Friday, June 22, 2018

नगर निगम गुड़गांव द्वारा दुकानों को सील किया जाना निंदनीय- गोपीचंद गहलोत 


गुड़गांव 22 जून: गुड़गांव के मुख्य बाजार में आज अतिक्रमण के नाम पर बाजार खुलने से पहले ही नगर निगम गुड़गांव द्वारा दुकानों को सील किया जाना बहुत ही निंदनीय व शर्मनाक घटना है। पहले भी बाजार में अतिक्रमण हटाने के नाम पर नगर निगम द्वारा समय समय पर कर्यवाही होती रही है परन्तु इतने बड़े स्तर पर सिलिंग की कार्यवाही पहली बार हुई है जो कि सरकार के व्यापारी विरोधी रवैये का परिचायक है। उक्त शब्द हरियाणा विधानसभा के पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत ने प्रैस के नाम जारी अपने बयान में कहे। उन्होंने कहा कि नोटबन्दी व जीएसटी की मार से व्यापारियों का व्यापार पहले ही चौपट हो चुका है ऐसे में ऐसी निकम्मी सरकार के अधिकारियों के तुगलकी फरमान से आज व्यापारी सड़क पर आने को मजबूर है। श्री गहलोत ने कहा कि मनोहर सरकार अपने आप को व्यापारियों का सबसे बड़ा हितेषी बताते हुए नहीं थकती  वहीं दूसरी तरफ इस प्रकार की कार्यवाही से व्यापारियों को तबाह व बर्बाद करने पर तुली हुई है। इस कार्यवाही से भाजपा की खटटर सरकार का व्यापारी विरोधी चेहरा जनता के सामने उजागर हुआ है। भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए श्री गहलोत ने कहा कि फुटपाथ पर रेहड़ी व पटड़ी लगाकर अपना व अपने परिवार का गुजारा करने वालों के लिए सरकार अनेकों बार घोषणाऐं कर चुकी है परन्तु सरकार बताये कि इनमें से कितने लोगों को अब तक रेहड़ी आदि देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सदर बाजार में वर्षों से काम करने वाले किसी भी रेहड़ी पटड़ी वाले को उचित जगह या रेहड़ी मुहैया कराने की बजाय इस सरकार ने अपने चहेतों को लाभ पंहुचाने का काम किया है। 
हिसार में एसवाईएल को लेकर इनेलो बसपा कार्यकर्ताओं ने दीं गिरफ्तारियां 


हिसार , 22 जून : एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल के निर्माण व प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए हो रहे जेल भरो आंदोलन के तहत इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने 41,637 गिरफ्तारियां दी। इससे पूर्व एसवाईएल के मुद्दे पर राज्य सरकार पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि खट्टर सरकार ने चुनावी घोषणा पत्र में नहर निर्माण की बात कही थी लेकिन सत्ता हासिल करने के बाद केवल इस नहर निर्माण को कैसे रोका जाए, इस बात को लेकर साजिश रचने का काम किया।  उन्होंने कहा कि एसवाईएल निर्माण पर कांग्रेस और भाजपा, दोनों सरकारों ने राजनीति की है।
नेता विपक्ष ने प्रधानमंत्री पर भी वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी ने सत्ता हासिल करने के लिए जनता को कभी 15 लाख देने की बात कही, तो कभी युवाओं के दो करोड़ रोजगार की। लेकिन आज तक एक भी वादा ऐसा नहीं है जो केंद्र सरकार ने पूरा किया हो। भाजपा ने हर वर्ग को धोखा दिया है। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी जी किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने की बात किया करते थे आज उनकी बातें केवल जुमला बनकर रह गई है। अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर किसानों व छोटे दुकानदारों का ऋण माफ किया जाएगा। किसानों को फसल का सही मूल्य मिले उसके लिए स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करेंगे। साथ ही हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन मिला करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी और प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की।


जेल भरो आंदोलन में गिरफ्तारी से पूर्व हिसार के युवा सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला कहा कि भाजपा सरकार और पंजाब कांग्रेस की मिलीभगत के कारण हरियाणा के हिस्से जो 1500 क्यूसिक पानी था उसमें से भी 400 क्यूसिक की कटौती कर राजस्थान को देने का काम किया गया है। जिसके कारण विशेषकर हिसार जिला जो भूजल संकट से जूझ रहा है उसके नलवा और आदमपुर के चालीस गांव ऐसे हैं जिनको पीनें कीे लिए भी पानी राजस्थान से टैंकरों के जरिए पैसे देकर मंगवाना पड़ता है। उन्होंने यह भी कहा कि एसवाईएल, दादुपुर नलवी और मैवात कैनाल की यह लड़ाई कुछ हजार या कुछ लाख लोगों की नहीं रही यह अब प्रदेश की ढाई करोड़ जनता के हक की लड़ाई बन चुकी है। उन्होंने प्रदेश सरकार के वित्तिय कुप्रबंधन की निंदा करते हुए कहा कि आज राज्य 1लाख 61 हजार करोंड का कर्जदार है जबकि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के राज में प्रदेश का खजाना लबालब भरा हुआ था।


इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा जिस कांग्रेस मुक्त भारत का सपना देखती है उसकी शुरूआत बहुजन समाज पार्टी ने की थी। साहेब काशीराम ने सबसे पहले कांग्रेस को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाया था। एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक रणबीर गंगवा, परमेंद्र ढुल, पिरथी नम्बरदार, बलवान सिंह दौलतपुरिया, प्रो. रविंद्र बलियाला, अनूप धानक, ओमप्रकाश बरवा, रामचंद कम्बोज,  पूर्व विधायक सरोज मोर, इनेलो नेत्री शीला भ्यान व प्रवीण आत्रेय सहित हजारों गठबंधन नेता थे।
खिलाड़ी विरोध न करते तो भाजपा न देती उन्हें सम्मान- अभय चौटाला

फतेहाबाद: नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कॉमनवेल्थ गेम्स के विजेता खिलाडि़यों के विरोधी तेवर दिखाने उपरांत उन्हें अब सरकार द्वारा सम्मान दिए जाने को खिलाडि़यों की एकजुटता की जीत करार दिया। उन्होंने कहा कि पहली बार खेल और खिलाड़ी भाजपा सरकार की ओछी राजनीति सोच के चलते शर्मशार हुए हैं, यदि सम्मान पाने के मामले में खिलाड़ी सरकार के खिलाफ एकजुटता से अपना विरोध दर्ज न कराते तो यह भाजपा सरकार देश-विदेश में हरियाणा का गौरव बढ़ाने वाले खिलाडि़यों को उनके हक का सम्मान कभी न देती। वे सिरसा से हिसार जाते समय भूना रोड स्थित रेस्ट हाउस में पार्टी पदाधिकारियों से बातचीत कर रहे थे। उनके साथ किसान सैल प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला, जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, वरिष्ठ नेता कुलजीत कुलडि़या, मोलूराम रूहलानियां, सुरेन्द्र लेगा, विद्या रत्ति, सुमनलता सिवाच, शहरी प्रधान पवन चुघ, अजय संधू, राणा जोहल, विकास मेहता आदि पदाधिकारी मुख्य रूप से उपस्थित रहे। 
अभय चौटाला ने कहा कि इससे बड़े दुर्भाग्य की बात नहीं हो सकती कि जो खिलाड़ी बिना किसी सरकारी सहायता के अपनी मेहनत के बलबुते बड़ी प्रतियोगिताओं में विजयी पताका फहरा, प्रदेश का सम्मान बढ़ाने का काम करते हैं, उन्हीं खिलाडि़यों को भाजपा सरकार उनके हक का सम्मान नहीं दे रही। पहली बार भाजपा सरकार ने ही खेल और खिलाडि़यों को अपनी ओछी राजनीति का हिस्सा बनाकर इस तरह अपमानित करने का काम किया है। यह खिलाडि़यों की एकजुटता की जीत ही कही जाएगी कि उनके विरोध के आगे सरकार को झूकना पड़ा। उन्होंने कहा कि देश-प्रदेश में हालात भाजपा कुशासन के चलते गंभीर बने हुए है। जनता हरियाणा में भाजपा और कांग्रेस के विकल्प के रूप में अब इनेलो-बसपा गठबंधन को मजबूती के साथ समर्थन देने लगी है। पार्टी कार्यकर्त्ताओं को भी अब अपने जौश व पार्टी के प्रति निष्ठा को कायम रखते हुए अधिक से अधिक जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं का निदान करवाने में सहयोग करना चाहिए ताकि जनता ने जो विश्वास इनेलो-बसपा गठबंधन पर बनाया है, उस पर पार्टी खरा उतर सके।
अनशन में होती है बहुत ताकत- दिग्विजय चौटाला 

भिवानी: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भाजपा जनता के साथ कितनी भी ज्यादती कर ले। इनसो सद्भावना के साथ उसका ठोस जवाब देगी और जनता के हितों को बचाएगी। उन्होंने कहा कि अनशन एक ऐसी ताकत है जिसमें बड़े से बड़े तानाशाह को झुकना पड़ता है। उन्होंने दादरी विधायक राजदीप फोगाट की प्रशंसा करते हुए कहा कि राजदीप ने जिस तरह से जनता के अह्म मुद्दे अंडरपास को बनवाने के लिए अनशन करके इस लड़ाई को जीता है। वह काबिले तारीफ है। उन्होंने कहा कि उन्होंने स्वयं से भी शांतिप्रिय ढंग से फरवरी माह में हिसार स्थित गुरू जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी में अनशन किया था उस दौरान बड़ी संख्या में छात्र अनशन का हिस्सा बने और सरकार को झुकाने में कामयाब रहे साथ ही दिग्विजय ने प्रदेश की जनता को बधाई देते हुए कहा कि आज ही के दिन हरियाणा निर्माता जननायक चौ. देवीलाल ने प्रथम बार प्रदेश के मुख्यमंत्री की शपथ ली थी। अलग हरियाणा के लिए जननायक ने भी शांतिप्रिय और सद्भावना के साथ आंदोलन किया था यहां तक कि उन्हेें जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया था, लेकिन उन्होंने इंदिरा गांधी जैसे तानाशाही प्रधानमंत्री को भी जनता की मांग मानने के लिए मजबूर कर दिया था।
दिग्विजय सिंह चौटाला ने छात्र संघ चुनाव के लिए फरवरी में अनशन शुरू किया था और ठीक पांच दिन के बाद सरकार की तरफ से उन्हें बकायदा लिखित रूप में छात्र संघ चुनाव करवाने का पत्र भी जारी किया था लेकिन विडंबना की बात है कि ये सच्चाई का ढिंढोरा पीटने वाली भाजपा सरकार ने आज तक छात्र संघ चुनाव की तिथि निर्धारित नहीं की है और ना इसके लिए रूपरेखा तैयार की है। वहीं इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने योग दिवस की शुभकामनाएं जनता को दी लेकिन उन्होंने भाजपा नेताओं पर चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा नेता जिन्हें अनशन व योग की महत्ता नहीं पता वो लोग आज केवलमात्र फोटो खिंचवाने के लिए योग लिखी हुई टी-शर्ट डालकर वाह-वाही लूटने का झूठा ढकोसला कर रहे हैं।
इनसो नेता ने कहा कि भारत देश हमेशा ही योग को समर्पित रहा है, लेकिन भाजपा सरकार ने अपने फायदे और झूठे दिखावे के लिए योग की परिभाषा को ही बदल कर रख दिया। परिणामस्वरूप आज यदि आंकड़ों पर नजर दौड़ाई जाए तो नब्बे प्रतिशत भाजपा के सांसद व विधायक अनफिट नजर आएंगे वो केवलमात्र एक दिन 21 जून को फोटो करवाने के लिए ही योग करते हैं। दिग्विजय ने भाजपा सरकार के दिखावे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्हें जनता को योग के बारे में बताने की जरूरत नहीं है यह देश ऋषि मुनियों का देश रहा है ये योग की महत्वता को पहले से ही जानते हैं यदि योग की महत्ता कोई नहीं जानता तो वह स्वयं भाजपाई हैं।
कच्चे कर्मचारियों ने अभय चौटाला को सौंपा ज्ञापन

 
सिरसा: सर्वकर्मचारी संघ ने विभिन्न सरकारी विभागों में कार्यरत कच्चे कर्मचारियों को माननीय पंजाब हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा हटाने के आदेश को लेकर आज नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला को एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि विभिन्न सरकारी विभागों जैसे बोर्डों, विश्वविद्यालयों, नगर निगमों व नगर पालिकाओं में कार्यरत कच्चे कर्मचारी को पक्का करने हेतु सरकार ने अपनी कार्यकारी शक्तियों का प्रयोग करते हुए सरकारी शर्तों को पूरा करने वाले 4654 कर्मचारी को नियमित कर दिया था लेकिन माननीय उच्च न्यायालय ने सरकार की अधिसूचना को रद्द कर दिया जिससे हजारों कर्मचारी के सामने रोजी रोटी का सवाल खड़ा हो गया है। बाद में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने कर्मचारियों का केस मजबमती से न लड़ने के कारण ही यह समस्या पैदा हुई है। इनेलो नेता ने कहा कि कर्मचारियों द्वारा दिए गए ज्ञापन का वह अध्ययन करेंगे तथा पार्टी कार्यालय में बैठे उच्च पदाधिकारियों व रिटायर्ड अधिकारियों से विचारविमर्श करके इस मुद्दे को गंभीरता से उठाएंगे। नेता प्रतिपक्ष ने क हा कि आवश्यक हुआ तो वह मुख्यमंत्री को विधानसभा का विशेष सत्र बुलवाने का आग्रह करेंगे तथा कर्मचारियों को पक्का करने हेतु बिल लाने का भी आग्रह करेंगे ताकि कर्मचारियों के हितों से खिलवाड़ न हो। सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताते हुए उन्होंने कहा कि आज समाज का हर वर्ग समस्याओं को लेकर सडक़ों पर है। एक प्रश्र के उतर में उन्होंने मुख्यमंत्री की विदेशी यात्राओं पर सवाल उठाते हुए कहा कि  मुख्यमंत्री विदेशी निवेश के नाम पर विदेश यात्रा करके जनता के पैसों का दुरूपयोग कर रहे हैं, उन्होंने मांग की कि मुख्यमंत्री अपनी विदेश यात्राओं पर श्वेत पत्र जारी करके बताए कि प्रदेश में निवेश करने हेतु किन-किन देशों से करार हुए है। 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार ने 48 करोड़ का हवाई जहाज खरीद कर जनता के पैसे पर ऐश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को सरकार ने अपमानित किया तथा उन्हें अभी तक ईनाम देने की घोषणा नहीं कि एक प्रश्र के उतर में उन्होंने कहा कि सरकार विभिन्न महापुरुषों व गीता जयंती के नाम पर अपना राजनीतिक उल्लू सीधा करती है। मुख्यमंत्री कभी कबड्डी तो कभी गुल्ली डंडा खेल रहे हैं जबकि मुख्यमंत्री का काम जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं को हल करने का है तथा विकास की योजनाएं बनाकर उनको लागू करवाने का काम होता है। मुख्यमंत्री को जनता के हितों से कोई लेना देना नही है। इनेलो नेता ने कहा कि जनता सब कुछ समझ चुकी है तथा आने वाले चुनाव में इस सरकार को सत्ता से बेदखल कर देगी। उन्होंने कहा कि इनेलो के सत्ता में आने पर बेरोजगार युवकों को भत्ता दिया जाएगा, गरीब कन्या की शादी में 5 लाख रूपये कन्या दान दिया जाएगा तथा बुढ़ापा व विधवा पैंशन 2500 रूपये प्रतिमाह दी जाएगी। इस मौके पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, फतेहाबाद के विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, पूर्व चैयरमैन अमीर चंद चावला व हरि सिंह सहित अन्य पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।
हरियाणवी समाज के उत्थान के लिए दलाल खाप अभय चौटाला को करेगी सम्मानित 


हरियाणवी समाज के उत्थान व विकास में चौधरी अभय सिंह चौटाला के योगदान के लिए दलाल खाप उन्हें 27 जून को खाप पंचायत मुख्यालय मांढ़होटी में सम्मानित करेगी। यह बात चौरासी दलाल खाप प्रधान भूप सिंह ने नेता विपक्ष से मिलने पर कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाडिय़ों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने और पहचान बनाने की नींव भी अभय चौटाला के हरियाणा ओलम्पिक संघ के अध्यक्ष होते ही रखी गई थी। दलाल खाप के प्रतिनिधियों ने यह भी कहा कि नेता विपक्ष खेलों व जनता के सामाजिक सरोकार के प्रहरी हैं। जिस प्रकार वह हर वर्ग से जुड़े मुद्दों को सरकार के सामने रखते हैं और उनका हल निकलवाने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं उसके चलते अभय सिंह चौटाला जाति विशेष के न होकर 36 बिरादरी के नेता हैंं। प्रदेश में आपसी भाईचारे के लिए उनके  द्वारा किए जा रहे प्रयासों के लिए वह बधाई के पात्र हैं। इसी लिए दलाल खाप ने उन्हें सम्मानित करने का फैसला लिया है।
यह कोई पहला अवसर नहीं है कि दलाल खाप किसी जाट नेता को सम्मानित कर रही हो। इससे पहले भी यह खाप जननायक चौधरी देवीलाल को सम्मानित कर चुकी है। खाप प्रधान ने कहा कि अभय सिंह चौटाला भी जननायक के पदचिह्नों पर चल रहे हैं। जिस प्रकार से हरियाणा प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए जलयुद्ध में संघर्षरत हंै उससे जान पड़ता है कि  उनकी कार्यशैली पर स्वर्गीय देवीलाल की सोच का गहरा असर है। इस अवसर पर खाप अध्यक्ष के साथ चार प्रतिनिधियों का दल भी इनेलो नेता से मिला जिसमें मनीष दलाल, मान सिंह दलाल, कर्मबीर दलाल और भूपेंद्र सिंह फरारी भी शामिल थे।

भाजपा सरकार का जनहित से कोई नाता नहीं- दुष्यंत चौटाला


हिसार: भाजपा सरकार का जनहित से नजदीक नजदीक कोई वास्ता नही है। हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने भाजपा सरकार को किसान व युवा विरोधी करार देते हुए यह बात कही। इस दौरान गांव बिठमड़ा में 15 परिवारों ने सांसद की मौजूदगी में कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा के जो नेता पिछली सरकार के समय किसान, युवा व कर्मचारी हितेषी होने का दम भरते थे और अर्धनग्न होकर प्रदर्शन करते थे। आज भाजपा के लगभग चार साल के शासनकाल के बाद भी वे लोग चुपचाप सत्ता का आनंद ले रहे है। वे लोग तो जनता से किये वायदों को भूल चुके है परन्तु जनता को हर बात याद है और समय आने पर उन्हें जनता सबक भी सीखा देगी। इनेलो सांसद चौटाला ने कहा कि प्रदेश में पानी के लिये हाहाकार मचा हुआ है परन्तु मुख्यमंत्री पाकिस्तान को जाने वाले पानी को रोकने की बात कर रहे है जबकि एस वाई एल पर माननीय सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बावजूद भी मुख्यमंत्री उसे लेकर कोई कदम उठाना तो दूर उस पर एक शब्द बोलना भी उचित नही समझते। पूरा प्रदेश जानता है कि प्रदेश में पानी की समस्या का समाधान केवल एस वाई एल का पानी मिलने के बाद ही सम्भव है। अब तो इस पर सुप्रीम कोर्ट की मोहर भी लग चुकी है और साथ ही साथ यह निर्देश भी दिया गया है कि केंद्र सरकार किसी एजेंसी से पूर्ण सुरक्षा के दायरे में इसका बचा हुआ निर्माण कार्य पूरा करवाकर हरियाणा प्रदेश को उसके हक का पानी दिलवाए। परन्तु  प्रदेश भाजपा सरकार और केंद्र सरकार  इस मामले में कोई  कदम नही उठाया। उल्टा प्रदेश सरकार तो मामला कोर्ट में लंबित बताकर उल्टा जनता को गुमराह कर रही है। एस वाई एल का पानी मिलने के बाद जंहा सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी होगा वंही प्रदेश के हर क्षेत्र में पीने के पानी की भी कोई समस्या नही रहेगी। इनेलो सांसद ने कहा कि एस वाई एल को लेकर इनेलो हमेशा गम्भीर रही है । जब से इस पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया है तब से इनेलो लगातार भाजपा सरकार को जगाने का प्रयास करते हुए आंदोलनरत है और जनता का भी इसमे भरपूर समर्थन मिल रहा है। इस मौके पर इनेलो जिलाध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, विधायक अनूप धानक, कैप्टन छाजू राम ,युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा, सुनील बूरा, गुलाब सिंह खेदड़, कली राम खेदड़, सहित बहुत से इनेलो कार्यकर्ता उपस्थित थे।
जनसेवा मेरा दायित्व, कोई कसर नहीं छोडूंगा- दुष्यंत



मंडी आदमपुर(हिसार): जनसेवा मेरा परम् दायित्व है तथा जब से हिसार की जनता ने मुझे सांसद चुना है मेरी कोशिश रही है कि जनसेवा के कार्यों में कोई कोर कसर ना रहने दूं, हर जरूरतमंद के काम आ सकूँ। उक्त बात हिसार लोकसभा के सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे मंगलवार को स्थानीय किसान एग्रो इंडस्ट्रीज में पार्टी कार्यकर्ताओं और सरपंचों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आदमपुर विधानसभा के प्रति उनका दायित्व और भी बढ़कर है क्योंकि आदमपुर मेरा ननिहाल भी है और यहां से जो लाड़-प्यार मुझे मिला है उसको कभी भूला नहीं सकता। उन्होंने अपनी सांसद निधि से आदमपुर विधानसभा के सदलपुर, चौधरीवाली, कोहली, मल्लापुर, बीड़, दड़ोली, भोडिया बिश्नोईयां, चूली खुर्द, फ्रांसी, जगान, कालीरावण, जाखोद खेड़ा, खारिया, कुतियावाली, लाडवी, सुंडावास, न्योलीखुर्द आदि 17 गांवों की पंचायतो को पानी के टैंकर वितरित किये। उन्होंने कहा कि आदमपुर विधानसभा के राजस्थान के सीमावर्ती गॉवों में पीने के पानी की किल्लत चिंताजनक है तथा सरकार को इन गांवों में पानी को लेकर कोई ठोस योजना बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि एसवाईएल नहर हरियाणा की जीवन रेखा है तथा इनेलो प्रदेश की जनता को एसवाईएल का पानी हर हाल में दिलवाएगी। उल्लेखनीय है कि आदमपुर विधानसभा में इससे पहले भी सांसद एक दर्जन गांवों की पंचायतों को पानी के टैंकर उपलब्ध करवा चुके है। हल्के के सरपंचों ने टेंकर उपलब्ध करवाने हेतु उनका आभार जताया। इस अवसर पर इनेलो नेता राजेश गोदारा, पूर्व जिला पार्षद सिद्धार्थ गोदारा, तरसेम गोयल, पूर्व चेयरमैन हनुमान  बिश्नोई, अशोक यादव, जिला पार्षद रामप्रसाद गढ़वाल, अभिषेक बिश्नोई, जगदीश मोठसरा, प्रदीप पूनिया, मास्टर हरनाम सिंह, मास्टर दलबीर, राजा खीचड़, सरपंच दलीप मंडेरणा, चंद्रशेखर जाजूदा, सुग्रीव पंवार, सोनिया, कृष्ण पूनिया, सुभाष टाडा, मनोज शर्मा, महावीर जांगड़ा, रणवीर सिंह, प्रीतम महला, विकास बेनीवाल, प्रभु कस्वां, सज्जन डूडी, रामकुमार सहारण, देवेंद्र पहलवान, सुनील मुंड आदि मौजूद थे।


आदमपुर हलके के गांव खैरमपुर  में सांसद दुष्यंत चौटाला की उपस्थिति में कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई के समर्थक रहे लगभग 40 परिवारों ने इनेलो में शामिल होने की घोषणा की। ये पिछले कई वर्षों से कुलदीप बिश्नोई के समर्थक रहे है। इनेलो में शामिल होने वालों में सुरजीत बिश्नोई, मोहनलाल फौजी, जगदीश गोदारा, मुकेश गोदारा, आत्मा राम बिश्नोई, राम सिंह फौजी, त्रिवेणी गोदारा, मनजीत बिश्नोई, सन्दीप बिश्नोई, ओम प्रकाश बिश्नोई, कृष्ण बिश्नोई, हंसराज बिश्नोई, हेतराम बिश्नोई थे। इनेलो में शामिल हुए लोगो ने कहा कि कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई न तो आम लोगो से मिलते है और न ही किसी प्रकार की जनसमस्या का हल करवा पाते है। जब कि इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला जब से सांसद बने है तब से निरंतर जनता के बीच रहते है और सड़क से संसद तक लोगो की समस्या पुर जोर तरीके से उठाते है, सांसद दुष्यंत चौटाला की कार्यशैली और जनता के प्रति उनकी कर्तव्यपरायणता से प्रभावित होकर वे इनेलो में शामिल हो रहे है। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने इनेलो में शामिल परिवारों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि उन्हें इनेलो में पूरा मानसम्मान दिया जाएगा।
सांसद चौटाला ने कहा कि जब से वे सांसद बने है उनका प्रयास रहा है कि उनकी  लोकसभा के प्रत्येक गांव को बिजली पानी की सुविधा मिले। गांव के लोगो ने सांसद से एक पानी के टैंकर की मांग की तो सांसद ने पीने के पानी की व्यवस्था के लिये एक पानी का टैंकर अपनी सांसद निधि से देने की घोषणा की। इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, जुलाना से विधायक परमिंदर ढुल, उकलाना विधायक अनूप धानक, नरेश द्वारका, कृष्णा भट्टी सहित बहुत से इनेलो कार्यकर्ता उपस्थित थे।

सांसद दुष्यंत का रेलवेलाइन प्रोजेक्ट मंजूर




हिसार: सांसद दुष्यंत चौटाला की मांग पर रेलवे का एक और प्रोजेक्ट सिरे चढ़ने जा रहा है । अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो आदमपुर से भादरा रेल चलेगी। रेलवे अधिकारियों की एक टीम ने आज आदमपुर एवं भादरा में आकर रेलवे लाइन का सर्वे शुरू कर दिया है।अधिकारियों की टीम ने रेलवे लाइन बिछाने का रूट मैप बनाया तथा साथ में संभावित स्टेशनों की भी सूची तैयार की। यह टीम अगले सप्ताह तक सर्वे की रिपोर्ट अपने उच्च अधिकारियों को सौंप देगी।
रेलवे अधिकारियों ने जो रूट तैयार किया है उसके अनुसार भादरा से आदमपुर मंडी तक रेलवे लाइन की दूरी 43. 40 किलोमीटर होगी । पहला सर्वे आदमपुर से मोहब्बतपुर,मोडा खेड़ा, झांसल,छानी बड़ी, निनाण होते हुए भादरा तक लाइन बिछाने का किया है। दूसरा सर्वे भादरा से निनाण, छानी बड़ी,बिरान, दड़ौली होते हुए आदमपुर तथा तीसरा सर्वे भादरा से निनाण,छानी बड़ी,झांसल, घुड़साल, बगला, सीसवाल होते हुए आदमपुर का है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि आदमपुर को गोगामेडी से जोड़ने के लिए वे पिछले 3 वर्षों से प्रयासरत हैं। उन्होंने बीकानेर एवं जयपुर स्वयं जाकर अधिकारियों से इस लाइन का सर्वे करने की मांग की थी। इसके बाद दिल्ली में अधिकारियों से कई बार मिले तथा तीन बार केंद्रीय रेल मंत्री से भी मिले। सांसद चौटाला ने कहा कि सर्वे होने से इस क्षेत्र में रेल लाइन बिछने की उम्मीद जगी है। उन्होंने कहा कि रेल चलने से आदमपुर क्षेत्र के लोगों को राजस्थान में जयपुर एवं बिश्नोई समाज के पवित्र स्थान मुकाम जाने में आसानी होगी। व्यापार के साथ-साथ आदमपुर क्षेत्र आर्थिक रूप से भी संपन्न होगा ।
सांसद चौटाला ने बताया कि इससे पहले उन्होंने आदमपुर रेलवे स्टेशन पर बैठने के लिए बेंच लगवाई थी तथा आदमपुर रेलवे स्टेशन की पुरानी बिल्डिंग को तोड़कर नई बिल्डिंग बनाने का भी प्रपोजल केंद्रीय रेल मंत्री के पास भेजा हुआ है। श्री चौटाला ने बताया कि आदमपुर रेलवे स्टेशन पर फुट ओवरब्रिज बनाने का मामला भी उन्होंने केंद्रीय मंत्री के सामने उठाया था, क्योंकि फाटक बंद होने के बाद रेलवे लाइन के पार का इलाका आदमपुर शहर से कट जाता है। श्री चौटाला ने बताया कि दो वर्ष पूर्व उन्होंने भादरा रोड पर रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज भी मंजूर करवाया था जिसका काम भी जल्द ही शुरू होने वाला है।
नलवा व आदमपुर में पीने के पानी को लेकर सरकार गम्भीर नही -दुष्यंत चौटाला


हिसार: नलवा व आदमपुर के गांवों में लोगो के सामने जिस प्रकार से पीने के पानी की समस्या बढ़ती जा रही है, वह चिंताजनक है और भाजपा सरकार इस मामले पर बिलकुल भी गम्भीर नही है। इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने भाजपा सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि पिछले लगभग चार वर्षों से लगातार इस क्षेत्र की जनता पानी के लिये संघर्षरत है परंतु सत्ता में बैठे जनप्रतिनिधियों के कान पर जूं तक नही रेंग रही।  उन्होंने कहा कि पानी की समस्या का सम्पूर्ण समाधान एस वाई एल का निर्माण करके उसके हिस्से का पानी मिलने पर ही सम्भव है। इसी को ध्यान में रखते हुए इनेलो एस वाई एल के लिये आर पार की लड़ाई लड़ रही है  जिसमे अपारजनसमर्थन मिल रहा है। इस मौके पर उन्होने हल्के के गांव चारनोंद, दाहिमा, रावलवास खुर्द, भेरियां, शाहपुर, ढाणी जाटान, तलवंडी रुक्का व भोजराज की ग्राम पंचायतों को पीने के पानी के टैंकर भेंट किये। सांसद ने ये टैंकर अपनी सांसद निधि से तैयार करवाये। वे इससे पहले भी दर्जनों गांवों में पानी के टैंकर दे चुके है। सांसद के इस कार्य की गांवों में काफी सराहना हो रही है। इस मौके पर सांसद चौटाला ने लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार का लोगो की मूल जरूरतों की तरफ कोई ध्यान नही है। जब वे गांवों में जाते थे लोग उनसे पीने के पानी की समस्या का जिक्र करते थे तो उन्होंने पहले तो इसके लिये सरकार को लिखा परन्तु जब सरकार की तरफ से कोई कदम उठता नही दिखा तो उन्होंने अपनी सांसद निधि से अपनी लोकसभा के प्रत्येक उस गांव में जिसमे पानी की समस्या है उसमें एक पानी का टैंकर देने का निर्णय लिया है। सांसद चौटाला ने कहा कि नलवा व आदमपुर हल्के के किसान तो पानी के लिये कई बार धरना भी दे चुके है परंतु हर बार सरकार की तरफ से झूठे आश्वासन देकर धरना खत्म करवा दिया जाता है। परंतु समस्या आज ज्यों की त्यों है। जनता पानी के लिये त्राहि त्राहि कर रही है, परन्तु भाजपा अपने आप को महिमामण्डित करते हुए रोड शो कर रही है।


उन्होंने मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पाकिस्तान से पानी लाने की बात तो कर रहे है परन्तु एस वाई एल पर माननीय सुप्रीम कोर्ट का फाइनल फैसला आने के बाद भी इस मसले पर एक शब्द भी बोलना उचित नही समझते।
इस मौके पर इनेलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, इनेलो महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्षा शीला भ्याण, पूर्व चौयरमेन सतबीर वर्मा, बसपा जिला अध्यक्ष राज कपूर पाली, इनेलो हलकाध्यक्ष सतपाल सरपंच, बसपा हलकाध्यक्ष रविन्द्र चौहान, युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा, मेवा सिंह बागड़ी, अनूप धनखड़, राजेश झाझडि़या, सोमबीर शेयोरान, परवीन ढांडा, एडवोकेट समर्थ सांगवान, निर्मला दहिया, कृष्णा खर्ब सहित बहुत से इनेलो बसपा कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

Friday, June 15, 2018

भाजपा सरकार आंदोलन में भाग लेने पर जनता को डरा धमका रही है- अभय चौटाला

  
सोनीपत, 15 जून: नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह ‘जेल भरो आंदोलन’ में भाग लेने के मुद्दे पर जनता को डरा-धमका रही है। यह बात उन्होंने एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल का निर्माण और प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए सोनीपत में हो रहे आंदोलन के दौरान कही। उन्होंने साथ में यह भी कहा कि अगर सरकार में हिम्मत है तो केवल एक दिन के लिए ही इनेलो-बसपा कार्यकताओं को जेल में बंद करके दिखाए। नेता विपक्ष ने केंद्र और राज्य सरकार पर एसवाईएल के निर्माण को लेकर प्रदेश की जनता को गुमराह करने का भी आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने की बजाए जनता को पानी न मिल इसके लिए नई-नई योजनाएं बना रही है। लेकिन इनेलो-बसपा गठबंधन हर आंदोलन में हजारों की तादाद में गिरफ्तारियां देकर सरकार को घुटने टेकने पर मजबूर कर देगा। उन्होंने सरकार को चेताते हुए यह भी कहा कि सरकार की नाकामियों के विरुद्ध लोगों की बढ़ती हाजरी भी इस बात का सबूत है कि वो प्रदेश के हकों के लिए किसी संघर्ष सेे नहीं डरते और सरकार को इस आंदोलन के आगे घुटने टेक कर नहर का निर्माण करवाना ही पड़ेगा। 


इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने का काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में इनेलो-बसपा गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्जमाफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। साथ ही हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए बुढ़ापा सम्मान पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी और प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी। उन्होंने याद दिलाया कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएंगे लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि मोदी ने वादा किया था कि कांग्रेसियों केे द्वारा लूटा गया कालाधन विदेशों से वापिस लाएंगे और हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी किसी भी नागरिक के खाते में 15 नए पैसे भी जमा नहीं हुए।
इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा राज में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। आज प्रदेश में दलित महिलाओं के साथ बलात्कार और यौन उत्पीडऩ जैसे संगीन अपराधों में वृद्धि हुई है और सरकार अपराधियों को गिरफ्तार कर दलितों को न्याय दिलवाने के बजाए उनके घर खाना-खाने का ढ़ोंग कर रही है। एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, इनेलो विधायक रणबीर गंगवा, पिरथी नम्बरदार, अनूप धानक, पूर्व विधायक मामू राम गोंदर, रामफल कुंडू व रणबीर मंदोला, पदम सिंह दहिया, डॉ. केसी बांगड़, ब्रिगेडियर ओपी चौधरी, इनेलो नेत्री प्रोमिला मलिक, इनेलो प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय, कृष्ण राठी, बसपा जिलाध्यक्ष सतबीर रंगा सहित 35 हजार 369 लोगों ने गिरफ्तारियां दी।
फीस वृद्धि के विरोध में इनसो गरजी, राज्यपाल के नाम वाइस चांसलर को सौंपा ज्ञापन


सिरसा। छात्र संगठन इनसो ने प्रदेशभर के तमाम विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में फीस वृद्धि के विरोध में गुरुवार को महामहिम राज्यपाल के नाम पर चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डॉ. विजय कायत को ज्ञापन सौंपा और इस निर्णय को शिक्षा विरोधी करार देते उसे वापस लेने का आग्रह किया।
इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन के नेतृत्व में सौंपे गए इस ज्ञापन में कहा गया कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में नए शैक्षणिक सत्र के लिए फीस वृद्धि का तुगलकी फरमान जारी किया गया है जिससे प्रदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण करना ज्यादा महंगा हो गया है। छात्र संगठन ने कहा कि एक ओर देश में सर्वशिक्षा अभियान जैसी योजनाओं पर हजारों करोड़ खर्च हो रहे हैं वहीं फीस वृद्धि के कारण गरीब व साधारण वर्ग के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा से वंचित रखने का प्रयास किया जा रहा है। अत्यधिक महंगी फीस व जटिल दाखिला प्रक्रिया के कारण गरीब व ग्रामीण आंचल के छात्र अपनी पढ़ाई बीच में ही छोडऩे पर मजबूर हैं। छात्र नेताओं ने उल्लेखित किया है कि महंगी शिक्षा प्रणाली के कारण बहुत से होनहार छात्र उच्च शिक्षा ग्रहण करने से वंचित रह जाते हैं, इसलिए छात्र संगठन इनसो का पुरजोर आग्रह है कि विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में फीस वृद्धि के इस निर्णय को अविलंब वापस लिया जाना चाहिए ताकि प्रदेश का हर वर्ग का बच्चा उच्च शिक्षा ग्रहण कर सके। ज्ञापन में कहा गया कि सस्ती व गुणवत्तापरक शिक्षा के बगैर सर्वशिक्षा अभियान जैसी योजनाओं का कोई महत्व नहीं है। उन्होंने महामहिम से आशा जताई कि वे फीस वृद्धि के इस शिक्षा विरोधी कदम को तुरंत वापस लेकर विद्यार्थियों के हित को तरजीह देंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन के अलावा इनसो के प्रदेश उपाध्यक्ष सौरभ शर्मा, मोहित शर्मा, अमन मोर, बसपा के जिलाध्यक्ष रविंद्र बाल्याण, इदूखान, विशाल बेनीवाल, अमनदीप गाट, राहुल, अमन गिल, ऋषिपाल सिद्धु, सतीश कुमार, प्रमोद सहारण, मुकेश खीचड़, संचय गोयल, कुलदीप भाटिया सहित छात्र संगठन के अनेक पदाधिकारी व सदस्य मौजूद थे।
इनसो को मजबूत बनाने का काम करें चुनाव तो खुद जीत जाएंगे- दिग्विजय चौटाला 


चंडीगढ़: इंडियन नेशनल स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) अगामी छात्र संघ चुनाव में चंडीगढ़ के सभी सात कॉलेज और विश्वविद्यालय की सभी सीटों पर विजय परचम लहराएगी। यह बात इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने छात्रों को संबोधित करते हुए चंडीगढ़ में कही। उन्होंने यह भी कहा कि यहां के छात्र चुनाव का रूझान हरियाणा प्रदेश की राजनीति का मूड दर्शाता है इसलिए छात्र नेता कड़ी मेहनत कर अपने संगठन को मजबूत करने का काम करें। इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यह भी कहा कि सभी उच्च शिक्षा संस्थानों में दाखिलों का समय चल रहा है तो यह हर इनसो सदस्य की जिम्मेदारी बनती है कि इन संस्थानों में नए छात्रों की हर संभव सहायता संगठन के लोग करे। उन्होंने यह भी कहा कि इनसो किसी प्रदेश, क्षेत्र व जाति विशेष का संगठन नहीं है यह डा. अजय सिंह चौटाला का लगाया और जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों से सींचा गया वह पौधा है जिसमें हर समाज, हर प्रदेश और हर सकारात्मक विचारधारा के लिए सम्मान और स्थान है।
दिग्विजय चौटाला ने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि छात्र इनसो को मजबूत बनाने का काम करें चुनाव तो खुद जीत जाएंगे। उन्होंने आगे यह भी कहा कि जिस प्रकार हरियाणा प्रदेश में बसपा-इनेलो गठबंधन है उसी तर्ज पर इन छात्र संघ चुनाव में सभी दलित छात्र संगठनों से सहयोग के लिए बात की जाएगी, क्योंकि इनसो और बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर जैसे संगठनों की विचारधारा समान है और समाज को जोडऩे वाली है। इनसो नेता ने छात्र संघ चुनावों को प्रदेश में होने वाले आम चुनाव और विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल बातते हुए कहा कि अगर इन चुनावोंं में आप जीतकर आते हो तो हरियाणा में सौ फीसदी इनेलो की सरकार बनेगी। प्रदेश की आबादी की लगभग 65 प्रतिशत वोटर युवा है जो इन चुनावों से प्रभावित होता है इस लिए इनसो को चंड़ीगढ में होने वाले छात्र संघ चुनाव को जीतने में कोई कोर-कसर नहीं छोडऩी है। साथ ही उन्होंने 5 अगस्त को इनसो स्थापना दिवस के अवसर पर सभी को कैथल आने का न्यौता भी किया।
इस बैठक में हिस्सा लेने वालों में इनसों राष्ट्रीय उपध्यक्ष जसविंद्र खैरा, गौतम नैन, अंकित, विनीत, अनिल ढुल, सुमित, सरब धालीवाल, पंकज, संजय सांगवान, विवेक, सचिन और विनोद सहित अनेक इनसो सदस्य शामिल थे।
हरियाणा स्कूल लेक्चरर एसोसिएशन ने अपनी मांगों को लेकर अभय चौटाला को सौंपा ज्ञापन 


सिरसा: हरियाणा में इनेलो की सरकार बनने पर लैक्चररों की पेंशन नीति में बदलाव करके उसे लागू  किया जाएगा और उनकी जो भी मांगे लंबे समय समय से लंबित पड़ी है उन्हें पूरा किया जाएगा। ये बात नेता प्रतिपक्ष और इनेलो के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला ने अपने सिरसा स्थित आवास पर हरियाणा स्कूल लैक्चरर एसोसिएशन की मांगों का ज्ञापन लेने के बाद कही। ज्ञापन देने वालों में सुरेन्द्र थोरी, कृष्ण खिचड़, राजकुमार कसवां, विधाधर बैनीवाल, प्रहलाद बैनीवाल, अमित मन्दूर, प्रेम कंबोज, सुनील वर्मा, रतन वर्मा, जसवंत बिरड़ा आदि मुख्य रूप से मौजूद थे। इस मौके पर उन्होने लैक्चररों से कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो आपका पूरा मामला में विधानसभा में भी उठाऊंगा और आपको न्याय दिलवाकर ही रहूंगा। लैक्चररों का ज्ञापन लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए अभय चौटाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने समय में ठेका प्रथा शुरू करके अपनी जेबें भरने का काम किया और उसका नतीजा ये निकला कि आज 53000 कच्चे कर्मचारी सुप्रीम कोर्ट द्वारा कांग्रेस की पॉलिसी को खारिज करने के कारण सड़कों पर है। उन्होने कहा कि आज चाहे प्रो.हो या अध्यापक सभी ठेका प्रथा के अंतर्गत काम कर रहे है और यही हाल हर सरकारी विभाग में नजर आ रहा है। उन्होने कहा कि सरकार नए लोगों को सरकारी नौकरी में युवाओं को मौका देने की बजाय रिटायर्ड हुए लोगों को ही दोबारा से कॉन्टैक्ट बेस पर काम पर रख रही है। उन्होने कहा कि आज भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण युवा और पढ़ा लिखा बेरोजगार घूम रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण आज हरियाणा प्रदेश का हर वर्ग सड़कों पर उतरा हुआ है लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नही रेंग रही है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार ने अपने घोषणा-पत्र में हरियाणा के लोगों से जो वायदे किए थे उनमें से किसी को भी पूरा नही किया,जिसके कारण हरियाणा का हर वर्ग सरकार के खिलाफ होता हुआ नजर आ रहा है। उन्होने कहा कि मंत्री-मुख्यमंत्री की नही मानते है और अधिकारी मुख्यमंत्री की बात नही मान रहे है,जिसका खामियाजा हरियाणा की आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के उस ब्यान को हास्यस्पद बताते हुए कहा कि हुड्डा किस हैसियत से काग्रेस के सत्ता में आने पर 3000 रूपये देने क ी पैशन देने की घोषणा कर रहे है जबकि वह वर्तमान मे काग्रेस के किसी भी पद पर नही है। इनेलो नेता ने कहा कि 1966 से 2005 तक हरियाणा पर 23000 का कर्ज था लेकिन हुड्डा के शासन काल में यह कर्ज बडकर 70000 करोड़ रूपये हो गया नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अपनी राजनैतिक जमीन तलाश रहे है और वह अनाप शनाप ब्यान बाजी करके जनता को गुमराह करने में लगे हुए है। उन्होने दावा जताते हुए कहा कि जिस तरह से हरियाणा का आम वर्ग दुखी और परेशान हो रहा है और सरकार के झूठे वायदों के खिलाफ सड़कों पर उतर चुका है,हरियाणा में अगली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की बनने वाली है। उन्होने कहा कि इनेलो के जेल भरो आंदोलन को अपार सफलता मिल रही है लेकिन सरकार एसवाईएल के मामले पर कुछ भी करने को तैयार नही है। उन्होने कहा कि अब हरियाणा का किसान और कमेरा वर्ग जाग चुका है और इनेलो के साथ पूरी तरह से खड़ा हुआ है इसलिए हम तब तक अपना संघर्ष जारी रखेगें जब तक हरियाणा को उसके हक का पानी नही मिल जाता।इससे पूर्व अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनकर उनका मौके पर निवारण किया और कार्यकर्ताओं से आहवान किया कि वो पूरी ताकत के साथ अगले साल होने वाले चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। इस मौके पर पूर्व मंत्री भागीराम,इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन,अशोक वर्मा,विनोद बैनीवाल,राकेश चाहर,रणबीर सरपंच,गुरविन्द्र सिंह,अजब ओला, सह-प्रवक्ता महावीर शर्मामुकेश रोहिल्ला,महेन्द्र मेहता आदि नेतागण मौजूद थे।

सांसद दुष्यंत का प्रयास लाया रंग, हिसार को मिली नई ट्रेन


हिसार: दक्षिण भारत की तरफ आवागमन करने वाले क्षेत्रवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। सांसद दुष्यंत चौटाला के प्रयासों से हिसार को तीन नई ट्रेनों की सौगात मिली है। जिसमें दक्षिण की ओर जाने वाली दो ट्रेनों को हिसार तक बढ़ा दिया गया है, वहीं एक ट्रेन, जिसका रात्रि को हिसार में ठहराव था, उसे चुरू तक कर दिया गया है। रेल भवन से इस बारे में मंगलवार को आदेश जारी कर दिए गए है।
विदित हो कि पिछले दिनों सांसद दुष्यंत चौटाला ने कई बार संबंधित अधिकारियों के साथ साथ केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात करते हुए हिसार के लिए ट्रेन चलाने की मांग को प्रमुखता के साथ उठाया था। उनका कहना था कि वासिंग यार्ड बनने के बाद हिसार में ट्रेनों का ठहराव किया जा सकता है। उनकी मांग पर अब रेल मंत्रालय ने तीन ट्रेनों का विस्तार किया है। जिसमें पहली ट्रेन जो एक्सप्रेस टेªन बीकानेर से सिकंदराबाद तक चलती थी, उसे अब हिसार तक बढ़ाते हुए हिसार- बीकानेर-सिकंदाराबाद कर दिया गया है। यह ट्रेन सप्ताह में दो बार चलेगी। इसके साथ ही एक अन्य एक्सप्रेेस ट्रेन कोयंबटूर-बीकानेर को भी हिसार तक बढ़ा दिया गया है। यह ट्रेन सप्ताह में एक दिन चलेगी। इन ट्रेनों के चलने से दक्षिण भारत के लिए हिसारवासियों को सप्ताह में तीन दिन ट्रेन मिल सकेंगी, जो पहले नहीं थी। इसी तरह सांसद दुष्यंत चौटाला की मांग पर पहले जो पैसेंजर ट्रेन लुधियाना से चलकर रात्रि को हिसार आकर रूकती थी, उसे भी अब चूरू तक बढ़ा दिया गया है। यह ट्रेन लुधियाना से चलकर रात्रि आठ बजे हिसार पहुंचेगी और चूरू के लिए रवाना होगी। वहीं सुबह यही ट्रेन चूरू से चलकर सुबह आठ बजे हिसार पहुंचेगी। इस ट्रेन के विस्तार से सिवानी, झूंपा, राजगढ़ की तरफ आवागमन सुगम होगा। सांसद चौटाला ने इसके लिए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का आभार जताया और विश्वास जताया कि उनकी मांग पर जल्द ही अन्य नई सौगातें भी हिसार को मिलेंगी।


जेल भरो आंदोलन को लेकर घर घर न्यौता दें कार्यकर्ता- राजेंद्र लितानी


हिसार: एसवाईएल को लेकर शुरू किए गए आंदेालन के तहत इंडियन नेशनल लोकदल और बहुजन समाज पार्टी की ओर से 22 जून को नई अनाज मंडी में जोरदार प्रदर्शन करते हुए सामुहिक गिरफ्तारियां दी जाएगी। इस जेल भरो आंदोलन में जिले भर के इनेलो व बीएसपी कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस आंदोलन की तैयारियों को लेकर मंगलवार को इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी की अध्यक्षता में सिरसा रोड स्थित देवीलाल सदन में इनेलो पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। जिसमें कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को जिम्मेदारियां सौंपते हुए इस आंदोलन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।
बैठक को संबोधित करते हुए इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि एसवाईएल का पानी प्रदेश की जीवन रेखा है। लेकिन इस मामले को लेकर माननीय सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने के बावजूद बीजेपी सरकार ढुल मुल रवैया अपना रही है, जिससे प्रदेश के लोगों में भारी रोष है। इनेलो एसवाईएल को लेकर प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़े हुए है और एसवाईएल का पानी लाकर ही यह आंदोलन समाप्त होगा। उन्होंने कहा कि 22 जून को नई अनाज मंडी में किए जाने वाले जेल भरो आंदोलन में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला मुख्य वक्ता के तौर पर शिरकत करेंगे। वहीं जेल भरो आंदोलन के प्रभारी के तौर पर स्थानीय सांसद दुष्यंत चौटाला विशेष तौर पर उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों से आह्वान किया कि वे इस आंदोलन को लेकर घर घर जाकर न्यौता दें ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग इस आंदोलन का हिस्सा हों और अपने हक की आवाज को बुलंद किया जा सके। उन्होंने कहा कि जब से इनेलो व बीएसपी का गठबंधन हुआ है, बीजेपी व कांग्रेस के होश उड़े हुए है। लोगों को अब विश्वास हो गया है कि प्रदेश का भविष्य सही अर्थों में इनेलो बीएसपी गठबंधन के हाथों में ही सुरक्षित है और 22 जून को उमड़ने वाली भीड़ से यह साबित भी हो जाएगा। इस मौके पर विधायक वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा,  राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, चतर सिंह, राजेश गोदारा, हलका अध्यक्ष सजन लावट, सतबीर सिसाय, सत्यवान बिछपडी, सतपाल सरपंच, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा, पूर्व आईपीएस राज सिंह मोर, हरफूल खान भट्टी, बहादुर सिंह नायक, डॉ अनन्त राम बरवाला, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, शन्नो देवी, डॉ राज कुमार दिनोंदिया, मनीष गोयल, तरुण जैन, डॉ सत्यनारायण मंगाली, विपिन गोयल, रवि आहूजा, राज कुमार जांगड़ा, मोहित अरोड़ा, राजीव शर्मा, अमित ग्रोवर, शगुन भारद्वाज, महाबीर खर्ब, कर्ण सिंह दैपल, अभिषेक बिश्नोई, सुनील बूरा, परवीन ढांडा, कैप्टन छाजू राम, मास्टर गुलाब सिंह, धोलू गोदारा, अशोक यादव सहित काफी संख्या में इनेलो पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tuesday, June 12, 2018

कांग्रेस की मंशा इनेलो पार्टी को ख़त्म करने की थी - अभय चौटाला 


जींद, 12 जून: एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए जींद में हुए जेल भरो आंदोलन के दौरान आज 20 हजार से भी ज्यादा इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारी से पूर्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जींद जिले का इतिहास रहा है कि यहीं से सत्ता परिवर्तन होता है। इस आंदोलन में हजारों की संख्या में पहुंचे लोगों ने इस बात पर मुहर लगा दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी पिछले 19 महीनों से लगातार केंद्र और प्रदेश की सरकार के खिलाफ प्रदेश को उसके हिस्से का पानी दिलवाने के लिए आंदोलनरत है और इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर जेल जलयुद्ध संघर्ष में हिस्सा लेने वाले लोगों का नाम प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखने के साथ-साथ उन्हें सम्मानित भी किया जाएगा। 
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि एसवाईएल के निर्माण के लिए इनेलो-बसपा वचनबद्ध है आज सरकार के पास न जो आंदोलनकारियों की गिरफ्तारियों के लिए साधन है और न ही जेलों में जगह पर इनेलो अपने हर आंदोलन में साथियों की संख्या बढ़ाकर सरकार को झुकाने का काम करेगी ताकि प्रदेश की सरकार को मजबूर होकर नहर का निर्माण करवाना पड़े। 
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि कांग्रेस ने इनेलो के बड़े नेताओं को साजिश के तहत जेल भेजने का जो काम किया है उसके पीछे उसकी मंशा पार्टी को खत्म करने की थी लेकिन पार्टी का हर कार्यकर्ता बधाई का पात्र है जिसने पार्टी को पहले से भी ज्यादा मजबूती प्रदान की है। अब इनेलो उसे प्रदेश की राजनीति से बाहर का रास्ता दिखाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था। कांग्रेस के दस साल के भ्रष्टाचार से देश व प्रदेश की जनता बदलाव चाहती थी। लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी।
इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने का काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया, न तो एसवाईएल का निर्माण करवाया, न प्रदेश में 24 घंटे बिजली हुई। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्ज माफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि  हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी। इसके लिए उन्हें बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि प्रदेश की जनता आम चुनाव और विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहे। भाजपा के घटते जनाधार को देखते हुए केंद्र की सरकार समय से पहले ही देश और प्रदेश में चुनाव करा सकती है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा की रैलियों में बढ़ती भीड़ बदलाव की सूचक है जिसके कारण विरोधी दल अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।


एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा उत्तरी जोन के प्रभारी डा. मेघराज, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, बृज शर्मा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक परमेंद्र ढुल, पिरथी नम्बरदार, हरिचंद मिड्ढा, अनूप धानक, वेद नारंग पूर्व विधायक रामफल कुंडू, कलीराम पटवारी, सूरजभान काजला, रमेश खटक, महिला नेत्री शीला भ्यान, प्रदीप गिल, गुरदीप सांगवान सहित हजारों गठबंधन नेताओं ने गिरफ्तारियां दी।
भाजपा के राज में किसान बर्बादी की कगार पर- अशोक अरोड़ा 

कुरुक्षेत्र: इनेलो के कार्यवाह प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने आरोप लगाया कि भाजपा के राज में किसानों को मक्की की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा, जिस कारण किसान औने-पौने भाव अपनी मक्की की फसल बेचने को मजबूर है। उन्होंने कहा कि सरकार ने मक्की की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1425 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया हुआ है, जबकि किसानों की मक्की की फसल 1100 रुपये प्रति क्विंटल खरीदी जा रही है। अरोड़ा ने सरकार से मांग की कि मक्की की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य किसानों को दिया जाए, ताकि किसान बर्बाद होने से बच सके। जब से भाजपा की सरकार आई है तब से ही किसानों को लूटा जा रहा है। धान की फसल में भी नमी के नाम पर किसानों को लगभग 300 रुपये प्रति क्विंटल की राशि कम दी गई, जबकि जे फार्म निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य के रेट से काटे गए लेकिन किसानों को 250 से 300 रुपये प्रति क्विंटल कम रकम का भुगतान किया गया। इसी प्रकार फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों को लूटा गया। किसानों की बिना सहमति के फसल बीमा के प्रीमियम की राशि बैंकों द्वारा काट ली जाती है, जबकि फसल का नुकसान होने के बाद क्लेम के नाम पर किसानों को कुछ नहीं मिलता। भाजपा सरकार की नीतियों के कारण किसान बर्बादी की कगार पर खड़ा है। देश के इतिहास में यह पहला अवसर है जब किसानों को अपनी मांगों को लेकर 10 दिन तक हड़ताल करनी पड़ी। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने का वायदा किया था लेकिन सत्ता मिलते ही भाजपा सरकार अपने चुनावी वायदों को भूल गई। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश का हर वर्ग भाजपा सरकार की नीतियों से दुखी है। प्रत्येक विभाग के कर्मचारी आंदोलन की राह पर हैं। कानून व्यवस्था का दिवाला पिट चुका है। किसी की भी जान-माल सुरक्षित नहीं है। भाजपा सरकार की नीतियों के कारण छोटे और मंझले व्यापारियों का काम धंधा ठप होकर रह गया है, युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। मजदूर वर्ग को रोटी के लाले पड़े हुए हैं, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इन सब से बेखबर उत्सव मनाने और गिली डंडा खेलने में लगे रहते हैं। उन्हें जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। अरोड़ा ने कहा कि आगामी चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा और प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में बनेगी। 


भाजपा और कांग्रेस के कुशासन से दु:खी होकर दर्जनों परिवार इनेलो में हुए शामिल


इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी को आज उस समय बड़ी कामयाबी मिली जब राठधना गांव के दर्जनों परिवारों ने भारतीय जनता पार्टी को अलविदा कह कर इनेलो पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर इनेलो पार्टी के जिलाध्यक्ष एवं रोहट हल्का से पूर्व विधायक पदम सिंह दहिया ने इनेलो पार्टी का पटका पहनाकर सभी नए सदस्यों का स्वागत किया और उन्हें आश्वासन दिया कि पार्टी में उन्हें पूरा मान-सम्मान दिया जायेगा। शामिल होने में प्रमुख रूप से रामवीर, मोनू ,प्रिंस, राकेश,नफे के परिवार के दर्जनों नव युवकों ने इनेलो पार्टी की नीतियों में आस्था जताई और कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी ने हमेशा उन्हें ठगने का काम किया है और हरियाणा का रखवाला केवल चौधरी ओम प्रकाश चौटाला है। इस मौके पर खरखोदा हलका अध्यक्ष अशोक राणा, युवा जिला अध्यक्ष कुणाल गहलावत, पंडित रामपत मोनू शर्मा, कृष्ण सरोहा, काला, राजेश सरोहा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे
किसानों के आंदोलन को इनेलो ने दिया समर्थन 
किसानों द्वारा आयोजित आज भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ दसवें दिन किसानों धरने पर पहुँच कर इनेलो नेता पदम सिंह दहिया ने समर्थन दिया और कहा कि आज किसान खून के आंसू रो रहे हैं । भाजपा सरकार ने किसानों के विरोध में सारी नीतियां बनाई हैं , न तो स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट अब तक लागू की और डीजल के रेट सातवें आसमान पर पहुंच चुके हैं ।खाद, बीज,  दवाई के रेट आज आसमान छु रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी ने फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के खातों से जबरदस्ती रुपए काटकर एक लगान लगाने का काम किया है। किसानों को फसलों के उचित दाम नहीं दे रही। किसान आज सड़क पर उतर चुके हैं और इनेलो पार्टी उनके साथ हर संघर्ष में साथ देने का काम करेगी। इसके बाद वहां उपस्थित दर्जनों किसानों ने भारतीय जनता पार्टी का पुतला फूंका और सरकार विरोधी नारे लगाए। इस मौके पर हल्का अध्यक्ष अशोक राणा युवा जिला अध्यक्ष कुणाल गहलावत प्रदेश संगठन सचिव संदीप युवा प्रधान महासचिव विकास मलिक आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे.।
एसवाईएल को लेकर 22 जून को हिसार में ऐतिहासिक होगा जेल भरो आंदोलन- दुष्यंत चौटाला




हिसार: एसवाईएल नहर के निर्माण में प्रदेश मनोहर लाल खट्टर सरकार और केंद्र की मोदी सरकार द्वारा बरती जा रही ढील के चलते प्रदेश के लोगों में भारी रोष है और सरकार जानबूझ कर एसवाईएल नहर निर्माण का रोके हुए। सरकार के इस रवैये के विरोध में हिसार जिले के हजारों लोग जेल भर कर सरकार के प्रति अपना रोष प्रदर्शित करेंगे और हिसार को जेल भरो आंदोलन ऐतिहासिक होगा। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे शनिवार को यहां चौ. देवीलाल सदन में आयोजि इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं की संयुक्त बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में एसवाईएल को लेकर  22 जून को हिसार में प्रस्तावित जेल भरो आंदोलन के बारे में गहन विचार विमर्श करते हुए दोनों दलों के पदाधिकारियों की डयूटियां लगाई गई।
सासंद चौटाला ने गठबंधन के  कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि इनैलो-बसपा गठबंधन हरियाणा के हकों के लिए सच्ची लड़ाई लड़ रहा है। आगामी 22 जून को स्थानीय अनाज मंडी हिसार में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार एसवाईएल नहर का पानी लाने के लिए केंद्र व प्रदेश की बीजेपी सरकार की आंखें खोलने के लिए जेल भरो आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस जिलास्तरीय जेल भरो आंदोलन में रिकार्ड तोड़ भीड़ जुटेगी। गठबंधन के नेता टीमें बनाकर गांव-गांव जाकर आम जनता को उनके हकों के प्रति जागरूक करते हुए जेल भरो आंदोलन का निमंत्रण देंगे। सांसद चौटाला ने कहा कि गठबंधन की तरफ से इससे पूर्व कई जिलों में सरकार विरोधी सफल जेल भरो आंदोलन हो चुका है।
इस अवसर पर बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति ने कहा कि बसपा ने भी सातों हलकों के प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं और इनेलो हलका प्रभारियों के साथ मिल कर इस जेल भरों आंदोलन के लिए जनसंपर्क अभियान चलाएंगे। उन्होंने कहा कि जेल भरो आंदोलन में जिले भर से हजारों की संख्या में बसपा कार्यकर्ता भाग लेंगे। बसपा नेता ने कहा कि कांग्रेस व भाजपा इनेलो-बसपा गठबंधन के बूरी तरह से घबराई हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आने वाली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की बनेगी।
इस मौके पर इनलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री हरि सिंह सैनी, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, जोन प्रभारी सुरेंद्र पंघाल,  वरिष्ठ इनेलो नेता राजेश गोदारा, इनेलो महिला प्रकोष्ठ की प्रदेशाध्यक्षा शीला भ्याण, पूर्व चैयरमैन सतबीर वर्मा, बसपा जिला प्रभारी बलराज सातरोड, बसपा जिलाध्यक्ष राज कपूर पाली,  हल्का अध्यक्ष सजन लावट, सतबीर सिसाय, राज सिंह मोर, चत्तर सिंह, भागीरथ नम्बरदार, राव इंद्र फौजी, रणधीर पुनिया, सतपाल सरपंच, सत्यवान बिछपडी, डॉ राज कुमार दिनोंदिया, मास्टर गुलाब सिंह,सतपाल पालु, बहादुर सिंह नायक, बसपा जिला महासचिव बजरंग इंदल, इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, इनेलो युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा, बसपा नेता मेवा सिंह, हरि सिंह बगला, शमशेर डाबड़ा, महेंद्र धानिया, मनोज प्रभाकर, कृष्ण सैनीपुरा, रविन्द्र चौहान, दिलबाग डोभी, इनेलो युवा हलकाध्यक्ष रवि आहूजा, राजमल काजल, शन्नो देवी, ललिता टांक, महाबीर खर्ब, सुनील रावत, भजन सिंह रावत, निगम पार्षद मास्टर प्रह्लाद, जिला पार्षद राम प्रशाद गढ़वाल,  विक्रांत बागड़ी, अमरदीप सम्भरवाल, तारा चंद ओड,  शंकर गहलोत, मुकेश डुलगच,अमित ग्रोवर सहित भारी संख्या में इनेलो बसपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे।
कुलदीप समर्थक पार्षद इनेलो में शामिल


हांसी:  कुलदीप बिश्नोई के कट्टर समर्थक रहे कुकू सरदार व उनकी पत्नी पार्षद हरपाल कौर अपने समर्थकों सहित कांग्रेस छोड़ इनेलो में शमिल हो गए। उन्होंने यह घोषणा शनिवार को इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला ने हांसी में अपने आवास पर की। कुकू सरदार ने इस अवसर पर सांसद दुष्यंत के लिए जलपान कार्यक्रम का आयोजन किया। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कुकू सरदार को हरा पटका देकर उन्हें पार्टी में शामिल किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कुकू सरदार व उनके समर्थकों के इनेलो में शािमल होने से पार्टी को मजबूती मिली है और पार्टी में उनका पूरा मान-सम्मान किया जाएगा। यहां बता दें कि कुकू सरदार की धर्मपत्नी हरपाल कौर दो बार पार्षद बनी हैं और वर्तमान में वार्ड नंबर 8 से पार्षद हैं। इसके अलावा कुकू सरदार की पुत्रवधु डिंपल कौर भी एक बार पार्षद रह चुकी हैं।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा का  लोगों का पूरी तरह से मोह भंग हो चुका है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पिछले दस वर्ष के कुशासन से जनता देख चुकी है और वर्तमान में पिछले चार वर्षों से भाजपा के शासन जनविरोधी शासन को झेल रही है। उन्होंने कहा कि इनेलो ने हमेशा ही जनता के हितों के लिए संषर्घ किया है और  इनेलो नेता जनता के बीच रहते हैं। 


सोच कर हैरानी होती है भाजपा इतनी अनुभहीन सरकार है- दिग्विजय चौटाला
 
खिलाड़ियों की मार्केटिंग मामले में सरकार की खेलों के प्रति सोच की खोली पोल


भिवानी: देश जहां  2013 के लोकसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस के घोटालों से सुर्खियों में था वहीं हरियाणा के अंदर हुड्डा राज में मानेसर घोटाले ने प्रदेश की किरकिरी करवाई हुई थी, और अब भाजपा की अनुभवहीन सरकार के दोयम दर्जे के नए-नए नियमों के कारण देश और प्रदेश सुर्खियों में है। भाजपा इतनी अनुभवहीन सरकार हो सकती है। इस बात पर सभी को हैरानी है क्योंकि चुनाव से पूर्व भाजपा के घोषणापत्र में बड़े-बड़े वायदे किए गए थे जो हवाई साबित हुए। यह बात इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने हैरानी व्यक्त करते हुए कहे। 
उन्होंने कहा कि अनुभवहीन सरकार के लापरवाह शासन के कारण खिलाडिय़ों तक को सोचने को मजबूर होना पड़ रहा है। बेरोजगार युवाओं को रोजगार देना तो बहुत दूर की बात है कच्चे कर्मचारी लगाना भी इनके बस की बात नहीं है, उपर से ग्रामीण स्तर के होनहार प्रतिभावान खिलाड़ी देश के लिए मैडल प्राप्त करते हैं तो उन्हें सरकार से नौकरी के साथ-साथ अच्छे सम्मान की आस रहती है। लेकिन मौजूदा सरकार ने तो सभी हदों को पार कर दिया था। इन लोगों ने खिलाड़ियों तक की मार्केटिंग करने की सोच ली थी। शुक्रवार को जब आनन फानन में बिना सोचे समझे खिलाड़ियों की आय में एक तिहाई आय सरकार की जेब में डालने का फरमान सुनाया गया था तो सरकार के इस फैसले से यह बात बिलकुल स्पष्ट हो गई थी कि यह सरकार केवल मात्र मार्केटिंग की सरकार है।इस सरकार को प्रदेश चलाने का जीरो स्तर पर भी अनुभव है। दिग्विजय ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर और खेल मंत्री अनिल विज को घटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि यह सब खिलाड़ियों के प्रति द्वेष भावना का प्रमाण है। हरियाणा सरकार की इस तरह तानाशाही नियमों को लागू करने की मंशा खिलाड़ियों के विरोध के बाद धरी की धरी रह गई। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि पूरा प्रक्ररण एक सोची समझी नीति के तहत लागू करवाने का था यदि इनेलो और खिलाड़ी इसका विरोध नहीं करते तो भाजपा सरकार इस तरह के दोयम दर्जे का नियम लागू भी करती।  
उन्होंने बताया कि किसानों के साथ ज्यादती और स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट को लागू न करना, छात्र संघ चुनाव के प्रति सरकार का गम्भीर न होना, बुढापा पैंशन किस्तों मेें देना, दलितों पर अत्याचार, आए दिन बलात्कार की घटनाएं, नौकरियों को छीना जाना पक्के किए गए कर्मचारियों को कच्चा करने का फरमान, आशा वर्करों का आए दिन रोड़ प्रदर्शन, पीने के लिए पानी तक न होना, महंगाई का लगातार बढऩा, प्रदेश को कोई भी नया प्रोजेक्ट ना मिलना, अस्पतालों में डाक्टरों की कर्मी और मूलभूत सुविधाएं न होना, शिक्षा के क्षेत्र में कोई नए प्रोजेक्ट का न आने पर दिग्विजय ने हैरानी व्यक्त की और कहा कि किसी प्रदेश की बागडोर इस तरह के अनुभवहीन लोगों के हाथ में भी हो सकती इस बात की कल्पना भी नहीं जा सकती है। उन्होंने मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों को खासकर स्वास्थ्य व खेल मंत्री अनिल विज को सद्बुद्धि प्राप्त हो इसके लिए भगवान से प्रार्थना भी की।

Friday, June 8, 2018

एसवाईएल को लेकर प्रदेश की जनता का संघर्ष व्यर्थ नहीं होने देंगे- अभय चौटाला 


फरीदाबाद: एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल का निर्माण और प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए हो रहे जलयुद्ध संघर्ष में हिस्सा लेने वाले लोगों का नाम प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। यह बात नेता विपक्ष ने फरीदाबाद में जेल भरो आंदोलन के दौरान कही। उन्होंने प्रदेश की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि उनका संघर्ष व्यर्थ नहीं जाएगा, सरकार को इस आंदोलन के आगे घुटने टेक कर नहर का निर्माण करवाना ही पड़ेगा।  नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी। इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया, न तो एसवाईएल का निर्माण करवाया, न प्रदेश में 24 घंटे बिजली हुई। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में इनेलो-बसपा गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्जमाफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। 


नेता विपक्ष ने भाजपा सरकार पर हर वर्ग को ठगने का आरोप लगाते हुए कहा कि इनेलो-बसपा कि सरकार बनने पर हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी। इसके लिए उन्हें बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। उन्होंने याद दिलाया कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएंगे लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि मोदी ने वादा किया था कि हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी किसी भी नागरिक के खाते में 15 नए पैसे भी जमा नहीं हुए।
युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने भी आंदोलनकारियों की सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा की जड़ेे हिल चुकी हैं। इसीलिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह देशभर में अपने सहयोगियों के मन टटोलते फिर रहें हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश का औद्योगिक हब कहलाने वाले फरीदाबाद में नोटबंदी के कारण सैकड़ों लघु उद्योग बंद हो चुके हैं जिसके कारण हजारों युवा बेरोजगार भी हुए हैं। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि प्रदेश की जनता आम चुनाव और विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहे। भाजपा के घटते जनाधार को देखते हुए केंद्र की सरकार समय से पहले ही देश और प्रदेश में चुनाव करा सकती है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा की रैलियों में बढ़ती भीड़ बदलाव की सूचक है जिसके कारण विरोधी दल अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।
एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, पूर्व स्पीकर गोपीचंद गहलोत, बसपा प्रदेश प्रभारी राजबीर सिंह, जिलाध्यक्ष बसपा रतिराम, इनेलो विधायक केहर सिंह रावत, पूर्व विधायक सुभाष चौधरी, ललित बंसल, जिला महिला अध्यक्ष जगजीत कौर, देवेंद्र चौहान, अरविंद भारद्वाज सहित आठ हजार चालीस लोगों ने गिरफ्तारियां दी।
अस्पतालों से मरीज गायब हो रहे हैं विज साहब- दिग्विजय चौटाला


भिवानी: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि विज साहब मीडिया के सामने बड़ी-बड़ी डींगे हांकते हैं लेकिन धरातल पर यदि गौर किया जाए तो पूरे प्रदेश के अंदर स्वास्थ्य व्यवस्था का दिवाला निकला हुआ है। उन्होंने कहा कि हालात इस कदर खराब हो चुके हैं कि अस्पतालों से मरीज गायब हो जाते हैं और सात दिन बाद अस्पताल के सीएमओ कार्यालय के पीछे लावारिस हालात में मरीज मृत पाया जाता है। ऐसी घटना के बावजूद भी अस्पताल प्रशासन को भनक तक नहीं लगती। इनेला नेता का इशारा भिवानी के चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल में पिछले दिनों 75 वर्षीय मरीज श्योताज की मौत की ओर था। दिग्विजय ने कहा कि यही नहीं रोहतक पीजीआई तक में स्वास्थ्य व्यवस्था का जनाजा निकला हुआ है। मरीजों के लिए बिस्तरे नहीं है, दवाइयां तो बहुत दूर की बात हैं। मरीज अस्पतालों की गैलरी में पड़े रहते हैं और स्वास्थ्य विभाग मूक दर्शक बन देखता रहता है।
इनेलो नेता ने कहा कि यदि बात डाक्टरों की की जाए तो अकेले भिवानी, हिसार, महेंद्रगढ़, सिरसा में जहां प्रत्येक अस्पताल में 50 से 55 डाक्टरों की आवश्यकता है वहीं मात्र 15 से 20 डाक्टर इस कार्य को करने में लगे रहते हैं। उन्होंने कहा कि भिवानी में झज्जर जिले के गौरिया निवासी 75 वर्षीय श्योताज की रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना ने स्वास्थ्य विभाग और खुद स्वास्थ्यमंत्री अनिल विज के पुख्ता इंतजामों की पोल खोल कर रख दी है। पिछले दिनों भी पूर्व मुख्यमंत्री मास्टर हुकुम सिंह की पीजीआई में इलाज में कोताई को लेकर भारी हंगामा हुआ था और ऐसी अनेकों घटनाएं पीजीआई जैसे बड़े स्वास्थ्य सैटरों में आए दिन होती हैं जिनकी जांच केवलमात्र स्वास्थ्य मंत्री के अखबारी ब्यान और फाइलों तक सिमट कर रह जाती हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार एक ओर तो आम नागरिक के लिए सरकारी अस्पतालों में पुख्ता इंतजामों का दावा कर रही है वहीं दूसरी तरफ मरीजों को पर्ची बनवाने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ती है। हालात ये हैं कि एक मरीज को डाक्टर तक पहुंचने के लिए चार से पांच घंटे लग जाते हैं। उपर से डाक्टरों की भारी कमी से मरीज की बीमारी के तय तक पहुंचना भी मुश्किल ही नजर आता है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को चुनौती देते हुए कहा कि यदि स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा प्रदेश में बेहतर स्तर पर हंै तो अनिल विज डाक्टरों की नियुक्ति के साथ-साथ प्रत्येक शहर के नागरिक अस्पताल की व्यवस्था का श्वेत-पत्र जारी करे नहीं तो वे अपने पद से त्यागपत्र दें।
खिलाड़ियों से लगान वसूलना चाहती है हरियाणा सरकार- दिग्विजय चौटाला


नई दिल्ली: हरियाणा की भाजपा सरकार खिलाड़ियों से अंग्रेजों की तरह लगान वसूलना चाहती है जिसका इनेलो जोरदार विरोध करती है और सरकार से मांग करते हैं कि इसको तुरंत वापिस लिया जाए। यह मांग इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दिग्विजय चौटाला ने आज नई दिल्ली में आयोजित एक प्रेसवार्ता में रखी।
इनेलो नेता ने  कहा कि इन्हीं खिलाड़ियों ने हरियाणा का नाम पूरी दुनिया में रोशना किया है। ये खिलाड़ी ही हमारे हरियाणा के ताज हैं और हरियाणा सरकार ने प्रोफेशनल खिलाड़ियों पर 33 प्रतिशत लगान लगा कर अंग्रेजों के राज की याद ताजा कर दी। हरियाणा सरकार, खेल मंत्री और आरएसएस प्रदेश में खेलों को खत्म करने पर तुली हुई है। खेल मंत्री विज की सोच अंग्रेजों से मिलती है। जब प्रदेश के मुख्यमंत्री चौधरी ओम प्रकाश चौटाला थे तब उन्होंने ‘पदक लाओ पद पाओ’ की योजना बनाई थी। इनेलो सदैव खिलाडिय़ों के साथ है और खिलाडिय़ों के साथ मिलकर उनकी आवाज को जोर शोर से उठाएगी और सरकार से 24 घंटे में इस तुगलकी फरमान को वापिस लेने की मांग करती है
उन्होंने शिक्षा का मुद्दा उठाते हुए बताया कि सरकार ने 59 कॉलेजों में मुख्य कोर्सेज को बंद करने की भी इनसो निंदा करती है। एक और तो सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने की बात करते हुए नए कॉलेज खोलने की बात करती है दूसरी ओर पुराने कॉलेजो में कोर्स को बन्द किया जा रहा है जो सरकार की कथनी और करनी में अंतर दिखता है
छात्र संघ चुनाव पर सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने 4 सप्ताह का समय मांगा था लेकिन आज 4 महीने बाद भी इन चुनावों के लिए किसी भी विश्वविद्यालय के कैलेंडर में कोई प्रावधान नहीं किया और न ही किसी प्रकार के बजट दिया गया जो सरकार की गलत मंशा को दर्शाता है। अब हमें एक बार फिर से आंदोलन का रास्ता चुनना होगा तथा इनसो के स्थापना दिवस 5 अगस्त को कैथल में इस आंदोलन की घोषणा की जाएगी तथा सरकार को झुकने पर मजबूर किया जाएगा। 

Thursday, June 7, 2018

दिग्विजय चौटाला ने इनेलो सरकार आने पर एम्स के रीजनल सेंटर डबवाली में बनावाने का ऐलान किया 




डबवाली 07 जून 2018: इंडियन नेशनल लोकदल की शहर इकाई द्वारा आज गांधी चौक डबवाली में शहर वासियों के साथ विचार विमर्श बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष व इनेलो के युवा नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने की। इनेलो की शहर इकाई द्वारा सभी शहर वासियों से अपील की गई थी कि व इनेलो व बसपा द्वारा आयोजित बैठक में पहुंच कर शहर की सभी मुख्य समस्यओं पर और शहर के हित में अपने विचार प्रस्तुत करें ताकि शहर की समस्याओं को दूर करने के लिए विधानसभा में और अन्य माध्यमों से पुरजोर तरीके से उठाया जा सके एंव समस्याओं का हल करवाया जा सके। बैठक स्थल पर शहर के व्यापारी व शहर वासियों ने भारी मात्रा में शिरकत की व अपनी समस्यओं की जानकारी दी। लोंगो द्वारा चौटाला सरकार के वक़्त शहर में किये गए कार्यों को याद किया। दिग्विजय सिंह चौटाला ने शहर के बीच 5 घंटे बिता कर शहर की समस्याओं पर बारीकी से विचार विमर्श किया दिग्विजय सिंह चौटाला ने शहर वासियों को सम्भोदित करते हुए कहा की आज में डबवाली में इनेलो पार्टी की बात करने नही आया हुँ, आज में अपने लोगों के बीच उनकी समस्या जानने आया हूँ। उन्होंने बताया कि बीजेपी सरकार की नीयत में खोट है, व डबवाली के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। उन्होंने कहा कि वो सरकार पर दबाव बनाकर कलेक्टर रेट में 50 फीसदी कटौती करवाकर नगर सुधार व नगरपरिषद के लगभग पिछले 70 साल से जो किरायेदार है उनको मालिकाना हक दिलवाया जाएगा। उन्होंने कांग्रेस द्वारा चलित नगर परिषद को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा शहर में फैली गंदगी के लिए कांग्रेस सीधे तौर पर जिम्मेवार है। दिग्विजय सिंह चौटाला ने एक बड़ा एलान किया कि वोह आज अपने शहर से वादा करते हैं कि इनेलो सरकार आने पर एम्स के रीजनल सेंटर डबवाली में बनाया जाएगा जिस से की कैंसर और भयंकर बीमारी से पीड़ित मरीजों को भारी राहत मिल सकेगी।
इनेलो ने उपमंडलाधिकारी के मार्फत मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार को नगरपरिषद व नगर सुधार की दुकानों पर लंबे अरसे से जो किराएदार हैं उनको दुकानों का मालिकाना हक दिया जाए व कलेक्टर रेट कम किया जाए और अधूरे पड़े अंडर ब्रिज का काम पूरा करने के लिए ज्ञापन सौंपा। पूर्व विधायक डॉ सीता राम ने सम्बोधन करते हुए नगर परिषद में फैले हुए भ्रष्टाचार के मुद्दे को पूरे जोरदार तरीके से उठाया और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर निशाना साधा। नगर सुधार मंडल के पूर्व चेयरमैन रणवीर राणा ने सम्भोधत करते हुए दिग्विजय सिंह जी को बताया की चौटाला सरकार के वक़्त चौ. ओम प्रकाश चौटाला द्वारा मैन बाजार की सभी दुकानों को बड़ा किया व दोनों तरफ दरवाज़े निकाल कर उन्हें मालिकाना हक दिया गया। उस वक़्त मुख्यमंत्री चौटाला साहब ने पूरे शहर में आरसीसी सड़कें बनवाई जिस से पहले आरसीसी सड़के नहीं बनाई जाती थी। युवा शहरी प्रधान विपिन मोंगा ने संबोधन करते हुए कहा कि डबवाली के युवा पिछले 14 साल से सरकारी नौकरी पाने के लिए भेदभाव का शिकार हो रहे हैं।
बैठक को नपापूर्व प्रधान टेक चंद छाबडा, शहरी प्रधान हरबंस भीटीवाला, शहरी महिला प्रधान ममता मिढ़ा ने भी संबोधित किया। बैठक में हल्का  प्रधान सरबजीत मसीतां, जथेदार जगसीर सिंह मांगेआना, पूर्व प्रधान नरिंदर बराड़, पर्वकत्ता रणदीप सिंह मटदादू , युवा ग्रामीण प्रधान करनवीर ओढां, राजबीर डबवाली, आशा वाल्मीकि, कृष्णा पुहाल, हरनेक सिंह मान, अशोक गुप्ता, लवली मेहता, अंकुश मोंगा, हैप्पी गिल, सुखविंदर सूर्य, संदीप गर्ग, के के सेठी, हरिप्रकाश शर्मा, धुन्नीदास गर्ग,  राजू मदान, सरदारी ग्रोवर, विजय पटवारी, राकेश गर्ग, काली मिढ़ा, नरेश मित्तल, नरेश मामू, परमिंदर अरोड़ा, रमेश काला प्रधान, सुखविंदर सरा, जगदीश अरोड़ा, अमरनाथ बागरी, विजय अरोडा, रवि सचदेवा, रिषि सेठी, सुरेश सोनी, दयानंद जल्लान्धरा, मंजीत पार्षद, जोगिंदर ढाल, गुरचरण नंबरदार, अजेश सिंगिकाट, पवन बंसल, जग्गा बराड़, ओम प्रकाश बागड़ी, राज बहादुर, रविंदर पादरी, कुलजीत मोंगा,दूनी चंद शर्मा, रिंका सेठी, सतपाल लोहगडिया, प्रेम बहल, सतपाल चावला, विक्की वर्मा, आदि मौजूद रहे।

लोगों द्वारा बताई गई मुख्य समस्याएँ।

1. अनाज मंडी से फाटक तक मैन सड़क का न बनना ।
2. कॉलोनी रोड का अधूरा काम और सड़क का घटिया बनाना।
3. पूरा शहर सफाई व्यवस्था से झूझ रहा है।
4. बिजली व पानी की भारी कमी व पीने वाला पानी दूषित है।
5. रेलवे अंडर ब्रिज का काम अधूरा पड़ा है।
6. शहर में नशे का बोलबाला है और समस्या नासूर बन चुकी है।
7. रोज़ाना लूट पाट, चोरी की घटनायें व कानून व्यवस्था बिल्कुल ठप है।
8. शहर में सीवर की व्यवस्था बिल्कुल नकारा है।
9. नगर परिषद में भरष्टाचार का बोलबाला।
10. रेलवे के लिफ्टिंग एरिया को शहर के बाहर किया जाए।
11. अधिकारीयो की स्थायी तौर पर नियुक्ति न होना।