Wednesday, April 25, 2018

सरकारी खरीद एजेंसी द्वारा गेहूँ की पेमेंट ना मिलने से व्यापारी व किसान परेशान- भगवान दास 


नरवाना: इंडियन नेशनल लोकदल के व्यापार सेल के प्रदेश उपाध्यक्ष भगवान दास ने आज नरवाना की अनाज मण्डी का दौरा किया व किसानों तथा व्यापारियों का हाल जाना। किसानों ने बताया कि हमने अपना खून पशीना एक करके जो गेहूँ की फसल उगाई थी उसे सरकार को बेचे हुए आज दस से बारह दिन हो चुके हैं लेकिन आज तक एक भी पैसा सरकार की तरफ से नहीं आया है। जब इस बारे आढतियो से बातचीत की ग ई तो उन्होंने बताया कि नरवाना मण्डी में दो एजेंसी गेहूँ की खरीद कर रही हैं यह खरीद दस अप्रैल से शुरू हुई थी। जिसमें फूड एण्ड सप्लाई ने तकरीबन पांच लाख बैग तथा हैफड ने 8.53 लाख बैग की खरीद की है। तथा फूड एंड सप्लाई की तरफ करीब 41 करोड रूपये तथा हैफेड की तरफ 50 करोड़ रुपये की पेमेंट बकाया है। जिस वजह से किसान का पैसा देने में परेशानी हो रही है। भगवान दास ने कहा कि ये सरकार की गलत नीतियों कि वजह से हो रहा है क्योंकि ये सरकार नहीं चाहती कि किसान खुशहाल हो आज जब फसल अच्छी है तो किसान को पैसा नहीं मिल रहा जब तक पैसा नहीं मिलेगा किसान अगली फसल की तैयारी कैसे करेगा।उन्होने कहा कि यह सरकार जुमला सरकार बन कर रह गई है । सरकार के नुमांइदे अपना उल्लू सीधा करने में लगे हुए हैं। इन्हें जनता से कुछ नहीं लेना
इनका तो यही कहना है- "भाड़ में जाये जनता,जब अपना काम है चलता"
भगवान दास ने कहा कि जब चौ. औम प्रकाश चौटाला जी मुख्यमंत्री थे तब 72 घण्टे में किसान को उसकी फसल का पैसा मिल जाता था। उन्होंने कहा कि सरकार या तो एक सप्ताह के अन्दर किसान के पैसे की अदायगी करदे नहीं तो इण्डियन नेशनल लोकदल धरना व प्रदर्शन करने पर मजबूर होगी। इस मौके पर उनके साथ चौ. छोटू राम बेलरखा, कृष्ण चहल, राजबीर सहारण,नरेन्द्र चहल, बलवान नैन धमतान, राममेहर जांगडा, रमेश मौण, बालकिशन शर्मा, हिम्मत सिंह, तरसेम बंसल, राजेन्द्र गर्ग, कृष्ण गोयल, पंकज सिंगला व पूर्व प्रैस प्रवक्ता नन्दलाल शर्मा आदि मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment