिवानी, लक्ष्मी बलौदा दादरी, सुदेश ढिल्लो महेंद्रगढ़, कमला शर्मा रेवाड़ी, सुनीता कटारिया गुरुग्राम, जगजीत कौर पन्नू फरीदाबाद तथा सरोज को मेवात की जिला संयोजक नियुक्त किया है।
इनेलो सुप्रीमो ने श्री धारा सिंह को कर्मचारी प्रकोष्ठ का प्रदेश संयोजक नियुक्त किया है। कर्मचारी प्रकोष्ठ के जिला संयोजकों में जिला सिरसा में भगत सिंह बेनीवाल, फतेहाबाद में गुरप्रीत सिंह नैन जेई, हिसार में सूबे सिंह सिवाच रिटायर्ड एक्सईएन, जींद में शमशेर ढांडा, कैथल में ओमप्रकाश ढांडा किठाना, अम्बाला में धर्मपाल सैनी, यमुनानगर में बलवंत सिंह, करनाल में मास्टर केहर सिंह, पानीपत में मास्टर बलबीर सिंह जागलान, सोनीपत में जिले सिंह, झज्जर में सत्यवीर शास्त्री, रोहतक में रामचंद्र राठी, भिवानी में रणसिंह श्योराण, दादरी में महेंद्र जाखड़, महेंद्रगढ़ में दाता राम जांगड़ा, रेवाड़ी में बीडी यादव, गुरुग्राम में रतिराम शर्मा, पलवल में गोपाल कुण्डू, फरीदाबाद में धर्मपाल सिंह दलाल व मेवात में चरण सिंह को जिला संयोजक की जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी नेतृत्व ने बताया कि बाकी सभी प्रकोष्ठों की नियुक्तियां भी आने वाले कुछ दिनों में कर दी जाएंगी।

Saturday, July 28, 2018

इनेलो ने प्रकोष्ठों के प्रदेश संयोजकों व शहरी प्रधानों की सूची जारी की
  
चंडीगढ़, 28 जुलाई: इनेलो राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व डॉ. अजय सिंह चौटाला सहित पार्टी विधायकों व अन्य नेताओं से सलाह-मश्विरा कर आज इनेलो प्रकोष्ठों के प्रदेश संयोजकों व शहरी प्रधानों की सूची भी जारी की है। 
इनेलो सुप्रीमो ने श्रीमती शीला भ्यान को महिला प्रकोष्ठ, ब्रिगेडियर दीपक खुराना को भूतपूर्व सैनिक, बलदेव बाल्मीकि को अनुसूचित जाति, तेलू राम जोगी को पिछड़ा वर्ग, कुलभूषण गोयल को व्यापार, जाहिद खान को अल्पसंख्यक, रविंद्र सांगवान को युवा, धारा सिंह को कर्मचारी, पूर्व विधायक निशान सिंह को किसान, विद्यानंद लाम्बा को श्रमिक, ब्रिगेडियर ओपी चौधरी को बुद्धिजीवी, जसवीर सिंह ढिल्लों को कानूनी व बहादुर सिंह नायक को टपरीवास प्रकोष्ठ का प्रदेश संयोजक नियुक्त किया है। इसी के साथ परमजीत ओबराय को गुरुग्राम व मानीक सिंगला को यमुनानगर का ग्रामीण हलका प्रधान नियुक्त किया है।
इनेलो सुप्रीमो ने जिला अम्बाला में सूरज जिंदल अम्बाला कैंट, पंकज भारद्वाज अम्बाला सिटी, नवीन अग्रवाल नारायणगढ़, सोनी कोचर बराड़ा और जिला यमुनानगर में शिव गुप्ता जगाधरी, ओमप्रकाश तलूजा पूर्व एमसी यमुनानगर, जिला कुरुक्षेत्र में विवेक मेहता पूर्व एमसी थानेसर, सुशील गर्ग अढ़तानिया लाडवा, डॉ. प्रवीन शर्मा शाहबाद व अशोक गुप्ता पिहोवा शहरी प्रधान की जिम्मेदारी दी है। जिला कैथल में कृष्ण बंसल कैथल, राजेश शर्मा पुण्डरी, राजेश चीका को चीका, सुनील कलायत को कलायत और जिला सोनीपत में सुरेंद्र छिकारा को सोनीपत शहर, राजेंद्र गोस्वामी गन्नौर, अरुण बडोक गोहाना, धर्मपाल गर्ग खरखौदा, जिला रेवाड़ी में वरुण गांधी पंजाबी रेवाड़ी शहर और जिला झज्जर में उमेद सिंह जांगड़ा को बेरी का शहरी प्रधान नियुक्त किया गया है। इनेलो शहरी प्रधानों की इसी सूची में जिला महेंद्रगढ़ में नारनौल शहर की जिम्मेदारी सतनारायण गुप्ता, महेंद्रगढ़ में रतन लाल सोनी, कनीना में लाजपत सेठ, अटेली में राकेश अग्रवाल, नांगल चौधरी में महेंद्र सैनी सम्भालेंगे और जिला गुरुग्राम के सोहना शहर में चंद्रप्रकाश उर्फ पपू पठान, हेलीमंडी में मुकेश शर्मा, पटौदी में प्रीतम अग्रवाल, फारुखनगर में रामपत सैनी व तावडू में राकेश गर्ग अपने-अपने शहरी प्रधानों की जिम्मेदारियां सम्भालेंगे। 
इनेलो सुप्रीमो ने जिला पलवल में राजेश नागल को होडल शहर, अशोक शर्मा पूर्व पार्षद पलवल, मुकेश गोयल हसनपुर और जिला भिवानी में जितेंद्र शर्मा को भिवानी शहर, विनोद गर्ग सिवानी, कमल किशोर लोहारू, पंकज मेहता बवानीखेड़ा व मुकेश मेहता को तोशाम का इनेलो शहरी प्रधान बनाया है। इसी तरह जिला दादरी में राजेंद्र सैन को दादरी शहर, जिला पानीपत में नरेश जैन चार्टड अकाउंट को पानीपत शहरी व लेखराज खट्टर को समालखा शहर का पद सौंपा गया है। इसी के साथ जिला करनाल के घरौंडा शहर की संदीप गुप्ता (टोनी), तरावड़ी की अनुराग मिश्रा, नीलोखेड़ी की श्रवण सिंह, इंद्री की इंद्रजीत गोल्डी, असंध की प्रदीप गुप्ता व निसिंग शहर की जिम्मेदारी रोशनलाल गोयल सम्भालेंगे। जिला जींद में जींद शहर की हरीश अरोड़ा, नरवाना की देशराज माटा, जुलाना की विश्वनाथ शर्मा, सफीदों की सुनील जैन उर्फ बिटा व उचाना शहर की जिम्मेदारी रामनिवास बुडायन को दी गई है।
इनेलो शहरी प्रधानों की इसी सूची में जिला रोहतक में राजेश सैनी को रोहतक शहर, मोनू मल्होत्रा महम, डॉ. ओमप्रकाश कलानौर, राजेश बंसल सांपला और जिला हिसार में राजीव शर्मा को हांसी शहर, पे्रम वर्मा और मा. प्रहलाद एमसी (संयुक्त) बरवाला, शमशेर सैनी प्रधान नगर पालिका को नारनौंद, शेर सिंह बतरा उकलाना, राजेंद्र चुटानी नलवा  और अशोक यादव आदमपुर शहर में अपने-अपने शहरी प्रधानों की जिम्मेदारियां सम्भालेंगे। 
इनेलो सुप्रीमो ने जिला सिरसा मेेंं सिरसा शहर के शहरी प्रधान पद पर कृष्ण गुम्बर, कालांवाली में प्रवीण कुमार, डबवाली में हरबंस लाल भीटीवाला, ऐलनाबाद में विनोद गोदारा, रानियां में बिशंभर छाबड़ा और जिला फतेहाबाद के फतेहाबाद शहर में पवन चुघ, रतिया में हरबंस लाल खन्ना, टोहाना में रमेश गोयल, भट्टू में पवन बंसल, भूना में मा. चमन लाल और जाखल में सुरेश गर्ग को शहरी प्रधानों के पद पर नियुक्त किया है।

Friday, July 27, 2018

इनेलो ने विभिन्न स्तर पर पदाधिकारियों में किया फेरबदल 

चंडीगढ़, 27 जुलाई: इनेलो राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला व डॉ. अजय सिंह चौटाला सहित पार्टी विधायकों, नेताओं व प्रमुख पदाधिकारियों से व्यापक विचारविमर्श के बाद पार्टी संगठन को और ज्यादा मजबूत व प्रभावी बनाने के लिए विभिन्न स्तर पर पदाधिकारियों में फेरबदल किया है। इनेलो सुप्रीमो ने अशोक अरोड़ा को पुन: इनेलो पार्टी प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया है। इनेलो सुप्रीमो द्वारा जारी की गई सूची के अनुसार पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी को जिला पंचकुला, शीशपाल जंधेड़ी को अम्बाला, कुलदीप सिंह लुबाणा को कुरुक्षेत्र, कंवल पाल शर्मा को कैथल, कृष्ण राठी को जींद, पदम जैन को सिरसा, बलविंदर सिंह कैरों को फतेहाबाद, सुनील लाम्बा को भिवानी, राजेंद्र सिंह लितानी को हिसार, सतबीर यादव को महेंद्रगढ़, किशोर यादव को गुरुग्राम, देवेंद्र चौहान को फरीदाबाद, सतीश नांदल को रोहतक, राकेश जाखड़ को झज्जर, पदम दहिया को सोनीपत, सुरेश काला को पानीपत, यशवीर राणा को करनाल, दलमीरा सैनी को यमुनानगर, पूर्व चेयरमैन बद्रुद्दीन को मेवात, अजीत सिंह बॉबी को पलवल, डॉ. राजपाल यादव को रेवाड़ी व नरेश द्वारका को जिला दादरी का जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
इनेलो सुप्रीमो ने रविंद्र सांगवान को इनेलो युवा प्रकोष्ठ का प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया है। प्रदेश युवा प्रकोष्ठ के जिला संयोजकों में अम्बाला का अमरेंद्र सिंह सौंटा, यमुनानगर का विक्रम हड़तान, कुरुक्षेत्र का सुनील राणा, करनाल का भीम सिंह मढहान, पानीपत का नवीन नैन, कैथल का अनिल गुज्र्जर क्योडक़, सोनीपत का कुणाल गहलावत, जींद का अनुराग खटकड़, दादरी का नितिन झांगू, भिवानी का मनोज यादव, हिसार का अमित बुरा, फतेहाबाद का अजय संधू, सिरसा का अजायब ओला, महेंद्रगढ़ का रविंद्र गागडवास, रेवाड़ी का विजय भूरथला, गुरुग्राम का सतीश राघव, मेवात का हितेश देशवाल, पलवल का विनोद भारद्वाज, फरीदाबाद का अरविंद भारद्वाज व झज्जर का उपेंंद्र कादियान को युवा जिला प्रधान नियुक्त किया गया है। 
इसके इलावा प्रदेश में ग्रामीण हलका प्रधानों में रामकुमार को अम्बाला सिटी, श्रवण सिंह को अम्बाला कैंट, अवतार सिंह शेरगिल को मुलाना, भूप सिंह गुज्जर को नारायणगढ़ का प्रधान बनाया गया है। राजकुमार कम्बोज को हलका रादौर का, चंद्रपाल माडो को जगाधरी व चरण सिंह चेयरमैन को हलका सढ़ौरा का हलका प्रधान नियुक्त किया है। जिला कुुरुक्षेत्र में हलका थानेसर का रणबीर सिंह बूरा, हलका लाडवा का सुरेश सैनी, हलका पिहोवा का करण सिंह व शाहबाद का अमनदीप सिंह कम्बोज को हलका प्रधान बनाया गया है।
जिला कैथल के हलका कैथल से संजीव छोत, गुहला से भूपेंद्र सिंह भागल, कलायत से मास्टर बलवीर सिंह मटौर, पुण्डरी से ओमप्रकाश कैरा पूर्व सरपंच को हलका प्रधान नियुक्त किया गया है। इसी तरह जिला सोनीपत के हलका गन्नौर के लिए सुरेश त्यागी, खरखौदा के लिए अशोक राणा, राई के लिए रामकिशन सरपंच, बरोदा के लिए डॉ. कपूर नरवाल, सोनीपत के लिए सुरेंद्र पंवार व हलका गोहाना के लिए बलजीत नैन को हलका प्रधान की जिम्मेदारी सौंपी है।
इनेलो सुप्रीमो ने बताया कि हलका बावल में चौधरी रामकिशन छिल्लर सरपंच, रेवाड़ी में राजबीर कालूवास व कोसली में किरनपाल यादव को हलका प्रधान बनाया गया है। जिला झज्जर के हलका बहादुरगढ़ के लिए राजबीर राठी परनाला, बादली के लिए मामन ठेकेदार, झज्जर के लिए महावीर शर्मा व बेरी के लिए बलराज राठी को हलका प्रधान की जिम्मेदारी दी है। महेंद्रगढ़ जिला में नरेश शेखावत को महेंद्रगढ़ का, सुरेंद्र यादव पटिकरा को नारनौल का, डीएन यादव को नांगल चौधरी व कर्मवीर यादव को हलका अटेली का हलका प्रधान नियुक्त किया गया है। जिला गुरुग्राम में हलका पटौदी का राकेश जिला पार्षद, बादशाहपुर का ऋषिराज राणा व सोहना का बेगराज को हलका प्रधान  बनाया गया है। पलवल जिला में हलका होडल के लिए सुरेंद्र, पलवल के लिए महेंद्र भडाना, हथीन के लिए प्रवीन डागर को हलका प्रधान की जिम्मेदारी दी गई है।
इनेलो सुप्रीमो ने बताया कि महेंद्र सिंह को हलका लोहारू, कुलवंत कोटीया को भिवानी, रविंद्र पटौदी को तोशाम व जगदीश धनाना को हलका बवानीखेड़ा का हलका प्रधान नियुक्त किया है। जिला दादरी के हलका बाढड़ा की जिम्मेदारी महेंद्र सिंह शास्त्री व दादरी हलका की जिम्मेदारी कृष्ण सांगवान को सौंपी गई है। जिला पानीपत के हलका समालखा में ऋषिपाल रावल, पानीपत ग्रामीण में कुलदीप राठी, इसराना में लखपत रोड हलका प्रधानों की जिम्मेदारी सम्भालेंगे।
जिला करनाल में रघबीर सिंह पूर्व सरपंच को हलका घरोंडा, स. गुरदेव सिंह रम्बा को इंद्री, ओमप्रकाश सलूजा को करनाल, धर्मवीर पाडा को असंध व इंद्रजीत सिंह गुराया को नीलोखड़ी के लिए हलका प्रधान नियुक्त किया है। इसी प्रकार जींद जिला में उचाना कलां में हलके की जिम्मेदारी सुबे सिंह लोहान रिटायर्ड डीएसपी, जींद हलका में भूपेंंद्र जुलानी, जुलाना में प्रताप सिंह लाठर, नरवाना में सुदेश चोपड़ा व सफीदों में सुभाष देशवाल सम्भालेंगे। इसी तरह जिला रोहतक में संजय बल्हारा को हलका महम, डॉ. संदीप हुड्डा को गढ़ी सांपला किलोई, राजेश सैनी को रोहतक व नफे सिंह लाहली को कलानौर का हलका प्रधान बनाया गया है।


इसके अलावा जिला हिसार में हलका हिसार में तरुण जैन, नलवा में सतपाल सरपंच, नारनौंद में सतवीर सिसाय, आदमपुर में सुभाष गहली, हांसी में करण सिंह देपल, उकलाना में कैप्टन छाजूराम व बरवाला में सत्यवान को हलका प्रधान बनाया गया है। जिला सिरसा में गुरविंद्र सिंह सरपंच को सिरसा, अभय सिंह खोड को ऐलनाबाद, सुभाष नैन को रानियां, स. सर्वजीत सिंह को डबवाली और विनोद कुमार दड़वी व भरपूर सिंह को संयुक्त रूप से कालांवाली का हलका प्रधान नियुक्त किया है। जिला फतेहाबाद के हलका टोहाना में हरि सिंह मेहरिया, रतिया में बिकर सिंह हडौली व फतेहाबाद में भरत सिंह परिहार को हलका प्रधान की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
ट्रकों की हड़ताल से उद्योग संस्थानों को हो रही भारी हानि- अशोक अरोड़ा 


चंडीगढ़, 27 जुलाई: इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने खेद व्यक्त किया है कि ट्रकों की हड़ताल को लेकर सरकार द्वारा अभी तक कोई कदम नहीं उठाया जिस कारण उद्योगों से लेकर आम आदमी का जीवन भी प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि उद्योग के संस्थानों के अपने आकलन के अनुसार इस हड़ताल के कारण प्रतिदिन 20 से 25 हजार रुपए की हानि हो रही है। बड़े उद्योगों के अतिरिक्त और छोटों उद्योगों पर भी इसका विशेष प्रभाव पड़ा है जिस कारण कारखानों के गोदाम माल से भरे पड़े हैं परंतु आवाजाही न होने के कारण अब अतिरिक्त उत्पादन करते रहना उनके लिए कठिन हो रहा है। उन्होंने कहा कि इसका विशेष प्रभाव लघु और छोटे उद्योगों पर है जिनके पास और अधिक उत्पादन करते रहने की पूंजी भी समाप्त हो रही है। इसके फलस्वरूप इन कारखानों में काम करने वाले मजदूरों के रोजगार पर भी पड़ेगा।
अशोक अरोड़ा ने कहा कि इससे भी अधिक खेद की बात ये है कि आम आदमी का जीवन इससे प्रभावित हो रहा है। जहां समय पर सामान बाजार में न पहुंचने के कारण उनकी कीमतों में तेजी आई है वहीं सब्जी उत्पादन करने वाले किसानों का जीवन अस्त-व्यस्त हुआ है। उन्होंने याद दिलाया कि अधिकांश सब्जी उत्पादक छोटे-छोटे किसान हैं जो अपनी आय के लिए प्रतिदिन मंडियों में जाकर अपनी सब्जी बेचते हैं। किन्तु इस हड़ताल के कारण वह मंडियों में अपना माल नहीं ले जा पा रहे जिस कारण सब्जियां खेतों में ही खराब हो रही हैं। इसका प्रभाव आम आदमी पर भी पड़ रहा है क्योंकि सब्जियों के दाम आसमान को छू रहे हैं।
इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष ने याद दिलाया कि जिन मांगों को लेकर ट्रकों की हड़ताल चल रही है वह लम्बे समय से लम्बित है। उनमें से राष्ट्रीय एवं राजमार्गों पर जगह-जगह पर बने टोल एक बड़ी समस्या हैं। टोल संबंधित नीति में व्यावहारिकता को देखते हुए बदलाव की आवश्यकता है इसे ट्रकों मालिकों के अतिरिक्त जीवन का हर क्षेत्र मानता है। उन्होंने सरकार से अपील की कि वह अपना अहम् त्यागकर ट्रक मालिकों से जल्दी से जल्दी बातचीत कर समस्या का समाधान करें क्योंकि किसी भी प्रजातांत्रिक समाज में हर समस्या का समाधान बातचीत ही होता है। ऐसा कर सरकार ट्रक मालिकों से लेकर आम जनजीवन तक को भी फिर से सामान्य करेगा।
सीएम के लिए एसवाईएल न हो मुद्दा, मगर हरियाणा के लिए यह जीवनरेखा- बलवान दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि प्रदेश के हालात से बेखबर भाजपा सरकार और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के लिए बेशक एसवाईएल नहर निर्माण कोई मुद्दा न हो, लेकिन आमजन व किसान वर्ग के लिए एसवाईएल प्रदेश की जीवनरेखा है। सीएम का सार्वजनिक मंच पर एसवाईएल को कोई मुद्दा न मानना एक तरह से प्रदेश में गंभीर होते जल संकट के प्रति उनकी गैर-जिम्मेदाराना सोच को प्रमाणित करता है। वे अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान भट्टू कार्यालय व क्षेत्र के गांवों में ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने स्पष्ट किया कि एसवाईएल को प्रदेश की जीवनरेखा मानते हुए नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के नेतृत्व में इनेलो आखरी सांस तक एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिलाने के लिए संघर्ष करेगी। इसके लिए 17 अगस्त से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में इनेलो एसवाईएल मुद्दे पर काम रोको प्रस्ताव लाएगी और यदि सरकार ने एसवाईएल मामले में गंभीरता नहीं दिखाई तो 18 अगस्त को इनेलो हरियाणा बंद के जरीये एसवाईएल मामले में अपना आंदोलन तेज कर देगी। 
इनेलो विधायक दौलतपुरिया ने कहा कि आए दिन भाजपा सरकार के मंत्री, विधायक यहां तक की स्वयं मुख्यमंत्री प्रदेश के गंभीर हालातों को दरकिनार कर अनाप-शनाप ब्यानबाजी कर रहे हैं। एसवाईएल, बेरोजगारी व शिक्षा-स्वास्थ्य सुधार पर भाजपा नेताओं की इस तरह की ब्यानबाजी दर्शाती है भाजपा सरकार का जनता और जनमुद्दों से कोई सरोकार नहीं है। जनता भी अब समझ चुकी है कि अच्छे दिनों की चाह में भाजपा को सत्ता में लाकर उन्होंने जीवन की सबसे बड़ी भूल कर दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लिए इससे बड़े दुर्भाग्य की बात नहीं हो सकती कि राज्य का मुखिया ही जनता के बीच जाकर जनहित मुद्दों को आधारहिन करार देने लगे। एसवाईएल को प्रदेश के लिए कोई मुद्दा न मानने वाले सीएम खट्टर इससे पूर्व फतेहाबाद में भी क्षेत्र के एकमात्र लघु उद्योग रहे भूना शुगर मिल को कोई मुद्दा न मान इसे शुरू करने की कोई जरूरत न होने जैसा गैर-जिम्मेदाराना बयान दे चुके है। 
दौलतपुरिया ने मुख्यमंत्री पर सवाल दागते हुए कहा कि 60 प्रतिशत से अधिक क्षेत्र डार्क जोन में आ जाने वाले प्रदेश की प्यासी धरती की प्यास बुझाने के लिए यदि एसवाईएल कोई मुद्दा नहीं है तो फेर वे किस आधार पर प्रदेश के किसानों के हितैषी होने का झूठा दंभ भरते है। शिक्षा, रोजगार और स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में लगातार पिछड़ते जिला मुख्यालय फतेहाबाद में सीएम के लिए यदि भूना शुगर मिल, कोई इंजीनियरिंग कॉलेज, सरकारी पीजी कॉलेज और तमाम सुविधाओं से लैस 200 बिस्तर अस्पताल कोई विशेष मुद्दा नहीं है तो फिर वे क्यों यहां की जनता के बीच आकर हर घर को रोजगार, हर युवा को शिक्षा और किसान व व्यापारी के उत्थान की खोखली घोषणाएं करते हैं। दौलतपुरिया ने भाजपा पर तीखे हमले जारी रखते हुए कहा कि सरकार के अधिकतर मंत्री-विधायकों और यहां तक की स्वंय मुख्यमंत्री का किसान और खेती से कभी कोई लेना-देना नहीं रहा। जिसकी वजह से उनका जमीनी स्तर पर किसान, खेती और ग्रामीणजन की दुख-तकलीफों व मूलभूत समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है। यदि सीएम मनोहर लाल में किसान, खेती और आमजन के प्रति जरा भी हमदर्दी होती तो वे एसवाईएल पर इस तरह का गैर-जिम्मेदाराना ब्यान देने की बजाय इनेलो शीर्ष नेता अभय चौटाला के जेल भरो आंदोलन का समर्थन करते। उन्होंने ग्रामीणों का आश्वस्त किया कि कोई अन्य दल उनके हितों को गंभीर मानते हुए संघर्ष का रास्ता अपनाए या न अपनाए, जननायक स्व देवीलाल के आदर्शों की पार्टी इनेलो, सहयोगी दल बसपा संग उनकी हर समस्या को सरकार के सामने समाधान हेतु रखने में किसी तरह की कोताही नहीं बरतेगी। इस दौरान उनके साथ जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, सतपाल सिद्धु, छोटू सांई, दरेश खान आदि उपस्थित थे।
युवाओं और छात्रों में नई उर्जा भरेगा इनसो सम्मेलन- रमन ढाका

इनसो स्थापना दिवस सम्मेलन तैयारियां हुई तेज, युवा टीम ने बैठक कर बनाई बड़ी भागीदारी की रणनीति


फतेहाबाद: आगामी 5 अगस्त को कैथल में आयोजित होने वाले इनसो स्थापना दिवस कार्यक्रम की तैयरियों को लेकर युवा इनेलो व इनसो की जिला इकाईयों ने भूना रोड स्थित विश्राम गृह में एक बैठक की। बैठक में इनसो जिला प्रभारी रमन ढाका बतौर मुख्य वक्ता उपस्थित रहे, जबकि अध्यक्षता युवा जिलाध्यक्ष अजय संधू व इनसो जिला प्रधान जतिन खिलेरी ने संयुक्त रूप से की। बैठक का संचालन करते हुए युवा इनेलो शहरी प्रधान विकास मेहता ने जिला प्रभारी के समक्ष युवा टीम की गतिविधियों बारे रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस दौरान युवा इनेलो पदाधिकारियों ने इनसो स्थापना दिवस कार्यक्रम में जिला फतेहाबाद की बड़ी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए गहन मंथन करते हुए ठोस रणनीति बनाई और टीमें बनाकर शहर व गांवों में जनसंपर्क चलाने का निर्णय लिया।
इनसो जिला प्रभारी रमन ढाका ने अपने संबोधन में कहा कि 5 अगस्त को कैथल में युवा छात्र अधिकार सम्मेलन को लेकर प्रदेश के हर जिले के युवाओं में काफी उत्साह है। उन्होंने बताया कि सम्मेलन में इनेलो व बसपा के राष्ट्रीय व प्रदेश स्तर के बड़े नेता युवाओं को संबोधित करने पहुंचेंगे। उन्होंने दावा किया कि हर जिले से 8 से 10 हजार युवा इस छात्र अधिकार रैली में शिरकत करेंगे। इस सम्मेलन को छात्र राजनीति में उत्तर भारत की सबसे बड़ी रैली करार देते हुए रमन ढाका ने कहा कि प्रदेश में एक बड़े राजनीतिक बदलाव के लिए इनसो स्थापना दिवस सम्मेलन मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस स्थापना दिवस सम्मेलन में कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्डमेडलिस्ट भी शिरकत करेंगे, जिन्हें सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा दसवीं और बारहवीं में प्रदेश भर के टॉपर विद्यार्थियों को भी लैपटॉप देकर सम्मानित किया जाएगा और इनकी शिक्षा का सभी खर्च इनसो द्वारा वहन किया जाएगा। इस दौरान युवा जिलाध्यक्ष अजय संधु व इनसो जिला प्रधान जतिन खिलेरी ने कहा कि बीजेपी सरकार हर मुद्दे पर फेल साबित हुई है और युवाओं को दिशाहीन करने का काम कर रही है। जननायक स्व देवीलाल के सपनों को साकार करने का संकल्प लेकर प्रदेश में अब बदलाव की आवाज उठ चुकी है। प्रदेश के इस सामाजिक और राजनीतिक बदलाव की सबसे अहम कड़ी वही उर्जावान युवा है, जिन्हें यदि किसी संगठन ने सही मार्ग दिखाते हुए संगठित करने का काम किया तो वह केवल इनेलो व इनसो ही है। उन्होंने युवा प्रभारी को आश्वस्त किया कि जिला फतेहाबाद से इनसो स्थापना दिवस सम्मेलन में अग्रणी भागीदारी होगी। इस अवसर पर युवा नेता सतपाल सिद्धू, हलका प्रधान मनोज धारसूल टोहाना, रवि लांबा, अनुराग भांभू, दिलबाग सिवाच, दीपा धारसूल, विक्रम कुमार, रजत खांडा, सुरेन्द्र जोगी, टिंकू दलाल सहित युवा इनेलो व इनसो के कई अन्य पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित थे।
भाजपा की दुकान को बंद नही ताला लगाने का मन बना चुकी है प्रदेश की जनता- पदम जैन


सिरसा: पंजाब और राजस्थान की सीमा के साथ सटे जिला सिरसा में पिछले एक दशक से भी ज्यादा समय से यहां के युवाओं को नशे ने अपनी गिरफ्त में लिया हुआ है।वैसे तो सिरसा के अलावा फतेहाबाद, हिसार और हरियाणा के और भी कई जिले के युवा नशे में अपनी जिंदगी को बर्बाद किए हुए है लेकिन उसके बावजूद भी नशे पर रोक लगाने के लिए सरकार ने कोई ठोस कदम अब तक नही उठाएं है और नशे का इतना बड़ा कारोबार बिना सरकारी संरक्षण के हो पाना संभव ही नही है। ये बात इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने प्रेस के नाम जारी एक बयान में कही।पदम जैन ने कहा कि सरकार के मंत्री कृष्ण बेदी नशा व्यापारियों के सरकारी संरक्षण पर दिए गए नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के बयान पर कह रहे है कि वे कोर्ट जाएगें लेकिन शायद उन्हें इस बात का अंदाजा नही है कि अभय चौटाला ने ये बात पहली बार नही कही है,वे पिछले कई वर्षो से सिरसा जिला में नशे के व्यापारियों को सरकारी संरक्षण मिलने की बात कह रहे है। पदम जैन ने कहा कि मंत्री कृष्ण बेदी तो कोर्ट नही जा सकते लेकिन इनेलो जल्द उनके खिलाफ जुटाए भ्रष्टाचार के सांक्ष्यों को लेकर कोर्ट का दरवाजा जरूर खटखटाएगी और उनका असली चेहरा सरकार और जनता के सामने जरूर लाएगी।उन्होने कहा कि ये अभय चौटाला के आवाज उठाने का ही कारण है कि पुलिस नशा व्यापारियों के खिलाफ सक्रिय हुई है और पिछले केवल तीन महीनों में 134 मामले दर्ज कर 225 लोगों को गिरफतार करके करोड़ों रूपयों का नशा पकड़ा है।उन्होने कहा कि नशे की गिरफत में आकर सिरसा जिले के सैंकड़ो घर बर्बाद हो चुके है और इनेलो को छोड़कर किसी भी पार्टी ने  नशा व्यापारियों के खिलाफ आवाज नही उठाई।उन्होने सरकार और मंत्री कृष्ण बेदी से सवाल करते हुए कहा कि नशे का इतना बड़ा व्यापार क्या कभी बिना सरकारी संरक्षण के हो सकता है क्या? उन्होने कहा कि जहां तक बात रही इनेलो की दुकान बंद होने के बयान की तो भाजपा अपनी दुकान की परवाह करें क्योकि भाजपा की दुकान को तो 2019 के चुनाव में लोग खुद ताला लगाने का मन बना चुके है और मैं ये दावा कर सकता हूं कि भाजपा को पूरे प्रदेश से विधानसभा के चुनाव में पांच सीट भी नही आएगी और जहां तक बात लोकसभा के चुनाव की है तो उसमें भाजपा का खाता भी नही खुलने वाला है।पदम जैन ने कहा कि आज पूरे प्रदेश में अभय चौटाला को लोग बेहद पंसद करते है और ये भी जान चुके है कि प्रदेश का भला अगर कोई कर सकता है तो वो केवल अभय सिंह चौटाला ही कर सकता है क्योकि जिस तरह से उन्होनें पिछले कुछ वर्षो में प्रदेश के हितों के आवाज को जबरदस्त ढग़ से उठाने का काम किया है,उसे कोई भी दूसरे दल का नेता उठाना तो दूर उस रास्ते पर चलने की भी हिम्मत नही कर सकता।उन्होने कहा कि आज पूरे प्रदेश में इनेलो की हवा चल रही है और आगामी होने वाले लोकसभा और विधानसभा के चुनावों में प्रदेश की जनता कांग्रेस और भाजपा का सफाया करके इनेलो को प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता सौंपने का काम करेगी।

Thursday, July 26, 2018

17 नर्सिंग छात्राओं के आत्म हत्या करने का हिसाब दे भाजपा सरकार- दिग्विजय चौटाला

भिवानी, 26 जुलाई: भाजपा सरकार ने देश व प्रदेश के अंदर आए दिन नए-नए नारे देकर आम जनता को सब्जबाग दिखाए थे, झूठी वाहवाही लूटने के लिए भाजपा ने कभी गाय बचाने के लिए तो कभी स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर तो कभी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं का नारा देकर विकास न करवाकर इन नारों में उलझाकर रखा जिसकी असलियत अब सामने आने शुरू हो गई है। प्रदेश के अंदर पिछले चार साल से नागरिक अस्पतालों में प्रशिक्षण ले रही नर्सिंग छात्राओं की परीक्षा ना होना भाजपा के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान पर तमाचा मारने के समान है। जिन साहससिक बेटियों ने प्रदेश की 60 हजार नर्सिंग छात्राओं की आवाज को उठाया है उन्हें इनसो को 5 अगस्त को छात्र युवा अधिकारी दिवस पर कैथल में सम्मान के साथ आमंत्रित करता है, ताकि प्रदेश की इन होनहार बेटियों को सम्मानित किया जा सके। 
यह आरोप इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने सरकार पर लगाते हुए कहे। उन्होंने भिवानी में आयोजित शिक्षामंत्री रामबिलास शर्मा के जन्मदिन पर साहसी बेटियों ने शिक्षामंत्री के सामने ही स्टेज पर सरकार की पोल खोलने वाली बेटियों के हौसले को सलाम करते हुए कहा कि साहसिक बेटियों ने अत्याचार व सोई हुई सरकार के खिलाफ जो अभियान छेड़ा है उसमें बेटियों की जितनी तारीफ की जाए उतनी की कम है। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि 17 नर्सिंग छात्राएं जो परीक्षा ना होने के कारण तनाव में थी और सरकार के उदासीन रवैये के कारण उन्हें आत्म हत्या करना पड़ा यह प्रदेश सरकार के नाकाममियों का बड़ा सबूत है। दिग्विजय ने नर्सिंग छात्राओं के पिछले चार साल से परीक्षा न होने के मुददे को सांसद दुष्यंत चौटाला के माध्यम से संसद में उठाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली सरकार ही बेटियों पर ज्यादती कर रही है प्रदेश की 60 हजार छात्राओं से लाखों रूपए की फीस ले चुकी है लेकिन फिर भी ये 60 हजार छात्राएं अपने भविष्य के लिए असमंजस में हैं। वहीं दिग्विजय ने शिक्षामंत्री के द्वारा शादी के नाम पर युवाओं को बरगलाने पर चुटकी लेते हुए कहा कि अब प्रदेश का शिक्षामंत्री अपनी औच्छी मानसिकता से युवाओं से भददा मजाक करने पर उतारू है। 
इनसो नेता ने कहा कि भाजपा पहले भी कार्यक्रमों के नाम पर पैसा उड़ाती रही है और जिस तरह से भरे मंच पर पिछले दिनों भाजपा के मंत्री नाच रहे हैं उससे यह बात साफ प्रतीत हो रही है यह केवल अपने मनोरंजन के लिए सरकारी पैसे का दुरुपयोग करते हैं। उन्होंने कहा कि नर्सिंग की छात्राएं हमारी बहन बेटियां हैं और सरकार को जल्द से जल्द इनकी परीक्षा करवाकर इन्हें डिग्री डिप्लोमा देना चाहिए। चौटाला ने कहा कि जब साहसिक बेटियों ने भरे मंच पर प्रदेश की 60 हजार छात्राओं की आवाज उठानी चाही तो उनसे माईक तक छीना गया तानाशाही को दर्शाने वाले इस दृष्य ने साफ तौर पर भाजपा की नाकामी साफ तौर पर देखी जा सकती है। यही नहीं प्रदेश के शिक्षामंत्री मूकदर्शक बनकर देखते रहे। कार्यक्रम में भाजपा विधायक शिक्षामंत्री को खुश करने के लिए घडवा बजाते रहे, लेकिन एक बार भी प्रदेश की 60 बेटियों के भविष्य के  बारे में कुछ नहीं किया। भारत देश के संविधान में यह बात साफ तौर पर लिखी है कि देश कोई भी नागरिक अपनी समस्या के लिए सार्वजनिक मंच हो या अन्य कोई स्थान। अपनी बात को चुने गए जनप्रतिनिधि के सामने रख सकता है, लेकिन प्रदेश के शिक्षामंत्री के सामने ही नर्सिंग की छात्राओं के साथ दुव्र्यवहार किया गया और उनके हाथ से माईक छीना गया। दिग्विजय ने कहा कि वो इस मुददे पर पूरी तरह से गम्भीर हैं। इनसो इस मुददे को लेकर बड़ा आंदोलन करेगी। यही नहीं जिन साहसिक बेटियों ने भरे मंच पर अपनी आवाज उठाई है उन्हें वो 5 अगस्त को इनसो के स्थापना दिवस पर आमंत्रित करते हैं ताकि साहसिक बेटियों को सम्मानित किया जा सके।
दुष्यंत के प्रयासों को लगे पंख, हिसार-चंडीगढ़ के बीच रेल सेवा शुरू होने की बंधी उम्मीद

एकता एक्सप्रेस को हिसार से चलाने का प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा
साउथ बाइपास के सातरोड़ और घोड़ा फार्म फाटक पर आरओबी बनाने का प्रस्ताव भी भेजा
हरिद्वार के लिए अब हिसार से सप्ताह में तीन बार चलेगी रेलगाड़ी

हिसार 26 जुलाई: हिसार को चंडीगढ़ से रेलमार्ग से जोडऩे के सांसद दुष्यंत चौटाला के प्रयासों को गति मिली है और रेलवे मंडल बीकानेर से हिसार-चंडीगढ़ के बीच रेलसेवा शुरू करने के प्रस्ताव को मंजूर कर इसे मुख्यालय भेज दिया है। मुख्यालय से मंजूरी पर मिलने प्रदेश की राजधानी के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर एकता-एक्सप्रेस को हिसार से चलाया जाएगा, इससे पहले यह रेलगाड़ी चंडीगढ़ होती हुई भिवानी-कालका के बीच चलती है। इसके अलावा हरिद्वार जाने वाली रेलगाड़ी अब हिसार सप्ताह में दो की बजाय सप्ताह में तीन बार चलेगी तथा इसे नियमित करने का प्रस्ताव भी मुख्याल भेजा है। साउथ बाइपास पर सतारोड़ व घोड़ा फार्म फाटक पर आरओबी बनाने तथा कैमरी रोड़ पर प्रदेश सरकार व रेलवे के संयुक्त प्रोजेक्ट के रूप में आरओबी बनाने का भी प्रस्ताव रेलवे मुख्यालय को भेज दिया है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने उपरोक्त मांगों के लिए एक एजेंडा रेलवे बीकानेर मंडल को भेजा गया था। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बीकानेर मंडल रेलवे के उच्च अधिकारियों की बुधवार को आयोजित डीआरयूसीसी की बैठक में उनके एजेंडे को रखा गया जिनके प्रस्ताव मुख्यालय को भेज गए हैं। यहां बता दें कि सांसद दुष्यंत चौटाला ने हिसार को चंडीगढ़ को जाखल, नरवाला-कुरूक्षेत्र चंडीगढ़ तथा हिसार-जाखल-धूरी, राजपुरा-पटियाला ट्रैक से की मांग की हुई है। भिवानी का साउथ बाईपास अगस्त माह में शुरू होगा-दुष्यंत चौटाला हिसार-दिल्ली-हिसार के बीच रेल यात्रा को सुगम बनाने के लिए भिवानी में निर्माणाधीन रेलवे बाइपास का काम जल्द ही पूरा होने जा रहा है। इस बाईपास पर अगस्त माह में रेलगाडिय़ां दौडऩी शुरू हो जाएंगी। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि रेलवे विभाग प्रथम चरण में मालगाड़ी को इस बाइपास पर चलाएगा। इसके बाद बाइपास पर रेलवे स्टेशन की तमाम मूलभूत सुविधांए होने के बाद इस ट्रैक पर सवारी गाडिय़ां भी शुरू हो जाएंगी। इसके लिए बीकानेर रेलवे मंडल कार्यालय ने बाइपास पर हाल्ट स्टेशन को पूर्ण दर्जे का रेलवे स्टेशन विकसित करने का प्रस्ताव भी मुख्यालय को भेज दिया है। इसके आलवा रेलवे के अधिकारियों ने कल की बैठक में किसान एक्सप्रेस का बवानी खेड़ा में ठहराव का प्रस्ताव भी मुख्यायल भेजा है। 
बाईपास से ये होगा फायदा-
हिसार-दिल्ली के बीच चलने वाली ट्रेन को भिवानी सिटी जंक् शन जाना पड़ता है और हिसार व रोहतक से आने वाली रेलगाडिय़ों को भिवानी रेलवे स्टेशन पर रेलगाड़ी के इंजन को बदलना पड़ता है ताकि वह गंतव्य स्थान तक रवाना हो सके। इस पूरी प्रक्रिया में 30 से 40 मिनट लग जाते हैं और रेलगाड़ी को रेलवे इंजन की अदला-बदली के लिए यहां रूकना पड़ता है और यात्रियों को अपनी मंजिल तक पहुंचने में ज्यादा समय लगता है। बाइपास बनने से यात्री भिवानी जंक्शन पर इंजन बदलने की जरूरत नहीं होगी ओर रेलगाड़ी अपने गंतव्य स्थान के लिए बाइपास से रवाना हो जाएगी। 
केंद्र सरकार हस्तक्षेप कर पंजाब के खनौरी हेड से हरियाणा को दिलवाए 325 क्यूसिक पानी- दुष्यंत चौटाला 


हिसार, 26 जुलाई: पंजाब से भाखड़ा मुख्य नहर (बीएमएल) के माध्यम से हरियाणा को कम मिल रहे का मुद्दा इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में उठाया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने सदन में कहा कि पंजाब सरकार के अवरोध के कारण हरियाणा को बरवाला ब्रांच में उसके हिस्से का 325 क्यूसिक पानी नहीं मिल रहा है। इसके कारण हरियाणा के चार जिले बूरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने केंद्र सरकार से इसमें हस्तक्षेप कर हरियाणा को उसके हिस्से का खनौरी हेड से 325 क्यूसिक पानी दिलवाने की मांग की। दुष्यंत ने लोकसभा में हिसार लोकसभा के आदमपुर, नलवा, नारनौंद, उचाना हलके के गांवों में पानी के किल्लत का मुद्दा भी उठाया। युवा सांसद ने देश में बढ़ते जल विवादों के निपटान और भविष्य में पानी की कमी को ध्यान में रखते हुए जल को राष्ट्रीय संपदा घोषित करने की भी मांग की। सांसद दुष्यंत ने यमुना नदी पर पेंडिंग डेम का काम पूरा करने भी मांग की ताकि हरियाणा में पानी की कमी को कुछ हद तक पूरा किया जा सके।
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में सूखे एवं बाढ़ की देश में स्थिति पर आयोजित चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि बीएमएल नहर के खनौरी हेड से हरियाणा को 1725 क्यूसिक पानी मिलना चाहिए। परन्तु नहर की रेजिंग न होने के कारण अभी हरियाणा को मात्र 1400 क्यूसिक पानी ही मिल रहा है। दुष्यंत ने कहा कि राजस्थान सरकार ने पंजाब सरकार को एक पत्र लिख कर 325 क्यूसिक पानी के लिए रेजिंग करने की राह में रोड़ा अटका दिया था। इस मामले को लेकर सांसद दुष्यंत चौटाला फरवरी माह में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी से मिले थे जिसके बाद यह विवाद भी सुलझ गया है तो पंजाब ने इसकी राह में रोड़े अटका दिए हैं, इसके कारण प्रदेश के हिसार सहित चार जिले कम पानी की कमी से बुरी तरह से प्रभावित हो रहे हैं। दुष्यंत ने कहा कि केंद्र सरकार पहल कर बीएमएल के माध्यम से हरियाणा को उसके हकर का 325 क्यूसिक पानी दिलवाए। 
 युवा सांसद दुष्यंत ने कहा कि खनौरी हेड से कम पानी के चलते हालात इस कदर खराब हैं कि आदमपुर-नलवा  विधानसभा के 40 गांवों, नारनौंद हलके के 12 गांवों, उचाना हलके के  7 गांवों में लोगों को पीने का पानी भी नहीं मिल रहा है और 1200 से 1500 रूपये देकर पीने के टैंकर खरीदने पड़ रहे हैं। जिले में 80 गांव ऐसे हैं जहां पर सेम की समस्या है। यहां बता दें कि इन गांवों के लोगों ने पीने के पानी के लिए लधु सचिवालय पर कई माह तक धरना दिया था। 
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के  केंद्र सरकार की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि हरियाणा, राजस्थान पंजाब में 2025 तक सिंचाई के लिए भूजल समाप्त हो जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा की जल की जरूरत 36 मीलियन एकड़ फीट की जरूरत है जबकि हरियाणा को 14 लाख मीलियन एकड़ फीट पानी मिलता है, इसमें से भी दिल्ली को अतिरिक्त पानी की आपूर्ति की जाती है। उन्होंने हरियाणा मेंपानी की कमी को दूर करने यमुना पर पेंडिंग पड़े रेनुका सहित तीन डेमों का निर्माण पूरा करने की केंद्र सरकार से मांग की। उन्होंने कहा कि इन डेमों के लिए केंद्र सरकार ने 1500 करोड़ रूपये आवंटित किए थे परन्तु आज तक इस पर एक रूपया भी खर्च नहीं हुआ। युवा सांसद ने एक बार फिर केंद्र सरकार से एसवाईएल नहर के निर्माण की मांग की। 
बूचड़खाने को स्थापित करने के लिए सरकार प्रदान कर रही है हर प्रकार की सहायता- अभय चौटाला 


चंडीगढ़ : नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने यह संकल्प दोहराया है कि वे किसी भी कीमत पर पंचकूला जिले में रायपुररानी के निकट जासपुर गांव में बूचड़खाने को स्थापित नहीं होने देंगे। उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि भाजपा के दो चेहरे हैं जिसमें एक तरफ तो वह हिन्दुत्व और उसके जीवन मूल्यों को बढ़ावा देने की बात की जाती है दूसरी तरफ वह अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए उन्हीं मूल्यों को कुचलने का काम करती है। इसका ताजा उदाहरण अभी हाल में जासपुर में नजर आता है जहां आसपास की सभी पंचायतों के विरोध के बावजूद सरकार एक बूचड़खाने को स्थापित करने के लिए अपने चहेतों को सभी हर प्रकार की सहायता प्रदान कर रही है। उन्होंने याद दिलाया कि इस सरकार के कार्यकाल के दौरान विधानसभा में अनेक ऐसे विधेयक पारित किए गए हैं जिनका उद्देश्य बीफ उद्योग पर अंकुश लगाना और जो उसमें संलिप्त पाए जाते हैं उन्हें कठोर दण्ड दिलवाना रहा है। किन्तु इस बूचड़खाने के स्थापित होने से यह संदेश जाता है कि राज्य सरकार मांस उद्योग को बढ़ावा देने पर तुली हुई है।
वर्तमान मुद्दे की विडंबना यह है कि इसकी मंजूरी के लिए इसका उद्देश्य पोल्ट्री फार्म एवं कोल्ड स्टोर था। इसी बहकावे में गांव के सरपंच से अनुमोदन का एक पत्र भी लिया गया था हालांकि नियमानुसार इसका अनुमोदन समस्त ग्राम सभा के सदस्यों द्वारा किया जाना चाहिए था। सरकार ने उस सरपंच के पत्र के आधार पर इस इकाई को स्थापित करने की मंजूरी भी दी परंतु जब प्रदूषण बोर्ड से मंजूरी ली गई तब पता चला कि यह एक बूचडख़ाना है। सच्चाई जानने पर न केवल जासपुर गांव बल्कि आसपास की अन्य पंचायतों ने भी इसका विरोध करते हुए बूचडख़ाने के पास धरना प्रारंभ किया। किन्तु प्रशासन द्वारा उन्हें न केवल डराया और धमकाया गया बल्कि बूचडख़ाने का प्रमोटर मुल्खराज चंडीगढ़ से अपने बाउंसरों को लेकर गया और उन्होंने भी ग्रामीणों को धमकाया। इस घटना के बाद पुलिस ने इन ग्रामीणों के विरुद्ध ही एक शिकायत दर्ज कर ली हालांकि जब ग्रामीणों ने भी अपनी शिकायत दर्ज करने का प्रयास किया तो उन्हें निराशा हाथ लगी। जाहिर है कि इस पूरे प्रकरण में बूचड़खाने को सरकार एवं स्थानीय प्रशासन का पूरा सहयोग प्राप्त है। 
अभय सिंह चौटाला ने याद दिलाया कि वर्तमान सरकार के शासनकाल में सरकारी संरक्षण में चल रहीं गौशालाओं में सैकड़ों की संख्या में गाय बीमारी और भूख से मौत का शिकार हुई हैं। जो फिर इस सरकार के दूसरे चेहरे को लोगों के समक्ष प्रस्तुत करता है जिससे यह सिद्ध होता है कि ‘ये नकली राम के दुलारे हैं’। वास्तव में यह सत्ता लोभ से पीड़ित लोग हैं जिनका एकमात्र मोह सत्ता है जिस कारण इनके सभी घोषित जीवनमूल्य समय के साथ बदल जाते हैं।
इस अवसर पर नेता विपक्ष ने कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चौधरी चरण सिंह और चौधरी देवीलाल के मुकाबले किसान हितैषी बताने के लिए आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य किसानों के लिए एक छलावा है क्योंकि हरियाणा सरकार किसानों को वह समर्थन मूल्य दिलवाने में भी नहीं सफल हुई जो उसने स्वयं सरकार से सिफारिश की थी। सच तो यह है कि सरकार न तो कृषि लागत एवं मूल्य आयोग की सिफारिशों को लागू करवा सकी है और न राज्य द्वारा लागत मूल्य की स्वयं की गई गणना के अनुसार उचित मूल्य दिलवा सकी है। इसलिए कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ द्वारा सड़कों पर ढोल पीटकर नाचना किसानों के साथ एक भद्दा मजाक है। 
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि आने वाले विधानसभा सत्र में वह राज्य में बढ़ते नशाखोरी, नशीले पदार्थों की बिक्री एवं महिलाओं पर बढ़ते अत्याचारों को एक बड़ा मुद्दा बनाएंगे। उन्होंने इस बात पर खेद व्यक्त किया कि कानून व्यवस्था की हालत इतनी खस्ता हो चुकी है कि अब इस प्रदेश में छह वर्ष की बच्ची से लेकर 60 वर्ष तक की महिला बलात्कार का शिकार होने लगी हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में वे सभी अपराध जो सुनियोजित ढंग से किए जा रहे हैं उन्हें सरकार का सीधा संरक्षण प्राप्त है।
पे्रसवार्ता के दौरान नेता विपक्ष ने यह भी बताया कि आज ही एक पूर्व एससीएस अधिकारी सतबीर सिंह सैनी ने चौधरी देवीलाल की नीतियों में विश्वास रखते हुए इंडियन नेशनल लोकदल से एक कार्यकर्ता के रूप में जुड़े हैं। जाहिर है कि राज्य की हर बिरादरी के लोग सभी राजनैतिक दलों के असली चेहरों को पहचान चुके हैं इसी कारण वे छत्तीस बिरादरियों के भाईचारे को बढ़ाने के लिए इनेलो में शामिल हो रहे हैं। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, विधायक परमेंद्र ढुल, पिरथी सिंह नम्बरदार, आरएस चौधरी, केसी बांगड़, बीडी ढालिया, प्रदीप चौधरी व प्रवीण आत्रेय भी उपस्थित थे।
दिग्विजय चौटाला ने नूंह में पंहुचकर इनसो के स्थापना दिवस के लिए कार्यकर्ताओं को निमंत्रण दिया
          

आगामी 5 अगस्त को हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी इनसो द्वारा इनसो का स्थापना दिवस कैथल में मनाया जा रहा है। आज इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला नूंह हैडक्वार्टर पर इनेलो व इनसो कार्यकर्ताओं को इनसो के स्थापना दिवस का निमंत्रण देने पंहुचे। इस अवसर पर उनके साथ इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन के सुपुत्र व इनेलो नेता चौ. ताहिर हुसैन एडवोकेट, विधायक चौ. नसीम अहमद, पूर्व मंत्री चौ. मौ. इलयास, जिलाध्यक्ष मास्टर बदरूद्दीन, जिलाध्यक्ष गुड़गांव किशोर यादव, चौ. मौ. तलहा एडवोकेट, अकबर अली चंदेनी, साकिर इनसो, पहलू प्रधान कंवरसीका, आस मौ., हितेश, हल्का अध्यक्ष जान मौ0 आदि इनेलो के वरिष्ठ नेताओं के अलावा सैंकड़ो इनेलो-बसपा के कार्यकर्ता मौजूद रहे।
इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला का नूंह पंहुचनें पर इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने नारे लगाकर, फूल मालाएं व पगड़ी बांधकर शानदार स्वागत किया। 
दिग्विजय चौटाला ने कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए जोरदार स्वागत के लिए धन्यवाद करते हुए हमेशा पगड़ी के सम्मान में कोई कमी नहीं आने की बात कही। उन्होंने कहा कि आज मेवात क्षेत्र के सभी लोगों को 5 अगस्त को कैथल में मनाए जा रहे इनसो के स्थापना दिवस का निंमत्रण देने आया हूं। चौटाला परिवार का स्व: चौ. देवीलाल के समय से ही विशेष लगाव रहा है तथा चौटाला परिवार ने मेवात क्षेत्र को हमेशा अपना दूसरा घर माना है। मेवात के लोगों का भी प्यार उनके परिवार को हमेशा बढ़ चढ़कर मिला है। जब-जब भी उनके परिवार को मेवात के लोगों की जरूरत पड़ी है, तो मेवात के लोगों ने अपनी जिम्मेदारी बढ़ चढ़कर निभाई है। उन्होंनें लोगों से 5 अगस्त को कैथल में होने वाले स्थापना दिवस में बढ़ चढ़कर भाग लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक हैं और इनसो का यह स्थापना दिवस हरियाणा की खटारा सरकार को चलता करने का काम करेगा। स्थापना दिवस को लेकर हरियाणा प्रदेश के युवाओं में भारी जोश है, और लाखों की तादाद में युवा स्थापना दिवस में हिस्सा लेंगे। 
इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस व भाजपा पर भी जमकर राजनीतिक बाण छोड़ते हुए एक दूसरे की ए और बी टीम बताया। उन्होंनें कहा कि पहले तो 10 वर्ष प्रदेश को कांग्रेस ने जमकर लूटा और अब पिछले लगभग चार सालों से बाजपा ने प्रदेश का दिवाला निकाल दिया है। हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार, मंहगाई, बेरोजगारी, कानून व्यवस्था आदि समस्याओं से प्रदेश का आम आदमी पूरी तरह से परेशान हो चुका है। ब्लात्कार, डकैती, लूटपाट की वारदातें रोजाना हो रही हैं जिससे कानून व्यवस्था की पोल खुल चुकी है। उन्होंने कहा कि अब वो दिन दूर नहीं जब प्रदेश में इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला व बहन कुमारी मायावती के आशीर्वाद से इनेलो-बसपा की सरकार बनेगी तथा देश की प्रधानमंत्री बहन कुमारी मायावती होंगी।
इनेलो नेता चौ. ताहिर हुसैन व विधायक नसीम अहमद ने इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला को विश्वास दिलाते हुए कहा कि आगामी 5 अगस्त को कैथल में मनाए जा रहे इनसो के स्थापना दिवस में हजारों इनसो कार्यकर्ता भाग लेंगे। उन्होंनें सभी कार्यकर्ताओं को इनसो के स्थापना दिवस के लिए लोगों के घर-घर जाकर न्यौता देने की भी अपील की। कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला बीते दिनों अलवर जिले के रामगढ़ में फर्जी गौरक्षकों द्वारा मारे गए कोलगांव निवासी अकबर खान के परिवार को सांत्वना देने उनके घर पंहुचे। दिग्विजय चौटाला ने पीड़ित परिवार से मिलकर गहरा दुख प्रकट किया। और कहा कि सरकार जल्द से जल्द उन असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार कर उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दे, पीड़ित परिवार को कम से कम 50 लाख रुपये आर्थिक मुआवजा दे, परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दे। इस अवसर पर उनके साथ इनेलो नेता चौ. ताहिर हुसैन, विधायक चौ. नसीम अहमद, मास्टर बदरूद्दीन आदि नेता मौजूद रहे।

Tuesday, July 24, 2018

कम्प्यूटर चलाने के लिए बिजली नहीं, कैसे होगा सरकारी स्कूलों का बेड़ा पार- दुष्यंत चौटाला

पीएचडी डिग्री धारकों को प्रशिक्षण दे उनकी सेवाएं सरकारी स्कूलों में सरकार


हिसार, 24 जुलाई: सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के बैठने के लिए कमरे नहीं, कहीं विद्यार्थी पांच दशक पुरानी जर्जर छत के नीचे बैठते हैं तो कहीं खुले आसमान में बैठने को मजबूर हैं, उन्हें पढ़ाने के लिए शिक्षक नहीं हैं और कम्प्यूटर चलाने के लिए बिजली नहीं है। हरियाणा के सरकारी स्कूलों की यह चिंतनीय तस्वीर लोकसभा में पेश करते हुए दुष्यंत चौटाला सवाल उठाया कि भला ऐसे में सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों का कैसे भला होगा और कैसे शिक्षा का स्तर उठेगा। ग्रामीण आंचल में करीब 1970 में बने सरकारी स्कूलों की बिल्डिंग की हालत जर्जर हो चुकी है। केंद्र सरकार को सरकारी स्कूलों की इस वास्तविक स्थिति को गंभीरता के साथ समझते हुए आगे बढऩा चाहिए। इनेलो सांसद लोकसभा में पेश नेशनल काऊंसिल टीचर्स एजुकेशन बिल 2017 पर बोल रहे थे। 
युवा सांसद ने कहा कि लोकसभा में बवानीखेड़ा हलके के गांव आदर्श गांव घुसकानी के सरकारी स्कूल का हवाला देते हुए कहा कि सरकार ने स्कूल की बिल्डिंग को बिना किसी वैकल्पिक व्यवस्था के छह माह पहले तोड़ दिया। घुसकानी गांव को सांसद दुष्यंत चौटाला ने आदर्श गांव योजना के तहत गोद लिया हुआ है। दुष्यंत ने कहा कि जब सरकार से स्कूल की नई बिल्डिंग बनाने की मांग की गई तो प्रदेश सरकार स्पष्ट कर दिया कि उनके पास बिल्डिंग बनाने के लिए पैसे नहीं हैं। उन्होंने सर्वशिक्षा अभियान पर सवालिया निशान लगा दिया कि सरकार बिल्डिंग ही नहीं बना सकती तो, इस अभियान का क्या औचित्य। इनेलो सांसद ने केंद्र सरकार से केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के साथ साथ प्रदेश सरकार द्वारा संचालित सरकारी स्कूलों के आधारभूत ढांचे के लिए वित्तीय सहायता देने की मांग की। 
हिसार से इनेलो सांसद ने सरकारी स्कलों की शिक्षा गुणवत्ता में सुधार के लिए पीएचडी डिग्री धारकों को प्रशिक्षण देकर उनकी सेवाएं सरकारी स्कूलों में लेने का भी सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विभिन्न विषयों में हजारों की संख्या में युवाओं ने पीएचडी कर रखी है और उनके अनुसंधान का लाभ विद्यार्थियों को मिलेगा। उन्होंने लोकसभा में चर्चा के दौरान एक बार फिर गेस्ट टीसर्च का मुद्दा उठाया कि केंद्र सरकार इस बिल में संशोधन करते हुए गेस्ट टीचर्स और तदर्थ टीचर्स को नियमित करने का भी प्रावधान करे ताकि गुरु को गेस्ट न मानकर उनकी नियमित सेवाएं ली जाएं। उन्होंने सरकारी आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि हरियाणा में आज भी 30 हजार शिक्षकों की कमी है और 800 से अधिक सरकारी स्कूल बिना प्रिंंसीपल के चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आइटी का जमाना है और इसे आम लोगों तक पहुंचाने के लिए सरकारी स्कूलों में नियमित तौर पर शिक्षकों की नियुक्ति करे। उन्होंने कहा कि सरकार ने स्कूलों में कम्प्यूटर तो पहुंचा दिए परन्तु अधिकांश सरकारी स्कूलों में बिजली की व्यवस्था नहीं है और कम्प्यूटर धूल फांक रहे हैं।
दुष्यंत ने घुसकानी स्कूल का मुद्दा लोकसभा में उठाया 

पीएचडी डिग्री धारकों को प्रशिक्षण दे उनकी सेवाएं सरकारी स्कूलों में सरकार-दुष्यंत

भिवानी, 24 जुलाई:  सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के बैठने के लिए कमरे नहीं, कहीं विद्यार्थी पांच दशक पुरानी जर्जर छत के नीचे बैठते हैं, तो कहीं खुले आसमान में बैठने को मजबूर हैं, उन्हें पढ़ाने के लिए शिक्षक नहीं हैं और कम्प्यूटर चलाने के लिए बिजली नहीं है। हरियाणा के सरकारी स्कूलों की यह चिंतनीय तस्वीर लोकसभा में पेश करते हुए दुष्यंत चौटाला सवाल उठाया कि ऐसे में सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों का कैसे भला होगा और कैसे शिक्षा का स्तर उठेगा। ग्रामीण आंचल में 1970 में बने सरकारी स्कूलों की बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है। केंद्र सरकार को सरकारी स्कूलों की इस दयनीय स्थिति को गंभीरता के साथ समझते हुए आगे बढऩा चाहिए। दुष्यंत चौटाला लोकसभा में पेश नेशनल काउंसिल टीचर्स एजुकेशन बिल 2017 पर बोल रहे थे। 
युवा सांसद ने लोकसभा में बवानीखेड़ा हलके के गांव आदर्श गांव घुसकानी के सरकारी स्कूल का हवाला देते हुए कहा कि सरकार ने स्कूल की बिल्डिंग को बिना किसी वैकल्प्कि व्यवस्था के छह माह पहले तोड़ दिया। घुसकानी गांव को सांसद दुष्यंत चौटाला ने आदर्श गांव योजना के तहत गोद लिया हुआ है। दुष्यंत ने कहा कि जब सरकार से स्कूल की नई बिल्डिंग बनाने की मांग की गई तो प्रदेश सरकार स्पष्ट कह दिया कि उनके पास बिल्डिंग बनाने के लिए पैसे नहीं हैं। उन्होंने सर्वशिक्षा अभियान पर सवालिया निशान लगा दिया कि सरकार बिल्डिंग ही नहीं बना सकती तो, इस अभियान का क्या औचित्य। इनेलो सांसद ने केंद्र सरकार से केंद्र सरकार द्वारा संचालित केंद्रीय विद्यालय, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के साथ साथ प्रदेश सरकार द्वारा संचालित सरकारी स्कूलों के आधारभूत ढांचे के लिए वित्तीय सहायता देने की मांग की। 
हिसार से इनेलो सांसद ने सरकारी स्कलों की शिक्षा गुणवत्ता में सुधार के लिए पीएचडी डिग्री धारकों को प्रशिक्षण देकर उनकी सेवाएं सरकारी स्कूलों में लेने का भी सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विभिन्न विषयों में हजारों की संख्या में युवाओं ने पीएचडी कर रखी है और उनके अनुसंधान का लाभ विद्यार्थियों को मिलेगा। उन्होंने लोकसभा में चर्चा के दौरान एक बार फिर गेस्ट टीसर्च का मुद्दा उठाया कि केंद्र सरकार इस बिल में संशोधन करते हुए गेस्ट टीचर्स और तदर्थ टीचर्स को नियमित करने का भी प्रावधान करे ताकि गुरू को गेस्ट न मानकर उनकी नियमित सेवाएं ली जाएं। उन्होंने सरकारी आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि हरियाणा में आज भी 30 हजार शिक्षकों की कमी है और 800 से अधिक सरकारी स्कूल बिना पिं्रंसीपल के चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आइटी का जमाना है और इसे आम लोगों तक पहुंचाने के लिए सरकारी स्कूलों में नियमित तौर पर शिक्षकों की नियुक्ति करे। उन्होंने कहा कि सरकार ने स्कूलों में कम्प्यूटर तो पहुंचा दिए परन्तु अधिकांश सरकारी स्कूलों में बिजली की व्यवस्था नहीं है और कम्प्यूटर धूल फांक रहे हैं। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में उठाया दवा घोटाले का मुद्दा


हिसार: नेशनल हेल्थ मिशन और मुख्यमंत्री मुफ्त इलाज योजना के तहत हुए हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग में अरबों रूपये के दवा और उपकरण खरीद घोटाले की गूंज सोमवार को लोकसभा में सुनाई दी। इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने आज लोकसभा में प्रदेश में जिला स्तर पर तीन वर्षों के दौरान दवाईयों और चिकित्सा उपकरण खरीद का मामला रखते हुए केंद्र सरकार से इसकी जांच कैग से करवाने की मांग की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा के विभिन्न जिलों में हुई दवाईयों की खरीद की जानकारी उन्हें आरटीआई के तहत हासिल हुई है। इस जानकारी में विभिन्न दवाईयों के कीमतों के आंकड़ें चौंकाने वाले हैं। एक ही प्रकार की दवा अलग-अलग जिलों में कई गुना अधिक कीमत पर खरीदी गई हैं। 
लोकसभा में सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले कई वर्षों से देशभर में एनएचएम की स्कीम चलाई जा रही है जहां जनता के रोगों के इलाज के लिए केंद्र सरकार द्वारा ग्रांट दी जाती है। उन्होंने कहा कि आरटीआई के तहत वर्ष 2014 से 2017 तक हरियाणा के विभिन्न जिलों में स्वास्थ्य विभाग हुई दवाईयों और उपकरण की खरीद की जानकारी हासिल की। उन्होंंने कहा कि इस जानकारी में पता चला कि अलग-अलग जिलों में पर एक ही दवाई को अलग-अलग दामों पर खरीदा गया। ऐसी दवाईयां व उपकरणों की संख्या बहुआयत में है जिनकी खरीद जिला स्तर पर कई गुना ज्यादा दामों पर खरीद गई है। उन्होंने एक प्रेगनेंसी स्ट्रीप की खरीद मूल्य का एक उदाहरण लोकसभा में देते हुए बताया कि हिसार में प्रेगनेंसी स्ट्रीप का टेंडर प्राईस 2 रूपये 70 पैसे है जबकि हरियाणा में अलग-अलग जिलों में यह प्रेगनेंसी स्ट्रीप 28 रूपये तक खरीदी गई। दुष्यंत ने बताया कि कैथल जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रेगनेंसी स्ट्रीप 21 रूपये में खरीदी गई है, जींद जिले में प्रेगनेंसी स्ट्रीप 28 रूपये की, करनाल जिले में 7 रूपये की प्रेगनेंसी स्ट्रीप खरीदी गई। उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर एक लाख रूपये की ख्ररीद टेंडर से होती हैं परन्तु हरियाणा के हर जिले में कोटेशन के माध्यम से अलग-अलग बिल बना कर करोड़ों रूपये की खरीद की गई। दुष्यंत ने कहा कि हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई इन दवाईयां व उपकरणों के प्रमाण उनके पास हैं। ये दवाईयों व उपकरण ऐसी दुकानों और फर्मसे खरीदे गए जिनके पास इन्हें बेचने का लाइसेंस तक नहीं था। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने एनएनएचम और मुख्यमंत्री इलाज योजना के तहत की गई खरीद की ओर केंद्र सरकार का ध्यान खींचते हुए कहा कि अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए अलग-अलग कीमतों पर उपकरण व दवाईयां खरीदी जाती हैं।  इस प्रकार एनएचएम के तहत देश भर में करोड़ों रूपये की खरीद का मेडिकल स्कैम है। 
इनेलो सांसद दुष्यंत ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंद्धी से से हरियाणा में तीन वर्षों 2014 से 17 तक हुई विभिन्न दवाईयों और उपकरणों की जांच कैग से करवाने की मांग की। 

Friday, July 20, 2018

कर्ण सिंह चौटाला ने ग्रामीण आँचल में गंदे पानी की सप्लाई से प्रशासन को अवगत कराया 


सिरसा, 20 जुलाई : जिला परिषद सिरसा के उपाध्यक्ष कर्ण सिंह चौटाला ने ग्रामीण आंचल में सप्लाई हो रहे गंदे पेयजल पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए उपायुक्त को न केवल इस सिलसिले में अवगत कराया बल्कि पानी के सेंपल देते हुए प्रशासन को आगामी एक सप्ताह में व्यवस्था को दुरुस्त करने का अल्टीमेटम भी दिया। इस दौरान युवा इनेलो नेता कर्ण सिंह चौटाला ने कहा कि ग्रामीणों के आग्रह पर उन्होंने जिले के दर्जनों गांवों का दौरा कर वहां पेयजल व्यवस्था का जायजा लिया और पाया कि ग्रामीणों को पेयजल किल्लत से जूझना पड़ रहा है। पर्याप्त पेयजल उपलब्ध न होने पर ग्रामीणों को या तो दूर-दराज के क्षेत्रों से पानी लाने पर मजबूर होना पड़ रहा है या 600 से 800 रुपए के महंगे दामों पर पानी खरीद कर पीने पर बाध्य होना पड़ रहा है।
कर्ण चौटाला ने उपायुक्त के समक्ष गांव अभोली और धनूर का विशेष जिक्र करते हुए कहा कि यहां पानी का सेंपल पूरी तरह से फेल है और ग्रामीण मजबूरी में अशुद्ध पानी पीने को मजबूर हैं। उन्होंने उपायुक्त से उक्त ग्रामों में पेयजल की शुद्ध और पर्याप्त पानी मुहैया कराने की बात कही। एक सप्ताह में पेयजल की व्यवस्था न सुधारे जाने पर ग्रामीणों व इनेलो कार्यकर्ताओं के साथ उपायुक्त कार्यालय पर धरने देने की चेतावनी दी और यह धरना तब तक जारी रहेगा जब तक ग्रामीणों को शुद्ध व पर्याप्त पानी मयस्सर नहीं हो जाता।
इनेलो नेता ने प्रदेश की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा का सबका साथ सबका विकास नारा वास्तविकता से कोसों दूर है क्योंकि आज न तो प्रदेश का विकास ही हो रहा है और न ही भाजपा किसी को साथ लेकर चलती है। उन्होंने कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार की तर्ज पर ही मौजूदा भाजपा सरकार भी सिरसा से राजनीतिक भेदभाव करने पर तुली है और यही कारण है कि जिले की जनता विकास को तरस गई है। कर्ण सिंह चौटाला ने भाजपा को हर मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा कि भाजपा की गलत नीतियों से आज व्यापारी, किसान, युवा, महिला सभी वर्ग निराश और हताश हैं। डॉ. स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू न करके कुछ फसलों के दाम बढ़ाकर भाजपा किसानों की हितैषी बनने का झूठा दम भर रही है जिसका बदला किसान आने वाले समय में भाजपा से लेगा। उन्होंने ई-टेंडरिंग प्रणाली पर कहा कि यदि सरकार इसे लागू करती है तो किसानों और आढतियों के बीच चले आ रहे परंपरागत भाईचारे को समाप्त करने का काम किया जाएगा क्योंकि यह सर्वविदित है कि हरियाणा का किसान पूरी तरह से आढ़तियों पर निर्भर है। यदि भाजपा ई-टेंडरिंग लागू करती है तो किसानों को काफी आर्थिक नुकसान होगा।
विधायक नैना सिंह चौटाला ने गांव चौटाला में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को चेक वितरित किये 


ओढां, 20 जुलाई डबवाली: विधायिका नैना सिंह चौटाला ने आज डबवाली हलका में कई कार्यक्रमों में शिरकत करते हुए हलका के गांव चौटाला, मांगेआना व हस्सू गांवों में कई जगह शोक व्यक्त किया। सबसे पहले विधायक नैना सिंह चौटाला गांव चौटाला पहुंचे व ग्रामीणों से मिले। वहां उन्होंने कई जगह महिलाओं से भी मिलकर उनकी समस्याएं जानी। जरूरतमंद परिवारों की कई महिलाओं ने विधायक से मदद की गुहार लगाई जिस पर विधायक नैना चौटाला ने उनकी मदद करने का आश्वासन दिया व इस बारे में अधिकारियों से बात करने की बात भी कही। विधायक नैना सिंह चौटाला ने कहा कि भविष्य में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए अन्य कार्यक्रम चलाएं जाएंगे जिससे कि उनको कोई सहायता मिल सके। उन्होंने बेटियों की शिक्षा पर बल देते हुए ग्रामीण महिलाओं से इस ओर ध्यान देने को कहा। इस मौके पर उन्होंने गांव लौहगढ के गुरजंट सिंह पुत्र भोला सिंह को 10 हजार का चैक देते हुए आर्थिक मदद की। इस मौके पर गांव चौटाला में युवा नेता अर्जुन चौटाला भी विधायक नैना चौटाला के साथ रहकर लोगों से मिले व समस्याएं सुनी। अर्जुन चौटाला ने कहा कि गांव चौटाला की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर हल करने का प्रयास रहता है। इस मौके पर पूर्व विधायक डा. सीता राम भी मौजूद रहे। इस मौके पर पूर्व विधायक डा. सीता राम, महिला विंग की जिलाध्यक्षा कृष्णा फौगाट, हल्का प्रधान सर्वजीत मसीतां, प्रदीप गोदारा, जोन इंचार्ज महेन्द्र डूडी, एस.जी.पी.सी. मैम्बर जगसीर मांगेआना, पूर्व चेयरमैन आत्मा राम सूढा, ब्लाक समिति मैैम्बर शमशेर सहारण चौटाला, युवा गुरबाज सिंह, पूर्व सरपंच आत्मा राम, विनोद सरपंच प्रतिनिधि, मदन लाल घिंटाला, अमर सिंह पंच, बबलू अरोड़ा, पवन लकेसर, ब्लाक समिति मैम्बर रणदीप सिंह मटदादू, राजबीर डबवाली, भोला सिंह पूर्व सरपंच, मनजीत सिंह पन्नीवाला रूलदू, पूर्व सरपंच मलिकपुरा गुरवचन सिंह, गुरमीत सिंह सरपंच मलिकपुरा, चरणजीत देसूजोधा, गुरचरण चन्नी, लीला सिंह, दलबारा सिंह, दीपी, बिटटू मौजगढ आदि मौजूद थे।
भाजपा शासनकाल में किसानों की आर्थिक स्थिति बदतर हुई- अभय चौटाला 


चंडीगढ़, 20 जुलाई 2018: नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाया कि एक तरफ सरकार ने गन्ने की फसल का मूल्य निर्धारण स्वयं की सिफारिशों के अनुसार किया नहीं और दूसरी तरफ किसानों की बकाया राशि का भुगतान करने में जानबूझकर अनावश्यक देरी की जा रही है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017-18 का पिराई सत्र बन्द हुए तीन महीने से भी ’यादा का समय हो चला है मगर अभी तक प्रदेश सरकार ने चीनी मिलों की तरफ से किसानों की बकाया राशि का भुगतान करने को लेकर कोई कदम नहीं उठाया है, जो भाजपा किसान हितैषी होने का नकाब उतारती है जबकि वास्तविकता यह है की जब से भाजपा शासन आया है तब से किसानों की आर्थिक स्थिति बद से बदतर हुई है।
नेता प्रतिपक्ष ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की सहकारी व गैर सहकारी चीनी मिलों द्वारा तीन महीने पहले ख़त्म हो चुके सीजन का लगभग 600 करोड़ रुपए की बकाया राशि का अभी किसानों को भुगतान किया जाना बाकी है। जिनमें लगभग 400 करोड़ रुपए सहकारी मिलों के और 200 करोड़ रूपये से ’यादा की राशि का गैर सहकारी चीनी मिलों द्वारा भुगतान किया जाना शेष है। जिसमें जींद सहकारी चीनी मिल की तरफ से किसानों का 27 करोड़, रोहतक मिल 52 करोड़, गोहाना मिल &2 करोड़, महम मिल 44 करोड़, शाहबाद मिल 72 करोड़, करनाल मिल का &8 करोड़, कैथल मिल 40 करोड़, पानीपत मिल &9 करोड़, सोनीपत मिल 25 करोड़ और पलवल मिल की तरफ से 26 करोड़ की राशि बकाया है। 
नेता प्रतिपक्ष ने याद दिलाया कि वर्ष 2017 में गन्ना पिराई सत्र आरम्भ होने से पहले भी उन्होंने न सिर्फ प्रदेश विधानसभा के सदन में बल्कि मिडिया के माध्यम से भी सरकार को गन्ना बोर्ड की मीटिंग में न केवल गन्ने के दामों को स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट की सिफारिश के अनुसार निर्धारित करने अपितु गन्ने की खरीद की नीति को सुचारू एवं किसान हितैषी बनाने का भी निर्णय करने के लिए चेताया था। उन्होंने कहा कि बीते सीजन में केंद्र सरकार द्वारा गन्ने के एफआरपी (फेयर एंड रिम्यूनिरेटिव प्राइस) को अगेती गन्ने की फसल के दाम को 255 रुपए प्रति क्विंटल करने का निर्णय लिया गया था। वहीं दूसरी तरफ पिछले वर्ष रा’य में अगेती फसल का स्टेट एडवाइ’ड प्राइस (एसएपी) मूल्य &20 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया था और पछेती फसल का &10 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया था। परंतु वह मूल्य न केंद्र सरकार और न ही रा’य सरकारों द्वारा अपनी सिफारिशों के बावजूद किसानों को दिया गया।
इनेलो नेता ने कहा कि असल में किसानों का भुगतान मिलों द्वारा गन्ना प्राप्त होने के 15 दिनों के भीतर किया जाना चाहिए ताकि किसानों की आर्थिक हालत को कुछ हद तक दुरुस्त किया जा सके। भुगतान करने में इससे ’यादा जितनी भी देरी हो उसका ब्याज किसानों को दिया जाना सुनिश्चित किया जाना चाहिए। प्रदेश सरकार चीनी मिल पिराई प्रबन्धन में एक बार फिर से पूर्ण रूप से नाकाम रही है और किसानों का लगभग 50 प्रतिशत गन्ना ही सरकार ने खरीदा है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को अगले सत्र की शुरुआत से पहले 40-50 लाख टन क‘ची चीनी के निर्यात की भी घोषणा करनी चाहिए ताकि चीनी मिलें अगले सत्र के आरंभ से क‘ची चीनी के लिए योजना बना सकें और उत्पादन के साथ ही इसका निर्यात भी कर सकें, क्योंकि इससे चीनी मिलों पर चीनी के अधिक भंडार को लेकर आगे बढऩे का बोझ कम होगा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा की हाल ही में केन्द्र सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू ना कर गन्ने सहित कुछ फसलों पर समर्थन मूल्य बढ़ाकर झूठी वाहवाही लूटने का प्रयास किया था। जबकि हरियाणा के किसान के साथ जो भद्वा मजाक भाजपाईयों ने किया है, उसके लिए उन्हें कभी प्रदेश का किसान और कमेरा वर्ग माफ नहीं करेगा।
एक रूपया लेकर भी विदेश भागने वाले को मिले कड़ी सजा- दुष्यंत चौटाला


हिसार के साथ साथ प्रदेश भर के लाखों निवेशकों का करोड़ों रूपऐ डकारने वाली पीएसीएल कंपनी के मामले की गूंज आज लोकसभा में सुनाई दी। इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस मामले को लोकसभा में उठाते हुए निवेशकों के पैसे न लौटाने वाली कंपनी के खिलाफ सख्त कानूनी प्रावधान करने की मांग की। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि देश से एक रूपया भी लेकर विदेश भागने वालों को सख्त सजा मिलनी चाहिए ताकि भविष्य में देश के लोगों के साथ आर्थिक खिलवाड़ न हो।
वीरवार को लोकसभा में पेश किए गए भगौड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक 2018 पर चर्चा में भाग लेते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कमेरे वर्ग का पैसा लेकर विदेश में भागने वालों को कड़ी सजा देने वाले इस विधेयक का स्वागत किया। साथ ही उन्होंने सुझाव दिया कि यह कानून केवल 100 करोड़ रूपये से अधिक राशि की बजाय हर उस व्यक्ति पर लागू होना चाहिए जो देश का एक रूपया भी लेकर विदेश भाग जाता है। उन्होंने कहा कि इस विधेयक में भी संविधान में नागरिकों के समानता के अधिकार का ध्यान रखा जाना चाहिए। 
दुष्यंत चौटाला ने केंद्र सरकार से स्पष्ट करने को कहा कि इस बिल में उन देशों के नामों का भी जिक्र करे जिनसे के साथ अनुबंध के तहत अपराधी के प्रत्यपर्ण की संधि है। उन्होंने इस बिल को उस दिन से लागू करने का सुझाव दिया जिस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।
इनेलो सांसद ने हिसार लोकसभा क्षेत्र में निवेशकों का करोड़ों रूपये की राशि हजम करने वाली पीएसीएल ग्रुप का भी लोकसभा में जिक्र  करते हुए कहा कि हिसार के लाखों निवेशकों का पैसा पीएसीएल कंपनी दबाए बैठी है और इस कंपनी ने आज तक एक रूपया भी निवेशकों का लौटाया नहीं है। युवा सांसद ने इस विधेयक में विदेश भागने वाले व्यक्ति की संपत्ति अटैच कर छह माह में निवेशकों का पैसा लौटाने का प्रावधान का जिक्र करते हुए कहा कि आज भी देश मेंअनेक  ऐसी कंपनी हैं जिनकी संपत्ति सेबी ने अटैच कर रखी है परन्तु निवेशकों का एक रूपया भी लौटाया नहीं गया है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से पूछा कि क्या सरकार पीएसीएल जैसी कंपनी की संपत्ति भी बेचकर निवेशकों के पैसे लौटाएगी। 

Thursday, July 19, 2018

नौकरी खोने की तलवार लटक रही हो, तो कैसे पढ़ा पाएंगे बच्चों को शिक्षक

शिक्षकों के 52 हजार पद खाली पड़े हैं शिक्षकों के 

नई दिल्ली, हिसार: बरसों से हरियाणा के सरकारी स्कूलों में कार्यरत गेस्ट टीचर्स और कम्प्यूटर टीचर्स की नियमित भर्ती का मुद्दा सत्र के पहले ही दिन लोकसभा में गूंजा। इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यत चौटाला ने गेस्ट टीचर्स और कंप्यूटर टीचर्स का मुद्दा उठाते हुए केंद्र सरकार से इन्हें पक्का करने की मांग की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जब शिक्षकों पर नौकरी से हटने की तलवार लटक रही हो तो वह बच्चों को अच्छी शिक्षा कैसे दे सकते हैं। 
इनेलो सांसद ने निशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार वित्तीय संशोधन बिल पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि हरियाणा सहित देश के कई अन्य राज्यों में अतिथि अध्यापक व शिक्षामित्र बरसों से कार्यरत हैं परन्तु इनकी नौकरी पर सुप्रीम कोर्ट की तलवार लटक रही है। यदि किसी शिक्षक पर नौकरी खोने का डर हो तो भला व अपने शिक्षण कार्य से कैसे न्याय कर पाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल किया कि केंद्र सरकार स्पष्ट करे कि गेस्ट टीचर्स की नियमित करने के लिए वह क्या कदम उठा रही है। 
इनेलो सांसद ने कहा कि हरियाणा में 52 हजार से अधिक शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं। उन्होंने बिल संशोधन के तहत देश में पांचवी व आठवीं कक्षा में बोर्ड की परीक्षाएं आयोजित करने के फैसला का स्वागत तो किया परन्तु उन्होंने इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों के लिए परीक्षाएं आयोजित करने प्रणाली और तौर तरीकों को लेकर सवाल खड़े किए।  उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी है और बिना शिक्षकों के सरकारी स्कूलों में बच्चे ड्राप आउट हो जाने का खतरा बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा कि खेद की बात है कि जो गेस्ट टीचर्स स्कूलों में लगे हैं उनको नियमित करने के लिए सरकार विचार नहीं कर रही है। 

काबरेल स्कूल में सभी छात्राएं फेल हो गई...
युवा सांसद दुष्यंत ने लोकसभा में गांव काबरेल के सरकारी स्कूल का हवाला देते कहा कि स्कूल में शिक्षकों की कमी के चलते वहां पढऩे वाली सभी छात्राएं बोर्ड की परीक्षा में फेल हो गई। सांसद ने कहा कि दसवीं की कक्षा में सभी छात्राएं इसलिए फेल हो गई क्यों कि उपरोक्त स्कूल में विभिन्न विषयों के शिक्षक स्कूल में थे ही नहीं। उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल पूछा कि केंद्र सरकार इन खाली पड़े पदों पर नियमित भर्ती के लिए क्या जरूरी कदम उठाने जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में स्थायी शिक्षकों की कमी के चलते पिछले पांच वर्षों में पांच लाख 87 हजार से अधिक बच्चों की कमी हो गई है। 

कंप्यूटर टीचर की नियमित भर्ती करे सरकार
दुष्यंत ने लोकसभा में कहा कि सरकार ने विभिन्न स्कीमों के तहत कम्प्यूटर तो सरकारी स्कूलों में भेज दिए परन्तु इनके लिए कम्प्यूटर टीचर नहीं है और न ही सरकारी स्कूलों में बिजली की व्यवस्था है। इनेलो सांसद ने कहा कि आईटी को बढ़ावा देने के लिए सरकार स्कूलों में कम्प्यूटर टीचर्स की नियमित भर्ती करे। 

Wednesday, July 18, 2018

सत्ता में आने पर निजी कंपनियों में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा- दिग्विजय चौटाला 


रोहतक/बहादुरगढ़, 18 जुलाई : इनसो के स्थापना दिवस के आयोजन का न्यौता देने बहादुरगढ़ और रोहतक पहुंचे इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने यह भी कहा कि सत्ता में आने के बाद युवाओं को पूर्ण भागीदारी दी जाएगी। साथ ही प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने के लिए निजी कंपनियों में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा। 
इनसो नेता ने यह भी कहा कि किसानों के लिए ट्यूबवैल व उसका कनेक्शन इनेलो सरकार आने पर मुफ्त दिया जाएगा। गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए कन्यादान के तौर पर इंडियन नेशनल लोकदल की सरकार देने का काम करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। महिलाओं व बच्चों पर अपराध की दर बढ़ी है। भाजपा के शासन में प्रदेश का आपसी भाईचारे को तोडऩे का भी काम किया है। कांग्रेस व भाजपा ने मिलकर प्रदेश को तीन बार हिंसा आग में जलाया है। 
उन्होने बड़ी संख्या में युवाओं से 5 अगस्त को कैथल में पहुंचने का आह्वान किया। इस अवसर पर युवाओं ने युवा नेता को डा. अजय सिंह चौटाला और युवा सांसद दुष्यंत चौटाला की प्रतिमाएं स्मृति चिह्न के रूप में भेंट की।
अपराधिक मामलों में भाजपा ने पेश किये गलत आंकड़े- कृष्ण गुम्बर 


सिरसा: इनेलो के शहरी प्रधान कृष्ण गुंबर ने कहा कि जब से विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश में एसवाईएल का मुद्दा जोरशोर से उठाना आरंभ किया है तभी से सत्तापक्ष और कांग्रेस नेताओं को तकलीफ होनी आरंभ हो गई हैं क्योंकि दोनों ही राजनीतिक दलों के नेता नहीं चाहते कि एसवाईएल का पानी हरियाणा के किसानों को मिले और वे खुशहाल बनें। बुधवार को जारी बयान में इनेलो पदाधिकारी ने कहा कि आज पूरे हरियाणा में इनेलो बसपा गठबंधन की चर्चा है और लोग अधिक से अधिक संख्या में गठबंधन से जुड़ रहे हैं क्योंकि गठबंधन का मुख्य उद्देश्य किसान और कमेरा वर्ग को लाभान्वित करना है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से गठबंधन को प्रदेश में समर्थन हासिल हो रहा है, निश्चित ही आने वाला समय गठबंधन का होगा। गुंबर ने कहा कि गठबंधन ने हमेशा जनहित के मुद्दों को लेकर संघर्ष किया है और इस बार भी एसवाईएल जैसे संवेदनशील मुद्दे पर इनेलो बसपा गठबंधन जेल भरो आंदोलन के माध्यम से केंद्र सरकार को संदेश दे रहे हैं कि वह सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को जल्द से जल्द लागू कराए। उन्होंने कहा कि हरियाणा की जीवनरेखा माने जाने वाली एसवाईएल के लिए इनेलो ने पिछले दो सालों के दौरान विभिन्न चरणों में जो संघर्ष किया है, उससे प्रदेशवासियों को स्पष्ट हो चुका है कि यही दल पूरी तरह से हरियाणा के हितों को संरक्षित करने वाला है। उन्होंने कहा कि भाजपा आज केवल झूठी घोषणाओं और जुमलों की पार्टी बनकर रह गई है। गुंबर ने कहा कि प्रदेश की जनता से छलावा करने वाली भाजपा की नीतियों से आज किसान, गरीब, कमेरा, दलित, व्यापारी, महिला, युवा सहित सभी वर्ग परेशान हैं और सड़कों पर प्रदर्शन को मजबूर हैं। इनेलो पदाधिकारी ने कहा कि प्रदेश में बढ़ी आपराधिक घटनाओं से आज प्रत्येक हरियाणवीं का सिर शर्म से झुक गया है और भाजपा गलत आंकड़ा देकर लोगों को गुमराह करने पर तुली है। उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा ने प्रत्येक वर्ष 2 करोड़ रोजगार देने की घोषणा की थी। उसके अलावा हरियाणा में कर्मचारियों को पंजाब की तर्ज पर वेतनमान देने, व्यापारियों को अधिकाधिक सुविधाएं देने, महिलाओं को सुरक्षा देने, युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने जैसे अनेक वायदे किए थे जिनमें से साढ़े तीन वर्ष से अधिक का समय बीतने के बावजूद एक भी पूरा नहीं किया गया। भाजपा सरकार केवल विकास का झूठा नारा देकर लोगों को छल रही है मगर अब प्रदेशवासी उसकी असली हकीकत जान चुकी है। आगामी चुनावों में प्रदेशवासी उसे सत्ता से बेदखल कर इनेलो बसपा गठबंधन को मौका देगी।