Saturday, June 2, 2018

उपचुनाव ने 2019 में तीसरे मोर्चे की सरकार की पटकथा लिख दी- दिग्विजय 

पिछले छह माह में चौथी बड़ी हार से भाजपा के बोरिया-बिस्तर सिमटने के संकेत


चंडीगढ़: इनसो के राष्ट्र्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने देश के अलग-अलग राज्यों में विधानसभा व लोकसभा के उप-चुनाव के परिणामों पर भिवानी में जारी बयान में कहा कि इस हार से भाजपा के तानाशाही शासन की व कांग्रेस के कमजोर नेतृत्व की पोल खोल दी है। भाजपा जिन्होंने केंद्र के अंदर सत्ता मिलते ही द्वेष भावना के साथ बर्ताव करना शुरू किया था और जनता के मुद्दों से हटकर शासन चलाने की ओच्छी सोच रखी थी उसे इन उप-चुनाव ने दरकिनार करके यह दर्शा दिया है कि देश के अंदर 2019 में भाजपा का बोरिया-बिस्तर सिमटना निश्चित है और तीसरे मोर्चे की सरकार बनना तय है।
इनसो नेता ने कहा कि जिस तरह से क्षेत्रीय दलों के उम्मीदवार भारी बहुमत से जीत कर आए हैं उनकी इस जीत ने भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों को चारों खाने चीत कर दिया। नूरपुर में जहां समाजवादी पार्टी, बिहार के जोकिहाट में राष्ट्र्रीय जनता पार्टी, झारखंड के गोमिया और सिल्ली में झारखंड मुक्ति मोर्चा, पश्चिम बंगाल में टीएमसी व चैंगुलूर में सीपीएम का बोलबाला रहा। वहीं महाराष्ट्र्र के पालघर में शिवसेना उम्मीदवार के साथ गड़बड़ी होना इस बात का प्रमाण है कि भाजपा के शासनकाल से आमजनता खुश नहीं है। दिग्विजय ने कहा कि इन चुनाव के परिणामों से जहां क्षेत्रीय दल और अधिक मजबूत हुए हैं वही हरियाणा प्रदेश के अंदर इनेलो-बसपा की सरकार बनना तय हो गया है। जहां तीसरे मोर्चे के गठन पर कुमारी मायावती देश की बागडोर सम्भालेगी वहीं हरियाणा में इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला मुख्यमंत्री बनेंगे।
दिग्विजय ने यह भी कहा कि जब चुनाव का समय आता है तो भाजपा पेट्रोल व डीजल के दाम पैसों में घटाते हैं वहीं चुनाव खत्म होने के बाद रूपयों में इनके दाम बढ़ाकर आम जनता को बरगलाने का काम करते हैं। देश का पेट भरने वाले किसानों के साथ तो आलम यह है कि उन्हें अपना पेट भरना दूभर हो गया है। आज किसान कर्ज उठाकर खेती का काम करता है लेकिन भाजपा सरकार की अनुभवहीनता और ओच्छी मानसिकता के कारण मंडियों में तरह-तरह की शर्ते लगातार उनके अनाज को लेने से मना किया जाता है। उन्होंने कहा कि इन राज्योंं में चुनाव से पहले स्वयं प्रधानमंत्री से लेकर के भाजपा शाषित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने जोर लगा रखा था लेकिन जनता को इनकी नीयत का पता लग गया और उन्होंने भाजपा को चारों खाने चित कर दिया।

No comments:

Post a Comment