Friday, June 16, 2017


किसानों का कर्ज माफ करके लागू की जाएं स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें - अशोक अरोड़ा


कुरुक्षेत्र 16 जून : मंदसौर की घटना के विरोध में इनेलो कार्यकर्ताओं ने पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला फूंका। जिला भर से आए सैकड़ों इनेलो कार्यकर्ता जाट धर्मशाला में इक_े हुए और वहां से भाजपा सरकार के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए महाराणा प्रताप चौक पर पहुंचे, जहां शिवराज सिंह चौहान के पुतले को जलाया गया। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश महासचिव बूटा सिंह लुखी, जिला प्रधान कुलदीप सिंह मुलतानी, रामकरण काला, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य माया राम चंद्रभान पुरा, जिला उप प्रधान सतबीर शर्मा, सुभाष मिर्जापुर, बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान मनोज कौशिक, हलका प्रधान रणबीर किरमिच, सुरेश सैनी, रामस्वरूप चोपड़ा, रणधीर मथाना, पार्षद संदीप टेका, कुलदीप जखवला, सुरेश नैन, युवा इनेलो के जिला प्रचार सचिव मोहित सैनी, सुभाष बटेड़ी, जोगध्यान, चंद्रभान बाल्मीकि, जसविंद्र खैरा, रजत दूहन, वीरेंद्र, राजू त्यौड़ा, राजू, सुलतान सिंह ब्राह्मण माजरा, राजेश पायलट, मांगे राम सरपंच, तरसेम हरियापुर, सतबीर ढांडा एडवोकेट, बलजिंद्र सिंह बब्बू, राजकुमार काला, डा. संतोष दहिया, कलावती, संगीता पांचाल सहित भारी संख्या में इनेलो कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन में भाग लिया।


प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि मंदसौर में पुलिस की गोली से मारे गए किसानों की घटना से भाजपा का किसान विरोधी चेहरा सामने आ गया है। उन्होंंने कहा कि भाजपा की किसान विरोधी नीतियों के कारण आज किसान कर्जे के बोझ नीचे दब कर आत्महत्या करने को मजबूर हैं। भाजपा सरकार बड़े बड़े पूंजीपतियों का अरबों रुपये का कर्जा माफ कर रही है, लेकिन किसानों का कोई कर्जा माफ नहीं किया जा रहा। जब किसान अपने अधिकार के लिए शांतिपूर्वक संघर्ष करते हैं तो उनकी छाती में गोली मारी जाती है। उन्होंने कहा कि देश में पूंजीपतियों की सरकार है। भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने का वायदा किया था, लेकिन सत्ता में आते ही भाजपा ने अपने चुनावी वायदे को भूला दिया। 
प्रदेश भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा सरकार हर मोर्चे पर विफल है। उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों में प्रदेश की जनता पर 62 हजार करोड़ का कर्जा बढ़ा है। कर्जे के पैसे से सरकार के मंत्री विदेशों में सैर कर रहे हैं। जनता के पैसे से ऐश की जा रही है। कहीं स्वर्ण जयंती के नाम पर तो कभी हेमामालिनी को 36 लाख रुपये डांस के देकर जनता का पैसा बर्बाद किया जा रहा है, लेकिन किसानों का कोई कर्जा माफ नहीं किया जा रहा। उन्होंने कहा कि किसानों का कर्जा माफ किया जाए और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाए। 
अशोक अरोड़ा ने बताया कि हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के नेतृत्व में इनेलो के विधायकों, सांसदों व अन्य वरिष्ठ नेताओं का प्रतिनिधिमंडल मंदसौर में पुलिस की गोली से मारे गए किसानों के प्रति संवेदना व्यक्त करने के लिए वहां जा रहा है। यह प्रतिनिधि मंडल 17 जून को मंदसौर पहुंचेगा और वहां पीडि़त परिवारों से मुलाकात करेगा। इसके अतिरिक्त जो किसान कर्ज के नीचे दबकर आत्महत्या कर रहे हैं, उनके परिवारों से भी मिलेगा। 
जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी प्रताप सिंह को इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अरोड़ा के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया। देश के राष्ट्रप्रति के नाम सौंपे गए इस ज्ञापन में स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने, किसानों का कर्जा माफ करने तथा एसवाईएल का निर्माण कार्य शुरू करने के साथ साथ हरियाणा की शाहाबाद मंडी में सूरजमुखी और मक्का की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करने की मांग की गई। 
अशोक अरोड़ा ने किसान संगठनों द्वारा शुरू किए गए आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार को किसानों की कर्जा माफी व स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने की मांग पूरी करनी चाहिए, क्योंकि आज देश के कई प्रदेशों में किसान आंदोलन कर रहे हैं और यह आंदोलन देश के अन्य प्रदेशों में भी फैल रहा है। उन्होंने कहा कि इनेलो किसान संगठनों के इस आंदोलन का समर्थन करता है।

No comments:

Post a Comment