Wednesday, May 30, 2018

केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार किसानों की मांगे पूरी करे- दिग्विजय चौटाला


डबवाली, 30 मई; इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा है कि 1 जून से किसानों के द्वारा शुरू किए जा रहा बंद किसानों द्वारा मजबूर होकर उठाया जा रहा कदम है। किसानों ने लंबें समय से धरने प्रदर्शन करके देख लिए लेकिन देश व प्रदेश की भाजपा सरकार पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है। इसलिए अब किसानों के पास आर पार का संघर्ष करने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं बचा है। इसलिए केन्द्र व प्रदेश को सरकार को समय रहते जाग जाना चाहिए और बंद से पहले ही किसानों की मांगे पूरी कर देनी चाहिए क्योंकि अब किसान इससे पीछे नहीं हटने वाले और अपने हकों के लिए आखिरी दम तक संघर्ष करेंगे। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि वह स्वयं किसानों के साथ खड़े है व भाजपा की सरकार को किसानों की मांगे माननी ही पड़ेगी। किसानों की इस मुहिम में देश भर के किसान संघटन सामिल है। इस आंदोलन की तीन मुख्य मांगें है पहली स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट लागु हो ताकि फसलों का वाजिब दाम मिले, दूसरी किसान की सम्पूर्ण कर्जमाफी हो, तीसरी किसान की मासिक आय निश्चित हो। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करवाने का वादा करके केन्द्र व प्रदेश में सता हासिल करने वाली भाजपा आज अपने वायदे को पूरा नहीं कर रही। जिससे भाजपा का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया है।
अनुभवहीन सरकार के कारण प्रदेश में बिजली पानी के लिए हाहाकार- दिग्विजय चौटाला 


भिवानी, 30 मई: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने भाजपा सरकार पर बिजली-पानी को लेकर आरोप लगाते हुए कहा कि अनुभवहीन सरकार के कारण ही आज प्रदेश में बिजली-पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। 24 घंटे बिजली देने का दम भरने वाली भाजपा सरकार जहां शहरों में 3 से 4 घंटे बिजली देती है वहीं गांव में मात्र 1 से डेढ घंटा बिजली देकर लोगों के साथ खिलवाड़ कर रही है। 47 डिग्री तापमान के कारण लोगों का जीना दूभर हो रहा है। बिजली और पानी की सप्लाई न करके सरकार आम जनता से खिलवाड़ कर रही है। उन्होंने कहा कि पीने के पानी की अगर बात की जाए तो एक शहर जिसकी आबादी डेढ़ से दो लाख हो उसे दस दिनों के लिए 2 हजार क्यूसिक पानी की आवश्यकता पड़ती है लेकिन इस सरकार के अनुभवहीन विधायक, सांसदों के अनुभहीनता के कारण मात्र 400-500 क्यूसिक पानी ही मिल पाता है।
इनसो नेता ने कहा कि अभी तो नहरों में पानी आना बहुत दूर है लेकिन वाटर टैंक अभी से सूख चके हैं। आने वाले दिनों में यदि सरकार ने सख्त कदम नहीं उठाए तो पीने के पानी के लिए आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। इनेलो शासन काल का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि उस समय पानी मात्र 16 से 20 दिनों के बीच में नहरों में आता था वहीं दिनों की यह गिनती कांग्रेस सरकार में 25 से 32 दिनों में हो गई और जो अब भाजपा शासनकाल में 42 दिनों तक पहुंच गई। उन्होंने कहा कि जब नहरों के अंदर पानी आता है तो सरकार के विधायकों व सांसदों को यह भी नहीं पता होता कि नहरी पानी को किसी तरह से एकत्रित करके आम जनता के लिए सप्लाई के लिए प्रयोग किया जाता है। 
इनसो नेता ने कहा कि सामाजिक ताने बाने में रहने वाली प्रदेश की आम जनता की पहली मूलभूत आवश्यकता रोटी, कपड़ा, बिजली और पानी है लेकिन भाजपा के गौरी चमड़ी के लोग जो एसी घरों/दफ्तरों में रहना पसंद करते हैं और मिनरल वाटर लेकर अपनी प्यास बुझाते हैं, उन लोगों को आम जनता के लिए पानी कितना महत्वपूर्ण यह समझना मुश्किल ही है। आज जहां खेतों में पानी देने की बात तो बहुंत दूर की बात है आम जनमानस को पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा है। सरकार की नाकामी को उजागर करते हुए दिग्विजय ने कहा कि आने वाली 5 जून तक पानी की सप्लाई न के बराबर होगी जिससे प्रदेश के हालात और अधिक खराब होने का अंदेशा है। जिसकी जिम्मेदार भाजपा की यह अनुभवहीन सरकार है। दिग्विजय ने मुख्यमंत्री से जल्द से जल्द बिजली-पानी की समस्या का तुरंत उचित हल निकालने की मांग की।

Tuesday, May 29, 2018


एक सप्ताह में पिंडारसी दोहरे हत्याकांड की गुत्थी नहीं सुलझी तो इनेलो करेगी आंदोलन- अभय चौटाला



कुरुक्षेत्र, 29 मई : हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने मंगलवार को पिंडारसी गांव में पहुंचकर भेड़ पालक राजाराम बाल्मीकि व अर्जुन बाल्मीकि की हत्या पर शोक जताया और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। परिजनों से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। परिजनों ने राजकीय रेलवे पुलिस द्वारा की जा रही जांच पर असंतोष जाहिर किया, जिस पर  अभय चौटाला ने वहीं से मोबाइल पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से बातचीत की। अभय चौटाला ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उनकी मांग पर इस हत्याकांड की जांच राजकीय रेलवे पुलिस से लेकर जिला पुलिस को दे दी है तथा आश्वासन दिया है कि एक सप्ताह में इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझा दी जाएगी। इसी के साथ-साथ मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों को चार-चार लाख रुपये की पहले की गई घोषणा के अलावा और अधिक आर्थिक सहायता देने का वायदा भी किया है। 
अभय चौटाला ने चेतावनी दी कि यदि एक सप्ताह में इस हत्याकांड की गुत्थी नहीं सुलझाई गई तो इनेलो इन गरीब परिवारों के साथ है और इस मामले को लेकर एसपी कार्यालय का घेराव करने के साथ-साथ कोई भी आंदोलन करने से पार्टी गुरेज नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि वे इस मामले को लेकर हरियाणा के डीजीपी से भी बात करेंगे। लगभग एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी इस दोहरे हत्याकांड के दोषियों को पकड़ने में पुलिस नाकाम क्यों रही । उन्होंने कहा कि आज अफसरशाही बेलगाम हो चुकी है। कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। मुख्यमंत्री उत्सव मनाने में व्यस्त है और विदेशों में सैर-सपाटा करने में लगे रहते हैं उन्हें प्रदेश की जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। उल्लेखनीय है कि गत 22 मई को पिंडारसी रेलवे स्टेशन के निकट अस्थाई रूप से बनाए गए बाड़े में भेड़पालक राजाराम व अर्जुन सिंह की निर्मम हत्या कर दी गई थी, जबकि उनका रिश्तेदार संदीप उर्फ कुलदीप गंभीरावस्था में उपचाराधीन है। इस घटना को अंजाम देने वाले लुटेरे लगभग 250 भेड़ें ट्रक में लादकर ले गए थे, जबकि 60 से अधिक भेड़ें ट्रेन के नीचे आकर कट गई थी। इस दौरान उनके साथ पिहोवा के विधायक जसविंद्र सिंह संधू, जिला इनेलो प्रधान कुलदीप सिंह मुल्तानी, मायाराम चंद्रभानपुरा, हलका प्रधान रणबीर सिंह बूरा, तूनखान, चंद्रभान बाल्मीकि, प्रवीण अत्रे, झिंझरपुर के सरपंच रणधीर सिंह, मनोज कौशिक, दीपक फौजी सहित पार्टी के अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

एसआइटी है ढकोसला- अभय 

अभय चौटाला ने कहा कि जिस मामले की लीपापोती करनी हो उसकी जांच के लिए एसआइटी गठित कर दी जाती है। जबकि एसआइटी में भी वही अधिकारी होते हैं जोकि हरियाणा पुलिस में है। यदि ये अधिकारी इतने ही सक्षम हैं तो फिर जांच निष्कर्ष तक क्यों नहीं पहुंचती। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र जिला के झांसा गांव में जनवरी माह में दलित समुदाय से संबंधित एक लड़का और लड़की के शव भाखड़ा नहर से मिले थे उस मामले में भी एसआइटी गठित की गई थी, लेकिन आज तक कोई रिपोर्ट नहीं आई। गौरतलब है कि थानेसर के विधायक ने राजाराम व अर्जुन के परिजनों को मुख्यमंत्री के पास ले जाकर एसआइटी गठित करने का आश्वासन दिया है। 

सरकार ने बिजली सप्लाई में कटौती कर किसानों जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया - दुष्यंत चौटाला 


सिरसा: हिसार के सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार की नाकामियों से आहत प्रदेशवासियों ने इस बार निर्णय कर लिया है कि इनेलो बसपा गठबंधन को सत्ता में लाना है। इससे पूर्व चुनावों में इनेलो बसपा गठबंधन के रूप में कमेरे वर्ग की टक्कर लुटेरे वर्ग से होगी। 
वे मंगलवार को चौटाला हाउस में पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे। भाजपा सरकार की उदासीनता और निष्क्रियता पर बरसते हुए सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि हाल ही में प्रदेश सरकार ने दो नोटिस जारी कर ग्रामीणों को मिलने वाली घरेलू और कृषि क्षेत्र को मिलने वाली बिजली सप्लाई में क्रमश: डेढ़ घंटे और दो घंटे का कट लगाकर उनके जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेशभर में जितनी भी बड़ी बिजली परियोजनाएं अथवा थर्मल प्लांट हैं लगभग पूरी तरह से ठप हैं और कुछेक इकाईयों से ही महंगे दामों पर प्रदेशवासियों को कटों के साथ बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। हिसार के सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि वर्ष 2006-07 में कांग्रेस शासनकाल में तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व ऊर्जा मंत्री रहे रणदीप सिंह सुरजेवाला ने 1426 मैगावाट बिजली के लिए गुजरात के अडानी ग्रुप से 2.94 रुपए के फिक्स रेट पर आगामी 25 सालों के लिए समझौता किया था मगर बाद में अडानी ने कोर्ट आदि के चक्कर लगाकर अपने करार में फिक्स रेट से अधिक राशि का लाभ बढ़वा लिया। फिक्स करार के बाद भी ट्रिब्यूनल के माध्यम से फिर बिजली के रेटों में बढौतरी करवा ली गई जो सीधे तौर पर प्रदेशवासियों के हितों पर कुठाराघात था। अब भाजपा सरकार ने भी चुपके से फिर बिजली के रेटों में 20 पैसे की बढ़ौतरी कर जनता को करंट दिया है। उन्होंने कहा कि अब अंबानी, अडानी जैसी कंपनियों के बाद टाटा जैसे धनाढ्य घराने भी 600 मैगावाट बिजली के लिए ब्लैकमेल करने पर आमादा हैं। दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि अभी प्रदेश में बिजली की स्थिति ये है कि केवल 50 फीसदी ही बिजली इकाईयों में उत्पादन हो रहा है जो आवश्यकता से कहीं अधिक कम है। उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि केवल पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल और ओमप्रकाश चौटाला ने ही प्रदेश की बिजली परियोजनाओं का व्यक्तिगत स्तर पर निरीक्षण किया और इकाईयों को बेहतर बनाने की दिशा में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने प्रश्र उठाए कि यदि आज बिजली की हालत ये है तो आने वाले समय में धान की बिजाई होगी तब क्या स्थिति होगी? उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार ने अपनी गलत नीतियों व अनुभवनहीनता के चलते हरियाणा को अंधेरे में धकेलने का प्रयास किया है। उन्होंने यह भी कहा कि एक ओर कच्चे तेल की कीमतों में कमी है, वहीं देश पेट्रोल, डीजल और गैस सिलेंडरों के दामों में बढ़ौतरी हो रही है, समझ से परे है। अब नरेंद्र मोदी वर्ष 2013 में पेट्रो पदार्थों की कीमतों में हुई वृद्धि के कारण सरकार को क्यों नहीं कोस रहे? देश में किसानों की दशा पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि खेती करने वाले अन्नदाता आज सरकार की गलत नीतियों के कारण मार पड़ रही है और ऐसे में उपाय केवल यही है कि सभी किसान संगठित होकर अपने हकों के लिए संघर्ष करें। हुडा विभाग की ओर से पानीपत के हुडा सेक्टरवासियों पर इन्हांसमेंट भेजने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि आज हुडा विभाग का पूरी तरह से खजाना खाली हो गया है और वहां के कर्मचारियों को वेतन देने के लिए भी पैसे नहीं हैं, ऐसे में विभाग द्वारा हुडा सेक्टरवासियों पर इन्हांसमेंट का बोझ डालना किसी भी तरह से तर्कसंगत नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से चल रही कानूनी लड़ाई के मसले पर सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला ने कहा कि वे शीघ्र ही अनिल विज को न्यायाधीश के सामने पेश होने पर मजबूर कर देंगे और व्यक्तिगत और हिसार की जनता से माफी मांगने पर बाध्य करेंगे। 
इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, पूर्व चेयरमैन अमीर चावला, डॉ. हरिसिंह भारी, तरसेम मिढा, महावीर शर्मा, युवा इनेलो के जिलाध्यक्ष अजब सिंह ओला, अंजनी लढ़ा, योगेश शर्मा, डॉ. विनोद गोदारा, पूर्व चेयरमैन अशोक वर्मा आदि अनेक पार्टी पदाधिकारी मौजूद थे। 
दुष्यंत चौटाला ने कराया रोजा इफ्तार और रमजान की मुबारकबाद दी 


हिसार: युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने सोमवार को सिरसा रोड स्थित चौ. देवीलाल सदन में रमजान के पवित्र महिने में इफ्तार की दावत दी जिसमें मुस्लिम समुदाय के हजारों लोग शामिल हुए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने मुस्लिम समाज के लोगों को रमजान के पवित्र माह की मुबारकबाद दी और देश-प्रदेश में अमन शांति व भाईचारा कायम रखने की कामना की। इस अवसर पर इनेलो की ओर से जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, विधायक रणबीर गंगवा, विधायक वेद नारंग, अनूप धानक, सजन लावट ने रमजान के पवित्र महिने की मुबारकबाद दी। 
यहां चौ. देवीलाल सदन में आयोजित इस इफ्तार पार्टी ने सांसद दुष्यंत चौटाला ने रमजान के महिने में लोगों का रोजा खुलवाया।  इसके बाद इमाम ने नीयत पढ़ी और रोजा इफ्तार किया। दावत में शामिल लोगों ने नमाज अता की और खाना खाया। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मुस्लिम समाज के लिए रमजान का सबसे पवित्र महीना है और इसमें लोगों को अल्लाह की इबादत करने का मौका मिलता है। यह हमारे पूरे समाज के लिए आपसी भाईचारे को बढ़ाने और सोहार्द बनाए रखते हुए शांति बनाए रखने का संदेश देता है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हर धर्म अच्छाईयों को अपनाने और बुराई को छोडऩे का संदेश देता है। उन्होंने कहा कि देश-प्रदेश और समाज की उन्नति के लिए जरूरी है कि हर धर्म का सम्मान करें और एक-दूसरे के साथ मिल कर चलें। उन्होंने मुस्लिम समाज को ईद की मुबारकबाद दी। 
इस अवसर पर मुस्लिम नेता हरफूलखान भट्टी ने दावत-ए- इफ्तार के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला और इनेलो पार्टी का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मुस्लिम धर्म कहता है कि मुझे बैर हरगिज नहीं है किसी से, मैं दुनिया में सबका का भला चाहता हूं। हमारे समाज में सोहार्द बनाए रखने के लिए इस सोच को समझते हुए आगे बढऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि अल्लाह जितना आशीर्वाद रोजा रखने वाले को देता है, अल्लाह उससे ज्यादा आशीर्वाद रोजा खुलवाने वाले को देता है।  अवसर पर इनेलो प्रकोष्ठ के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला प्रधान राजबीर खान, चतर सिंह, युद्धवीर आर्य, शीला भ्याण,पूर्ण सिंह डाबड़ा राज हसीना, बसपा पार्टी के जिला प्रभारी बलराज सातरोडिया, जिला प्रधान राजकपूर पाली, बजरंग इंदल, सतबीर छिंपा, होशियार खान, अदरीश खान, माजिद खान, जईद अहमद, अली मुहम्मद, ताहिर अहमद, गुरदीप सिंह चड्ढा, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित बूरा, सिल्क पूनिया, महावीर खर्ब, ललिता टाक, राजू भगत सहित मुस्लिम समुदाय के भारी संख्या में लोग शामिल हुए।  आशीष कुंडू, रमजान उल्ल मुबारक, माह ए रमजान की मुबारक बाद दी। 
हलका डबवाली में नैना चौटाला ने किया विकास कार्यों का उद्घाटन 



डबवाली : विधायिका नैना सिंह चौटाला ने हलका डबवाली के गांव खोखर, तिगड़ी, नौरंग, चट्ठा व डबवाली शहर का दौरा किया व विकास कार्यों का उदघाटन किया। 

किये गये कार्यों का विवरण- 
  • गांव खोखर में नवनिर्मित धर्मशाला का उद्घाटन व एक आई पी बी गली का उद्घाटन किया।
  • गांव नौरंग में आई पी बी गली का उद्घाटन किया।
  • गांव तिगड़ी में आई पी बी गली का उद्घाटन व 
  • शमशान घाट के पक्के रास्ते व शैड का उद्घाटन किया।
उसके बाद गांव चठा में  कार्यकर्ताओं से मिली और मौके पर समस्यायें सुनी और समाधान किया।
गांवों में लोगों को संबोधित करके हुए विधायक नैना सिंह ने कहा की हल्के में विकास करवाना उनकी प्राथमिकता रही है। हल्का डबवाली में, एम पी लेड स्कीम व ज़िला परिषद के द्वारा अनेक विकास कार्ये करवाये गए हैं लेकिन बीजेपी सरकार द्वारा लगातार डबवाली के साथ बेदबाव कि राजनीति जारी है। उन्होने कहा कि डबवाली में जो मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विकास कार्यों का एलान किया था वो अब भी अधूरे है। विधायिका ने ऐलान किया इनेलो सरकार आने पर डबवाली के हर गांव को आदर्श गांव के तौर पर विकसित किया जाएगा। विकास कार्यों में कोई कमी नही रहने दी जाएगी
उनके साथ हल्का प्रधान सरबजीत मसीतां, जत्थेदार जगसीर सिंह, पूर्व प्रधान नरिंदर बराड़, प्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह मटदादू, गिरधारी बिस्सू, बलवीर हस्सू, जिला पार्षद प्रतिनिधि गुरजंट तिगड़ी, महिला नेत्री सरोज बनवाला, मंजीत सरपंच पन्नीवाला, बबू सरपंच निल्लियांवली, आत्मा सिंह पन्नीवाला, राजबीर डबवाली, बलबीर तिगड़ी, रविंदर सरपंच तिगड़ी, गुरप्रीत सरपंच पाना, जसकरण पटवारी, महकम सिंह, हरजिंदर सरपंच खोखर, गोरा खोखर, हरभजन खोखर, लछमन सिंह नौरंग, हरपाल नौरंग नसीब नौरंग आदि मौजूद थे।
कैराना के उपचुनाव में फायदा उठाने के लिए पीएम ने किया केजीपी का उद्घाटन- दुष्यंत चौटाला

  • प्रधानमंत्री को देना चाहिए जवाब, आखिर हरियाणा के लोगों को कब मिलेगा केएमपी

  • 2019 के चुनाव में देश की राजनीति में होंगे बडे बदलाव, कांग्रेस से लोगों का हो चुका है मोह भंग

  • भाजपा से मुक्ति के लिए क्षेत्रिय दलों को होना होगा एक मंच पर खड़ा, देश से प्रदेश से जाएगी भाजपा

  • प्रदेश में बिजली को लेकर दी प्रतिक्रिया, सांसद बोले, अडानी और टाटा को पहुंचा जा रहा है फायदा

  • वह दिन दूर नहीं जब प्रदेश में होगा ब्लैक आउट, जनता को सरकार ने आंकडों के फेर में उलझाया

रोहतक: इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कैरान उपचुनाव में फायदा लेने के लिए उद्घाटन किया है, प्रधानमंत्री को यह भी बताना चाहिए कि आखिर हरियाणा के लोगों को केएमपी की सौगात कब मिलेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा की उल्टी गिनती शुरु हो चुकी है, देश व प्रदेश की जनता भाजपा से मुक्ति चाहती है। देश को भाजपा से मुक्ति दिलाने के लिए सभी क्षेत्रिय दलों को एक साथ खड़ा होना पडेगा। 2019 के चुनाव में देश की राजनीति में बड़ा बदलाव होगा। सांसद रविवार को दिल्ली बाइपास स्थित जिला प्रधान सतीश नांदल के कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे। उन्होंने यहां पर एक मीडिया सेंटर का भी उद्घाटन किया। सांसद ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के दस साल के शासन काल के दौरान प्रदेश को कर्ज में डूबो दिया था और अब भाजपा ने उस कर्ज को ओर भी दुगना कर दिया। भाजपा सरकार ने प्रदेश में न तो कोई बड़ा प्रोजेक्ट शुरु किया और न ही योजना। सीएम को इस बात का जवाब देना चाहिये कि आखिर कर्ज दुगना कैसे हो गया। उन्होंने कहा कि कर्नाटक से भाजपा की उल्टी गिनती शुरु हो चुकी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी से देश की जनता का पहले ही मोह भंग हो चुका है, लेकिन अब भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए क्षेत्रीय दलों को एक मंच पर एकत्रित होना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार को इस बात का जवाब देना होगा कि केएमपी कब पूरा होगा। यह प्रोजेक्ट वर्ष 2003 में शुरू हुआ था, लेकिन 15 साल बाद भी इसका निर्माण पूरा नहीं हो पाया है। भाजपा ने सता में आने से पहले की प्रदेश की जनता से 154 वायदे किए थे, लेकिन सरकार ने एक भी वायदा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं को रोजगार देने में भी विफल साबित हुई है। आज प्रदेश का युवा रोजगार की तलाश के लिए दर दर की ठोकरे खाने पर मजबूर है और सरकार निजीकरण को बढ़ावा देकर पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने में जुटी है। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश में बिजली दरों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार को निशाने साधा और कहा कि राज्य सरकार पूरी तरह से अडानी कंपनी के आगे झुक गई है। हालात ऐसे हैं कि अगर अडानी बिजली आपूर्ति बंद कर दे तो पूरे हरियाणा में ब्लैक आउट हो जाएगा। उन्होंने कृषि मंत्री धनखड़ पर निशाना साधते हुए कहा कि बिजली को लेकर उनके आंकडें़ सही नही है, शायद वे गणित में फेल हो चुके हैं। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष सतीश नांदल, बलवान सुहाग, डा. महेश, संदीप हुड्डा, सौरभ फरमाणा, कृष्ण कौशिक, राजेश सैनी, सत्यवान, रविंद्र सांगवान, बलराम मकडौली, रविंद्र बखेता आदि मौजूद रहे।  
पुरानी पेंशन योजना लागू करने के मुद्दे को लोकसभा में उठाऊंगा- दुष्यंत चौटाला


हिसार: सरकारी कर्मचारियों का पुरानी पेंशन योजना का लाभ लेना न केवल संवैधानिक और जायज है बल्कि यह उनका हक भी है। केंद्र व प्रदेश सरकार को कर्मचारियों की मांग को तुरंत मानते हुए पुरानी पेंशन योजना लागू करनी चाहिए। कर्मचारियों के इस मुद्दे पर इनेलो पार्टी उनकी इस मांग का समर्थन करती है और सरकार ने उनकी मांग नहीं मानी तो वह इस मुद्दे को लोकसभा में उठाएंगे और उनकी इस मांग को लेकर कर्मचारियों के संषर्घ में हमेशा साथ हैं। यह घोषणा इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने की। उन्होंने रविवार को यहां अपने आवास पर पुरानी पेंशन योजना की मांग को लेकर ज्ञापन देने आए कर्मचारियों को दूरभाष पर आश्वासन दिया। सांसद की ओर से इनेलो जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, विधायक रणबीर गंगवा, विधायक वेद नारंग, हलका प्रधान सज्जन लावट ने यह ज्ञापन कर्मचारियों से लिया। इनेलो विधायक रणबीर गंगवा ने कर्मचारियों को आश्वास्त किया कि पूरी इनेलो पार्टी उनकी मांगों का समर्थन करती है और इस मुद्दे को इनेलो विधानसभा में उठाएगी। उन्होंने कर्मचारियों को आश्वास्त प्रदेश में उनके सत्ता में आने पर पुरानी पेंशन योजना बहाल की जाएगी। 
इनेलो विधायक रणबीर गंगवा ने कहा कि हरियाणा में पुरानी पेंशन योजना को निरस्त कर वर्ष 2006 में नई एपीए पेंशन योजना लागू की गई थी। उन्होंने कहा कि उस समय प्रदेश में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के मुख्यमंत्रीत्वकाल में कांग्रेस की सरकार थी। जिला प्रधान राजेंद्र लितानी ने कर्मचारियों को आश्वास्त करते हुए कहा कि इनेलो न केवल कर्मचारियों के हितों की रक्षा के लिए संघर्ष करती रही है बल्कि सत्ता में आने जननायक स्व. देवीलाल ने वृद्धावस्था पेंशन योजना लागू कर हरियाणा की धरती से सामाजिक सुरक्षा की नींव रख देश में एक नया उदाहरण प्रस्तुत किया था। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी तो कर्मचारियों के साथ साथ आम नागरिकों के लिए पेंशन योजना लागू करने की पक्षधर रही है। विधायक वेद नारंग ने सरकारी कर्मचारी अपने जीवन के सबसे महत्वपूर्ण वर्ष सरकारी सेवाओं में देता है और उसे सामाजिक सुरक्षा के तहत पेंशन मिलनी चाहिए जिससे कि उनमें बुढ़ापे में किसी प्रकार की असुरक्षा की भावना न आए। 
15 जून को सोनीपत के जेल पड़ेंगे छोटी 

दलित वर्ग के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी छोड़कर इनेलो पार्टी का थामा दामन 


हेमचंद्र रंगा हंसराज चोपड़ा धर्म सिंह चोपड़ा राजकुमार रंगा छतर सिंह तवर जितेंद्र रंगा कृष्ण रंगा धर्मेंद्र रंगा ख्याली चोपड़ा तेजभान रंगा आदि कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी छोड़कर इनेलो पार्टी में शामिल होने की घोषणा की ।
गांव लहराडा में आयोजित एक जनसभा में बोलते हुए इनेलो पार्टी के जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने कहा 15 जून को जेल भरो आंदोलन में सोनीपत की जेल की जगह कम पड़ जाएगी और हजारों की संख्या में इनेलो और बसपा के कार्यकर्ता  एसवाईएल नहर के पानी के लिए दलित और किसान पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ जेल भरो आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग लेंगे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता युवा हलका प्रधान दीपक सरोहा ने की। बैठक में दर्जनों परिवारों ने कांग्रेस पार्टी छोड़कर इनेलो पार्टी का दामन थामा बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के जिलाध्यक्ष चौधरी पदम सिंह दहिया ने कहा इनेलो और बसपा गठबंधन की सरकार बनने के बाद दलित कमरे और किसान वर्ग के लिए अनेक योजनाएं लाई जाएंगी। दहिया ने कहाभारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी ने गरीबों का शोषण किया है इनेलो की सरकार बनते ही ₹2500 पेंशन दी जाएगी किसानों के कर्ज माफ किए जाएंगे हर घर से एक बेरोजगार युवक को नौकरी दी जाएगी बिजली के बिल आधे किए जाएंगे गरीब कन्या की शादी में ₹500000 दिए जाएंगे। दहिया ने कहा 15 जून के जेल भरो आंदोलन के लिए सोनीपत जिले के कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह और जोश है । इस मौके पर खरखोदा हल्का  अध्यक्ष अशोक राणा, युवा जिला अध्यक्ष कुणाल गहलावत, बसपा के जॉन प्रभारी आजाद सिंह, प्रीतम बोध, हरि प्रकाश मंडल, अनीता खांडा, मुकेश बागड़ी, पवन तुर्कपर, मोंटी मंडल, विशाल शर्मा, प्रीतम बोध आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे
गरीब परिवार की बेटी की शादी में देंगे पांच लाख रूपये कन्यादान- नैना चौटाला 


बवानीखेड़ा/भिवानी:  इंडियन नेशनल लोकदल-बहुजन समाज पार्टी गठबंधन की सरकार बनने पर हर गरीब परिवार की बेटी को पांच लाख रूपये कन्यादान दिया जाएगा। इतना ही नहीं बुढ़ापा पेंशन अढ़ाई हजार रूपये प्रति माह दी जाएगी वहीं किसानों का कर्ज माफ और टयूबवैल का बिजली का बिल माफ किया जाएगा। यह घोषणा डबवाली से विधायिका नैना चौटाला ने रविवार को हिसार लोकसभा के गांव जाटू लुहारी में आयोजित हरी चुनरी की चौपाल में महिलाओं को संबोधित कर रही थी। गांव के बीचों-बीच आयोजित इस कार्यक्रम ने नैना चौटाला के समक्ष घूंघट हटा कर महिलाओं खुले मंच के साथ साथ माइक पर आकर अपने मन की बात रखी। नैना चौटाला के समक्ष महिलाओं ने न केवल राजनीति में अपनी भागीदारी बढ़ाने पर खुल कर बात की बल्कि इनेलो पार्टी को मजबूत करने में महिलाओं की भूमिका पर भी अपने सुझाव दिए। हरी चुनरी की चौपाल को लेकर महिलाओं में खासा जोश था और भारी तपिश के आगे भी इन महिलाओं का जोश कम नहीं हुआ। आसपास की गांवों में हजारों की संख्या में यहां महिलाएं पहुंची। महिलाओं ने हरियाणवीं गीत गाकर नैना चौटाला का स्वागत किया। कार्यक्रम को लेकर महिलाओं का जोश देखने लायक था और चुल्हा-चौकी, खेती-बाड़ी का काम छोड़ कर भारी संख्या में यहां महिलाओं ने हरी चुनरी की चौपाल में भाग लिया। गांव की महिलाओं ने कहा कि यह पहला मौका है जब इस प्रकार के कार्यक्रम के माध्यम से सरकार तक उनकी समस्याएं पहुंचाने और अपने मन की बात बताने का मौका मिला है। 
इनेलो विधायिका ने कहा कि जननायक चौ. देवीलाल की नीतियों पर चलने वाली इनेलो पार्टी व स्व. कांशीराम की नीतिों पर चलने बसपा ने महिलाओं और गरीबों को उनका हक दिलवाने के लिए संघर्ष किया है वहीं सत्ता में आने पर उनके लिए कल्याणकारी योजनाएं लागू की। उन्होंने प्रदेश सरकार पर बरसते हुए कहा कि भाजपा के शासनकाल में महिलाओं की परेशानियां बढ़ी हैं, उनके पीने के पानी की व्यवस्था करने के लिए कई किलोमीटर पैदल चल कर पानी की व्यवस्था करनी पड़ती है। छात्राओं के पढऩे के लिए पर्याप्त संख्या में शिक्षण संस्थान नहीं है और महिलाओं पर अत्याचार बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश के लिए यह बेहद शर्मनाक बात है कि महिला यौन-उत्पीडऩ की घटनाओं की संख्या में बेहताशा वृद्धि हुई है और आए दिन रूह कांपने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं। नैना चौटाला ने कहा कि महिला थाने भी इन घटनाओं को रोकने में नाकाम रहे हैं और सफेद हाथी साबित हो रहे हैं। उन्होंने मंच से वायदा किया कि इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में कानून व्यवस्था ठीक कर महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष सुनील लांबा, बसपा के महासचिव कृष्ण जमालपुर, जोगेंद्र कायला, विधायक ओमप्रकाश बड़वा, पूर्व विधायक धर्मपाल ओबरापूर्व विधायक  महिला प्रदेशाध्यक्ष शीला भ्याण, महिला प्रदेशा उपाध्यक्ष सीमा लांबा,पूर्व विधायक सरोज मोर, महिला जिला अध्यक्ष इंदू परमार, दया भुरटाना, कमला रानी, सुदेश बिडलान, पूर्व चेयरमैन वीना सारसर, गुड्डी लांग्यान, जाटू लुहारी की पूर्व सरपंच भगवती, दादरी जिला अध्यक्ष लक्ष्मी बलौदा, पूर्व जिला पार्षद सुमन कुंगड़, शकुंतला श्याणी,  बिमला राजपूत निर्मला पंवार रेवाड़ीखेड़ा, नगर परिषद की पूर्व चेयरमैन पूनम सांगवान, जिला पार्षद सिलोचना पोटलिया सहित भारी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी। 

Monday, May 28, 2018

सीएम के समक्ष इनेलो विधायक हर पुस्तकालय में इंचार्ज मनानेनित करने की करेंगे मांग



फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया जल्द प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के समक्ष जिला भर में चल रहे पुस्तकालयों की दशा सुधारने व इन्हें सुचारू रूप से चलाने के लिए इनमें इंचार्ज मनोनित करने की मांग रखेंगे। यह आश्वासन विधायक बलवान दौलतपुरिया ने अपने अनाज मंडी स्थित कार्यालय में पहुंचे हरियाणा लाईब्रेरी एसोसिएशन पदाधिकारियों को उनकी समस्याएं सुनने उपरांत दिया। इस दौरान लाइब्रेरी एसोसिएशन पदाधिकारियों ने डॉ नरेन्द्र सिंह शौक़ीन के नेतृत्व में विधायक दौलतपुरिया को एक ज्ञापन सौंप उन्हें अपनी समस्याओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी और इनका निदान करवाने की मांग की। ज्ञापन सौंपने वालों में डॉ नरेन्द्र चिमनी, सुनील नैन, राजेश सिहाग, डॉ जोधाराम, महेन्द्र सिंह, रेणू दहिया, शर्मिला, लखविन्द्र व मंगत कंबोज मुख्य रूप से शामिल रहे।
विधायक को सौंपे गए ज्ञापन में एसोसिएशन पदाधिकारियों ने मांग उठाई कि सभी सरकारी शिक्षण संस्थानों विशेषकर, सरकारी स्कूलों के पुस्तकालयों में इंचार्ज मनोनित किए जाएं। लाइब्रेरी तब तक सही स्वरूप में चल ही नहीं, सकती जब तक इनकी देख-रेख के लिए सरकार लाइब्रेरी इंचार्ज नहीं लगा देती। पदाधिकारियों ने कहा कि अधिकतर स्कूलों में सरकार अभी तक पुस्तकालय सुविधा छात्रों को दे ही नहीं पाई है, जिनमें दी है, वे इंचार्ज के बिना बदहाली का शिकार है। हालांकि अरोही मॉडल स्कूलों व नवोदय विद्यालयों में बनी लाईब्रेरी में इंचार्ज मनोनित किए गए है, लेकिन अन्य सरकारी शिक्षण संस्थानों के पुस्तकालयों में ऐसा न होने से इनके लिए योग्य युवा, योग्य होते हुए भी बेरोजगारी की मार झेलने को मजबूर है। एसोसिएशन पदाधिकारियों ने बताया कि हरियाणा में 20 हजार के करीब लाइब्रेरियन कोर्स किए हुए उम्मीदवार सरकारी स्तर पर पुस्तकालय खुलने पर इनमें तैनात होने की बाट जोह रहे है। विधायक दौलतपुरिया ने लाइब्रेरी एसोसिएशन पदाधिकारियों को आश्वस्त किया कि उनकी योग्यता के साथ किसी तरह की अनदेखी नहीं होने दी जाएगी और वे सरकार के समक्ष उनकी इस मांग को मजबूती के साथ रखेंगे। उन्होंने कहा कि वे प्रयास करेंगे कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिल वे जल्द से जल्द लाइब्रेरी एसोसिएशन द्वारा रखी गई मांगों को लागू करवाने का काम करें। इस अवसर पर नीतू रानी, हरजीत कौर, प्रियंका, रोहताश, महेन्द्र आदि सदस्य भी उपस्थित रहे।

विधायिका नैना चौटाला ने जरूरतमंदों की आर्थिक सहायता की


डबवाली: विधायिका नैना सिंह चौटाला ने डबवाली हलका के जरूरतमंद व पिछड़े लोगों को आर्थिक सहायता के लिए सहयोग प्रदान करते हुए चैक वितरित किए। विधायिका ने इस मौके पर हलका के गांव नुहियांवाली, किंगरे, मिठड़ी, नीलांवाली, मांगेआना, जोगेवाला आदि गांवों में मृतक परिवारों के घरों में जाकर शोक व्यक्त किया। साथ ही गांवों में ग्रामीणों से मिलकर उनकी समस्या भी सुनी। उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश रहेगी कि जरूरतमंदों को अधिक से अधिक सहायता प्रदान करे ताकि उन्हें कोई कमी महसूस न हो सके। उन्होंने गांव चौटाला के ओमप्रकाश पुत्र रामेश्वर को 20 हजार रूपए, हरपाल कौर पत्नी दर्शन सिंह गांव जोगेवाला को 5000, नुहियांवाली की रोशनी देवी पत्नी राजेन्द्र व ज्याणी देवी पत्नी प्रताप को 5-5 हजार, डबवाली शहर के वार्ड न. 13 के विजय कुमार पुत्र हंसराज को 10,000, डबवाली शहर के वार्ड न. 15 की महिन्द्र कौर पत्नी कृष्ण लाल को 5000, गांव ओढां हरदवारी लाल पुत्र साधू राम को 5000, गांव पिपली के देवकी देवी पत्नी नछतर सिंह को 10,000, गांव किंगरे की रानी कौर पत्नी मंगू को 5000 की आर्थिक सहायता दी। विधायिका ने गांव गोदिकां व बिज्जूवाली में कुछ दिन पहले दुर्घटना में जान गंवा देने वाले 2 घरों में जाकर भी शोक व्यक्त किया। वहां पर उनकी घर की आर्थिक स्थिति देखते हुए मौके पर ही दोनों मृतक परिजनों को 10-10 हजार के चैक प्रदान किए। विधायक ने गांव गोदिकां की रोशनी देवी पत्नी लीलू राम को 10,000, गांव बिज्जूवाली की शकुंतला देवी पत्नी आदराम को 10,000 दिए। उन्होंने परिजनों को कहा कि इस मुश्किल की घड़ी में वह परिजनों के साथ है।
इस मौके पर पूर्व विधायक डा. सीता राम, हलका प्रधान सर्वजीत मसीतां, महिला विंग की हलका प्रधान रूकमा सिहाग, पूर्व सरपंच गोदिकां गिरधारी बिस्सू, एस.जी.पी.सी. मैम्बर जगसीर मांगेआना, ब्लाक समिति मैम्बर रणदीप मटदादू, मनजीत पन्नीवाला रूलदू, सरपंच नीलांवाली हरसिमरण बबू, गुरमेल सिंह सालमखेड़ा, युवा प्रधान करणवीर कुंडर, संदीप मेहता, बिटू मौजगढ, जगजीत सिंह किंगरे व उग्रसैन ओढां आदि मौजूद रहे।

Friday, May 25, 2018

मृतक भेड़ पालकों को दस-दस लाख की सहायता व परिवार के सदस्य को दी जाए सरकारी नौकरी- अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र 25 मई: इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने आज पिंडारसी गांव में जाकर लूट के इरादे से मारे गये भेड़ पालकों राजाराम वाल्मीकि व अर्जून सिंह वाल्मीकि के परिजनों को सांत्वना दी। अरोड़ा ने मृतकों के परिजनों को अपनी ओर से सहायतार्थ 50 हजार रुपये की राशि दी। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने  हरियाणा सरकार से मांग की है कि मृतकों के आश्रितों को दस-दस लाख रुपये की राशि व परिवार के एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। उन्होंने पीजीआई में उपचाराधीन संदीप का इलाज सरकारी खर्चे पर करवाने की मांग करते हुए उसके परिजनों को भी आर्थिक सहायता देने की मांग की। उल्लेखनीय है कि गत दिनों अज्ञात लूटरों ने पिंडारसी गांव निवासी भेड़ पालक राजाराम के बाड़े पर रात को लूट के इरादे से हमला कर दिया था, इस घटना में राजाराम व अर्जून सिंह की निर्मम हत्या कर दी गई थी जब कि उनके रिश्तेदार संदीप को बुरी तरह से घायल कर दिया था। संदीप का पीजीआई में इलाज चल रहा है। लूटेरे लगभग 250 भेड़ लूटकर ले गये थे जब कि 60 से अधिक भेड़ें रेल के नीचे कट कर मर गई थी और लगभग 200 भेड़ें जख्मी हो गई थी।  
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने हरियाणा सरकार से  यह भी मांग की है कि भेड़ पालाकों के हुए नुकसान की भरपाई की जाए। उन्होंने कहा कि हरियाणा में कानून व्यवस्था का दीवाला पिट चुका है। किसी की भी जान-माल सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि पुलिस अभी तक इस वारदात का कोई पता नहीं लगा पाई है जिस कारण गांववासियों में भारी रोष है। अशोक अरोड़ा ने कहा कि सरकार उत्सव मनाने में लगी हुई है और जनता को राम भरोसे छोड़ दिया गया है। इस अवसर पर इनेलो अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के जिला संयोजक चंद्रभान वाल्मीकि, जोगेंद्र घराड़सी, पूर्व सरपंच जसमेर, रणधीर सिंह सरपंच झिंझरपुर, राम कुमार पिंडारसी, दीपक फौजी, ईशम सिंह, दर्शन, कृष्ण, लालू भगत, रामधारी, पवन कुमार, कुलवंत, जस्सा सिंह व जोगेंद्र ने भी मृतक के परिजनों को सांत्वना दी और हरियाणा सरकार से मांग की है कि इस घटना को अंजाम देने वालों को शीघ्र से शीघ्र पकड़ा जाए।
सोहना अग्निकांड में मृतक के घर शोक व्यक्त करने पहुंचे अभय चौटाला


शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला दो सप्ताह पूर्व सोहना में अग्निकांड में स्व. नेन सिंह बघेल के निधन पर परिवार के बीच शोक प्रकट करने पंहुचे। उन्होंनें पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। चौ. अभय चौटाला गांव ईंडरी पंहुचनें से पहले सोहना में व्यवसायी रवि मदान की धर्मपत्नी के निधन पर शोक प्रकट करने उनके घर पंहुचे। आपको बता दें इसी भीषण आग से रवि मदान की धर्मपत्नी व ईंडरी निवासी नेन सिंह बघेल की जलकर मौत हो गई थी। 
ईंडरी में डाॅक्टरों की लापरवाही से शहीद हुए स्व. अमित व स्व. भागमल के निधन पर भी शोक प्रकट करने उनके परिवार के बीच भी पंहुचे। पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, इनेलो विधायक चौ. ज़ाकिर हुसैन, किशोर यादव, जिलाध्यक्ष मास्टर बदरूद्दीन, बसपा जिलाध्यक्ष चरण सिंह आदि ने भी उनके साथ शोक प्रकट कर पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया। 
चौ. अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो प्रदेश के लोगों की आवाज है, जो सभी के सुख-दुःख में हमेशा साथ खड़ी है। उन्होंनें कहा कि बड़े अफसोस की बात है भाजपा सरकार में फायर ब्रिगेड  जैसी सुविधाएं तक काम नहीं कर रही हैं। भाजपा सरकार पूरी तरह से फैल हो चुकी है। उल्लेखनीय है कि दो सप्ताह पूर्व सोहना में एक व्यवसायी रवि मदान के घर भीषण आग लगी थी जिसमें रवि मदान की पत्नि व नेन सिंह बघेल ईंडरी की आग से जलकर मौत हो गई। फायर ब्रिगेड सोहना की लापरवाही से उस आग पर काबू नहीं पाया जा सका, जिससे जान-माल का भारी नुकसान हुआ। उन्होंनें कहा कि सरकार पीड़ित परिवार को मुआवजा दे तथा इसकी जांच कराए।
अभय चौटाला के नेतृत्व में जल संघर्ष युद्ध में इनेलो बसपा कार्यकर्ताओं ने पलवल में दीं गिरफ्तारियां
  

पलवल, 25 मई : एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में आज इनेला-बसपा के 5100 कार्यकर्ताओं ने पलवल में गिरफ्तारियां दी। जलयुद्ध के लिए चल रहे जेल भरो आंदोलन का नेतृत्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेश प्रभारी राजबीर सिंह और हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने किया। उनके नेतृत्व में सचिवालय का घेराव कर इनेलो-बसपा नेता व कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारी देने वालों में अभय सिंह चौटाला, राजबीर सिंह, पूर्व स्पीकर गोपीचंद गहलोत, सांसद दुष्यंत चौटाला, विधायक जाकिर हुसैन, विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, विधायक केहर सिंह रावत, बसपा उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, बसपा महासचिव कृष्ण जलालपुर, पूर्व विधायक कली राम पटवारी, रामफल कुंडू, सुभाष चौधरी, जगदीश नैयर, जिलाध्यक्ष अजीत बॉबी, बसपा जिलाध्यक्ष कमल देव गौतम सहित अनेक गठबंधन नेता शामिल थे। गिरफ्तारी से पूर्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएगें लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी बन गया था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी।


नेता विपक्ष ने  यह भी कहा कि प्रदेश के बटवारे के वक्त हुए समझौते के अनुसार हरियाणा को जो पानी मिलना चाहिए था वो आज तक नहीं मिला। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश में पिछली सरकार कांग्रेस की थी जिन्होंने प्रदेश के हिस्से के पानी और एसवाईएल नहर कीे निर्माण के नाम पर केवल राजनीति की और भाजपा भी आज कांग्रेस के ही नक्शे कदम पर चल रही है। उन्होंने भाजपा पर एसवाईएल निर्माण को लेकर गंभीर न होने का भी आरोप लगाया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि विदेशों में जमा काला धन लाकर हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए डालने की बात करने वाले मोदी जी ने नोटबंदी कर माता-बहनों की बचत पर हमला कर उनकी छोटी-मोटी राशि को भी छीनने का काम किया है साथ ही उन्होंने प्रदेश सरकार पर भी वादाखिलाफी का आरोप लागाते हुए कहा कि भाजपा ने हर वर्ग को ठगा है युवाओं को दो लाख रोजगार हर साल देने की बात की थी लेकिन प्रदेश में युवा बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेश के प्रभारी राजबीर सिंह ने कहा कि बसपा इनेलो के साथ मजबूती से खड़ी है और हर संघर्ष में कंधे से कंधा मिलाकर साथ देगी। उन्होंने  कहा कि बसपा चाहती है कि हरियाणा प्रदेश में किसान का बेटा मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाले और केंद्र में बहन मायावती जी प्रधानमंत्री की।

Thursday, May 24, 2018

इनेलो-बसपा जेल भरो आंदोलन में उमड़ी भीड़ ने बढ़ाई सरकार की चिंता- निशान सिंह


फतेहाबाद: इनेलो-बसपा के एसवाईएल मुद्दे पर गत दिवस जिला मुख्यालय पर हुए जेल भरो आंदोलन में उमड़ी भीड़ का दोनों दलों के नेताओं व पदाधिकारियों ने आभार जताया है। इनेलो किसान सैल प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, बसपा जिला प्रभारी बलवान भारखड़, डॉ मीरा नंदा, इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला, वरिष्ठ नेता मोलूराम रूहलानियां, कुलजीत कुलड़िया, हलकाध्यक्ष बिकर सिंह हड़ोली, भरत सिह परिहार व हरि सिंह मेहरिया ने इस बाबत जारी संयुक्त ब्यान में एसवाईएल मुद्दे पर जिला फतेहाबाद की अहम भागीदारी करार दिया। उन्होंने कहा कि जेल भरों आंदोलन में जिस तरीके से जिला भर से हजारों के महिला-पुरूषों की भीड़ पहुंची, उसने देश-प्रदेश में एक बड़े राजनीतिक बदलाव के संकेत दे दिए है। एसवाईएल मुद्दे पर इनेलो-बसपा के जेल भरो आंदोलन की अब तक की सफलता ने भाजपा सरकार की चिंता बढ़ा दी है और आंदोलन में कार्यकर्त्ताओं की उत्साहजन भागीदारी के साकारात्मक परिणाम जल्द मिलेंगे। दूसरी तरफ न्यायालय परिसर में इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष राजेश शर्मा व हलकाध्यक्ष भरतसिंह परिहार ने जेल भरो आंदोलन में भागीदारी करने वाले अधिवक्ताओं का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर अधिवक्ता राजेश शर्मा, देवेन्द्र कसवां, सुमनलता सिवाच, जिले सिंह, इन्द्र सिहाग, भरत सिंह परिहार, राजीव गोदारा, सुरेश परोचा, देवेन्द्र भटटू, सुभाष भादु, विरेन्द्र जाखड्, रामेश्वर गिजरोईया, अनिल सक्सेना, कन्हैया लाल, विष्णू डेलू, विनोद पुनियां, मुकेश भटटू आदि उपस्थित थे।
प्रदेश में ब्लैक आउट जैसे हालात- दुष्यंत चौटाला

किसानों को 24 में से सिर्फ 5 घंटे बिजली देने के निगम के फैसले के खिलाफ दुष्यंत ने खोला मोर्चा 


हिसार: हरियाणा में बिजली को लेकर ब्लैकआउट जैसे हालात हो गए हैं। प्रदेश में किसानों को 24 घंटों में से सिर्फ पांच घंटे बिजली देने के फरमान जारी हो चुके हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश सरकार के इस फैसले के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सांसद ने सरकार के साथ साथ बिजली निगम को चेताया कि अगर एक सप्ताह के भीतर इस फैसले को नहीं पलटा तो, इनेलो किसानों के साथ मिलकर सरकार की नींद हराम कर देगी। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सरकार एक ओर तो यह दावे कर रही है कि प्रदेश में बिजली सरप्लस है वहीं दूसरी ओर प्रदेश में ब्लैक आउट जैसे हालात हो गए हैं। एग्रीकल्चर फीडर पर जहां दो व तीन घंटे की कटौति के आदेश जारी हुए वहीं, ग्रामीण फीडरों पर डेढ़ घंटे की कटौति के आदेश बिजली निगम द्वारा दिए गए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बिजली निगम ने अपने आदेशों में कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र के फीडरों में 13 घंटे की बजाय 11 घंटे 30 मिनट ही बिजली की सप्लाई की जाए यानि कि प्रदेश के गांवों में अब सिर्फ 24 घंटों में से 12 घंटे और 30 मिनट तो ब्लैक आउट जैसे रहेंगे, इसके अलावा अघोषित रूप से लगाए जाने वाले कट इस कटौति से अलग हैं। सांसद ने सरकार के इस फैसले पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा कि 24 घंटे बिजली देने का दावा करने वाली भाजपा सरकार सिर्फ जुमलेबाजी ही कर लोगों को गुमराह करने पर तुली हुई है। दुष्यंत ने कहा कि असलियत यह है कि प्रदेश सरकार ने खेदड़ पावर प्लांट सहित पानीपत पावर प्लांट की कई यूनिट यह कह कर महीनों से बंद की हुई है कि प्रदेश में बिजली सरप्लस है। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में सूरज आग उगल रहा है और सरकार बिजली आपूर्ति के समुचित प्रबंध करने की बजाय बिजली आपूर्ति में कटौती कर अपने उत्तरदायित्व से भाग रही है। गर्मी के कारण बिजली की आपूति न होने के कारण आम लोगों का भी जीना मुहाल हो गया है वहीं औद्योगिक उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्र में भी अघोषित रूप से घंटों बिजली के कट लग रहे हैं। इनेलो सांसद ने कहा कि यदि सरकार ने बिजली आपूर्ति के समुचित प्रबंध नहीं किए तो इनेलो आम जनता के साथ मिलकर इसका विरोध करेगी। 
प्यासे हरियाणा को भाजपा नहीं दिलाना चाहती एसवाईएल का पानी- अभय चौटाला


फतेहाबाद: एसवाईएल मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लागू करवाने को लेकर संघर्षरत इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ताओं ने आज जिला फतेहाबाद मुख्यालय में जेल भरो आंदोलन के तहत नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में हजारों की संख्या में एकत्रित होकर गिरफ्तारियां दी। अनाज मंडी शैड के नीचे जेल भरो आंदोलन के तहत एकत्रित हुए इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ताओं की भीड़ देख दोनों पार्टियों के शीर्ष नेता गदगद नजर आए। गिरफ्तारियां देने पहुंचे कार्यकर्त्ताओं में महिलाएं भी बड़ी तदाद में पहुंची। गिरफ्तारियां देने से पूर्व कार्यकर्त्ताओं को शीर्ष नेता अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, नरेन्द्र प्रजापति, किसान प्रकोष्ठ प्रदेशाध्यक्ष स निशान सिंह, सांसद चरणजीत रोडी, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला ने भी मुख्य रूप से संबोधित किया। मंच संचालन इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों ने किया।
इस मौके पर अभय चौटाला ने प्रदेश की भाजपा सरकार को पूरी तरह से अनुभवहीन व जनविरोधी बताते हुए कहा कि हरियाणा के बच्चे से लेकर वृद्ध व्यक्ति तक का कंठ जल संकट के कारण सूखने लगा है। अन्नदाता किसान की जमीन पानी की भारी कमी की मार झेल रही है, मगर इन सबसे अनजान बन देश-प्रदेश की भाजपा सरकार जनता के खून-पसीने से जमा हुए सरकारी खजाने को विदेशी सैर-सपाटों व राहगिरी के नाम पर गिल्ली डंडा खेलने जैसे अनाप-शनाप कामों में बर्बाद कर रही है। उन्होंने कहा कि एसवाईएल मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय हरियाणा के पक्ष में आने के बावजूद पानी प्रदेश को न मिलना इस बात को प्रमाणित करता है कि हरियाणा की प्यासी धरती की प्यास बुझाने को लेकर भाजपा सरकार जरा भी गंभीर नहीं है। अभय चौटाला ने सरकार पर किसानों को धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने दादूपुर-नलवी नहर निर्माण को इसलिए रोक दिया ताकि उसको कोर्ट के निर्देशानुसार किसानों को बढ़ा हुआ मुआवजा न देना पड़े। जबकि इस नहर का निर्माण उत्तरी हरियाणा में सिंचाई और गिर रहे भूमिगत जलस्तर के सुधार के लिए हर दृष्टिकोण से अति आवश्यक था। इसी प्रकार एसवाईएल मामले में भी भाजपा सरकार का रवैया पूरी तरह से नाकारात्मक रहा है, जिसके चलते जननायक स्व ताउ देवीलाल के आदर्शों पर चलते हुए इनेलो-बसपा गठबंधन ने अब जेल भरो आंदोलन के जरीये प्रदेश के गंभीर मुद्दों पर नींद में सोई भाजपा सरकार को जगाने का निर्णय लिया है। जेल भरो आंदोलन में उमड़ रही भीड़ ने सत्तासीन भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस व अन्य विरोधी दलों के भी हौश उड़ा रखे हैं। उन्होंने दावा किया कि जब तक एसवाईएल का पानी हरियाणा को नहीं मिल जाता, इनेलो-बसपा का कोई कार्यकर्त्ता चैन की सांस नहीं लेगा। जेल भरो आंदोलन में सक्रिय भागीदारी निभा रही बसपा पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने अपने संबोधन में कहा कि नरेंद्र मोदी झूठ बोलकर प्रधानमंत्री बने थे और उन्होंने देश की जनता के साथ विश्वासघात किया है। आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरा मोर्चा भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगा। भारती ने कहा कि जो लोग इनेलो-बसपा के प्राकृतिक गठबंधन को अवसरवादिता का नाम दे रहें है, शायद उन्हें याद नहीं कि यह किसान-कमेरे की एकता जननायक ताऊ देवीलाल और साहेब कांशीराम के समय का साथ है जो सदा भ्रष्टाचारियों और सांप्रदायिक ताकतों के विरुद्ध एकजुट होकर लड़ेगा। इस अवसर पर कर्ण कुनाल सिंह, विधायक रणबीर गंगवा, मक्खन सिंगला, युद्धवीर आर्य, मोलूराम रूहलानियां, विद्या रत्ति, सरोज सांगा, डॉ मीरा नंदा, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, सुरेन्द्र पंघाल, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़,बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, बिकर सिंह हड़ोली, पूर्ण नारंग, सुरेन्द्र लेगा, एडवोकेट पीएस फानर, राकुल महमी, ईश्वर बागड़ी, राजेन्द्र सूरा, विकास मेहता, राणा जोहल, यशपाल तनेजा, अशोक मेहता, बलदेव दरियापुर, बृजलाल जांडवाला, शमशेर भुक्कल, रतन दहिया सहित अनेक कार्यकर्त्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।



जाम की चेतावनी दी तो नेता प्रतिपक्ष को गिरफ्तार करने पहुंचे डीएसपी
जेल भरो आंदोलन की पूर्व में घोषणा किए जाने के बावजूद जिला प्रशासन की तरफ से इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ताओं को गिरफ्तार करके अस्थाई जेल तक ले जाने की प्रशासनिक व्यवस्था से नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला खासे खफा नजर आए। गिरफ्तारियों के लिए प्रशासनिक स्तर पर बसों की संख्या कम होने व कार्यकर्त्ताओं को सुरक्षित अस्थाई जेल तक ले जाने के लिए पुलिस बल भी मौके पर नाममात्र नजर आया। इसके बाद जब नेता प्रतिपक्ष ने प्रशासन को चेताया कि यदि जल्द व्यवस्था ठीक नहीं की तो वे जेल भरने की बजाय, प्रशासनिक अव्यवस्था के खिलाफ सड़क पर बैठ जाम लगा देंगे तो आनन-फानन में डीएसपी जगदीश के नेतृत्व में एक टीम को मौके पर भेज नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती व अन्य शीर्ष नेताओं की औपचारिक गिरफ्तारी की गई। अस्थाई जेल में भी मैनुअल के अनुसार व भीषण गर्मी के बावजूद सरकार व जिला प्रशासन कार्यकर्ताओं के लिए चाय व पानी का भी प्रबंध न होने को लेकर भी इनेलो नेताओं ने रोष व्यक्त किया। 

Monday, May 21, 2018

नहर का निर्माण नहीं होने पर खेत बंजर और किसान पलायन को मजबूर हो जायेगा- अभय चौटाला 


सिरसा: हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि यदि केंद्र सरकार ने एसवाईएल मामले में दखल देकर नहर का निर्माण नहीं कराया तो हरियाणा के खेत बंजर बन जाएंगे और किसानों को पलायन करना होगा। वे सोमवार को सिरसा बार में अधिवक्ताओं को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व सिरसा बार में पहुंचने पर बार के अध्यक्ष अजय बंसल, सचिव गणेश सेठी, उपप्रधान लक्की दुग्गल व संयुक्त सचिव वंदना मोंगा आदि ने उन्हें शॉल ओढाकर व पुष्पगुच्छ देकर उनका अभिनंदन किया। इस दौरान अभय सिंह चौटाला ने वकीलों से कहा कि वे सिरसा की बार को अपना पारिवारिक मानते हैं और वे एसवाईएल के मुद्दे पर उनका आशीर्वाद लेने आए हैं। उन्होंने इस अवसर पर वकीलों को बताया कि पंजाब से हरियाणा के अलग होने के बाद एसवाईएल के लिए जमीन अधिग्रहण करने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल ने पंजाब सरकार को एक करोड़ रुपए दिए थे और निर्माण करने के लिए 2 करोड़ की राशि दी थी मगर बाद की सरकारों ने कभी भी इस दिशा में कोई गंभीर प्रयास नहीं किए जिसकी वजह से आज तक यह मुद्दा अटका हुआ है। उन्होंने बताया कि केवल इनेलो शासनकाल में ही इस मुद्दे को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में उठाया गया था जिस पर न्यायालय ने पंजाब सरकार से इसका निर्माण करने के आदेश दिए थे, मगर पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने इसका घोर विरोध करते हुए पंजाब विस में विधेयक पारित कर इसका निर्माण न होने देने में रोड़ा अटकाया। उन्होंने सभी वकीलों से केंद्र सरकार पर इसका निर्माण कराने के लिए दबाव बनाने का भी आह्वान किया। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो ने इस मुद्दे पर 19 माह के लंबे अरसे के दौरान चार चरणों में आंदोलन चलाया जिसमें जंतर मंतर पर धरना, पंजाब में गिरफ्तारियां देना, जेल भरो आंदोलन और 8 हजार से अधिक पंचायतों के प्रस्ताव पारित कर राष्ट्रपति को भेजा जाना शामिल है। इन तमाम प्रयासों के बीच केंद्र व हरियाणा सरकार पूरी तरह से उदासीन हैं। उन्होंने कहा कि उनका जेल भरो आंदोलन आगामी 15 जुलाई तक जारी रहेगा। उन्होंने इस गंभीर मुद्दे पर दलगत राजनीति से ऊपर उठकर हरियाणा के लिए संवेदनशील मुद्दे पर केंद्र पर दबाव बनाने का आह्वान किया। इस अवसर पर उनके साथ बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष रमेश मेहता एडवोकेट, इनेलो कानूनी सैल के जिला संयोजक हरपाल सिंह ढिल्लों, एलडी मेहता एडवोकेट, अमीर चावला एडवोकेट, प्रदीप मेहता एडवोकेट, राहुल शर्मा एडवोकेट, योगेश मोदी एडवोकेट, योगेश शर्मा एडवोकेट, राजन बावा एडवोकेट, बुधसिंह गिल एडवोकेट, आरडी गर्ग, संदीप, अजय मोंगा, नीरज मेहता, अभयनंदन जैन एडवोकेट, राजकुमार गर्ग, मंजीत सिंह सेठी, पवन कोचर एडवोकेट, इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह, पूर्व मंत्री भागीराम, जसवीर सिंह जस्सा, कश्मीर सिंह करीवाला, अजब ओला, धर्मवीर नैन, तरसेम मिढा व महावीर शर्मा आदि गणमान्य लोग मौजूद थे।
अभय के नेतृत्व में निर्भय होकर भरेंगे एसवाईएल मुद्दे पर जेल- बलवान सिंह दौलतपुरिया


फतेहाबाद: इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि एसवाईएल का पानी हरियाणा को दिलाने को लेकर जारी इनेलो-बसपा का संघर्ष अब निर्णायक दौर में पहुंच चुका है, जिसमें नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में जारी जेल भरो आंदोलन अहम साबित हो रहा है। वे 22 मई की सुबह जिला मुख्यालय पर होने वाले इनेलो-बसपा के जेल भरो आंदोलन कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए जारी जनसंपर्क अभियान के तहत गांव बरसीन में ग्रामीण सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जेल भरो आंदोलन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है और इनेलो-बसपा के जिला फतेहाबाद के विभिन्न हिस्सों के कार्यकर्त्त बड़ी संख्या में 22 मई की सुबह नया बस स्टैंड के सामने स्थित अनाज मंडी शैड के नीचे एकत्रित होंगे। इसके बाद ये कार्यकर्त्ता नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के नेतृत्व में अनाज मंडी से लघु सचिवालय विरोध प्रदर्शन करते हुए पहुंचेंगे, जहां एसवाईएल का पानी सुप्रीम कोर्ट के निर्णयनुसार हरियाणा को दिलाए जाने की मांग को लेकर पार्टी नेता, पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता गिरफ्तारियां देंगे। ग्रामीण सभाओं को इनेलो राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, इनेलो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मोलूराम रूहलानिया, वरिष्ठ नेत्री विद्या रत्ति, महिला विंग जिला प्रधान सरोज सांगा, सुमनलता सिवाच, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़, बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार ने भी संबोधित किया।
दौलतपुरिया ने कहा कि जल संकट की वजह से एक तरफ जहां पूरे हरियाणा की धरती सूखने लगी है। आमजन से लेकर किसान वर्ग तक में पानी को लेकर हाहाकार की स्थिति बनने लगी है। बावजूद इसके देश-प्रदेश की भाजपा सरकार हरियाणा की जीवनरेखा कही जाने वाली एसवाईएल का पानी सुप्रीम कोर्ट का निर्णय राज्य के पक्ष में आने के बाद भी हरियाणा को नहीं दिला पाई है। सरकार का एसवाईएल नहर के प्रति उदासीन रवैया दर्शाता है कि किसानों और आमजनता को जल संकट से राहत दिलाने के मामले में वह जरा भी गंभीर नहीं है। इसके विपरित जब से सुप्रीम कोर्ट ने एसवाईएल मुद्दे पर अपना निर्णय हरियाणा के पक्ष में दिया है, तब से लेकर आज तक नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला जलनायक की भूमिका अदा करते हुए एसवाईएल का पानी प्रदेश को दिलाने के लिए आंदोलनरत है। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने इस मुद्दे पर राजनीतिक सोच से उपर उठ सत्तासीन भाजपा सहित अन्य सभी दलों को एक मंच पर आने का न्यौता दिया, लेकिन किसी ने भी हरियाणा की प्यासी धरती की प्यास बुझाने के लिए उनकी इस सार्थक पहल का समर्थन करने का साहस नहीं दिखाया। अब बसपा अध्यक्ष एवं यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने इस मामले में इनेलो से गठबंधन उपरांत स्पष्ट किया है कि हरियाणा को उसके हिस्से का पानी न मिलने तक बसपा-इनेलो कार्यकर्ता चैन की सांस नहीं लेंगे और इसके लिए उन्हें कितना भी बड़ा बलिदान क्यों न देना पड़े वे देंगे। बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि अब जिला फतेहाबाद मुख्यालय पर भी 22 मई के दिन इनेलो-बसपा कार्यकर्ता अभय चौटाला के नेतृत्व में निर्भय होकर एसवाईएल मुद्दे पर गिरफ्तारियां देकर जेल भरेंगे और यदि सरकार फिर भी इस मामले में कुंभकरणी नींद सोई रही तो बसपा अध्यक्षा मायावती, इनेलो प्रमुख एवं पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के दिशा-निर्देश पर कार्यकर्त्ता बड़े आंदोलन की तैयारी करेंगे। इस अवसर पर उनके साथ बसपा जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ प्रधान राजेश शर्मा, शमशेर भुक्कल, सुभाष गोड, सुखदेव सुखा सहित दोनों दलों के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।
चिकनी चुपड़ी बातों से पेट नहीं भरता मोदी जी, पेट्रोल-डीजल के दाम कम करो- दुष्यंत चौटाला 


हिसार, 21 मई: मोदी जी, चिकनी चुपड़ी बातें बहुत हो चुकी हैं, इन बातों से आम जनता का पेट नहीं भरने वाला। आम लोग पेट्रोल व डीजल की आसमान छूती कीमतों से त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। आंकड़ों की बाजीगरी में माहिर भाजपा सरकार मंहगाई की दर को एक अंक में दर्शा कर अपनी पीठ ठोंकती है परन्तु पेट्रोल व डीजल की आसमान छूती कीमतें भाजपा के नेताओं को क्यों नहीं दिखाई दे रही है। मंहगाई को लेकर चूडिय़ां तक भेजने वाले भाजपाई आज चुप्पी क्यों साधे हुए हैं। मोदी जी हरियाणा का किसान, व्यापारी, दुकानदार, मजदूर सहित हर वर्ग आज आंसू बहा रहा है, अगर भाजपा ने इनकी सुध नहीं ली तो आने वाले चुनावों में आपको खून के आंसू बहाने पर मजबूर कर देगा। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तुरंत कम करने की मांग की। वे सोमवार को अग्रोहा में इनेलो-बसपा के जोन स्तरीय कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि केंद्र सरकार पिछले छह माह में सैंकड़ो बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा चुकी है और अंतरराष्ट्रीय बाजार कच्चे तेल की कीमतें कम हो जाती हैं तो केंद्र सरकार अपना सेंट्रल टैक्स बढ़ा देती है। केंद्र सरकार सत्ता में आने के बाद केंद्रीय टैक्स में सात बार वृद्धि कर चुकी है। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने मनोहर खट्टर सरकार को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि बड़ी-बड़ी बातें करने वाले मुख्यमंत्री जनता के गाढ़े खून-पसीने की कमाई से विदेश में जाकर सैर-सपाटे कर रहे हैं। यहां हरियाणा में आकर राहगिरी में डीजे की धुन पर मस्ती कर रहे हैं और गुल्ली डंडा खेल कर मानो जनता के घावों पर नमक छीड़कने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री को प्रदेश के लोगों की इतनी ही चिंता है तो उन्होंने पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले स्टेट टैक्स में अब तक राहत क्यों नहीं दी। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे घर-घर, गली-गली जाकर भाजपा की जनविरोधी नीतियों की पोल खोलें और उन्हें बताएं कि किस तरह से भाजपा की नीतियों के कारण आम आदमी का जीना बेहाल हो गया है। सांसद ने कहा कि कार्यकर्ता इनेलो-बसपा की संयुक्त रूप से गांव स्तर पर टीम गठित करें और गठबंधन की सरकार बनाने के लिए दिन-रात मेहनत करें। उन्होंने कहा कि भाजपा से हर वर्ग बुरी तरह से दुखी है और सिर्फ इनेलो-बसपा गठबंधन से उम्मीद लगाए बैठा है। बैठक में जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, बसपा जिला प्रधान राजकपूर पाली, विधायक अनूप धानक, रणधीर पूनिया, कैप्टन छाजूराम, रवि मीरपुर, ललिता टाक, महेंद्र सैनिवाल, बसपा के रामफल बौद्ध, संदीप मेहरा, तेलूराम अग्रोहा, बहादुर बौद्ध, रामफल नंगथला, मास्टर सज्जन, सिल्ला बामसेफ सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे। 
एसवाईएल पर अब 22 को अनाज मंडी में हुंकार भरेंगे इनेलो-बसपा कार्यकर्त्ता- बलविन्द्र कैरों




फतेहाबाद: एसवाईएल मुद्दे पर इनेलो-बसपा के कार्यकर्त्ता जेल भरो आंदोलन के तहत अब 22 मई की सुबह बस स्टैंड के सामने स्थित अनाज मंडी शेड के नीचे एकत्रित होंगे और यहीं से नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती के संयुक्त नेतृत्व लघु सचिवालय पहुंच गिरफ्तारियां देंगे। यह जानकारी इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों ने इनेलो-बसपा के जेल भरो आंदोलन के तहत 22 मई को फतेहाबाद में प्रस्तावित कार्यक्रम के लिए जारी जनसंपर्क अभियान में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए दी। जनसंपर्क अभियान के तीसरे दिन इनेलो नेताओं ने गांव मताना, धांगड़, एमपी रोही, खजूरी, गोरखपुर, चौबारा, मोची, नहला, दहमान आदि दर्जन भर गांवों का दौरा किया। इस दौरान ग्रामीण सभाओं को इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, इनेलो राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, इनेलो वरिष्ठ नेता मोलूराम रूहलानियां, बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भानखड़, इनेलो वरिष्ठ नेत्री विद्या रत्ति, महिला विंग जिला प्रधान सरोज सांगा, सुमनलता सिवाच, बसपा हलकाध्यक्ष कृष्ण बड़गुज्जर व इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार ने भी मुख्य रूप से संबोधित किया।
इनेलो-बसपा नेताओं ने अपने संबोधन में किसान और कमेरे वर्ग का आह्वान करते हुए कहा कि जनविरोधी भाजपा सरकारों के खिलाफ लामबंद होने का समय आ गया है। दोनों दलों द्वारा जेल भरो आंदोलन को जल संबंधी न्याय पाने के लिए संघर्ष का केवल एक चरण बताया गया। उन्होंने कहा कि बसपा अध्यक्षा मायावती व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के नेतृत्व में वे प्रदेश के हक के पानी को किसान के खेतों तक पहुंचाने के लिए किसी भी कुर्बानी से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने एसवाईएल निर्माण पर स्थिति स्पष्ट न करने पर केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला हरियाणा के हक में आने के 18 महीने बाद भी इसको लटकाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 36 बिरादरी के भाईचारे को बिगाड़ने और जातिवाद व धर्म की आड़ में राजनीति करने वाले इन दलों की मंशा को इनेलो-बसपा गठबंधन कभी कामयाब नहीं होने देगा। इस अवसर पर बसपा जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ जिला प्रधान राजेश शर्मा, शमशेर भुक्कल, सुभाष गोड, सुखदेव सुखा सहित संगठन के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता उपस्थित रहे। 
भाजपा जा रही है-इनेलो-बसपा आ रही है- दुष्यंत चौटाला 


हिसार: कर्नाटक घटनाक्रम के बाद प्रदेश में भाजपा के खिलाफ उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है और आने वाले चुनावों में भाजपा को उसकी जनविरोधी नीतियों के लिए कड़ा सबक  सिखाने के लिए इनेलो-बसपा के कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को पार्टी से जोडऩे के लिए कड़ी मेहनत करें। यह आह्वान इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने किया। वे गांव बास में नारनौंद हलके के 19 गांवों के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जननायक चौ. देवीलाल व स्व. काशीराम ने हमेशा कमेरे वर्ग के हकों के लिए दलितों और पिछड़े वर्गों के लिए संघर्ष किया है। इनेलो व बसपा का संघर्ष लूटेरे वर्ग के खिलाफ रहा है। देश एवं प्रदेश में कमेरे वग का शासन कायम करने के लिए इनेलो-बसपा कार्यकर्ता बूथ स्तर पर अपनी टीमें मजबूत करें। उन्होंने कहा कि रूठे हुए कार्यकर्ताओं के गिले-शिकवे दूर कर उन्हें मनाएं और नए लोगों को पार्टी के साथ अधिक से अधिक संख्या में जोड़ें। 
इनेलो सांसद ने कहा कि कर्नाटक में जो घटनाक्रम हुआ है, उसकी जनक तो कांग्रेस है लेकिन अबकी बार भाजपा भी इस परम्परा को आगे बढ़ाने में पीछे नहीं रही, जिसके कारण उसे मुंह की खानी पड़ी। उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम के बाद हरियाणा ही नहीं पूरे देश में भाजपा एवं कांग्रेस के खिलाफ एक पालिटिकल मूवमेंट शुरू हो चुका है जोकि भाजपा को सत्ता से बाहर होने पर खत्म होगा। इससे पहले बसपा के पूर्व प्रभारी गुरचरण सिंह, हलका प्रधान रामदिया,कोषाध्यक्ष डा. दिलबाग सिंह, प्रकाश बौध, विक्रम पेटवाड़ व अन्य बसपा नेताओं ने सांसद दुष्यंत चौटाला को पगड़ी भेंट कर व संविधान निर्माता डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा भेंट कर उनका स्वागत किया। बसपा नेता गुरचरण सिंह ने कहा कि बसपा व इनेलो का मेल पारिवारिक है और दिलों का मेल है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन के बाद कांग्रेस व भाजपा नेताओं की परेशानी बढ़ गई है। हरियाणा में इनेलो-बसपा को सत्ता में आता देख वे जनता के मुद्दों से अपना ध्यान हटा कर गठबंधन को लेकर लगतार बयानबाजी करने में लगे हैं। 
इस अवसर पर जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, पूर्व विधायक सरोज मोर, हलका प्रधान सतबीर सिसाय, जिला उपप्रधान राजसिंह मोर, धर्मवीर सिसाय, अमित बूरा, सुशील खर्ब, सेवापति पानू, सुरेंद्र कौर खर्ब, जस्सी पेटवाड़, महावीर खर्ब,राजेश बिल्लू, योगेश गौतम राजेंद्र सरपंच, कालिया बास, ईश्वर सिंघवा, यादविंद्र खर्ब,प्रताप मलिक, अनिल लोहान, महेंद्र शर्मा, भीमा पंडित, होकमी फौजी, श्याम सैनी, योगेश शर्मा मोहला, संतोष पानू, मेहताब खर्ब, धर्मवीर मदनहेड़ी, ओमप्रकाश, सहित भारी संख्या कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

अभय चौटाला जी ने जरुरतमंदों को बांटे चैक  


सिरसा : ऐलनाबाद के विधायक एवं नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो राजनीति करने के साथ-साथ सामाजिक कार्यों में भी रूचि रखती है तथा जरूरतमंद लोगों की सहायता करना भी अपना नैतिक कर्तव्य समझती है। वे सोमवार को डबवाली रोड स्थित अपने आवास पर हलका ऐलनाबाद के 13 जरूरतमंद लोगों को अपने विधायक कोटे से लगभग 2 लाख रूपए के चैक बांट कर उनकी आर्थिक मदद की। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा के 70 प्रतिशत विधायक अपने विधायक कोटे का पैसा जरूरतमंद लोगों को देनेे की बजाए अपनी जेब में डालते हैं। चौटाला ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री स्वयं को ईमानदार समझते हैं तो वे अपने विधायकों व मंत्रियों की जांच करवाएं तो बहुत बड़ा घोटाला उजागर हो सकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता मौजूदा भाजपा शासन से पूरी तरह से परेशान है। उन्होंने कहा कि सत्ता से पहले भाजपा नेताओं ने प्रदेश की जनता से अनेक वायदे किए थे जिसमें मुख्य रूप से कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना, हरियाणा के कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतन देना और जिन बेरोजगारों को रोजगार नहीं दिया जा सके उन्हें 6 और 9 हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता देना शामिल है मगर सत्ता में आने के बाद भाजपा अपने वायदों से पूरी तरह से मुकर गई जो उसका चरित्र दर्शाता है। इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि आज प्रदेश में किसानों की भी दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। उन्हें सरसों का उचित भाव नहीं मिल रहा जिससे वे सस्ते में ही अपनी फसल निजी हाथों को सौंपने पर बाध्य हैं। अभय सिंह चौटाला ने पैट्रोल एवं डीजल की बढ़ती कीमतों के लिए भाजपा सरकार को मुख्य रूप से जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि इनेलो और बसपा का जेल भरो आंदोलन आगामी 15 जुलाई तक चलेगा, उसके बाद राज्य कार्यकारिणी की बैठक बुलाई जाएगी जिसमें भविष्य की रणनीति घोषित की जाएगी। इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह, रानियां के विधायक रामचंद्र कंबोज, पूर्व मंत्री भागीराम, अभय सिंह खोड़, विनोद गोदारा, धर्मवीर नैन, जसवीर सिंह जस्सा, विनोद बेनीवाल, अजब ओला, महावीर शर्मा आदि पदाधिकारी मौजूद थे। 
पूरा प्रदेश सड़ रहा है और CM गिल्ली डंडा खेल रहे हैं- सतीश नांदल




रोहतक: इंडियन नेशनल लोकदल के प्रदेश प्रवक्ता एवं जिला अध्यक्ष सतीश नांदल ने कहा कि पूरे प्रदेश में इस समय इनेलो बसपा गठबंधन की लहर चल रही है ,जिसके चलते हर रोज प्रदेश में बड़ी संख्या में विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के लोग ,इनेलो में शामिल हो रहे हैं ! नांदल ने कहा की भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है ! सतीश नांदल आज गढ़ी सांपला किलोई हलके के गांव रिठाल  में इनेलो में शामिल हुए वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे ! सतीश नांदल ने कहा कि प्रदेश में आज बसपा और इंडियन नेशनल लोकदल गठबंधन की लहर है  और इसका असर प्रदेश की राजनीति में आने वाले चुनाव में देखने को मिलेगा ! सतीश नांदल ने कहा कि पहले कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों ने प्रदेश का न केवल नुकसान किया है बल्कि विकास के मामले में प्रदेश को काफी पीछे धकेल दिया है ! आज सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश में किसान, व्यापारी, कर्मचारी, युवा हर वर्ग परेशान है, बेहाल है।  प्रदेश इस समय गंदगी की वजह से सड रहा है और सुबे के मुख्यमंत्री राहतदुबे के मुख्यमंत्री राहगीरी जैसे कार्यक्रम में गिल्ली डंडा खेल रहे हैं ! इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वे जन समस्याओं के प्रति कितने गंभीर हैं ! 


सतीश नांदल ने आरोप लगाया कि सरकार कर्मचारियों की मांगों को लेकर गंभीर नहीं है ! इसीलिए तमाम कर्मचारी संगठन सड़कों पर हैं, और हर रोज आंदोलन हो रहा है! इस अवसर पर रिठाल निवासी मेहर सिंह नरवाल, छोटूराम, महेंद्र, ईश्वर नरवल, ओमप्रकाश, रमेश, जगदीश, महेंद्र ,अजीत, प्रमोद, नरेंद्र ,अनिल आदि सहपरिवार कांग्रेस छोड़कर इनेलो में शामिल हो गए! इससे पहले रिठाल में सामाजिक संस्था नवचेतना सोसायटी द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर का उद्घाटन भी सतीश नांदल द्वारा किया गया ! नव चेतना सोसाइटी ने रक्तदान शिविर में आगमन पर सतीश नांदल का अभिनंदन किया ! उन्होंने सभी रक्तदाताओं को सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया !

Thursday, May 17, 2018

20 मई रविवार को इनैलो बसपा गठबंधन सोनीपत जिले की बैठक को संबोधित करेंगे इनैलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा




सोनीपत 17 मई: इण्डियन नैशनल लोकदल पार्टी और बहुजन समाज की पार्टी की संयुक्त बैठक 20 मई रविवार को धवन बैंकट हाल एटलस रोड़ सोनीपत में रखी गई है। इनैलो पार्टी के जिलाध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने पार्टी जिला कार्यालय में  जानकारी देते हुए बताया कि इस बैठक को इनैलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सम्बोधित करेंगे। इस बैठक में दोनों पार्टीयों के कार्यकर्ता और पदाधिकारी भाग लेंगे।
दहिया ने बताया गठबंधन के कार्यकर्ता आगामी रणनीति मिलकर तैयार करेंगे और एकसाथ मिलकर जेल भरो आंदोलन की तैयारी करेंगे। दहिया ने कहा सरकार बिल्कुल फैल हो गई है। समाज का प्रत्येक वर्ग सड़कों पर आ गया है।

कैथल की धरती पर मनाऐंगे इनसो स्थापना दिवस- दिग्विजय चौटाला




इधर, आज भिवानी में इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने 5 अगस्त इनसो स्थापना दिवस को कोमनवैल्थ खेलों में पदक विजेता व खिलाडिय़ों को समर्पित करते हुए कहा कि अब की बार इनसो 5 अगस्त के स्थापना दिवस को कैथल की धरती पर मनाने जा रही है। जिसकी तैयारियों को लेकर 20 मई को कैथल के आरके एम पैलेस में इनसो की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई गई है। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि इसके साथ-साथ प्रदेश सरकार द्वारा छात्र संघ चुनाव को लेकर के सरकार के उदासीन रवैये के खिलाफ आगामी रणनीति तैयार की जाएगी। इनसो अध्यक्ष ने सरकार पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि पहले तो इनसो के द्वारा हिसार की गुरू जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी में भूख हड़ताल से घबराकर लिखित तौर पर 20 फरवरी को  पत्र जारी किया गया। जिसमें इनसो की सभी शर्तों को मानने की बात भी कही गई थी, लेकिन आज तीन माह बीत जाने के बाद भी सरकार के द्वारा छात्र संघ चुनाव को लेकर जमीनी स्तर पर कोई तैयारी ना करना इस बात का प्रमाण है कि मौजूदा भाजपा सरकार गरीब के बेटे को राजनीति में आने से रोक रही है। संविधान के अंदर बाबा साहेब डा. भीम राव अम्बेडक़र ने स्पष्ट तौर पर वोट का अधिकार दिया था, लेकिन राजनीतिक की नर्सरी छात्र संघ चुनाव को बहाल ना करके भाजपा संविधान की अवेहलना कर रही है। चौटाला ने कहा कि जिस तरह से कोमन वैल्थ खेलों के अंदर खिलाडिय़ों ने कड़ी मेहनत करके देश व प्रदेश का नाम विश्व के मानचित्र पर प्रसिद्ध किया था। उसके उलट सरकार का खिलाडिय़ों की राशि काटना खेलों के प्रति भाजपा का उदासीन रवैया दर्शाता है। इनसो 5 अगस्त को करनाल की धरती पर विजेता खिलाडिय़ों को सम्मानित करेगी।
नैना चौटाला ने नि:शुल्क दन्त चिकित्सा शिविर लगवाया

 
डबवाली, 17 मई: विधायक नैना सिंह चौटाला ने आज हल्का डबवाली के गांव कालुआना में नि:शुल्क दंत चिकित्सा शिविर लगाया गया। शिविर में आये हुए चिकित्सों ने गांववासियो को दांतों की बीमारियों के बारे में बताया और गांववासियों के दांतों की जांच करके मौके पर ही इलाज किया गया। शिवर में जन नायक चौ. देवीलाल डेंटल कॉलेज से डॉ कमल व उनकी टीम अपनी मोबाइल डेंटल वाहन के साथ व एस एम ओ कुलविंदर कौर, सीएचसी डबवाली से डॉ. राहुल गर्ग, एमओ डॉ. विशेषवर ने ग्रामीणों की जांच में सहयोग किया।
शिविर का शुभारंभ करने के बाद विधायिका ने कहा कि हलके में महिलाओं को चिकित्सा सुविधा देना उनका मुख्य उद्देश्य है। ग्रामीण अंचल में चिकित्सा सुविधाओं को देना सरकार की जिमेदारी होती है पर भाजपा सरकार की ग्रामीण अंचल में सेहत सुविधाओं की प्रति लगातार नजरन्दाजगी चल रही है। उन्होंने पी एच सी कालुआना के प्रांगण में ही खुला दरबार लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। ग्रामीणों ने बताया कि पी एच सी में दवाईयों की कमी है व डॉक्टर भी ओ पी डी में नही आते।
इस मौके पर सांसद चरनजीत रोड़ी, जिला महिला प्रधान कृष्णा फौगाट,पूर्व विधायक डॉ. सीताराम, बसपा नेता लीलूराम, वरिष्ठ नेता जगरूप सकताखेड़ा व हल्का प्रधान सर्वजीत मसीतां सहित अनेकों पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।
गठबंधन के बाद भाजपा व कांग्रेस के बड़े नेता संपर्क में- अभय चौटाला 

रीजनल पार्टियां मायावती के नेतृत्व में भाजपा व कांग्रेस को उखाडऩे का करेगी काम 


जींद, 17 मई:  विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इनेलो-बसपा के गठबंधन के बाद विपक्षी दलों में घबराए हुए है। गठबंधन होने के बाद भाजपा व कांग्रेस के बड़े नेता उनके संपर्क में हैं और इनेलो में शामिल होना चाहते हैं। इन नेताओं के इनेलो में शामिल होने के बाद भाजपा व कांग्रेस में भगदड़ मच जाएगी। नेता प्रतिपक्ष वीरवार को जाट धर्मशाला में इनेलो-बसपा के जिला स्तरीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। सम्मेलन में अतिविशिष्ट अतिथि के तौर पर बसपा के हरियाणा व हिमाचल के जोनल प्रभारी दयाचंद लाकरा रहे। इस दौरान उन्होंने 12 जून को एसवाईएल के मुद्दे पर जींद में होने वाले जेल भरो आंदोलन में भाग लेने का आह्वान किया। 
इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद देश का प्रजातंत्र खतरे में पड़ गया है और भाजपा व कांग्रेस रीजनल पार्टियों को खत्म करना चाहती है। लोकतंत्र खतरे में देखकर देश की रीजनल पार्टियां एकजुट हो रही है और बसपा प्रमुख मायावती के नेतृत्व में देश में तीसरे मोर्च का गठन किया जाएगा। प्रजातंत्र को खत्म करने की शुरुआत कांग्रेस ने 1982 में की थी। जहां पर चौधरी देवीलाल के नेतृत्व में बहुमत होने के बावजूद भी कांग्रेस ने भजनलाल का मुख्यमंत्री बना दिया था। अब इसी तरीके से देश में भाजपा प्रजातंत्र को खतरे में डालकर गोवा, कर्नाटक, असम में सरकार बना ली है। इस तरीके से देश में खतरे में पड़ रहे प्रजातंत्र को देखकर रीजनल पार्टियां भी घबराई हुई है और एकजुट होने लगी है। 



इनेलो नेता ने कहा कि देश को इस खतरे से बचाने के लिए इनेलो-बसपा ने गठबंधन करके शुरुआत की है। उत्तर प्रदेश में जहां बसपा-सपा संयुक्त रूप से चुनाव लड़ेगी। इसी तरीके से दूसरे प्रदेशों में तीसरे मोर्च का गठन किया जाएगा और बसपा प्रमुख मायावती को प्रधानमंत्री बनाया जाएगा, जबकि हरियाणा में चौधरी ओमप्रकाश चौटाला को सीएम बनाया जाएगा। प्रदेश सरकार ने निशाना साधते हुए चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार आपसी भाईचारे को तोडऩे के लिए 35-1 का नारा दे रही है, लेकिन इनेलो-बसपा ने गठबंधन करके भाईचार को बरकार रखने का काम किया है। भाजपा ने प्रदेश का विकास करने की बजाए तोडऩे का काम किया और अपनी जमीन को खिसकी देखकर मुख्यमंत्री मनोहरलाल को रोड शो करने पड़ रहे हैं। प्रदेश में आज हालात यह है कि प्रत्येक वर्ग सरकार की नीतियों से तंग है और जल्द से जल्द छुटाकार चाहता है। उन्होंने कहा कि इनेलो की सरकार बनने के बाद गरीब लडक़ी की शादी पर 5 लाख रुपये का कन्यादान दिया जाएगा, किसान के कर्ज को जड़मूल से माफ किया जाएगा, किसानों के खेतों के बिजली बिल माफ करके मुफ्त बिजली दी जाएगी, शहरों व गांवों के घरों में सप्लाई होने वाली बिजली के दामों को आधा किया जाएगा, हर घर को रोजगार दिया जाएगा, अगर उसके बाद भी जो युवा बिना रोजगार के रह जाते हैं उनको 15 हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। 
बसपा के हरियाणा व हिमाचल के जोनल प्रभारी दयाचंद लाकरा ने कहा कि इनेलो-बसपा का गठबंधन राजनीतिक नहीं सामाजिक गठबंधन है, क्योंकि भाजपा व कांग्रेस ने प्रदेश के भाईचारे को तोडऩे का काम किया, लेकिन इस गठबंधन ने समाज को जोडऩे का काम किया है। उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव के बाद प्रदेश में चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व गठबंधन की सरकार बनेगी, वहीं केंद्र में तीसरे मोर्चा का गठन करके बहन मायावती को पीएम बनाया जाएगा। गठबंधन के बाद विपक्षी दल बेमेल गठबंधन बता रहे है, लेकिन यह गठबंधन दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं का दिल का मेल है। प्रदेश में विधानसभा व लोकसभा में सभी सीटों को जीतकर भाजपा व कांग्रेस का सुपड़ा साफ कर देगी। जिला प्रधान कृष्ण राठी, विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, पिरथी नंबरदार, डॉ. हरिचंद मिढ़ा, युवा प्रदेश प्रभारी प्रदीप गिल, बसपा के जोन प्रभारी सुमेर चाबरी, वेद सिंह मुंडे, जिले सिंह कश्यप, पूर्व विधायक सुरजभान काजल, रामफल कुंडू, कलीराम पटवारी सहित पार्टी कार्यालय सचिव गुरदीप सांगवान मौजूद रहे। इनेलो नेता ने सम्मेलन में शामिल लोगों से आह्वान किया कि गांव व शहर के समाजसेवी लोगों की पहचान करके उनको पार्टी से जोडऩे का काम करे। इसके अलावा जो कार्यकर्ता किन्ही कारणों के चलते इनेलो को छोड़ गए थे उनको पार्टी में वापस लाने का काम करे, लेकिन ऐसे लोगों की पहले ही पहचान कर ले की वह गलत आदमी न हो और पार्टी की छवि को खराब करने वाले नहीं हो।