Monday, June 27, 2016

दुष्यंत चौटाला ने कहा-हरियाणा सरकार की दोगली नीति, गौचरण भूमि पर सरकार करवा रही है कब्जा


सोनीपत, 25 जून: सोनीपत जिले के राई हलके के गांव दीपालपुर में गोचरण भूमि पर सरकारी कब्जे के खिलाफ धरने पर बैठे लोगों का सांसद दुष्यंत चौटाला ने समर्थन किया है। वे धरना स्थल पर पहुंचे और अपना समर्थन व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इनेलो पार्टी गांववासियों के मांगों का समर्थन करती है और पूरी तरह से उनके साथ है। उन्होंने ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा में खट्टर सरकार दोहरी नीति अपना रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश भर में गायों को बचाने, उनके सरंक्षण के लिए बड़े स्तर पर अभियान छेड़ा हुआ है और गो सेेवा आयोग का गठन किया है। भाजपा सरकार के लोग एक ओर तो गाय की पूजा की बात करते वहीं दूसरी ओर गांवों में छोड़ी गई गोरचरण भूमि का अधिग्रहण करके मनोहर सरकार उसे नीलाम करना चाहती है। 
दुष्यंत चौटाला कहा कि गांव दीपालपुर गांव में गोचरण की करीब 200 एकड़ भूमि है और सरकार नगर निगम के बहाने इसे अपने कब्जे में लेकर नीलाम करने जा रही है। यह सरकार की दोगली नीति का जीता जागता उदाहरण है। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा ठीक नहीं है और विकास के नाम गोचरण भूमि को समाप्त करने की सरकार की यह सोची समझी चाल है। उन्होंने कहा कि सरकार स्पष्ट करे कि क्या गोचरण भूमि को समाप्त किए बिना विकास नहींं हो सकता? उन्होंने कहा कि यदि सरकार को विकास के लिए जमीन चाहिए तो अन्य स्थानों पर हजारों एकड़ भूमि है, उस पर चाहे जीतना विकास कर ले। उन्होंने कहा कि सरकार को गोरचण भूमि पर कब्जा की जिद्द छोड़ देनी चाहिए। धरने पर उनके साथ इनेलो के जिला प्रधान पदम सिंह दहिया, अजीत अंतिल, समित, कुणाल गहलावत, रविंद्र सफियाबाद, सुधीर धनखड़, प्रदीप बड़वासनी, मोनू शर्मा, जितेंद्र वर्मा, प्रतीक त्यागी भी थे। 

No comments:

Post a Comment