Monday, March 5, 2018

धार्मिक आस्था ही है स्वच्छ समाज की पहचान - नैना चौटाला


हिसार : धार्मिक आस्था के बिना न तो भाईचारा सम्भव है और न ही इसके बिना स्वच्छ समाज की कल्पना की जा सकती है। यह बात हिसार से युवा सांसद दुष्यंत चौटाला की माता और इनेलो की डबवाली से विधायक नैना चौटाला ने श्री श्याम युवा मंडल द्वारा आयोजित श्री श्याम होली महोत्सव में कही। उन्होंने महोत्सव में उपस्थित श्रद्धालुओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बिना धार्मिक आस्था के एक स्वच्छ समाज की कल्पना भी नही की जा सकती। विधायक नैना चौटाला ने कहा कि स्वच्छ समाज के निर्माण के लिए समाज के लोगो के लिए उनमे धार्मिक आस्था का  होना अति आवश्यक है। भारतवर्ष में धर्म को विशेष स्थान दिया गया है और इसीलिए इस देश मे सभी धर्मों को बराबर का दर्जा दिया गया है। उन्होंने महोत्सव के आयोजकों का विशेष रुप से धन्यवाद करते हुए कहा कि उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित रहने का मौका दिया।  उन्होंने श्याम बाबा के चरणों मे अपना वंदन करते हुए कहा कि श्याम बाबा सब के दुखड़े दूर करते है और जो लोग जीवन मे निराश हो जाते है, अपने आप से हार जाते है उन्हें श्याम बाबा अपना सहारा देते है और वे लोग जीवन मे उन्नति के रास्ते पर अग्रसर होते है।
श्याम बाबा की दयालुता का जिक्र करते हुए इनेलो विधायिका ने कहा कि जब व्यक्ति अपने जीवन मे निराश हो जाता है और बाबा को सच्चे मन से याद करता है तो बाबा उनको नया रास्ता दिखाते है। बाबा की कृपा से सबकी मनोकामना पूरी होती है। बाबा श्याम बाल्यकाल से ही वीर योद्धा थे  और जो हारते हुए दिखाई देता था उसी की मदद करते थे। इसलिए इनका नाम हारे का सहारा, श्याम हमारा  पड़ा। इसीलिए आज भी जब भी कोई व्यक्ति अपनेआप को हताश महसूस करता है तो उसे श्याम बाबा की याद आती है।
इस मौके पर  जिला अध्यक्ष राजेंद्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनुप धानक, निगम मेयर शकुंतला राजलीवाल, हलकाध्यक्ष सजन लावट, युवा जिलाध्यक्ष अमित बूरा , प्रमोद जैन सहित जागरण समिति के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment