Tuesday, May 29, 2018


एक सप्ताह में पिंडारसी दोहरे हत्याकांड की गुत्थी नहीं सुलझी तो इनेलो करेगी आंदोलन- अभय चौटाला



कुरुक्षेत्र, 29 मई : हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने मंगलवार को पिंडारसी गांव में पहुंचकर भेड़ पालक राजाराम बाल्मीकि व अर्जुन बाल्मीकि की हत्या पर शोक जताया और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। परिजनों से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। परिजनों ने राजकीय रेलवे पुलिस द्वारा की जा रही जांच पर असंतोष जाहिर किया, जिस पर  अभय चौटाला ने वहीं से मोबाइल पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से बातचीत की। अभय चौटाला ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उनकी मांग पर इस हत्याकांड की जांच राजकीय रेलवे पुलिस से लेकर जिला पुलिस को दे दी है तथा आश्वासन दिया है कि एक सप्ताह में इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझा दी जाएगी। इसी के साथ-साथ मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों को चार-चार लाख रुपये की पहले की गई घोषणा के अलावा और अधिक आर्थिक सहायता देने का वायदा भी किया है। 
अभय चौटाला ने चेतावनी दी कि यदि एक सप्ताह में इस हत्याकांड की गुत्थी नहीं सुलझाई गई तो इनेलो इन गरीब परिवारों के साथ है और इस मामले को लेकर एसपी कार्यालय का घेराव करने के साथ-साथ कोई भी आंदोलन करने से पार्टी गुरेज नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि वे इस मामले को लेकर हरियाणा के डीजीपी से भी बात करेंगे। लगभग एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी इस दोहरे हत्याकांड के दोषियों को पकड़ने में पुलिस नाकाम क्यों रही । उन्होंने कहा कि आज अफसरशाही बेलगाम हो चुकी है। कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। मुख्यमंत्री उत्सव मनाने में व्यस्त है और विदेशों में सैर-सपाटा करने में लगे रहते हैं उन्हें प्रदेश की जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। उल्लेखनीय है कि गत 22 मई को पिंडारसी रेलवे स्टेशन के निकट अस्थाई रूप से बनाए गए बाड़े में भेड़पालक राजाराम व अर्जुन सिंह की निर्मम हत्या कर दी गई थी, जबकि उनका रिश्तेदार संदीप उर्फ कुलदीप गंभीरावस्था में उपचाराधीन है। इस घटना को अंजाम देने वाले लुटेरे लगभग 250 भेड़ें ट्रक में लादकर ले गए थे, जबकि 60 से अधिक भेड़ें ट्रेन के नीचे आकर कट गई थी। इस दौरान उनके साथ पिहोवा के विधायक जसविंद्र सिंह संधू, जिला इनेलो प्रधान कुलदीप सिंह मुल्तानी, मायाराम चंद्रभानपुरा, हलका प्रधान रणबीर सिंह बूरा, तूनखान, चंद्रभान बाल्मीकि, प्रवीण अत्रे, झिंझरपुर के सरपंच रणधीर सिंह, मनोज कौशिक, दीपक फौजी सहित पार्टी के अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

एसआइटी है ढकोसला- अभय 

अभय चौटाला ने कहा कि जिस मामले की लीपापोती करनी हो उसकी जांच के लिए एसआइटी गठित कर दी जाती है। जबकि एसआइटी में भी वही अधिकारी होते हैं जोकि हरियाणा पुलिस में है। यदि ये अधिकारी इतने ही सक्षम हैं तो फिर जांच निष्कर्ष तक क्यों नहीं पहुंचती। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र जिला के झांसा गांव में जनवरी माह में दलित समुदाय से संबंधित एक लड़का और लड़की के शव भाखड़ा नहर से मिले थे उस मामले में भी एसआइटी गठित की गई थी, लेकिन आज तक कोई रिपोर्ट नहीं आई। गौरतलब है कि थानेसर के विधायक ने राजाराम व अर्जुन के परिजनों को मुख्यमंत्री के पास ले जाकर एसआइटी गठित करने का आश्वासन दिया है। 

2 comments:

  1. The candidates who want to make their career in teaching profile, it is compulsory for them to qualify UPTET 2018 exam so that they can apply for the teaching job in government sector. The UP TET consist of 2 papers.

    ReplyDelete
  2. Thank you for this informative article. Looking forward to see more like thisSSC CHSL ADMIT CARD
    SSC CHSL NOTIFICATION

    ReplyDelete