Thursday, March 1, 2018

7 मार्च को दिल्ली में आयोजित किसान अधिकार रैली में उमड़ेगा जनसमूह - अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र :  इनेलो द्वारा सात मार्च को दिल्ली में आयोजित किसान अधिकार रैली में भारी जनसमूह उमड़ेगा और यह रैली अभी तक आयोजित सभी रैलियों के रिकार्ड तोड़ेगी। यह दावा इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा पंजाबी धर्मशाला में आयोजित हलका थानेसर के पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए किया। बैठक में किसान रैली में अधिक से अधिक लोगों को ले जाने के लिए कार्यकर्ताओं की डयूटी लगाई गई। इस बैठक को जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, हलका प्रधान रणबीर सिंह किरमिच, हलका प्रवक्ता सुरेंद्र सैनी, डॉ. संतोष दहिया, पूर्व पार्षद नरेंद्र शर्मा, पार्षद नरेंद्र वर्मा, विवेक मैहता विक्की, संदीप टेका, नितिन भारद्वाज लाली, मदन गोपाल शर्मा, सुलतान ब्राह्मण माजरा, डा धर्मवीर लांग्यान, रामस्वरूप चोपड़ा, दीपक फौजी, राजकुमार काला, मोहित सैनी, कुलदीप सिंह, मा. हरी सिंह, सतबीर शर्मा, विनोद राणा, महेंद्र, मेहर सिंह, सुधीर गाबा, चंद्रपाल सिंह तंवर सहित अनेक इनेलो पदाधिकारियों ने संबोधित किया। 
अशोक अरोड़ा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने एसवाईएल के पानी के संबंध में हरियाणा के हक में फैसला दिया हुआ है और इस फैसले को लागू करवाने का काम केंद्र सरकार का है। देश और प्रदेश में भाजपा की सरकार है, लेकिन हरियाणा के मुख्यमंत्री अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके इस फैसले को लागू करवाने में असफल रहे हैं। सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री से मिलने का फैसला होने के पश्चात एक वर्ष से अधिक बीत जाने पर भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर प्रधानमंत्री से मिलने का समय नहीं ले पाए। प्रदेश सरकार पर कड़े प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में अफसरशाही हावी है। प्रशासन पर मुख्यमंत्री की कोई पकड़ नहीं है। सरकार हर मोर्चे पर विफल है। बेटी बचाओ का नारा देने वाली सरकार के समय में आंगनबाड़ी वर्कर और हैल्पर अपनी मांगों को लेकर पिछले कई दिनों से सड़कों पर उतर कर आंदोलन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में भाजपा से हर वर्ग दुखी है। आगामी चुनावों में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा और प्रदेश में इनेलो की सरकार बनेगी।

No comments:

Post a Comment