Monday, August 13, 2018

हरियाणा वासियो के साथ दुष्यंत ने सूरत में मनाया तीज उत्सव


हिसार: हरियाणवी तीज के अवसर पर सूरत की हिसार नागरिक परिषद, युवा अग्रवाल सभा, हरियाणा गौड़  ब्राह्मण सभा, वापी जिला जाट सभा व भादरा विकास समिति ने सूरत में हरियाली तीज उत्सव बड़ेे हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस कार्यक्रम में इनेलो संसदीय दल के नेता व हिंदुस्तान के इतिहास के सबसे कम उम्र के सांसद दुष्यंत चौटाला मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित हुए। कार्यक्रम में पहुंचने पर हिसार के सांसद का सभी लोगो ने बड़ी गर्म जोशी से स्वागत किया। इस मौके पर कार्यक्रम में लगी बड़ी स्क्रीन पर दुष्यंत चौटाला के द्वारा एक सांसद के तौर पर किये गए कार्यो को दिखाया गया तो कई देर तक पूरा हाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा। वहां उपस्थित लोग सांसद के कार्यो के बारे में चर्चा करते हुए दिखे।
कार्यक्रम में उपस्थित विभिन संगठनों के प्रतिनिधियों ने बताया कि वे अक्सर मीडिया के माध्यम से अपने क्षेत्र के युवा सांसद के कार्यो व समय समय पर संसद में उठाये गए जनहितैषी  मुद्दों के बारे में देखते और पढ़ते रहते है। आज इस युवा व ऊर्जावान सांसद को अपने मध्य पाकर वे अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहे है। इस अवसर पर सांसद दुष्यंत चौटाला ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हरियाणा के लोग काफी मेहनती व प्रतिभाशाली होते है, इसका जीता जागता उदाहरण इस कार्यक्रम में बैठे हरियाणा प्रदेश के लोग है जिन्होंने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा दिया है। प्रदेश के लोग जंहा भी बसे हुए है, वहींवे अपनी हरियाणवी संस्कृति की छटा बिखेर देते है। सांसद ने कहा कि वे आज तीज के मौके पर ऐसा महसूस कर रहे है कि वे अपने प्रदेश में ही तीज को मना रहे है और आप लोगो को देखकर लगता है कि सूरत में भी एक मिनी हरियाणा बसता है। उन्होंने सूरत में बसने वाले हरियाणवी  लोगो से अग्रोहा धाम के विकास के साथ साथ हिसार शहर के विकास में भी अपना सहयोग देने का आह्वान किया, जिस पर वहां उपस्थित प्रबुद्धजनों ने सांसद को इस बारे में भरोसा जताया।
इस अवसर पर जैना ज्वेलर्स के एम डी प्रमोद जैन , हिसार नागरिक परिषद के प्रधान अशोक जैन, सचिव अनिल जैन के साथ साथ जय भारत साडिज़ के स्वामी रविन्द्र आर्य, रमेश जैन बिठमड़ा, विनीत जैन,वीरभान बंसल, वेद प्रकाश जैन, चरनजीत राय सहित काफी संख्या में व्यापारी उपस्थित थे।
थानेसर नगर परिषद के भ्रष्टाचार की सीबीआई से कराई जाए जांच- अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र,13 अगस्तथानेसर नगर परिषद के नाम लगभग 100 करोड़  से अधिक की जमीन को खुर्द-बुर्द करने और गलत ढंग से प्राईवेट लोगों के नाम इस जमीन के नक्शे पास करने का मामला विधानसभा में उठेगा। यह जानकारी सोमवार को इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने पार्टी जिला कार्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों को दी। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र में यह इकलौता मामला नहीं है। हकीकत यह है कि पिछले लगभग 12 वर्षो के कार्यकाल में थानेसर नगर परिषद ने सडक़ों और पार्को की भूमि तक में गैर कानूनी ढंग से नक्शे पास  किए हैं। सैंकड़ो की संख्या में बिना नक्शे पास किए, मकान बनाए गए। इसी के साथ-साथ थानेसर नगर परिषद ने  सडक़ों और पार्को के निर्माण में भी बड़े पैमाने पर गोलमाल किया हैं। अरोड़ा ने थानेसर नगर परिषद की कारगुजारियों का कच्चा चि_ा खोलते हुए इन मामलों की सीबीआई जांच कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के इन मुद्दों को इनेलो विधानसभा सत्र के दौरान जोरदार ढंग से विधानसभा में उठाएगी। अगर इन मामलों में संबंधित लोगों और अधिकारियों के विरुद्ध ठोस कार्रवाई नहीं हुई तो जल्द ही इनेलो का एक शिष्टमंडल हरियाणा के  महामहीम राज्यपाल से मिलेगा। 
उन्होंने बताया कि थानेसर नगर परिषद काम्प्लेक्स के निकट स्थित बहुमूल्य जमीन परिषद की संपत्ति है। नगर परिषद की इस भूमि पर मिलीभगत से कुछ लोगों के नक्शे पास कर दिए गए, जब इस मामले को नगर के गणमान्य लोगों ने कच्चा घेर बचाओ संघर्ष समिति बनाकर उठाया तो डीसी के आदेश पर इस मामले की जांच एडीसी को सौंपी गई थी। पिछले दिनों  एडीसी ने अपनी जांच रिपोर्ट में स्पष्ट रुप से लिखा है कि रिकार्ड के अनुसार यह भूमि थानेसर नगर परिषद की मलकियत है। अधिकारियों ने इस भूूमि को बचाने की बजाए, अनुचित ढंग से नक्शे पास कर दिए हैं। एडीसी ने डीसी को सौंपी इस रिपोर्ट में यह भी सिफारिश की है कि इस मामले में लिप्त अधिकारियों और कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए। 
प्रेसवार्ता के दौरान अरोड़ा के साथ मौजूद संघर्ष समिति के संयोजक एवं थानेसर नगर परिषद से तीन बार पार्षद रह चुके नरेंद्र शर्मा निंदी, पार्षद नितिन भारद्वाज लाली व इनेलो शहरी प्रधान एवं पूर्व पार्षद विवेक मेहता विक्की ने भी आरोप लगाया कि परिषद की भूमि को राजनैतिक संरक्षण के चलते खुर्दबुर्द किया जा रहा है। इस दौरान इन्होंने एडीसी की जांच रिपोर्ट और 2013 में इस मामले को लेकर एक अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट भी  प्रस्तुत की।  बताया गया कि इस भूमि को खुर्द बूर्द करने की जांच 5 वर्ष पहले भी हुई थी और इस भूमि पर किए गए निर्माण को गिराया गया था। समिति के संयोजन नरेन्द्र शर्मा निंदी ने बताया की परिषद हाईकोर्ट तक मालिकाना हक का मुकदमा जीत चूकी है लेकिन नगरपरिषद के  कार्यकारी अधिकारी न तो हाईकोर्ट के आदेश को मान रहे और न ही इस मामले में एडीसी की जांच रिपोर्ट को मान रहे हेै। कार्यकारी अधिकारी मनमानी करते हुए सरकारी भूमि पर गलत ढंग से नक्शे पास करे हैं।
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि नगर परिषद की बहुमूल्य भूमि खुर्दबुर्द करने के साथ शहर के विकास कार्यो  के नाम पर बड़े स्तर पर गोलमाल हो रहा है। बनी-बनाई सडक़ों और गलियों को उखाड़ दुबारा-तिबारा बनाया जा रहा है। शहर की अधिकतर गलियां और सडक़ों उखड़ी पड़ी है, जिसके कारण लोगों का कारोबार ठप होने के साथ-साथ, कई तरह समस्याएं पैदा हो रही हैं। उन्होंने कहा कि जब ऐसे मामलों को मीडिया उजागर करता है तो उन्हें झूठे केसों में फंसाने के षड्यंत्र रचे जाते हैं। इस मामले को लेकर गत दिनों प्रेस क्लब ने हरियाणा के राज्यपाल को ज्ञापन देकर प्रेस की आजादी बहाल करने की गुहार लगाई थी। आरोप लगाया था कि स्थानीय भाजपा विधायक लोकतंत्र का गला दबाने में लगे हैं। अरोड़ा ने कहा कि इनेलो किसी भी कीमत पर प्रेस की स्वतंत्रता पर आंच नहीं आने देगी। अरोड़ा स्थानीय भाजपा विधायक सुभाष सुधा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि विधायक अपने राजनैतिक विरोधियों पर एसटीएससी एक्ट का दुरुपयोग कर रहे है। जोकि लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है। 
अरोड़ा ने एसवाईएल के मामले को लेकर 18 अगस्त के हरियाणा बंद के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि आज ही थानेसर हलके के इनेलो-बसपा के कार्यकर्ताओं की बैठक में बंद को सफल बनाने की रणनीति बनाई गई है। दोनों दलों के कार्यकर्ताओं की ड्यूटियां लगाई गई हैं, जो व्यापारियों से मिलकर हरियाणा बंद को सफल बनाने की अपील करेंगे। अरोड़ा ने व्यापारियों से अपील की कि वे दोपहर 2 बजे तक अपनी-अपनी दुकानें बंद करके एसवाईएल का पानी हरियाणा में लाने के लिए सरकार पर दबाव बनाए। गठबंधन की इस बैठक को पूर्वपार्षद नरेन्द्र शर्मा, पार्षद नितिन भारद्वाज लाली व पूर्व पार्षद विवेक मेहता विक्की, बलजिन्द्र सिंह बब्बू, सुभाष पलवल, सुनील राणा, तरसेम हरियापुर, सूल्तान ब्राह्मण माजरा, रामस्वरूप चोपड़ा, हरि सिंह पांचाल, रणबीर किरमच, राजेश पायलेट, मनोज कौशिक, सुनील ककड, चंद्रभान वाल्मिकी सहित दोनों दलों के अनेक नेताओं ने संबोधित करते हुए बंद को सफल बनाने का आश्वासन दिया।
विभिन्न सामाजिक व व्यापारिक संगठनों के बुलावे पर सांसद चौटाला सूरत के दो दिवसीय दौरे पर


हिसार: इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला विभिन्न सामाजिक व व्यापारिक संगठनों के बुलावे पर रविवार को औद्योगिक नगरी सूरत पहुंचे। सूरत पहुंचने पर युवा सांसद चौटाला का अनेक सामाजिक व व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने अभूतपूर्व स्वागत किया। विदित रहे कि पिछले दिनों हरियाणा प्रदेश के व्यापारी दिल्ली आए तो उन्होंने सांसद चौटाला को सूरत आने का निमंत्रण दिया था। अग्रवाल विकास ट्रस्ट सूरत ने युवा सांसद का जबरदस्त स्वागत किया। हिसार से लंबी दूरी की कई ट्रेनें चलवाने में सार्थक भूमिका निभाने के लिए सांसद की भूरी भूरी प्रशंसा की। ट्रस्ट के प्रतिनिधियों ने सांसद से दिल्ली से हिसार के लिए एक नई ट्रेन चलाने की मांग की। उनका कहना था कि वे सूरत से दिल्ली तो बड़ी आसानी से चले जाते है परन्तु दिल्ली से हिसार जाने में उन्हें बड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने ट्रस्ट के सदस्यों को आश्वासन दिया कि वे जल्द ही इसके लिये रेलवे मंत्री से मिलकर उनकी बात रखेंगे और ट्रेन चलवाने के लिये पूरा प्रयास किया जाएगा। सांसद चौटाला ने सूरत में हरियाणा प्रदेश से सम्बन्ध रखने वाले उद्यमियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे बेशक अपना कारोबार सूरत में कर रहे हो पर आपका दिल सूरत में रहते हुए हरियाणा के लिये ध?कता है। सूरत में रहने वाले व्यापारी हरियाणवी संस्कृति को जिंदा रखे हुए है, इसके लिए वे बधाई के पात्र है। सांसद ने व्यापारियों के साथ उनके अनुभव सांझे किये। इस अवसर पर सांसद चौटाला के साथ हिसार के प्रतिष्ठित व्यापारी प्रमोद जैन के अलावा हरि भाई कानोडिया, गिरीश मित्तल, जय भगवान गुप्ता, सुभाष अग्रवाल, अशोक जैन, अनिल अग्रवाल, कैलाश जैन, अर्जुन देव, श्याम गुप्ता, मोहन गुप्ता, अनिल गुप्ता सहित भारी संख्या में सूरत के व्यापारी व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
इनेलो-बसपा गठबंधन 18 अगस्त को करेगा हरियाणा बंद


इनेलो गुड़गांव: हरियाणा में एसवाईएल का पानी लाने की मांग को लेकर इनेलो-बसपा गठबंधन 18 अगस्त को करेगा हरियाणा बंद। उक्त शब्द इंडियन नैशनल लोकदल के वरिष्ठ नेता एंव हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने आज गुड़गांव के सुखराली कम्यूनिटी सैन्टर में इनेलो बसपा के जिला कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सता में आने से पहले प्रदेश की जनता से अनेक वायदे किए लेकिन साढे तीन साल बीत जाने के बावजूद भी सरकार ने एक भी वायदा पूरा नहीं किया। आज हर वर्ग सरकार की गलत नीतियों से परेशान है जिसका खामियाजा आने वाले समय में जनता इन्हें मय सूद चूकाने का काम करेगी। श्री चौटाला ने कहा कि सरकार ने नोटबंदी व जीएसटी जैसे कानून लागू कर व्यापारियों व आमजन की कमर तोड़ दी है। उन्होंने कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट एसवाईएल निर्माण को लेकर अपना निर्णय दे चुका है, लेकिन केन्द्र सरकार ने इसे लागू नहीं कर रही हैं। श्री चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार की केन्द्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों, एसवाईएल नहर निर्माण, मेवात कैनाल के निर्माण, जीएसटी, प्रोपर्टी टैक्स, बिगडती कानून व्यवस्था, नोटबंदी से उजडे और बेघर हुए कामगारो को रोजगार देने आदि मुद्दों को लेकर इनलो-बसपा 18 अगस्त को हरियाणा बंद करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आगामी चुनावों में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने जा रही है और सरकार बनने पर किसान, मजदूरों और छोटे व्यापारियों के सारे कर्जे माफ किए जाएंगे। गरीब कन्या की शादी पर 5 लाख रुपए कन्यादान दिया जाएगा, हर घर से एक व्यक्ति को रोजगार दिया जाएगा और जो युवा रोजगार से वंचित रह जाएगा, उसे 15 हजार रुपए महिना बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। बिजली का रेट 5 रुपए प्रति यूनिट किया जाएगा और जो लोग ईमानदारी से बिल भरते हैं, उनके मीटर सरकार ने बाहर लगा रखे हैं, इन मीटरों को उखाड़ दिया जाएगा। बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि इनेलो ने एसवाईएल का पानी हरियाणा में लाने और दादूपुर-नलवी नहर परियोजना को दौबारा से लागू करने तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करवाने  के लिए लंबी लड़ाई लड़ी है और अब इन्हीं मुद्दों को लेकर 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आहवान किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार से हर वर्ग दुःखी है। किसानों की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर भी नही खरीदी जा रही। अरोड़ा ने कहा कि चार वर्ष के भाजपा के राज में हालात बद से बदतर हो गए हैं। ठेका प्रथा लागू करके कर्मचारियों को शोषण किया जा रहा है। हरियाणा में 6 वर्ष की बच्चियों  से लेकर 60 वर्ष तक की महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे हैं। इस अवसर पर बसपा के प्रदेश प्रभारी डॉ0 महेश ने अपने संबोधन में कहा कि भाजपा ने जात-पात व धर्म के नाम पर आपसी भाईचारा खराब किया है। 35 बिरादरी का नारा देकर लोगों को लड़वाया। उन्होंने कहा कि गठबंधन को पूरे प्रदेश में जनसमर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक आते देख भाजपा सरकार को अब ओ बी सी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने व एस टी एस सी कानून को सख्त करने की बात याद आई है। उन्होंने कहा कि चौधर देवीलाल और ओमप्रकाश चौटाला ने दलित व पिछडे वर्ग को सत्ता में भागीदारी दी। चौधरी ओमप्रकाश चौटाला और बहन मायावती ने कमेरे वर्ग का गठबंधन करके बड़ा ही अच्छा काम किया है। आज के कार्यक्रम में हरियाणा विधानसभा में पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचन्द गहलोत, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनन्तराम तंवर, पूर्व विधायक गंगाराम, जिलाध्यक्ष किशोर यादव, बसपा नेता नेतराम एडवोकेट, रमेश दहिया, हुकमचन्द भारद्वाज एडवोकेट, महेन्द्र जाजोरिया, शैलेश खटाणा पूर्व चेयरमैन, शमशेर कटारिया, राकेश जिला पार्षद, बेगराज गुर्जर, रिषीराज राणा, रोहताश खटाणा, धर्मपाल राठी, भूपेन्द्र सुखराली, रमेश सेठी, राजेन्द्र धनखड़, अतर सिंह रूहिल, सतबीर तंवर एडवोकेट, शकील अहमद, सन्तलाल जोतरीवाल, मांगेराम चौहान, कपिल त्यागी प्रवक्ता, सतीश राघव, कृष्ण यादव, राकेश गर्ग, सुरेन्द्र तंवर, अटलबीर कटारिया, सुरेन्द्र चौधरी, तेजू राव, राजू बोहरा, बल्ले चेयरमैन, राजेश यादव, संजय सरपंच, श्याम सुन्दर बजाज, रवि सिंगला, पपली सरपंच, संजीव बेदी सहित सैंकड़ों इनेलो बसपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।
चौटाला गांव हमारा अपना गांव, नहीं आने देंगे किसी को कोई समस्या- नैना चौटाला


डबवाली: विधायक नैना सिंह चौटाला ने गांव चौटाला में 1 करोड़ 6 लाख रूपए के विकास कार्यो का उद्घाटन व शिलान्यास किए। उन्होंने पूरा दिन गांव में बिताया व अनेक जगह महिलाओं के बीच बैठकर उनकी समस्याएं सुनी। विधायक नैना चौटाला से मिलने के लिए महिलाओं में भारी उत्साह देखा गया व गांव में कई वार्डो में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं नैना चौटाला से मिली। अनेकों ने अपनी समस्याएं विधायक को बताई जिस पर विधायक नैना चौटाला ने मौके पर ही अधिकारियों से बात करके समस्या हल करने के निर्देश दिए। महिलाओं के उत्साह व लगाव से गदगद विधायक नैना चौटाला ने कहा कि चौटाला गांव उनका अपना गांव है। यहां सभी को सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। इनैलो की सरकार नहीं है फिर भी हमारा प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा काम हो सकें। लेकिन भाजपा सरकार चौटाला गांव का नाम आते ही काम रोकने का प्रयास करती है। इससे पहले 10 साल कांग्रेस ने भी भेदभाव की सोच रखते हुए चौटाला गांव में विकास के काम नहीं करवाए और अब भाजपा भी यही कर रही है। उन्होंने कहा कि चौटाला वासी चिंता ना करे अब चंनावों में थोड़ा समय रह गया आने वाली सरकार इनैलो की बनेगी जिसके बाद बिना किसी भेदभाव के चौटाला गांव का विकास करवाते हुए पीछे 15 साल की कमी पूरी की जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसानों को पर्याप्त नहरी भी पानी नहीं दे रही जिससे किसानों को परेशानी हो रही है। इस मौके पर युवा नेता अर्जुन चौटाला भी मौजूद रहे व उन्होंने कहा कि कांग्रेस व भाजपा की विकास की सोच नहीं है केवल इनैलो के शासन में ही विकास हुआ था व अब आगे इनैलो की सरकार में ही लोगों के काम होंगे इसलिए सभी मिलकर पार्टी का प्रचार प्रसार करें।
विधायक नैना सिंह चौटाला ने सबसे पहले ढाणी सिखां में 15 लाख से बनी गलियों का उद्घाटन किया व वहां गुरूद्वारा साहिब में माथा टेका। इसके बाद हाल में बैठकर सभी की समस्याएं सुनी। इसके बाद जवाहर कालोनी में 3.50 लाख की गली का उद्घाटन किया व कालोनीवासियों से बातचीत की। खराब पेयजल की समस्या पर विधायक नैना सिंह चौटाला ने कहा कि राज्यसभा सांसद निधि से यहां की कालोनी के लिए आर.ओ. मंजूर किया गया है जल्द ही उसकी ग्रांट जारी करवा दी जाएगी। इसके बाद विधायक ने गांव चौटाला में बाइपास के पास 10 लाख की लागत से बनी गली का उद्घाटन, प्राइमरी स्कूल के अंदर 10 लाख की लागत से रास्तों के निर्माण का उद्घाटन, प्रेम सरपंच की 5 लाख से बनी गली का उद्घाटन, 12 लाख से बनी प्रेम पंच वाली गली का उद्घाटन, 15 लाख से बनी मोहन वाली गली का उद्घाटन, 10 लाख की लागत से बनी दयाराम वाली गली का उद्घाटन, 9 लाख की राशि से बनी एस.सी. चौपाल, 9 लाख की राशि से बनी विजय मैम्बर वाली गली, 5 लाख की लागत से बनी पचार वाली गली, 20 लाख की राशि से बनी गांव के वार्ड 1 की गली का उद्घाटन, 25 लाख से बनी रामबाग को जाने वाली फिरनी वाली गली का उद्घाटन व शिलान्यास विधायक नैना सिंह चौटाला ने किए। उनके साथ युवा नेता अर्जुन चौटाला भी मौजूद रहे। ग्रामीणों की मांग पर विधायक नैना सिंह चौटाला ने पिछड़े वर्ग के लिए धर्मशाला बनाने की बात भी कही। कार्यक्रमों के बीच में ही विधायक नैना चौटाला ने कई जगह महिलाओं के बीच बैठ कर उनकी समस्याएं सुनी।
इस मौके पर विधायक नैना चौटाला ने गांव के प्राइमरी स्कूल में पौधारोपण अभियान की शुरूआत भी की। इसके अलावा अंबेडकर चौपाल में भी पौधारोपण किया। विधायक नैना चौटाला ने कई वार्डो में जरूरतमंदों को पंखें भी वितरित किए। उन्होंने गांव की गौशाला का भी निरीक्षण किया। वहीं गांव के युवाओं के द्वारा खेल का सामान की मांग करने पर युवा नेता अर्जुन चौटाला ने उन्हें खेल का सारा सामान देने की बात कही।
इस मौके पर विधायक नैना सिंह चौटाला ने गांव की इंदू बाला पत्नी राजेन्द्र कुमार, सुखलाल पुत्र बीरवाल राम, मनीषा पुत्री राकेश, कालू राम पुत्र बीरवल राम, बुधराम को 10-10 हजार की आर्थिक सहायता के चैक वितरित किए। इस मौके पर युवा नेता अर्जुन चौटाला व पूर्व विधायक डा. सीता राम उनके साथ रहे। इस मौके पर पूर्व विधायक डा. सीता राम, महिला विंग की जिलाध्यक्षा कृष्णा फौगाट, हलका प्रधान सर्वजीत मसीतां, गांव चौटाला की सरपंच निर्मला देवी, जिला परिषद मैम्बर निर्मला देवी, आत्माराम पूर्व चेयरमैन, आत्मा राम पूर्व सरपंच, कुलदीप गोदारा, प्रदीप गोदारा, ब्लाक समिति मैम्बर शमशेर सहारण, युवा इनैलो के गुरबाज सिंह, सरपंच प्रतिनिधि विनोद कुमार, युवा हलका प्रधान करणवीर कुंडर, सोहन पचार, पूर्व सरपंच प्रेम सिहाग, अमर सिंह बिश्रोई पंच, मदन घिंटाला, सुखलाल पंच, गुरचरण पूर्व पंच, हरीश चाहर, मुकेश बिश्रोई, धर्मपाल घोटिया, भूप पंच, रामेशर तेतरवाल, जयपाल, सता नैन, रोशनी, सतपाल धिंगड़ा, मदन सिहाग, मोहन सिहाग, ओम पंडत, बनवारी सिहाग, राठी पंच, अहमद, रेशम, राजेन्द्र प्रींसीपल, राधेराम जाखड़, प्रेम पंच, रामचन्द्र छिंपा, साहब राम पूनियां, प्रेम सुख गोदारा, रामकुमार लेघा, जे.पी.गोदारा, जेतराम, रामकुमार, तारा राम, मनफुल बैरागी, मदन पूनियां, जीत पूनियां, दलीप पंच, महावीर, नाजर, जगसीर प्रधान, जनक, संदीप, दयाराम, सुनील, जीत पंच, मोहन वाल्मिकी, अमर सिंह पंच, सुखलाल, वालू , बुधराम, लीला, पृथ्थी, दुलीचंद, बलराम, भोज पूर्व पंच, अमर सिंह, विजय पंच, रणवीर लकेसर, पवन लकेसर, बबलू बबर, अमन रेगर, जगदीश घोटिया, प्रताप सिवंर, कश्मीरी, जगसीर मांगेआना, बलवीर तिगड़ी, राजबीर डबवाली, बिटू मौजगढ, गुरलाल दीवानखेड़ा आदि मौजूद रहे।

Friday, August 10, 2018

अध्यक्ष महोदया, यह कैसी विडंबना है, किसान का दूध 35 रुपए और कंपनी का पानी 180 रुपए लीटर बिकता है देश में- दुष्यंत चौटाला


हिसार, 10 अगस्त: अध्यक्ष महोदया, यह कैसी विडंबना है कि एक किसान अपने पशु का दूध बेचने मार्केट में जाता है तो उसे कीमत 35 रुपए प्रति लीटर से अधिक नहीं मिलती है और एक कंपनी अपना एक लीटर पानी भी 180 रुपए में बेच देती है। ये शब्द आज लोकसभा में इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहे। वे शुक्रवार को लोकसभा में श्वेत क्रांति को बढ़ावा देने के लिए कानून बनाने की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस दूध व पानी की कीमतों में असमानता को पाटने के लिए देश में कानून बनना चाहिए जिससे कि श्वेत क्रांति को गति और किसानों की आय बढ़े। उन्होंने पशुपालकों की आय बढ़ाने के लिए दूध का न्यूनतम समर्थन मूल्य 40 रुपए प्रति लीटर करने की मांग भी लोकसभा में की। 
इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला शुक्रवार को श्वेत क्रांति की ओर सरकार का ध्यान दिलवाते हुए कहा कि हिसार लोकसभा क्षेत्र की मुर्राह नस्ल की भैंस विश्व भर में प्रसिद्ध है। मुर्राह नस्ल की भैंस का देश की श्वेत क्रांति में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। पर अफसोस की बात यह है कि जो किसान या पशुपालक के दूध की कीमत मार्केट में 30 से 35 रूपये प्रति लीटर तक लगाई जाती है जबकि विदेशी कंपनी के नाम पर पानी देश में 180 रूपये प्रति लीटर तक बिक रहा है। दुष्यंत चौटाला ने केंद्र सरकार से मांग की कि किसानों की अपनी आय का वैकल्पिक स्त्रोत अपनाने के लिए श्वेत क्रांति के लिए कानून लाना चाहिए और जिस प्रकार से किसानों ने श्वेत क्रांति लाने में अपना योगदान दिया है, उसे देखते हुए केंद्र सरकार को दूध का न्यूतनम समर्थन मूल्य 40 रूपये प्रति लीटर तय करे। इससे देश में दुग्ध उद्योग को एक नई गति मिलेगी। उन्होंने यह भी मांग की कि जो कंपनी देश में पानी को 180 रूपये लीटर बेच रहे हैं, उन्हें प्रतिबंधित करे। 
इससे पहले सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार द्वारा स्वास्थ्य कर्मियों और लैब सहायकों को डिग्री की अनिवार्यता को लेकर दिए गए नोटिस का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से पूछा कि सरकार के पास ऐसे लोगों के लिए भी क्या स्किलिंग की क्या योजना है जो पिछले कई वर्षों से तकनीकी अथवा प्रयोगशाला सहायक के रूप में स्वास्थ्य विभाग में अपनी सेवाएं दे रहे हैं और उनके पास कोई डिग्री या डिप्लोमा नहीं है।
स्कूलों में सोलर लाइट न लगाने का मामला पहुंचा लोकसभा तक 


हिसार: सांसद निधि कोष से पैसा जारी करने के बावजूद जिला प्रशासन द्वारा सरकारी स्कूलों में सोलर पैनल न लगाए जाने का मामला वीरवार को लोकसभा में गूंजा। हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस मामले को उठाते हुए केंद्र सरकार से मांग की कि शिक्षण संस्थाओं में सोलर पैनल लगाने के लिए हरियाण सरकार को एक नीति बनाने के निर्देश दिए जाएं। इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा में कहा कि सिसाय गांव के राजकीय स्कूल में सोलर पैनल लगाने के लिए दो वर्ष पहले अनुमति दी थी लेकिन आज तक वहां पर सोलर पैनल नहीं लगे हैं। बार-बार एक ही जवाब मिलता है कि सरकार ने अभी पॉलिसी निर्धारित नहीं की है। उन्होंने कहा कि सांसद निधि कोष की नियमावाली में सोलर पैनल लगाने का प्रावधान है लेकिन सरकारी नीति स्पष्ट नहीं होने के कारण ये पैनल अभी तक नहीं लगे हैं। उन्होंने लोकसभा में मांग की कि केंद्र सरकार व राज्य सरकार सोलर पैनल को लेकर एक स्थायी नीति बनाए जिससे कि शिक्षण संस्थाओं में सोलर पैनल लगाने में किसी प्रकार का व्यवधान उत्पन्न हो। 
करीब दो वर्ष पहले सांसद दुष्यंत चौटाला जब सिसाय गांव के सरकारी स्कूल में गए तो तीसरी एवं चौथी कक्षा की  छात्राओं ने बताया कि उनके स्कूल में गर्मी के मौसम में बिजली नहीं रहती जिसके कारण उन्हें पढ़ाई में परेशानी आती है। सांसद ने तुरंत अतिरिक्त उपायुक्त को अस्टीमेट बना कर स्कूल में सोलर पैनल लगाने के निर्देश दिए थे। अस्टीमेट बनने के बाद आज तक अक्षय उर्जा विभाग इन स्कूलों में सोलर पैनल नहीं लगा पाया जिसके पीछे यह कारण बताया गया कि सरकार की अभी कोई नीति निर्धारित नहीं हुई है। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपने निधि कोष से 66 गांवों में 700 स्ट्रीट लाईटों के लिए अतिरिक्त उपायुक्त को लिख रखा है। लेकिन अभी तक सोलर स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए सरकार ने कोई कंपनी निर्धारित नहीं की है। सांसद द्वारा दिशा की बैठक में यह मामला उठाया गया था जिसके बाद अक्षय उर्जा विभाग ने धिकताना एवं भेरियां गांव के लिए ली गई राशि ब्याज सहित वापस लौटा दिया था। 
इनेलो के कानूनी प्रकोष्ठ ने
जंतर-मंतर पर नहर के निर्माण का कार्य शुरू कराने के लिए प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपा


नई दिल्ली/चंडीगढ़: सर्वोच्च न्यायालय के एसवाईएल पर 2016 में हरियाणा के हक में आए निर्णय को लागू करवाने को लेकर इनेलो ने केंद्र सरकार पर पुरजोर दबाव बनाते हुए आज एक और चरण पूरा किया। हरियाणा की जीवन रेखा एसवाईएल के पानी की लड़ाई को आगे बढ़ाते हुए आज नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला की अगुवाई में इनेलो के कानूनी प्रकोष्ठ के वकीलों नें जंतर-मंतर पर केंद्र द्वारा नहर के निर्माण का कार्य शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आज हजारों की तादाद में वकीलों के साथ जंतरमंतर पर इसलिए पहुंचे हैं क्योंकि केंद्र सरकार की तरफ से नहर निर्माण करने के लिए अभी तक कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला है। पिछले एक साल आठ महीने में इनेलो का यह पांचवां प्रयास है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार हरियाणा की जीवन रेखा एसवाईएल नहर का निर्माण करने का कार्य शुरू करे ताकि हरियाणा की बंजर बनी लाखों एकड़ भूमि  को पानी मिल सके और जो किसान पानी की कमी के कारण बर्बाद होने की कगार पर  हैं, उन्हें बर्बाद होने से बचाया जा सके।
नेता प्रतिपक्ष ने केंद्र सरकार को याद दिलाया कि इनेलो ने जब पहला प्रयास किया  था तब पंजाब में जाकर नहर खोदने के लिए गए पार्टी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया और प्रदेश के हक की आवाज को दबाने की भरपूर कोशिश की गयी लेकिन प्रदेशवासियों और इनेलो पार्टी नें हार नहीं मानी। दूसरे चरण में पंजाब से दिल्ली जाने वाले सभी रास्ते बंद किए, तीसरे चरण में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली में संसद भवन का घेराव किया और चौथे चरण में सभी जिलों में इनेलो-बसपा के कार्यकर्ताओं नें जेल भरो आंदोलन किया लेकिन अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिला। 


इनेलो नेता ने इस आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि इस सोई हुई केंद्र की सरकार को जगाने के लिए और प्रदेश के हितों की रक्षा के लिए इनेलो हर कुर्बानी देने को तैयार हैं। इस प्रदर्शन में मुख्य तौर पर गोपीचंद गहलोत पूर्व उपाध्यक्ष विधानसभा, जसबीर ढिल्लों अध्यक्ष कानूनी प्रकोष्ठ,  प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण अत्रे, अजय गुलिया, दिनेश डागर व सुरेन्द्र फोगाट उपस्थित थे।
भाजपा ने प्रदेश को अपने हिस्से का पानी लेने से भी किया मोहताज- अशोक अरोड़ा



फतेहाबादः एसवाईएल पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लागू करवाने को लेकर लगातार आंदोलनरत इनेलो-बसपा का जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन जाट धर्मशाला में आयोजित हुआ। आगामी 18 अगस्त को एसवाईएल मामले में हरियाणा बंद की तैयारियों को लेकर हुए इस जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा व बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने संयुक्त रूप से बतौर मुख्य वक्ता उपस्थित रहे। अध्यक्षता भारतीय ओलंपिक संघ उपाध्यक्ष कर्ण चौटाला ने की। सम्मेलन को बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेन्द्र वर्मा, इनेलो किसाल सैल प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, बसपा प्रदेश प्रभारी महेश कुमार, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला, जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, बसपा जिलाध्यक्ष पीएस फानर, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, कुलजीत कुलडि़या, मोलूराम रूहलानियां, विद्या रत्ति, सरोज सांगा, सुशीला सर्राफ व बसपा सिरसा लोकसभा प्रभारी मीरा नंदा ने मुख्य रूप से संबोधित किया। कार्यक्रम संचालन गुलाब सूंडा ने किया।
सम्मेलन को संबोधित करते हुए इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा को दो नदियों का केवल 35 प्रतिशत पानी मिला है। जो पानी हरियाणा के हिस्से में आया वह भी आज तक नही मिला। सुप्रीमकोर्ट की संवैधानिक पीठ ने हरियाणा के हक में एसवाईएल मामले में 10 नवम्बर 2016 को फैसला दिया था। इस फैसले के अनुसार केंद्र सरकार को नहर का निर्माण करना है लेकिन आज तक प्रदेश सरकार ने केंद्र पर दबाव बनाकर पानी लाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया। जिस पर इनेलो-बसपा गठबंधन ने पानी लाने के लिए जेल भरो आंदोलन चलाया, मगर सरकार के कान पर जूं तक न रेंगी। भाजपा ने हालात इस कद्र बिगाड़ दिए हैं कि प्रदेश अपने हिस्से का पानी लेने से भी मोहताज हो गया है। इनेलो-बसपा गठबंधन ने अब हरियाणा सरकार को कुंभकरणी नींद से जगाने के लिए 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आहवान किया है। उन्होंने कार्यकर्त्ताओं का आह्वान किया कि वे प्रदेश की जीवन रेखा एसवाईएल का प्रदेश के हक का पानी लाने के लिए पूरी ताकत के साथ इस बंद को सफल बनाएं। युवा नेता कर्ण चौटाला ने अपने संबोधन में कहा कि आज हालात पूरी तरह से इनेलो-बसपा गठबंधन के पक्ष में है, क्योंकि देश-प्रदेश की जनता समझ चुकी है कि अच्छे दिनों की चाह में भाजपा को सत्तासीन करना ही उनके जीवन की सबसे बड़ी भूल थी। पार्टी पदाधिकारी, नेतागण व कार्यकर्त्ता जनभावनाओं के अनुरूप अधिक से अधिक लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुनें, उनका निदान करवाने का प्रयास करें। इस मौके पर बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने भी कार्यकर्त्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि बसपा और इनेलो मिलकर अब एक और एक ग्यारह बन गए हैं। इनेलो-बसपा गठबंधन को जनता ने स्वीकार किया है और इसी जन समर्थन के सहारे आगामी चुनावों में प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनेगी। राज्य में इनेलो सुप्रीमो औमप्रकाश चौटाला एक बार फिर मुख्यमंत्री बनेंगे तो देश में बसपा प्रमुख मायावती प्रधानमंत्री बनेंगी। बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेन्द्र प्रजापति ने अपने संबोधन में कहा कि भाजपा ने जात-पात व धर्म के नाम पर आपसी भाईचारा खराब किया है। 35 बिरादरी का नारा देकर लोगों को लड़वाया। उन्होंने कहा कि गठबंधन को पूरे प्रदेश में जनसमर्थन मिल रहा है। प्रजापत ने कहा कि चुनाव नजदीक आते देख भाजपा सरकार को अब ओ बी सी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने व एस टी एस सी कानून को सख्त करने की बात याद आई है। उन्होंने कहा कि जननायक स्व चौधरी देवीलाल और इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने दलित व पिछड़े वर्ग को सत्ता में भागीदारी दी। दोनों दलों ने जनहित को समझते हुए जो पवित्र गठबंधन किया है, उसके निकट भविष्य में अच्छे परिणाम आएंगे। इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष सुरेन्द्र लेगा, युवा जिलाध्यक्ष अजय संधु, युवा प्रदेश उपाध्यक्ष राणा जोहल, हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, हरि सिंह मेहरिया, बिकर सिंह हड़ोली, बलदेव कसवां, विकास मेहता, पूर्व युवा जिलाध्यक्ष राकेश सिहाग, पवन चुघ, सुमनलता सिवाच, सतेन्द्र श्योराण, पूर्ण नारंग, रमेश कंबोज, देवीलाल गोदारा, दरेश खान, हरबंस खन्ना, जतिन खिलेरी, जसपाल संधू, रवि लांबा, सतपाल सिद्धू, बंटी बरसीन, मोनू सोनी, अनिल डागर, राजू सरदाना सहित पार्टी के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।
18 अगस्त को होगा हरियाणा बंद- अशोक अरोड़ा 


सिरसा:  इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार की हठधर्मिता के कारण ही आज एसवाईएल के मुद्दे पर इनेलो बसपा गठबंधन अपना संघर्ष तेज करने पर बाध्य हैं और इसी कड़ी में अब 18 अगस्त को जनता के सहयोग से पूरे हरियाणा को बंद कराया जाएगा। वे गुरुवार को डबवाली रोड स्थित इनेलो कार्यालय में पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज केंद्र व प्रदेश सरकार की गलत नीतियों के कारण ही देश प्रदेश में महंगाई, भ्रष्टाचार, अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है और शासन व्यवस्था पूरी तरह से पंगु नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि 10 नवंबर 2016 को सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के पक्ष में निर्णय दिया था जिसे आज तक केंद्र सरकार लागू नहीं करवा सकी। इसी वजह से अभी तक हरियाणा के हक का पानी प्रदेश के किसानों के खेतों तक नहीं पहुंच सका है। 
उन्होंने कहा कि इनेलो बसपा गठबंधन ने अब से पूर्व हरियाणा में जेल भरो आंदोलन, पंजाब में गिरफ्तारियां देने व राष्ट्रपति को मांगपत्र देने जैसे अनेक कदम उठाए मगर फिर भी केंद्र व प्रदेश सरकार एसवाईएल पर उदासीन हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो बसपा गठबंधन की ओर से 18 अगस्त को कराए जाने वाले हरियाणा बंद को सभी व्यापारियों, ट्रेड यूनियनों और दुकानदारों की मदद से सफल बनाया जाएगा और यह बंद शांतिपूर्ण होगा। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से लिए गए नोटबंदी व जीएसटी जैसे निर्णयों से व्यापारियों व आमजन को जितना नुकसान हुआ है, इतिहास में इससे पूर्व कभी नहीं हुआ। अरोड़ा ने कहा कि भाजपा ने गरीबों, पिछड़ों के खिलाफ गलत नीतियां बनाकर न केवल उन्हें आर्थिक नुकसान पहुंचाया बल्कि उनके आरक्षण पर भी चोट की है। बाद में प्रैसवार्ता के दौरान एक प्रश्र के उतर में उन्होंने कहा कि अकाली दल के साथ उन्के राजनैतिक रिश्ते समाप्त हो गए है तथा किसी भी दल को अपना जनाधार बढाने की आजादी है। अरोड़ा ने कहा कि सिरसा में बन्दरों की समस्या को लेकर उपायुक्त महोदय से मिले तो उन्होंने कहा कि जनता अपने पैसों से इन बन्दरों को पकड़वा सक ती है क्योकि सरकार के पास बन्दरों के पकड़वाने का कोई फंड नही है अरोड़ा ने उपायुक्त के इस कथन पर रोष प्रकट करते हुए कहा कि सरकार को शर्म आनी चाहिए की सरकार पशुओं से जनता की रक्षा नही कर सकती।
बसपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश में इनेलो बसपा गठबंधन मजबूती से आगे बढ़ रहा है जिसकी लोकप्रियता से भाजपा और कांग्रेस में घबराहट है और इसी घबराहट में वे प्रदेश में गठबंधन के संदर्भ में भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अगली सरकार गठबंधन की होगी और इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला पुन: हरियाणा की बागडोर संभालेंगे जबकि केंद्र में दलित की बेटी मायावती देश की प्रधानमंत्री बनकर देश को विकास के पथ पर ले जाएंगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि जो भी राजनीतिक दल लोकप्रिय होकर उभरेगा, कांग्रेस उसे अपना समर्थन देगी और अब लोकप्रियता की स्थिति में बसपा सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने एससीएसटी एक्ट को कमजोर किया है और अब उस पर लीपापोती करके देश का ध्यान बांटने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि आज तक देश के 8 राज्यों में मंडल कमीशन लागू नहीं हो पाया है और ऐसे में भाजपा पिछड़ा वर्ग आयोग लाकर खानापूर्ति करने में जुटी है। प्रकाश भारती ने कहा कि पूर्व उपप्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल और मान्यवर कांशीराम की सैद्धांतिक विचारधारा समान रूप से गरीब, किसान और कमेरे वर्ग के विकास के पक्षधर थे और उन्होंने ही इस वर्ग को राजनीतिक रूप से सशक्त बनाया। 
जिला परिषद के उपाध्यक्ष कर्ण सिंह चौटाला ने कहा कि कानून व्यवस्था पर प्रदेश की भाजपा सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई है और यही कारण है कि आज दिन ब दिन आपराधिक घटनाओं में बढ़ौतरी हो रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसान एसवाईएल का पानी लेकर रहेंगे क्योंकि यह उनका हक है। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहरलाल को हरियाणा के इतिहास का अब तक का सबसे कमजोर मुख्यमंत्री बताया। उन्होंने बताया कि पेट्रोल डीजल की बार बार बढऩे वाली कीमतों से देश के लोगों की कमर तोड़ दी गई है और सरकार मौन है। उन्होंने लोगों से आने वाले चुनावों में भाजपा को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। कर्र्ण चौटाला ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने राष्ट्रमण्डल खेलो में 22 मेडल जितने वाले खिलाडियों का सम्मान ना करके उनका अपमान किया है उन्होंने पत्रकारों के सामने कहा कि यदि इनेलो बसपा की सरकार भविष्य में बनी तो इन खिलाडिय़ों को इनके कटे हुए टैक्स समेत इनाम राशि दी जाऐगी। चौटाला ने सिरसा के उपायुक्त को आड़े हाथो लेते हुए कहा कि रानियां हलके के हभोली कई गांवों में केमिकल युक्त पानी सप्लाई  हो रहा है जिसके कारण पिछले 20 दिनों मेें सात मौतों ने गांव वालो में दहशत पैदा कर दी है लेकिन उपायुक्त महोदय के संज्ञान में मामला लाने का बाद भी उन्होंने इस गम्भीर सम्सया पर कोई ध्यान नही दिया । इस मौके पर  इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने कहा कि इस बंद को लेकर लोगों खासकर व्यापारी वर्ग में खासा उत्साह है और उनका मानना है कि यह बंद बहुत पहले से ही किया जाना चाहिए था क्योंकि सरकार द्वारा की गई जीएसटी और नोटबंदी के कारण पूरा देश आर्थिक तौर पर बर्बाद कर दिया गया। जैन  ने कहा कि व्यापारियों ने इस बंद को पूर्ण सफल बनाने में अपना योगदान देने की बात कही है। इस अवसर पर इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन के साथ विधायक मक्खनलाल सिंगला, रामचंद्र कंबोज, बलकौर सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष जसवीर सिंह जस्सा, पूर्व मंत्री भागीराम, वीरभान मेहता, अमीर चावला, कृष्णा फौगाट, अशोक वर्मा, डॉ. हरिङ्क्षसह भारी, तरसेम मिढा, महावीर शर्मा, गुरदयाल मेहता, जरनैल सिंह चंदी, मदन शर्मा, अजब ओला, सुभाष नैन, सर्वजीत मसीतां, कश्मीर सिंह करीवाला, कमलेश सिद्धु, रामसिंह सैनी, मनोहरलाल मेहता, कृष्ण मेहता, अभय सिंह खोड, गुरविंद्र सरपंच, अंजनी लढा, विजय खोड, अजय झोरड़, महेंद्र बाना, हरपाल ढूकड़ा, धर्मवीर नैन, भरपूर गदराना, विनोद दड़बी, लक्की चौधरी, धर्मपाल कायत, मीनूद्दीन पहलवान, मोहित शर्मा, प्रह्लाद सोनी, प्रवीण रोड़ी, लीलूराम आसाखेड़ा, दयाराम जोइया, भूषण बरोड़, रविंद्र बाल्याण, बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, डॉ. महेश आदि पदाधिकारी मौजूद थे। 

Wednesday, August 8, 2018

जनहित मुद्दों के पक्ष में इनेलो-बसपा द्वारा हरियाणा बंद का आहवान


इनेलो-बसपा पार्टी ने जनहित मुद्दों व एसवाईएल नहर निर्माण के पक्ष में 18 अगस्त 2018 को हरियाणा बंद करने का आहवान किया है। चौ. ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व की सरकार के समय 15 जनवरी 2002 को सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के पक्ष में फैसला सुनाकर पंजाब सरकार को एसवाईएल नहर निर्माण करने के आदेश दिलवाए। नेता प्रतिपक्ष चौ. अभय सिंह चौटाला, जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी से नहर निर्माण के लिए दिल्ली में मिले। दिल्ली में प्रदर्शन करते हुए कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठियां बरसाई। नेता प्रतिपक्ष व जलयुद्ध नेता चौ. अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में 1 मई 2018 से 17 जुलाई 2018 तक जेल भरो आंदोलन में लाखों कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी। सर्वप्रथम यह बताना तर्कसंगत होगा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब वे जीएसटी का विरोध करते थे परंतु प्रधानमंत्री बनते ही सर्वप्रथम जीएसटी लागू किया। देश भर के व्यापारियों ने जीएसटी को काला कानून बताया है। जीएसटी में ऐसे प्रावधान किए गए हैं जो व्यापारियों को मुसीबत में डालने वाले हैं। जीएसटी का कृषि पर भी सबसे ज्यादा प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। सरकार ने खाद, कीटनाशक दवाइयों पर जीएसटी लगाकर किसानों की फसल का लागत मूल्य बढ़ाने का काम किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के अचानक फैसले ने देश में अफरातफरी का माहौल बना दिया। भाजपा सरकार ने कालधेन और भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए नोटबंदी जैसा कदम उठाया। आज तक न तो कालाधन वापस आया और न ही भ्रष्टाचार खत्म हुआ। देशभर में लगभग 80 से ज्यादा लोगों ने एटीएम और बैंकों के बाहर लगी लंबी कतारों में अपनी जान गंवाई हैं। नोटबंदी के कारण छोटे उद्योगों, व्यापारियों का व्यापार चौपट हो गया। विश्वस्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में कमी आने से पहले पेट्रोल पर वैट की दर 20 प्रतिशत व डीजल पर 11.5 प्रतिशत। भाजपा सरकार ने बढ़ाकर पेट्रोल पर 25 प्रतिशत और डीजल पर लगभग 17 प्रतिशत और सरचार्ज 12.7 प्रतिशत लगा दिया। वर्ष 2914 में पेट्रोल की दर लगभग 71 रुपये और डीजल लगभग 55 रुपये प्रति लीटर थी जबकि वर्ष 2018 में डीजल की दर 69 रुपये प्रति लीटर है। पिछले चार सालों में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 105 प्रतिशत और डीजल पर 400 प्रतिशत से अधिक बढ़ाई गई है। भाजपा जब सत्ता में आई थी और घरेलू गैस की कीमत लगभग 400 रुपये प्रति सिलेंडर थी जो अब बढ़कर 800 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है। प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। व्यापारी दुकान पर सुरक्षित नहीं, लड़कियां स्कूलों व कॉलेजों में सुरक्षित नहीं और आम आदमी घर में सुरक्षित नहीं है। आए दिन दिहाड़े फिरौती मांगने की घटनाएं सामने आ रही हैं। 
एसवाईएल, नोटबंदी, जीएसटी, महंगाई और लचर कानून व्यवस्था के कारण आमजन को आज भी अनेक कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। अत: सभी हरियाणा वासियों से निवेदन है कि 18 अगस्त, 2018 को राजनीति से ऊपर उठकर हरियाणा बंद में इनेलो-बसपा को अपना पूरा सहयोग दें। 
डीयू के एक-एक छात्र की समस्याओं के समाधान के लिए काम करे इनसो- दिग्विजय चौटाला

नई दिल्ली, 8 अगस्त: इनसो दिल्ली की एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन इनसो के केंद्रीय कार्यालय 18 जनपथ पर किया गया जिसमें मुख्य वक्ता के तौर पर इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने शिरकत की। इनसो दिल्ली के कार्यकर्ताओं ने पिछले कुछ समय के काम की रिपोर्ट व इनसो संगठन को मजबूत करने के लिए अपने सुझाव राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने रखे।
इनसो नेता ने कार्यकर्ताओं को संगठन की मजबूती के लिए जरूरी दिशा-निर्देश दिए व दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के छात्रों की समस्याओं पर काम करने के लिए कहा। उन्होंने कहा जल्द ही इनसो दिल्ली की प्रदेश व कॉलेज वाइज जिम्मेदारियों की घोषणा भी कर दी जाएगी। इस मौके पर वरिष्ठ इनसो नेता विश्वास राणा, जय सिंह, राष्ट्रीय प्रवक्ता ध्रुव सांगवान, अनिल दलाल, गौरव दहिया, नरेंद्र ओबरा, राम नैन, मोहम्मद आसिफ, विकास श्योराण, मोहित भास्कर, पवन मान के अलावा इनसो के अनेक पदाधिकारी व पूर्व पदाधिकारी व कार्यकर्ता गण उपस्थित रहे।
18 अगस्त का हरियाणा बंद होगा ऐतिहासिक, सरकार की हिल जाएंगी चूले- अभय चौटाला



कुरुक्षेत्र, 8 अगस्त: नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि एस वाई एल का पानी हरियाणा में लाने की मांग को लेकर इनेलो-बसपा गठबंधन द्वारा 18 अगस्त को किया जाने वाला हरियाणा बंद ऐतिहासिक होगा और इससे सरकार की चूले हिल जांएगी। अभय चौटाला पिपली रोड़ पर स्थित एक निजी रिसोर्ट में गठबंधन की जिला स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक को इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पिहोवा के विधायक जसविन्द्र सिंह संधु, बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेन्द्र प्रजापत, लोकसभा प्रभारी नराता राम, बसपा जिला प्रधान मान सिंह, श्रीमती शशी सैनी, इनेलो जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, हलका थानेसर प्रधान रणबीर सिंह किरमच, शाहाबाद हलका प्रधान अमनदीप सिंह कम्बोज, लाडवा हलका प्रधान सुरेश सैनी, पिहोवा हलका प्रधान कर्ण सिंह इशहाक, विक्रम चक्रपाणी, रामकरण काला, बुटा सिंह लुक्खी बसपा नेत्री शकुंतला भट्टी, युवा इनेलो जिला प्रधान सुनील राणा,  चंद्रभान बाल्मिकी, शहरी प्रधान विवेक मेहता, पार्षद संदीप टेका, नितिन भारद्वाज लाली, तून खान, प्रवीन कश्यप, जसविन्द्र खेरा, मनोज कौशिक, तरसेम हरियापुर दीपक फौजी, सोहनलाल रामगढ़, दीपक बाल्मिकी, संदीप अजराना, अजय कुमार, सुनील कुमार, गुरबचन, नसीब सिंह कश्यप, सूरज भान, अमन सिंह रंगा, राजकुमार शर्मा काला, राकेश कुमार,सहित गठबंधन के अनेक नेताओं ने संबोधित किया और बंद को सफल बनाने का आश्वासन दिया। अभय चौटाला ने गठबंधन के कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे इस बंद को सफल बनाने के लिए व्यापारिक संगठनों से संपर्क करें और जी-जान से जुट जांए उन्होंने कहा कि बटवारे के समय हरियाणा से अन्याय हुआ था।
हरियाणा को दो नदियों का केवल 35 प्रतिशत पानी मिला। जो पानी हरियाणा के हिस्से में आया वह भी आज तक नही मिला। सुप्रीमकोर्ट की संवैधानिक पीठ ने हरियाणा के हक में 10 नवम्बर 2016 को फैसला दिया था। इस फैसले के अनुसार केंद्र सरकार को नहर का निर्माण करना है लेकिन आज तक प्रदेश सरकार ने केंद्र पर दबाव बनाकर पानी लाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया। जिस पर इनेलो - बसपा गठबंधन ने पानी लाने के लिए जेल भरो आंदोलन चलाया और अब 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आहवान किया है। अभय चौटाला ने कांग्रेस और भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि दोनों पार्टियों को हरियाणा के हितों से कोई सरोकार नहीं है। भाजपा से लोगों को विश्वास उठ चुका है। कांग्रेस 6 गुटों में बंटी हुई है। आगामी चुनाव में 1987 का इतिहास दोहराया जाएगा। गठबंधन विधानसभा की सभी 90 सीटों और लोकसभा की सभी 10 सीटों पर विजय प्राप्त करेगा। देश की प्रधानमंत्री मायावती बनेगी और प्रदेश में चौधरी ओम प्रकाश चौटाला के नेतृत्व में गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर किसान, मजदूरों और छोटे व्यापारियों के सारे कर्जे माफ किए जाएंगे। गरीब कन्या की शादी पर 5 लाख रुपए कन्यादान दिया जाएगा, हर घर से एक व्यक्ति को रोजगार दिया जाएगा और जो युवा रोजगार से वंचित रह जाएगा, उसे 15 हजार रुपए महिना बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। बिजली का रेट 5 रुपए प्रति युनिट किया जाएगा और जो लोग ईमानदारी से बिल भरते हैं, उनके मीटर सरकार ने बाहर लगा रखे हैं। इन मीटरों को उखाडकर जोहड़ में डाल दिया जाएगा तथा बिजली चोरी करने वाले बड़े-बड़े व्यापारियों के मीटर बाहर लगाए जाएंगे।
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि इनेलो ने एस वाई एल का पानी हरियाणा में लाने और दादुपुर नलवी नहर परियोजना को दौबारा से लागू करने तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करवाने  के लिए लंबी लड़ाई लड़ी है और अब इन्हीं मुद्दों को लेकर 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आहवान किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार से हर वर्ग दु:खी है। किसानों की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर भी नही खरीदी जा रही। अरोड़ा ने कहा कि चार वर्ष के भाजपा के राज में हालात बद से बदतर हो गए हैं। ठेका प्रथा लागू करके कर्मचारियों को शोषण किया जा रहा है। हरियाणा में 6 वर्ष की बच्चियों  से लेकर 60 वर्ष तक की महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे हैं। भाजपा ने आपस में लड़ाकर भाईचारा खत्म करने का काम किया। उन्होंने कहा कि सरकार का काम गिल्लीडंडा खेलना नही बल्की लोगों को सुविधाएं देना है। अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश से भाजपा सरकार का जाना और गठबंधन की सरकार का चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में बनना निश्चित है। 
बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष नरेन्द्र प्रजापति ने अपने संबोधन में कहा कि भाजपा ने जात-पात व धर्म के नाम पर आपसी भाईचारा खराब किया है। 35 बिरादरी का नारा देकर लोगों को लड़वाया। उन्होंने कहा कि गठबंधन को पूरे प्रदेश में जनसमर्थन मिल रहा है। प्रजापत ने कहा कि चुनाव नजदीक आते देख भाजपा सरकार को अब ओ बी सी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने व एस टी एस सी कानून को सख्त करने की बात याद आई है। उन्होंने कहा कि चौधर देवीलाल और ओमप्रकाश चौटाला ने दलित व पिछड़े वर्ग को सत्ता में भागीदारी दी। चौधरी ओमप्रकाश चौटाला और बहन मायावती ने कमेरे वर्ग का गठबंधन करके बड़ा ही अच्छा काम किया है। बहन मायावती देश की प्रधानमंत्री बनेगी और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व में प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनेगी। प्रजापति ने बसपा कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे इनेलो कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर 18 अगस्त के बंद को सफल बनाए।  
एसवाईएल का पानी न मिलने तक, न चैन से बैठेंगे, न सरकार को चैन लेने देंगे- दौलतपुरिया


फतेहाबाद: एसवाईएल मामले में इनेलो-बसपा गठबंधन ने 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आह्वान किया है। इस बंद को सफल बनाने के लिए जिला फतेहाबाद के कार्यकर्त्ताओं की एक बैठक 9 अगस्त की सुबह जाट धर्मशाला में बुलाई गई है, जिसे नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करेंगे। इसके अलावा इनेलो-बसपा के कई अन्य वरिष्ठ नेतागण व पदाधिकारी भी कार्यकर्त्ताओं के बीच अपने विचार रखेंगे। फतेहाबाद में होने वाले जिला कार्यकर्त्ता सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रूप देने उपरांत विधायक बलवान दौलतपुरिया ने अपने अनाज मंडी स्थित कार्यालय में समर्थकों संग बैठक की और उन्हें अधिक से अधिक संख्या में सम्मेलन में पहुंचने की बात कही।
विधायक दौलतपुरिया ने कहा कि इनेलो-बसपा गठबंधन एसवाईएल का पानी प्रदेश में लाने के लिए हर तरह की कुर्बानी को तैयार है। देश-प्रदेश में सत्तासीन भाजपा इनेलो-बसपा के आंदोलन को दबाने का हर हथकंडा अपना चुकी है, लेकिन उनका संघर्ष लगातार तेजी पकड़ रहा है। किसानों के हक व एसवाईएल का प्रदेश की प्यासी धरती की प्यास बुझाने में महत्व समझते हुए सरकार नहर निर्माण जल्द शुरू करवाए। यदि सरकार ऐसा नहीं करती है तो इनेलो-बसपा गठबंधन एसवाईएल पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णयानुसार काम शुरू न होने तक न खुद चैन से बैठेगा, न सरकार को चैन की सांस लेने देगा। उन्होंने कहा कि जेल भरो आंदोलन के बाद इनेलो-बसपा गठबंधन ने 18 अगस्त को हरियाणा बंद के जरीये सरकार को जगाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि इस बंद से पूर्व विधानसभा सत्र में भी इनेलो सरकार को घेरेगी और विधानसभा के बाहर जनता को साथ लेकर नींद में सोई सरकार को जगाने का काम करेगी। उन्होंने कार्यकर्त्ताओं का आह्वान किया कि वे प्रदेश व किसान तबके के प्रति अपनी नैतिक जिम्मेवारी समझते हुए 9 अगस्त को अधिक से अधिक संख्या में जाट धर्मशाला पहुंचे ताकि एसवाईएल मामले में एक ठोस रणनीति सांझे रूप में चर्चा करके तैयार की जा सके। इस अवसर पर हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, शहरी प्रधान पवन चुघ, युवा नेता सतेन्द्र श्योराण, दरेश खान, धीरज शर्मा आदि उपस्थित थे।
रमेश कंबोज बने इनेलो पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ जिला संयोजक

फतेहाबाद: इनेलो पार्टी में लंबे समय से विभिन्न पदों पर संगठन के लिए काम कर रहे का रमेश चन्द कंबोज हरिपुरा को संगठन ने पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का जिला संयोजक बनाया है। अपनी इस नियुक्ति के लिए कंबोज ने पार्टी सुप्रीमो एवं पूर्व सीएम औमप्रकाश चौटाला, राष्ट्रीय महासचिव अजय चौटाला, नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला, पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद दुष्यंत चौटाला, किसान सैल प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, विधायक बलवान दौलतपुरिया, प्रो रविन्द्र बलियाला व वरिष्ठ नेता बलदेव कसवां दरियापुर का आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने पिछड़ा वर्ग के उत्थान व उनकी समस्याओं के निदान के लिए उनमें जो विश्वास जताया है, वे संगठन के उस भरोसे पर खरा उतरने का हरसंभव प्रयास करेंगे। उनकी इस नियुक्ति से समाज के गणमान्य लोगों में भी उत्साह का माहौल है। कंबोज को इनेलो पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ जिला संयोजक नियुक्ति को अहलीसदर पूर्व सरपंच लक्ष्मणदास, ब्लॉक समिति सदस्य सुरेश परोचा, प्रमोद ठाकुर, औमप्रकाश कंबोज, चन्द्र कंबोज, हंसराज कंबोज अहलीसदर, दलबीर कंबोज हरिपुरा, गुरनाम सिंह, पवन वर्मा, बलदेव कंबोज, शेर सिंह कंबोज, रमेश कंबोज को पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ जिला संयोजक रामचन्द्र रामा हिजरांवा, प्रवीन कंबोज, सुखविन्द्र सिंह, प्रेम कंबोज आदि ने संगठन मजबूती की दिशा में एक पार्टी का एक अहम निर्णय करार दिया। उन्होंने कहा कि रमेश कंबोज की नियुक्ति से न इनेलो ने न केवल कंबोज समुदाय के मान-सम्मान को बढ़ाया है, बल्कि यह भी संदेश दिया है कि इनेलो ही एकमात्र ऐसी पार्टी है, जिसमें कार्यकर्त्ताओं की मेहनत को कभी अनदेखा नहीं किया जाता।

Tuesday, August 7, 2018

हरियाणा मेंं किसान 16 लाख 21 हजार, और ई नेम पर पंजीकरण कर दिया 21 लाख किसानों का

किसानों के आंकड़ों को लेकर सांसद दुष्यंत ने लोकसभा में उठाया सवाल


नई दिल्ली, हिसार, 7 अगस्त: केंद्र सरकार द्वारा हरियाणा में किसानों को लेकर दिए गए आंकड़ों पर सवालिया निशान लग गए हैं। इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला ने मंगलवार को लोकसभा में प्रस्तुत आंकड़ों को लेकर कहा कि प्रदेश में किसानों की संख्या 16 लाख 71 लाख है दूसरी ओर केंद्र द्वारा प्रस्तुत किए गए आंकड़ों में किसानों की संंख्या 21 लाख 54 हजार बताई गई है। उन्होंने केंद्र सरकार से पूछा कि हरियाणा की सरकारी वेबसाईट पर किसानों की कुल संख्या में 16 लाख 72 हजार है तो ई नेम पर 21 लाख 54 हजार किसानों का पंजीकरण कैसे कर दिया। आंकड़ों के इस अंतर का जवाब केंद्रीय मंत्री लोकसभा में नहीं दे सके। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने ई नेम ऐप पर आढ़तियों का पंजीकरण करने से उनकी दुकान पर काम करने वाले लोगों के बेरोजगार होने की भी अशंका जताई। युवा सांसद ने कहा कि हरियाणा में 38 हजार आढ़ती हैं और इन आढ़तियों की दुकान पर काम करने वाले लोगों की संख्या लगभग 2 लाख है। दुष्यंत ने ई नेम पर आढ़तियों के पंजीकरण होने के बाद  दो लाख लोगों के रोजगार संकट को लेकर सरकार से सवाल किया कृषि मंत्रालय ने इनके रोजगार के लिए क्या योजना बनाई है। 
 इनेलो संसदीय दल के नेता व सांसद दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा में हरियाणा सरकार के अधिकृत आंकड़ों बताते हैं कि हरियाणा में 16 लाख 71 हजार किसान हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर जहां किसान खेती को छोड़ रहा है तो फिर 21 लाख 54 हजार किसानों का पंजीकरण ई-नेम पर कैसे हो गया। उन्होंने कहा कि इनमें केवल 4 हजार किसान ऐसे हैं जिन्होंने ई नेम एप के माध्यम से ट्रेडिंग की है। 
गठबंधन की सरकार बनने पर 5 रुपए प्रति यूनिट देंगे बिजली- अभय सिंह चौटाला 


पंचकूला, 7 अगस्त: नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने इनेलो-बसपा कार्यकत्ताओं के संयुक्त सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाखड़ा से सरकार 44 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली खरीद रही है और प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को करीब 11 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बेच रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आगामी चुनावों में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने जा रही है और सरकार बनते ही हरियाणा में बिजली 5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली लोगों को दी जाएगी और उस भेदभाव को भी खत्म किया जाएगा।
इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा चहेते पूंजीपतियों के व्यवसायिक संस्थानों के मीटर अंदर और जो इमानदारी से बिजली बिल भरते हैं उनके मीटर बाहर सडक़ों पर लगाए हुए हैं। हमारी सरकार बनने पर उन पूंजीपतियों के मीटर बाहर और लोगों के मीटर मकान के अंदर होंगे। उन्होंने 18 अगस्त को सतलुज-युमना लिंक नहर के पानी को लेकर अपने संघर्ष को आगे बढ़ाते हुए गठबंधन के हरियाणा बंद को सफल बनाने का भी आहवा्न किया। 
इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए इनेलो नेता ने कहा कि प्रत्येक कार्यकर्ता पार्टी की मुख्य 5 घोषणाओं को ज्यादा से ज्यादा प्रचार करें। मोबाइल पर गलत पोस्ट करने से बचे, क्योंकि कांग्रेसी और भाजपा के लोग हमारे नाम पर गलत पोस्ट बनाकर विवाद पैदा कर रहे है। गठबंधन परिवार संगठित है और पार्टी जिलाध्यक्ष ऐसे लोगों पर नजर रखें, जो गलत तरीके से प्रचार करके पार्टी को नुकसान पहुंचाने का काम करते है। पार्टी जिलाध्यक्ष को पूरा अधिकार है, वो ऐसे लोगों को पार्टी से तुरंत बाहर निकालने का काम करें। उन्होंने यह भी कहा कि जिलाध्यक्ष और पार्टी के पदाधिकारियों के बिना संज्ञान के कोई कार्यक्रम प्रस्तावित नहीं किया जाएगा। 
नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने विधायक ज्ञानचंद पर निशाना साधते हुए कहा कि रेहड़ी वालों से पैसे लेने वालों को नहीं बख्शा जाएगा और गठबंधन की सरकार बनने के बाद रेहड़ी-फहड़ी वालों से जो पैसे इन लोगों से वसूले वो वापिस करवाए जाएंगे और चौंक बनाने में हो रही मिलीभगत का भी संज्ञान लिया जाएगा। उसके अलावा कोई बिना पार्टी ऑफिस के संज्ञान के कार्यक्रम से दूरी बनाएं। उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में इतनी समस्याएं है कि इनका तो लोग इंतजार कर रहे है, इन्हें वोट की ऐसी चोट देंगे कि याद रखेंगे। 
इस अवसर पर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने संबोधित करते हुए भाजपा सरकार को अनुभवहीन सरकार बताते कहा कि हर मोर्चे पर सरकार फेल साबित हुई है। वहीं बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि कांग्रेस-भाजपा के लोगों को इनेलो-बसपा के गठबंधन की बड़ी चिंता सता रही है। इस मौके पर कर्ण चौटाला, पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी, कुलभूषण गोयल, प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय व एसपी अरोड़ा सहित सैकड़ों गठबंधन कार्यकर्ता भी मौजूद थे।
हरियाणा बन्द को ऐतिहासिक बनाने के लिये इनेलो बसपा के वरिष्ठ नेता वीरवार को लेंगे बैठक  - लितानी

हिसार, 7 अगस्त: इनेलो ने एसवाइएल के साथ साथ किसान, व्यापारियों व छोटे दुकानदार के सामने दिनोंदिन आ रही समस्या के खिलाफ सरकार के खिलाफ  लड़ाई को और तेज कर दिया है, इसको लेकर अब आगामी 18 अगस्त को हरियाणा बन्द का फैसला लिया है। यह बात इनेलो जिलाध्यक्ष राजेन्द्र लितानी ने बरवाला व उकलाना हलके के कार्यकर्ताओं से जनसम्पर्क करते हुए कही। इनेलो जिलाध्यक्ष लितानी ने कार्यकर्ताओं से चर्चा करते हुए कहा कि इस बन्द को सफल बनाने को लेकर नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला, प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, बसपा प्रदेश प्रभारी प्रकाश भारती व युवा सांसद दुष्यंत चौटाला वीरवार को शाम 3 बजे देवीलाल सदन में इनेलो बसपा के जिला पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देंगे।
इनेलो नेता लितानी ने कहा कि आज भाजपा सरकार से हर वर्ग दु:खी व परेशान है, जनता को बारबार सब्जबाग दिखाकर सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने अपने चुनावी वायदों से मुख मोड़ लिया है। आने वाले चुनावों में जनता इनको सबक सिखाएगी। आज इनेलो बसपा गठबंधन को जनता अपना भविष्य मान चुकी है।
एस वाई एल को लेकर प्रदेश के हजारों वकील प्रधानमंत्री को सौंपेंगे ज्ञापन

हिसार से भी बड़ी संख्या में वकील होंगे शामिल


हिसार, 7 अगस्त: प्रदेश में एसवाईएल को लेकर इनेलो द्वारा चलाये जा रहे आंदोलन में अब प्रदेश के वकील भी सक्रिय हो गए है। इसी कड़ी में वीरवार को इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ के हजारों सदस्य एसवाईएल मामले में माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक नहर निर्माण करवाने को लेकर प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे। प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपने को लेकर इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ की जिला सदस्यों की एक बैठक जिला बार एसोसिएशन के कॉन्फ्रेंस रूम में प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष एडवोकेट मनदीप बिश्नोई की अध्यक्षता में हुई। इसमे जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रदीप बाजिया व उपप्रधान अनिल श्योराण विशेष तौर पर उपस्थित थे। बैठक में चर्चा करते हुए एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने कहा कि नवम्बर 2017 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार आंखे मूंदे बैठी है। जो कि प्रदेश की जनता  विशेषकर किसानों के साथ सरासर अन्याय है। इनेलो पिछले लगभग डेढ़ साल से ज्यादा समय से एस वाई एल को लेकर नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में आंदोलन रत है। परन्तु प्रदेश भाजपा इसको लेकर एक बार भी प्रधानमंत्री से नही मिली। अब इस लड़ाई को और ज्यादा मजबूती से लड़ते हुए इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला के निर्देशानुसार नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला व इनेलो कानूनी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट जसबीर ढिल्लों के नेतृत्व में प्रदेश के वकील दिल्ली में पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओम प्रकाश चौटाला के निवास स्थान 11 मीना बाग पर वीरवार को दिन में 11 बजे इकठ्ठा होकर प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौपते हुए प्रदेश के किसानों की जीवन रेखा मानी जाने वाली नहर का निर्माण जल्द जल्द करवाकर प्रदेश को उसके हक का पानी दिलवाने की मांग करेंगे।  जिला बार के अध्यक्ष एडवोकेट प्रदीप बाजिया ने कहा कि प्रदेश के किसानों के हित मे चलाये जा रहे जल आन्दोलन में हिसार के वकील बढ़चढ़कर भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि अगर जल्द ही एस वाइ एल का पानी प्रदेश को नही मिला तो प्रदेश में जलसंकट आ सकता है।
इस अवसर पर पूर्व जिला न्यायवादी राजेन्द्र गर्ग , धर्मबीर आर्य, अजीत काजला , अनूप जाखड़, ईश्वर कोवासरा, सम्मत यादव, राजेन्द्र जाखड़, बलवंत सहारण, राजबीर पायल, सुरेंद्र जांगड़ा, मानव गोदारा, कर्ण सिंह, एस के मेहता, सुरेंद्र सैनी, राज सिंह चाहर, महेश पारीक, नरेंद्र पंघाल सहित काफी संख्या में अधिवक्ता उपस्थित थे।

Monday, August 6, 2018

इनेलो सुप्रीमो ने सफल रैली के लिए दिग्विजय की पीठ थपथपाई


कैथल, 6 अगस्त: इनसो के 16वें स्थापना दिवस के सफल कार्यक्रम को लेकर इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष व कार्यक्रम के आयोजक दिग्विजय चौटाला को बधाई देते हुए उनकी पीठ थपथपाई। आज प्रात: तिहाड़ जेल में हुई मुलाकात के बाद दिग्विजय ने बताया कि इनेलो सुप्रीमो ने कैथल में इनसो के 16वें स्थापना दिवस की बधाई दी वहीं छात्र संघ चुनाव व इनसो के विस्तारीकरण के लिए भी लंबी बातचीत हुई। इनसो नेता ने बताया कि उनकी मुलाकात में मुख्य बात पंजाब, यूपी, राजस्थान व मध्यप्रदेश में इनसो का विस्तारीकरण कैसे हो, उसके लिए  ूइनेलो सुप्रीमो से आवश्यक बातचीत की। उन्होंने दिग्विजय चौटाला के प्र्रभावशाली भाषण के लिए बधाई के साथ-साथ उनके नेतृत्व क्षमता के लिए शाबाशी भी दी। उन्होंने यह भी कहा कि छात्र संघ चुनाव को लेकर सरकार की मंशा को जब उन्होंने इनेलो सुप्रीमो के सामने रखा तो उन्होंने भी प्रत्यक्ष चुनाव करवाने की सलाह दी। इसके साथ-साथ इनेलो सुप्रीमो ने सभी छात्र संगठनों को इकट्ठा हो एक मंच पर आकर प्रत्यक्ष रूप से चुनाव करवाने की मांग को लेकर महामहिम राज्यपाल व मुख्यमंत्री को मांग-पत्र सौंपने का आदेश दिया।
दिग्विजय ने बताया कि कैथल में आयोजित हुए सफल कार्यकम को देखते हुए व इनसो के लिए मेहनती साथियों के संघर्ष को देखते हुए निकट भविष्य में इनसो में राष्ट्रीय कार्यकारिणी, प्रदेश कार्यकारिणी व जिला कार्यकारिणी में जिम्मेवारी दी जा सकती है। इसके साथ-साथ इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष ने बताया कि अब इनसो संगठन के अंदर केवल वही छात्र कार्य करेंगे जो निरंतर हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जो साथी इनसो में लंबे समय से कार्य कर रहा है उनके संघर्ष को देखते हुए उन्हें युवा इनेलो संगठन में जगह दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इनेलो सुप्रीमो से हुई लंबी बातचीत के बाद अब इनसो को मध्यप्रदेश, यूपी, राजस्थान और पंजाब में ले जाने के लिए वो तैयार हैं।
8 अगस्त को अभय चौटाला संबोधित करेंगे गठबंधन की जिला स्तरीय बैठक को

कुरुक्षेत्र, 6 अगस्त: नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला 8 अगस्त(बुधवार) को प्रात: 10 बजे इनेलो, बसपा गठबंधन की जिला स्तरीय बैठक को पिपली रोड़ स्थित पाल प्लाजा पैलेस में संबोधित करेंगे। इस बैठक को संबोधित करने इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा तथा बसपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती भी आएगे। बैठक का आयोजन गठबंधन द्वारा एस.वाई.एल को लेकर 18 अगस्त के हरियाणा बंद की तैयारियों को लेकर किया जा रहा है।
यह जानकारी देते हुए जिला इनेलो प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी ने बताया कि बैठक की तैयारियों को लेकर आज जिला इनेलो कार्यालय में गठबंधन के पदाधिकारियों की जिला स्तरीय बैठक आयोजित की गई। बैठक में इनेलो हलका थानेसर के प्रधान रणबीर सिंह, शाहाबाद के प्रधान अमनदीप सिंह, लाडवा प्रधान सुरेश सैनी, पिहवों हलका प्रधान कर्ण सिंह ईश्हाक, थानेसर हलका प्रधान विवेक महत्ता, बसपा जिला प्रधान मान सिंह, बसपा नेता नेराताराम, सूरजभान नरवाल, रामकरण काला, चंद्रभान  बाल्मीकी, सुनील राणा, विक्रम चक्रपाणी, जसवींन्द्र सिंह खेरा, सूबे सिंह, सतपाल कुरड़ी, सुरजीत कौर, तरसैम हरियापुर, मनोज, सुबे सिंह, परवीन कश्यप, मिया सिंह, राजपाल सहित गठबंधन के अनेक नेताओं ने भाग लिया। 
मुलतानी ने बताया कि इस बैठक में निर्णय लिया गया कि 18 अगस्त के हरियाणा बंद को लेकर गठबंधन के नेता अपने-अपने इलाके में व्यापारिक, सामाजिक तथा शैक्षणिक  संगठनों से सम्पर्क करके बंद को सफल बनाने के लिए जी-जान से मेहनत करेंगे और 8 अगस्त को गठबंधन की बैठक में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेंगे।
नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला नौ अगस्त को हिसार में

हिसार, 6 अगस्त: एसवाईएल को लेकर इंडियन नेशनल लोकदल की ओर से 18 अगस्त को प्रस्तावित हरियाणा बंद की तैयारियों को लेकर नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला और इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा नौ अगस्त को जिले के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की बैठक लेंगे। सिरसा रोड़ स्थित चौधरी देवीलाल सदन में शाम तीन बजे आयोजित होने वाली इस बैठक में आगामी आंदोलन को लेकर रूपरेखा तैयार करते हुए कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इस बैठक को लेकर इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने सोमवार को पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक ली।
बैठक को संबोधित करते हुए लितानी ने कहा कि एसवाईएल, नोटबंदी, जीएसटी, महंगाई व लचर कानून व्यवस्था के कारण आज आमजन भय के साये में जी रहा है। भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार की अनदेखी के चलते हर वर्ग आंदोलन करने पर मजबूर हो गया है, लेकिन बीजेपी के कानों पर कोई जूं तक नहीं रेंग रही। लितानी ने कहा कि बीजेपी केवल विरोध की भाषा समझती है। इसलिए इनेलो बसपा ने जनहित मुद्दों व एसवाईएल नहर निर्माण के पक्ष में 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आह्वान किया है। जिसको लेकर नौ अगस्त को नेता प्रतिपक्ष कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां सौपेंगे। उन्होंने कहा कि इस बैठक में बसपा व इनेलो के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस मौके पर विधायक रणबीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, चतर सिंह स्याहड़वा, हरफूलखान भट्टी, बहादुर सिंह नायक सहित सभी हलका प्रधान, युवा हलका प्रधान व सभी प्रकोष्ठों के जिला प्रभारी सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

 युवा छात्र अधिकार रैली को लेकर छात्रों में ही नहीं, बल्कि पार्टी से जुड़े बुजुर्ग में भी भारी उत्साह


कैथल: युवा छात्र अधिकार रैली को लेकर छात्रों में ही नहीं, बल्कि पार्टी से जुड़े बड़े बुजुर्ग में भी भारी उत्साह देखने को मिला। युवा छात्र अधिकार रैली में आयोजकों की उम्मीद से अधिक भीड़ उमड़ी। रैली शुरू होने से ही पूरा पंडाल भीड़ से ठसाठस भर चुका था। रैली को लेकर प्रदेश भर के लोगों का उत्साह इतना अधिक रहा कि दोपहर बजे तक कैथल के चारों तरफ 20-20 किलोमीटर तक जाम लग गया, जिसके चलते ट्रैफिक पुलिस व इनसो वालंटियर्स को व्यवस्था बनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। रैली स्थल पर हरियाणवी पॉप गायक गोल्डी सहित अन्य कलाकारों की हरियाणवी व पंजाबी प्रस्तुति ने माहौल को रंगीन बना दिया। यूथ उनकी प्रस्तुति पर साथ साथ झूमते दिखाई दिए | इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला करीब साढ़े 11 बजे रैली स्थल पर पहुंचे। युवाओं में जोश भरने के लिए अर्जुन अवार्डी बजरंग पूनिया, इंटरनेशनल रेसलर सुमित मलिक व यूथ ओलंपियन पूजा ढांडा के पिताजी अजमेर ढांडा विशेष तौर पर पहुंचे। रैली स्थल पर छात्राओं की भी खासी भीड़ रही, जिन्हें अग्रिम पंक्ति में जगह दी गई। रैली को लेकर युवाओं में इतना ज्यादा जोश रहा कि खुद दिग्विजय सिंह चौटाला को बार बार व्यवस्था बनाए रखने के मंच पर आकर युवाओं से आग्रह करना पड़ा।स्थानीय युवा मोटरसाइकिलों व गाडिय़ों के भारी जत्थे के साथ रैली स्थल पर पहुंचे। युवा इनेलो के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष उमेद लोहान ने इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला के साथ मंच सांझा कर युवाओं में नया जोश भरा।

लोकसभा में दुष्यंत चौटाला ने कच्चे कर्मचारियों को लेकर बोले

हरियाणा में कार्यरत हजारों कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की गूंज संसद तक पहुंच गई है। दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश के कच्चे कर्मचारियों का मुद्दा लोकसभा में उठाया। दुष्यंत चौटाला ने कर्मचारियों की आवाज को सदन में बुलंद करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को पहल करते हुए कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के लिए तुरंत कानून बनाए जिससे कि लाखों परिवारों पर रोजी-रोटी छीनने का संकट खड़ा न हो। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कच्चे कर्मचारियों की समस्या केवल हरियाणा की नहीं है बल्कि यह समस्या देश भर में है और पूरे देश में में विभिन्न प्रांतों में 20 लाख से अधिक कच्चे कर्मचारी हैं। इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने सदन में  कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पूर्व कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने और ठेकेदारी प्रथा बंद का वायदा किया था। यह बात भाजपा के घोषणा पत्र में भी है। उन्होंने कहा कि अधिकांश कर्मचारियों को ठेकेदारी प्रथा के तहत नौकरी करते हुए एक दशक से भी अधिक समय बीत चुका है। उन्होंने कहा कि सरकारी ऐसा कोई विभाग नहीं जिसमें कच्चे कर्मचारी ठेकेदारी प्रथा के तहत कार्यरत न हों। उन्होंने हरियाणा के कच्चे कर्मचारियों का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश में लाखों कर्मचारी आज भी कच्चे हैं। उन्होंने कहा कि गेस्ट टीचर्स, कम्प्यूटर टीचर्स, कम्प्यूटर आपरेटर, स्वास्थ्य विभाग, परिवहन विभाग सहित हर विभाग में अनेक ठेके पर काम करने वाले कर्मचारी हैं। उन्होंने कहा कि उमा देवी बनाम कर्नाटक केस का जिक्र करते हुए कहा कि पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट के आदेशों पर हरियाणा सरकार ने भी 4654 पक्के हुए कर्मचारियों को नौकरी से हटाने के आदेश जारी कर दिए। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि केंद्र सरकार लोकसभा में कानून बना कर कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का रास्ता निकाला जाए। 

Saturday, August 4, 2018

22 पदक जीतने वाले हरियाणा को मिले पहला स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी सेंटर- दुष्यंत चौटाला 

खेला म्ह में फस्र्ट आणा, बार्डर पर जाकै सर कटवाणा, ऐसा है मेरा हरियाणा- दुष्यंत चौटाला


नई दिल्ली, हिसार। हरियाणा के खिलाडिय़ों ने देश के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्वाधिक मेडल जीत कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। एक ओर जहां राष्ट्रमंडल खेलों में 66 में से 22 मेडल हरियाणा के खिलाडिय़ों ने जीते हैं वहीं ओलम्पिक खेलों में कई मेडल जीत कर हरियाणा के खिलाडिय़ों ने गौरव बढ़ाया है इसलिए राष्ट्रीय खेलकूद विश्वविद्यालय का प्रथम रीजनल सेंटर हरियाणा में खुलना चाहिए। यह मांग इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने शुक्रवार को लोकसभा में की। 
लोकसभा में पेश राष्ट्रीय खेलकूद विश्वविद्यालय विधेयक 2018 पर आयोजित चर्चा में भाग लेते हुए देश के सबसे युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस बिल का स्वागत किया। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ऐसा कोई खेल नहीं है जहां हरियाणा के खिलाडिय़ों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम न चमकाया हो चाहे बात, हॉकी, बॉक्सिंग, कुश्ती की हो या फिर निशानेबाजी की। उन्होंने कहा कि देश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए शारीरिक शिक्षा, खेल विज्ञान एवं विकास के लिए एक्सीलेंस सेंटर जरूरी हैं। उन्होंने केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौर का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार देश में रीजनल सेंटर स्थापित करते समय हरियाणा के खिलाडिय़ों की उपलब्धियों को ध्यान में रखे। दुष्यंत ने हरियाणा के देश में हर क्षेत्र में अपने योगदान की अपने शब्दों में बयान किया   ....देसां में देस हरियाणा, जित दूध दही का खाणा, खेला म्ह में फस्र्ट आणा,  अर बार्डर पर जाकै सर कटवाणा, ऐसा है मेरा हरियाणा। 
दुष्यंत चौटाला ने चीन और अन्य देशों का उदाहरण देते स्कूल स्तर से पांचवी कक्षा से ही शारीरिक शिक्षा विषय को अनिवार्य करने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदकों की संख्या बढ़ाने के लिए जरूरी है कि स्कूलों में छोटे बच्चों को दो घंटे खेल के मैदान में खिलाना जाए। उन्होंने मांग की कि स्कूल व विश्वविद्यालय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाडिय़ों को भी नकद राशि देने का सरकार प्रावधान करे। 
छात्र अधिकार रैली में विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ी व लोकप्रिय कलाकारों ने दिग्विजय चौटाला का चलेंज स्वीकारा 

कैथल: आगामी 5 अगस्त को कैथल में होने वाली छात्र अधिकार रैली में विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ी गीता फौगाट, बबीता फौगाट आदि व  लोकप्रिय कलाकार अल्फाज, गोल्डी, गगन कोकरी, फोजिल पूरिया, गोल्डी गिल, सुख देशवाल आदि ने दिग्विजय चौटाला का चैलेंज स्वीकार करते हुऐ कैथल में पहुंचने का वादा किया। कैथल में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन को लेकर प्रदेश के हर जिले के युवाओं में काफी उत्साह है और हर जिले से 8 से 10 हजार युवा और प्रदेश भर से लाखों युवा इस छात्र अधिकार रैली में शिरकत करेंगे।
छात्र राजनीति में उत्तर भारत की सबसे बड़ी रैली करार देते हुए चौटाला ने कहा कि कैथल में आयोजित होने वाले इनसो स्थापना दिवस ऐतिहासिक रैली होगी, यह रैली राजनीतिक बदलाव के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इस स्थापना दिवस सम्मेलन में कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्डमेडलिस्ट भी शिरकत करेंगे और उनको सम्मानित करने का काम इनसो करेगी। इसके अलावा दिग्विजय चौटाला ने कहा कि दसवीं और बारहवीं में प्रदेश भर के टॉपर विद्यार्थियों को लैपटॉप देकर सम्मानित किया जाएगा और इनकी शिक्षा का सभी खर्च इनसो द्वारा वहन किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि 5 अगस्त की रैली प्रदेश की राजनीति की एग्जिट पोल होगी। चौटाला ने कहा कि जो पार्टी समाजवादी विचारधारा रखती हैं, उन सभी पार्टी के दिग्गज नेता इस सम्मेलन में शिरकत करेंगे। आगामी 2019 के चुनाव में युवाओं के भागीदारी के सवालों पर बोलते हुए इनसो अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कहा कि आने वाले चुनाव में इनेलो द्वारा 30 प्रतिशत युवाओं को टिकट दिया जाएगा और युवाओं के भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस सरकार में कभी सक्षम तो कभी स्किल इंडिया के नाम पर युवाओं के साथ भद्दा मजाक करने का काम किया गया है ,लेकिन इनेलो की सरकार आने पर पहली कलम से प्रदेश भर के सभी विभागों में रिक्त पड़े लाखों पदों को भरने का काम किया जाएगा। प्राइवेट सेक्टर में 50 प्रतिशत युवाओं को रोजगार देने की व्यवस्था की जाएगी और बेरोजगारी भत्ता भी भरपूर दिया जाएगा। 
टॉपर को  लैपटॉप देने के सवाल पर दिग्विजय ने स्पष्ट किया कि इनसो अपने खर्चे पर टॉपर्स को लैपटॉप देगी और भविष्य में सत्ता में आने पर छात्र-छात्राओं को स्कूटी देंगे। इस मौके पर उनके साथ हरदीप पाडला, बलराज नौच, जयवीर ढांडा, प्रो. रणधीर चीका, राजू ढुल पाई, संजय जागलान, राजू जुलानीखेड़ा, सम्पूर्ण कोयल, प्रदीप सिंहमार, मास्टर प्रेम ग्योंग, चन्द्रभान दयोहरा, सावन शर्मा ग्योंग, करण सहारण सहित अनेक इनेलो नेता मौजूद रहे।
चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने पंचकुला जिला संयोजकों की नियुक्तियां की

चंडीगढ़: इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला, डॉ. अजय सिंह चौटाला एवं प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा सहित सभी पदाधिकारियों से विचारविमर्श के बाद आज इनेलो ने पंचकुला और मेवात के ग्रामीण हलका प्रधानों व शहरी प्रधानों सहित पंचकुला जिला संयोजकों की नियुक्तियां की हैं।  
इनेलो सुप्रीमो ने पार्टी संगठन को और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए विजेंद्र शर्मा कामी, बरवाला को पंचकुला और रविंद्र पाल मेहता को कालका का ग्रामीण प्रधान बनाया है वहीं सुशील गर्ग को कालका, एसपी अरोड़ा पंचकुला और अमरजीत सैनी को पिंजौर का शहरी प्रधान का जिम्मा सौंपा है।
इसी सूची में उसमान खां को फिरोजपुर झिरका, इब्राहिम पहलवान को नंूह और जान मोहम्मद पुन्हाना का ग्रामीण प्रधान नियुक्त किया है इसके अलावा धर्मबीर जैन को फिरोजपुर झिरका, मिठ्ठन लाल भारद्वाज को नूंह और विनोद कुमार को पुन्हाना मेवात जिले को शहरी प्रधान बनाया है।
इनेलो सुप्रीमो ने पंचकूला जिले की सीमा चौधरी को महिला प्रकोष्ठ, भूपेंद्र सिंह को अनुसूचित जाति, रमेश कश्यप को पिछड़ा वर्ग, हरबंस लाल सिंगला को व्यापार प्रकोष्ठ, महेंद्र श्योराण को कर्मचारी, मदन लाल जसल को कानूनी और अमरजीत सिंह को बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ का जिला संयोजक नियुक्त किया है। इसके अतिरिक्त गफूर मोहम्मद को अल्पसंख्यक, मान सिंह चरणियां को किसान, डॉ. पदम खटौली को चिकित्सा प्रकोष्ठ, रमेश बागड़ी को टपरीवास, सुभाष निशाद को श्रमिक व स्वर्ण सिंह को जिला पंचकुला के युवा प्रकोष्ठ की जिम्मेदारी दी गई है।

अभय चौटाला ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों द्वारा चुनाव रद्द करवाने की मांग की 


चंडीगढ़: इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के चुनावों में प्रयोग के मुद्दे को लेकर हरियाणा में विपक्ष के नेता चौधरी अभय सिंह चौटाला ने सभी विरोधी दलों का एक मंच पर एकत्रित होकर इसके विरोध करने के निर्णय का स्वागत किया है।
चौधरी अभय सिंह चौटाला ने कहा कि एक लम्बे समय से इनेलो का यह कथन रहा है कि इलेक्ट्रॉनिक मशीन का बटन दबाकर चुनाव की प्रक्रिया को रद्द किया जाना चाहिए क्योंकि न तो इसकी निष्पक्षता पर अनेक राजनैतिक दलों की आस्था है और न ही यह माना जा सकता है कि इसके साथ छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। उन्होंने मांग की कि अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का प्रयोग बंद किया जाए और उसके स्थान पर कागज के मतों के प्रयोग की पुरानी परम्परा को पुन: बहाल किया जाए। अब इनेलो को इस बात का संतोष है कि देश के अन्य  विपक्षी दल भी इनेलो के इस विचार से सहमत हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव में निष्पक्षता चुनावों की आत्मा है और यह प्रजातंत्र को जिंदा रखने के लिए अति आवश्यक है। यदि प्रयोग में लाई जाने वाली प्रणाली में राजनैतिक दलों की आस्था नहीं रह जाती तो चुनाव आयोग का यह कर्तव्य है कि पुन: उस प्रणाली का प्रयोग किया जाए जिसका प्रयोग इससे पहले किया जाता था।
इनेलो ने कहा कि अब जबकि ईवीएम मशीनें संदेह के दायरे में हैं तो वीवीपीएटी अर्थात वोटर वैरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल भी अर्थहीन होने के साथ-साथ उसकी उपयोगिता भी समाप्त हो जाती है। उसके प्रयोग से ईवीएम प्रणाली की सूचिता बहाल नहीं होती। उन्होंने यह भी याद दिलाया कि संसार का कोई भी प्रसिद्ध प्रजातांत्रिक देश इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का प्रयोग नहीं करता और वे आज भी कागज के मतपत्रों पर ही निर्भर करते हैं। हालांकि सामान्य जीवन में टेक्रोलॉजी का प्रयोग वे हमसे अधिक करते हैं।


इसलिए नेता विपक्ष ने कहा कि इनेलो की मांग है कि अगले लोकसभा चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग प्रणाली का प्रयोग न हो और कागज के मतपत्रों द्वारा ही मतदान करवाया जाए। इस मुद्दे पर इनेलो अन्य दलों के साथ साझा मत रखती है।
इनेलो की 9 अगस्त को जिला कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ होगी मीटिंग 

सिरसा: इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने एक ब्यान जारी करते हुए कहा कि इनेलो नेता प्रतिपक्ष चौ. अभय सिंह चौटाला ने एस.वाई.एल का पानी हरियाणा मेें लाने हेतु हरियाणा भर में जेल भरो आन्दोलन चलाकर केन्द्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला लागू करवाने हेतु अपना पूरा दबाव बनाया, लेकिन केन्द्र व हरियाणा सरकार ने नहर के प्रति अपना उदासीन रवैया दिखाकर यह सिद्ध कर दिया है कि उसे किसानों के हितों से कोई लेना देना नही है। जेलभरों के अन्तिम कार्यक्रम में चौ. अभय सिंह चौटाला ने घोषणा की थी कि यदि सरकार नही जागी तो आगामी 18 अगस्त को हरियाणा बन्द किया जायेगा। इसके अंतर्गत चौ. अभय सिंह चौटाला पूरे हरियाणा में जिला कार्यकर्ताओं की मीटिंग ले रहे है इस कड़ी में नेता प्रतिपक्ष सिरसा के डबवाली रोड़ स्थित इनेलो जिला कार्यालय में 9 अगस्त प्रात: 10 बजे जिलाभर के कार्यकर्ताओं की  बैठक लेगें तथा उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश देगें।









Friday, August 3, 2018

प्रदेश की राजनीति में नए युग की शुरुआत होगी इनसो का स्थापना दिवस सम्मेलन से

बाढ़डा: इनसो स्थापना दिवस समारोह को लेकर आज प्रदेश के छात्रों और युवाओं में भारी जोश और उत्साह देखने को मिल रहा है। इस जोश को देखकर सहज ही अन्दाजा लगाया जा सकता है कि इस सम्मेलन के बाद प्रदेश की राजनीति में युवाओं के नए युग की शुरुआत होगी। यह बात इनसो राष्ट्रीय महासचिव सूरज बेनीवाल व जिलाध्यक्ष बबलू चौधरी ने सम्मेलन को लेकर जनसंपर्क के तहत युवाओं से मिलते हुए कही। इनसो नेताओं ने आज गाँव कलियाणा, डालावास, काकडौली, कारी मौद, कारी धारनी, बाढ़डा, कान्हडा, कुब्जानगर, गोपालवास, हुई, भाण्डवा, गोपालवास, कादमा व बडराई में युवाओं को स्थापना दिवस समारोह में पहुंचने का न्यौता दिया। सूरज बेनीवाल व बबलू चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार  छात्रसंघ चुनाव करवाने के नाम पर सरकार ने फिर से लीपापोती कर रही हैं। छात्र संघ चुनाव का उद्देश्य आम घर के बच्चों को राजनीति में आगे बढ़ाना है। इसी सोच को लेकर ताऊ देवीलाल जी ने हरियाणा प्रदेश में छात्र संघ चुनाव कराए थे परन्तु आज मौजूदा सरकार उस सोच से बहुत परे हैं। भाजपा सरकार छात्र संघ चुनाव अप्रत्यक्ष रूप से करवा कर युवाओं को भी खरीद फरोख्त की राजनीति की दल-दल में धकेलना चाहती है। लेकिन जो सरकार स्वयं किराए पर लाई गई बैसाखियों पर खड़ी है, उससे कोई और उम्मीद की भी नहीं जा सकती। इनसो नेताओं ने कहा कि इनसो कार्यकर्त्ता भाजपा सरकार को इस छात्र व युवा विरोधी अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होने देगी। सूरज बेनीवाल व बबलू चौधरी ने कहा कि कैथल में होने वाले  ऐतिहासिक सम्मेलन में लाखों युवाओं के साथ लेकर युवा सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला दिल्ली, चण्डीगढ़ की तर्ज पर प्रत्यक्ष चुनाव करवाने के लिए एक बड़े आंदोलन का बिगुल बजाएंगे। ताकि प्रदेश में जमीन से जुड़े युवा नेताओं को आगे बढ़ने का मौका मिल सके। इस अवसर पर इनसो बाढ़डा हल्का अध्यक्ष सोनु कान्हडा, सुनील समसपुर, आनन्द बडराई, टीनु बडराई, मनीष कलियाणा, रवि राणा, नवीन कुब्जा, अंकित बाढ़डा, अनिल, संजीव काकडौली, मंदीप कारी, संदीप व सुमित धारणी, अमित भाण्डवा, सोनू हंसावास, सुमित व अमित गोपालवास, रवि पिचौपा, जोगेन्द्र हुई व रिंकु जेवली इत्यादि भी उनके साथ थे।
कच्चे कर्मचारियों के मुद्दे को लोकसभा में उठाऊंगा-दुष्यंत चौटाला 

धरने पर बैठे कर्मचारियों की मांगों का समर्थन करने जंतर-मंतर पहुंचे दुष्यंत चौटाला


नई दिल्ली, 2 अगस्त: हरियाणा में कार्यरत कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे सर्वकर्मचारी संघ का समर्थन करने के लिए वीरवार को इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला जंतर-मंतर पहुंचे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कर्मचारियों की मांगों का समर्थन का समर्थन करते हुए कहा कि कच्चे कर्मचारियों को नियमित करने का मामला वह लोकसभा में उठाएंगे। यहां पहुंचे सांसद दुष्यंत चौटाला को सर्वकर्मचारी संघ की ओर से एक ज्ञापन भी सौंपा गया। 
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा में भाजपा ने सत्ता में आने से पूर्व कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का वायदा किया था परन्तु सत्ता में आते ही सरकार ने कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की बजाय उन्हें नौकरी से हटाना शुरू कर दिया। अब तक हजारों कर्मचारियों की खट्टर सरकार घर का रास्ता दिखा चुकी है और पक्के हुए कर्मचारियों को दोबारा से सरकार ने अदालत के निर्णय का हवाला देते हुए कच्चा कर दिया। उन्होंने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार पूरी तरह से कर्मचारी विरोधी सरकार है और जो कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर आवाज बूलंद करते हैं उनकी आवाज को लाठी व गोली के दम पर दबाने में लगी है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में गेस्ट टीचर्स, कम्प्यूटर टीचर्स, कम्प्यूटर आपरेटर, लिपिक सहित विभिन्न विभागों में कार्यरत हजारों कर्मचारी अंदोलनरत हैं परन्तु भाजपा सरकार  कानों में तेल डाले बैठी है। इससे पहले यहां सर्वकर्मचारी संघ के राज्य प्रधान धर्मवीर फोगाट ने सांसद दुष्यंत चौटाला को कर्मचारियों की मांगों को विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि हरियाणा में सवा लाख से अधिक कच्चे शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अन्य विभागों में कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार उमा देवी बनाम कर्नाटक सरकार के सुप्रीम कोर्ट का फैसले का हवाला देकर हरियाणा में कच्चे कर्मचारियों को पक्का नहीं कर रही है। उन्होंने बताया कि पक्के हुए 4654 कर्मचारियों को कच्चा करके उन्हें घर भेजने की तैयारी कर रही है। धरने पर आज सुभाष लांबा, वीरेंद्र ढंगवाल, सविता मलिक, नरेश शास्त्री कर्मचारी नेता मौजूद थे।