Monday, April 30, 2018

जेल भरो आंदोलन में दोनों दलों की सक्रिय रहेगी भागीदारी- अभय सिंह चौटाला 


चंडीगढ़, 30 अप्रैल: इनेलो-बसपा गठबंधन के बाद अब दोनों दलों की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक संयुक्त तौर पर होगी। इस बात की जानकारी देते हुए नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि एसवाईएल को लेकर कल होने वाले ‘जेल भरो आंदोलन’ में दोनों दलों की सक्रिय भागीदारी रहेगी और दोनों दल आर्थिक और सामाजिक न्याय के लिए हर एजेंडे पर मिलकर काम करेंगे। नेता विपक्ष ने कहा कि 2 मई को कुरुक्षेत्र में बुलाई गई राज्य कार्यकारिणी की बैठक में बसपा प्रदेश कार्यकारिणी भी शामिल रहेगी। उन्होंने कहा कि इस बैठक में गठबंधन के प्रारूप के अलावा खट्टर सरकार के कुशासन में राज्य के सामने जो चुनौतियां उभरकर सामने आई हैं उनपर भी गहन विमर्श होगा। उन्होंने एक बार फिर दोनों दलों के गठबंधन को ऐतिहासिक और प्रदेश की राजनीति में होने वाले बदलाव के लिए निर्णायक बताया।
 इसके अतिरिक्त इनेलो वरिष्ठ नेता ने कहा कि गेहूं के इस सीजन में आग लगने के कारण किसानों का जो करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है उसके लिए सरकार पर्याप्त मुआवजा दे, इसको लेकर भी दोनों दल बैठक में चर्चा करेंगे। प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था और बाल यौन उत्पीड़न के मामलों में हो रही वृद्धि पर चिंता जताते हुए नेता विपक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार इस कद्र असंवेदनशील हो चुकी है कि बाल अपराध को भी रोकने में अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं। बैठक में बाल-अपराधों की रोकथाम के लिए सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति भी तैयार की जाएगी। अभय सिंह चौटाला ने यह भी कहा कि कमेरे और किसान वर्ग की विचारधारा हमेशा से एक रही है जो शोषक, भ्रष्टाचारियों और सांप्रदायिक ताकतों के विरोध की है इसलिए इस प्राकृतिक गठबंधन के कारण भाजपा और कांग्रेस जैसे दलों का प्रदेश से जनाधार खिसकता नजर आ रहा है। जनता की आवाज बदलाव की है जिसको ये दोनों दल पचा नहीं पा रहे। इनेलो-बसपा गठबंधन को लेकर की जाने वाली अनाप-शनाप बयानबाजी को उन्होंने बौखलाहट बताया।

No comments:

Post a Comment