Tuesday, June 5, 2018

 दुष्यंत ने रेलमंत्री के समक्ष रखा हिसार को चंडीगढ़ से रेलवे से जोड़ने वाले रूट का खाका

  • अधिकारी हिसार-चंडीगढ़ के बीच डेमू चलाने को लेकर मंत्रालय को कर रहे हैं गुमराह
  • सूर्य नगर फाटक सहित अन्य मांगों को पूरा करने को लेकर विस्तार से विचार विमर्श   




नई दिल्ली/ हिसार, 5 जून: हिसार- चंडीगढ़ के बीच रेल सेवा शुरू करने को लेकर सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल से मंगलवार को नई दिल्ली में मुलाकात की। उन्होंने न केवल रेलवे मंत्री के समक्ष हिसार चंडीगढ़ के बीच रेलगाड़ी शुरू करने का न केवल रूट का सारा खाका प्रस्तुत किया बल्कि अधिकारियों द्वारा इस रूट को लेकर मंत्रालय को भेजे गए गुमराह करने वाली जानकारी को तथ्यों के साथ उजागर किया।  इसके अलावा दुष्यंत चौटाला ने रेलवे मंत्री से हिसार लोकसभा को लेकर पिछले बजट में की गई घोषणाओं व अन्य मांगों को पूरा करने को लेकर विस्तार से विचार विमर्श किया और उन्हें जल्द से जल्द पूरा करने की मांग की जिससे कि यात्रियों की सुविधाओं में इजाफा हो सके। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय रेलवे मंत्री को बताया कि उन्होंने हिसार-चंडीगढ़ के बीच रेलगाड़ी शुरू करने का मामला लोकसभा में 9 अगस्त 2016 को उठाया था। इस प्रश्न के उत्तर में अधिकारियों ने तर्क दिया था कि हिसार के यात्री रेलगाड़ी से अंबाला पहुंचे और अंबाला से चंडीगढ़ की रेलगाड़ी पकड़ सकते हैं। दुष्यंत ने कहा कि रेलमंत्री को अगवत करवाया कि रेल अधिकारियों का यह तर्क कहीं मेल नहीं खाता क्यों कि हिसार-अंबाला के बीच एक भी रेलगाड़ी सीधी नहीं चलती। उन्होंने बताया कि रेलवे अधिकारियों ने मंत्रालय में तथ्यों को तोड़-मरोड़ को पेश किया गया।  सांसद दुष्यंत ने बताया कि हिसार-चंडीगढ़ के बीच रेलसेवा शुरू करने के दो रूट बनते हैं। पहला रूट हिसार-जाखल-धूरी-राजपुरा-पटियाला-चंडीगढ़ का बनता है और दूसरा रूट हिसार-जाखल-नरवाना-कुरूक्षेत्र-चंडीगढ़ के बीच बनता है और इन दोनों रूटों पर डेमू रेलगाड़ी चलाई जा सकती है और इनके बीच कोई नर्ह रेलवे लाइन भी नहीं बिछानी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि जयपुर के महाप्रबंधक ने 2016 में दी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि हिसार में वाशिंग यार्ड पूरा होने पर हिसार-चंडीगढ़ के बीच डेमू रेल सेवा शुरू करने संभव है। उन्होंने रेलमंत्री को बताया कि हिसार में वाशिंग यार्ड का काम पूरा हो चुका है। दुष्यंत ने रेलमंत्री से हिसार-चंडीगढ़ के बीच डेमू रेलसेवा शुरू करने के लिए अनुमति प्रदान करने का आग्रह किया। यहां बता दें कि दुष्यंत चौटाला ने 5 मई को भी जयुपर में रेलवे अधिकारियों हुई बैठक में भी इन मांगों को रखा था। 
दुष्यंत चौटाला ने रेलमंत्री को बताया कि वर्ष 2016-17 के बजट में तात्कालिक रेलवे मेत्री सुरेश प्रभु ने हिसार लोकसभा क्षेत्र से जुड़ी अनेक मांगों पर गौर करते हुए इनकी पूरी करने घोषणाएं की गई थी परन्तु आज तक इन प्रोजेक्ट पर रेलवे ने कार्य शुरू नहीं किया है।  

दुष्यंत चौटाला ने रेलमंत्री से अन्य मांगों पर भी विस्तार से चर्चा की जिनमें प्रमुख हैं-


-सूर्य नगर फाटक, सेक्टर 16-17 रेलवे फाटक, हांसी, आदमपुर, कैमरी रोड फाटक पर आरओबी व अंडरपास बनाने, हिसार रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट और एक्सीलेटर लगाने कका कार्य अतिशीघ्र शुरू किया जाए। 
-साउथ बाईपास पर घोड़ा फार्म रोड फाटक, सातरोड़ फाटक पर ज्यादा ट्राफिक होने के कारण जाम लग जाता है,  इन पर जल्द से जल्द आरओबी बनाया जाए। 
-कैमरी रोड व अन्य फाटक जहां वाटर लेवल ऊंचा है और अंडर पास संभव नहीं वहां आरओबी बनाया जाए। 
-बरवाला-अग्रोहा फाटक पर भी आरओबी बनाया जाए 
-गोरखधाम को हिसार से बढ़ा कर सिरसा तक किया जाए
-हिसार में वाशिंग यार्ड बन गया है, इसलिए दिल्ली ठहराव वाली गाडिय़ों को हिसार तक बढ़ाया जाए तथा भिवानी तक आने वाली कालिंदी एक्सप्रेस, एकता एक्सप्रेस, पुरूषोत्तम एक्सप्रेस का विस्तार हिसार तक किया जाए। 
-अजमेर-अमृतसर एक्सप्रेस तथा विवेक एक्सप्रेस का ठहराव उकलाना व बरवाला में सुनिश्चित किया जाए तथा अवध-आसाम एक्सप्रेस को जींद से हिसार होते हुए चलाई जाए। 
-उकलाना, बरवाला में रेलवे रिजर्वेशन की सुविधा दी जाए। हिसार-अमृतसर रेल में आरक्षित व सामान्य श्रेणी के डिब्बों की संख्या बढ़ाई जाए। 
-आदमपुर-हिसार-गोगामेड़ी के बीच रेलवे नइ लाइन के लिए सर्वे किया जाए, बीकानेर-हरिद्वार वाया हिसार तथा हिसार-ब्रांदा रेलगाड़ी को नियमित किया जाए। इसके अलावा हिसार से गुजरने वाली व यहां से चलने  वाली रेलगाडिय़ों में डिब्बों की संख्या बढ़ाई जाए।
-हिसार-सातरोड़ फाटक सायं छह बजे से प्रात: छह बजे तक बंद रहता है, इसपर कर्मचारी की डयूटी लगा कर अन्य व्यवस्था की जाए ताकि वाहन आवागमन में परेशानी न हो। 
-कालवास को हाल्ट स्टेशन घोषित किया जाए।
 न्यौलीकलां, खाबड़ा, मेहुवाला, जोधकां, मय्यड़, ओरंगनगर व सुई हाल्ट स्टेशनों पर  गाड़ी संख्या 54634/31 तथा 54632/33 नहीं रूकती, इनका ठहराव उपरोक्त हाल्ट स्टेशन पर तात्कालिक रेलवे मंत्री की घोषणा के मुताबिक सुनिश्चित किया जाए। 
-गांव राजली में फाटक संख्या सी-44 व सी 45 के बीच काफी दूरी है, इनके बीच आरयूबी मंजूर किया जाए। 
-भिवानी में रोहतक-भिवानी रेलवे लाइन पर प्रस्तावित रेलवे बाइपास का निर्माण अतिशीघ्र और समय अवधि   निर्धारित कर किया जाए। 

No comments:

Post a Comment