Friday, May 19, 2017

बेटी बचाओं बेटी पढाओ, बीजेपी सरकार के अभियान खुली पोल - नैना चौटाला


सोनीपत, 19 मई: विधायक, श्रीमती नैना चौटाला के नेतृत्व में आज सोनीपत में इनेलो के महिला प्रकोष्ठ के तत्वावधान में राज्य से पहुंची हजारों महिलाओं द्वारा महिलाओं के विरुद्ध बढ़ते अपराधों के विरोध में प्रदर्षन करते हुए जिलाधीष के माध्यम से मान्यवर राज्यपाल को एक ज्ञापन देते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल को बर्खास्त करने की मांग की। ज्ञापन देने से पूर्व श्रीमति नैना चौटाला नें विषाल जन-समूह को संबोधित करते हुए सरकार के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान को खोखला नारा बताया।
ज्ञापन में कहा गया कि अभी हाल में रोहतक में घटी बलात्कार की घटना के बाद पीडिता की बर्बरतापूर्ण हत्या, और रिवाडी जिले में स्कूली छात्रांओं द्वारा अपने स्कूल को प्लस 2 की मांग को लेकर आंदोलन वास्तव में एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दोनो का संबंध प्रदेष में बिगडी हुई कानून व्यवस्था और उससे उपजी असुरक्षा की भावना से है। स्कूली छात्राओं के आंदोलन का कारण भी उन द्वारा अपने घर से लेकर दूसरे गांव में स्थित स्कूल में जाते हुए मार्ग में अनुभव होने वाली नित-दिन के उत्पीडऩ के कारण होने वाली असुरक्षा की भावना है। स्कूल जाने और वहां से आते समय भी यदि ग्रामीण क्षेत्रों में भी छात्राएं असुरक्षित अनुभव करती हैं तो कल्पना की जा सकती है कि किस सीमा तक राज्य में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है।
इन दो घटनाओं के अतिरिक्त, इस सरकार के कार्यकाल में प्रारम्भ से ही महिलाओं के विरुद्ध अपराधों में निरंतर बढोत्तरी होने के साथ अपराधियों का हौसला बढ़ रहा है। इसका प्रमाण उस घटना से मिलता है जिसमें बलात्कार की एक पीडि़ता से आरोपियों नें अपनी जमानत पर रिहाई के दौरान एक बार फिर उसे बलात्कार का शिकार बनाया। जाहिर है कि इस दुस्साहसी कृत्य से आरोपी अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते हुए पीडि़ता और उसके परिवार को आतंकित और भयभीत करना चाहते थे। यह भी स्पष्ट है कि वह अपने आप को कानून-व्यवस्था और पुलिस के दायरे से बाहर मानते थे, जो अपने आप में सरकार पर टिप्पणी है।
दु:साहस की एक अन्य घटना में, जब गुरुग्राम में रहने वाली सिक्किम की एक महिला टैक्सी में अपने घर लौट रही थी तो वह अपने घर के निकट अपराधियों का शिकार बनी। उन्हें बलपूर्वक पकडक़र एक अन्य कार में बिठा कर नजफगढ़ की ओर ले जाते हुए तीन लोगों ने बलात्कार कर 20 किलामीटर दूर गाडी से बाहर फैंक दिया। सोनीपत में मानसिक रूप से कमजोर एक नेपाली महिला के साथ सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी गई। राज्य की राजधानी से सटते पंचकुला में एक सेक्टर की मार्केट से कार में बैठी एक इंजीनियरिंग की छात्रा को अपराधी कार सहित भगाकर ले गया और बलात्कार किया। इन घटनाओं के अतिरिक्त, ज्ञापन में अपराध की अनेक अन्य घटनाओं का भी उल्लेख किया गया जो व्याप्त अराजकता और सरकार की असफलता का प्रमाण हैं।
ज्ञापन में मोग की गई कि अपने प्राथमिक कर्तव्य में असफल होने के कारण, यह सरकार सत्ता में बने रहने के अपने औचित्य को खो चुकी है जिस कारण मान्यवर राज्यपाल महोदय से आग्रह है कि तुरंत प्रभाव से मुख्यमंत्री को बर्खास्त करे ताकि राज्य में कानून-व्यवस्था को सुधारा जा सके। जन-समूह को सम्बोधित करने वालों में प्रदेश महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष श्रीमती शीला भ्यान और जिला महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष श्रीमती प्रोमिला मलिक भी थी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष पद्म सिंह दहिया, डा. केसी बांगड़, ब्रिगेडियर ओपी चौधरी, तेलूराम जोगी, महिला प्रदेश उपाध्यक्ष बबीता दहिया व निर्मल चौधरी सहित प्रदेश की अनेक महिला कार्यकर्ता मौजूद थी।

No comments:

Post a Comment