Friday, April 27, 2018

इनसो संघर्ष न करता तो छात्रसंघ मुद्दे पर न झुकती सरकार- दिग्विजय चौटाला


फतेहाबाद: इनेलो समर्थित छात्र संगठन इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला वीरवार देर शाम इनसो कार्यकर्ता सम्मेलन में बतौर मुख्यतिथि भाग लेने जाट धर्मशाला पहुंचे। यहां पहुंचने पर इनसो जिला प्रधान जतिन खिलेरी व युवा इनेलो जिलाध्यक्ष अजय संधू ने अपनी टीम के साथ इनसो अध्यक्ष का अभिनंदन किया। कार्यक्रम को इनेलो किसान प्रकोष्ठ प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला, इनेलो जिला प्रधान बलविन्द्र कैरों, बसपा जिला प्रभारी डाॅ. मीरा नंदा, बसपा जिलाध्यक्ष एडवोकेट पीएस फानर, जिला प्रभारी बलवान मनखड़, पूर्व युवा इनेलो जिलाध्यक्ष राकेश सिहाग ने मुख्य रूप से संबोधित किया। इस दौरान दिग्विजय चैटाला ने पिछले दिनों इनसो द्वारा जीजेयू विश्वविद्यालय हिसार में किए गए अनशन उपरांत बहाल हुए छात्रसंघ चुनाव पर कार्यकर्ताओं को बधाई दी और संघर्ष में सहयोग देने पर उनका धन्यवाद भी प्रकट किया।


दिग्विजय चौटाला ने कहा कि छात्रसंघ चुनाव मात्र छात्र वर्ग के लिए एक चुनाव भर न होकर, उनके अधिकारों की आवाज को बुलंद करने का सबसे मजबूत मंच रहा है, जिसे पूर्व की स्व. बंसीलाल सरकार ने बंद कर दिया था। हरियाणा में छात्र संघ चुनाव रद्द होने के बाद विश्वविद्यालयों, काॅलेज जैसे शिक्षण संस्थानों में छात्र वर्ग अपनी समस्याओं को उस स्वतंत्रता के साथ नहीं उठा पा रहे थे, कि उनकी आवाज को सरकार या प्रशासन जल्द सुनके हल करे। छात्रों की इस दबती आवाज को जब किसी संगठन ने सहारा देने का काम नहीं किया तो जननायक स्व. देवीलाल के आदर्शों पर चलने वाले संगठन इनसो ने प्रदेश में छात्र संघ चुनाव बहाल करने का जिम्मा संभाला। इसके लिए संगठन ने बरसों लंबा संघर्ष किया, हर सरकार ने इनसो द्वारा छात्रसंघ चुनाव बहाल करने की मांग को हल्के में लिया और उनके आंदोलन को कमजोर करने के लिए हर तरह के हथकंडे भी अपनाए। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि इसी साल फरवरी माह में इनसो राष्ट्रीय इकाई ने इस मुद्दे पर अनशन करने का निर्णय लिया और उन्होंने जीजेयू में लगातार 109 घंटे तक भूख हड़ताल की। जब भाजपा सरकार को इनसो का यह अनशन आंदोलन सफल होता दिखने लगा, प्रदेश का हर छात्र इनसो के साथ जुड़ता दिखा तो मजबूर होकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने छात्र संघ चुनाव बहाल करने का एलान किया। सरकार ने इनसो को आश्वसत किया था कि इसी साल के सितंबर माह में प्रदेश में छात्र संघ चुनाव करवा दिए जाएंगे, यदि सरकार ऐसा करवा पाती है तो इसके लिए इनसो कार्यकर्ताओं को तैयार रहना चाहिए। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में इनसो छात्र संघ चुनाव में शानदार जीत दर्ज करेगी और इसका प्रभाव आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों पर भी पड़ेगा। इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मोलूराम रूहलानिया, वरिष्ठ नेता आत्म प्रकाश बत्तरा, हलका प्रधान भरत सिंह परिहार, हरिसिंह डांगरा, एडवोकेट सुमनलता सिवाच, इनसो पूर्व जिला प्रधान जसपाल संधू, युवा इनेलो शहरी अध्यक्ष विकास मेहता, रमन ढाका, अनिल डागर, संदीप सनीवाल, रजत खांडा, मनोज धारसूल, दीपा धारसूल, पंकज झांझड़ा, बंटी बरसीन, हरबंस खन्ना, गुलाब सूंडा, रमेश लाली, एडवोकेट राजेश शर्मा, जिला पार्षद अवतार सिंह, गुरचरण सिंह अमानी, शहरी प्रधान पवन चुघ व इनेलो प्रवक्ता प्रमोद बजाज सहित बसपा-इनेलो के अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

No comments:

Post a Comment