Monday, May 21, 2018

अभय के नेतृत्व में निर्भय होकर भरेंगे एसवाईएल मुद्दे पर जेल- बलवान सिंह दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिलाने को लेकर जारी इनेलो-बसपा का संघर्ष अब निर्णायक दौर में पहुंच चुका है, जिसमें नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में जारी जेल भरो आंदोलन अहम साबित हो रहा है। वे 22 मई की सुबह जिला मुख्यालय पर होने वाले इनेलो-बसपा के जेल भरो आंदोलन कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए जारी जनसंपर्क अभियान के तहत गांव बरसीन में ग्रामीण सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जेल भरो आंदोलन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है और इनेलो-बसपा के जिला फतेहाबाद के विभिन्न हिस्सों के कार्यकर्त्त बड़ी संख्या में 22 मई की सुबह नया बस स्टैंड के सामने स्थित अनाज मंडी शैड के नीचे एकत्रित होंगे। इसके बाद ये कार्यकर्त्ता नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में अनाज मंडी से लघु सचिवालय विरोध प्रदर्शन करते हुए पहुंचेंगे, जहां एसवाईएल का पानी सुप्रीम कोर्ट के निर्णयनुसार हरियाणा को दिलाए जाने की मांग को लेकर पार्टी नेता, पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता गिरफ्तारियां देंगे। ग्रामीण सभाओं को इनेलो राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, इनेलो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मोलूराम रूहलानिया, वरिष्ठ नेत्री विद्या रत्ति, महिला विंग जिला प्रधान सरोज सांगा, सुमनलता सिवाच, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़, बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार ने भी संबोधित किया।
दौलतपुरिया ने कहा कि जल संकट की वजह से एक तरफ जहां पूरे हरियाणा की धरती सूखने लगी है। आमजन से लेकर किसान वर्ग तक में पानी को लेकर हाहाकार की स्थिति बनने लगी है। बावजूद इसके देश-प्रदेश की भाजपा सरकार हरियाणा की जीवनरेखा कही जाने वाली एसवाईएल का पानी सुप्रीम कोर्ट का निर्णय राज्य के पक्ष में आने के बाद भी हरियाणा को नहीं दिला पाई है। सरकार का एसवाईएल नहर के प्रति उदासीन रवैया दर्शाता है कि किसानों और आमजनता को जल संकट से राहत दिलाने के मामले में वह जरा भी गंभीर नहीं है। इसके विपरित जब से सुप्रीम कोर्ट ने एसवाईएल मुद्दे पर अपना निर्णय हरियाणा के पक्ष में दिया है, तब से लेकर आज तक नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला जलनायक की भूमिका अदा करते हुए एसवाईएल का पानी प्रदेश को दिलाने के लिए आंदोलनरत है। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने इस मुद्दे पर राजनीतिक सोच से उपर उठ सत्तासीन भाजपा सहित अन्य सभी दलों को एक मंच पर आने का न्यौता दिया, लेकिन किसी ने भी हरियाणा की प्यासी धरती की प्यास बुझाने के लिए उनकी इस सार्थक पहल का समर्थन करने का साहस नहीं दिखाया। अब बसपा अध्यक्ष एवं यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने इस मामले में इनेलो से गठबंधन उपरांत स्पष्ट किया है कि हरियाणा को उसके हिस्से का पानी न मिलने तक बसपा-इनेलो कार्यकर्ता चैन की सांस नहीं लेंगे और इसके लिए उन्हें कितना भी बड़ा बलिदान क्यों न देना पड़े वे देंगे। बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि अब जिला फतेहाबाद मुख्यालय पर भी 22 मई के दिन इनेलो-बसपा कार्यकर्ता अभय चौटाला के नेतृत्व में निर्भय होकर एसवाईएल मुद्दे पर गिरफ्तारियां देकर जेल भरेंगे और यदि सरकार फिर भी इस मामले में कुंभकरणी नींद सोई रही तो बसपा अध्यक्षा मायावती, इनेलो प्रमुख एवं पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के दिशा-निर्देश पर कार्यकर्त्ता बड़े आंदोलन की तैयारी करेंगे। इस अवसर पर उनके साथ बसपा जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ प्रधान राजेश शर्मा, शमशेर भुक्कल, सुभाष गोड, सुखदेव सुखा सहित दोनों दलों के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment