Friday, October 12, 2018

राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने राज्य पार्टी के नए पदाधिकारियों की घोषणा की

 
चंडीगढ़, 12 अक्तूबर: इंडियन नेशनल लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने राज्य पार्टी के नए पदाधिकारियों की भी घोषणा कर दी है। अशोक अरोड़ा एक बार फिर इनेलो प्रदेशाध्यक्ष बनाए गए हैं।विधायक जसविंदर सिंह संध, सतवीर वर्मा, ओमप्रकाश माटा, राजिंद्र बिसला पूर्व विधायक और चौधरी सुनील यादव को उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। डॉ. अजय सिंह चौटाला प्रदेश के सेक्रेटरी जनरल के पद पर बने रहेंगे जबकि रामकुमार सैनी भूतपूर्व विधायक, वेद नारंग विधायक, बूटा सिंह लुक्खी और ईश्वर पलाका जनरल सेक्रेटरी नियुक्त किए गए हैं। सेक्रेटरी के पदों पर बलदेव सिंह घनघस, रामकुमार ऐबला और महेंद्र सिंह चौहान नियुक्त किए गए हैं। भूतपूर्व विधायक रामपाल माजरा को संगठन सचिव बनाया गया है। राज्य प्रवक्ता का कार्यभार प्रवीण आत्रेय और प्रचार सचिव का पदभार राजकुमार रिढाऊ को दिया गया है। भूतपूर्व मंत्री सुभाष गोयल खजांची के पद पर होंगे जबकि नीति और कार्यक्रम कमेटी के अध्यक्ष ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) ओपी चौधरी होंगे। शेर सिंह बडशामी भूतपूर्व विधायक अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति के अध्यक्ष होंगे। स. नच्छत्र सिंह मल्हान कार्यालय सचिव और मुख्य मीडिया को-आर्डिनेटर प्रो. हरबंस सिंह होंगे। चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने पॉलिटिकल अफेयर कमेटी के सदस्यों के नामों की भी घोषणा की है।  यह इस प्रकार हैं- इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व एमपी डॉ. अजय सिंह चौटाला, नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला, पूर्व विधायक शेर सिंह बडशामी, विधायक जसविंदर सिंह संधू, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक मोहम्मद इलियास, डॉ. रामकुमार जांगड़ा, पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी, एमएस मलिक (रिटायर्ड डीजीपी), आरएस चौधरी  (रिटायर्ड आईएएस), बीडी ढालिया (रिटायर्ड आईएएस), पूर्व विधायक रामपाल माजरा, बनारसी दास, पूर्व विधायिका श्रीमती सरोज मोर, अश्विनी दत्ता और ब्रिगेडियर ओपी चौधरी। 

Thursday, October 11, 2018

12 को यूनिवर्सिटी व जिले के मुख्य कॉलेजों में सभी संगठन मिलकर करेंगे विरोध प्रदर्शन: दिगिवजय चौटाला


भिवानी, 11 अक्टूबर: इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिगिवजय चौटाला ने प्रदेश के अंदर अप्रत्यक्ष चुनाव को अस्वीकार करते हुए कहा कि एबीवीपी को छोडक़र सभी छात्र संगठन एक साथ आ चुके हैं। 12 अक्तूबर को सभी छात्र संगठन प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव की मांग को लेकर हरियाणा प्रदेश की सभी यूनिवर्सिटियों व सभी जिलों के मुख्य कॉलेजों पर एकत्रित होकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि एक बार फिर से भाजपा अपनी जुबां पर नहीं रही और प्रदेश के अंदर पूंजीपति प्रणाली को बढ़ावा देते हुए अप्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव करने को तैयार हुए जो इनसो, एसएफआई सहित सभी छात्र संगठनों को मंजूर नहीं हुए। दिगिवजय ने इनसो कार्यकर्ताओं को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि इनसो के आफिसीयल कैंडिडेट के तौर पर किसी भी सीआर या कॉलेज, यूनिवर्सिटी के पद पर प्रत्याशी घोषणा ना करे और ना ही आफिसीयल कैंडीडेट के तौर पर कि सी का फार्म डलवाए। इनसो अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार गरीब, किसान, दलित, पिछड़ों के बच्चों के हकों को दबाने और छात्रों में भी पूंजीपति, पूंजीवाद प्रथा को शुरू करने के लिए अप्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव करवाना चाहती है। सरकार के इस फैसले से प्रदेश की राजनीति में अपनी पहली पारी शुरू करने और छात्रों को मूलभूत सुविधा के साथ पढ़ाई करने के अपने अधिकार से वंचित होना पड़ रहा है। जहां सरकार एक तरफ तो यह कहती है कि भविष्य में मेयर, चेयरमैन, नगरपालिका प्रधान के चुनाव सीधे तौर पर करवाने की सोच रही है वहीं सरकार प्रदेश के छात्रों के साथ खिलवाड़ करके आरएसएस की विचारधारा को छात्रों पर थोंपना चाहती है इस फैसले के खिलाफ प्रदेश में छात्र नाराज हैं और अपने अधिकार को पाने के लिए प्रत्यक्ष छात्र संघ चुना चाहता है। उनहोंने कहा कि जब देश के अन्य राज्यों में प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव हो सकते हैं तो फिर हरियाणा में क्यों नहीं है। चौटाला ने कहा कि एक सोची समझी साजिश के तहत प्रदेश में अप्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव करवाने का मंसूबा भाजपा पेश कर रही है जिसे पूरा नहीं होने दिया जाएगा। 17 अक्तूबर को जहां चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा वहीं 12 को प्रदर्शन कर सरकार को छात्रों के विरोध का एक छोटा सा उदाहरण पेश किया जाएगा। 
किसानों की सुध ले सरकार- दुष्यंत चौटाला


भिवानी, 11 अक्टूबर: कुछ रोज पहले जिन हरी-भरी फसलों को देख किसान के चेहरे खुशी से खिल उठते थे, आज उन्हीं फसलों को पानी में डूबी देख किसानों की आंखों से आंसू टपक रहे हैं। पिछले दिनों आए तुफान और बैसममी बरसात ने हिसार व आसपास के क्षेत्र में फसलों पर ऐसा कहर बरपाया कि लहलाती फसलें देखते ही देखते धराशायी हो गई। दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी फसलों में कई-कई फुट आज भी खड़ा है। हरी-भरी फसलें पानी में डूब कर पीली पड़ कर गल-सडऩे लगी हैं जिसकी दुर्गधं दूर-दूर आ रही है। बर्बादी की भेंट चढ़ी इन फसलों से प्रभावित किसान आज पूरी तरह से मायूस है और सिने में दर्द छिपाए बैठा है। इन्हीं किसानों का दर्द सांझा करने इनेलो संसदीय दल के नेता दुष्यंत चौटाला किसानों के खेतों में पहुंचे। दुष्यंत चौटाला वीरवार को जिले के गांव मुंढाल सहित कई गांवों के कुदरत से कहर से प्रभावित खेतों में जाकर प्रभावित किसानों से मिले। उन्होंने किसानों से मिल बर्बाद हुई फसलों की जानकारी ली और स्वयं खेतों में जाकर हालातों को देखा। हजारों एकड़ में पानी में डूबी फसलों को देख सांसद दुष्यंत चौटाला की आंखें भी डबडबा आई और उनके मुंह से शब्द निकले....किसान किस आस के सहारे जिंदा रहे। सरकारें किसानों की सुनती नहीं है और भगवान ने भी किसानों से मुंह मोड़ लिया।  हिसार से युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने भाजपा सरकार को किसान विरोधी करार देते हुए सरकार से किसानों की सुद लेने की बात कही है। युवा सांसद ने बारिश के दस दिन बाद भी किसान की पक्की हुई फसलों में पानी खड़ी हैं और अब तक कोई प्रशासनिक अधिकारी इन किसानों की सुध लेने तक नहीं पहुंचा है। इसके लिए सीधे सीधे शासन को जिम्मेदार ठहराते हुए सांसद चौटाला ने कहा कि अगर शासन में बैठे लोग जनता की तकलीफों के प्रति सजग हो तो प्रशासनिक अधिकारी अपने आप सजग हो जाते हैं। आज भाजपा के लोग सत्ता में नशे में डूबे है इसलिए प्रशासन भी लापरवाह हो चुका है। जलभराव से प्रभावित किसानों का दर्द देखकर युवा सांसद का मन भी दर्द में भर आया। उन्होंने सरकार से इन खराब फसलों का मुआवजा जल्द से जल्द किसानों को देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जबसे भाजपा सत्ता में आई है किसान की हालत दिन ब दिन पहले से और खराब होती जा रही है ऊपर से प्रकृति की मार भी झेलनी प? रही है। भाजपा ने सत्ता में आने से पहले किसानों से स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने से लेकर बहुत से लोकलुभावने वायदे किये थे। परन्तु सत्ता में आने के चार वर्षों से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू न करने से भाजपा का किसान विरोधी चेहरा उजागर हो चुका है।
 इस अवसर पर जिला प्रधान सुनील लाम्बा, जाटू खाप प्रधान चौ. राजमल ङ्क्षसह धनाना, जगदीश धनाना, रामफल फौजी, वजीर मान,  चेयरमैन प्रेम धनाना, डीएसपी होश्यार सिंह, मनमोहन भुरटाना, विकास बड़सी, जिला प्रवक्ता राजू मेहरा, सुरेंद्र  राठी, विरेंद्र बापोड़ा, दयाकिशन मुण्ढाल, मंदीप सुई, सेठी धनाना, सचिन जताई, मनीष छिल्लर, ओमी बापोड़ा, रणधीर शर्मा मुण्ढाला, अंकित ढूल, विजय ढूल, विकास तालू, राजबीर तालू, दीपक सिवाड़ा, मैनेजर रामफल जाखड़ा, राज कुमार सरपंच तिगड़ाना, दिनेश नम्बरदार, अत्तर फौजी, सतपाल फौजी, अनिल धनाना, अत्तर धनाना, रमेश शास्त्री, फोर्ड धनाना, शकुंतला स्यानी, सुलोचना पोटलिया, सुमन कुंगड़, बीना सारसर, युवा अध्यक्ष मनोज यादव,  मा. रणधीर सिवाड़ा, पप्पल ठाकुर, कुलवंत कोटिया, रविंद्र पटोदी, जितेंद्र शर्मा, सुरजभान एसडीओ अजीत तिगड़ाना,  आकाश राजपूत तिगड़ाना, उमेद गौरीपुर, सुबेदार राजेंद्र ढाणा, संजय जोगी, अनिल काठपालिया, प्रमोद जोगी, राजेश पूनिया, प्रो. जगमेंद्र सांगवान,   संजय तिगड़ाना , करतार पंघाल, प्रदीप बिधनोई, रिषी पाल फोगाट, प्रदीप गोयल, गोलू मलिक, देवेंद्र नकीपुर, रोहित मोगली, अजय दलाल, संदीप चौधरी, मोटू लुहारू, राजेंद्र कस्वा, प्रदीप तालू, माईराम खटीक, मंदीप घनघस, विरेंद्र बापोड़ा, पवन फौजी, शिव कुमार खरक, बिटटू शर्मा, जितेंद्र शर्मा रेवाड़ीखेड़ा, रवि आर्य, दीपक रिवाड़ीखेड़ा, जोनी खरक, रविंद्र जमालपुर, मनजीत नाथुवास, कृष्ण फोगाट, आजाद गिल, विकास तालू, संजय कारखल, आशिष निमड़ी, विक्रम, अशोक सिहाग, लाला बापोड़ा, आसू वाल्मीकि, रमन नौरंगाबाद, दीपक सिवाड़ा, दीपक राठौर, भौम सिंह, सूरज मलिक, विशाल सांगवान, मनोज खानक, अंकित तालू, प्रमिंद्र सांगवान, मनीष राणा, अशोक बिडलान अधिवक्ता, संजय शर्मा, संदीप शर्मा सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने किए संगठानात्मक बदलाव


चंडीगढ़, 11 अक्तूबर: पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने कुछ संगठानात्मक बदलाव करते हुए किसान सैल के दायित्व से पूर्व विधायक निशान सिंह को मुक्त करते हुए उनके स्थान पर पूर्व विधायक कली राम को नियुक्त किया है। कर्मचारी सैल में भी बदलाव करते हुए पूर्व संयोजक धारा सिंह को अब कर्मचारी सैल का प्रभारी नियुक्त किया है और उनके स्थान पर संयोजक का दायित्व बलवीर सिंह को दिया गया है। एक नए सैल का गठन करते हुए मेडिकल सैल का संयोजक डा. के सी काजल को बनाया गया है। हिसार और दादरी जिले की पार्टी ईकाईयों में भी बदलाव लाते हुए हिसार में राजेंद्र लितानी के स्थान पर सतवीर सिसाय को जिला प्रधान नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार दादरी में नरेश द्वारका के स्थान पर अब विजय पंचगांवा को जिला प्रधान नियुक्त किया गया है। चौधरी ओम प्रकाश चौटाला ने नेशनल बॉडी के पदाधिकारियों में भी बदलाव किए हैं। वे स्वयं राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंगे और अनंत राम तंवर, साधु राम चौधरी, नारायण प्रसाद अग्रवाल, कुमारी फूलवती, अश्वनी दत्ता और रामभगत गुप्ता उपाध्यक्ष घोषित किए गए हैं। आर एस चौधरी आईएएस सेवानिवृत पार्टी के सेके्रटरी जनरल के पद पर रहेंगे जबकि रमेश गर्ग, बृज शर्मा और पूर्व सांसद कैप्टन इंद्र सिंह जनरल सेक्रेटरी का पदभार संभालेंगे। युद्धवीर आर्य पूर्व सदस्य हरियाणा लोकसेवा आयोग, चत्तर सिंह पूर्व सदस्य लोकसेवा आयोग, बलवंत सिंह मायना पूर्व विधायक, सुरेश मित्तल और अशोक शेरवाल सचिवों का पदभार संभालेंगे। डा. के सी बांगड़ पूर्व अध्यक्ष लोकसेवा आयोग राष्ट्रीय प्रवक्ता होंगे और दीपचंद गोयल पार्टी के खजांची बनेंगे। सभी सांसद, हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष और राज्य के पार्टी अध्यक्ष अपने पदों के दायित्व के आधार पर राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य होंगे। इनेलो सुप्रीमो ने पार्लियामेंट्री बोर्ड में भी फेरबदल किया है। नंदलाल चौधरी के निधन होने के कारण बोर्ड के चेयरमैन ओमप्रकाश चौटाला के अलावा अब चार सदस्य अशोक अरोड़ा, बीडी डालिया, अंजु सिंह और कमल नागपाल होंगे।

Tuesday, October 9, 2018

हरियाणा में हों प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव: छात्र संघर्ष समिति


रोहतक : देश के अन्य राज्यों में प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव हो रहे हैं तो हरियाण में क्यों नहीं यदि सरकार ने छात्र संगठनों को रोकने की कोशिश की तो आने वाले समय में भाजपा को छात्र संगठनों की तरफ से मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं को गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले बताए गए हैं लेकिन आज वो गरीबों की नहीं सुन रहे हैं। यदि प्रधानमंत्री सच में गरीब के बच्चों का भला चाहते है तो हरियाणा प्रदेश के अंदर प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव बहाल कराने का आदेश हरियाणा सरकार को दें ताकि किसान, गरीब, दलित, पिछड़ों  का बच्चा भी देश में अपने अधिकार प्राप्त कर सके। यह बात इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिगिवजय सिंह चौटाला ने आज यहां छात्रों को सम्बोधित करते हुए कही। प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव की मांग को लेकर आज एबीवीपी को छोडक़र सभी छात्र संगठन एक मंच पर आए और जब छात्र संगठनों के प्रतिनिधि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम ज्ञापन सौंपने गए तो उन्हें मस्तनाथ यूनिवर्सिटी के पास पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। छात्र संगठनों के आंदोलन को देखकर प्रशासन ने भारी पुलिस बल का प्रयोग किया लेकिन छात्र अपनी मांगों को मनवाने का मन बना चुके थे। इनसो नेता ने कहा कि 22 साल बाद प्रदेश के छात्रों को उम्मीद की किरण नजर आई थी जिसे भाजपा पूरी करने में आनाकानी कर रही है। भाजपा को अपने घोषणा-पत्र में दोबारा से देख प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव को करवाने को याद करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सांपला में प्रधानमंत्री ने दीनबन्धु सर छोटू राम की प्रतिमा का अनावरण किया है तो उन्हें किसान, गरीब, दलित व पिछड़े के बच्चों के हकों के बारे में भी सोचना चाहिए। वहीं उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से बार-बार पत्र जारी होता है जिसमें 17 अक्तूबर को हरियाणा में चुनाव करवाने की बात कही गई है। यदि सरकार अप्रत्यक्ष चुनाव की सोच रही है तो इस बारे में सोचना बंद कर दें। क्योंकि एबीवीपी को छोडकऱ सभी छात्र संगठन प्रत्यक्ष संघ चुनाव के पक्ष में है। आज रोहतक में सरकार को छात्र हितों को ध्यान में रखते हुए एसएफआई के प्रदेशाध्यक्ष शहनवाज हुसैन, एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव प्रदीप घनघस, इनसो के प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल ने छात्र हितों को ध्यान में रखते हुए अपने आंदोलन को ओर तेज किया। पांच बसों में प्रशासन के द्वारा छात्रों को भरकर सुनारिया जेल के पास ले जाया गया।
                                                                       

इस अवसर पर एसएफआई के शहनवाज हुसैन ने कहा कि आज भाजपा लोकतांत्रिक प्रणाली को दबाना चाहती है भाजपा सरकार छात्रों के संघर्ष से डरी हुई है इसलिए जब छात्र संगठन अपनी मांगों को लेकर सरकार के नुमाईदों के पास जाते हैं तो सरकार भारी पुलिस बल का प्रयोग करती है। उन्होंने कहा कि वो अपना हक मांग रहे हैं जो जायज है यदि प्रदेश के अंदर छात्र संघ चुनाव होंगे तो छात्र हितों को ध्यान में रखते हुए छात्र अपनी जायज मांगोंं को भी उठा पाएंगे और ठीक से पढ़ाई कर सकेंगे। वहीं आने वाले समय में प्रदेश को अच्छे राजनैतिक साथी मिलेंगे। एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव प्रदीप घनघस और इनसो प्रदेशाध्यक्ष प्रदीप देशवाल ने कहा कि एक तरफ तो सरकार छात्र हितैषी होने का ढकोसला रचती है वहीं धरातल पर आलम यह है कि छात्रों की जायज मांगों को ही पूरा नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब निर्णायक समय है एबीवीपी को छोडकऱ सभी छात्र संगठन एक मंच पर आ चुके हैं। छात्र अपनी मांगों को मनवाकर ही दम लेंगे। उन्होंने कहा कि आज तो केवल मात्र ज्ञापन देने के लिए छात्रों को बुलाया गया था यदि सरकार प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव बहाल नहीं करेगी तो आने वाले समय में भाजपा सरकार को इसका परिणाम भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान में साफ-साफ शब्दों में लिखा है कि अपने अधिकार के लिए आवाज उठना कोई बुरी बात नहीं है। इसलिए भाजपा को जल्द से जल्द छात्रों की आवाज को सुनना चाहिए और प्रदेश के अंदर छात्र संघ चुनाव बहाल करवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश के अंदर छात्र संघ चुनाव बहाल नहीं होंगे तो 12 अक्तूबर को सभी कॉलेजों व यूनिवर्सिटियों पर ताला जड़ा जाऐगा। प्रदर्शन में मुख्य रूप से इनेसा के बलराम मकडोली, सुमित एसएफआई, सुरेंद्र एसएफआई, पंकज एनएसयूआई, विशाल एनएसयूआई, प्रवीण एसएफआई, गुरजीत एसएफआई, अमित एसएफआई, देवेंद्र एनएसयूआई, अमित माजरा इनसो, रवि रेडडू इनसो, प्रदीप शर्मा, अनिल ढुल, कुलदीप राठी इनसो व राजू मेहरा प्रवक्ता सहित अनेक लोग उपस्थित थे।
ऐतिहासिक रैली से विरोधी दलों के होश फाख्ता, जनता का आभार-दुष्यंत चौटाला 


हिसार: इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गोहाना में चौ. देवीलाल जयंती पर हुई इनेलो की रैली भीड़ की दृष्टि से अब तक सबसे बड़ी रैली रही और विरोधियों के होश फाख्ता हो गए हैं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए प्रदेश की जनता का आभार व्यक्त किया है और उन्हें बधाई दी है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं जिन्होंने इस रैली के लिए कड़ी मेहनत की और उनकी मेहनत  रंग लाई। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि गोहाना रैली ने हरियाणा के भविष्य की राजनीति की दिशा और दशा तक कर दी है और हरियाणा से भाजपा का सफाया होना तय है। उन्होंने कहा कि लाखों लोगों ने इस रैली में पहुंच कर जो अपना समर्थन व प्यार दिया उससे साबित कर दिया कि प्रदेश की जनता इनेलो-बसपा को सत्ता में देखना चाहती है। इनेलो सांसद ने कहा कि किसान, कमेरा, मजदूर, सहित युवा वर्ग ने इस रैली में अपनी भागीदारी की और इनेलो-बसपा गठबंधन में अपना विश्वास जताया। 
जन नायक चौ. देवीलाल के 105वें जन्म दिवस पर आयोजित सम्मान समारोह में लाखों की संख्या में पहुंचे लोग

                               
 

जन नायक चौ. देवीलाल के 105 वें जन्म दिवस पर सम्मान समारोह मे लाखोें की भीड. को सम्बोधित करते हुए इनलो सुप्रिमोे चौ. औम प्रकाश चैटाला ने कहा की साजिश के तहत जेल भेजे जाने के बाद न तो वो टूटे है ओर न झुके है। उनकी आज भी चौ. देवी लाल के सिद्वांतों में वैसी ही आस्था है जैसी पहले थी। इसलिए उनके सपनो को साकार करने के लिए चुनाव मे इनेलो की सफलता आवयश्यक है ताकि जन कल्याण की योजनाओं को लागू किया जा सके। इस लक्ष्य को सामने रखते हुए उन्होने कहा की कोई भी चुनावी जंग अनुशासन के बिना नहीं जीती जा सकती और निकट भविष्य में लोकसभा व विधानसभा के चुनाव आने वाले हैं। इसलिए उन्होने सगंठन को मजबूत करने की अपील करते हुए कहा कि इनेलो की पहचान उसके अनुशासन से है और चेतावनी देते हुए कहा कि जो कार्यकरता चौ. देवी लाल के सपनों को साकार करने के लिए अडचन बनने के लिए अनुशासनहीनता करतेे हैं उन पर अनुशासनाकत्मक कार्यवाही करते हुए पार्टी से बाहर निकाला जाएगा। 
इस दिशा मे कदम बढाते हुए चौधरी औमप्रकाश चैटाला ने कहा कि आने वाले कुछ दिनो मे पार्टी कार्यकारिणी की बैठक होगी। जिसमे कुछ नये पदाधिकारियों को नियुक्त किया जायेगा और आवश्यकता पडी तो चुनावों और अनुशासन को नजर मे रखते हुए कार्यवाही भी की जायेगी। इनेलो सुप्रीमो ने याद दिलाया कि चौधरी देवी लाल जनकल्याण की योजनाओं को लागू करने में आगे रहे हैं। वे यह चाहते थे कि देश के सभी लोगों को अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधा प्राप्त हो क्योकि इन्हें प्रदान करना सरकार का दायित्व है जिसको निभाने मे वर्तमान सरकार विफल रही है। इसलिए उन्होने घोषणा की कि चौ. देवी लाल ट्रस्ट के जरीये स्कूल व हस्पतालों का निमार्ण करवाया जायेगा। वहीं जन नायक चौ. देवी लाल की परम्परा को आगे बढाते हुए उन्होने यह भी घोषणा की कि सता मे आते ही बुजुर्गो को सम्मान के तोर पर बुढापा पैंशन तीन हजार प्रति माह दी जाएगी।
                                                                         

सम्मान दिवस के अवसर पर बोलते हुए नेता विपक्ष चौ. अभय सिहं चैटाला ने दोहराया कि इनेलो-बसपा गठबन्धन की सरकार बनने के बाद हर परिवार को एक सरकारी नोकरी, पढे लिखे युवाओ को 15000रू बेरोजगारी भत्ता दिया जायेगा ओर किसानो व कमेरे कर्ज माफ किये जायेंगे साथ ही बिजली के बिल भी आधे कियें जायेंगे। इनेलो प्रदेशाघ्यक्ष अशोक अरोडा ने कहा कि आने वाली सरकार इनेलो बसपा गठबन्धन की है जिससे विरोधी दल घबराये हुए हैं और गठबंधन के बारे में अटकलें लगाते रहते हैं। प्रदेशाध्यक्ष ने पटोदी से पूर्व विधायक व भाजपा नेता रामबीर सिहं पटोदी द्वारा इनेलो की नीतियो मे आस्था व्यक्त करने पर बधाई देते हुए इनेलो मे शामिल किया। जन नायक के सम्मान समारोह के दिवस पर बोलते हुए बसपा उतर भारत के प्रभारी डा.मेघराज ने कहा की भाजपा ने जहां देश को हिन्दु मुस्लिम के नाम पर बांटा वही हरियाणा प्रदेश को 35 जात व 36 जात का नारा देकर भाईचारे को खत्म करने का काम किया है। इस अवसर पर बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा की रैली में लाखों की भीडने इस बात पर मोहर लगा दी है कि आने बाले चुनावों मे जीत दर्ज कर बहन मायावती देश की प्रधानमन्त्री की कमान सम्भालेगी ओर वहीं प्रदेश मे इनेलो-बसपा सरकार बनाएगी। रैली में मुख्य रूप से इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चैटाला, विशेष अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री गुजरात शंकर सिंह वघेला, बसपा उत्तर भारत प्रभारी डा मेघराज, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, पूर्व स्पीकर गोपीचंद गहलोत, उपनेता विपक्ष जसविंदर संधू, रामपाल माजरा, एमपी दुष्यंत चैटाला, केसी बांगड, प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय सहित कई वरिष्ठ इनेलो-बसपा नेता शामिल थे।
चंडीगढ़ में हरियाणा का हिस्सा कम करने के विरोध में दुष्यंत ने प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी 


हरियाणा के साथ चंडीगढ़ को लेकर पहले ही हो रहा है भेदभाव, नए नोटिफिकेशन से हरियाणा के हितों का होगा नुकसान-दुष्यंत चौटाला
केंद्र सरकार द्वारा चंडीगढ़ पुलिस प्रशासन में हरियाणा का हिस्सा कम करने को लेकर जारी किए गए नोटिफिकेशन का इनेलो संसदीय दल के नेता हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कड़ा ऐतराज जताया है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने इस नोटिफिकेशन के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है और इस नोटिफिकेशन को तुरंत प्रभाव से वापस लेने की मांग की है। केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय ने 25 सितंबर को एक चिट्ठी जारी की थी जिसमें केंद्र शासित प्रदेशों में पुलिस विभाग में नियुक्ति पाने वाले उच्च अधिकारियों के सेवा व नियुक्ति नियमों में फेरबदल किया गया है यानिकि अब केंद्र सरकार केंद्र शासित प्रदेशों में पुलिस विभाग में आला अधिकारियों की नियुक्ति का अधिकार अधिक हो जाएगा। इस नोटिफिकेशन में किए गए पुलिस सर्विस रूल के बदलाव का असर केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ पर भी पड़ेगा और हरियाणा कैडर से नियुक्ति पाने वाले पुलिस अधिकारियों का अनुपात चंडीगढ़ में कम हो जाएगा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि चंडीगढ़ हरियाणा की राजधानी है और लौगोंवाल समझौते के तहत चंडीगढ़ प्रशासन में पंजाब व हरियाणा का अनुपात 60:40 है। इस अनुपात के तहत ही हरियाणा अपने हिस्से के अधिकारियों की नियुक्ति चंडीगढ़ में करने का अधिकार रखता है परन्तु केंद्र सरकार के नए नोटिफिकेशन के मुताबिक अब चंडीगढ़ पुलिस विभाग में हरियाणा कैडर के अधिकारियों की नियुक्ति का हिस्सा कम हो जाएगा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि चंडीगढ़ को प्रदेश के अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में की श्रेणी में शामिल नहीं किया जाना चाहिए क्यों कि यह हरियाणा के साथ साथ पंजाब की राजधानी भी है। युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नए नोटिफिकेशन से हरियाणा के हितों पर दोहरी मार पडऩे जा रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा को चंडीगढ़ में पहले भी हिस्सा कम मिला हुआ है और 60:40 का अनुपात होना हरियाणा के साथ शुरू से ही भेदभाव है। उन्होंने कहा कि यदि केंद्र सरकार इस नोटिफिकेशन को लागू करती है तो चंडीगढ़ पुलिस प्रशासन में एक बार फिर से हरियाणा के अधिकारों का हनन होगा।

रोजगार की मांग को लेकर दुष्यंत पहुंचे राजभवन
सरकार ने समाधान नहीं निकाला तो 9 अक्तूबर से सरकार की पोल खोलेंगे घर-घर जाकर: दुष्यंत



चंडीगढ़ :प्रदेश भर के युवाओं को रोजगार दिलाने की मांग को लेकर हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला सोमवार को राजभवन पहुंचे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने महामहिम राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को हरियाणा की युवाओं की तरफ से एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में सांसद ने महामहिम को बताया कि प्रदेश की भाजपा सरकार अपने चुनावी घोषणा पत्र से मुंह मोड़ रही है। उन्होंने बताया कि चुनावी घोषणा पत्र में युवाओं को रोजगार देने की बात कही गई थी लेकिन युवाओं से फार्म तो भरवा लिए लेकिन उन्हें नौकरी नहीं दी गई। सांसद ने यह भी कहा कि अन्य प्रदेशों की तरह हरियाणा में स्थित प्राइवेट कंपनियों में हरियाणा के युवाओं के लिए 50 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित की जाएं। सांसद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि महामहिम ने भरोसा दिलाया है कि वे इस पर जरूर कार्रवाई करेंगे। महामहिम को ज्ञापन सौंपने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि रोजगार देने की दिशा में ठोस कदम उठाने के लिए उन्होंने 6 सितम्बर को गुरुग्राम में हजारों युवाओं के साथ प्रदर्शन कर जिला उपायुक्त को ज्ञापन देकर सरकार को चेताया था। साथ ही सरकार को चेतावनी भी दी थी कि अगर 2 अक्टूबर तक सरकार ने युवाओं की नौकरियों के लिए कोई ठोस रणनीति नहीं बनाई तो वे प्रदेश स्तर पर इस मुहिम को लेकर जाएंगे। सांसद ने कहा कि इसी कड़ी में आज महामहिम को ज्ञापन देने आए थे। महामहिम ने बड़ी गौर से युवाओं की बात सुनी और भरोसा दिलाया है कि वे इस संबंध में आवश्यक जरूरी कदम उठाएंगे। दुष्यंत ने कहा कि प्रदेश के युवा सरकार से कोई खैरात नहीं मांग रहे हैं बल्कि रोजगार हर युवा का अधिकार है और युवा अपना अधिकार मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं के लिए रोजगार का प्रबंध करेे अन्यथा वह सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगे। दुष्यंत चौटाला ने सरकार से सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों पर युवाओं की नियमित भर्ती करने, हरियाणा की जमीन पर स्थापित होने वाली निजी कंपनियों में प्रदेश के युवाओं के लिए 50 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित करने सहित अन्य मांगें की। सांसद ने कहा कि अगर 9 अक्तूबर तक सरकार नहीं चेती तो युवा इनेलो के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता गांव-गांव गली-गली जाकर सरकार की पोल खोलेंगे। एक सवाल के जवाब में इनेलो सांसद ने कहा कि भाजपा सरकार ने युवाओं को रोजगार के नाम पर धोखा दिया है। भाजपा ने सत्ता में आने से पूर्व लाखों युवाओं को रोजगार देने का वायदा किया था। परन्तु सत्ता में आने के बाद भाजपा युवाओं को रोजगार देने में पूरी तरह से फेल रही है। इनेलो सांसद ने कहा कि सरकार ने तो बेरोजगारों को छह व नौ हजार रूपये बेरोजगारी भत्ता देने के वायदे से मुकर गई है। सांसद चौटाला ने सरकारी आंकड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों में सरकार ने आवेदनों के नाम पर करोड़ों रूपये से सरकारी खजाना तो भर लिया परन्तु एचपीएससी के माध्यम से रोजगार केवल 209 युवकों को ही मिला। सांसद दुष्यंत ने कहा कि हरियाणा के अकेले गुरुग्राम जिले में ही निजी कंपनियों में लाखों युवाओं के रोजगार हैं। इन कंपनियों को सडक़ें, जमीन, बिजली-पानी हरियाणा से मिलता है और रोजगार किसी अन्य राज्यों के युवाओं को दिया जाता है। उन्होंने सरकार से मांग की कि इसके लिए कानून बनाए कि प्रदेश में लगने वाले हर कंपनी में प्रदेश के युवाओं के लिए 50 प्रतिशत रोजगार आरक्षित हो। इस दौरान पूर्व डीजीपी एमएस  मलिक, पूर्व युवा प्रदेशाध्यक्ष सुमित राणा, पूर्व युवा प्रदेश प्रभारी गुरविंद्र तेजली, अमित बूरा, अरविंद भारद्वाज, नितिन जांगू, सुरेंद्र धोला, भीम सिंह, सोनू पंचकूला, अमरेंद्र सोंटा , विक्रम हड़तान, अमनदीप चावला, अनिल गुज्जर, बलराज नोच, कुणाल गहलावत, विनोद भारद्वाज, प्रवीन डुडी, सतीश राघव, विजय भुरथला, मनोज, रविंद्र गागड़वास, मनोज यादव, काला नंबरदार, अजायब ओला, अजय संधू, उपेंद्र कादियान, अनुराग खटकड़ तथा बिट्टू नैन सहित युवा इनेलो के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Thursday, October 4, 2018

इनेलो सांसद दुष्यंत का भाजपा को चैलेंज, सम्मान दिवस रैली से ज्यादा भीड़ जुटा कर दिखाएं पीएम


फतेहाबाद: देश के सबसे युवा सांसद एवं इनेलो के युवा शीर्ष नेता दुष्यंत चौटाला देर शाम फतेहाबाद स्थित लोक निर्माण विश्राम गृह में कार्यकर्त्ताओं से रूबरू होने पहुंचे। इस दौरान पार्टी कार्यकर्त्ताओं व पदाधिकारियों से उन्होंने संगठन मजबूती, रोजगार मेरा अधिकार जैसे अभियानों बारे विस्तार से चर्चा की। साथ ही मीडियाकर्मियों को भी संबोधित किया। यहां पहुंचने पर युवा जिलाध्यक्ष अजय संधू, पूर्व युवा जिलाध्यक्ष राकेश सिहाग, इनसो जिला प्रधान जतिन खिलेरी, युवा शहरी प्रधान विकास मेहता, जसपाल संधू, रवि गढ़वाल, रमेश लाली, एडवोकेट राजेश शर्मा, बंटी बरसीन, यश तनेजा, गुरदीप बग्गा, जसविन्द्र हांसपुर आदि ने स्वागत किया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए दुष्यंत चौटाला ने भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी को चैलेंज दिया कि यदि सीएम मनोहर लाल प्रदेश में अपनी पार्टी के मजबूत होने का दंभ भरते हैं तो वे जननायक देवीलाल के गोहाना में होने वाले सम्मान दिवस जयंती समारोह से ज्यादा भीड़ उसी गोहाना मैदान पर पीएम मोदी की रैली करके दिखाएं। उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि गोहाना के मैदान में इनेलो ने टैंट भी लगवाया है, स्टेज भी बनवाया है, 7 को इनेलो के प्रति जनता अपना स्नेह दिखाएगी, 9 को पीएम मोदी इसी मैदान पर आकर भीड़ जुटा कर दिखाएं। एनजीटी द्वारा एनसीआर इलाकों में दस साल पुराने ट्रैक्टर, ट्यूबवेल मोटर पर बैन की भी सांसद दुष्यंत चौटाला ने कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने यह निर्णय वापस नहीं लिया तो वे विंटर सेशन के पहले दिन एक बार फिर संसद में 11 साल पुराना ट्रेक्टर ले कर जाएंगे, सरकार में दम है तो रोक कर दिखाए। उन्होंने कहा कि हरियाणा का 57 प्रतिशत के करीब हिस्सा एनसीआर में आता है और आज किसान की हालत ऐसी है कि उसके पास पुराना ट्रेक्टर लेने तक के पैसे नहीं है, ऐसे में यह निर्णय देना सरकार का तुगलकी फरमान है। किसानों पर दिल्ली में हुए लाठीचार्ज की भी उन्होंने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए इसे देश के इतिहास में गांधी जंयती का सबसे काला दिन करार दिया। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो पीएम मोदी लोगों को गांधी जी के अहिंसा का पाठ पढ़ा रहे थे, वहीं दूसरी तरफ दिल्ली में इसी गांधी जंयती पर सरकार किसानों की आवाज को रबर बुलेट, लाठियों और आंसू गैंस के गोलों के साथ दबाने का ओछा हथकंडा अपना रही थी। टोहाना विधायक निशान सिंह की नाराजगी मामले पर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि वे हमारे परिवार का अभिन्न हिस्सा है और उनको मनाना हमारी जिम्मेवारी बनती है। हम जल्द उनको मना लेंगे। सफाई कर्मियों की हड़ताल का समर्थन करते हुए सांसद चौटाला ने कहा कि 6 माह पूर्व भी भाजपा सरकार ने कर्मियों को वायदों का लॉलीपॉप देकर हड़ताल खत्म करवाई थी, लेकिन अब जगजाहिर है कि भाजपा सरकार के पास सिवाय झूठे वायदों के कुछ नहीं है। इनेलो मांग करती आ रही है कि इन कर्मियों के साथ-साथ हर विभाग के कच्चे कर्मियों को स्थाई रूप में भर्ती किया जाए। उन्होंने दावा किया कि बेरोजगारी मुद्दे पर भी युवा इनेलो घर-घर जाएगी, युवाओं को जाग्रत करके उन्हें सही राह दिखाएगी। इस अवसर पर पूर्व एमएलए रणसिंह बैनीवाल, राजेन्द्र सूरा, भरतसिंह परिहार, रवि लांबा, गुरविन्द्र संधू, दीपक मेहता, इनेलो प्रवक्ता प्रमोद बजाज आदि उपस्थित थे।
उचाना के लाला लाजपतराय पार्क में जिम न लगाने का मामला


जींद: हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला वीरवार को जिले की विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में बेहद आक्रामक नजर आए। सांसद दुष्यंत ने न केवल अधिकारियों की क्लास लगाई बल्कि ग्रांट का सदुपयोग न करने पर जिला खेल अधिकारी तथा उचाना नगर पालिका सचिव के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दे दिए। मुकदमा दर्ज के आदेश देते ही जो खेल अधिकारी हिसार में होने की बात कर रही थी, वह सात मिनट बाद ही बैठक में पहुंच कर सफाई देने लगी। किसानों को फसल बीमा का क्लेम न मिलने पर बीमा कंपनियों को जहां झाड़ पिलाई वहीं जिला उपायुक्त को स्पेशल गिरदावरी करवाने के लिए सरकार को लिखने को कहा। दरअसल सांसद दुष्यंत चौटाला इस मीटिंग की सह-अध्यक्षता कर रहे थे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने मीटिंग के दौरान नगरपालिका उचाना के सचिव से यह पूछा की उनके द्वारा 3 जनवरी 2018 को लाला लाजपतराय पार्क में ओपन जिम के लिए ढाई लाख रूपये की राशि जारी की थी, आज तक जिम क्यों नहीं लगा। पहले तो नगर पालिका सचिव कहने लगा कि उस पार्क में पालिका की बिल्डिंग प्रस्तावित है। सांसद ने जब कहा कि बिल्डिंग के कागज दिखाओ तो कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाया। मामला बिगड़ता देख नगर पालिका सचिव ने जिला खेल अधिकारी के पाले में गेंद डाल दी और कहा कि खेल अधिकारी आज हिसार हैं और उनके आने के बाद स्टेटस पता कर बता दिया जाएगा। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जिला खेल अधिकारी एवं नगर पालिका सचिव राजनीतिक दबाव के चलते उस पार्क में जिम नहीं लगवाना चाहते। सांसद दुष्यंत चौटाला ने वहीं मौके पर ही डीएसपी को बुलाया और दोनों अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की लिखित में शिकायत दी। शिकायत देने के सात मिनट बाद ही जिला खेल अधिकारी मीटिंग में पहुंच गई तथा मामले में सफाई देने लगी। 
दुष्यंत चौटाला ने उचाना के पंडित नेकीराम शर्मा विचार मंच एवं ब्रहाम्ण धर्मशाला के लिए जारी किए गए 15.77 लाख रूपये खर्च करने में आनाकानी करने पर पंचायती राज विभाग के अधिकारी को लताड़ लगाई और कहा कि जब आपके विभाग ने पहले ही एस्टीमेट मांगकर ग्रांट मंगवा रखी है तो अब दोबारा उसी काम का एस्टीमेट क्यों मांगा जा रहा है। इस पर विभाग का अधिकारी कोई जवाब नहीं दे पाया और कहा कि जल्द ही वह काम को पूरा कर देंगे। सांसद ने फसल बीमा कंपनी के प्रतिनिधि से जब पूछा की अभी तक रबी 2017 का मुआवजा किसानों को क्यों नहीं मिला तो प्रतिनिधि कोई जवाब नहीं दे पाया। सांसद ने निर्देश दिए कि तुरंत किसानों का क्लेम दिया जाए, नहीं तो वह कंपनी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। सांसद ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को यह निर्देश दिए की जिन गांवों में पानी खड़ा है, वहां तुरंत पंप लगाकर पानी निकाला जाए। दुष्यंत ने जिला उपायुक्त को भी कहा कि बारिश के कारण कुछ क्षेत्र में फसल 70 प्रतिशत से भी ज्यादा खराब हो गई है उसकी स्पेशल गिरदावरी के लिए सरकार को लिखें। मीटिंग में सांसद ने यह भी खुलासा किया कि सरकार स्पेशल गिरदावरी नहीं करवा रही बल्कि रूटिन की गिरदावरी करवा रही है। इस गिरदावरी में उन किसानों को कोई फायदा नहीं मिलेगा जिन्होंने फसल का बीमा करवा रखा है। बीमा कंपनी बारिश में हुए नुकसान का क्लेम नहीं देगी। जिसके चलते किसान को न तो सरकार से और न ही बीमा कंपनी से कोई क्लेम मिलेगा। 
सासंद चौटाला ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए कि भविष्य में किसी भी वृद्ध की पेंशन अगर बैंक लोन की ऐवज में काट रहा है तो तुरंत उस बैंक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाएं, क्योंकि चौधरी देवीलाल द्वारा शुरू की गई बुढ़ापा पेंशन को रोकने का अधिकार किसी को नहीं है। जिला समाज कल्याण अधिकारी ने भी माना कि कुछ बैंक अधिकारी बुढ़ापा पेंशन को लोन में एडजस्ट कर रहे हैं। जींद शहर में बारिश से हुए जलभराव पर कटाक्ष करते हुए सांसद ने कहा कि मेरे घर की तो छोड़ो कम से कम केंद्रीय मंत्री के घर के सामने खड़े हुए घुटनों तक पानी का समाधान तो करवा दो। मीटिंग में सोनीपत से सांसद रमेश कौशिक, विधायक परमेंद्र सिंह ढुल, विधायक पिरथी नंबरदार, डीसी अमित खत्री सहित कई विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
नहीं होने देंगे अप्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव- छात्र संघर्ष समिति


चंडीगढ़, 4 अक्तूबर: छात्र संघ चुनाव को लेकर इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि इनसो प्रत्यक्ष चुनाव के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं करेगी। एमएलए होस्टल में हुई सर्वदलीय छात्र संगठनों की बैठक में यह भी फैसला लिया गया कि यदि सरकार छात्रों की प्रत्यक्ष चुनाव की मांग को नहीं मानती तो 12 अक्तूबर को होने वाले छात्र संघ चुनाव का विरोध करेंगे। बैठक के बाद प्रेसवार्ता में भाग लेते हुए दिग्विजय चौटाला ने यह भी कहा कि सरकार का अप्रत्यक्ष चुनाव पर अडिय़ल रवैया अलोकतांत्रिक व छात्र हितों की अनदेखी करने वाला है इसलिए प्रत्यक्ष चुनाव संघर्ष समिति आगामी 9 तारीख को प्रधानमंत्री को भी ज्ञापन सौंपेगी। उन्होंने प्रदेशभर के छात्रों का आह्वान करते हुए कहा कि एक सोच और एक विचारधारा के लोग सरकार के इस अन्याय का विरोध करें। कमेटी के संयोजक और एसएफआई के प्रदेशाध्यक्ष शहनवाज ने कहा कि सरकार द्वारा अप्रत्यक्ष चुनाव करवाना कहीं न कहीं उसकी मंशा पर सवाल खड़े करता है क्योंकि प्रदेश में उसकी छात्र इकाई एबीवीपी का छात्रों में कोई आधार नहीं है और सरकार अप्रत्यक्ष चुनाव व प्रशासनिक सहायता के माध्यम से उसको जीताना चाहती है। लेकिन प्रदेश का युवा ऐसा नहीं होने देगा। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा के विरुद्ध 8 व 9 अक्तूबर को सभी विश्वविद्यालयों व कॉलेजो में हड़ताल कर विरोध प्रदर्शन करेंगे।
बैठक में एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष दिवांशु बुद्धिराजा ने भी सरकार नीयत पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि सरकार छात्र को चुनावों को भी खरीद-फरोख्त का अड्डा बनाना चाहती है। बुद्धिराजा ने दो टूक शब्दों में कहा कि सरकार की मनमानी को नहीं चलने दिया जाएगा और 12 तारीख को होने वाले अप्रत्यक्ष चुनावों को रोकने के लिए छात्र संगठन हर संघर्ष के लिए तैयार हैं। प्रत्यक्ष चुनाव संघर्ष कमेटी के बैनर तले हुई इस बैठक में भाजपा की छात्र इकाई एबीवीपी को छोडक़र प्रदेश के सभी बड़े छात्र संगठन शामिल हुए। इनसो की ओर से दिग्विजय चौटाला, शहनवाज एसएफआई, दिवाशुं बुद्धिराजा एनएसयूआई, अमन रतिया एआईएसए, सुमित चौधरी जीबीएसओ, मंजीत एचएसयू और उमेश कुमार एआईडीएसओ सहित कई छोटे छात्र संगठनों के नेता भी शामिल थे।
थानेसर में अशोक अरोड़ा ने स्वयं संभाली कमान, कार्यकर्ताओं की लगाई ड्यूटियां


कुरुक्षेत्र, 4 अक्तूबर : 7 अक्तूबर को जननायक देवीलाल की जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित सम्मान दिवस रैली में अधिक से अधिक भीड़ जुटाने के लिए इनेलो-बसपा गठबंधन के नेताओं ने पूरी ताकत झोंक दी है। थानेसर की कमान पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने स्वयं संभाली हुई है। रैली में भीड़ को ले जाने के लिए आज पंजाबी धर्मशाला में दोनों दलों के हलका थानेसर की कार्यकर्ता बैठक में अरोड़ा ने ड्यूटियां लगाई और प्रत्येक कार्यकर्ता को लोगों से संपर्क करके रैली में जाने के लिए निमंत्रण देने को कहा। 
अशोक अरोड़ा ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह रैली एक ऐतिहासिक रैली होगी। इस रैली के पश्चात भाजपा और कांग्रेस की चूलें हिल जाएंगी तथा प्रदेश की राजनीति में हलचल होने की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इस रैली को इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला संबोधित करेंगे। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने दिल्ली सीमा पर किसानों पर किए गए लाठीचार्ज की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि भाजपा बौखला गई है। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की बजाए किसानों पर लाठियां बरसाई जा रही हैं और अश्रु गैस के गोले छोड़ जा रहे हैं। उन्होनं भाजपा को किसान और मजदूर विरोधी बताते हुए पूंजीपतियों का समर्थक बताया। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने हरियाणा सरकार से मांग की कि बेमौसमी बरसात के कारण धान की फसल का झाड़ कम होने से किसानों को जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई करने के लिए किसानों को धान की फसल पर 300 रुपये प्रति किंवटल बोनस दे। इसी के साथ-साथ जिन किसानों की फसल खराब हो गई है उन्हें 25 हजार रुपये प्रति एकड़ का मुआवजा दिया जाए। 
प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था पर कड़ी टिप्पणी करते हुए अशोक अरोड़ा ने कहा कि आज बेटियां न तो घर में सुरक्षित हैं और नही घर के बाहर। हरियाणा में प्रतिदिन सामुहिक बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। प्रदेश अपराधियों की शरणस्थली बन चुका है। उन्होंने मुख्यमंत्री को सलाह दी कि वे राहगिरी जैसे कार्यक्रमों में गिल्ली डंडा खेलने के बजाए प्रदेश की कानून व्यवस्था पर ध्यान दें। प्रदेश के कर्मचारी आन्दोलन की राह पर हैं। हर वर्ग का भाजपा सरकार से विश्वास उठ चुका है। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनावों में देश और प्रदेश से भाजपा का सुपड़ा साफ होगा। चौ. ओम प्रकाश चौटाला मुख्यमंत्री बनेेंगे और बहन मायावती देश की प्रधानमंत्री बनेंगी। 
प्रदेश कर्मचारियों की हड़ताल से प्रदेश में बीमारी का खतरा- पदम जैन 


सिरसा: इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन ने नगर परिषद के कर्मचारियों व फायर ब्रिगेड कर्मचारियों की हड़ताल को लेकर भाजपा सरकार की नीतियों को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार सरकार ने पहले कर्मचारियों की मांगों का मान लिया था लेकिन अब उनकी मांगों को मानने से इंकार कर दिया जिसके कारण कर्मचारियों को पुन: अपनी मांगे मनवाने हेतू मजबूरी में हड़ताल पर बैठना पड़ा। 
जैन ने कहा कि वास्तव में भाजपा सरकार कर्मचारियों की मांगे मानना ही नहीं चाहती और उन्हें बहला फुसलाकर उनकी हड़ताल को खत्म कर देती है। इनेलो नेता ने कहा कि सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के कारण सिरसा ही नहीं अपितु पूरे हरियाणा में गदंगी के ढेर लग चुके है तथा प्रदेश में बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार झूठे वायदों और झूठे नारों की सरकार बनकर रह गई है जो सत्ता में आने से पहले जनता से वह कर्मचारियों से वायदे तो करती है लेकिन सत्ता में आने के बाद अपने वायदों से मुकर जाती है। जिलाध्यक्ष ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने सत्ता में आने से पहले कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का व पंजाब के समान वेतन देने का वायदा किया था जिसे आज तक पुरा नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कर्मचारी, किसान, मजदूर, छात्र व आमजन ने इस सरकार के प्रति भारी आक्रोश पाया जा रहा है। जिसका बदला जनता व कर्मचारी आने वाले समय में इस सरकार को सत्ता से बेदखल करके बदला लेंगे। जैन ने सरकार मांग की कि वह अपनी जिद्द छोड़कर कर्मचारियों की मांगों को स्वीकार करें तथा जनता को राहत मिल सके। 
भाजपा सरकार की नीतियां किसान और कमरे वर्ग को आर्थिक रूप से कमजोर करने वाली- अभय चौटाला
  
चंडीगढ़: नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने पत्र लिखकर सरकार को अल्टीमेटम दिया कि यदि मुख्यमंत्री बारिश की वजह से खराब हो चुकी फसल से संबंधित किसानों की मांगों को लेकर तुरंत कार्रवाई नहीं करते तो इनेलो 9 अक्तूबर से सरकार के खिलाफ किसान हित में बड़ा आंदोलन खड़ा करेगी। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा कार्यकर्ता राजस्व अधिकारियों का घेराव करेंगे। उन्होंने इस बात पर भी खेद व्यक्त किया कि लाखों किसानों की फसल मौसम की मार से बर्बाद हो चुकी है बावजूद इसके सरकार ने अभी तक कोई ऐसी घोषणा नहीं की जिससे पीडि़त किसानों को राहत मिले। उन्होंने सरकार के किसानों के प्रति इस नकारात्मक रवैये की आलोचना भी की। पिछले दिनों लगातार भारी बारिश की वजह से प्रदेश में लाखों एकड़ फसल खराब हो जाने को लेकर चिंतित नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। जिसमें अभय सिंह चौटाला ने सरकार से मांग की कि वह तुरंत प्रभाव से खराबे का आंकलन करने के लिए तुरंत गिरदावरी करवाए। उन्होंने यह भी मांग की कि सरकार खराबे की एवज में किसानों को कम से कम प्रति एकड़ 25,000 रुपए मुआवजा दिया जाए साथ ही किसानों के खेतों में जमा पानी की निकासी के लिए सरकार पम्प उपलब्ध करवाए ताकि किसान अगली फसल की बिजाई के लिए खेत तैयार कर सके।
अभय चौटाला ने यह भी कहा कि भाजपा सरकार की नीतियां किसान और कमेरे वर्ग के आर्थिक आधार को कमजोर करने वाली हैं जिसके कारण आज प्रदेश का किसान कर्ज की मार झेल रहा है। पिछले दिनों हुई भारी बारिश ने किसानों की कमर तोड़ दी है। इसलिए इनेलो मांग करती है कि प्रदेश में जितने भी किसान कर्जाई हैं उनका एक साल का ब्याज माफ किया जाए। सरकार को समझना चाहिए कि फसल खराब होने से किसानों की कमर टूट चुकी है। इसलिए सरकार को मामले की गंभीरता को समझते हुए जरूरी कदम उठाने चाहिए।

Wednesday, October 3, 2018

राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ की उपाध्यक्षा रेणु चौधरी ने की इनसो ज्वाइन


चंडीगढ़, 3 अक्तूबर: हरियाणा में आगामी छात्र संघ चुनावों से ठीक पहले इनसो को एक बहुत बड़ी कामयाबी मिली है, राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ की उपाध्यक्षा रेणु चौधरी ने युवा सांसद दुष्यंत चौटाला व इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला की मौजूदगी में इनसो की सदस्यता ली। रेणु के इनसो में आने से जहां एक ओर राजस्थान की छात्र राजनीति में एक बड़ा फेरबदल होगा वहीं दूसरी ओर हरियाणा छात्र संघ चुनावों में भी इससे बहुत फायदा मिलेगा। दुष्यंत चौटाला ने रेणु चौधरी को मान-सम्मान दिलवाने का वायदा किया व राजस्थान में इनसो को और ज्यादा मजबूत बनाने की बात कहीं।
रेणु चौधरी ने कहा कि इनसो ने छात्र हितों के लिए जो निरंतर संघर्ष किया है उसी का नतीजा है कि आज हरियाणा के साथ पंजाब, दिल्ली व राजस्थान में भी इनसो की मजबूत टीम बनी है। छात्र राजनीति के साथ साथ सामाजिक कार्यों में भी इनसो पदाधिकारीयों की हाजिरी ज्यादा रही है। जितना मान-सम्मान इनसो अपने कार्यकर्ताओं का करती है उतना कोई भी छात्र संगठन नहीं कर सकता। इन्हीं से प्रभावित होकर मैंने इनसो ज्वाइन की।
सिरसा में गोहाना रैली को लेकर हुई पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की बैठक 


सिरसा: डबवाली रोड़ स्थित इनेलो जिला पार्टी मुख्यालय में हलका सिरसा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की एक बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन व विधायक माखन लाल सिंगला ने की जबकि इस बैठक युवा इनेलो नेता अर्जुन सिंह चौटाला विशेष रूप से शामिल हुए। चौटाला ने जननायक ताऊ देवीलाल जयंती के अवसर पर 7 अक्तूबर को गोहाना में आयोजित की जाने वाली महारैली को लेकर सभी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से चर्चा की तथा रैली की तैयारियों की समीक्षा भी की। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सिरसा जिला जननायक ताऊ देवीलाल का गृह जिला है इसलिए इस जिले के लोगों की यह जिम्मेवारी बनती है कि वे अधिक से अधिक संख्या में गोहाना पहुंचकर ताऊ देवीलाल को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करें। चौटाला ने कहा कि वह पिछले काफी दिनों से सिरसा जिले के ग्रामीण आचंल का दौरा कर रहे है तथा उन्होंने यह महसूस किया आज भी लोगों के मन में ताऊ देवीलाल के प्रति आपार श्रद्धा है तथा जिला सिरसा से हजारों वाहन गोहाना रैली के लिए रवाना होंगे। युवा नेता ने वर्तमान भाजपा सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि इस सरकार ने जहां किसानों की दुर्दशा हो रही है वहीं पर बेरोजगार युवकों की एक लंबी फौज खड़ी हो गई है जो भाजपा सरकार को कोस रही है। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने से पहले भाजपा नेताओं ने किसानों का कर्जा माफ करने, बेरोजगार युवकों को 9 हजार रूपए से 12 हजार रूपए प्रति माह भत्ता देने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने सहित 154 चुनावी वायदे किए थे जिसे आज तक भाजपा सरकार ने एक भी वायदा पूरा नहीं किया है। पूरे प्रदेश में लूटमार, चोरी-डकैती व बलात्कार की घटनाओं ने प्रदेश में दहशत का माहौल पैदा कर दिया है जिससे प्रदेश की जनता में असुरक्षा की भावना पैदा हो गई है। स्कूलों बच्चियां सुरक्षित नहीं है, अस्पताल में मरीज व डॉक्टर सुरक्षित नहीं है तथा बाजारों में आमजन जाने से डरने लगा है जबकि सरकार प्रदेश में कानून व्यवस्था का झूठा ढिंढोरा पीटने में लगी हुई है। युवा नेता ने कहा कि प्रदेश में इनेलो बसपा की आंधी चल रही है और जल्द ही जनता को भाजपा के इस कुशासन से छुटकारा मिल जाएगा। इस मौके पर सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, महिला जिलाध्यक्षा कृष्णा फोगाट, जसवीर जस्सा, शहरी अध्यक्ष कृष्ण गुंबर, हलकाध्यक्ष गुरविंद्र सरपंच, युवा जिलाध्यक्ष अजब ओला, धर्मवीर नैन, नरेश कुसुंबी, बसपा नेता डॉ. बंसी लाल दहिया, प्रदीप मेहता, राज भगत, भूषण बरोड़, मीनूदीन पहलवान, मनोहर मेहता, सह प्रवक्ता महावीर शर्मा, सुरेश कुक्कू, विनोद कंबोज, कमलेश संधू, अंगूरी वर्मा, गीता सैनी, पवन सिंगला, नरेंद्र मेहता, श्याम बामनियां, युवा शहरी अध्यक्ष मोहित शर्मा, मांगे राम ठेकेदार, हरबंस बिश्नोई, बलविंद्र रामगढिय़ा, संदीप ख्यालिया, रोहित सचदेवा,गोपाल रामगढिय़ा, मुख्तयार सिंह, हरबेल सिंह खाजाखेड़ा, अशोक बामनियां, वेद प्रकाश शर्मा, राजेंद्र हरि, भगवान कोटली, श्याम इंदौरा, पवन सैनी, रामस्वरूप जोरसिया, सुनील सहारण, छोटू राम, बुटा सिंह, प्रेम कुकरेजा, वेद वधवा, राजेंद्र मल्होत्रा, काली सचदेवा, पंकज लूथरा, राकेश सहारण, जितेंद्र मेहता,सुभाष सैनी, हितेद्र अरोड़ा, मनोज सोनी, छतर सिंह, सोनू सिंगीकाट सहित अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

Tuesday, October 2, 2018

इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने भी प्रत्यक्ष चुनाव की मांग की



चंडीगढ़:  इनेलो सांसद दुष्ंयत चौटाला ने भी दिग्विजय चौटाला की आवाज में आवाज मिलाते हुऐ कहा की  जब पूरे देश के अन्य प्रदेशों में प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव हो रहे है तो फिर हरियाणा में क्यो नही हो रहे। बार-बार प्रदेश सरकार बहाने बनाकर क्या दर्शाना चाहती है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हरियाणा दौरे को लेकर कहा की यदि प्रधानमंत्री जी सच मे गरीबो की सुनते है तो प्रत्यक्ष चुनाव की घोषणा हरियाणा सरकार से करवाऐ। उन्होंने कहा की मोदी जी कहते है की वो गरीब परिवार से आए है, फिर किसान, दलित, कमेरे के बच्चों का अधिकार क्यो छीना जा रहा है। यदि प्रधानमंत्री सच में गरीब बच्चों का भला चाहते है तो प्रदेश सरकार को प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव बहाल करने के आदेश दे। वही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी केंद्र व प्रदेश सरकार के द्वारा दिए गए नौकरियों के श्वेत पत्र भी जारी करें। पिछले काफी दिनों से नौकरियों के नाम पर युवाओं की जेबों से करोड़ों रूपये ढीले किए गए है, उसका हिसाब भी प्रदेश सरकार से मांगे। हाल ही में लैब अटेंडेट की परीक्षा में हरियाणा स्टाफ सैलेक्शन कमीशन के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई। प्रदेश के अनेक सैंटरों में बच्चों से पहले ही पेपर ले लिए गए व ओएमआर शीट पौना घंटा बाद में दी गई। उन्होंने कहा कि इस मामले को भी प्रधानमंत्री अपने संज्ञान में ले। उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश में प्रत्यक्ष छात्र संघ चुनाव की बहाली होगी तो निश्चित तौर पर देश के प्रतिभावान नौजवान नेता गरीब तबके से उठकर देश की संसद व प्रदेश की विधानसभा में नाम रोशन करेंगे।
इनसो की उपलब्धियो पर लिखी किताब का किया विमोचन...
इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला व इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने इनसो संगठन की उपलब्धि बताते हुऐ एक पुस्तक का भी विमोचन किया।दुष्ंयत चौटाला ने कहा की इनसो हमेशा से सामाजिक कार्यो मे आगे रहा है पिछले कुछ समय से इनसो ने छात्रसंगठन की परिभाषा ही बदल कर रख दी है बी आज नवनियुक्त छात्र इनसो से जुडने को तैयार रहता है।इनसो ने छात्रहितो की आवाज को तो बुलंद किया ही है साथ ही अपने सामाजिक कार्यो से सबका दिल भी जीता है। इस अवसर पर रणधीर चिक्का पर्दीप देसवाल दिनेश डागर जसविंदर खेरा अनिल जंधरी शंपि फोगाट मंजू जाखर रेनू चौधरी धर्रू सांगवान जयदेव नोल्था संजय दलाल  राजू पाई बलराम मकडॉली वजीर मान राजू मेहरा मोंटू दलाल आदि उपेस्थित थे
हरियाणा के विश्वविद्यालयों में अप्रत्यक्ष चुनाव मंजूर नहीं- दिग्विजय चौटाला

चंडीगढ़: इंडियन नेशनल स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दिग्विजय चौटाला ने हरियाणा के विश्वविद्यालय में अप्रतक्ष चुनाव कराए जाने की हरियाणा सरकार की आज कड़ी निन्दा करते हुए कहा कि हम और संघटानो के साथ मिलकर इसका जोरदार विरोध करेगे और आगामी 4 अक्टूबर को चंडीगढ़ में सभी संघटनों की एक मीटिंग कर आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा। श्री चौटाला आज दिल्ली में इनलो के केन्द्रीय कार्यालय 18 जनपथ पर एक पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे।
श्री दिग्विजय ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपा सरकार हरियाणा के विश्वविधालय में अपना नियंत्रण चाहती है जो विद्यार्थियों के अधिकारों का हनन हैं।उन्होंने कहा कि किसी भी संघठन ने इस तरह के चुनाव की मांग नहीं की थी इसलिए में सरकार से पूछना चाहता हूं की ये किस की मांग को पूरा करने की बात कर रहे है। इस तरह के चुनावों से हरियाणा के विश्वविद्यालय में गुंडा गर्दी खरीद फरोत व भय का माहौल पैदा होगा जिसको इनसो किसी भी कीमत पर नहीं होने देगी।
श्री चौटाला ने हरियाणा सरकार को चेतावनी दी है कि 4 अक्टूबर तक सरकार इस पर दोबारा विचार करे अन्यथा फिर एक बार एक बड़ा निर्णय इनसो और बाकी संघठन मिल कर लेंगे जिसकी पूरी जिमेदारी सरकार की होगी। इस अवसर पर दिल्ली इनलो के प्रवक्ता दिनेश डागर हरियाणा इनसो के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप देसवाल सुरिंदर थक्करान शंपी फोगाट आदि उपस्थित थे
मुख्यमंत्री को नहीं किसानों की चिंता, केवल फोटों खिंचवाने तक सिमटे सीएम- अभय चौटाला 



इनैलो नेता एवं नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री को किसानों की चिंता नहीं है। मुख्यमंत्री केवल खराब फसलों के साथ मायूस चेहरा कर फोटो खिंचवा कर ही अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ रहे हैं। बारिश को रूके हुए भी चार दिन बीत चुके हैं लेकिन अभी तक भी खेतों व गांवों में भरे पानी की निकासी के लिए सरकार कोई विशेष प्रबंध नहीं कर पाई है। प्रदेशभर में लाखों एकड़ फसल खराब हो चुकी है और किसान आर्थिक तंगी के कारण आत्महत्या करने के लिए मजबूर हैं लेकिन सरकार ने अभी तक स्पेशल गिरदावरी करवा कर किसानों को मुआवजा देने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं। वह मुख्यमंत्री को चिट्टी लिख कर इसे शत प्रतिशत आपदा घोषित करने, किसानों को प्रति एकड़ 25 हजार रुपए मुआवजा देने तथा एक साल के लिए किसानों के लोन का ब्याज व रिकवरी को रोकने की मांग करेंगे। अभय सिंह चौटाला शनिवार को इनैलो के जिला कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। 
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार पूरी तरह से संवेदनहीन हो चुकी है। इतनी बड़ी आपदा के बाद भी सरकार ने अभी तक स्पेशल गिरदावरी के आदेश नहीं दिए हैं। इस समय जो गिरदावरी हो रही है वह आम प्रक्रिया है और इस गिरदावरी की आड़ में पटवारी किसानों से रुपए ऐंठने का काम कर रहे हैं। उन्होंने शनिवार को सफीदों विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया है। सफीदों विधानसभा क्षेत्र के एक गांव में तो वाटर वर्कस में पानी भर चुका और उस गांव के लोगों को तो पीने के लिए पानी तक मुहैया नहीं हो रहा है। उन्होंने तुरंत प्रभाव से डीसी को वहां पानी मुहैया करवाने के आदेश दिए हैं। चौटाला ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों के नाम पर राजनीति करने वाली कांग्रेस के किसी भी नेता ने अभी तक फील्ड में उतर कर किसानों का हालचाल तक नहीं जाना है। कांग्रेस तो उंगली कटाकर शहीद होना चाहती है। चौटाला ने कहा कि नहरों व ड्रेनों की सफाई के नाम पर सरकार ने करोड़ों रुपए का घोटाला किया है। उनके शासन काल में भी बारिश होती थी लेकिन वह समय पर सभी ड्रेनों की सफाई करवाते थे ताकि लोगों को बाढ़ जैसी स्थिति का सामना नहीं करना पड़े लेकिन पिछले 14 साल से ड्रेनों की सफाई के लिए जो भी बजट केंद्र या राज्य सरकार से आता है उसमें बड़े स्तर पर घोटाला हो रहा है। चौटाला ने कहा कि कांग्रेस किसानों के नाम पर झूठी राजनीति करती है। हरियाणा की जीवन रेखा कही जाने वाली एसवाईएल पर भी कांग्रेस विधानसभा में कोई आवाज नहीं उठाती है। चौटाला ने कहा कि यदि आठ अक्तूबर तक सरकार ने किसानों को आर्थिक मदद देने में किसी प्रकार की देरी की तो इनैलो सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेगी। 
जिले को मच्छरजनित बीमारी मुक्त करने का सांसद दुष्यंत ने उठाया बीड़ा


हिसार: इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने हिसार जिले को मच्छरजनित बीमारियों से मुक्त करने का बीड़ा उठाते हुए 19 छोटी फॉगिंग मशीने व एक बड़ी मशीन गांवों व हिसार शहर को दी है। विदित रहे कि इससे पहले भी सांसद दुष्यंत चौटाला अपने संसदीय क्षेत्र को दर्जनों फॉगिंग मशीनें दे चुके है। इनेलो सांसद ने हिसार नगर निगम को शहर में फॉगिंग करने के लिए साढ़े पांच लाख रुपये मूल्य की बड़ी फॉगिंग मशीन दी है। इसके साथ जिले के गांव मय्यड़, लाडवा, भोडिया बिश्नोईयान, सलेमगढ, घुडसाल, मिरकां, उगालन, कुलाना, धीरनवास, घिराय, भाटोल जाटान, सोथा, थुराना, ढांड, भाटोल रांगडान , बुढ़ाखेड़ा व नियाणा के साथ साथ हिसार के सेक्टर 13 को एक एक मिनी पोर्टेबल फॉगिंग मशीन दी। सांसद दुष्यंत ने कहा कि शहर में बढ़ती जा रही मच्छरजनित बीमारियों को देखते हुए उन्होंने सरकार से मांग की थी कि हिसार शहर को ब?ी फॉगिंग मशीन उपलब्ध करवाई जाए , परन्तु जब सरकार की तरफ से इस बारे कोई रेस्पॉन्स नही आया तो उन्होंने अपनी जिम्मेदारी समझते हुए अपने संसदीय कोटे से बड़ी मशीन हिसार नगर निगम को दी है, जिससे अब पूरे शहर में फॉगिंग हो पाएगी और शहर की जनता को मच्छरों से निजात तो मिलेगी ही साथ ही साथ मच्छरजनित बीमारी मलेरिया और डेंगू से भी बचाव होगा। उन्होंने कहा कि वे जब भी अपने संसदीय क्षेत्र के गांवों और शहर में आम जनता से मिलते है तो सबसे ज्यादा शिकायत मच्छरों को लेकर उनके समक्ष आती है। युवा सांसद ने स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे नियमित रुप से फॉगिंग करवाये। जिन गांवों में फॉगिंग मशीन आज दी है और जिनमे पहले दी जा चुकी है, उन गांवों के साथ लगते गांवों में भी फोगिंग करवाने का प्रबंध करें। क्योंकि बदलते मौसम में मच्छरों की भरमार होने का अंदेशा है अगर समय पर फोगिंग हो जाएगी तो ये मच्छर पनपेंगे ही नही।
इस मौके पर इनेलो जिलाध्यक्ष राजेन्द्र लितानी, विधायक रणवीर गंगवा, वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा, शीला भ्याण, सतबीर वर्मा , बहादुर सिंह नायक,  हलका अध्यक्ष तरुण जैन, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा, नलवा हलका अध्यक्ष सतपाल सरपंच, सत्यवान बिछपडी,, राजमल काजल, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, अमित ग्रोवर, सूबे सिंह सिवाच, रवि आहूजा, गौरव सैनी, मोहित अरो?ा, ललिता टांक, एडवोकेट कुलभूषण शर्मा, विपिन गोयल, सुशील अग्रवाल, डॉ नवनीत दिनोंदिया, राम कुमार सैनी, सन्दीप बिश्नोई, हरदीप मलिक, राजेन्द्र चुटानी, डॉ सत्यनारायण मंगाली, तारा चंद बाजेकां, निगम पार्षद मास्टर प्रह्लाद, राज पाल मांडू, राहुल मक्कड़, योगेश गौतम, वेद अग्रवाल, सजन गोयल, श्रवण बागड़ी, मुकेश डुलगच, राजीव शर्मा, सतबीर मुंगेरिया व डॉ उमेद खन्ना के अलावा निगम आयुक्त अशोक बंसल सहित निगम व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और सम्बंधित गांवों के सरपंच भी उपस्थित थे।

Friday, September 28, 2018

सरकार द्वारा चलायी जा रहीं योजनाओं में हुआ घोटाला- अभय चौटाला 


चंडीगढ़, 28 सितंबर: हरियाणा सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना ‘म्हारा गांव जगमग गांव’, दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति योजना और इंटिग्रेटिड पावर डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम में हजारों करोड़ का घोटाला हुआ है। इन योजनाओं के अंतर्गत दक्षिणी हरियाणा बिजली वितरण निगम के 7 जिलों में घटिया क्वालिटी की केबल तारें लगाई गई है। घटिया क्वालिटी का माल उपलब्धि कराने वाली चहेती फर्मों पर कार्रवाई करने की बजाय खानापूर्ति के लिए सरकार ने ठेकेदारों पर 42 करोड़ की रिकवरी डाल दी। यह बात प्रैसवार्ता में नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने आरटीआई से मिली जानकारी के हवाले से कही। उन्होंने खट्टर सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि घोटालों के मामलों व घोटालेबाजों को संरक्षण देने में प्रदेश की मौजूदा सरकार, हुड्डा सरकार को भी मात दे रही है। नेता विपक्ष ने कहा कि उपरोक्त योजनाओं में घोटाले की जानकारी तब हुई इस्तेमाल किए गए उपकरण गुणवत्ता के मानकों पर खरे नहीं उतरे और सभी सैंपल फेल पाए गए। उन्होंने कहा कि होना तो यह चाहिए था कि सरकार उन सभी फर्मों को ब्लैक लिस्ट करती और उनसे नुकसान की भरपाई करती लेकिन अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए फर्मों को छोड़, सरकार ने आनन-फानन में ठेकेदारों पर रिकवरी डालने का निर्णय लिया।
अभय सिंह चौटाला ने सरकार कि निष्पक्ष जांच की मंशा पर यह कहते हुए संदेह प्रकट किया कि इन स्कीमों में सबसे ज्यादा उपकरणों की खरीद फरीदाबाद व गुरूग्राम में हुई थी लेकिन सरकार ने उन जिलों में जांच नहीं करवाई। इसका सीधा मतलब है कि सरकार घोटालेबाजों को बचाने का काम कर रही है। वहीं नेता विपक्ष ने याद दिलाया कि वर्ष 2014 में 253 करोड़ के मीटर पिल्लर बोक्स घोटाले में स्वयं मुख्यमंत्री ने केस दर्ज कर कार्यवाही के आदेश दिए थे और 7 अधिकारियों को सस्पैंड किया था लेकिन सरकार ने बाद में सभी को बहाल कर दिया। एक अन्य मामले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सोनीपत एमसी कार्यालय कम्प्लैक्स जोकि 6.62 करोड़ में तैयार होना था उसको नियमों के विरुद्ध 28 प्रतिशत अधिक डीएसआर दिल्ली शेडयूल रेट पर निर्माण सामग्री खरीद कर 12.8 करोड़ में किया गया। नेता विपक्ष ने कहा कि कहां तो लोगों को महंगाई से राहत देने के लिए सराकर को कदम उठाने चाहिए थे वहीं उल्टा रजिस्ट्री फीस में बढ़ोतरी कर जनता के साथ अन्याय कर दोनों हाथों से लूटने का काम कर रही है। उन्होने पिछले दिनों प्रदेश में भारी बारिश में लाखों एकड़ फसल बर्बाद होने पर चिंता वयक्त करते हुए कहा कि सरकार को तुरंत प्रभाव से गिरदावरी करवा, किसानों को कम से कम  प्रति एकड़ 25 हजार रुपए का मुआवजा देना चाहिए। जहां एक ओर नेता प्रतिपक्ष ने सरकार के घोटालों की पोल खोली वहीं प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने में भी नकारा बताते हुए कहा कि जिस प्रकार स्वच्छ छवि व भ्रष्टाचार विरोधी बातें केवल बातें ही हैं उसी प्रकार ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ केवल ढकोसला है। उन्होंने कहा कि इस साल अगस्त माह तक  के स्टेट क्राइम रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार महिलाओं पर अपराध के 10158 मामले दर्ज हुए हैं वहीं गैंगरेप व रेप के 95 और 949 मामले दर्ज हुए हैं जो अपने आप में शर्मसार हैं। प्रेसवार्ता के दौरान रामपाल माजरा, आरएस चौधरी, एमएस मलिक, बीडी ढालिया व प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय भी मौजूद थे।
50 हजार रूपये मुआवजे के साथ समयावधि भी बढ़ाए सरकार


भिवानी, 28 सितंबर: प्रदेश में पिछले दिनों हुई बेमौसम बारिश के कारण खेतों में जमा भारी पानी से खराब हुई फसलों को लेकर शुक्रवार को इनेलो-बसपा जिला कार्यकारिणी भिवानी ने प्रदेश सरकार को जल्द से जल्द स्पेशल गिरदावरी करवाने की मांग रखते हुए 50 हजार रूपये मुआवजा राशि निर्धारित करने की बात कही। भिवानी के लघु सचिवालय में इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने भारी संख्या में एकत्रित होकर उपायुक्त की अनुपस्थिति में नगराधीश महेश कुमार को ज्ञापन सौंप मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से जल्द से जल्द बर्बाद फसलों का मुआवजा देने की मांग की। इनेलो जिला प्रधान सुनील लांबा ने कहा कि सरकार की कारगुजारियों के कारण आज किसान तबाही के रास्ते पर है। फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों के खातों से जबरन पैसे तो काटे गए, लेकिन अब जब किसान की फसल खराब हो रही है तो मुआवजे के नाम पर सरकरा लीपापोती कर रही है। उन्होंने कहा कि खड़ी फसलों में भरे पानी की जल्दी निकासी और जल्द गिरदावरी करवाकर किसानों को प्रति एकड़ 50 हजार रूपये मुआवजा दिया जाए। किसान प्रकोष्ठ के जिला प्रधान राजबीर तालु ने कहा कि किसानों की फसलों की गिरदावरी के साथ-साथ आए दिन टूट रही ड्रेनों का भी उचित प्रबंध किया जाए। जिले में ड्रेनों की हालत बदतर है। उन्होंने कहा कि समयावधि सरकार ने 24 घंटे तय की है, उसे भी किसान व आमजन के हितों को ध्यान में रखते हुए बढ़ाया जाए। राजबीर तालु ने सरकार को कोसते हुए कहा कि आए दिन ड्रेनों के टूटने से खेतों में खड़ी फसलें खराब हो जाती है। किसान आज इस स्थिति में नहीं है कि वह दोबारा खराब हुई फसलों के नुकसान से उभर सकें। बसपा नेता सुनील खानक व जयभगवान दहिया ने कहा कि यदि सरकार ने समय रहते किसानों की सूध नहीं ली तो इनेलो-बसपा कार्यकर्ता सडक़ों पर उतरकर भाजपा सरकार की पोल खोलेंगे। उन्होंने कहा कि इस सरकार के दोएम दर्जो के फैसलों से सबसे ज्यादा नुकसान किसानों को उठाना पड़ रहा है। आज खेती करना घाटे का सौदा है, लेकिन फिर भी किसान आमजन मानस के लिए खेतों में पसीना बहाते रहते है। लेकिन जब प्राकृतिक आपदा व सरकार की नाकामियों के कारण ड्रेने टूटने से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। प्रदर्शन मे मुख्य रूप से इनेलो हलका अध्यक्ष जगदीश धनाना, शकुंतला स्याणी, इंदु परमार, सुमन कुंगड़, वीना सारसर, बसपा नेता नरेंद्र लारा, अमित डुलगच, चांदराम, ओम सिंह तंवर, होशियार सिंह दलाल, प्रदीप खरकिया, राजेंद्र कस्वा, मनमोहन भुरटाना, बलवंत औरंगनर, मेवासिंह फौजी, विकास बड़सी, रामेश्वरदास चांग, जिला प्रवक्ता राजू महरा, उमेद पुनिया, आशु वाल्मिकी, राजेंद्र लोहानी, रामचंद्र मोरका, रामकुमार मिताथल, अत्तर धनाना, महेंद्र मलिक, रमेश तालु, राजकुमार मिलकपुर, करतार पंघाल, दिलबाग तालु, राजेंद्र मिताथल, प्रदीप कुंडू, चेयरमैन प्रेम धनाना, सतबीर घुसकानी, सतपाल घुसकानी, जितेंद्र शर्मा, जितेंद्र रिवाड़ीखेड़ा, सेठी धनाना, दीपक सिवाड़ा, अंकित ढुल, विजय ढुल, इकबाल सहरावत, अमित दलाल, उमेद सरपंच दुर्जनपुर, शिव कुमार खरक, बलराज चौहान, रमन औरंगाबाद, पार्षद संजय तिगड़ाना, पवन फौजी वैद, चंद्रभान कुंगड़, मनोज खानक, दीपेश घणघस, नरेश पपोसा, आजाद गिल, मनदीप तालु, रामोतार भैणी, राजसिंह मंढ़ाणा, सतबीर तालु, विजय अरोड़ा, संजय फौगाट, माईराम खटीक, शीतल धनाना, पप्पू नंबरदार, रामनिवास बड़ाला, डा. अनिल मंढ़ाणा, मुकेश जाटु लोहारी, प्रदीप मिताथल, रणसिंह श्योराण, प्रदीप तालु, सुभाष मिताथल, सुरेश बड़ेसरा, संजय फौगाट, गोकल प्रेमनगर, सोमबीर फौगाट, रजत धानिया सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

Wednesday, September 26, 2018

स्पेशल गिरदावरी करवा कर जल्द मुआवजा दे सरकार- दिग्विजय चौटाला 


भिवानी, 26 सितंबर: इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने सरकार से मांग की है कि प्रदेश में हुई बेमौसम बारिश से बर्बाद हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवा कर किसानों को प्रति एकङ 30 हजार रुपये मुआवजा देकर किसानों को राहत देनी चाहिए। दिग्विजय चौटाला ने प्रदेश सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि प्रदेश का अन्नदाता बारिश की मार से त्रस्त है। वहीं भाजपा सरकार के मंत्री अपने कार्यक्रमों में व्यवस्त है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों हुई बारिश से प्रदेश भर में गांवों व शहरों में जहां जलभराव से परेशानी हुई है उससे ज्यादा परेशानी देश के अन्नदाता को हुई है। जहां सरकार समय-समय पर प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना का राग अलापती है, लेकिन हकीकत में ये योजना केवल किसानों के खातों से पैसा लुटने की योजना बनकर रह गई है। उन्होने कहा कि इस योजना के नाम पर प्रदेश भर के किसानों के खातों से जबरन पैसे निकाल कर निजी कंपनियों को करोड़ों रुपये का फायदा पहुंचाया जा रहा है।
दिग्विजय चौटाला ने कहा कि खरीफ की फसल कपास, बाजरा, धान आदि फसलों को तैयार करने के लिए किसान महीनों मेहनत करता है, हजारों रुपये इन पर खर्च करता है, लेकिन अचानक प्राकृतिक आपदा उसकी मेहनत व खर्च पर पानी फेर देता है। ऐसे में सरकार को अन्नदाता रुपी किसान की इस मुसीबत की घड़ी में मदद करने की जरूरत है। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहरलाल व कृषि मंत्री ओपी धनखड़ से प्रदेश भर में बेमौसम बारिश से हुई बर्बादी का आंकलन करने के लिए स्पेशल गिरदावरी करवाकर जल्द से जल्द मुआवजा देने की मांग की। दिग्विजय चौटाला ने सरकार से कपास व धान की बर्बाद फसल के लिए प्रति एकड़ 30 हजार रुपये प्रति एकड़ व बाजरे की फसल के लिए 25 हजार रुपये प्रति एकड़ देने की मांग की है। उन्होने कहा कि बारीश के बाद अभी कहीं कहीं हो सकता है फसलें कुछ हद तक ठिक दिखें, लेकिन चंद दिनों बाद ये बर्बादी कम होने की बजाय बढ़ेगी, क्योंकि फसलें हर रोज पानी में रहने के चलते खराब होंगी। इसके अलावा दिग्विजय सिंह चौटाला ने गांवों में जलभराव की निकासी की भी मांग की है। उन्होने कहा कि प्रदेश के कई गांवों की गलियों व घरों में पानी भरा हुआ है यहां तक कि बच्चे स्कूलों में पानी से होकर जाते हैं। इससे जहां ग्रामीणों का कामकाज ठप है साथ ही पुराने व जर्जर मकान गिरने से कोई बङा हादसा होने का अंदेशा है। उन्होंने कहा कि जलभराव से गांवों में बीमारी फैसले का भी अंदेशा है। उन्होंने कहा कि सरकार को जल्द किसानों व ग्रामीणों की समस्या का समाधान करने की जरूरत है। अन्यथा प्रदेश में हालात बद से बदतर हो सकते हैं। दिगिवजय ने सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि किसान एक बार फिर से इनेलो शासनकाल को याद कर रहे हैं जिसमें पहली कलम से किसानों की मदद के लिए कदम उठाए जाते थे। उन्होंने कहा कि किसानों को मदद पहुंचाने के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की थी उन्होंने किसानों को लागत मूल्य से अधिक पैसा दिया था और साथ ही खराब हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवाकर किसानों को पैकेज देने का काम किया था, लेकिन आज भाजपा सरकार में किसानों की अनदेखी हो रही है। केवल मात्र कागजों में किसानों को लोक लुभावने वायदे किए जाते हैं लेकिन धरातल पर स्थिति बदत्तर है। दिग्विजय ने कहा कि कम से कम प्रदेश सरकार किसानों के लिए तो कोई ठोस कदम उठाए ताकि अन्नदाता को बचाया जा सके।
सर छोटूराम की प्रतिमा के अनावरण के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में पहुंचे इनेलो कार्यकर्ता  प्रशासन की सांसे अटकी


रोहतक, 26 सितंबर: सांपला स्थित सर छोटूराम संग्रालय में 63 फूट ऊंची प्रतिमा के अनावरण के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में काफी संख्या में इनेलो कार्यकर्ताओं को देखकर प्रशासन की सांसे अटक गई। संग्राहलय के मुख्य गेट के सामने इनेलो कार्यकर्ताओं ने जमकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इनेलो सांसद ने चेताया कि अगरकार सरकार व प्रशासन ने एक नवंबर तक सर छोटूराम की प्रतिमा का अनावरण नहीं किया तो उनके नेतृत्व में ताऊ देवीलाल की सेना प्रतिमा का अनावरण कर देगी। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे बडी शर्म की क्या बात हो सकती है कि जब केन्द्र व प्रदेश में भाजपा की सरकार है और भाजपा नेता नौ महीने बीत जाने के बावजूद भी प्रतिमा के अनावरण के लिए प्रधानमंत्री से समय तक नहीं ले पा रहे है, अगर केन्द्रीय मंत्री बीरेन्द्र सिंह प्रधानमंत्री से समय नहीं ले पा रहे है तो उन्हें नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री तो सिर्फ सर छोटूराम के नाम पर राजनीति करते है और उन्हें प्रतिमा के अनावरण से कोई लेना देना नहीं है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने उपायुक्त को पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला द्वारा किया गया उदघाटन पत्थर भी सौंपा और कहा कि प्रतिमा के अनावरण के साथ यह पत्थर भी संग्रालय में लगाया जाए, क्योकि इनेलो शासनकाल के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने ही संग्रालय का निर्माण कराया था और पाकिस्तान से सर छोटूराम की धरोहर लाकर संग्रालय में रखी थी, लेकिन भाजपा सरकार संग्रालय का सही प्रकार से रख रखाव भी नहीं कर पा रही है। बुधवार को इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला की अगुवाई में भारी संख्या में कार्यकत्र्ता छोटूराम संग्रालय पहुंचे और प्रतिमा के अनावरण की बात पर अड गए। यह देख कर पुलिस प्रशासन की सांसे अटक गई। एसडीएम व डीएसपी ने कई बार सांसद से बातचीत की, लेकिन उन्होंने साफ कहा कि वह प्रतिमा का अनावरण करेगे। स्थिति को देखते हुए भारी पुलिस तैनात किया गया, लेकिन इनेलो कार्यकर्ताओं का जोश इतना था कि वह संग्राहलय के मुख्य गेट तक पहुंच गए। सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रशासन को एक घंटे का अल्टीमेटम दिया। इसी दौरान उपायुक्त डॉ. यश गर्ग व पुलिस अधीक्षक जश्न्दीप सिंह रंधावा मौके पर पहुंचे और सांसद से बातचीत की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि लिखित में दिया जाए कि कब तक प्रतिमा का अनावरण हो जाएगा। स्थिति को देखते हुए उपायुक्त ने कार्यकत्र्ताओं को शांत किया और कहा कि एक नवंबर तक प्रतिमा का अनावरण कर दिया जाएगा। साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला का उदघाटन पत्थर भी प्रतिमा स्थल पर लगाने की मांग मानी। सांसद ने उदघाटन पत्थर भी उपायुक्त को सौंपा। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब वह दिन दूर नहीं जब प्रदेश में इनेलो बसपा की सरकार होगी। उन्होंने कहा कि कुछ लोग भ्रम फैला रहे है, लेकिन उन्हें यह नहीं पता है कि इनेलो बसपा का गठबंधन चट्टान की तरह मजबूत है। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सतीश नांदल, कृष्ण कौशिक, सतीश भालौठ, उमेश देवी, सौरभ फरमाना, डॉ. संदीप हुड्डा, नफे सिंह लाहली, रविन्द्र सांगवान, राजेश सैनी, संजय बल्हारा, महंत सतीशदास, हरज्ञान ठेकेदार, डॉ. प्रेम हुड्डा, सतप्रकाश बिसला, प्रेमलता खत्री, सुखमेन्द्र ईस्माइला, रविन्द्र बखेता, कृष्ण सांपला, ताजबीर शिमली, अग्रेज, नरेश, माहलेराम, सत्यवान हुमायुपुर, भीम चिडी, सतीश, दलबीर सरपंच, सुखबीर, जगदेव, महावीर नंबरदार, पासे गिझी प्रमुख रूप से मौजूद रहे। 

Tuesday, September 25, 2018

तोशाम, लोहारू, बवानीखेड़ा में भी मनाया जनानायक का जन्मोत्सव

हलका तोशाम में पूर्व उप  प्रधानमंत्री जनानायक चौ. देवीलाल का जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। जिला प्रधान सुनील लाम्बा, कमला रानी, रविंद्र पटौदी, राजेंद्र गांधी, ऋषिपाल फोगाट, राजेश भारद्वाज, रमेश मनसरवास, ओमी बापोड़ा, सुनील पटवारी के नेतृत्व में तोशाम में हरियाणा निर्माता का जन्मोत्सव मनाया गया। इनेलो  नेताओं ने कहा कि जननायक के  प्रसास से ही हरियाणा प्रदेश का निर्माण हुआ था। जननायक चौ. देवीलाल ने हमेशा ग्रामीण तबके को तवज्जों देते हुए उप प्रधानमंत्री व प्रदेश का मुख्यमंत्री रहते हुए उनकी तरफ रूख किया था। देवीलाल ने अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू कर प्रदेश की जनता का कल्याण किया था। एसवाईएल की लड़ाई भी चौ. देवीलाल ने लड़ी थी और उन्हीं के प्रयासों से हरियाणा के उसके हकों का पानी मिलने की आवाज उठी थी। जन नायक चौ. देवीलाल ने 1977 के अंदर तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के तानाशाही शासन के खिलाफ जन आंदोलन छेड़ा था और तीसरे मोर्चें का गठन कर विश्रनाथ प्रताप सिंह को देश के प्रधानमंत्री की गददी सौंपी थी। जन नायक चौ. देवीलाल को ताऊ की उपाधि मिलना कोई छोटी बात नहीं है। उन्हें त्याग की मूर्त भी कहा जाता है। यही नहीं ताऊ देवीलाल को वचन निभाने वाले नेता भी कहा जाता है। क्योंकि उन्होंने स्वयं प्रधानमंत्री पद का त्याग का विश्वनाथ प्रताप को लालकिले पर झण्डा फहराने के लिए पहल की थी जो सार्थक भी हुई। वहीं हलका लोहारू में जननायक सेवादल द्वारा पूर्व उप प्रधानमंत्री का जन्म दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया गया। जननायक सेवा दल के वरिष्ठ पदाधिकारी वजीर मान व सरपंच सुरेंद्र राठी के नेतृत्व में जननायक क ी प्रतिमा को गंगाजल से धोकर माल्यापर्ण किया गया। वजीर मान ने कहा कि आज के युवा केा यदि राजनीति में भागेदारी करनी तो उसे केवल मात्र दो महान आत्माओं से सीखने की जरूरत है। पहला डा. भीम राव अम्बेडक़र और दूसरे जन नायक चौ. देवीलाल आज हरियाणा निर्माता चौ. देवीलाल के जीवनी को यदि पढ़ा जाए तो उनका पूरा जीवन संघर्षमय बीता है। यह स्पष्ट लिखा हुआ है। हलका बवानीखेड़ा में हलका अध्यक्ष जगदीश धनाना, मनमोहन भुरटाना विकास बड़सी, राम सिंह वैद्य, अजीत तिगड़ाना, दीपक सिवाड़ा, पार्षद संजय तिगडाना, संजय कारखल, पवन फौजी तिगड़ाना ने जन नायक को श्रद्धासुमन अर्पित कर उनकी जीवनी पर  प्रकाश डाला। इनेलो नेताओं ने कहा कि जन नायक ने हमेशा गरीब तबके की आवाज को बुलंद किया था। तानाशाही से त्रस्त देश को नई दिशा देने में जन नायक चौ. देवीलाल ने अह्म भूमिका निभाई थी। कांग्रेस और भाजपा को दर किनार कर देश के अंदर आम आदमी को उसके हकों की लड़ाई लड़वाने के लिए जन नायक ने तीसरे मोर्चे का गठन किया था। यदि जन नायक चौ. देवीलाल आम आदमी आवाज नहीं उठाते तो आज किसान बर्बादी, दलित पिछड़ोंं का नाम नहीं होता। उन्होंने हमेशा राजनीति से उपर उठकर सबको साथ लेकर शासन चलाने का काम किया था। 
हरियाणा निर्माता का जन्मदिन हर्षोल्लास से मनाया


भिवानी, 25 सितम्बर:  पूर्व उप प्रधानमंत्री व विश्व में ताऊ के नाम से प्रसिद्ध जन नायक चौधरी देवीलाल का 105वां जन्म दिवस हर्षोल्लास के साथ में मनाया गया। भिवानी में अनेक जगह उनके चित्र पर पुष्पार्पित कर हरियाणा निर्माता को याद किया गया। भिवानी के चौधरी देवीलाल सदन में जिला प्रधान सुनील लाम्बा के नेतृत्व में पूर्व उप प्रधानमंत्री का जन्मदिवस मनाया गया। सुनील लाम्बा ने कहा कि जननायक ने हमेशा  किसान, कमेरे, दलित को ऊचाईयों तक पहुंचाने के लिए अनेक आंदोलन किए थे जन नायक ने कहा था कि देश का विकास गांवों के रास्तों से शुरू होता है यदि गांवों देहात का रहने वाला खुशहाल होगा तो राष्ट्र निर्माण में कोई कठिनाई नहीं होगी। हलका अध्यक्ष जगदीश धनाना और व्यापार सैल के जिला अध्यक्ष प्रदीप गोयल ने कहा कि हरियाणा निर्माण में चौ. देवीलाल की भूमिका को कोन भूला सकता है। उन्होंने हरियाणा निर्माण के लिए बड़ी से बड़ी लडी थी और अलग राज्य का गठन करवाया था। किसान प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष राजबीर तालू एएसी सैल के जिला प्रधान मनमोहन भुरटाना ने कहा कि चौ. देवीलाल ने डा. भीम राव अम्बेडक़र की विचार धारा पर चलते हुए आम आदमी को उसके हकों की लड़ाई लडऩे के लिए तैयार किया था। राजनीति से उपर उठकर चौधरी देवीलाल ने प्रत्येक आदमी को साथ लेकर हरियाणा निर्माण में कदम बढ़ाया था। जिला प्रवक्ता राजू मेहरा और लीगल सैल के जिला प्रधान जगदीप ढांडा ने बताया कि चौ. देवीलाल ने राजनीति से उपर उठकर काम किए थे। आम जनमानस की नब्ज को पकडऩा चौ. देवीलाल से बढक़र कोई नहीं जानता था। वृद्धावस्था पेंशन, जच्चा बच्चा योजना, बेटी की शादी में शगुन योजना के साथ- साथ अनुसूचित जाति व पिछड़ों की चौपालों का निर्माण कार्य जननायक ने ही शुरू किया था। 
इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रेम चेयरमैन धनाना, वीरेंद्र बापोड़ा, होशयार सिंह दलाल, जंगबीर मान, अधिवक्ता मांगेराम तोंदवाल, पार्षद नरेंद्र गागडवास, अधिवक्ता सुमित श्योराण, आसू वाल्मीकि, अशोक बाली शर्मा, पप्पल ठाकुर, अत्तर फौजी, सुधीर सरपंच, पार्षद सुशीला पूनिया, परमजीत छोक्कर, नरेंद्र काटिवाल, सेठी धनाना, सुनील पटवार इनसो, संदीप रापडिय़ा, शकुंतला देवी, निर्मला परमार, इकबाल सिंह कैप्टन, हरपाल फौजी, राहुल वाल्मीकि, जितेंद्र सैन, विक्रम बड़ेसरा, अशोक शर्मा, रणधीर शर्मा, मनोज बैनीवाल, सचिन बलौदा, विजय पंडित, रूपेश गुजरानी, हिम्मत जावला, राजेंद्र फौजी, अशोक गुजरानी, राज कपूर गुजरानी, अमित वाल्मीकि, भौम सिहं, दीपेश घनघस, हरदत बामला, सूरज मलिक, माईराम खटीक, अजय लोहानी, अभिलाश आर्य, जतिन जांगड़ा, राजेश तिगड़ाना, विक्रम धनाना, अशोक सिहाग सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे। 
श्रद्धा और उल्लास से मनाई गई जननायक देवीलाल की 105वीं जयंती


कुरुक्षेत्र, 25 सितम्बर: भारत के पूर्व उप-प्रधानमंत्री जननायक ताऊ देवीलाल की 105वीं जयंती कुरुक्षेत्र में श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाई गई। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा के नेतृत्व में गठबंधन के कार्यकर्ताओं ने देवीलाल चौक पर पहुंचकर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इसके पश्चात मरीजों को फल बांटे गए। इस अवसर इनेलो हलका प्रधान रणबीर सिंह किरमिच, शहरी प्रधान विवेक मेहता विक्की, युवा इनेलो प्रधान सुनील राणा, पार्षद योगेश शर्मा, पूर्व पार्षद दीपक सिंगला, तून खान, किसान प्रकोष्ठ के जिला प्रधान बलजिन्द्र सिंह बब्बू, व्यापार प्रकोष्ठ के जिला प्रधान नीतिन गोयल बंटू, मनोज कौशिक, सुभाष मिर्जापुर, प्रवीण कश्यप, बसपा के लोकसभा प्रभारी सूरजभान नरवाल, जिप के पूर्व वाईस चेयरमैन सुभाष बटहेड़ी, सुरेश सैनी, चन्द्रभान बाल्मिकी, राजबीर, सुलतान ब्राह्मण माजरा, राजबीर जांबा, राजबीर कान्याण सहित इनेलो और बसपा गठबंधन के अनेक कार्यकर्ताओं ने भी जननायक देवीलाल की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने ताऊ देवीलाल को नमन करते हुए कहा कि देवीलाल ने सत्ता को पूंजीपतियों की तिजोरी से निकालकर गरीब, दलित व पिछड़े वर्ग की दहलीज तक पहुंचाया। सबसे पहले देवीलाल ने ही इस वर्ग के लोगों को सत्ता में भागीदारी दी थी। उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए देवीलाल ने वृद्धावस्था सम्मान पेंशन जैसी अनेक कल्याणकारी योजनाएं शुरू की, जिसका अनुसरण देश में अनेक प्रदेश सरकारों ने किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा में चुंगी प्रथा जोकि व्यापारी वर्ग के माथे पर कलंक थी उसे भी देवीलाल ने ही हटाया। गरीब किसानों के कर्जे माफ करने तथा जच्चा-बच्चा को खुराक देने की योजनाएं हरियाणा में देवीलाल ने ही शुरू की थी। 


देवीलाल जयंती के अवसर पर पिंडारसी गांव के युवाओं ने भाजपा छोडक़र इनेलो  में शामिल होने की घोषणा की। इनेलो में शामिल होने वालों में जसवन्त बाल्मिकी, गुरदीप बाल्मिकी, गुलाब सिंह बाल्मिकी, नरेश कुमार, जोगेन्द्र सिंह, यशपाल पांचाल शामिल हैं। पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने इनका इनेलो में शामिल होने पर स्वागत करते हुए कहा कि इन्हें पूरा मान-सम्मान दिया जाएगा।
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने हरियाणा सरकार से भारी बरसात के कारण नष्ट हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी करवाकर किसानों को नुकसान का मुआवजा दिए जाने की मांग की है। अपने निवास स्थान पर पत्रकारों से वार्तालाप करते हुए इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि बेमौसमी बरसात के कारण किसानों की धान व अन्य फसलों का काफी नुकसान हुआ है। पकी हुई धान की फसल गिर गई है। जिस कारण पहले से ही कर्ज में दबे किसान की कमर टूट गई है। उन्होंने मांग की कि सरकार किसानों के नुकसान का स्पेशल गिरदावरी करवाकर तुरन्त मुआवजा दे। इसी के साथ-साथ किसानों की मंडी में धान की जो फसल आई थी वह भी बरसात के कारण भीग गई है। उस धान की फसल का अब कोई खरीददार नहीं है और यदि वह खरीदी भी गई तो न्यूनतम समर्थन मूल्य से काफी कम रेट पर खरीदी जाएगी। इससे भी किसानों को काफी नुकसान होगा। अरोड़ा ने कहा कि इस बार धान की फसल का झाड़ भी काफी कम है इसीलिए किसानों को धान की फसल पर विशेष बोनस दिया जाए। भाजपा ने अपने चुनावी घोषणापत्र में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने का वायदा किया था। रिपोर्ट तो अभी तक पूरी तरह से लागू नहीं हुई। इसीलिए सरकार किसानों के नुकसान की भरपाई करने के लिए उन्हें मुआवजा व धान की फसल पर विशेष बोनस दे। इस अवसर पर इनेलो हलका प्रधान रणबीर सिंह किरमिच, नगर पार्षद नीतिन भारद्वाज लाली, पूर्व पार्षद डॉ. ओमप्रकाश ओपी, पवन छाछरा, दीपक बाल्मिकी तथा दीपक फौजी भी उपस्थित थे।