Wednesday, June 21, 2017

मंदसौर में पीड़ित किसान परिवारों से मिले अभय सिंह चौटाला 



नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला इनेलो के 18 विधायकों और दो सांसदों के साथ मंदसौर में शोक-संतप्त परिवार से मिले जिनके परिवार के सदस्य मध्यप्रदेश की पुलिस के हाथों गोली से मारे गए थे। 
किसान आंदोलन में मारे गए 17 वर्षीय अभिषेक के विकलांग दादा ने नेता प्रतिपक्ष को बताया कि हमारे यहां सोयाबीन की खेती होती है जिसका भाव 5200 रुपए मिलता था। सरकार की अनदेखी के कारण सोयाबीन का रेट मात्र 2200 रुपए प्रति क्विंटल रह गया है इससे तो किसान की लागत भी पूरी नहीं होती जिस कारण किसान कर्ज के बोझ तले इतना दब गया है कि आत्महत्या करने पर मजबूर है। अभिषेक के दादा ने बताया कि हमारे हालात इतने नाजुक हैं कि खेती घाटे का सौदा बनकर रह गई है।


इस दौरान अभय सिंह चौटाला अन्य पीडि़त परिवारों से भी मिले जिनकी मौत आंदोलन के दौरान पुलिस के हाथों हुई थी जिसमें 23 वर्षीय चैन राम पाटीदार गांव नयाखेड़ा जिला नीमच, 38 वर्षीय कन्हैया लाल गांव चिल्लौड़ पिपलिया, 23 वर्षीय पूनम चंद उर्फ बबलू गांव तकरावत के परिवार शामिल हैं। आंदोलन में मारे गए किसान कन्हैया लाल के पुत्र ने नेता प्रतिपक्ष को किसानों की तरफ से एक ज्ञापन भी सौंपा। 


अभय सिंह चौटाला ने सभी पीडि़त परिवारों को भरोसा दिलाया कि इस दुख की घड़ी में पूरी इनेलो पार्टी उनके साथ खड़ी है और यह भी भरोसा दिलाया कि आप सभी किसानों की मांगों को इनेलो देश की संसद में जोरशोर से उठाएगी और मांग करेगी कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसल की बिक्री को सरकार सुनिश्चित करे। नेता प्रतिपक्ष ने पीडि़त परिवारों को मुआवजा, सरकारी नौकरी व मारे गए किसानों को शहीद का दर्जा देने की भी मांग की व उन्हें सांत्वना देते हुए गहरी संवेदना व्यक्त की।

No comments:

Post a Comment