Friday, August 11, 2017

भाजपा सरकार ने पूरे नहीं किए अपने  वायदे - नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला



सिरसा: हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पूर्व देश और प्रदेशवासियों के साथ जो वायदे किए थे, उनमें से एक भी पूरा नहीं किया। आलम ये है कि वायदों को निभाने की बजाए ऐसे विपरीत नियम लागू कर दिए गए हैं जिससे मजदूर, किसान, कर्मचारी, व्यापारी पूरी तरह से बर्बाद हो गए हैं। 
वे बीते गुरुवार को सुभाष चौक में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे। इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन की अध्यक्षता में आयोजित इस जनसभा में इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा ने सत्तासीन होने से पूर्व देशवासियों से वायदा किया था कि वे एक सिर के बदले शत्रुओं के दस सिर लाएंगे और कांग्रेस के शासन में विदेशों में जमा काला धन लाकर जनधन खातों के माध्यम से प्रत्येक भारतवासी के खातों में 15-15 लाख रुपए जमा कराए जाएंगे। मगर भाजपा ने उक्त सभी वायदों के आधार पर देशवासियों को छला है। भाजपा की ओर से स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने का वायदा किया गया था जिसमें स्पष्ट था कि देश के अन्नदाता को उनकी फसल के निर्धारित मूल्य में 50 फीसदी मूल्य जोड़कर उन्हें आर्थिक तौर पर सुदृढ़ किया जाएगा, उन्हें भी महज आश्वासन ही दिया गया। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि 50 वर्षों के लंबे कांग्रेसी शासन के दौरान एसवाईएल के मुद्दे को लटकाया गया और अब भाजपा भी एक षड्यंत्र के तहत नहीं चाहती कि एसवाईएल का पानी हरियाणा को नहीं मिल पा रहा। इनेलो नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देशवासियों को स्वच्छता अभियान के तहत सभी के हाथों में झाडूू थमाई मगर किसी के भी खाते में कोई ग्रांट नहीं दी। उन्होंने कहा कि आज देश व प्रदेश में स्थिति ये है कि बच्चों के पढऩे के लिए पर्याप्त स्कूल नहीं हैं और गांवों में लोगों के लिए स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं न के बराबर हैं। उन्होंने कहा कि देश में नोटबंदी ये कहकर की गई थी कि इससे आतंकवाद पर नकेल कसी जाएगी और नकली करंसी पर भी रोक लगेगी। जीएसटी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान नरेंद्र मोदी ने जीएसटी लागू किए जाने का जमकर विरोध किया था और सत्तासीन होने के बाद उसी जीएसटी को लागू करके व्यापारी, दुकानदारों की आर्थिक कमर तोड़ दी। अभय चौटाला ने कहा कि पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे से बाहर करके सरकारी राजस्व को लाभ पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी जैसी व्यवस्था को लागू करके अंबानी और अडानी जैसे पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाया गया। उन्होंने कहा कि जिन व्यापारियों ने भाजपा को सत्ता सौंपी, भाजपा ने उन्हीं व्यापारियों पर जीएसटी लागू करके उनकी कमर तोड़ दी। उन्होंने व्यंग्य किया कि सत्ता में बैठे लोगों को ही आज तक जीएसटी की वास्तविक जानकारी नहीं है। प्रदेश की भाजपा सरकार पर बरसते हुए इनेलो नेता ने कहा कि भाजपा ने विधानसभा चुनावों से पूर्व ये वायदा किया था कि हरियाणा के कर्मचारियों को पंजाब की तर्ज पर वेतनमान दिया जाएगा, हर साल 5 लाख बेरोजगार युवकों को रोजगार दिया जाएगा, बुढ़ापा पेंशन के रूप में 2 हजार रुपए दिए जाएंगे मगर उक्त सभी मामलों में प्रदेशवासियों को निराशा ही हाथ लगी है। उन्होंने कहा कि केवल इनेलो ही एकमात्र ऐसा राजनीतिक दल है जिसने व्यापारियों के हितों के लिए चुंगीराज समाप्त कर उन्हें राहत दी थी और उनके कल्याणार्थ अनेक योजनाएं लागू की गई थी। उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों के साथ ही विधानसभा चुनाव होंगे, इसलिए सभी पूरी दृढ़ता से इनेलो के पक्ष में प्रचार करें और भाजपा जैसी जनविरोधी सरकार को उखाड़ फैंककर उसे सबक सिखाएं। 


इससे पूर्व सिरसा के विधायक मक्खनलाल सिंगला, रानियां के विधायक रामचंद्र कंबोज, कालांवाली के विधायक बलकौर सिंह ने भी जनसभा को संबोधित कर इनेलो को मजबूत बनाने का आह्वान किया। हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष हीरालाल शर्मा ने मास्टर रोशनलाल गोयल, जयप्रकाश भोलूसरिया, कृष्ण गुप्ता, केदार पाहवा के साथ इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला के समक्ष व्यापारियों की समस्या रखकर उनके समाधान के लिए हरियाणा विधानसभा में आवाज बुलंद करने का आग्रह किया। इस अवसर पर जसवीर सिंह जस्सा, प्रदीप मेहता, महिला विंग की जिलाध्यक्ष कृष्णा फौगाट, प्रवक्ता तरसेम मिढा, सहप्रवक्ता महावीर शर्मा, शहरी प्रधान कृष्ण गुंबर, धर्मवीर नैन, गुरदयाल मेहता, रमेश मेहता एडवोकेट, डॉ. राधेश्याम शर्मा, हरिसिंह भारी, प्रोमिला शर्मा, पूर्व चेयरमैन अशोक वर्मा, कृष्ण गर्ग, मनोहर मेहता, बंसी सचदेवा, हलकाध्यक्ष अजब ओला, भगवान कोटली, जरनैल चंदी, योगेश शर्मा, राजन बावा, महेंद्र बाना, सीताराम बटनवाला, चंद्र जैन, सतपाल अरोड़ा, योगेश मोदी, के एल लूथरा, मीनुद्दीन पहलवान, राम सिंह सैनी, श्यामलाल इंदौरा सरपंच, मोहित शर्मा, पार्षद सुनील सहारण, सुशील डुंगामुंगा, जितेंद्र मेहता, राजा पेंटर, सोनू सिंगीकाट, छतर सिंह, सुरेश दड़वा, मुख्तयार सिंह, कंबोज, मुकेश रोहिल्ला   आदि पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment