Friday, June 15, 2018

भाजपा सरकार आंदोलन में भाग लेने पर जनता को डरा धमका रही है- अभय चौटाला

  
सोनीपत, 15 जून: नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह ‘जेल भरो आंदोलन’ में भाग लेने के मुद्दे पर जनता को डरा-धमका रही है। यह बात उन्होंने एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल का निर्माण और प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए सोनीपत में हो रहे आंदोलन के दौरान कही। उन्होंने साथ में यह भी कहा कि अगर सरकार में हिम्मत है तो केवल एक दिन के लिए ही इनेलो-बसपा कार्यकताओं को जेल में बंद करके दिखाए। नेता विपक्ष ने केंद्र और राज्य सरकार पर एसवाईएल के निर्माण को लेकर प्रदेश की जनता को गुमराह करने का भी आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने की बजाए जनता को पानी न मिल इसके लिए नई-नई योजनाएं बना रही है। लेकिन इनेलो-बसपा गठबंधन हर आंदोलन में हजारों की तादाद में गिरफ्तारियां देकर सरकार को घुटने टेकने पर मजबूर कर देगा। उन्होंने सरकार को चेताते हुए यह भी कहा कि सरकार की नाकामियों के विरुद्ध लोगों की बढ़ती हाजरी भी इस बात का सबूत है कि वो प्रदेश के हकों के लिए किसी संघर्ष सेे नहीं डरते और सरकार को इस आंदोलन के आगे घुटने टेक कर नहर का निर्माण करवाना ही पड़ेगा। 


इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने का काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में इनेलो-बसपा गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्जमाफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। साथ ही हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए बुढ़ापा सम्मान पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी और प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी। उन्होंने याद दिलाया कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएंगे लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि मोदी ने वादा किया था कि कांग्रेसियों केे द्वारा लूटा गया कालाधन विदेशों से वापिस लाएंगे और हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी किसी भी नागरिक के खाते में 15 नए पैसे भी जमा नहीं हुए।
इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा राज में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। आज प्रदेश में दलित महिलाओं के साथ बलात्कार और यौन उत्पीडऩ जैसे संगीन अपराधों में वृद्धि हुई है और सरकार अपराधियों को गिरफ्तार कर दलितों को न्याय दिलवाने के बजाए उनके घर खाना-खाने का ढ़ोंग कर रही है। एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, इनेलो विधायक रणबीर गंगवा, पिरथी नम्बरदार, अनूप धानक, पूर्व विधायक मामू राम गोंदर, रामफल कुंडू व रणबीर मंदोला, पदम सिंह दहिया, डॉ. केसी बांगड़, ब्रिगेडियर ओपी चौधरी, इनेलो नेत्री प्रोमिला मलिक, इनेलो प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय, कृष्ण राठी, बसपा जिलाध्यक्ष सतबीर रंगा सहित 35 हजार 369 लोगों ने गिरफ्तारियां दी।
फीस वृद्धि के विरोध में इनसो गरजी, राज्यपाल के नाम वाइस चांसलर को सौंपा ज्ञापन


सिरसा। छात्र संगठन इनसो ने प्रदेशभर के तमाम विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में फीस वृद्धि के विरोध में गुरुवार को महामहिम राज्यपाल के नाम पर चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डॉ. विजय कायत को ज्ञापन सौंपा और इस निर्णय को शिक्षा विरोधी करार देते उसे वापस लेने का आग्रह किया।
इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन के नेतृत्व में सौंपे गए इस ज्ञापन में कहा गया कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में नए शैक्षणिक सत्र के लिए फीस वृद्धि का तुगलकी फरमान जारी किया गया है जिससे प्रदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण करना ज्यादा महंगा हो गया है। छात्र संगठन ने कहा कि एक ओर देश में सर्वशिक्षा अभियान जैसी योजनाओं पर हजारों करोड़ खर्च हो रहे हैं वहीं फीस वृद्धि के कारण गरीब व साधारण वर्ग के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा से वंचित रखने का प्रयास किया जा रहा है। अत्यधिक महंगी फीस व जटिल दाखिला प्रक्रिया के कारण गरीब व ग्रामीण आंचल के छात्र अपनी पढ़ाई बीच में ही छोडऩे पर मजबूर हैं। छात्र नेताओं ने उल्लेखित किया है कि महंगी शिक्षा प्रणाली के कारण बहुत से होनहार छात्र उच्च शिक्षा ग्रहण करने से वंचित रह जाते हैं, इसलिए छात्र संगठन इनसो का पुरजोर आग्रह है कि विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में फीस वृद्धि के इस निर्णय को अविलंब वापस लिया जाना चाहिए ताकि प्रदेश का हर वर्ग का बच्चा उच्च शिक्षा ग्रहण कर सके। ज्ञापन में कहा गया कि सस्ती व गुणवत्तापरक शिक्षा के बगैर सर्वशिक्षा अभियान जैसी योजनाओं का कोई महत्व नहीं है। उन्होंने महामहिम से आशा जताई कि वे फीस वृद्धि के इस शिक्षा विरोधी कदम को तुरंत वापस लेकर विद्यार्थियों के हित को तरजीह देंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन के अलावा इनसो के प्रदेश उपाध्यक्ष सौरभ शर्मा, मोहित शर्मा, अमन मोर, बसपा के जिलाध्यक्ष रविंद्र बाल्याण, इदूखान, विशाल बेनीवाल, अमनदीप गाट, राहुल, अमन गिल, ऋषिपाल सिद्धु, सतीश कुमार, प्रमोद सहारण, मुकेश खीचड़, संचय गोयल, कुलदीप भाटिया सहित छात्र संगठन के अनेक पदाधिकारी व सदस्य मौजूद थे।
इनसो को मजबूत बनाने का काम करें चुनाव तो खुद जीत जाएंगे- दिग्विजय चौटाला 


चंडीगढ़: इंडियन नेशनल स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) अगामी छात्र संघ चुनाव में चंडीगढ़ के सभी सात कॉलेज और विश्वविद्यालय की सभी सीटों पर विजय परचम लहराएगी। यह बात इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने छात्रों को संबोधित करते हुए चंडीगढ़ में कही। उन्होंने यह भी कहा कि यहां के छात्र चुनाव का रूझान हरियाणा प्रदेश की राजनीति का मूड दर्शाता है इसलिए छात्र नेता कड़ी मेहनत कर अपने संगठन को मजबूत करने का काम करें। इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यह भी कहा कि सभी उच्च शिक्षा संस्थानों में दाखिलों का समय चल रहा है तो यह हर इनसो सदस्य की जिम्मेदारी बनती है कि इन संस्थानों में नए छात्रों की हर संभव सहायता संगठन के लोग करे। उन्होंने यह भी कहा कि इनसो किसी प्रदेश, क्षेत्र व जाति विशेष का संगठन नहीं है यह डा. अजय सिंह चौटाला का लगाया और जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों से सींचा गया वह पौधा है जिसमें हर समाज, हर प्रदेश और हर सकारात्मक विचारधारा के लिए सम्मान और स्थान है।
दिग्विजय चौटाला ने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि छात्र इनसो को मजबूत बनाने का काम करें चुनाव तो खुद जीत जाएंगे। उन्होंने आगे यह भी कहा कि जिस प्रकार हरियाणा प्रदेश में बसपा-इनेलो गठबंधन है उसी तर्ज पर इन छात्र संघ चुनाव में सभी दलित छात्र संगठनों से सहयोग के लिए बात की जाएगी, क्योंकि इनसो और बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर जैसे संगठनों की विचारधारा समान है और समाज को जोडऩे वाली है। इनसो नेता ने छात्र संघ चुनावों को प्रदेश में होने वाले आम चुनाव और विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल बातते हुए कहा कि अगर इन चुनावोंं में आप जीतकर आते हो तो हरियाणा में सौ फीसदी इनेलो की सरकार बनेगी। प्रदेश की आबादी की लगभग 65 प्रतिशत वोटर युवा है जो इन चुनावों से प्रभावित होता है इस लिए इनसो को चंड़ीगढ में होने वाले छात्र संघ चुनाव को जीतने में कोई कोर-कसर नहीं छोडऩी है। साथ ही उन्होंने 5 अगस्त को इनसो स्थापना दिवस के अवसर पर सभी को कैथल आने का न्यौता भी किया।
इस बैठक में हिस्सा लेने वालों में इनसों राष्ट्रीय उपध्यक्ष जसविंद्र खैरा, गौतम नैन, अंकित, विनीत, अनिल ढुल, सुमित, सरब धालीवाल, पंकज, संजय सांगवान, विवेक, सचिन और विनोद सहित अनेक इनसो सदस्य शामिल थे।
हरियाणा स्कूल लेक्चरर एसोसिएशन ने अपनी मांगों को लेकर अभय चौटाला को सौंपा ज्ञापन 


सिरसा: हरियाणा में इनेलो की सरकार बनने पर लैक्चररों की पेंशन नीति में बदलाव करके उसे लागू  किया जाएगा और उनकी जो भी मांगे लंबे समय समय से लंबित पड़ी है उन्हें पूरा किया जाएगा। ये बात नेता प्रतिपक्ष और इनेलो के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला ने अपने सिरसा स्थित आवास पर हरियाणा स्कूल लैक्चरर एसोसिएशन की मांगों का ज्ञापन लेने के बाद कही। ज्ञापन देने वालों में सुरेन्द्र थोरी, कृष्ण खिचड़, राजकुमार कसवां, विधाधर बैनीवाल, प्रहलाद बैनीवाल, अमित मन्दूर, प्रेम कंबोज, सुनील वर्मा, रतन वर्मा, जसवंत बिरड़ा आदि मुख्य रूप से मौजूद थे। इस मौके पर उन्होने लैक्चररों से कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो आपका पूरा मामला में विधानसभा में भी उठाऊंगा और आपको न्याय दिलवाकर ही रहूंगा। लैक्चररों का ज्ञापन लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए अभय चौटाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने समय में ठेका प्रथा शुरू करके अपनी जेबें भरने का काम किया और उसका नतीजा ये निकला कि आज 53000 कच्चे कर्मचारी सुप्रीम कोर्ट द्वारा कांग्रेस की पॉलिसी को खारिज करने के कारण सड़कों पर है। उन्होने कहा कि आज चाहे प्रो.हो या अध्यापक सभी ठेका प्रथा के अंतर्गत काम कर रहे है और यही हाल हर सरकारी विभाग में नजर आ रहा है। उन्होने कहा कि सरकार नए लोगों को सरकारी नौकरी में युवाओं को मौका देने की बजाय रिटायर्ड हुए लोगों को ही दोबारा से कॉन्टैक्ट बेस पर काम पर रख रही है। उन्होने कहा कि आज भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण युवा और पढ़ा लिखा बेरोजगार घूम रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण आज हरियाणा प्रदेश का हर वर्ग सड़कों पर उतरा हुआ है लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नही रेंग रही है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार ने अपने घोषणा-पत्र में हरियाणा के लोगों से जो वायदे किए थे उनमें से किसी को भी पूरा नही किया,जिसके कारण हरियाणा का हर वर्ग सरकार के खिलाफ होता हुआ नजर आ रहा है। उन्होने कहा कि मंत्री-मुख्यमंत्री की नही मानते है और अधिकारी मुख्यमंत्री की बात नही मान रहे है,जिसका खामियाजा हरियाणा की आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के उस ब्यान को हास्यस्पद बताते हुए कहा कि हुड्डा किस हैसियत से काग्रेस के सत्ता में आने पर 3000 रूपये देने क ी पैशन देने की घोषणा कर रहे है जबकि वह वर्तमान मे काग्रेस के किसी भी पद पर नही है। इनेलो नेता ने कहा कि 1966 से 2005 तक हरियाणा पर 23000 का कर्ज था लेकिन हुड्डा के शासन काल में यह कर्ज बडकर 70000 करोड़ रूपये हो गया नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अपनी राजनैतिक जमीन तलाश रहे है और वह अनाप शनाप ब्यान बाजी करके जनता को गुमराह करने में लगे हुए है। उन्होने दावा जताते हुए कहा कि जिस तरह से हरियाणा का आम वर्ग दुखी और परेशान हो रहा है और सरकार के झूठे वायदों के खिलाफ सड़कों पर उतर चुका है,हरियाणा में अगली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की बनने वाली है। उन्होने कहा कि इनेलो के जेल भरो आंदोलन को अपार सफलता मिल रही है लेकिन सरकार एसवाईएल के मामले पर कुछ भी करने को तैयार नही है। उन्होने कहा कि अब हरियाणा का किसान और कमेरा वर्ग जाग चुका है और इनेलो के साथ पूरी तरह से खड़ा हुआ है इसलिए हम तब तक अपना संघर्ष जारी रखेगें जब तक हरियाणा को उसके हक का पानी नही मिल जाता।इससे पूर्व अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनकर उनका मौके पर निवारण किया और कार्यकर्ताओं से आहवान किया कि वो पूरी ताकत के साथ अगले साल होने वाले चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। इस मौके पर पूर्व मंत्री भागीराम,इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन,अशोक वर्मा,विनोद बैनीवाल,राकेश चाहर,रणबीर सरपंच,गुरविन्द्र सिंह,अजब ओला, सह-प्रवक्ता महावीर शर्मामुकेश रोहिल्ला,महेन्द्र मेहता आदि नेतागण मौजूद थे।

सांसद दुष्यंत का प्रयास लाया रंग, हिसार को मिली नई ट्रेन


हिसार: दक्षिण भारत की तरफ आवागमन करने वाले क्षेत्रवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। सांसद दुष्यंत चौटाला के प्रयासों से हिसार को तीन नई ट्रेनों की सौगात मिली है। जिसमें दक्षिण की ओर जाने वाली दो ट्रेनों को हिसार तक बढ़ा दिया गया है, वहीं एक ट्रेन, जिसका रात्रि को हिसार में ठहराव था, उसे चुरू तक कर दिया गया है। रेल भवन से इस बारे में मंगलवार को आदेश जारी कर दिए गए है।
विदित हो कि पिछले दिनों सांसद दुष्यंत चौटाला ने कई बार संबंधित अधिकारियों के साथ साथ केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात करते हुए हिसार के लिए ट्रेन चलाने की मांग को प्रमुखता के साथ उठाया था। उनका कहना था कि वासिंग यार्ड बनने के बाद हिसार में ट्रेनों का ठहराव किया जा सकता है। उनकी मांग पर अब रेल मंत्रालय ने तीन ट्रेनों का विस्तार किया है। जिसमें पहली ट्रेन जो एक्सप्रेस टेªन बीकानेर से सिकंदराबाद तक चलती थी, उसे अब हिसार तक बढ़ाते हुए हिसार- बीकानेर-सिकंदाराबाद कर दिया गया है। यह ट्रेन सप्ताह में दो बार चलेगी। इसके साथ ही एक अन्य एक्सप्रेेस ट्रेन कोयंबटूर-बीकानेर को भी हिसार तक बढ़ा दिया गया है। यह ट्रेन सप्ताह में एक दिन चलेगी। इन ट्रेनों के चलने से दक्षिण भारत के लिए हिसारवासियों को सप्ताह में तीन दिन ट्रेन मिल सकेंगी, जो पहले नहीं थी। इसी तरह सांसद दुष्यंत चौटाला की मांग पर पहले जो पैसेंजर ट्रेन लुधियाना से चलकर रात्रि को हिसार आकर रूकती थी, उसे भी अब चूरू तक बढ़ा दिया गया है। यह ट्रेन लुधियाना से चलकर रात्रि आठ बजे हिसार पहुंचेगी और चूरू के लिए रवाना होगी। वहीं सुबह यही ट्रेन चूरू से चलकर सुबह आठ बजे हिसार पहुंचेगी। इस ट्रेन के विस्तार से सिवानी, झूंपा, राजगढ़ की तरफ आवागमन सुगम होगा। सांसद चौटाला ने इसके लिए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का आभार जताया और विश्वास जताया कि उनकी मांग पर जल्द ही अन्य नई सौगातें भी हिसार को मिलेंगी।


जेल भरो आंदोलन को लेकर घर घर न्यौता दें कार्यकर्ता- राजेंद्र लितानी


हिसार: एसवाईएल को लेकर शुरू किए गए आंदेालन के तहत इंडियन नेशनल लोकदल और बहुजन समाज पार्टी की ओर से 22 जून को नई अनाज मंडी में जोरदार प्रदर्शन करते हुए सामुहिक गिरफ्तारियां दी जाएगी। इस जेल भरो आंदोलन में जिले भर के इनेलो व बीएसपी कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस आंदोलन की तैयारियों को लेकर मंगलवार को इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी की अध्यक्षता में सिरसा रोड स्थित देवीलाल सदन में इनेलो पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। जिसमें कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को जिम्मेदारियां सौंपते हुए इस आंदोलन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।
बैठक को संबोधित करते हुए इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि एसवाईएल का पानी प्रदेश की जीवन रेखा है। लेकिन इस मामले को लेकर माननीय सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने के बावजूद बीजेपी सरकार ढुल मुल रवैया अपना रही है, जिससे प्रदेश के लोगों में भारी रोष है। इनेलो एसवाईएल को लेकर प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़े हुए है और एसवाईएल का पानी लाकर ही यह आंदोलन समाप्त होगा। उन्होंने कहा कि 22 जून को नई अनाज मंडी में किए जाने वाले जेल भरो आंदोलन में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला मुख्य वक्ता के तौर पर शिरकत करेंगे। वहीं जेल भरो आंदोलन के प्रभारी के तौर पर स्थानीय सांसद दुष्यंत चौटाला विशेष तौर पर उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों से आह्वान किया कि वे इस आंदोलन को लेकर घर घर जाकर न्यौता दें ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग इस आंदोलन का हिस्सा हों और अपने हक की आवाज को बुलंद किया जा सके। उन्होंने कहा कि जब से इनेलो व बीएसपी का गठबंधन हुआ है, बीजेपी व कांग्रेस के होश उड़े हुए है। लोगों को अब विश्वास हो गया है कि प्रदेश का भविष्य सही अर्थों में इनेलो बीएसपी गठबंधन के हाथों में ही सुरक्षित है और 22 जून को उमड़ने वाली भीड़ से यह साबित भी हो जाएगा। इस मौके पर विधायक वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा,  राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, चतर सिंह, राजेश गोदारा, हलका अध्यक्ष सजन लावट, सतबीर सिसाय, सत्यवान बिछपडी, सतपाल सरपंच, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा, पूर्व आईपीएस राज सिंह मोर, हरफूल खान भट्टी, बहादुर सिंह नायक, डॉ अनन्त राम बरवाला, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, शन्नो देवी, डॉ राज कुमार दिनोंदिया, मनीष गोयल, तरुण जैन, डॉ सत्यनारायण मंगाली, विपिन गोयल, रवि आहूजा, राज कुमार जांगड़ा, मोहित अरोड़ा, राजीव शर्मा, अमित ग्रोवर, शगुन भारद्वाज, महाबीर खर्ब, कर्ण सिंह दैपल, अभिषेक बिश्नोई, सुनील बूरा, परवीन ढांडा, कैप्टन छाजू राम, मास्टर गुलाब सिंह, धोलू गोदारा, अशोक यादव सहित काफी संख्या में इनेलो पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tuesday, June 12, 2018

कांग्रेस की मंशा इनेलो पार्टी को ख़त्म करने की थी - अभय चौटाला 


जींद, 12 जून: एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए जींद में हुए जेल भरो आंदोलन के दौरान आज 20 हजार से भी ज्यादा इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारी से पूर्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जींद जिले का इतिहास रहा है कि यहीं से सत्ता परिवर्तन होता है। इस आंदोलन में हजारों की संख्या में पहुंचे लोगों ने इस बात पर मुहर लगा दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी पिछले 19 महीनों से लगातार केंद्र और प्रदेश की सरकार के खिलाफ प्रदेश को उसके हिस्से का पानी दिलवाने के लिए आंदोलनरत है और इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर जेल जलयुद्ध संघर्ष में हिस्सा लेने वाले लोगों का नाम प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखने के साथ-साथ उन्हें सम्मानित भी किया जाएगा। 
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि एसवाईएल के निर्माण के लिए इनेलो-बसपा वचनबद्ध है आज सरकार के पास न जो आंदोलनकारियों की गिरफ्तारियों के लिए साधन है और न ही जेलों में जगह पर इनेलो अपने हर आंदोलन में साथियों की संख्या बढ़ाकर सरकार को झुकाने का काम करेगी ताकि प्रदेश की सरकार को मजबूर होकर नहर का निर्माण करवाना पड़े। 
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि कांग्रेस ने इनेलो के बड़े नेताओं को साजिश के तहत जेल भेजने का जो काम किया है उसके पीछे उसकी मंशा पार्टी को खत्म करने की थी लेकिन पार्टी का हर कार्यकर्ता बधाई का पात्र है जिसने पार्टी को पहले से भी ज्यादा मजबूती प्रदान की है। अब इनेलो उसे प्रदेश की राजनीति से बाहर का रास्ता दिखाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था। कांग्रेस के दस साल के भ्रष्टाचार से देश व प्रदेश की जनता बदलाव चाहती थी। लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी।
इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने का काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया, न तो एसवाईएल का निर्माण करवाया, न प्रदेश में 24 घंटे बिजली हुई। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्ज माफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि  हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी। इसके लिए उन्हें बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि प्रदेश की जनता आम चुनाव और विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहे। भाजपा के घटते जनाधार को देखते हुए केंद्र की सरकार समय से पहले ही देश और प्रदेश में चुनाव करा सकती है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा की रैलियों में बढ़ती भीड़ बदलाव की सूचक है जिसके कारण विरोधी दल अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।


एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा उत्तरी जोन के प्रभारी डा. मेघराज, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, बृज शर्मा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक परमेंद्र ढुल, पिरथी नम्बरदार, हरिचंद मिड्ढा, अनूप धानक, वेद नारंग पूर्व विधायक रामफल कुंडू, कलीराम पटवारी, सूरजभान काजला, रमेश खटक, महिला नेत्री शीला भ्यान, प्रदीप गिल, गुरदीप सांगवान सहित हजारों गठबंधन नेताओं ने गिरफ्तारियां दी।
भाजपा के राज में किसान बर्बादी की कगार पर- अशोक अरोड़ा 

कुरुक्षेत्र: इनेलो के कार्यवाह प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने आरोप लगाया कि भाजपा के राज में किसानों को मक्की की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा, जिस कारण किसान औने-पौने भाव अपनी मक्की की फसल बेचने को मजबूर है। उन्होंने कहा कि सरकार ने मक्की की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1425 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया हुआ है, जबकि किसानों की मक्की की फसल 1100 रुपये प्रति क्विंटल खरीदी जा रही है। अरोड़ा ने सरकार से मांग की कि मक्की की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य किसानों को दिया जाए, ताकि किसान बर्बाद होने से बच सके। जब से भाजपा की सरकार आई है तब से ही किसानों को लूटा जा रहा है। धान की फसल में भी नमी के नाम पर किसानों को लगभग 300 रुपये प्रति क्विंटल की राशि कम दी गई, जबकि जे फार्म निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य के रेट से काटे गए लेकिन किसानों को 250 से 300 रुपये प्रति क्विंटल कम रकम का भुगतान किया गया। इसी प्रकार फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों को लूटा गया। किसानों की बिना सहमति के फसल बीमा के प्रीमियम की राशि बैंकों द्वारा काट ली जाती है, जबकि फसल का नुकसान होने के बाद क्लेम के नाम पर किसानों को कुछ नहीं मिलता। भाजपा सरकार की नीतियों के कारण किसान बर्बादी की कगार पर खड़ा है। देश के इतिहास में यह पहला अवसर है जब किसानों को अपनी मांगों को लेकर 10 दिन तक हड़ताल करनी पड़ी। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने का वायदा किया था लेकिन सत्ता मिलते ही भाजपा सरकार अपने चुनावी वायदों को भूल गई। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश का हर वर्ग भाजपा सरकार की नीतियों से दुखी है। प्रत्येक विभाग के कर्मचारी आंदोलन की राह पर हैं। कानून व्यवस्था का दिवाला पिट चुका है। किसी की भी जान-माल सुरक्षित नहीं है। भाजपा सरकार की नीतियों के कारण छोटे और मंझले व्यापारियों का काम धंधा ठप होकर रह गया है, युवा बेरोजगार घूम रहे हैं। मजदूर वर्ग को रोटी के लाले पड़े हुए हैं, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर इन सब से बेखबर उत्सव मनाने और गिली डंडा खेलने में लगे रहते हैं। उन्हें जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। अरोड़ा ने कहा कि आगामी चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा और प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में बनेगी। 


भाजपा और कांग्रेस के कुशासन से दु:खी होकर दर्जनों परिवार इनेलो में हुए शामिल


इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी को आज उस समय बड़ी कामयाबी मिली जब राठधना गांव के दर्जनों परिवारों ने भारतीय जनता पार्टी को अलविदा कह कर इनेलो पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर इनेलो पार्टी के जिलाध्यक्ष एवं रोहट हल्का से पूर्व विधायक पदम सिंह दहिया ने इनेलो पार्टी का पटका पहनाकर सभी नए सदस्यों का स्वागत किया और उन्हें आश्वासन दिया कि पार्टी में उन्हें पूरा मान-सम्मान दिया जायेगा। शामिल होने में प्रमुख रूप से रामवीर, मोनू ,प्रिंस, राकेश,नफे के परिवार के दर्जनों नव युवकों ने इनेलो पार्टी की नीतियों में आस्था जताई और कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी ने हमेशा उन्हें ठगने का काम किया है और हरियाणा का रखवाला केवल चौधरी ओम प्रकाश चौटाला है। इस मौके पर खरखोदा हलका अध्यक्ष अशोक राणा, युवा जिला अध्यक्ष कुणाल गहलावत, पंडित रामपत मोनू शर्मा, कृष्ण सरोहा, काला, राजेश सरोहा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे
किसानों के आंदोलन को इनेलो ने दिया समर्थन 
किसानों द्वारा आयोजित आज भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ दसवें दिन किसानों धरने पर पहुँच कर इनेलो नेता पदम सिंह दहिया ने समर्थन दिया और कहा कि आज किसान खून के आंसू रो रहे हैं । भाजपा सरकार ने किसानों के विरोध में सारी नीतियां बनाई हैं , न तो स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट अब तक लागू की और डीजल के रेट सातवें आसमान पर पहुंच चुके हैं ।खाद, बीज,  दवाई के रेट आज आसमान छु रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी ने फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के खातों से जबरदस्ती रुपए काटकर एक लगान लगाने का काम किया है। किसानों को फसलों के उचित दाम नहीं दे रही। किसान आज सड़क पर उतर चुके हैं और इनेलो पार्टी उनके साथ हर संघर्ष में साथ देने का काम करेगी। इसके बाद वहां उपस्थित दर्जनों किसानों ने भारतीय जनता पार्टी का पुतला फूंका और सरकार विरोधी नारे लगाए। इस मौके पर हल्का अध्यक्ष अशोक राणा युवा जिला अध्यक्ष कुणाल गहलावत प्रदेश संगठन सचिव संदीप युवा प्रधान महासचिव विकास मलिक आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे.।
एसवाईएल को लेकर 22 जून को हिसार में ऐतिहासिक होगा जेल भरो आंदोलन- दुष्यंत चौटाला




हिसार: एसवाईएल नहर के निर्माण में प्रदेश मनोहर लाल खट्टर सरकार और केंद्र की मोदी सरकार द्वारा बरती जा रही ढील के चलते प्रदेश के लोगों में भारी रोष है और सरकार जानबूझ कर एसवाईएल नहर निर्माण का रोके हुए। सरकार के इस रवैये के विरोध में हिसार जिले के हजारों लोग जेल भर कर सरकार के प्रति अपना रोष प्रदर्शित करेंगे और हिसार को जेल भरो आंदोलन ऐतिहासिक होगा। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे शनिवार को यहां चौ. देवीलाल सदन में आयोजि इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं की संयुक्त बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में एसवाईएल को लेकर  22 जून को हिसार में प्रस्तावित जेल भरो आंदोलन के बारे में गहन विचार विमर्श करते हुए दोनों दलों के पदाधिकारियों की डयूटियां लगाई गई।
सासंद चौटाला ने गठबंधन के  कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि इनैलो-बसपा गठबंधन हरियाणा के हकों के लिए सच्ची लड़ाई लड़ रहा है। आगामी 22 जून को स्थानीय अनाज मंडी हिसार में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार एसवाईएल नहर का पानी लाने के लिए केंद्र व प्रदेश की बीजेपी सरकार की आंखें खोलने के लिए जेल भरो आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस जिलास्तरीय जेल भरो आंदोलन में रिकार्ड तोड़ भीड़ जुटेगी। गठबंधन के नेता टीमें बनाकर गांव-गांव जाकर आम जनता को उनके हकों के प्रति जागरूक करते हुए जेल भरो आंदोलन का निमंत्रण देंगे। सांसद चौटाला ने कहा कि गठबंधन की तरफ से इससे पूर्व कई जिलों में सरकार विरोधी सफल जेल भरो आंदोलन हो चुका है।
इस अवसर पर बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति ने कहा कि बसपा ने भी सातों हलकों के प्रभारी नियुक्त कर दिए हैं और इनेलो हलका प्रभारियों के साथ मिल कर इस जेल भरों आंदोलन के लिए जनसंपर्क अभियान चलाएंगे। उन्होंने कहा कि जेल भरो आंदोलन में जिले भर से हजारों की संख्या में बसपा कार्यकर्ता भाग लेंगे। बसपा नेता ने कहा कि कांग्रेस व भाजपा इनेलो-बसपा गठबंधन के बूरी तरह से घबराई हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आने वाली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की बनेगी।
इस मौके पर इनलो जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री हरि सिंह सैनी, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, जोन प्रभारी सुरेंद्र पंघाल,  वरिष्ठ इनेलो नेता राजेश गोदारा, इनेलो महिला प्रकोष्ठ की प्रदेशाध्यक्षा शीला भ्याण, पूर्व चैयरमैन सतबीर वर्मा, बसपा जिला प्रभारी बलराज सातरोड, बसपा जिलाध्यक्ष राज कपूर पाली,  हल्का अध्यक्ष सजन लावट, सतबीर सिसाय, राज सिंह मोर, चत्तर सिंह, भागीरथ नम्बरदार, राव इंद्र फौजी, रणधीर पुनिया, सतपाल सरपंच, सत्यवान बिछपडी, डॉ राज कुमार दिनोंदिया, मास्टर गुलाब सिंह,सतपाल पालु, बहादुर सिंह नायक, बसपा जिला महासचिव बजरंग इंदल, इनेलो जिला प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, इनेलो युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा, बसपा नेता मेवा सिंह, हरि सिंह बगला, शमशेर डाबड़ा, महेंद्र धानिया, मनोज प्रभाकर, कृष्ण सैनीपुरा, रविन्द्र चौहान, दिलबाग डोभी, इनेलो युवा हलकाध्यक्ष रवि आहूजा, राजमल काजल, शन्नो देवी, ललिता टांक, महाबीर खर्ब, सुनील रावत, भजन सिंह रावत, निगम पार्षद मास्टर प्रह्लाद, जिला पार्षद राम प्रशाद गढ़वाल,  विक्रांत बागड़ी, अमरदीप सम्भरवाल, तारा चंद ओड,  शंकर गहलोत, मुकेश डुलगच,अमित ग्रोवर सहित भारी संख्या में इनेलो बसपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे।
कुलदीप समर्थक पार्षद इनेलो में शामिल


हांसी:  कुलदीप बिश्नोई के कट्टर समर्थक रहे कुकू सरदार व उनकी पत्नी पार्षद हरपाल कौर अपने समर्थकों सहित कांग्रेस छोड़ इनेलो में शमिल हो गए। उन्होंने यह घोषणा शनिवार को इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला ने हांसी में अपने आवास पर की। कुकू सरदार ने इस अवसर पर सांसद दुष्यंत के लिए जलपान कार्यक्रम का आयोजन किया। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कुकू सरदार को हरा पटका देकर उन्हें पार्टी में शामिल किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कुकू सरदार व उनके समर्थकों के इनेलो में शािमल होने से पार्टी को मजबूती मिली है और पार्टी में उनका पूरा मान-सम्मान किया जाएगा। यहां बता दें कि कुकू सरदार की धर्मपत्नी हरपाल कौर दो बार पार्षद बनी हैं और वर्तमान में वार्ड नंबर 8 से पार्षद हैं। इसके अलावा कुकू सरदार की पुत्रवधु डिंपल कौर भी एक बार पार्षद रह चुकी हैं।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा का  लोगों का पूरी तरह से मोह भंग हो चुका है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पिछले दस वर्ष के कुशासन से जनता देख चुकी है और वर्तमान में पिछले चार वर्षों से भाजपा के शासन जनविरोधी शासन को झेल रही है। उन्होंने कहा कि इनेलो ने हमेशा ही जनता के हितों के लिए संषर्घ किया है और  इनेलो नेता जनता के बीच रहते हैं। 


सोच कर हैरानी होती है भाजपा इतनी अनुभहीन सरकार है- दिग्विजय चौटाला
 
खिलाड़ियों की मार्केटिंग मामले में सरकार की खेलों के प्रति सोच की खोली पोल


भिवानी: देश जहां  2013 के लोकसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस के घोटालों से सुर्खियों में था वहीं हरियाणा के अंदर हुड्डा राज में मानेसर घोटाले ने प्रदेश की किरकिरी करवाई हुई थी, और अब भाजपा की अनुभवहीन सरकार के दोयम दर्जे के नए-नए नियमों के कारण देश और प्रदेश सुर्खियों में है। भाजपा इतनी अनुभवहीन सरकार हो सकती है। इस बात पर सभी को हैरानी है क्योंकि चुनाव से पूर्व भाजपा के घोषणापत्र में बड़े-बड़े वायदे किए गए थे जो हवाई साबित हुए। यह बात इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने हैरानी व्यक्त करते हुए कहे। 
उन्होंने कहा कि अनुभवहीन सरकार के लापरवाह शासन के कारण खिलाडिय़ों तक को सोचने को मजबूर होना पड़ रहा है। बेरोजगार युवाओं को रोजगार देना तो बहुत दूर की बात है कच्चे कर्मचारी लगाना भी इनके बस की बात नहीं है, उपर से ग्रामीण स्तर के होनहार प्रतिभावान खिलाड़ी देश के लिए मैडल प्राप्त करते हैं तो उन्हें सरकार से नौकरी के साथ-साथ अच्छे सम्मान की आस रहती है। लेकिन मौजूदा सरकार ने तो सभी हदों को पार कर दिया था। इन लोगों ने खिलाड़ियों तक की मार्केटिंग करने की सोच ली थी। शुक्रवार को जब आनन फानन में बिना सोचे समझे खिलाड़ियों की आय में एक तिहाई आय सरकार की जेब में डालने का फरमान सुनाया गया था तो सरकार के इस फैसले से यह बात बिलकुल स्पष्ट हो गई थी कि यह सरकार केवल मात्र मार्केटिंग की सरकार है।इस सरकार को प्रदेश चलाने का जीरो स्तर पर भी अनुभव है। दिग्विजय ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर और खेल मंत्री अनिल विज को घटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि यह सब खिलाड़ियों के प्रति द्वेष भावना का प्रमाण है। हरियाणा सरकार की इस तरह तानाशाही नियमों को लागू करने की मंशा खिलाड़ियों के विरोध के बाद धरी की धरी रह गई। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि पूरा प्रक्ररण एक सोची समझी नीति के तहत लागू करवाने का था यदि इनेलो और खिलाड़ी इसका विरोध नहीं करते तो भाजपा सरकार इस तरह के दोयम दर्जे का नियम लागू भी करती।  
उन्होंने बताया कि किसानों के साथ ज्यादती और स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट को लागू न करना, छात्र संघ चुनाव के प्रति सरकार का गम्भीर न होना, बुढापा पैंशन किस्तों मेें देना, दलितों पर अत्याचार, आए दिन बलात्कार की घटनाएं, नौकरियों को छीना जाना पक्के किए गए कर्मचारियों को कच्चा करने का फरमान, आशा वर्करों का आए दिन रोड़ प्रदर्शन, पीने के लिए पानी तक न होना, महंगाई का लगातार बढऩा, प्रदेश को कोई भी नया प्रोजेक्ट ना मिलना, अस्पतालों में डाक्टरों की कर्मी और मूलभूत सुविधाएं न होना, शिक्षा के क्षेत्र में कोई नए प्रोजेक्ट का न आने पर दिग्विजय ने हैरानी व्यक्त की और कहा कि किसी प्रदेश की बागडोर इस तरह के अनुभवहीन लोगों के हाथ में भी हो सकती इस बात की कल्पना भी नहीं जा सकती है। उन्होंने मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों को खासकर स्वास्थ्य व खेल मंत्री अनिल विज को सद्बुद्धि प्राप्त हो इसके लिए भगवान से प्रार्थना भी की।

Friday, June 8, 2018

एसवाईएल को लेकर प्रदेश की जनता का संघर्ष व्यर्थ नहीं होने देंगे- अभय चौटाला 


फरीदाबाद: एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल का निर्माण और प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए हो रहे जलयुद्ध संघर्ष में हिस्सा लेने वाले लोगों का नाम प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। यह बात नेता विपक्ष ने फरीदाबाद में जेल भरो आंदोलन के दौरान कही। उन्होंने प्रदेश की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि उनका संघर्ष व्यर्थ नहीं जाएगा, सरकार को इस आंदोलन के आगे घुटने टेक कर नहर का निर्माण करवाना ही पड़ेगा।  नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी। इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया, न तो एसवाईएल का निर्माण करवाया, न प्रदेश में 24 घंटे बिजली हुई। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में इनेलो-बसपा गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्जमाफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। 


नेता विपक्ष ने भाजपा सरकार पर हर वर्ग को ठगने का आरोप लगाते हुए कहा कि इनेलो-बसपा कि सरकार बनने पर हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी। इसके लिए उन्हें बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। उन्होंने याद दिलाया कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएंगे लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि मोदी ने वादा किया था कि हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी किसी भी नागरिक के खाते में 15 नए पैसे भी जमा नहीं हुए।
युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने भी आंदोलनकारियों की सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा की जड़ेे हिल चुकी हैं। इसीलिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह देशभर में अपने सहयोगियों के मन टटोलते फिर रहें हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश का औद्योगिक हब कहलाने वाले फरीदाबाद में नोटबंदी के कारण सैकड़ों लघु उद्योग बंद हो चुके हैं जिसके कारण हजारों युवा बेरोजगार भी हुए हैं। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि प्रदेश की जनता आम चुनाव और विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहे। भाजपा के घटते जनाधार को देखते हुए केंद्र की सरकार समय से पहले ही देश और प्रदेश में चुनाव करा सकती है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा की रैलियों में बढ़ती भीड़ बदलाव की सूचक है जिसके कारण विरोधी दल अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।
एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, सांसद दुष्यंत चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, पूर्व स्पीकर गोपीचंद गहलोत, बसपा प्रदेश प्रभारी राजबीर सिंह, जिलाध्यक्ष बसपा रतिराम, इनेलो विधायक केहर सिंह रावत, पूर्व विधायक सुभाष चौधरी, ललित बंसल, जिला महिला अध्यक्ष जगजीत कौर, देवेंद्र चौहान, अरविंद भारद्वाज सहित आठ हजार चालीस लोगों ने गिरफ्तारियां दी।
अस्पतालों से मरीज गायब हो रहे हैं विज साहब- दिग्विजय चौटाला


भिवानी: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि विज साहब मीडिया के सामने बड़ी-बड़ी डींगे हांकते हैं लेकिन धरातल पर यदि गौर किया जाए तो पूरे प्रदेश के अंदर स्वास्थ्य व्यवस्था का दिवाला निकला हुआ है। उन्होंने कहा कि हालात इस कदर खराब हो चुके हैं कि अस्पतालों से मरीज गायब हो जाते हैं और सात दिन बाद अस्पताल के सीएमओ कार्यालय के पीछे लावारिस हालात में मरीज मृत पाया जाता है। ऐसी घटना के बावजूद भी अस्पताल प्रशासन को भनक तक नहीं लगती। इनेला नेता का इशारा भिवानी के चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल में पिछले दिनों 75 वर्षीय मरीज श्योताज की मौत की ओर था। दिग्विजय ने कहा कि यही नहीं रोहतक पीजीआई तक में स्वास्थ्य व्यवस्था का जनाजा निकला हुआ है। मरीजों के लिए बिस्तरे नहीं है, दवाइयां तो बहुत दूर की बात हैं। मरीज अस्पतालों की गैलरी में पड़े रहते हैं और स्वास्थ्य विभाग मूक दर्शक बन देखता रहता है।
इनेलो नेता ने कहा कि यदि बात डाक्टरों की की जाए तो अकेले भिवानी, हिसार, महेंद्रगढ़, सिरसा में जहां प्रत्येक अस्पताल में 50 से 55 डाक्टरों की आवश्यकता है वहीं मात्र 15 से 20 डाक्टर इस कार्य को करने में लगे रहते हैं। उन्होंने कहा कि भिवानी में झज्जर जिले के गौरिया निवासी 75 वर्षीय श्योताज की रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना ने स्वास्थ्य विभाग और खुद स्वास्थ्यमंत्री अनिल विज के पुख्ता इंतजामों की पोल खोल कर रख दी है। पिछले दिनों भी पूर्व मुख्यमंत्री मास्टर हुकुम सिंह की पीजीआई में इलाज में कोताई को लेकर भारी हंगामा हुआ था और ऐसी अनेकों घटनाएं पीजीआई जैसे बड़े स्वास्थ्य सैटरों में आए दिन होती हैं जिनकी जांच केवलमात्र स्वास्थ्य मंत्री के अखबारी ब्यान और फाइलों तक सिमट कर रह जाती हैं।
उन्होंने कहा कि सरकार एक ओर तो आम नागरिक के लिए सरकारी अस्पतालों में पुख्ता इंतजामों का दावा कर रही है वहीं दूसरी तरफ मरीजों को पर्ची बनवाने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ती है। हालात ये हैं कि एक मरीज को डाक्टर तक पहुंचने के लिए चार से पांच घंटे लग जाते हैं। उपर से डाक्टरों की भारी कमी से मरीज की बीमारी के तय तक पहुंचना भी मुश्किल ही नजर आता है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को चुनौती देते हुए कहा कि यदि स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा प्रदेश में बेहतर स्तर पर हंै तो अनिल विज डाक्टरों की नियुक्ति के साथ-साथ प्रत्येक शहर के नागरिक अस्पताल की व्यवस्था का श्वेत-पत्र जारी करे नहीं तो वे अपने पद से त्यागपत्र दें।
खिलाड़ियों से लगान वसूलना चाहती है हरियाणा सरकार- दिग्विजय चौटाला


नई दिल्ली: हरियाणा की भाजपा सरकार खिलाड़ियों से अंग्रेजों की तरह लगान वसूलना चाहती है जिसका इनेलो जोरदार विरोध करती है और सरकार से मांग करते हैं कि इसको तुरंत वापिस लिया जाए। यह मांग इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दिग्विजय चौटाला ने आज नई दिल्ली में आयोजित एक प्रेसवार्ता में रखी।
इनेलो नेता ने  कहा कि इन्हीं खिलाड़ियों ने हरियाणा का नाम पूरी दुनिया में रोशना किया है। ये खिलाड़ी ही हमारे हरियाणा के ताज हैं और हरियाणा सरकार ने प्रोफेशनल खिलाड़ियों पर 33 प्रतिशत लगान लगा कर अंग्रेजों के राज की याद ताजा कर दी। हरियाणा सरकार, खेल मंत्री और आरएसएस प्रदेश में खेलों को खत्म करने पर तुली हुई है। खेल मंत्री विज की सोच अंग्रेजों से मिलती है। जब प्रदेश के मुख्यमंत्री चौधरी ओम प्रकाश चौटाला थे तब उन्होंने ‘पदक लाओ पद पाओ’ की योजना बनाई थी। इनेलो सदैव खिलाडिय़ों के साथ है और खिलाडिय़ों के साथ मिलकर उनकी आवाज को जोर शोर से उठाएगी और सरकार से 24 घंटे में इस तुगलकी फरमान को वापिस लेने की मांग करती है
उन्होंने शिक्षा का मुद्दा उठाते हुए बताया कि सरकार ने 59 कॉलेजों में मुख्य कोर्सेज को बंद करने की भी इनसो निंदा करती है। एक और तो सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने की बात करते हुए नए कॉलेज खोलने की बात करती है दूसरी ओर पुराने कॉलेजो में कोर्स को बन्द किया जा रहा है जो सरकार की कथनी और करनी में अंतर दिखता है
छात्र संघ चुनाव पर सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने 4 सप्ताह का समय मांगा था लेकिन आज 4 महीने बाद भी इन चुनावों के लिए किसी भी विश्वविद्यालय के कैलेंडर में कोई प्रावधान नहीं किया और न ही किसी प्रकार के बजट दिया गया जो सरकार की गलत मंशा को दर्शाता है। अब हमें एक बार फिर से आंदोलन का रास्ता चुनना होगा तथा इनसो के स्थापना दिवस 5 अगस्त को कैथल में इस आंदोलन की घोषणा की जाएगी तथा सरकार को झुकने पर मजबूर किया जाएगा। 

Thursday, June 7, 2018

दिग्विजय चौटाला ने इनेलो सरकार आने पर एम्स के रीजनल सेंटर डबवाली में बनावाने का ऐलान किया 




डबवाली 07 जून 2018: इंडियन नेशनल लोकदल की शहर इकाई द्वारा आज गांधी चौक डबवाली में शहर वासियों के साथ विचार विमर्श बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष व इनेलो के युवा नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने की। इनेलो की शहर इकाई द्वारा सभी शहर वासियों से अपील की गई थी कि व इनेलो व बसपा द्वारा आयोजित बैठक में पहुंच कर शहर की सभी मुख्य समस्यओं पर और शहर के हित में अपने विचार प्रस्तुत करें ताकि शहर की समस्याओं को दूर करने के लिए विधानसभा में और अन्य माध्यमों से पुरजोर तरीके से उठाया जा सके एंव समस्याओं का हल करवाया जा सके। बैठक स्थल पर शहर के व्यापारी व शहर वासियों ने भारी मात्रा में शिरकत की व अपनी समस्यओं की जानकारी दी। लोंगो द्वारा चौटाला सरकार के वक़्त शहर में किये गए कार्यों को याद किया। दिग्विजय सिंह चौटाला ने शहर के बीच 5 घंटे बिता कर शहर की समस्याओं पर बारीकी से विचार विमर्श किया दिग्विजय सिंह चौटाला ने शहर वासियों को सम्भोदित करते हुए कहा की आज में डबवाली में इनेलो पार्टी की बात करने नही आया हुँ, आज में अपने लोगों के बीच उनकी समस्या जानने आया हूँ। उन्होंने बताया कि बीजेपी सरकार की नीयत में खोट है, व डबवाली के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। उन्होंने कहा कि वो सरकार पर दबाव बनाकर कलेक्टर रेट में 50 फीसदी कटौती करवाकर नगर सुधार व नगरपरिषद के लगभग पिछले 70 साल से जो किरायेदार है उनको मालिकाना हक दिलवाया जाएगा। उन्होंने कांग्रेस द्वारा चलित नगर परिषद को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा शहर में फैली गंदगी के लिए कांग्रेस सीधे तौर पर जिम्मेवार है। दिग्विजय सिंह चौटाला ने एक बड़ा एलान किया कि वोह आज अपने शहर से वादा करते हैं कि इनेलो सरकार आने पर एम्स के रीजनल सेंटर डबवाली में बनाया जाएगा जिस से की कैंसर और भयंकर बीमारी से पीड़ित मरीजों को भारी राहत मिल सकेगी।
इनेलो ने उपमंडलाधिकारी के मार्फत मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार को नगरपरिषद व नगर सुधार की दुकानों पर लंबे अरसे से जो किराएदार हैं उनको दुकानों का मालिकाना हक दिया जाए व कलेक्टर रेट कम किया जाए और अधूरे पड़े अंडर ब्रिज का काम पूरा करने के लिए ज्ञापन सौंपा। पूर्व विधायक डॉ सीता राम ने सम्बोधन करते हुए नगर परिषद में फैले हुए भ्रष्टाचार के मुद्दे को पूरे जोरदार तरीके से उठाया और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर निशाना साधा। नगर सुधार मंडल के पूर्व चेयरमैन रणवीर राणा ने सम्भोधत करते हुए दिग्विजय सिंह जी को बताया की चौटाला सरकार के वक़्त चौ. ओम प्रकाश चौटाला द्वारा मैन बाजार की सभी दुकानों को बड़ा किया व दोनों तरफ दरवाज़े निकाल कर उन्हें मालिकाना हक दिया गया। उस वक़्त मुख्यमंत्री चौटाला साहब ने पूरे शहर में आरसीसी सड़कें बनवाई जिस से पहले आरसीसी सड़के नहीं बनाई जाती थी। युवा शहरी प्रधान विपिन मोंगा ने संबोधन करते हुए कहा कि डबवाली के युवा पिछले 14 साल से सरकारी नौकरी पाने के लिए भेदभाव का शिकार हो रहे हैं।
बैठक को नपापूर्व प्रधान टेक चंद छाबडा, शहरी प्रधान हरबंस भीटीवाला, शहरी महिला प्रधान ममता मिढ़ा ने भी संबोधित किया। बैठक में हल्का  प्रधान सरबजीत मसीतां, जथेदार जगसीर सिंह मांगेआना, पूर्व प्रधान नरिंदर बराड़, पर्वकत्ता रणदीप सिंह मटदादू , युवा ग्रामीण प्रधान करनवीर ओढां, राजबीर डबवाली, आशा वाल्मीकि, कृष्णा पुहाल, हरनेक सिंह मान, अशोक गुप्ता, लवली मेहता, अंकुश मोंगा, हैप्पी गिल, सुखविंदर सूर्य, संदीप गर्ग, के के सेठी, हरिप्रकाश शर्मा, धुन्नीदास गर्ग,  राजू मदान, सरदारी ग्रोवर, विजय पटवारी, राकेश गर्ग, काली मिढ़ा, नरेश मित्तल, नरेश मामू, परमिंदर अरोड़ा, रमेश काला प्रधान, सुखविंदर सरा, जगदीश अरोड़ा, अमरनाथ बागरी, विजय अरोडा, रवि सचदेवा, रिषि सेठी, सुरेश सोनी, दयानंद जल्लान्धरा, मंजीत पार्षद, जोगिंदर ढाल, गुरचरण नंबरदार, अजेश सिंगिकाट, पवन बंसल, जग्गा बराड़, ओम प्रकाश बागड़ी, राज बहादुर, रविंदर पादरी, कुलजीत मोंगा,दूनी चंद शर्मा, रिंका सेठी, सतपाल लोहगडिया, प्रेम बहल, सतपाल चावला, विक्की वर्मा, आदि मौजूद रहे।

लोगों द्वारा बताई गई मुख्य समस्याएँ।

1. अनाज मंडी से फाटक तक मैन सड़क का न बनना ।
2. कॉलोनी रोड का अधूरा काम और सड़क का घटिया बनाना।
3. पूरा शहर सफाई व्यवस्था से झूझ रहा है।
4. बिजली व पानी की भारी कमी व पीने वाला पानी दूषित है।
5. रेलवे अंडर ब्रिज का काम अधूरा पड़ा है।
6. शहर में नशे का बोलबाला है और समस्या नासूर बन चुकी है।
7. रोज़ाना लूट पाट, चोरी की घटनायें व कानून व्यवस्था बिल्कुल ठप है।
8. शहर में सीवर की व्यवस्था बिल्कुल नकारा है।
9. नगर परिषद में भरष्टाचार का बोलबाला।
10. रेलवे के लिफ्टिंग एरिया को शहर के बाहर किया जाए।
11. अधिकारीयो की स्थायी तौर पर नियुक्ति न होना।

Wednesday, June 6, 2018

9 जून को दुष्यंत लेंगे इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं की बैठक 

हिसार: जेल भरो आंदोलन को लेकर इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला 9 जून को इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं की संयुक्त बैठक लेंगे। जिला प्रधान राजेंद्र लितानी ने बताया कि यह बैठक 9 जून को सायं 4 बजे सिरसा रोड़ स्थित चौ. देवीलाल सदन में होगी। उन्होंने बताया कि इस बैठक के लिए इनेलो व बसपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को आमंत्रित किया गया है। बैठक में एसवाईएल को लेकर इनेलो के  22 जून के जेल भरों आंदोलन के लिए विचार विमर्श किया जाएगा। जिला प्रधान श्री लितानी ने कहा कि प्रदेश भर में एसवाईएल नहर के निर्माण को लेकर इनेलो द्वारा जेल भरों आंदोलन चलाया जा रहा है और इसी कड़ी में हिसार में 22 जून को जेल भरी जाएंगी। 
दिग्विजय ने किया मेडिकल शिविर का उद्घाटन


हांसी/ हिसार: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने पंचायती रामलीला भवन में आयोजित निशुल्क मेडिकल चैकअप शिविर और रक्तदार शिविर का उद्घाटन किया। स्व. कृष्ण चंद्र एवं सावित्री देवी फाउंडेशन द्वारा आयोजित इस शिविर में देश के जाने-माने अस्पतालों के चिकित्सकों ने सैकड़ों रोगियों की निशुल्क जांच की और उन्हें दवाईयां दी। 
बतौर मुख्य अतिथि दिग्विजय चौटाला ने फाउंडेशन द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि जरूरतमंदों के लिए इस प्रकार के शिविर आयोजित करना बेहद पुण्य का कार्य है। उन्होंने कहा कि भागदौड़ की इस जिंदगी में हर व्यक्ति मानसिक दबाब में जी रहा है। ऐसे में हर व्यक्ति को व्यायाम करने के लिए और अपने शरीर की नियमित चिकित्सीय जांच के लिए समय जरूर निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि बगैर नियमित जांच के अनेक तरह की बीमारियां हमे घेरने लगती हैं और जब इन बीमारियोंं के बारे में हमें पता चलता है तब तक इलाज में काफी देरी हो जाती है। 
दिग्विजय चौटाला यहां रक्तदान शिविर में रक्तदाताओं से मिले और उन्हें रक्तदान करने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि रक्तदान को लेकर आम लोगों में आज भी अनेक प्रकार की भ्रांतियां हैं। उन्होंने कहा कि इन भ्रांतियों को लेकर आम लोगों मेें जागरूकता लाना जरूरी है। दुर्भाग्यवश आज भी अनेक लोग समय पर रक्त न मिलने के कारण अपनी जान गंवा बैठते हैं। कार्यक्रम में पहुंचने पर फाउंंडेशन के कोषाध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा और सचिव संजय शर्मा ने दिग्विजय चौटाला का स्वागत किया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, राजीव शर्मा, हलका प्रधान इंद्र फौजी, सतबीर सिसाय, धारा सिंह मेंहदा, राजेश बिल्लू, जयवीर सिहाग,रविंद्र सैनी, शिव कुलाना, सिल्क पूनिया, अंकित सिंघरान, रवि कड़वासरा सहित भारी संख्या में लोग व चिकित्सक मौजूद थे। 

Tuesday, June 5, 2018

 दुष्यंत ने रेलमंत्री के समक्ष रखा हिसार को चंडीगढ़ से रेलवे से जोड़ने वाले रूट का खाका

  • अधिकारी हिसार-चंडीगढ़ के बीच डेमू चलाने को लेकर मंत्रालय को कर रहे हैं गुमराह
  • सूर्य नगर फाटक सहित अन्य मांगों को पूरा करने को लेकर विस्तार से विचार विमर्श   




नई दिल्ली/ हिसार, 5 जून: हिसार- चंडीगढ़ के बीच रेल सेवा शुरू करने को लेकर सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल से मंगलवार को नई दिल्ली में मुलाकात की। उन्होंने न केवल रेलवे मंत्री के समक्ष हिसार चंडीगढ़ के बीच रेलगाड़ी शुरू करने का न केवल रूट का सारा खाका प्रस्तुत किया बल्कि अधिकारियों द्वारा इस रूट को लेकर मंत्रालय को भेजे गए गुमराह करने वाली जानकारी को तथ्यों के साथ उजागर किया।  इसके अलावा दुष्यंत चौटाला ने रेलवे मंत्री से हिसार लोकसभा को लेकर पिछले बजट में की गई घोषणाओं व अन्य मांगों को पूरा करने को लेकर विस्तार से विचार विमर्श किया और उन्हें जल्द से जल्द पूरा करने की मांग की जिससे कि यात्रियों की सुविधाओं में इजाफा हो सके। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय रेलवे मंत्री को बताया कि उन्होंने हिसार-चंडीगढ़ के बीच रेलगाड़ी शुरू करने का मामला लोकसभा में 9 अगस्त 2016 को उठाया था। इस प्रश्न के उत्तर में अधिकारियों ने तर्क दिया था कि हिसार के यात्री रेलगाड़ी से अंबाला पहुंचे और अंबाला से चंडीगढ़ की रेलगाड़ी पकड़ सकते हैं। दुष्यंत ने कहा कि रेलमंत्री को अगवत करवाया कि रेल अधिकारियों का यह तर्क कहीं मेल नहीं खाता क्यों कि हिसार-अंबाला के बीच एक भी रेलगाड़ी सीधी नहीं चलती। उन्होंने बताया कि रेलवे अधिकारियों ने मंत्रालय में तथ्यों को तोड़-मरोड़ को पेश किया गया।  सांसद दुष्यंत ने बताया कि हिसार-चंडीगढ़ के बीच रेलसेवा शुरू करने के दो रूट बनते हैं। पहला रूट हिसार-जाखल-धूरी-राजपुरा-पटियाला-चंडीगढ़ का बनता है और दूसरा रूट हिसार-जाखल-नरवाना-कुरूक्षेत्र-चंडीगढ़ के बीच बनता है और इन दोनों रूटों पर डेमू रेलगाड़ी चलाई जा सकती है और इनके बीच कोई नर्ह रेलवे लाइन भी नहीं बिछानी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि जयपुर के महाप्रबंधक ने 2016 में दी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि हिसार में वाशिंग यार्ड पूरा होने पर हिसार-चंडीगढ़ के बीच डेमू रेल सेवा शुरू करने संभव है। उन्होंने रेलमंत्री को बताया कि हिसार में वाशिंग यार्ड का काम पूरा हो चुका है। दुष्यंत ने रेलमंत्री से हिसार-चंडीगढ़ के बीच डेमू रेलसेवा शुरू करने के लिए अनुमति प्रदान करने का आग्रह किया। यहां बता दें कि दुष्यंत चौटाला ने 5 मई को भी जयुपर में रेलवे अधिकारियों हुई बैठक में भी इन मांगों को रखा था। 
दुष्यंत चौटाला ने रेलमंत्री को बताया कि वर्ष 2016-17 के बजट में तात्कालिक रेलवे मेत्री सुरेश प्रभु ने हिसार लोकसभा क्षेत्र से जुड़ी अनेक मांगों पर गौर करते हुए इनकी पूरी करने घोषणाएं की गई थी परन्तु आज तक इन प्रोजेक्ट पर रेलवे ने कार्य शुरू नहीं किया है।  

दुष्यंत चौटाला ने रेलमंत्री से अन्य मांगों पर भी विस्तार से चर्चा की जिनमें प्रमुख हैं-


-सूर्य नगर फाटक, सेक्टर 16-17 रेलवे फाटक, हांसी, आदमपुर, कैमरी रोड फाटक पर आरओबी व अंडरपास बनाने, हिसार रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट और एक्सीलेटर लगाने कका कार्य अतिशीघ्र शुरू किया जाए। 
-साउथ बाईपास पर घोड़ा फार्म रोड फाटक, सातरोड़ फाटक पर ज्यादा ट्राफिक होने के कारण जाम लग जाता है,  इन पर जल्द से जल्द आरओबी बनाया जाए। 
-कैमरी रोड व अन्य फाटक जहां वाटर लेवल ऊंचा है और अंडर पास संभव नहीं वहां आरओबी बनाया जाए। 
-बरवाला-अग्रोहा फाटक पर भी आरओबी बनाया जाए 
-गोरखधाम को हिसार से बढ़ा कर सिरसा तक किया जाए
-हिसार में वाशिंग यार्ड बन गया है, इसलिए दिल्ली ठहराव वाली गाडिय़ों को हिसार तक बढ़ाया जाए तथा भिवानी तक आने वाली कालिंदी एक्सप्रेस, एकता एक्सप्रेस, पुरूषोत्तम एक्सप्रेस का विस्तार हिसार तक किया जाए। 
-अजमेर-अमृतसर एक्सप्रेस तथा विवेक एक्सप्रेस का ठहराव उकलाना व बरवाला में सुनिश्चित किया जाए तथा अवध-आसाम एक्सप्रेस को जींद से हिसार होते हुए चलाई जाए। 
-उकलाना, बरवाला में रेलवे रिजर्वेशन की सुविधा दी जाए। हिसार-अमृतसर रेल में आरक्षित व सामान्य श्रेणी के डिब्बों की संख्या बढ़ाई जाए। 
-आदमपुर-हिसार-गोगामेड़ी के बीच रेलवे नइ लाइन के लिए सर्वे किया जाए, बीकानेर-हरिद्वार वाया हिसार तथा हिसार-ब्रांदा रेलगाड़ी को नियमित किया जाए। इसके अलावा हिसार से गुजरने वाली व यहां से चलने  वाली रेलगाडिय़ों में डिब्बों की संख्या बढ़ाई जाए।
-हिसार-सातरोड़ फाटक सायं छह बजे से प्रात: छह बजे तक बंद रहता है, इसपर कर्मचारी की डयूटी लगा कर अन्य व्यवस्था की जाए ताकि वाहन आवागमन में परेशानी न हो। 
-कालवास को हाल्ट स्टेशन घोषित किया जाए।
 न्यौलीकलां, खाबड़ा, मेहुवाला, जोधकां, मय्यड़, ओरंगनगर व सुई हाल्ट स्टेशनों पर  गाड़ी संख्या 54634/31 तथा 54632/33 नहीं रूकती, इनका ठहराव उपरोक्त हाल्ट स्टेशन पर तात्कालिक रेलवे मंत्री की घोषणा के मुताबिक सुनिश्चित किया जाए। 
-गांव राजली में फाटक संख्या सी-44 व सी 45 के बीच काफी दूरी है, इनके बीच आरयूबी मंजूर किया जाए। 
-भिवानी में रोहतक-भिवानी रेलवे लाइन पर प्रस्तावित रेलवे बाइपास का निर्माण अतिशीघ्र और समय अवधि   निर्धारित कर किया जाए। 
इनेलो की 7 जून को नूंह में होने वाली दावत-ए-इफ्तार का चौ. ताहिर हुसैन ने निमंत्रण दिया

     


आज इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन के सुपुत्र व इनेलो नेता चौ. ताहिर हुसैन एडवोकेट ने नूंह विधानसभा के देवला नंगली, अलावलपुर, भपावली, बझेड़ा, बीबीपुर, ढेंकली, चिलावली, जयसिंहपुर, कोंतलाका, कमरचंदका, घासेड़ा, रेवासन आदि दर्जनभर गांवों का दौरा कर हर साल की तरह इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला की तरफ से 7 जून को अनाज मंडी, नूंह में होने वाली दावत-ए-इफ्तार पार्टी के लिए लोगों को निमंत्रण दिया। उन्होंनें लोगों से दावत-ए-इफ्तार में ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग लेने का आह्वान किया। 
उन्होंने कहा कि इनेलो की दावत-ए-इफ्तार हर वर्ष की तरह इस बार भी ऐतिहासिक होंगी जिसमें हजारों की संख्या में रोजेदार हिस्सा लेकर रोजा इफ्तार करेंगे। इस बार दावत-ए-इफ्तार में इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला के अलावा इनेलो-बसपा के वरिष्ठ नेता शिरकत करेंगे। 
इनेलो नेता ताहिर हुसैन ने कहा कि दावत-ए-इफ्तार में किसी भी रोजेदार को कोई परेशानी ना हो, इसके लिए इनेलो-बसपा के सैंकड़ो कार्यकर्ताओं की विशेष ड्यूटियां लगाई गई हैं। हुसैन ने कहा कि स्व: चौ. देवीलाल के समय से ही चौटाला परिवार का मेवात क्षेत्र से विशेष लगाव रहा है। उसी का परिणाम है कि हर वर्ष इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला मेवातवासियों को रमजान के मुबारक़ महीने में दावत-ए-इफ्तार का आयोजन करते हैं। हुसैन ने कहा कि इनेलो ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो सत्ता में रहे या ना रहे, हर वर्ष मेवात क्षेत्र के रोजेदारों के लिए दावत-ए-इफ्तार का आयोजन करती है।
इनेलो नेता ने कहा कि पिछले दस वर्षों में कांग्रेस ने प्रदेश को जमकर लूटा और अब भाजपा सरकार हर क्षेत्र में विफल हुई है। आम आदमी की मंहगाई ने कमर तोड़ रखी है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से फैल हो चुकी है। प्रदेश की जनता चुनावों का बेसब्री से इंतजार कर रही है। अब वो दिन दूर नहीं जब हरियाणा प्रदेश में इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला व बसपा सुप्रीमो बहन कु. मायावती के आशीर्वाद से इनेलो-बसपा की सरकार बनेगी। इस अवसर पर जकरिया सरपंच देवला, अय्यूब सेक्रेटरी, कल्लू, हन्नी सरपंच अलावलपुर, दाऊद, जक्कर, अरसद बझेड़ा, इसराईल सरपंच ढेंकली, नूर मौ. थानेदार, लक्खू बीबीपुर, कासम, हाकी सरपंच, जमालू सरपंच जयसिंहपुर, जमालू प्रधान, जुबेर सरपंच, मौजू, नसरू सरपंच कोंतलाका, भब्बल कुरैशी घासेड़ा, मजीद, युसुफ, यासीन, इसाक, शहनाज, जौम खां मुंडल सरपंच, शेरू रेवासन, इसलाम सरपंच, अकबर आदि प्रमुख लोग मौजूद रहे।

Monday, June 4, 2018

हुड्डा सरकार की बदनीयती की वजह से हजारों कर्मचारी नौकरी से हटाये गए - अभय चौटाला  
 


चंडीगढ़, 4 जून: नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने यहां प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि हजारों कर्मचारियों को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बदनियती और गलत पॉलिसी की वजह से उच्च नयायालय द्वारा नौकरी से हटाने के आदेश दिए गए हैं। लीगल रिमेंबरेंस की सलाह के विपरीत कांग्रेस 2014 के चुनाव में लाभ प्राप्त करने के लिए और अपने राजनैतिक हितों के लिए एडहॉक, डीसी रेट और अनुबंध के आधार पर रखे गए कर्मचारियों  को जिस प्रकार पक्का किया था उसी कारण नौकरी से हटाए जाने निर्देश न्यायालय द्वारा दिए गए पर इसका खमियाजा आज हजारों कर्मचारियों और उनके परिवारों को भुगतना पड़ा है। इस मुद्दे पर मौजूदा भाजपा सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए नेता विपक्ष ने कहा कि इन कर्मचारियों के साथ हुए धोखे की लिए जितनी दोषी पूर्व की कांग्रेस सरकार थी उतनी ही दोषी खट्टर सरकार भी है। उन्होंने मौजूदा सरकार पर इन कर्मचारियों की परैवी न करने का आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि साढ़े तीन साल के कार्यकाल में भाजपा ने इन कर्मचारियों के भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए कोई कदम नहीं उठाए जो दर्शाता है कि भाजपा सरकार ने भी इनकी अनदेखी की है। उन्होंने आगे यह भी कहा कि भाजपा सरकार भी कांग्रेस के नक्शेकदम पर चल आउटसॉर्सिंग के तहत युवाओं को रोजगार दे रही है ताकि चुनावी लाभ को देखते हुए कांग्रेस की तरह ही फिर युवाओं को धोखा दे सके।
नेता विपक्ष ने प्रदेश की मौजूदा कानून व्यवस्था पर चिंता व्यक्त करते हुए यह भी कहा कि आज सरकार अपराधियों और अत्याचार करने वालों के खिलाफ कारवाई करने की बजाए पीडि़तों को ही प्रताड़ित करने का काम कर रही है जिसका उदाहरण करनाल से मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ चुनाव लडऩे वाले और वर्तमान डिप्टी मेयर इनेलो नेता मनोज वधवा के परिवार की प्रताडऩा है। उन्होंने बताया कि  नोटबंदी के दौरान उनके छोटे भाई से लगभग 16 लाख रुपए की बरामदगी की जो उनके व्यापार के लेन-देन के थे। जब सरकार को पता चला कि आरोपी इनेलो नेता का भाई है तो उनके उपर 70 लाख रुपए होने का झूठा केस दर्ज करवा दिया। सरकार और प्रशासन ने उसे जान बूझकर मानसिक तौर परेशान किया जिसकी वजह से उसको आत्महत्या करनी पड़ी। इसके बावजूद भी पुलिस ने पूरे परिवार के विरुद्ध ही एफआइआर दर्ज की।
नेता विपक्ष ने बताया कि जब पीडि़त परिवार ने न्यायिक जांच की मांग की तो खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री  ने उन्हें धमकाने का काम किया। अब जब जांच में वधवा परिवार निर्दोष साबित हो गया है तब भी आठ महीने बीत जाने के बाद भी सरकार ने दोषियों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की काम गिल्ली-डंडा और सडक़ों पर कबड्डी खेलना नहीं बल्कि जनता को न्याय दिलाना होता है। उन्होंने यह भी कहा कि दलितों पर अत्याचार कांग्रेस राज में शुरू हुए और भाजपा उनकों आगे बढ़ा रही है। वहीं भाजपा सरकार में नशे के कारोबार ने भी प्रदेश में अपनी जड़े गहराई तक फैला ली हैं। इनेलो नेता ने बताया कि तीन साल से प्रदेश में चल रहा इनेलो सदस्यता अभियान अब पूरा हो गया है जिसके चलते प्रदेशस्तरीय कार्यकारणी का नए सिरे से गठन किया जाएगा। इसलिए पार्टी ने अपनी कार्यकारणी को भंग कर दिया है जल्द ही चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के दिशा-निदेशों के आधार पर गठन कर लिया जाएगा। उन्होंने इसके अलावा कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर असफल साबित हुई है आज किसान के साथ-साथ ऐसा कोई भी वर्ग नहीं है जो उसके खिलाफ सडक़ों पर न उतरा हो, फिर चाहे वो कर्मचारी हो या व्यापारी। उन्होंने कांग्रेस नेताओं की यात्राओं पर चुटकी लेते हुए कहा कि हुड्डा की रथयात्रा पलवल से होडल आते-आते ही समाप्त हो गई वहीं अशोक तंवर की साइकल सिरसा में ही पंचर हो गई। पे्रसवार्ता में प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व कृषि मंत्री जसविंदर संधू, आरएस चौधरी, बीडी ढालिया, विधायक परमेंद्र ढुल, बलवान दौलतपुरिया, अनूप धानक, वेद नारंग, केहर सिंह रावत व प्रवीण आत्रेय मौजूद थे।
किसानों की मांगे तुरंत प्रभाव से माने सरकार- नैना चौटाला


डबवाली, 04 जून: डबवाली की विधायक नैना सिंह चौटाला ने किसानों द्वारा चलाए जा रहे असहयोग आंदोलन में गांव डबवाली, ओढां, राजपुरा माजरा तीनों जगह धरने में पहुंच कर किसानों की मांगों का समर्थन किया। विधायक नैना सिंह चौटाला ने कहा कि यह बड़ी चिंता की बात है कि सबका पेट भरने वाले अन्नदाता को सड़कों पर उतरना पड़ रहा है, आज किसान की आर्थिक हालात बहुत खराब हो चुकी है। किसानों को फसलों के पूरे दाम नहीं मिल रहे, सरकार समय पर किसान की फसल नहीं तक नहीं खरीद रही। उन्होंने कहा कि इस सबसे साबित होता है कि भाजपा की मौजूदा केन्द्र व प्रदेश सरकार किसान विरोधी है। जिस कारण किसानों को धरना प्रदर्शन करने को मजबूर होकर असहयोग आंदोलन चलाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इनैलो पार्टी किसानों के साथ खड़ी है। उन्होंने प्रदेश सरकार को चेताया कि किसानों की मांगे तुरंत प्रभाव से पूरी करे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोगों से स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट को लागू करने का वायदा करके प्रदेश व केन्द्र की सत्ता हासिल की है। लेकिन आज भाजपा अपने वायदे को पूरा नहीं कर रही। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि तुरंत प्रभाव से स्वामीनाथंन रिपोर्ट लागू करवाए व किसानों के कर्जे तुरंत प्रभाव से माफ करने सहित किसानों के हित में फैसले ले। इस मौके पर विधायक नैना सिंह चौटाला ने गांव गोदिकां, टप्पी, मसीतां, गंगा आदि गांवों में कई घरों में शोक व्यक्त किया। इस मौके पर पूर्व विधायक डा. सीता राम, हलका प्रधान सर्वजीत मसीतां, नरेन्द्र बराड़, किसान संगठन के जसवीर भाटी, किसान संगठन से लीलाधर बलिहारा, अमृतपाल वाइस चेयरमैन, हरसिमरण बबू सरपंच, मनजीत पन्नीवाला रूलदू, राजबीर डबवाली, जग सिंह फुल्लौ, खेता सिंह देसूजोधा, करतार सिंह, जगतार सिंह पंच डबवाली, भूपेन्द्र सिंह पूर्व पंच, अमरजीत पन्नीवाला मोरिका, शिवचरण सिंह, आत्मा पन्नीवाला रूलदू, बिटू मौजगढ, गुरलाल दीवानखेड़ा, बलविंदर सरां, मंदर सरां, ओम पोटलिया, करणवीर कुंडर, केवल मल्हान, गुरप्रीत, उग्रसैन, रवि, बूटा सिंह शेरगढ आदि मौजूद रहे।

किसान सड़क पर दूध, सब्जी फेंककर विरोध करने को मजबूर - पदम जैन 


सिरसा: इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने कहा कि स्वयं को किसान हितैषी कहलाने वाली भाजपा की वास्तविकता यह है कि सरसों और गेहूं की खरीद का सीजन निकले हुए भी करीब डेढ़ माह का समय हो गया मगर अभी तक भी किसानों और आढतियों को उनके परिश्रम का पैसा नहीं दिया जा सका जिससे वे आर्थिक संकट में हैं।
सोमवार को जारी बयान में इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने कहा कि हरियाणा में यह पहली ऐसी सरकार है जिसमें किसानों और आढतियों को इतने लंबे समय से उनकी पेमेंट नहीं दी गई जो पूरी तरह से किसानों और व्यापारियों का आर्थिक शोषण करता नजर आता है। उन्होंने कहा कि निराशाजनक बात यह है कि जो सरकार किसानों के हित के लिए काम करने का दम भरती थी, उसी सरकार ने समय से पूर्व ही गेहूं की खरीद बंद कर दी। किसानों को सरसों के पूरे रेट नहीं मिल सके जिसके कारण उन्हें अपनी फसल औने पौने दामों पर ही निजी व्यापारियों को बेचनी पड़ी। किसानों को स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू कर खुशहाल बनाने का वायदा करने वाली भाजपा अपना वायदा पूरी तरह से भूल चुकी है और स्थिति ये है कि आज किसान सड़कों पर अपने खाद्यान्न और दूध आदि को फेंककर अपना विरोध जाहिर करने पर मजबूर हैं और केंद्रीय कृषिमंत्री कहते हैं कि किसान अपनी फोटो खिंचवाने के लिए ये सब कर रहे हैं। जैन ने कहा कि सिरसा में अकेले हैफेड की ओर से ही गेहूं खरीद की एवज में दी जाने वाली 25 करोड़ की राशि रोकी हुई है। उनके साथ-साथ अन्य सरकारी खरीद एजेंसियों की स्थितियों को यदि देखें तो स्थिति बेहद संवेदनशील नजर आती है। पदम जैन ने सरकार को चेताया कि यदि आगामी 2-3 दिन में किसानों और आढतियों को उनकी पेमेंट नहीं दी गई तो वे व्यापारियों के साथ मिलकर हैफेड विभाग का घेराव करेंगे।
महेंद्रगढ़ की पगड़ी पर कभी आंच नहीं आने दूंगा- दिग्विजय चौटाला


महेंद्रगढ़ :  महेंद्रगढ़ की जनता ने जो आन-बान व शान की पगड़ी मुझे भेंट की है, उस पगड़ी की जीवन भर लाज रखूँगा और इस पर कभी आंच नहीं आने दूंगा। दु:ख-सुख की घड़ी में मैं हमेशा आपके खाथ खड़ा मिलूंगा। यह बात इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कही। वे यहां रामलीला मैदान में आयोजित युवा अधिकार रैली में बतौर मुख्य वक्ता संबोधित कर रहे थे। यहां पहुंचने पर दिग्विजय सिंह चौटाला का भव्य स्वागत किया गया। वे ट्रैक्टर चला कर सभा स्थल तक पहुंचे। ट्रैक्टर के आगे ऊंटों का काफिला था और बैंड-बाजे के साथ उन्हें सभा स्थल तक लाया गया। युवा इनेलो नेता राजकुमार खातौद द्वारा आयोजित इस हलका स्तरीय रैली को लेकर युवाओं में खासा जोश था और भारी गर्मी के बीच युवा यहां 3 बजे ही रैली स्थल पर पहुंचना शुरू हो गए थे। अहीरवाल की धरा पर इनेलो ने हलका स्तरीय रैली पर भारी भीड़ जुटा कर यह साबित कर दिया कि पार्टी की ताकत कम नहीं हुई है और उसकी जमीनी पकड़ आज भी पकड़ है।
दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार पर जम कर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि जुमलेबाजों की पार्टी भाजपा ने जनता से जुड़े मु्दों पर बात करना भी छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि चुनावों से पहले भाजपा ने लाखों युवाओं को रोजगार देने, बेरोजगारों को नौ हजार रूपये मासिक भत्ता देने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, गेस्ट टीचर्स को पक्का करने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, एसवाईएल नहर का पानी लाने सहित बड़े-बड़े वायदे किए थे परन्तु सत्ता में आते ही भाजपा की नीयत व नीयति बदल गई और मूलभूत मुद्दों को छोड़ कर गाय, गायत्री, गीता और सरस्वती पर सारा ध्यान केंद्रित कर दिया। उन्होंने कहा कि गौ सेवा करना, गीता और गायत्री मंत्र करना अच्छी बात है परन्तु इनसे न तो बेरोजगारों का और न ही किसानों का पेट भरने वाला। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को रद़्दी की टोकरी में डाल दिया गया। गेस्ट टीचर्स को पक्का करने से मुख्यमंत्री से लेकर शिक्षा मंत्री सहित पूरी सरकार ने मना कर दिया। बेरोजगारों को 9 हजार भत्ता देना तो दूर की बात, रोजगारशुदा युवकों पक्की की गई नौकरी भी सरकार ने छीन ली और लाखों युवा सरकार की औछी नीति के कारण सड़कों पर आ गए। 
इनसो नेता ने कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर बेरोजगारों को रोजगार दिया जाएगा और अहीरवाल क्षेत्र में पानी की समस्या का निराकरण प्राथमिकता के साथ होगा। किसानों के कर्ज माफ होंगे वहीं उनके टयूबवैल के बिजली के बिल पूरे माफ और घरेलू बिजली के बिजली के बिल आधे किए जाएंगे। बसपा की महिला विंग की जिला अध्यक्ष सविता वर्मा ने कहा कि प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन के बाद राजनीतिक हालात बदल गए हैं और विपक्षी पार्टियों में खलबली मची हुई है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह है और प्रदेश में आने वाली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की होगी। 

Saturday, June 2, 2018

7 जून को अनाज मंडी, नूंह में होगी इनेलो की दावत-ए-इफ्तार पार्टी



पार्टी कार्यालय, अनाज मंडी नूंह में पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत ने जिला नूंह के इनेलो-बसपा के नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ 7 जून, बृहस्पतिवार को नूंह की अनाज मंडी में हर वर्ष की तरह होने वाली इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला की तरफ से दावत-ए-इफ्तार पार्टी की तैयारियों को लेकर बैठक की। बैठक में नूंह से इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन, विधायक नसीम अहमद, पूर्व मंत्री चौ. मौ. इलयास, जिलाध्यक्ष चौ. बदरूद्दीन, बसपा जिलाध्यक्ष चरण सिंह ईंडरी, योगेश शर्मा हिलालपुर, हाजी सुबराती खान, हरीश मलिक, जान मौ. हल्का अध्यक्ष पुनहाना, रणजीत नंबरदार, देवी सिंह प्रधान, साकिर इनसो, आस मौ. सालाहेड़ी, हितेश देशवाल, हाजी सोहराब सरपंच, हाजी अब्दुल्ला सरपंच, अकबर अली चंदेनी, शेरू रेवासन, इब्राहीम पहलवान, शहनाज घासेड़ा, सिराज आदि सैंकड़ो इनेलो-बसपा नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे।
पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत ने इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं की दावत-ए-इफ्तार पार्टी को लेकर ड्यूटियाँ सोंपी। उन्होंने कहा कि इनेलो की दावत-ए-इफ्तार हर वर्ष की तरह इस बार भी ऐतिहासिक होंगी जिसमें हजारों रोजेदार हिस्सा लेकर रोजा इफ्तार करेंगे। उन्होंनें कहा कि दावत-ए-इफ्तार में किसी भी रोजेदार को कोई परेशानी ना हो, इसके लिए इनेलो-बसपा के सैंकड़ो कार्यकर्ताओं की विशेष ड्यूटियां लगाई गई हैं। गोपीचंद गहलोत ने कहा कि इस बार दावत-ए-इफ्तार पार्टी में इनेलो सुप्रीमों चौ. ओमप्रकाश चौटाला के भी शिरकत करने की पूरी संभावना है। 
इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन ने कहा कि हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला की तरफ से दावत-ए-इफ्तार का आयोजन 7 जून, ब्रहस्पतिवार शाम को अनाज मंडी, नूंह में किया जा रहा है। उन्होंनें कार्यकर्ताओं से आह्वान करते हुए कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता हर गांव में घर-घर जाकर दावत-ए-इफ्तार का न्यौता दें। हुसैन ने कहा कि स्व: चौ. देवीलाल के समय से ही चौटाला परिवार का मेवात क्षेत्र से विशेष लगाव रहा है। उसी का परिणाम है कि हर वर्ष इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला मेवातवासियों को रमजान के मुबारक़ महीने में दावत-ए-इफ्तार का आयोजन करते हैं। इस दावत-ए-इफ्तार में इनेलो सुप्रीमो चौ. ओमप्रकाश चौटाला के पंहुचनें की पूरी संभावना है तथा उनके अलावा इनेलो-बसपा के अन्य वरिष्ठ नेता शिरकत करेंगे।
एमपीलेड्स के काम पूरे न होने को जब दुष्यंत ने लगाई अधिकारियों की कलास

....एसी कमरे में भी अधिकारियों के छूटने लगे पसीने



जींद:  सांसद निधि कोष से होने वाले जनहित के विकास कार्यों में घोर लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के आज एसी कमरे में पसीने छूट गए। दुष्यंत चौटाला ने वीरवार को इन अधिकारियों की जमकर कलास ली। दुष्यंत का कड़ा रूख देख अधिकारियों को होश फाख्ता हो गए । बैठक में एक-एक अधिकारी उसे एमपी लेड्स कार्यों की प्रोग्रेस रिपोर्ट पूछी तो अधिकारियों की बोलती बंद हो गई और बगलें झांकने लगे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उचाना हलके के लिए सांसद निधि कोष से 2 करोड़ 73 लाख रूपये से अधिक की राशि जारी कर चुके हैं। दुष्यंत ने अधिकारियों से पूछा कि एक करोड़ रूपये की राशि के काम पेंडिंग क्यों हैं और राशि कई महीनों से बिना खर्च किए ही पडी़ हैं, इसके लिए कौन जिम्मेवार है। दुष्यंत ने अधिकारियों का जनता का काम करने को लेकर अपना जा रहे सुस्त रवैया को लेकर उन्हें लताड़ लगार्ईं। दुष्यंत चौटाला ने दो टूक कहा कि जो अधिकारी एमपीलेड्स का पैसा महीनों से दबा कर बैठे हैं वे यह अच्छी तरह समझ लें कि यह पैसा सरकारी है और जनता के लिए खर्च किया जाना है। उन्हें ये पैसा ब्याज सहित लौटाना होगा अन्यथा विभागीय कार्रवाई के लिए तैयार रहें। कई अधिकारी तो ऐसे थे जिन्होंने अभी तक अस्टीमेट भी तैयार नहीं किया और सांसद निधि कोष के पैसे परकुंडली मारे बैठे हैं। दरअसल सांसद दुष्यंत चौटाला ने एमपीलेड्स के कार्यों की प्रोगे्रस रिपोर्ट को लेकर जींद जिले के प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक आज लघु सचिवालय कार्यालय में बुलवाई थी। बैठक में उपायुक्त, अतिरिक्त उपायुक्त सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 

अपना काम 20 दिन में कर देते हों... और जनता का 20 महीनें में भी नहीं

दुष्यंत चौटाला ने आज बैठक में अधिकारियों के प्रति काफी तल्खी दिखाई। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जिला प्रशानिक स्तर पर स्थापित होने वाली ई लाइब्रेरी स्थापित करने में तो अधिकारियों ने कोई देरी नहीं दिखाई। सांसद निधि से 4 लाख 95 हजार रूपये जारी होने के 20 दिन के भीतर अस्टीमेट तैयार कर इसे सिरे चढ़ा दिया जबकि जनता का काम होता है तो उसका अस्टीमेट अधिकारी 20 माह में तैयार नहीं करते। सांसद की यह तंज सुन वहां मौजूद अधिकारियों को मानों सांप सूंघ गया हो। 

...किसके आदेश पर किया स्थान परिवर्तन

सांसद दुष्यंत चौटाला ने आज जब अधिकारियों की बैठक में उचाना में लाला लाजपतराय पार्क में जिम की स्टेटस रिपोर्ट पूछी तो संबंधित अधिकारी ने बताया कि इसकी साईट बदल दी गई है सर। अधिकारी जवाब सुन सांसद ने पूछा कि इसकी अनुमति किससे ली गई और किसके आदेश पर बदली गई साईट। अधिकारी को इसका कोई जवाब नहीं आया और कहा कि सर जून माह में अढ़ाई लाख रूपये की लागत से पार्क में जिम स्थापित कर दिया जाएगा। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने उचाना हलके के गांवेां में पेयजल की समस्या दूर करने के लिए 18 गांवों में पानी के टैंकर देने की घोषणा की थी। इनके लिए अधिकारियों को स्टीमेट तैयार करने के निर्देश 10 महीने पहले दिए थे। बैठक में इस बारे अधिकारियों को तलब किया तो उन्होंने जवाब दिया कि इनका अस्टीमेट नहीं बन रहा। अधिकारियों की बहानेबाजी सुन सांसद ने अपनी फाइल से  कागज निकाले और बोले कि आओ मैं सीखाता हूं कि पानी का टैंकर का अस्टीमेट कैसे बनाना है। मुझे दो यह काम मैं आपको अभी अस्टीमेट बना कर दे देता हूं। सांसद की बात सुन अधिकारी हक्के-बक्के रह गए और कहा कि सर एक सप्ताह में इनका अस्टीमेट तैयार हो जाएगा। 

...फुटबाल पोल अढाई माह में नहीं लग पाया।

गांव झील में फुटबाल पोल लगाने में विभाग ने अढाई माह गुजार दिए परन्तु अभी तक यह पोल लगा नहीं है। आज बैठक में जिला ख्ेाल अधिकारी से इसका जवाब मांगा गया तो, वह इसका कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। दुष्यंत ने संबंधित अधिकारी को कहा कि फुटबाल के पोल लगाना तो 10 मिनट का काम है...फिर इतनी देरी क्यों। संबंधित अधिकारी ने देरी के लिए बैठक में माफी मांगी। 

--ब्याज सहित पैसे वापस लौटाओ

गांव काबरछां में सांसद निधि कोष से विकास कार्य के लिए एक लाख रूपये जुलाई 2016 में जारी किए गए थे परन्तु अधिकारियों ने इसका अस्टीमेट तैयार नहीं किया। बैठक की सूचना मिलने पर अधिकारियों ने यह कह कर यह राशि लौटाने की पेशकश की कि एक लाख रूपये की राशि में यह काम करना संभव नहीं है। सांसद ने पूछा कि इसका अस्टीमेट विभाग ने बनाया था तो अब इसमें क्या दिक्कत है। सांसद ने कहा कि यह काम करो अन्यथा ब्याज सहित यह राशि सरकारी खाते में जमा करवाओ। इसी प्रकार गांव खापड़ में अंबेडकर भवन के सांसद निधि कोष से दिए गए एक लाख 50 हजार रूपये अधिकारी वापस लौटाने लगे तो सांसद ने कहा कि ब्याज सहित लूंगा सारी राशि।