Friday, June 8, 2018

अस्पतालों से मरीज गायब हो रहे हैं विज साहब- दिग्विजय चौटाला


भिवानी: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि विज साहब मीडिया के सामने बड़ी-बड़ी डींगे हांकते हैं लेकिन धरातल पर यदि गौर किया जाए तो पूरे प्रदेश के अंदर स्वास्थ्य व्यवस्था का दिवाला निकला हुआ है। उन्होंने कहा कि हालात इस कदर खराब हो चुके हैं कि अस्पतालों से मरीज गायब हो जाते हैं और सात दिन बाद अस्पताल के सीएमओ कार्यालय के पीछे लावारिस हालात में मरीज मृत पाया जाता है। ऐसी घटना के बावजूद भी अस्पताल प्रशासन को भनक तक नहीं लगती। इनेला नेता का इशारा भिवानी के चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल में पिछले दिनों 75 वर्षीय मरीज श्योताज की मौत की ओर था। दिग्विजय ने कहा कि यही नहीं रोहतक पीजीआई तक में स्वास्थ्य व्यवस्था का जनाजा निकला हुआ है। मरीजों के लिए बिस्तरे नहीं है, दवाइयां तो बहुत दूर की बात हैं। मरीज अस्पतालों की गैलरी में पड़े रहते हैं और स्वास्थ्य विभाग मूक दर्शक बन देखता रहता है।
इनेलो नेता ने कहा कि यदि बात डाक्टरों की की जाए तो अकेले भिवानी, हिसार, महेंद्रगढ़, सिरसा में जहां प्रत्येक अस्पताल में 50 से 55 डाक्टरों की आवश्यकता है वहीं मात्र 15 से 20 डाक्टर इस कार्य को करने में लगे रहते हैं। उन्होंने कहा कि भिवानी में झज्जर जिले के गौरिया निवासी 75 वर्षीय श्योताज की रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना ने स्वास्थ्य विभाग और खुद स्वास्थ्यमंत्री अनिल विज के पुख्ता इंतजामों की पोल खोल कर रख दी है। पिछले दिनों भी पूर्व मुख्यमंत्री मास्टर हुकुम सिंह की पीजीआई में इलाज में कोताई को लेकर भारी हंगामा हुआ था और ऐसी अनेकों घटनाएं पीजीआई जैसे बड़े स्वास्थ्य सैटरों में आए दिन होती हैं जिनकी जांच केवलमात्र स्वास्थ्य मंत्री के अखबारी ब्यान और फाइलों तक सिमट कर रह जाती हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार एक ओर तो आम नागरिक के लिए सरकारी अस्पतालों में पुख्ता इंतजामों का दावा कर रही है वहीं दूसरी तरफ मरीजों को पर्ची बनवाने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ती है। हालात ये हैं कि एक मरीज को डाक्टर तक पहुंचने के लिए चार से पांच घंटे लग जाते हैं। उपर से डाक्टरों की भारी कमी से मरीज की बीमारी के तय तक पहुंचना भी मुश्किल ही नजर आता है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को चुनौती देते हुए कहा कि यदि स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा प्रदेश में बेहतर स्तर पर हंै तो अनिल विज डाक्टरों की नियुक्ति के साथ-साथ प्रत्येक शहर के नागरिक अस्पताल की व्यवस्था का श्वेत-पत्र जारी करे नहीं तो वे अपने पद से त्यागपत्र दें।

No comments:

Post a Comment