Thursday, May 24, 2018

प्रदेश में ब्लैक आउट जैसे हालात- दुष्यंत चौटाला

किसानों को 24 में से सिर्फ 5 घंटे बिजली देने के निगम के फैसले के खिलाफ दुष्यंत ने खोला मोर्चा 


हिसार: हरियाणा में बिजली को लेकर ब्लैकआउट जैसे हालात हो गए हैं। प्रदेश में किसानों को 24 घंटों में से सिर्फ पांच घंटे बिजली देने के फरमान जारी हो चुके हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश सरकार के इस फैसले के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सांसद ने सरकार के साथ साथ बिजली निगम को चेताया कि अगर एक सप्ताह के भीतर इस फैसले को नहीं पलटा तो, इनेलो किसानों के साथ मिलकर सरकार की नींद हराम कर देगी। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सरकार एक ओर तो यह दावे कर रही है कि प्रदेश में बिजली सरप्लस है वहीं दूसरी ओर प्रदेश में ब्लैक आउट जैसे हालात हो गए हैं। एग्रीकल्चर फीडर पर जहां दो व तीन घंटे की कटौति के आदेश जारी हुए वहीं, ग्रामीण फीडरों पर डेढ़ घंटे की कटौति के आदेश बिजली निगम द्वारा दिए गए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बिजली निगम ने अपने आदेशों में कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र के फीडरों में 13 घंटे की बजाय 11 घंटे 30 मिनट ही बिजली की सप्लाई की जाए यानि कि प्रदेश के गांवों में अब सिर्फ 24 घंटों में से 12 घंटे और 30 मिनट तो ब्लैक आउट जैसे रहेंगे, इसके अलावा अघोषित रूप से लगाए जाने वाले कट इस कटौति से अलग हैं। सांसद ने सरकार के इस फैसले पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा कि 24 घंटे बिजली देने का दावा करने वाली भाजपा सरकार सिर्फ जुमलेबाजी ही कर लोगों को गुमराह करने पर तुली हुई है। दुष्यंत ने कहा कि असलियत यह है कि प्रदेश सरकार ने खेदड़ पावर प्लांट सहित पानीपत पावर प्लांट की कई यूनिट यह कह कर महीनों से बंद की हुई है कि प्रदेश में बिजली सरप्लस है। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में सूरज आग उगल रहा है और सरकार बिजली आपूर्ति के समुचित प्रबंध करने की बजाय बिजली आपूर्ति में कटौती कर अपने उत्तरदायित्व से भाग रही है। गर्मी के कारण बिजली की आपूति न होने के कारण आम लोगों का भी जीना मुहाल हो गया है वहीं औद्योगिक उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्र में भी अघोषित रूप से घंटों बिजली के कट लग रहे हैं। इनेलो सांसद ने कहा कि यदि सरकार ने बिजली आपूर्ति के समुचित प्रबंध नहीं किए तो इनेलो आम जनता के साथ मिलकर इसका विरोध करेगी। 

No comments:

Post a Comment