Wednesday, April 25, 2018

दलित भाइयों का उत्पीड़न बंद करे सरकार- अशोक अरोड़ा 


चंडीगढ़, 25 अप्रैल: 2 अप्रैल, 2018 को ‘भारत बंद’ के संदर्भ में दलित भाइयों के विरुद्ध सरकार द्वारा दायर की गई शिकायतों की इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कड़ी निंदा की है।
इनेलो नेता ने कहा कि उस बंद के दौरान आम तौर पर प्रदेश में शांति बनी थी जिसका श्रेय बंद के आयोजकों को दिया जाना चाहिए। वहीं उस बंद के दौरान सरकार का यह दायित्व था कि असामाजिक तत्व उसका लाभ उठाते हुए किसी प्रकार की हिंसा न करें। किन्तु जाहिर है कि अपने इस दायित्व को निभाने में सरकार पूरी तरह से असफल रही है और अपनी खिसियाहट मिटाने के लिए वह सारा दोष दलित भाइयों पर मढ़ रही है। हिंसा को लेकर शिकायतों का यही उद्देश्य है जो निंदनीय है।
अशोक अरोड़ा ने यह भी कहा कि वह सरकार से आग्रह करते हैं कि वह अपने हठधर्मिता को त्याग दे और दलित भाइयों के उत्पीड़न को बंद करते हुए उनके विरुद्ध दायर की गई सभी शिकायतों को तुरंत प्रभाव से वापिस ले लें। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के शासनकाल के दौरान दलित समाज विशेष रूप से उत्पीड़ित हुआ है और विशेषकर दलित महिलाएं अन्य अपराधों के अतिरिक्त यौन शोषण का भी शिकार हुई हैं। सरकार को चाहिए कि वह अपना पूरा ध्यान राज्य में कानून व्यवस्था को बनाए रखते हुए राज्य के सभी नागरिकों के लिए सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए विशेष रूप से दलितों एवं कमजोर वर्गों का ध्यान रखे।

No comments:

Post a Comment