Wednesday, February 28, 2018

इनेलो नेताओं ने दिल्ली रैली को लेकर गांवों का किया दौरा


डबवाली : इनेलो की ओर से एस.वाई.एल. के निर्माण को लेकर व किसानों के मुद्दों को लेकर दिल्ली रामलीला मैदान में 7 मार्च को होने जा रही रैली को लेकर पूर्व विधायक डा. सीता राम व हलका प्रधान सर्वजीत मसीतां ने हलका के अनेक गांवों का दौरा किया। हलका के गांव डबवाली गांव, जोगेवाला, पन्नीवाला मोरिका, देसूजोधा, चटठा, तिगड़ी, फुल्लों, नौरंग, हस्सू, खोखर, जगमालवाली, असीर आदि गांवों का दौरा करते हुए रैली के लिए ग्रामीणों को आमंत्रण किया। इस मौके पर पूर्व विधायक डा. सीता राम ने कहा कि भाजपा सरकार की यह नाकामी है कि इस सरकार ने एस.वाई.एल. के निर्माण के लिए कुछ भी नहीं किया। जबकि सुप्रीम कोर्ट बहुत पहले ही इस बारे कह चुका है। उन्होंने कहा कि इससे पहले कांग्रेस की सरकार में भी एस.वाई.एल. के निर्माण को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई गई व मामले को लटकाया गया है। जिस पर इनैलो ने अब आर पार की लड़ाई लडऩे का मन बनाया है, जिसको लेकर पिछले लंबें समय से इनैलो की ओर से आंदोलन किए जा रहे है। अब 7 मार्च को इनलो पार्टी की ओर से दिल्ली में विशाल रैली करके भाजपा की सरकार को मजबूर किया जाएगा कि एस.वाई.एल. का निर्माण किया जाए। इस मौके पर एस.जी.पी.सी. मैम्बर जगसीर मांगेआना, पूर्व प्रधान नरेन्द्र बराड़, ब्लाक समिति मैम्बर रणदीप मटदादू, पूर्व चेयरमैन जगसीर मांगेआना, जिला पार्षद गुरजंट तिगड़ी, जगतार सिंह डबवाली, शिवकरण डबवाली, प्रीतमपाल, बिटू मौजगढ, कौरजीत जोगेवाला आदि मौजूद रहे। 


Tuesday, February 27, 2018

 इनेलो की 7 मार्च की किसान अधिकार रैली के होंगे दूरगामी परिणाम- गोपीचन्द गहलोत


गुडगाँव : आगामी 7 मार्च बुधवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में इंडियन नैशनल लोकदल द्वारा हरियाणा के किसान व कमेरे वर्ग के हितों की लड़ाई लड़ने के लिए किसान अधिकार रैली का आयोजन किया जा रहा है। रैली को सफल बनाने के लिए जलयुद्ध नायक व नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में प्रदेशभर में सभी नेता व कार्यकर्ता अपने अपने क्षेत्र में जाकर रैली में ज्यादा से ज्यादा संख्यां में पंहुचने के लिए आव्हान कर रहे है। इसी कड़ी में आज विधानसभा क्षेत्र बादशाहपुर के गांव दौलताबाद, धर्मपुर, धन्वापुर, बसई, गाड़ौली कलां, गाड़ौली खुर्द, हरसरू आदि गांवों रैली को लेकर जनजागरण अभियान के तहत विधानसभा के प्रभारी व पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत ने दिल्ली के रामलीला मैदान में पंहुचने की अपील की।


 श्री गहलोत ने कहा कि सतलुज यमुना लिंक नहर, दादुपुर नलवी नहर, मेवात कनाल व स्वामीनाथन अयोग की रिपोर्ट लागू करवाने के लिए प्रदेश व केन्द्र की सरकार पर दवाब बनाने के लिए यह रैली मील का पत्थर साबित होगी। आज हरियाणा और विशेषकर दक्षिण हरियाणा के किसानों के लिए सतलुज यमुना लिंक नहर व मेवात कनाल की बहुत आवश्यकता है। श्री गहलोत ने कहा कि अपने गुड़गांव क्षेत्र में यदि एसवाईएल का पानी नहीं आया तो सिंचाई तो दूर की बात पीने के पानी के लाले पड़ जायेंगे। उन्होंने आशा जताई कि जिस तरह से वर्तमान भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदेश की जनता के सभी वर्गाें में आक्रोश है इससे ये लगता है कि ये रैली एक ऐतिहासिक रैली का रिकॉर्ड कायम करेंगी। 


इस रैली में गुड़गांव क्षेत्रवासियों की बहुत बड़ी भागीदारी होगी। वहीं इंडियन नैशनल लोकदल के किसान सैल के प्रदेश उपाध्यक्ष बलवान सिंह ठाकराण के आकस्मिक निधन पर चौ0 गोपीचन्द गहलोत ने इनेलो परिवार की आरे से शोक संवेदना प्रकट की। आज के कार्यक्रमों में जिला प्रधानमहासचिव रमेश दहिया, हल्काध्यक्ष रिषीराज राणा, शमशेर कटारिया, कर्मबीर यादव सरपंच, अटलबीर कटारिया, भूपेन्द्र सुखराली, सतपाल गाड़ौली, बिट्टू चौहान, किरणपाल गुर्जर, हरिकिशन सरपंच, अरूण त्यागी, पाली दौलताबाद, हंसराज, लोकेश दहिया, रविन्द्र कटारिया काले, श्रीराम सरपंच, सतबीर, भूपसिंह, जयप्रकाश जांघू, रतिराम, कन्हैया जांघू, रतन सिंह सरपंच, मामचन्द प्रधान, कंवरलाल प्रधान, संजय नम्बरदार, जगपाल नम्बरदार, सतदेव, नरेश दहिया, हरिराम शर्मा, मांगेराम, रामनिवास फौजी, सतीश कटारिया, चरण सिंह, पवन धनकोट सहित सैंकड़ों ग्रामवासी उपस्थित थे।
किसानों के प्रति भाजपा सरकार का पाखंडी रूप सबके सामने आया - अभय सिंह चौटाला 

चंडीगढ़ : विपक्ष के नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला न विरोध प्रदर्शन के लिए दिल्ली जा रहे किसानों को जिस प्रकार गैर-प्रजातांत्रिक तरीके से हरियाणा सरकार ने रोका है, उसकी कड़ी निंदा की। उन्होंने इस बात पर आपत्ति जताई कि मार्च 23 को जब अनेक राज्यों के किसान हरियाणा से होते हुए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की ओर अपने प्रजातांत्रिक अधिकार के प्रयोग के लिए जा रहे थे तो उन्हें सरकार द्वारा न केवल रोका गया बल्कि अनेकों को हिरासत में भी लिया और उनके विरुद्ध मुकद्दमे भी दायर किए। उन्होंने कहा कि इन किसानों का एकमात्र दोष यह था कि वह अपने दुखों के कारण को दिल्ली जाकर जनता के समक्ष रखना चाहते थे।
अभय सिंह चौटाला ने हरियाणा सरकार पर यह भी आरोप लगाया कि वह किसानों के दमन में केंद्र सरकार का एक साधन बन चुकी है। उन्होंने याद दिलाया कि अभी कुछ समय पूर्व ही भारत के वित्त मंत्री अरुण जेतली ने जानबूझकर संसद और देश के लोगों को गुमराह करते हुए यह दावा किया था कि रबी की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य पहले ही स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों के आधार पर दिया जा रहा है अर्थात उनके लागत मूल्य पर उन्हें 50 प्रतिशत मुनाफा सरकार द्वारा दिया जा रहा है। बजट सत्र में वित्त मंत्री ने यह भी दावा किया कि बहुत शीघ्र खरीफ की फसलों के लिए भी न्यूनतम समर्थन मूल्य उसी फार्मूले के तहत घोषित कर दिया जाएगा।
विपक्ष के नेता ने कहा कि चूंकि यह दावे मनघडण्त और सच्चाई से कोसों दूर थे इसलिए देशभर के किसान अपने आपको हताशा की स्थिति में भी पाते थे और वह उद्वेलित भी थे। इन परिस्थितियों में किसानों के पास एकमात्र मार्ग यह था कि वह अपना विरोध प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की ओर कूच करें क्योंकि इस प्रकार के मनघडण्त एवं गुमराह करने वाले दावे दिल्ली से ही किए गए थे।
विपक्ष के नेता ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के उस दावे की भी निंदा की जिसमें उन्होंने कहा कि किसी भी किसान को दिल्ली जाने से नहीं रोका गया केवल उनके ट्रैक्टरों को इस कारण रोक लिया गया क्योंकि वे मोटर वाहन एक्ट की उल्लंघना कर रहे थे। पर सच्चाई यह है कि राज्य में किसानों के दमन के लिए 25 अद्धसैनिक बलों की कंपनियां और लगभग पूरी हरियाणा पुलिस तैनात थी। किसानों के दिल्ली कूच करने के 24 घंटे पहले ही सभी मुख्य किसान नेताओं को पुलिस हिरासत में ले चुकी थी ताकि उन्हें उनके प्रजातांत्रिक और संवैधानिक अधिकार से वंचित किया जा सके। किसानों के जख्मों पर नमक छिडक़ते हुए यमुनानगर में तो न केवल किसानों को गिरफ्तार किया गया बल्कि उन पर हत्या के प्रयास का आरोप भी लगाया गया हालांकि सच्चाई यह है कि उन्हें न केवल पुलिस की लाठियां सहनी पड़ी बल्कि उन पर प्लास्टिक बुलेट पर पुलिस ने चलाए। 
अभय सिंह चौटाला ने फरीदाबाद और करनाल जिलों में गिरफ्तार हुए किसानों का जिक्र करते हुए कहा कि यह किसान उत्तरप्रदेश से आ रहे थे परंतु शांतिपूर्वक और बिना किसी रुकावट करने के उनके आवाजाही के अधिकार का हरियाणा सरकार ने ऐसे समय में हनन किया जब ऐसा कोई कानून लागू नहीं था जो उनके एकत्रित होने या उनकी आवाजाही पर रोक लगाता हो। उन्होंने कहा कि किसानों के प्रति भाजपा का पाखण्डपूर्ण दृष्टिकोण अब सार्वजनिक हो चुका है और वह दिन दूर नहीं जब इसके परिणाम सरकार को भुगतने पड़ेंगे।
7 मार्च को होने वाली किसान-अधिकार रैली को लेकर लोगों में भारी उत्साह - ज़ाकिर हुसैन 



                 
मंगलवार को नूँह, सोहना-तावड़ू के प्रभारी व इनेलो विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने   इनेलो विधायक व नूँह, सोहना-तावड़ू विधानसभा के प्रभारी चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने यासीन मेव डिग्री कॉलेज, नूँह में इनेलो कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर 7 मार्च को दिल्ली में होने वाली खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में किसान-अधिकार रैली की तैयारियों पर चर्चा की तथा सभी कार्यकर्ताओं से सौंपी गई जिम्मेदारियों के बारे में विचार विमर्श किया।
इनेलो विधायक ने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता गाँव-गाँव जाकर हर व्यक्ति को इनेलो की नीतियों से अवगत कराएँ तथा आने वाली 7 मार्च को रामलीला मैदान, दिल्ली में किसान- अधिकार रैली में ज्यादा से ज्यादा संख्याँ में चलने का निमंत्रण दें। 
उन्होंने कहा कि नूँह व सोहना-तावड़ू विधानसभा के प्रभारी की जिम्मेदारी निभाते हुए उन्होंने गाँव-गाँव जनसंपर्क किया है। इनेलो के प्रति लोगों में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है।  
उन्होंने कहा कि इनेलो ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो किसान, मजदूर, गरीब, छोटे व्यापारी व सभी वर्गों के हकों की लड़ाई लगातार लड़ती आ रही है। आगामी 7 मार्च को इनेलो खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में हरियाणा प्रदेश के लोगों के हकों को दिलाने के लिए दिल्ली में किसान-अधिकार रैली कर रही है जो ऐतिहासिक होगी। ये रैली हरियाणा प्रदेश के साथ-साथ देश की राजनीति भी तय करेगी। किसान अधिकार रैली में एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के विषय महत्वपूर्ण होंगे। उन्होंने कहा कि वैसे तो इनेलो की हर रैली ऐतिहासिक होती है लेकिन 7 मार्च की किसान-अधिकार रैली इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में लिखी जाएगी। 
प्रभारी चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला का धन्यवाद करते हुए कहा कि एस वाई एल व दादूपुर नलवी के साथ मेवात फीडर कैनाल का मुद्दा इनेलो ने इस लड़ाई में प्रमुख रूप से रखा है। उन्होंने कहा कि एस वाई एल व मेवात फीडर कैनाल के निर्माण से सबसे ज्यादा फायदा दक्षिण हरियाणा को होगा तथा खासतौर पर गुड़गाँव जिले के सोहना, पलवल जिले के हथीन क्षेत्र व जिला नूँह को होगा। इनके निर्माण से साफ नहरी पानी मिलेगा।
उन्होंने कहा कि स्व: चौ0 देवीलाल के समय से ही चौटाला परिवार का मेवात क्षेत्र से विशेष लगाव रहा है, इसलिए मेवातवासियों का कर्तव्य बनता है कि हमेशा की तरह आगामी 7 मार्च को दिल्ली में इनेलो द्वारा आयोजित किसान-अधिकार रैली में ज्यादा से ज्यादा संख्या में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएँ।  
इनेलो विधायक ने कहा कि 7 मार्च को खेल रत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में दिल्ली में होने वाली किसान-रैली अपनी पिछली सारी रैलियों का रिकाॅर्ड तोड़ेगी। मेवात क्षेत्र हमेशा की तरह इस बार भी भीड़ के मामले में अन्य जिलों से आगे रहेगा तथा मेवात क्षेत्र से हजारों कार्यकर्ता किसान-रैली में भाग लेंगे।  
इनेलो नेता ने कहा कि इनेलो एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए दिल्ली में ऐतिहासिक रैली कर सरकार को इनके निर्माण कराने पर मजबूर करने का काम करेगी। जब तक एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी का निर्माण नहीं हो जाता तब तक इनेलो संघर्ष करती रहेगी, इसके लिए इनेलो को चाहे कोई भी कुर्बानी देनी पड़े।
हुसैन ने कहा कि इंडियन नेशनल लोकदल ने चौ0 ओमप्रकाश चौटाला के आशीर्वाद व मार्गदर्शन में खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में लगातार प्रदेश के किसान,मजदूर, गरीब, छोटे व्यापारी व युवाओं के हकों के लिए लगातार संघर्ष किया है।  
उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में आगामी विधानसभा-सत्र में भी इन मुद्दों पर सरकार को घेरने का काम करेगी। 
उन्होंने कहा कि 7 मार्च को एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण की लड़ाई आर-पार लड़ी जाएगी। इसलिए इस लड़ाई में प्रदेश के हर व्यक्ति का कर्त्तव्य बनता है कि इनेलो का साथ दें और हरियाणा को पानी के लिए उसका हक़ दिलाने में इनेलो का हाथ मजबूत करें। 
उन्होंने कहा कि आने वाला समय इनेलो का है और प्रदेश में इनेलो के सत्तासीन होते ही गांव, देहात, कस्बों और शहरों में विकास के कार्यों को तेजी से चलाकर हरियाणा को सही मायने में देश का नंबर वन प्रदेश बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी परिवारों से शिक्षित युवाओं को रोजगार, किसानों के कर्ज माफ, घरेलू बिजली के बिलों को आधा माफ करने व गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता सहित अनेक कल्याणकारी योजनाएं आरंभ की जाएंगी।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष मास्टर बदरुद्दीन, हाजी सुबराती खान, हरीश मलिक, इनेलो नेता चौ0 ताहिर हुसैन, हाजी फते मौ0, हाजी अब्दुल्ला सरपंच, इब्राहीम पहलवान, साकिर इनसो, अकबर अली, आस मौ0, मद्दीन सेक्रेटरी, हाजी इसराईल, हाजी सोहराब सरपंच, अमरसिँह सरपंच, अल्ली प्रधान, असगर हुसैन, सलीम घासेड़ा, जाहुल ठेकेदार, तफज्जुल आकेड़ा, जाहिद ठेकेदार, तय्यब सरपंच मेवली, वहीद सरपंच मेवली, मुंशी मेवली, वहीद सरपंच महरोला,  साबिर नंबरदार, पहलू प्रधान कँवरसीका, हाजी ऐजाज सलंबा,  हाजी आसम रायसीका, हाजी नूर मौ0 बाई का डंडा, रमजान सरपँच रोजकामेव, इरशाद सालाहेड़ी, अय्यूब रोजकामेव, रुब्बड़ सरपंच निजामपुर, इसराईल नंबरदार, आसू पहलवान, लियाकत सूड़ाका, जाकिर भडंगाका, नूरदीन नंबरदार, जाकिर सरपंच टेरकपुर, जब्बार दिहाना, जकरिया सरपंच, युसुफ घासेड़ा, अय्यूब सेक्रेटरी, नसरू सरपंच, जमील, लियाकत, निसार पहलवान, नसरू सरपंच आदि इनेलो नेता व सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 भाजपा कर रही है किसानों से खिलवाड़ - बलदेव घणघस


 
भिवानी : आज किसान अपनी फसल का लागत मूल्य भी नहीं ले पा रहा है। भाजपा की किसान विरोधी नीतियों के कारण आज धरतीपुत्र भूख की कगार पर है। ऊपर से सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद केन्द्र की भाजपा व प्रदेश सरकार एसवाईएल के निर्माण के लिए कोई  रुची नहीं ले रही।यह बात आज इनेलो प्रदेश सचिव व एसवाईएल के लिए भिवानी इनेलो प्रभारी बलदेव घणघस ने गांव नौरंगाबाद, बामला,फुलपूरा, सांगा,कायला,बडाला,उमरावत, धारेडू मे उपस्थित ग्रामीणों को  कहे। घणघस ने कहा की इनेलो ही केवल एसवाईएल की लडाई को लड रही है 7 मार्च को दिल्ली मे एक इतिहास रच सरकार को घुटनो के बल लाया जाऐगा। उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों व इनेलो  पदाधिकारियों के साथ विचार विमर्श कर आंदोलन को ओर अधिक मजबूत करने की बात कही। पूर्व युवा जिला प्रधान जितेंद्र शर्मा ने कहा कि इनेलो का संगठन मजबूत है किसानो की लडाई को मजबूती के साथ लडा जाऐगा।उन्होंने कहा की 7 मार्च को दिल्ली की सडको पर इनेलो और किसान की हरियाली का प्रतीक हरा झण्डा ही दिखाई देगा। इस अवसर पर सुधीर सरपंच, गांधी सैनी, बलबीर, औम प्रकाश, प्रताप, शिव चरण, राजमल, बिजेंद्र, सुरजभान, धर्मपाल, नवनीत, विनोद, मामन, संजय, पवन, मुकेश वाल्मीकि, डा. मनीष, औम सिंह नाई, पवन सरपंच, हनुमान, जितेंद्र सैन, विक्रम बड़ेसरा, राज कुमार शर्मा, जितेंद्र पंवार, रमेश, कै न्हया, सतबीर आदि मौजूद थे।


भाजपा राज में किसानों की हालत हुई बद से बदत्तर - दुष्यंत 


कैथल : हिसार से सांसद एवं वरिष्ठ युवा इनैलो नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि है कि भाजपा सरकार ने प्रदेश के किसानों की हालत बद से बदत्तर हुई है। जुबानी जमा खर्च की यह सरकार खोखले दावों के साथ सरकार को किसी तरह खींच रही है और मेहनतकश किसान की हालत जस की तस बनी हुई है। गांव छौत में इनैलो नेता धर्मपाल छौत के नेतृत्व में हुई जनसभा को संबोधित करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि 3 दिन पहले दिल्ली जाते हुए किसानों के हित का दम भरने वाली भाजपा सरकार ने किस तरह से किसानों पर लाठियां भांजी व उन पर 307 के मुकदमें दर्ज किए यह सबने देखा है। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट चुनावी जुमला बनकर रह गया है और किसानों को फसल का डेढ़ गुणा दाम देने का दावा भी अब तक फुस हो गया है। उन्होंने कहा कि हाल ही में भाजपा सरकार के आम बजट में किसानों को समृद्ध बनाने के बड़े-बड़े दावे किए गए लेकिन विडम्बना है कि किसानों के लिए बजट में किए जाने वाला धनराशि का प्रावधान पिछले बजट से भी कम रखा गया तो ऐसे में किसान का भला कहां से होगा। चौटाला ने कहा कि आज भी यूरिया की किल्लत किसान को मार रही है, मेहनत से पसीना बहाकर अनाज पैदा करने वाला हरियाणा प्रदेश का भोलाभाला किसान भाजपाई नेताओं के गोलमोल वायदों के झांसे में आकर यूरिया के लिए आज भी लाइनों में धक्के खा रहा है। सांसद ने भाजपा सरकार की समूची व्यवस्था पर करारी चोट करते हुए कहा कि प्रदेश के सभी लघु सचिवालय में प्रतिदिन नजर दौड़ाकर देखें तो वहां धरने तथा आंदोलनों को काबू करने के अलावा अधिकारी भी कोई काम नहीं कर रहे हैं। कानून व्यवस्था की स्थिति बदहाल है और इस स्थिति से बाहर निकालने के लिए किसान सहित प्रदेश के हर व्यक्ति को एकजुट होकर सरकार की मुखालफत करनी होगी ताकि सोई हुई यह सरकार धरती से जुड़े हर आदमी की सच्चाई व उसकी समस्याओं को जाने और उसके लिए कदम उठाएं। इनैलो नेता सदैव गरीब और कमेरे वर्ग तथा किसान के हक में सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद की है और अपने इस संकल्प पर यह पार्टी अब भी अडिग है। हरियाणा का दुर्भाग्य है कि भाजपा सरकार के दावे के अनुरूप सतुलज यमुना नहर का पानी अब तक नहीं आया और दादूपुर नलवी नहर का अस्तित्व भी समाप्त हो गया है इसको लेकर इनैलो दिल्ली रामलीला मैदान में आगामी 7 मार्च को किसान अधिकार रैली आयोजित कर सुप्त सरकार के कानों तक किसानों की समस्याओं की गूंज पहुंचाएगी। उन्होंने कहा कि पार्टी को संगठित करने में कार्यकत्र्ता जुनून के साथ जुटे ताकि 2019 के विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों की जड़े उखाड़कर इनैलो सत्तासीन हो और हरियाणा में आम आदमी की ङ्क्षजदगी बेहतर बनने की ओर तेजी से अग्रसर हो सके। इस मौके पर युवा नेता जाट शिक्षा समिति के उप-प्रधान संदीप छौत ने कहा कि हरियाणा प्रदेश का युवा इनैलो के साथ कंधे से कंधे मिलाकर चल रह है तथा आने वाले चुनाव में इनैलो एक मजबूत राजनीतिक पार्टी के रूप में चुनावी ताल ठोंकेगी और जीत का परचम फहराकर हरियाणा प्रदेश की सत्ता पर काबिज होकर जनसेवा के अपने संकल्प को पूरा करेगी। 



हरियाणा के हक का पानी किसानों को दिलाएगी  इनेलो - मक्खनलाल सिंगला  



सिरसा : इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन व सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला ने कहा कि हरियाणा की जीवनरेखा समझी जाने वाली एसवाईएल का पानी हरियाणा का हक का पानी है और इसे हरियाणा के किसानों तक हर हाल में पहुंचाया जाएगा। इसके लिए इनेलो 7 मार्च को दिल्ली में विशाल किसान रैली आयोजित कर रही है।

वे सोमवार को सिरसा हलके के गांव नेजिया, अलीमोहम्मद, चाडीवाल, साहुवाला, कैरांवाली, नहराणा, नारायणखेड़ा, शेरपुरा व ताजिया आदि में ग्रामीणों से रूबरू हो रहे थे। उपरोक्त गांवों में ग्रामीणों को अधिक से अधिक संख्या में 7 मार्च की नई दिल्ली में होने वाली किसान रैली में शिरकत करने का न्यौता देते हुए इनेलो जिलाध्यक्ष व विधायक ने कहा कि इस रैली को लेकर हरियाणा के लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा है और इस रैली के माध्यम से केंद्र सरकार पर दबाव बनाकर हरियाणा के हक का पानी प्रदेश के किसानों को दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि एसवाईएल के मामले में सर्वोच्च न्यायालय का फैसला हरियाणा के पक्ष में आने के बाद भी केंद्र सरकार इस मामले में पूरी तरह से उदासीन बनी हुई है जिससे हरियाणा के किसानों को इसका खामियाजा उठाने पर बाध्य होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यदि हरियाणा के हक का पानी प्रदेश के किसानों को मिलता है तो निश्चित ही हरियाणा के किसानों की फसल का उत्पादन बढ़ेगा और वे आर्थिक तौर पर मजबूत हो पाएंगे। हरियाणा की खुशहाली और प्रदेश के किसानों की तरक्की के लिए आवश्यक इस रैली में अधिक से अधिक किसानों की भागेदारी जरूरी है। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई अकेले इनेलो की नहीं बल्कि सभी प्रदेशवासियों की है, इसलिए वे ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस रैली में भाग लें। इस अवसर पर उनके साथ युवा इनेलो के जिलाध्यक्ष अजब ओला, सरपंच गुरविंद्र सिंह, नरेश कुसुंबी, मदन चाडीवाल व विक्की चाडीवाल भी मौजूद थे। 

इनेलो प्रदेश के हक के लिए हर लड़ाई लड़ने को तैयार - गोपीचंद गहलोत 



गुड़गांव : प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमरा चुकी है, सुविधाओं का घोर अभाव है। सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए तरह तरह के ड्रामे करने में लगी है। उक्त शब्द इंडियन नैशनल लोकदल के वरिष्ठ नेता एंव पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत ने गुड़गांव के सैक्टर 12 स्थित इनेलो जिला कार्यालय पर आयोजित गुड़गांव विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहे। इसके अलावा गांव पातली, जुड़ौला, बादशाहपुर, झाड़सा व नाथूपुर गांव में आयोजित नुक्कड़ सभाओं को सम्बोधित करते हुए इनेलो नेता ने आगामी 7 मार्च को दिल्ली के रामलीला ग्राउण्ड में होने वाली किसान अधिकार रैली में सम्मिलित होने का न्यौता दिया। श्री गहलोत ने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश के उपरान्त प्रदेश व केन्द्र की सरकार हरियाणा को हक का पानी दिलाने में नाकामयाब रही। जब इनेलो कार्यकर्ता जलयुद्ध नायक अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में नहर खोदने के लिए पंजाब बॉर्डर पर गये तो हरियाणा प्रदेश की भाजपा सरकार ने पैरा मिलटरी फोर्स बुलाकर आन्दोलन को दबाने की कोशिश की तथा इनेलो नेताओं पर मुकदमें बनाकर जेल में डालने का काम किया परन्तु इनेलो कार्यकर्ता हरियाणा प्रदेश की हक के लिए हर तरह की लड़ाई लड़ने को तैयार है। श्री गहलोत ने याद दिलाया कि इनेलो ने सिलसिलेवार तरीके से धरने और प्रदर्शन इस संबंध में किए हैं। इस संदर्भ में बार-बार प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखे गए और उनके कहने पर ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी जी से भी अलग-अलग समय में मुलाकात की गई। यह खेद की बात है कि राज्य सरकार अपने दायित्व को निभाने में अभी तक पूरी तरह से विफल रही है। श्री गहलोत ने सभी क्षेत्रवासियों से अपील करते हुए कहा कि आगामी 7 मार्च को दिल्ली के रामलीला ग्राउण्ड में पंहुचकर केन्द्र की सरकार पर दवाब बनाने में अपना सहयोग दें ताकि ये गूंगी बहरी भाजपा सरकार हरियाणा के हिस्से का पानी हरियाणा की जनता को दे। आज के कार्यक्रमों में जिला प्रधान महासचिव रमेश दहिया, हल्काध्यक्ष रिषीराज राणा, रामनिवास मंगला, संतलाल जोतरीवाल, धर्मबीर बाघोरिया, देवा प्रधान, रामे प्रधान, रविन्द्र चुटानी, रामकुमार कटारिया, अनिल पंवार, कपिल त्यागी, सुशील सहरावत, शकील अहमद, सुदेश यादव एडवोकेट, ममता सचदेवा, अनिता यादव, बिजेन्द्र कटारिया, रणधीर सिंह, विक्रम सहरावत, असलम खान, गोरधन सिंह, जगदीश पातली, बलवान सिंह, श्यामसुन्दर बजाज, रूपा प्रधान, राजेश यादव, कर्मबीर गुर्जर, महताब सिंह दहिया, विक्की कटारिया, शमशेर डागर, राजेश त्यागी, राजेश डागर, पवन धनकोट, अनीश त्यागी, राजू गुलिया, चेतन गर्ग, आदि उपस्थित थे। 
एसवाईएल मुद्दे पर इनेलो 7 को दिल्ली में भरेगी हुंकार

फतेहाबाद : प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बावजूद एसवाईएल का पानी हरियाणा को न दिला पाने से खफा इनेलो ने अपने आंदोलन का रुख अब दिल्ली की तरफ कर दिया है। इनेलो शीर्ष नेता एवं नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के नेतृत्व में इनेलो 7 मार्च को दिल्ली में एसवाईएल अधिकार रैली करेगी, जिसके जरीये इनेलो केंद्र सरकार से इस मुद्दे पर ठोस कदम उठाने की मांग उठाएगी। दिल्ली में 7 मार्च को होने वाली इस रैली को सफल बनाने के उद्देश्य से जिला फतेहाबाद को पार्टी ने 4 जोन में बांटा है। पार्टी हाईकमान के निर्देश पर बनाए गए इन 4 जोन में पार्टी नेता व विधायक गांव-गांव व शहरी क्षेत्र में जाकर अधिक से अधिक लोगों को दिल्ली पहुंचने का न्यौता देंगे।
इस बारे विस्तार से जानकारी देते हुए इनेलो विधायक बलवान दौलतपुरिया ने बताया कि दिल्ली में होने वाली एसवाईएल अधिकार रैली को लेकर बनाए गए 4 जोन में प्रथम जोन में जिला उपाध्यक्ष सुरेन्द्र लेगा, वरिष्ठ नेता जगदीश झांझड़ा व सरपंच रवि गढ़वाल को मुख्य जिम्मेवारी सौंपी गई है। इसी प्रकार जोन 2 में पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार व युवा नेता सतपाल सिधु, जोन 3 में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कुलजीत कुलडिय़ा, विधायक बलवान दौलतपुरिया व वरिष्ठ नेता रामकिशन कंबोज को शामिल किया गया है। इसी प्रकार जोन 4 में जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, वरिष्ठ नेता मोलूराम रूहलानियां, मा. बसंत लाल, मा. चमनलाल व धर्मपाल सिवाच को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि इनेलो की एसवाईएल अधिकार रैली के बाद भी यदि केेंद्र सरकार ने हरियाणा की जीवन रेखा एसवाईएल का पानी प्रदेश को दिलाने में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की पालना नहीं करवाई तो उसके बाद इनेलो सड़कों पर उतर हर तरह का बलिदान देने से पीछे नहीं हटेगी। दौलतपुरिया ने कहा कि एसवाईएल मुद्दा इस समय हरियाणा भर में किसान व आम वर्ग में बड़े आंदोलन का रूप ले चुका है। मगर भाजपा सरकार इस मामले को ठंडे बस्ते में डाल डिब्बा बंद करना चाहती है, जो इनेलो हरगिज नहीं होने देगी।

सांसद दुष्यंत ने किसानों पर बर्बातापूर्वक लाठीचार्ज व मुकदमें बनाने की कड़ी निंदा की 



कुरुक्षेत्र : हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा एसवाईएल के पानी संबंधित बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री का यह बयान हरियाणा की जनता को बरगलाने वाला है। सुप्रीम कोर्ट ने एसवाइएल के पानी पर हरियाणा के हक में फैसला दिया हुआ है अब तो केवल केंद्र सरकार को नहर का निर्माण कार्य पूरा करके हरियाणा को उसके हिस्से का पानी दिलवाना है। मुख्यमंत्री को चाहिए कि वे इस प्रकार की कोरी बयानबाजी करने की बजाय केंद्र सरकार पर दबाव डालकर हरियाणा की जनता को उसके हक का पानी दिलवाएं। 
दुष्यंत चौटाला इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा के निवास स्थान पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। चौटाला इनेलो प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य मायाराम चंद्रभानपुरा की माता के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए कुरुक्षेत्र आए थे। इस अवसर पर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुल्तानी, मास्टर हरिसिंह, इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जसविंद्र सिंह खैरा, कुलदीप जखवाला, जोगध्यान,सतबीर ढांडा, नरेंद्र घराड़सी, सतबीर शर्मा, सुभाष मिर्जापुर, बलजिंद्र सिंह बब्बू, हिमांशू अरोड़ा, सूबे सिंह त्योड़ी, जसमेर घराड़सी, राजबीर कान्यान,  सहित अनेक इनेलो नेता उपस्थित थे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा में किसानों पर बर्बातापूर्वक किए गए लाठीचार्ज व उन पर बनाए गए मुकदमों की कड़ी निंदा करते हुए मांग की कि सरकार तुरंत प्रभाव से किसानों पर बनाए गए मुकदमें वापस ले और जो अधिकारी लाठीचार्ज के लिए दोषी हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि शांतिपूर्वक धरना व प्रदर्शन करना प्रत्येक नागरिक का मौलिक अधिकारी है और ये किसान तो दिल्ली में रैली करने के लिए जा रहे थे उनसे निपटना दिल्ली सरकार की जिम्मेवारी थी, लेकिन हरियाणा सरकार ने किसानों को हरियाणा में ही रोक लिया और उन पर जमकर लाठीचार्ज किया और जेलों में बंद कर दिया। कई किसानों पर तो भा.द.स. की धारा 307 तक के संगीन मुकदमें दर्ज किए गए हैं। भाजपा को हर मोर्चे पर विफल बताते हुए उन्होंने कहा कि जींद में अमित शाह की हुंकार रैली में युवा कम और पुलिस बल के जवान ज्यादा थे। एक अन्य प्रश्न के उत्तर में चौटाला ने कहा कि सात मार्च को दिल्ली में इनेलो की किसान रैली के कारण ही हरियाणा विधानसभा का सत्र पांच मार्च से रखा गया है, जोकि सरकार की मंशा को जाहिर करता है, लेकिन इनेलो का कारवां रुकने वाला नहीं है। हरियाणा की जनता के हकों के लिए इनेलो दिल्ली में सात मार्च को किसान सम्मेलन करेगी और जब तक एसवाइएल का पानी हरियाणा में नहीं आ जाता तब तक चैन से नहीं बैठेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में आयोजित इस रैली से केंद्र व प्रदेश सरकार की नींद हराम हो जाएगी। इस रैली में किसानों का विशाल जनसमूह उमड़ेगा। इनेलो सांसद ने भाजपा सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि प्रदेश का युवा इस सरकार से हताश और निराश है। हर वर्ग दुखी है। आने वाले चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा। 
इनेलो थानेसर के हलका प्रधान सुरेंद्र सैनी ने बताया कि पार्टी द्वारा दिल्ली में सात मार्च को आयोजित किसान रैली की तैयारियों को लेकर एक मार्च को प्रात: दस बजे पंजाबी धर्मशाला में इनेलो हलका थानेसर के कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई गई है। इस बैठक को पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा संबोधित करेंगे। बैठक में किसान रैली में जाने के लिए कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई जाएगी और तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाएगा। 

कार्यकर्ता लोगों के घर-घर जाकर इनेलो की नीतियों से अवगत कराएँ, किसान-अधिकार रैली का न्यौता दें - गोपी चंद गहलोत 



गुड़गांव : आगामी 7 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली किसान अधिकार रैली की तैयारियों को लेकर आज गुड़गांव के सैक्टर 12 स्थित इनेलो जिला कार्यालय पर विधानसभा क्षेत्र बादशाहपुर के कार्यकर्ताओं की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता इंडियन नैशनल लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर ने की। आज की बैठक को बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी व पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत ने सम्बोधित करते हुए कहा कि सतलुज यमुना लिंक नहर, स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट को लागू करवाने, दादुपुर नलवी नहर, मेवात कनाल व किसानो पर हो रहे अत्याचारों के विरोध में आगामी 7 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में पंहुचकर इस गूंगी बहरी सरकार को चेताने का काम करेंगे। रैली को सफल बनाने के लिए सभी कार्यकर्ता व पदाधिकारी घर घर व गांव गांव जाकर लोगों से अपील करें तथा रैली का निमंत्रण देने का काम करें। श्री गहलोत ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार से प्रदेश की जनता का मोह भंग हो चुका है। इस सरकार ने अच्छे दिनों का वायदा करके किसान, मजदूर, कमेरा, व्यापारी व कर्मचारियों के वोट ठगने का काम किया परन्तु सहुलियत के नाम पर केवल कोरे आश्वासन दिये जा रहे है। आज देश व प्रदेश में इस सरकार द्वारा रोजगार देने का काम तो दूर इन्होंने लोगों का रोजगार छीनकर उन्हें बेरोजगार करने का काम किया। इस अवसर पर बादशाहपुर विधानसभा के अध्यक्ष रिशीराज राणा ने बताया कि आगामी कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए गांव गांव के दौरो के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है जिसमें पार्टी के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहेंगे। श्री राणा ने बताया कि आगामी 26 फरवरी को गांव नाथूपुर, झाड़सा, इस्लामपुर, बादशाहपुर, हयातपुर व पातली, दिनांक 27 फरवरी को गांव दौलताबाद, धन्वापुर, बसई, चन्दू व गढी हरसरू, दिनांक 28 फरवरी को बसई एन्क्लेव, सैक्टर 10 ऐ व फरूखनगर में नुक्कड़ सभाओं का आयोजन किया गया जिसकी जिम्मेवारियां सभी पदाधिकारियों को दे दी गई है। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष किशोर यादव, हल्काध्यक्ष शमशेर कटारिया, राजेन्द्र धनखड़, सतबीर तंवर एडवोकेट, मनोज बंधवाड़ी, अतर सिंह रूहिल, अटलबीर कटारिया, सन्तलाल जोतरीवाल, अशोक यादव सरपंच, मुकेश हयातपुर, पवन धनकोट, सुदेश यादव एडवोकेट, किरणपाल गुर्जर, राजेश यादव नाथूपुर, कुलदीप शर्मा, सतपाल हंस, लीलू खाण्डसा, तेजूराव ढोरका, साहब सिंह सोलंकी, सुनिल पंडित, नीतिन सैनी सहित कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित थे।

ट्रैक्टर के बाद कंबाईन को टोल फ्री करवाने के लिए संघर्ष कंरूगा - दुष्यंत चौटाला 



टोहाना : पूरे प्रदेश में किसान के किसान सिंचाई के लिए पानी, खाद-बीज, फसलों के लाभकारी मूल्य को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। कच्चे कर्मचारी और युवा वर्ग नौकरी और कच्ची नौकरी को पक्की करने की मांग को लेकर हर रोज सड़कों पर उतरते हैं और केंद्रीय बजट को किसान और रोजगारपरक बजट घोषित करने वाली मोदी और मनोहर लाल खट्टर सरकार उन पर लाठियां बरसा कर जेलों में बंद कर रही है, आपराधिक मुकद्दमे दर्ज किए जा रहे हैं। एसवाईएल नहर पर केंद्र व मोदी सरकार चुप्पी साध कर जनता को मूर्ख बनाने का प्रयास कर रही है। पर ये जनता है सब जानती है, लच्छेदार भाषणों के मायने व इन्हें कितना अमल में लाया गया है, यह भी समझती है। यही जनता समय आने सत्तारूढ़ भाजपा को माकूल जवाब देगी। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे रविवार को गांव समैण में आयोजित किसान-युवा सभा में लोगों को संबोधित कर रहे थे। गांव में पहुंचने पर चेयरमैन प्रतिनिधि कृष्ण नंगली ने दुष्यंत चौटाला और अन्य नेताओं का स्वागत किया। दुष्यंत चौटाला को कंबाईन पर बैठा कर सैंकड़ों बाईकों के साथ अगुवाई करते हुए सभा स्थल तक लेकर आए। 
इनेलो सांसद ने यह सभा में उमड़ी भारी भीड़ से गदगद कहा कि मैं ताऊ देवीलाल की परपौता और किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाला युवा हूं इसलिए हर किसान की पीड़ा को समझता भी और महसूस भी करता हूं। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर को गैर कार्मशियल वाहन घोषित करवाने के लिए उन्होंने संसद में लड़ाई लड़ी और अब कंबाईन को टोल फ्री करवाने के लिए संघर्ष कंरूगा। 
इनेलो संसदीय दल के नेता ने कहा कि स्वामीनाथन आयोग की सिफरिशें लागू करवाने के लिए हरियाणा सरकार के कपड़े उतार कर संघर्ष करने वाले अब प्रदेश में घूम-घूम कर किसानों की आय दोगुना आय करने का नुस्खा बताते घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार के मंत्रियों पर बरसते हुए कहा कि सम्मेलनों और गाष्ठियों ने किसानों की आय नहीं बढ़ेगी बल्कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों से लागू करने और लाभकारी मूल्य देने किसानों की हालत में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि एसवाईएल नहर भाजपा सरकार चुप बैठी हैं, सरकार के कान खोलने के लिए प्रदेश भर के किसान एकत्रित हों और 7 मार्च को दिल्ली पहुंचे। 
दुष्यंत चौटाला ने कि मोदी ने हर वर्ष दो करोड़ और हरियाणा में हर वर्ष सवा लाख युवाओं को नौकरी देने का वायदा किया था परन्तु सरकार नौकरी देना तो दूर की बात, अस्पतालों में नर्स, पुलिस में सिपाही, इंजीनियर, टीचर, लिपिक भी डीसी रेट पर भर्ती कर रही है और सरकार का वश चले तो विधायक व सांसद भी डीसी रेट पर भर्ती कर सकती है। उन्होंने कहा कि जीएसटी के नाम पर खाद, पेन, पैसिंल, कपड़ा, मिठाई पर भी टैक्स लगा दिया है। ऐसी सरकार को चलता करने का समय जल्द ही आपके सामने आ रहा है।  रैली को सिरसा से सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक रविंद्र बलियाला, विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, अनूप धानक, कुणाल सिंह आदि ने भी संबोधित किया। 

बिजली दरबार में उपभोक्ताओं की समस्याओं का मौके पर सांसद ने किया निवारण


हिसार : राजगढ़ रोड स्थित विद्युत निगम के कार्यालय में सांसद दुष्यंत चौटाला द्वारा लगाए गए खुले दरबार में दर्जनों उपभोक्ताओं की समस्याओं का मौके पर निपटान किया गया। हिसार शहर के अलावा आसपास के सैंकड़ों लोग अपनी समस्या लेकर पहुंचे थे। अधिकांश उपभोक्ताओं ने कम वोल्टेज आपूर्ति की थी। किसी ने बिजली के खंबे सड़क पर खड़े करने की शिकायत की तो कोई नीचे लटके बिजली की तारों की समस्या हल करवाने की मांग लेकर पहुंचा। इस खुले दरबार में हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम के आला अधिकारी भी उपस्थित थे। विधायक रणबीर गंगवा, विधायक वेद नारंग, विधायक अनूप धानक के अलावा जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, शीला भ्याण भी इस मौके पर मौजूद थे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला आज दोपरह बाद राजगढ़ रोड स्थित हरियाणा विद्युत निगम के कार्यालय में पहुंचे थे। गांव लाडवा, गंगवा सहित अन्य कई स्थानों पर गलियों में बिजली के नंगे तार नीचे लटकने की शिकायत की। गांव वासियों ने बताया कि नीची तारों के कारण दो पशुओं की करंट लगने से मौत हो चुकी है। दुष्यंत चौटाला ने निगम के अधिकारियों को हिसार जिले में सभी नंगी तारों को खींचने और घरों के उपर से गुजर रही बिजली की तारों को प्राथमिकता के साथ हटाने के आदेश दिए। 
पिछले छह माह से बिल ठीक करने के लिए बिजली के दफतरों में मैं चक्कर लगा रही हूं, पर कोई सुनता ही नहीं। साहब इसे ठीक करवा दो। 
डोगरान मोहल्ला वासी एक विधवा महिला वीना यह समस्या लेकर दुष्यंत के समक्ष पहुंची। वीना ने बताया कि वह एक कमरे में रहती है और उसके घर 61 हजार रूपये का बिल भेज दिया। इसे ठीक करवाने के लिए कई चक्कर लगा दिए पर अभी तक किसी ने नहीं सुना। दुष्यंत ने वीना से भेजा बिल लिया और निगम के अधीक्षक अभियंता को आदेश दिए कि वह बिल को ठीक करवा कर उसके घर भिजवाएं। 
कालीरावण, कैमरी के लोग कम वोल्टेज की समस्या लेकर पहुंचे। सेक्टर 9-11 स्थित तारानगर वासियों ने भी कम वोल्टेज की समस्या दुष्यंत के सामने रखी। उन्होने बताया कि निगम के अधिकारी बड़ा टांसफार्मर लगवाने के लिए साढ़े चार लाख रूपये मांग रहा है। इस दुष्यंत ने अढ़ाई लाख रूपये एमपी कोटे से देने की घोषणा करते हुए कहा कि 150 परिवारों की समस्या तुरंत हल करो। प्रवीण ढांडा आजाद नगर की एक गलियों के बीचों बीच लगे बिजली की ख्ंाबों की समस्या लेकर पहुंच गया। अधिकारी इसे टाल-मटोल करने लगे प्रवीण ने इनकी फोटो दिखाई। फोटो देखते ही निगम के अधिकारी बगलें झांकने लगे और जल्द ही इसे ठीक करवाने का आश्वासन दिया। यहां पहुंचे लोगों ने दुष्यंत से शिकायत की कि निगम के अधिकांश अधिकारी नया अस्टीमेट बनाने और सिक्योरिटी जमा करवाने के लिए उपभोक्ताओं को लगातार टरका रहे हैं और उनकी सिक्योरिटी जमा नहीं की जा रही। सांसद ने निगम के अधिकारियों को नई योजना के तहत उपभोक्तओं के अस्टीमेट जल्द से जल्द बनाने और सिक्योरिटी भरने के आदेश दिए। 
यहां खुले दरबार में सर्वाधिक संख्या एमपी कोटे से बिजली कनेक् शन लगवाने की मांग करने वालों की थी। दुष्यंत चौटाला ने लोगों को बताया कि सरकार की नई स्कीम आई है। इस स्कीम के तहत आप निगम में सिक्योरिटी भर कर नया अस्टीमेट तैयार करवा ले। यह सिक्योरिटी ऑन लाइन भरी जाएगी।  अस्टीमेट तैयार करवा कर डिमांड नोटिस मेरे पास ले आओ और बिजली का कनेक् शन पाओ। उन्होंने स्पष्ट किया कि जो अस्टीमेट पहले बन चुके हैं, उन्हें भी निगम से रिवाईज करवाना होगा और करीब 1800 रूपये सिक्योरिटी जमा करवानी होगी। बाकी खर्च एमपी कोटे से दिया जाएगा।
एसवाईएल को लेकर आर पार की लडाई लडेगी इनेलो - बलदेव घनघस


भिवानी : इनलो के प्रदेश सचिव व 7 मार्च के दिल्ली विरोध प्रदर्शन के भिवानी प्रभारी बलदेव घनघस ने कहा कि एसवाईएल आज के किसान की जरूरत है। इनेलो एसवाईएल के लिए कोई भी कुर्बानी देने लिए तैयार है।  वे आज देवसर,धीराणा, नवाराजगढ,कितलाना,झरवाई,प्रहलादगढ,का दौरा करते हुए उन्होंने कहा कि किसान खेती करने में पहले ही असमर्थ है। सरकार की कारगुजारियों के कारण खाद व अन्य मूलभूत सुविधाओं की कमी के कारण किसान आत्म हत्याएं करने पर मजबूर हैं ऊपर से एसवाईएल का पानी हरियाणा को न मिलना भी किसान की दुर्गती का कारण है। इनेलो इस ज्यादती को सहन नहीं करेगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी एसवाईएल का निर्माण न करना सरकार की औच्छी मानसिकता को दर्शाता है।बलदेव सिंह ने कहा कि एसवाईएल के लिए इनेलो 7 मार्च के लिए दिल्ली के अंदर विरोध  प्रदर्शन करेगा। अकेले भिवानी से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली पहुंचेंगे। पूर्व युवा जिला अध्यक्ष जितेंद्र शर्मा ने कहा की किसान को खेती करनी पहले ही घाटे का सौदा हो रहा है ऊपर से एसवाईएल का पानी ना मिलना हरियाणा के किसानों को भारी नुकसान होगा।उन्होंने कहा की किसानों को बचाने के लिए इनलो ने पहले भी बडे बडे जन आन्दोलन किये है तथा एक बार फिर से इनलो आर पार की लडाई लडेगा।जितेन्द्र ने अधिक से अधिक लोगो को दिल्ली पहुचेंने का आहवान किया। इस अवसर पर ओम प्रकाश फौजी, सुरेश शर्मा, कंवर पाल, औम प्रकाश, अजीत सैनी, मुख्तार, पवन शार्म, नत्थु शर्मा, राजेंद्र शर्मा, चंद्र भान प्रजापत, रामधारी शर्मा, जितेंद्र सैन, रमेश स्वामी, विक्रम बडेसरा आदि मौजूद थे। 
चौ. ज़ाकिर हुसैन ने कार्यकर्ताओं को रैली के लिए जिम्मेदारियाँ सौंपी


                   
शनिवार को इनेलो विधायक व नूँह, सोहना-तावड़ू विधानसभा के प्रभारी चौधरी ज़ाकिर हुसैन ने सोहना में जिलाध्यक्ष किशोर यादव के कार्यालय पर सोहना-तावड़ू विधानसभा के इनेलो कार्यकर्ताओं की मीटिंग ली।
कार्यकर्ता मीटिंग में जिलाध्यक्ष श्री किशोर यादव, इनेलो नेता चौ. ताहिर हुसैन एडवोकेट, शेलेष खटाना हल्का अध्यक्ष, रोहताश खटाना लोहटकी,  विजय डागर, अशोक जांगड़ा, हरिप्रसाद, योगेन्द्र गंघोला, मोहन सैनी, सतीश राघव, मनोज बंधवाड़ी आदि इनेलो नेता उपस्थित रहे। मीटिंग में सोहना के प्रभारी चौ. ज़ाकिर हुसैन विधायक ने इनेलो नेताओं व कार्यकर्ताओं से 7 मार्च को दिल्ली में होने वाली खेलरत्न चौ अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में किसान-अधिकार रैली की तैयारियों पर चर्चा की तथा सभी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियाँ सौंपी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता गाँव-गाँव जाकर हर व्यक्ति को इनेलो की नीतियों से अवगत कराएँ तथा आने वाली 7 मार्च को रामलीला मैदान, दिल्ली में किसान- अधिकार रैली में चलने का न्यौता दें।
उन्होंने कहा कि इनेलो ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो किसान, मजदूर, गरीब, छोटे व्यापारी व सभी वर्गों के हकों की लड़ाई लगातार लड़ती आ रही है। इनेलो नेता ने कहा कि आगामी 7 मार्च को इनेलो खेलरत्न चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में दिल्ली में किसान-अधिकार रैली कर रही है जो ऐतिहासिक होगी। ये रैली हरियाणा प्रदेश के साथ-साथ देश की राजनीति भी तय करेगी। किसान अधिकार रैली में एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के विषय महत्वपूर्ण होंगे।  
प्रभारी चौ. ज़ाकिर हुसैन ने खेलरत्न चौ. अभय सिंह चौटाला का धन्यवाद करते हुए कहा कि एस वाई एल व दादूपुर नलवी के साथ मेवात फीडर कैनाल का मुद्दा इनेलो ने इस लड़ाई में प्रमुख रूप से रखा है। उन्होंने कहा कि एस वाई एल व मेवात फीडर कैनाल के निर्माण से सबसे ज्यादा फायदा दक्षिण हरियाणा को होगा तथा खासतौर पर गुड़गाँव जिले के सोहना, पलवल जिले के हथीन क्षेत्र व जिला नूँह को होगा। इनके निर्माण से साफ नहरी पानी मिलेगा।
उन्होंने कहा कि स्व: चौ. देवीलाल के समय से ही चौटाला परिवार का मेवात क्षेत्र से विशेष लगाव रहा है, इसलिए मेवातवासियों का कर्तव्य बनता है कि हमेशा की तरह आगामी 7 मार्च को दिल्ली में इनेलो द्वारा आयोजित किसान-अधिकार रैली में ज्यादा से ज्यादा संख्या में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएँ।  
इनेलो विधायक ने कहा कि 7 मार्च को खेल रत्न चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में दिल्ली में होने वाली किसान-रैली अपनी पिछली सारी रैलियों का रिकाॅर्ड तोड़ेगी। मेवात क्षेत्र हमेशा की तरह इस बार भी भीड़ के मामले में अन्य जिलों से आगे रहेगा तथा मेवात क्षेत्र से हजारों कार्यकर्ता किसान-रैली में भाग लेंगे।  
इनेलो नेता ने कहा कि इनेलो एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए दिल्ली में ऐतिहासिक रैली कर सरकार को इनके निर्माण कराने पर मजबूर करने का काम करेगी। जब तक एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी का निर्माण नहीं हो जाता तब तक इनेलो संघर्ष करती रहेगी, इसके लिए इनेलो को चाहे कोई भी कुर्बानी देनी पड़े। हुसैन ने कहा कि इंडियन नेशनल लोकदल ने चौ. ओमप्रकाश चौटाला के आशीर्वाद व मार्गदर्शन में खेलरत्न चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में लगातार प्रदेश के किसान,मजदूर, गरीब, छोटे व्यापारी व युवाओं के हकों के लिए लगातार संघर्ष किया है।  
उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी खेलरत्न चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में आगामी विधानसभा-सत्र में भी इन मुद्दों पर सरकार को घेरने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि 7 मार्च को एस वाई एल, मेवात फीडर कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण की लड़ाई आर-पार लड़ी जाएगी। इसलिए इस लड़ाई में प्रदेश के हर व्यक्ति का कर्त्तव्य बनता है कि इनेलो का साथ दें और हरियाणा को पानी के लिए उसका हक़ दिलाने में इनेलो का हाथ मजबूत करें। 
उन्होंने कहा कि आने वाला समय इनेलो का है और प्रदेश में इनेलो के सत्तासीन होते ही गांव, देहात, कस्बों और शहरों में विकास के कार्यों को तेजी से चलाकर हरियाणा को सही मायने में देश का नंबर वन प्रदेश बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी परिवारों से शिक्षित युवाओं को रोजगार, किसानों के कर्ज माफ, घरेलू बिजली के बिलों को आधा माफ करने व गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता सहित अनेक कल्याणकारी योजनाएं आरंभ की जाएंगी।
इस अवसर पर दीपक डागर, हरपाल,  चरणसिंह डागर, अभिषेक, अख्तर सरपंच खोरी, निसार सरपंच चाहलका, इदरीस सुनारी, हमीद सरपंच, कबीर खान, आसू सरपंच, हाजी नूरू सरपंच, जान मौ0 सरपंच, फकरु सरपंच, आमीन चेयरमैन, जगत सिंह जौरासी, इसराईल स्यानीका, अब्दुल रज्जाक पढेनी, अरसद पढेनी आदि इनेलो नेता व सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।
घटती जोत के चलते पशुपालन ही किसानों की रोजी-रोटी का दूसरा विकल्प - दुष्यंत चौटाला

केंद्र सरकार से पशुपालन के सब्सिडी बढ़ाने की करूंगा मांग- दुष्यंत चौटाला



हिसार : हरियाणा में घटती जोत, बढ़ती फसल लागत और घटते फसलों के दामों के कारण किसान को दो जून की रोटी जुटाना भी मुश्किल हो रहा है। ऐसी विकट परिस्थितियों से उबरने के लिए पशुपालन किसानों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है जिससे कि वे अपने परिवार का पेट भर सकें। पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार को आगे आना चाहिए और पशुपालन और डेयरी फार्मिंग के लिए अधिक से अधिक सब्सिडी का प्रावधान करे। यह मांग इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने की। वे शनिवार को सिंघवा राघो में आयोजित तीसरी राष्ट्रीय पशुधन चैंपियनशिप में बतौर मुख्य वक्ता लोगों को संबोधित कर रहे थे। यहां पहुंचने पर मेले के आयोजक ईश्वर व  कमेटी के सदस्यों ने दुष्यंत का स्वागत किया। गांव में दुष्यंत का पुष्पवर्षा कर जोरदार स्वागत किया गया और उन्हें बैलगाड़ी पर बैठा कर आयोजन स्थल तक ले जाया गया। दुष्यंत चौटाला ने कई दूर तक स्वयं बैलगाड़ी हांकी। रास्ते में गिलास में दूध लिए खड़ी महिलाओं ने दुष्यंत की बैलगाड़ी रूकवाई और  बोली ....बेटा दूध जरूरी पी क जाइए। दुष्यंत ने महिलाओं के पैर छूए, उनका आशीर्वाद लिया और दूध पीया, बैलगाड़ी पर सवार होकर दोबारा बैलों की रस्सी अपने हाथ में थाम ली और आगे बढ़ गए।
मेले में दुष्यंत चौटाला ने गांव में पशुओं के लिए एक अल्ट्रासांउड मशीन देने की घोषणा की। गांव वासियों ने इसकी यह कहते हुए मांग की थी कि पशुओं के इलाज के लिए हिसार जाना पड़ता है जोकि काफी दूर है। गांव सिंघवा मुर्राह नस्ल की भैंस के लिए देश भर में जाना जाता है। 
यहां प्रतियोगिता में भाग लेने आए पशुपालकों की मुर्राह नस्ल के भैंस, कटड़ीयों और झोंटो ने रैंप पर कैट वॉक भी किया। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पशुपालन और डेयरी फामिंग से न केवल किसानों की आय बढ़ेगी बल्कि देश वासियों के लिए प्रचूर मात्रा में शुद्ध दूध-घी उपलब्ध होगा। 
इस अवसर पर जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, हलका प्रधान सतबीर सिसाय, वरिष्ठ नेता राज सिंह मोर, युवा जिला प्रधान, अमित बूरा, जिला पार्षद जस्सी पेटवाड़ सहित भारी संख्या में ग्रामीण व पशुपालक मौजूद थे। 
राखीगढ़ी मामले में दुष्यंत चौटाला मिले केंद्रीय मंत्री से, नोटिस वापस लेने की मांग


हिसार : गांव राखीगढ़ी गांववासियों को पुरातत्व विभाग द्वारा मकान खाली करने के नोटिस के विरोध में आज सांसद दुष्यंत चौटाला एक प्रतिनिधि मंडल के साथ नई दिल्ली में केंद्रीय राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डा. महेश कुमार से मिले और यह नोटिस वापस लेने की मांग की।
दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय मंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपा और जिसमें कहा गया कि गांव राखीगढ़ी में पुरातत्व विभाग द्वारा करीब 200 परिवारों को उनके घर खाली करने के नोटिस दिए गए हैं। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से मांग की कि सरकार उन नोटिस को रद्द किया जाए ताकि गांव वासी अपना जीवन सामान्य ढंग से चलाते रहें। उन्होंने बताया कि विभाग ने यह नोटिस इस आधार पर दिए हैं कि आसपास के क्षेत्र में खुदाई करके प्राचीन सभ्यता और अवशेष और मिल सकते हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गांव वासियों ने खुदाई के लिए पहले ही जमीन दे रखी है और यहां दशकों से उस स्थान पर रहे हैं। स्वाभाविक है कि लोग यहां भावनात्मक रूप से भी जुड़े हैं। इसलिए इस जगह को खाली न करवाया जाए। ज्ञातव्य है कि इस मामले को दुष्यंत चौटाला ने पिछले सत्र में लोकसभा के पटल पर भी रखा था । केंद्रीय राज्य मंत्री महेश कुमार सांसद दुष्यंत चौटाला से भी तथ्यों पर बातचीत कर उन्हें उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि राखीगढ़ी वासियों की समस्या के समाधान के लिए अतिशीघ्र एक कमेटी गठित की जाएगी जिसकी रिपोर्ट वह 15 दिन में देगी। प्रतिनिधि मंडल में जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, हलका प्रधान सतबीर सिसाय, राज सिंह मोर, युवा जिला प्रधान अमित बूरा प्रताप राखीगढ़ी प्रमुख थे।
जलयुद्ध रैली में उमड़ने वाली भीड़ खोलेगी भाजपा की आंख- लितानी


हिसार : इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि एसवाईएल को लेकर इनेलो की सात मार्च को दिल्ली में होने वाली जलयुद्ध रैली एक निर्णायक रैली साबित होगी। इस रैली में उमड़ने वाली लाखों किसानों की भीड़ प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार की आंख खोलते हुए एसवाईएल के मुद्दे पर सोचने के लिए मजबूर कर देगी। लितानी रैली की तैयारियों को लेकर शहर के कबीर चौक सहित विभिन्न कॉलोनियों में जनंसपर्क अभियान चला रहे थे। 
लितानी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद एसवाईएल को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। यह मुद्दा सीधे तौर पर प्रदेश हित से जुड़ा है। पानी की कमी के कारण किसान वर्ग मजबूरन सड़कों पर उतर रहा है। उन्होनें कहा कि जब तक एसवाईएल का पानी हरियाणा में नहीं आता, किसानों की नहरी पानी की समस्या बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को चाहिए कि वह सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले के अनुसार एसवाईएल का निर्माण करवाकर हरियाणा को उसके हक का पानी दे। उन्होंने उपस्थित लोगों से आह्वान किया कि वे दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली किसान रैली में ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग लें। इस मौके पर उनके साथ हिसार विधानसभा क्षेत्र के हलकाध्यक्ष सजन लावट, युवा जिला प्रधान अमित बूरा, डॉ उमेद खन्ना, सतबीर मुंगरिया, राजकपूर रागी, श्रवण बागड़ी, सुंदर प्रधान सहित कबीर चौक के बहुत से साथी मौजूद थे।

जलयुद्ध रैली को लेकर विधायक अनूप धानक ने किए गाँवों के दौरे 


मंडी आदमपुर : एसवाईएल नहर का पानी हरियाणा के किसानों के लिए जीवनमरण का प्रश्न है। हरियाणा का किसान आज अपने हक के पानी के लिए भी खून के आंसू पीने को मजबूर है। यह बात इनेलो के हलका प्रभारी ओर उकलाना के विधायक अनूप धानक ने कही। वे शुक्रवार को इनेलो द्वारा आगामी 7 मार्च की दिल्ली में आयोजित होने वाली ''जलयुद्ध रैली'' को लेकर हलके के गांवों में ग्रामीणों को सम्बोधित कर रहे थे।
हलके के विभिन्न गांवों में जनसंपर्क अभियान चलाते हुए इनेलो नेताओं को जलयुद्ध रैली का न्यौता देते हुए अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आज केंद्र और प्रदेश में दोनों जगह भाजपा की सरकार है तथा उच्चतम न्यायालय द्वारा इस मामले में फैसला भी हरियाणा के पक्ष में आ चुका है फिर भी केंद्र सरकार एसवाईएल का निर्माण नहीं करवा रही है। उन्होंने कहा कि इनेलो जनहित के इस मुद्दे को सड़क से संसद तक लड़ रही है और आगामी सात मार्च की रैली के बाद सरकार को झुकने पर मजबूर होना पड़ेगा। इस मौके पर उनके साथ अन्य पदाधिकारी भी मौजूद थे।
 फसलों के भाव देने की बजाय, सरकार किसानों पर बरसवा रही है लाठियां - रणबीर गंगवा

हिसार : नलवा से इनेलो विधायक रणबीर गंगवा ने शांतिपूर्वक ढंग से अपनी मांगों को लेकर दिल्ली में प्रदर्शन करने जा रहे किसानों पर लाठीचार्ज करने और उन्हें गिरफ्तार करने की कड़े शब्दों में भर्त्सना की है। इनेलो विधायक ने कहा है कि सरकार किसानों की आवाज को दबाने के लिए तानाशाही रवैया अपना रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को किसानों पर लाठचार्ज करने की बजाय, उनकी मांगों को मानना चाहिए जिनका वायदा भाजपा ने लोकसभा चुनाव से पहले देश के किसानों से किया था। रणबीर गंगवा ने डेरा प्रकारण में भी भाजपा सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए मुआवजे की मांग की है। 
इनेलो विधायक ने कहा कि नलवा व आदमपुर के किसान पिछले 40 दिनों से अधिक समय से सिंचाई और पीने के लिए पानी की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। हरियाणा के दो-दो मंत्री हिसार आए परन्तु उन्होंने किसानों की मांग मानना तो दूर, उनसे बात करना तक उचित नहीं समझा। मंत्रियों का यह रवैया निंदनीय है। रणबीर गंगवा ने कहा कि भाजपा ने सबसे पहले स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने सहित अन्य सुविधाएं देने का देश से किसानों से न केवल वायदा किया था बल्कि इसके लिए वर्तमान कृषि मंत्री और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कुर्ता उतार कर प्रदर्शन भी किया था। अब उनकी सरकार बने हुए साढ़े तीन वर्ष से अधिक समय हो चुका है और अपनी मांगें मनवाने के लिए किसान दिल्ली जा रहे हैं तो उन पर लाठियां बरसाई जा रही हैं। किसानों को स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के आधार पर फसलों के भाव नहीं मिलेंगे तब तक किसना की आर्थिक हालत में सुधार नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून का राज खत्म हो गया है कि हरियाणा सरकार के राज में अब तक 90 से अधिक लोग गोली से मारे जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि जब भी कोई वर्ग अपनी मांगों के लिए आवाज उठाता है, उनकी आवाज को दबाने के लिए भाजपा सरकार पैरा मिलट्री को बुलवा लेती है। 
नलवा से विधायक रणबीर गंगवा ने डेरा प्रकरण में पंचकुला में हुई हिंसा को लेकर भी खट्टर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने साजिशन 53 डेरे के लोगों के खिलाफ देशद्रोह का झूठा मुकद्दमा दर्ज कर उन्हें फंसाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने इन लोगों को देशद्रोह के आरोपों से बरी कर दिया है। इससे यह स्पष्ट हो गया है कि डेरा प्रेमियों के पास न तो कोई हथियार था और न ही उन्होंने सिक्योरिटी पर जानलेवा हमला किया बल्कि सरकार ने निहत्थे डेरा प्रेमियों पर गोलियां चलवा कर 42 निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं सैंकड़ों लोग आज लापता है। श्री गंगवा ने कहा कि पंचकुला की इस घटना ने जलियांवाला बाग की घटना को ताजा कर दिया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि पंचकुला डेरा प्रकरण में मारे गए लोगों को सरकारी नौकरी व मुआवजा दिया जाए और गोली चलाने और गोली चलाने के आदेश देने वाले अधिकारियों के खिलाफ मुकद्दमे दर्ज होने चाहिए। 

Thursday, February 22, 2018

7 मार्च की रैली रोकने के लिए बुलाया गया बजट सत्र - अभय सिंह चौटाला 


चंडीगढ़, 22 फरवरी : नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने चंडीगढ़ में आयोजित प्रेसवार्ता में कहा हालांकि राज्य की भाजपा सरकार ने जानबूझकर बजट सत्र की ऐसी तिथियां चुनी हैं जिनमें मुख्य विपक्षी दल इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) पूरी तरह से शामिल न हो सके, फिर भी इनेलो अपने संवैधानिक दायित्व को निभाते हुए 5 और 6 मार्च को सत्र में भाग लेते हुए एसवाईएल के मुद्दे बारे काम रोका प्रस्ताव भी रखेगा। उन्होंने याद दिलाया कि 5 मार्च को बजट सत्र बुलाया गया है जबकि कई महीनों से सरकार यह जानती थी कि 7 मार्च को इनेलो द्वारा दिल्ली में एसवाईएल नहर के निर्माण कार्य को पूरा करने बारे ‘अधिकार रैली’ का आयोजन किया गया है।
इनेलो नेता ने सभी को 7 मार्च की रैली में सम्मिलित होने का न्यौता देेते हुए कहा कि इनेलो हरियाणा के अधिकार के नदियों के जल को राज्य में लाने के लिए हर संभव दबाव भी बनाएगी और प्रयास भी करेगी। उन्होंने याद दिलाया कि इनेलो ने सिलसिलेवार तरीके से धरने और प्रदर्शन इस संबंध में किए हैं। इसके अतिरिक्त इसने हर उस दरवाजे को खटखटाया है जहां से यह आशा बनी कि कोई केंद्र सरकार पर एसवाईएल नहर को पूर्ण करने का दबाव बना सके। इस संदर्भ में बार-बार प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखे गए और उनके कहने पर ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी जी से भी अलग-अलग समय में मुलाकात की गई। राष्ट्रपति को भी इस आशय का विज्ञापन इनेलो द्वारा भेजा गया था। इसके अतिरिक्त इनेलो ने राज्य सरकार को भी यह आश्वासन दिया था कि नहर निर्माण कार्य के लिए जो भी उचित कदम वह उठाएगी और केंद्र सरकार को उसके लिए सहमत कर लेगी तो इनेलो बिना किसी शर्त के उसका समर्थन भी करेगी और सरकार के साथ जो प्रयास करने हों, वह भी करेगी। यह खेद की बात है कि राज्य सरकार अपने दायित्व को निभाने में अभी तक पूरी तरह से विफल रही है।
इस संदर्भ में उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह इस मुद्दे पर राज्य के हितों बारे पूरी तरह से उदासीन है। उसकी उदासीनता का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि अभी हाल में भाजपा द्वारा जिस हुंकार रैली का आयोजन जींद में किया गया था उसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने एक बार भी एसवाईएल जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे के बारे में बात नहीं की। इसके अतिरिक्त दादूपुर-नलवी नहर निर्माण और आगरा कनाल से मेवात फीडर कनाल को मिलने वाले हरियाणा के हिस्से के जल में कटौती का भी कहीं जिक्र्र उनके द्वारा नहीं किया गया। इसके विपरीत अमित शाह ने उस अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उनकी सरकार की मनघडं़त उपलब्धियों की तारीफें अवश्य की। उपलब्धियों के विपरीत सच्चाई यह है कि राज्य इस समय बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के शिकंजे में जकड़ा गया है और कानून व्यवस्था पर सरकार की पकड़ इतनी लचर है कि प्रतिदिन अपराध की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। 


राज्य के किसानों के जले पर नमक छिडक़ते हुए जींद रैली में अमित शाह ने यह भी दावा किया कि भाजपा सरकार रबी फसलों के लिए किसानों को स्वामीनाथन कमिशन रिपोर्ट की सिफारिशों के अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य दे चुकी है। उन्होंने यह भी दावा किया कि निकट भविष्य में उसी फार्मूले के आधार पर खरीफ फसलों के भी न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किए जाएंगे। किन्तु किसानों को जो वास्तव में मिल रहा है उससे यह स्पष्ट हो जाता है कि यह दावे किसानों के साथ क्रूर मजाक है।
विपक्ष के नेता ने यह भी आरोप लगाया कि जींद रैली के आयोजन पर 50 से 100 करोड़ रुपए सरकार द्वारा खर्च किए गए हैं और यह मांग की कि चूंकि यह रैली एक राजनैतिक दल की थी इसलिए यह सारा खर्चा भाजपा से वसूल किया जाए। रैली के लिए इतनी बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मियों और अद्र्धसैनिक बलों को एकत्रित करने का एकमात्र उद्देश्य प्रदेश की जनता को धमकाना और रैली स्थल पर भीड़ एकत्रित करना था। किन्तु इसके बावजूद जिस तरीके से रैली असफल हुई है उससे प्रदेश की जनता ने भाजपा को आइना दिखाकर उसकी स्थिति स्पष्ट कर दी है। नेता विपक्ष ने आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का समर्थन करते हुए यह मांग की कि भाजपा ने जो वायदा इन सभी कर्मचारियों को अपने चुनावी घोषणा पत्र में किया था उसे वह पूरा करे। 
इस अवसर पर अभय सिंह चौटाला ने अभी हाल में दिल्ली राज्य के मुख्य सचिव पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की उपस्थिति में उन्हीं के घर किए गए कथित आपराधिक हमले की भी निंदा की और मांग की कि इस संबंध में अरविंद केजरीवाल के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज किया जाना चाहिए।
दिल्ली मे उमड़ेगा जनसैलाब: बलदेव घनघस



भिवानी : इनलो के प्रदेश सचिव व 7 मार्च के दिल्ली विरोध प्रदर्शन के भिवानी प्रभारी बलदेव घनघस ने कहा कि एसवाईएल आज के किसान की जरूरत है। इनलो एसवाईएल के लिए कोई भी कुर्बानी देने लिए तैयार है। देवीलाल सदन मे हल्का भिवानी की बैठक करते हुए उन्होंने कहा कि किसान खेती करने में पहले ही असमर्थ है। सरकार की कारगुजारियों के कारण खाद व अन्य मूलभूत सुविधाओं की कमी के कारण किसान आत्महत्याएं करने पर मजबूर हैं उपर से एसवाईएल का पानी हरियाणा को न मिलना भी किसान की दुर्गती का कारण है। इनेलो इस ज्यादती को सहन नहीं करेगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी एसवाईएल का निर्माण न करना सरकार की औच्छी मानसिकता को दर्शाता है।बलदेव सिंह ने कहा कि एसवाईएल के लिए  24,25,26 फरवरी से हल्के भिवानी के प्रत्येक गांव का दौरा कर किसानो को निमंत्रण देंगे।उन्होंने कहा की इनेलो 7 मार्च के लिए दिल्ली के अंदर विरोध  प्रदर्शन करेगा। अकेले भिवानी हल्के से सैकडो गाडियों के साथ हजारों कार्यकर्ता दिल्ली पहुचेंगे।
इस अवसर पर बलदेव घणघस प्रदेश महासचिव,जितेन्द्र शर्मा,प्रदीप खरकीया,सुबेदार राजेन्द्र ढाणा,प्रेमधनाना,सिंहराम,सुबे सिंह यादव,शंकर आहुजा,कमलजीत यादव, विक्रम बड़ेसरा, गांधी नौरंगाबाद, ओम नाई कायला,रामानंद यादव,सदाराम यादव ,मनीराम सरपंच आदि मौजूद थे।
अभय सिंह चौटाला ने किसानों को 7 मार्च की रैली में शामिल होने का निमंत्रण दिया 


सिरसा : नेता प्रतिपक्ष चौ. अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जननायक चौ० देवी लाल द्वारा सतलुज-यमुना लिंक नहर के पानी को हरियाणा मेे लाए जाने हेतु उनके द्वारा किया गया सर्घष जब तक जारी रहेगा जब तक एस.वाई.एल का पानी हरियाणा के खेतों में नही पहुँच जाता। चौटाला आज यहाँ गांव बणी, करीवाला, दमदमा, जगजीत नगर, संतनगर, जीवन नगर व नकोड़ा गांव में ग्रामीणों को जनजागरण अभियान के तहत संबोधित कर रहे थे। अपने तीन दिवसीय दौरे के अंतिम दिन चौटाला ने कहा कि एस.वाई.एल का पानी हरियाणा में लाकर चौ. देवीलाल के सपनों को पूरा किया जायेगा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पूर्व की कांग्रेस सरकार व वर्तमान में भाजपा सरकार ने इस नहर के लिए कोई भी ठोस कदम नही उठाए जिस के चलते नहर को मिट्टी से भर दिया गया जो सरकार की असफलता को दर्शाता है। उन्होंने नहर का पानी हरियाणा में आने पर केन्द्र सरकार को पूरी तरह दोषी ठहराते हुए कहा कि उच्चतम न्यायलय का फैसला आए हुए 16 महीने हो गए लेकिन केन्द्र सरकार अपनी कमजोरी के चलते इस फैसले को लागू नही करवा पाई। इनेलो नेता ने कहा कि हरियाणा का किसान आर्थिेक रूप से सम्पन्न हो इसलिए सबसे पहले चौ. देवीलाल ने नहर खुदाई हेतु एक करोड़ रूपये दिए थे। विपक्षी नेता ने उपस्थित ग्रामीणों को आगामी 7 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित होने वाली जलयुद्ध रैली में शामिल होने का न्योता देते हुए कहा कि यह हरियाणा के किसानों के जीवन -मरण की लड़ाई है तथा किसान अपना हक लेकर रहेंगे। चौटाला ने केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार को चेताने हेतु रैली में लाखोंं की भीड़ जुटेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार पूर्व मे किए गए अपने सभी वायदों को भूल चुकी है तथा जनता का शोषण करने में लगी है। इनेलो नेता ने कहा प्रदेश का प्रत्येक वर्ग कर्मचारी, किसान, व्यापारी व छात्र इस सरकार की नीतियों से दुखी हो चुका है तथा बदलाव चाहता है। प्रदेश की जनता इनेलो को सत्ता सोंपने का मन बना चुकी है तथा भविष्य में जनता के समर्थन से प्रदेश में इनेलो की सरकार बनेगी तथा प्रदेश में एक बार फिर चहुँमुखी विकास होगा। उन्होंने कहा कि स्वामीनाथन आयोग की रिर्पाट तक लागू न होने के कारण किसानों को उनकी उपज का मूल्य नही मिल रहा है जिससे किसानों कारण मंडियों में लूटा जा रहा है। इस मौके पर इनेला जिलाध्यक्ष पदम जैन, विधायक रामचंद्र कम्बोज, पूर्वमंत्री भागीराम, जसवीर जस्सा, कश्मीर सिंह करीवाला, सुभाष नैन, वरियाम चंद, अजब ओला, विनोद दडंबी, महेन्द्र बाना, रामकुमार नैन, विकास खिचड़, जरनेल चंदी, धर्मवीर नैन, भगवान कोटली,  मदन शर्मा, सन्नी खिचड़, विनोद सहारण, रमण मैहता, मनोज साहरण, नरेश ढिल्लोंं, सतपाल छतरियां सहित अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

Tuesday, February 20, 2018

इनसो के संघर्ष के आगे सरकार ने घुटने टेके



हिसार : इनसो के पांच दिन के लंबे संघर्ष के बाद आखिर खट्टर सरकार बैक फुट पर आ गई और छात्र नेताओं के अनशन के आगे घुटने टेकते हुए छात्र संघ चुनाव करवाने की सभी आठों मांगे मान ली। इस आशय की जानकारी लेकर गुजवि के कुलपति प्रो. टंकेश् वर कुमार लेकर सांय सवा पांच बजे इनसो के अनशनकारियों के पास पहंचे। लिखित आश्वासन के बाद अनशन पर बैठे  दिग्विजय सिंह चौटाला सहित सात छात्र नेताओं ने अपना अनशन समाप्त कर दिया। प्रदेश के मुख्य सचिव की ओर से भेजे गए पत्र को से गुजवि के कुलपति डॉ टंकेश्वर कुमार छात्र संघ चुनाव की सभी शर्ते लिखित रूप में स्वीकारने की प्रति अनशनकारियों को सौंपी। हरियाणा सरकार ने इनसो की मांगों को मानते हुए कहा कि सितम्बर 2018 में छात्र संघ चुनाव लिंगदोह कमेटी और पंजाब व दिल्ली के पैटर्न के अनुसार करवाये जाएंगे। सरकार की और से प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को नोटिफिकेशन जारी कर अपने प्रोस्पेक्टस में छापने के आदेश दे दिए है।
ने इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला  को कुलपति प्रो. टंकेश् वर कुमार व वरिष्ठ कार्यकर्ता दलीप कुमार धनाना ने सहित अनशनकारी छात्र नेताओं जसविंदर खैरा, मंजू जाखड़, योगेश गौतम, असीम ढिल्लों व जयदेव नौलथा, अंकित देसवाल व सीना पहलवान को जूस पिलाकर उनका अनशन तुड़वाया। इस मौके पर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद दुष्यंत चौटाला, जिला प्रधान राजेंद्र लितानी, विधायक रणबीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, शीला भ्याण, युवा प्रदेशाध्यक्ष सुमित राणा, दिनेश डागर भी मौजूद थे। 


दिग्विजय चौटाला ने इस संघर्ष को प्रदेश के हर छात्र की जीत बताया है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इनसो अपने वायदे के मुताबिक एक वर्ष तक छात्र संघ का चुनाव नहीं लड़ेगी। अपना अनशन समाप्त करने के बाद दिग्विजय सिंह चौटालों गुजवि से बाहर निकले तो, गुजवि गेट पर वे वाहन से उतरे, धरा से चूमा और हाथ हिला कर बोला, बाय...बाय गुजवि, एक वर्ष बाद लौटूंगा। दरअसल दिग्विजय चौटाला ने दो दिन पूर्व घोषणा की थी छात्र संघ के चुनाव घोषित होने पर एक वर्ष तक किसी छात्रों की चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रदेश के 12 विश्वविद्यालयों में से एक भी विश्वविद्यालय में कदम नहीं रखेंगे। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि जननायक चौ. देवीलाल ने 1977 में छात्र संघ के चुनाव शुरू करवाए थे और 1996 में बंद होने के बाद फिर से इन चुनावों को देवीलाल के सिपाहियों ने संघर्ष कर बहाल करवाया है। उन्होंने इस संघर्ष में साथ देने वाले हर छात्र का आभार व्यक्त किया। अनशन समाप्त करने के बाद दिग्विजय चौटाला को सांसद दुष्यंत चौटाला ने केक  खिलाकर दिग्विजय चौटाला को जन्म दिन की बधाई दी। दिग्यिज चौटाला पिछले 16 फरवरी सुबह दस बजे से अनशन पर थे और उन्होंने इस दौरान अन्न ग्रहण नहीं किया था। इसके बाद  दुष्यंत चौटाला, दिग्विजय चौटाला सहित अन्य पदाधिकारी टॉउन पार्क पहुंचे और जननायक ताऊ देवीलाल की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर इस संषर्घ की जीत को ताऊ देवीलाल को समर्पित किया। 


अनशन पर बैठे दिग्विजय को जन्मदिन की शुभकामनाएं देने पहुंची मां नैना चौटाला


हिसार, 20 फरवरी : ...दिग्गू बेटा ठीक है तंू, कैसी है तेरी तबियत। कमजोर तो हो गया है पर मत घबराना मत बेटा, गुजवि के इस मैदान में। तेरा संघर्ष जरूर एक दिन रंग लाएगा। बेटा जन्म दिन पर मैं खाने के लिए कुछ नहीं लाई क्यों कि तूं यहां परभूख हड़ताल पर बैठा, ऐसा कह नैना ने अपने पर्स में हाथ डाला और पैसे निकाल के दिग्विजय चौटाला के हाथ पर रख दिए और बोली, तेरे संघर्ष के इन साथियों को जन्म दिन की मिठाई खिला देना। इन शब्दों के बाद नैना चौटाला कुछ आगे नहीं बोल पाई और दिग्विजय को गले लगा लिया। यह दृश्य था आज गुजवि में आमरण अनशन स्थल पर प्रात: सवा नौ बजे था जब डबवाली की विधायक अपने लाडले को उसके जन्म दिन की शुभ कामनाएं देने पहुंची थी। 
विधायक नैना चौटाला अनशन पर बैठी सभी छात्र नेताओं से मिली और उनका कुशलक्षेम पूछा और संषर्घ वियजी का आशीर्वाद दिया। उन्होंने छात्रों की मांगों का समर्थन करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार को तुंरत प्रदेश के छात्रों की मांग मानते हुए अपना छात्र संघ का चुनाव करवाने का अपना वायदा पूरा करना चाहिए। 
आज दिग्विजय सिंह चौटाला सहित पांच अन्य छात्र नेताओं का अनशन पर पांचवा दिन में प्रवेश कर गया। आज अनशन का इनसो की मांगों को विभिन्न छात्र और शिक्षक संगठनों ने अपना समर्थन दिया। 
सिरसा के चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के गैर शैक्षणिक कर्मचारी संगठन ने प्रदेशभर में छात्र संघ के चुनावों की मांग का समर्थन किया। संगठन की ओर से प्रधान बजरंगलाल, उपप्रधान देवीलाल, महासचिव कुलदीप, सचिव सुरेंद्र दलाल, कोषाध्यक्ष रविंद्र, पूर्व प्रधान महेंद्र बेनीवाल आदि ने कहा कि इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला छात्रहितों के लिए संघर्ष कर रहे हैं और उनका संगठन पूरी तरह से उनका समर्थन करता है। संगठन पदाधिकारियों ने कहा कि भविष्य में छात्रहित के लिए इनसो जो भी कदम उठाएगी, वे पूरी तरह उनका समर्थनकरेंगे। इनके अलावा जयहिंद मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश शर्मा, हरियाणा मेडिकल रिप्रंजेटेटिव एसोसिएशन, गुजवि गैर शिक्षक कर्मचारी कल्याण संघ के पूर्व प्रधान राजबीर सिंह मलिक ने अपना समर्थन किया। उधर आज जाट लॉ कालेज के विद्यार्थियों ने मांगो के समर्थन में कालेज पर ताला जड़ दिया। दिग्विजय ने अपने जन्म दिवस पर गुजवि परिसर में पौधा रोपण कर अपना जन्म दिन मनाया। उन्होंने कहा कि इनसो की परम्परा रही है कि वह अपने सामाजिक उत्तरदायित्व को बखूबी समझती है और हर कदम पर अपने कर्तव्य को निभाने में अग्रणी रहती है। वे अपने जन्म दिवस पर आशीर्वाद लेने गुजवि कुलपति के पास भी गए और उन्हें फलों की टोकरी भेंट कर आशीर्वाद लिया। 

जनविरोधी फैसलों के कारण बीजेपी ने खोया जनाधार - अभय सिंह चौटाला 



सिरसा : हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने बीती 15 फरवरी को जींद में अपना दमखम आजमाने की कोशिश की थी मगर गलत नीतियों और जनविरोधी फैसलों के चलते प्रदेशवासियों ने भाजपा को उसकी असलियत आईने में दिखा दी। इस रैली से स्पष्ट हो गया कि भाजपा ने प्रदेश में अपना जनाधार खो दिया है और आने वाला वक्त इनेलो का है।

वे मंगलवार को गांव बनसुधार, धोतड़, सुल्तानपुरिया, नानुआना, महम्म्दपुरिया, बालासर, कुस्सर, घोडांवाली, गिंदड़ा सहित करीब 15 गांवों में जनसंपर्क अभियान के दौरान ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि यूं तो पंजाब हरियाणा के बंटवारे के साथ ही एसवाईएल के पानी का भी बंटवारा साथ ही होना चाहिए था मगर उस समय कांग्रेस ने इस गंभीर मुद्दे पर राजनीति की और उसका ही परिणाम है कि आज लंबे समय तक भी हरियाणा को उसके हक का पानी नहीं मिल पाया है जिसके कारण प्रदेश के किसानों को उसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने इस मामले में हरियाणा के हक में फैसला देते हुए केंद्र सरकार को पंजाब में नहर बनाने के आदेश दिए थे मगर अब तक केंद्र सरकार इस दिशा में पूरी तरह उदासीन बनी हुई है। उन्होंने कहा कि एसवाईएल हरियाणा के किसानों के लिए जीवनरेखा है और अपने हक को लेने के लिए इनेलो अब से पूर्व तीन मर्तबा सांकेतिक आंदोलन कर चुकी है, मगर इस बार 7 मार्च को नई दिल्ली के रामलीला मैदान में किसान रैली आयोजित कर आरपार की लड़ाई लडऩे का निर्णय लिया है। इस किसान रैली में न केवल एसवाईएल का पानी हरियाणा में लाने बल्कि किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने के लिए भी केंद्र सरकार पर दबाव डाला जाएगा। उन्होंने बताया कि इसी किसान आंदोलन में सरकार को घेरने के लिए नई रणनीति का भी ऐलान किया जाएगा। उन्होंने लोगों से अधिकाधिक संख्या में इस किसान रैली में भाग लेने का आह्वान किया। अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस पर भी व्यंग्य कसे। 


उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस गुटबंदी में बंट चुकी है और पार्टी के सभी धड़े जिसमें भूपेंद्र हुड्डा, डॉ. अशोक तंवर, किरण चौधरी, कैप्टन अजय यादव, रणदीप सुरजेवाला स्वयं को असली कांगे्रस बताकर प्रदेशवासियों को गुमराह करने पर तुले हैं, ऐसे में कांग्रेस की पतली हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आने वाला समय इनेलो का है और प्रदेश में इनेलो के सत्तासीन होते ही गांव, देहात, कस्बों और शहरों में विकास के कार्यों को तेजी से चलाकर हरियाणा को सही मायने में देश का नंबर वन प्रदेश बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी परिवारों से शिक्षित युवाओं को रोजगार, किसानों के कर्ज माफ, घरेलू बिजली के बिलों को आधा माफ करने व गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए तक की आर्थिक सहायता सहित अनेक कल्याणकारी योजनाएं आरंभ की जाएंगी। इस अवसर पर उनके साथ इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन, पूर्व मंत्री भागीराम, रानियां के विधायक रामचंद्र कंबोज, वरिष्ठ नेता वरियाम चंद, जसवीर सिंह जस्सा, सुभाष नैन, युवा इनेलो जिलाध्यक्ष अजब ओला, विनोद दड़बी, रामकुमार नैन, महेंद्र बाना, विकास खीचड़, जगमेल सिंह, धर्मवीर नैन, भगवान कोटली, जरनैल चंदी, मदन शर्मा, सन्नी खीचड़, सरपंच विनोद सहारण, रमन, मनोज सहारण, कुलदीप गोदारा, कैलाश ज्याणी, सतपाल छतरियां, नरेश ढिल्लों, अमृत मान, राजेंद्र महला, विजेंद्र न्यौल, संजय न्यौल सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे। 
छात्र संघ चुनाव को लेकर गुमराह करना बन्द करे सरकार - दुष्यंत चौटाला 


हिसार : इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार को चेताते हुए कहा कि सरकार अपने मंत्रियों और अन्य नेताओं के द्वारा छात्रों को गुमराह करने बन्द करे। वे सोमवार को  इनसो के धरने को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने मुख्यमंत्री के ओ एस डी द्वारा प्रेस को लिखे गए पत्र को झुठ का पुलिंदा बताते हुए कहा कि इस प्रकार के आश्वासन तो सरकार पिछले लंबे समय से दे रही है।  यंहा तक कि भाजपा के घोषणा पत्र में छात्रसंघ चुनाव करवाये जाने कीबात थी। तो अब भी कोरे आश्वासन दिए जा रहे है। सांसद ने कहा कि अगर सरकार की मंशा ठीक है तो फिर सरकारी आधिकारिक पत्र जारी करने से पीछे क्यों हट रहीहै। उन्होंने कहा कि अबछात्र उनके किसी बहकावे में आने वाले नही है।
 दर्जनों संगठनों ने दिया इनसो के धरने को समर्थन


सोमवार को गजुटा के साथ साथ दर्जनों संस्थाओं ने इनसो के द्वारा छात्र चुनावो की बहाली को लेकर चलाये जा रहे आंदोलन को समर्थन किया। कुछ संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने सांसद दुष्यंत चौटाला और इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला को समर्थन पत्र भेजकर तो कुछ ने व्यक्तिगत रूप से धरने पर आकर अपना समर्थन दिया और सरकार से छात्र संघ चुनावों को करवाये जाने बाबत अपनी स्थिति स्पष्ट करने की मांग की। समर्थन देने वालो में जीजेयू टीचर्स एसोसिएशन के पूर्व प्रधान डॉ कपिल कुमार, सी डी एल यू टीचिंग व नॉन टीचिंग  एसोसिएशन के सचिव डॉ राकेश कुमार, एम डी यू  टीचिंग  एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ विकास सिवाच, नॉन टीचिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष फूल कुमार बहोत ने इनसो अध्यक्ष  दिग्विजय सिंह चौटाला को लिखित समर्थन पत्र सौंपा और हर तरह का सहयोग देने का आश्वासन दिया है। वंही भगत फूल सिंह महिला महाविद्यालय टीचर वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ पवन कुमार ने सांसद दुष्यंत चौटाला को पत्र लिखकर छात्र हित के इस मुद्दे को लोकसभा में उठाने की मांग की है। इस आंदोलन को समर्थन देने वाली अन्य वालों में महर्षि दयानंद विश्विद्यालय की कार्यकारी परिषद के निर्वाचित सदस्य डॉ राजेश पुनिया सहित अन्य बहुत सी सामजिक संस्थाए शामिल थी।  दिग्विजय सिंह चौटाला ने इन संस्थाओं का आभार जताते हुए कहा कि सरकार को निश्चित रूप से छात्रों की मांग को माननी पड़ेगी। उन्होंने आशा जताई कि कल और भी कई संस्थाए उनके आंदोलन को समर्थन देगी।


छात्र संघ चुनाव छात्रों का हक - दिग्विजय चौटाला
हिसार : इंडियन नेशनल स्टूडेंट्स ऑग्रेनाइजेशन (इनसो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने सवाल उठाया है कि जब भाजपा सरकार व उनके मंत्री मीडिया के माध्यम से चुनाव कराने के बयान जारी कर रहे हैं तो फिर उन्हें सरकारी पत्र जारी करने में क्या दिक्कत है। लेकिन सरकार की मंशा केवल इस मुद्दे पर छात्रों का ध्यान भटकाए रखने की है। लेकिन इनसो छात्रों के हक की इस लड़ाई को अब अंतिम दौर तक लड़ेगी और उनका हक दिलाकर ही दम लेगी। दिग्विजय सोमवार को जीजेयू में जारी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल के दौरान छात्रों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर इनसो द्वारा चलाये जा रहे आंदोलन के समर्थन में हस्ताक्षर अभियान भी चलाया जिस पर हजारों छात्रों ने समर्थन में अपने हस्ताक्षर किये और इनसो की मांग को जायज बताया। छात्र नेता दिग्विजय ने कहा कि छात्र संघ चुनाव का मुद्दा किसी राजनीति से जुड़ा होने की बजाए छात्रहित से जुड़ा है। यही कारण है कि विभिन्न संगठन उनकी इस जायज मांग का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने  टीचिंग व नॉन टीचिंग एसोसिएशन सहित शिक्षा से जुडी अन्य संस्थाओं  से भी आह्वान किया कि वे इस आंदोलन में इनसो का साथ दें ताकि छात्र संघ चुनावों को बहाल कराया जा सके। उन्होंने कहा की देश के बड़े- बड़े राजनेता छात्र राजनीति से निकले है अगर प्रदेश में छात्र चुनाव होते है तो छात्रों को अपने हको की आवाज उठाने का एक मंच तो मिलेगा ही साथ ही साथ देश व प्रदेश को भविष्य के नेता भी मिलेंगे। इनसो नेता चौटाला ने कहा कि छात्र राजनीति से निकले छात्र नेता देश व प्रदेश की राजनीति को न केवल एक नई दिशा देंगे बल्कि राजनीति में धन कुबेरों, पूंजीपतियों व बड़े लोगो का वर्चस्व भी घटेगा जो कि एक स्वस्थ लोकतंत्र के लिए  आने वाले समय मे बड़ा लाभदायक सिद्ध होगा। धरने के चौथे दिन छात्रों व अन्य संस्थाओं के द्वारा  दिये जा रहे लगातार समर्थन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि इससे उनके द्वारा छात्र हितों के लिये लड़ी जा रही लड़ाई को और ताकत मिली है। वे अपनी लड़ाई को तब तक जारी रखेंगे जब तक सरकार उनके द्वारा रखी गई मांगों को पूर्णतया पूरी नही करती।

Monday, February 19, 2018


विधानसभा सत्र में इनेलो खोलेगी सरकार की पोल - अभय सिंह चौटाला 


सिरसा : आगामी 5 मार्च को शुरू होने वाले हरियाणा विधानसभा के सत्र में इनेलो प्रदेश सरकार को घेरने का काम करेगी और प्रदेश सरकार में मंत्रीपदों पर बैठे लोगों की पोल खोलेगी। ये  बात नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने अपनी रानिया हल्के के ग्रामीण दौरे के दौरान गांव शेखुपुरिया में सुखबीर सिंवर के निवास स्थान पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। अभय चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार को ये पता था कि इनेलो ने 7 मार्च को दिल्ली में किसान रैली रखी हुई है और सारी इनेलो पार्टी और उसके विधायक इस रैली में व्यस्त रहेगें,इसलिए सरकार ने विधानसभा का सत्र 5 से 7 मार्च तक बुलाया था लेकिन इनेलो ने आज ही अपने सभी विधायकों को नोटिस भेजकर 5 मार्च को चंडीगढ़ स्थित पार्टी कार्यालय में पहुंचने के निर्देश जारी किए है। उन्होने कहा कि 5 मार्च से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में इनेलो सरकार की पोल खोलने का काम करेगी क्योकि भाजपा ने चुनावों से पूर्व जो भी वायदे जनता से किए थे उन पर वह खरी नही उतरी है और यही कारण है कि अगर आज प्रदेश में चुनाव हो जाए तो भाजपा का 90 विधानसभा सीटों में से किसी एक सीट पर भी प्रत्याशी जीत हासिल नही कर पाएगा। अभय चौटाला ने सरकार के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कहा कि भय और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार का दावा करने वाली भाजपा के राज में आज किसी भी मंत्रालय की जांच की जाए तो चौकाने वाले तथ्य सामने आएगें क्योकि सभी महकमों में खुलकर भ्रष्टाचार का खेल खेला जा रहा है। उन्होने आरोप लगाते हुए कहा कि खादय एवं आपूर्ति विभाग में किसान की चाहे धान और या गेहूं सब पर मोटा घोटाला हुअ ा है। इसी प्रकार पंचायती राज विभाग में 7 रूपये में मिलने वाली इंटरलॉकिंग की टाईल को 14 रूपये में खरीदा जा रहा है। इसी प्रकार सौदर्यकरण के नाम पर निकाय विभाग सूखे पेड़ो को भारी कीमतों में खरीदकर शहरों में लगा रहा है।अभय चौटाला ने कहा कि पूरे देश में जो गीता की किताब 200 रूपये में बिकती है उसे सरकार ने 40 हजार रूपये में खरीदकर जो बड़ा घोटाला गीता के नाम पर किया है,उसे तो खुद मुख्यमंत्री भी कबूल कर चुके है। उन्होने कहा कि सरकार द्वारा किए जा रहे घोटालों को इनेलो आगामी सत्र में खूब जोर-शोर से उठाने का काम करेगी।अभय चौटाला ने प्रदेश के लोगों को भाजपा के हरियाणा का माहौल खराब करने के मंसूबों को कामयाब ना होने देने को लेकर बधाई देते हुए कहा कि पिछले दिनों जींद में भाजपा सरकार द्वारा आयोजित की गई रैली के नाकामयाब हो जाने के बाद तो अब बस हरियाणा में चर्चा केवल एक ही बात की हो रही है कि भाजपा का तो सूपड़ा आने वाले चुनावों में साफ होना तय है और अगली सरकार हरियाणा में इनेलो की बनेगी।उन्होने कहा कि भाजपा की हुंकार रैली ने भाजपा की हवा निकाल दी है,जिसका मुख्य कारण यही है कि भाजपा ने चुनाव से पहले किए किसी भी वायदे को पूरा नही किया है। उन्होने कहा कि हरियाणा प्रदेश का हर वर्ग आज सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरा हुआ है,चाहे आंगनवाड़ी वर्कर हो या फिर आशा वर्क र हर कोई सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर अपना रोष जता रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार ने हरियाणा को तीन बार आग के हवाले करने का काम किया है और अब जब डेरा मामले में दर्ज हुए देशद्रोह के मामलो पर कोर्ट ने अपना निर्णय दे दिया है तो उसके बाद तो सरकार की नाकामी खुलकर सामने आ गई है। उन्होने कहा कि चाहे जाट आरक्षण के दौरान हरियाणा के निर्दोष लोगों की मौत की बात हो या फिर राम रहीम मामले के दौरान,सरकार की नाकामी साफ दिखाई देती है। अभय चौटाला ने कहा कि  इन दोनो मामलों में जिन भी लोगों ने गलतियां की है,उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होनी चाहिए।आगामी 7 मार्च को दिल्ली में इनेलो द्वारा आयोजित की जाने वाली किसान रैली में रिकॉर्ड तोड़ भीड़ पहुंचने का दावा करते हुए अभय चौटाला ने कहा कि इनेलो की रैली में हरियाणा का किसान पहुंचकर ये बता देगा कि वह इनेलो के साथ है और आगामी समय में इनेलो का राज हरियाणा में बनने वाला है।ेएक सवाल के जवाब में नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि अपने आपको ईमानदार बताने वाले आईएएस अशोक खेमका को मानेसर मामले में टवीट करने की बजाय खुलकर ये बताना चाहिए कि आखिर कौन लोग इस स्केम में शामिल है ताकि जांच एंजेसियां दोषी को सजा दे सके। इस मौके पर उनके साथ इनेलो विधायक रामचन्द्र कंबोज,इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन,पूर्व मंत्री भागीराम,जसबीर सिंह जस्सा,प्रेस प्रवक्ता तरसेम मिढ़ा,महावीर शर्मा,जगदीश सिंवर,प्रेम कुकरेजा आदि मौजूद थे।