Wednesday, April 25, 2018

दलित भाइयों का उत्पीड़न बंद करे सरकार- अशोक अरोड़ा 


चंडीगढ़, 25 अप्रैल: 2 अप्रैल, 2018 को ‘भारत बंद’ के संदर्भ में दलित भाइयों के विरुद्ध सरकार द्वारा दायर की गई शिकायतों की इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कड़ी निंदा की है।
इनेलो नेता ने कहा कि उस बंद के दौरान आम तौर पर प्रदेश में शांति बनी थी जिसका श्रेय बंद के आयोजकों को दिया जाना चाहिए। वहीं उस बंद के दौरान सरकार का यह दायित्व था कि असामाजिक तत्व उसका लाभ उठाते हुए किसी प्रकार की हिंसा न करें। किन्तु जाहिर है कि अपने इस दायित्व को निभाने में सरकार पूरी तरह से असफल रही है और अपनी खिसियाहट मिटाने के लिए वह सारा दोष दलित भाइयों पर मढ़ रही है। हिंसा को लेकर शिकायतों का यही उद्देश्य है जो निंदनीय है।
अशोक अरोड़ा ने यह भी कहा कि वह सरकार से आग्रह करते हैं कि वह अपने हठधर्मिता को त्याग दे और दलित भाइयों के उत्पीड़न को बंद करते हुए उनके विरुद्ध दायर की गई सभी शिकायतों को तुरंत प्रभाव से वापिस ले लें। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के शासनकाल के दौरान दलित समाज विशेष रूप से उत्पीड़ित हुआ है और विशेषकर दलित महिलाएं अन्य अपराधों के अतिरिक्त यौन शोषण का भी शिकार हुई हैं। सरकार को चाहिए कि वह अपना पूरा ध्यान राज्य में कानून व्यवस्था को बनाए रखते हुए राज्य के सभी नागरिकों के लिए सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए विशेष रूप से दलितों एवं कमजोर वर्गों का ध्यान रखे।
छात्र संघ चुनावों में परचम लहरायेगी इनसो- दिग्विजय सिंह चौटाला 


चंडीगढ़: इनसो के राष्ट्र्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने आज छात्रसंघ चुनाव बहाल होने पर प्रदेश में धन्यवादी दौरे के तहत रेवाड़ी के गांव लिसाना के पॉलिटेक्निकल कॉलेज के पास पार्क में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 22 वर्षों  के बाद इनसो का कड़ा संघर्ष रंग लाया और सरकार को मजबूर होकर छात्र संघ चुनाव बहाल करने पड़े। इसके लिए रेवाड़ी की इनसो टीम बधाई की पात्र है। बीजेपी सरकार नहीं चाहती थी कि हरियाणा में छात्रसंघ चुनाव हों क्योंकि उसको अपनी हार निश्चित लग रही थी। अब जब भी छात्र संघ चुनाव होंगे उसमें इनसो छात्र इकाई पूरे हरियाणा में अपना परचम लहराएगा और एबीवीपी और एनएसयूआई का पूरी तरह से सफाया कर दिया जाएगा!     
दिग्विजय चौटाला ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंद्रह पंद्रह लाख रुपए का हर व्यक्ति के खाते में डलवाने की बात कहकर जनता की वोट बटोरने का काम किया। वही बेरोजगारों को देश मे हर साल दो करोड़ रोजगार व हरियाणा प्रदेश में हर साल 3 लाख युवाओं को रोजगार देने के नाम पर बीजेपी सत्ता में तो आ गई लेकिन न तो देश में दो करोड़ रोजगार दिए गए और न ही प्रदेश में युवाओं को रोजगार दिया गया। यही नहीं बेरोजगार युवाओं को 9,000 बेरोजगारी भत्ता देने के नाम पर भी उनके साथ छल किया गया।



इनसो नेता ने कहा कि महिलाओं व बच्चियों के साथ हो रहे बलात्कार से प्रदेश में भय का माहौल बना हुआ है। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस आज कई धड़ो में बट चुकी है और उसके नेता एक-दूसरे से ऊपर आने की होड़ में लगे हुए हैं, उनको जनता की परेशानियों से कोई लेना देना नहीं। जनता कि हितों की आवाज को उठाने वाला केवलमात्र इनेलो-बसपा गठबंधन है जो दलितों, पिछड़ों व मजदूर-कमेरे वर्ग के हितों के लिये संघर्षरत रहेगा। उन्होंने कहा जननायक ताऊ देवीलाल ने सदैव बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के पदचिह्नों पर चलते हुए हमेशा ही दलितों, पिछड़ों व कमेरे वर्ग के हितों के लिए संघर्ष किया और इस गठबंधन की चर्चा पूरे देश में हो रही और पूरे देश में ओर भी राजनीतिक दल इस गठबंधन में शामिल होंगे और बहन मायावती महागठबंधन के तहत देश की प्रधानमंत्री बनेगी व चौधरी ओम प्रकाश चौटाला हरियाणा के मुख्यमंत्री की कमान संभालेंगे। कार्यक्रम का आयोजन इनसो के प्रदेश संयुक्त सचिव ज्योति सांगवान ने किया।
एसवाईएल के लिए इनेलो जेल भरो आन्दोलन करेगी - अशोक अरोड़ा 


चंडीगढ़: एसवाईएल नहर के निर्माण को लेकर इनेलो ने जेल भरो आंदोलन की रूपरेखा तैयार कर ली है। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि इनेलो के पास अब संघर्ष के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा। सरकारों को पत्र लिखे गए, प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलने के लिए समय मांगा गया। इसके बाद भी भाजपा सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। एसवाईएल का पानी हरियाणा का अधिकार है और इस अधिकार के लिए इनेलो पहली मई से ‘जेल भरो आंदोलन’ की शुरुआत करेगी। इस आंदोलन में सहयोग के लिए नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने निजी तौर पर सभी सरपंचों, पंचों, व्यापारी संगठनों और किसान संगठनों को पत्र लिखकर सहयोग की अपील भी की है।
इनेलो प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि इस संघर्ष की शुरुआत भिवानी से की जाएगी। इसके अलावा आठ अन्य जिलों में क्रमवार राज्यस्तरीय गिरफ्तारियां दी जाएंगी। इस क्रम में 4 मई को यमुनानगर, 8 मई को नूंह, 11 मई को सिरसा, 15 मई को  नारनौल, 18 मई को कुरुक्षेत्र, 22 मई को फतेहाबाद व 25 मई को पलवल और कैथल में 29 मई को डीसी कार्यालय का घेराव करेगी और गिरफ्तारियां देगी। उन्होंने कहा कि इनेलो एसवाईएल के निर्माण और प्रदेश के हक के पानी को प्रदेश की जनता तक पहुंचाने के लिए वचनबद्ध है और वह इसके लिए कोई भी कीमत चुकाने से नहीं डरते। अशोक अरोड़ा ने सरकार को घेरते हुए कहा कि इनेलो ने 7 मार्च की ‘किसान अधिकार रैली’ में जेल भरो आंदोलन की घोषणा की थी। सरकार ने इसके बाद भी इस मामले पर कोई संज्ञान नहीं लिया और न ही नहर निर्माण की बहाली के लिए कोईकदम उठाए हैं। मुख्य विपक्षी दल होने के नाते यह इनेलो की जिम्मेवारी है कि वह गूंगी-बहरी सरकार को प्रदेश की जनता की आवाज सुनाएँ ताकि जनता का दुख दर्द सत्तारूढ़ भाजपा मुख्यमंत्री के कानों तक पहुंचे। उन्होंने यह भी कहा कि इनेलो इस आंदोलन को शांतिपूर्वक ढंग से गिरफ्तारियां देगी और यह संघर्ष अधूरे पड़े नहर निर्माण का कार्य शुरू होने तक जारी रहेगा। लेकिन अगर इस आंदोलन के दौरान कोई भी अप्रिय घटना होती है या प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ती है तो इसके लिए प्रत्यक्ष तौर पर सरकार जिम्मेवार होगी।
इनेलो-बसपा गठबंधन है कमेरे वर्ग का गठबंधन- अशोक अरोड़ा



कुरुक्षेत्र: इनेलो और बसपा गठबंधन की पंजाबी धर्मशाला में आयोजित पहली जिला स्तरीय बैठक में दोनों दलों के नेताओं ने इस गठबंधन को जनता की आवाज बताते हुए एक सामाजिक गठबंधन बताया। बैठक में दोनों दलों के कार्यकर्ता काफी उत्साहित दिखे। इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने इस बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि यह कमेरे वर्ग का गठबंधन है और कमेरे वर्ग की कोई जाति नहीं होती। उन्होंने कहा कि चौधरी ओमप्रकाश चौटाला और मायावती ने यह गठबंधन करके जनता की आवाज को अमलीजामा पहनाया है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे गठबंधन धर्म को निभाते हुए मिल-जुलकर काम करें। 
अरोड़ा ने कहा कि यह गठबंधन देश की 95 प्रतिशत जनता का गठबंधन है। गठबंधन से केवल पांच-सात प्रतिशत पूंजीपतियों को तकलीफ है जो देश की संपत्ति पर कब्जा किए हुए बैठे हैं। उन्होंने कहा कि सभी 90 विधानसभा सीटों पर ओम प्रकाश चौटाला और मायावती चुनाव लड़ेंगे। प्रत्याशी तो केवल सिंबोलिक होंगे। अरोड़ा ने कांग्रेस और भाजपा पर मिलीभगत से चुनाव लड़ने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले चुनाव में जहां क्षेत्रीय दल मजबूत नहीं थे वहां कांग्रेस और भाजपा के समर्थकों ने एक दूसरे को वोट डाले। उन्होंने दोनों दलों के कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे गठबंधन को मजबूत करने में जुट जाएं।
सांसद रामकुमार कश्यप ने अपने संबोधन में कहा कि दोनों दलों के कार्यकर्ता इस गठबंधन से खुश है। गठबंधन जिसे भी चुनाव मैदान में उतारे कार्यकर्ता उसे विजयी बनाने के लिए जुट जाएं। बसपा के प्रदेश प्रभारी डाॅ बलदेव, रोहताश रंगा, जिला प्रधान मानसिंह, शशि सैनी ने संबोधित करते हुए कहा कि यह गठबंधन केवल राजनीतिक नहीं एक सामाजिक गठबंधन है। प्रदेश के दोनों दलों के कार्यकर्ताओं की मांग थी कि यह गठबंधन होना चाहिए। किसान और मजदूर के इस गठबंधन से पूंजीपति परेशान हैं। भाजपा और कांग्रेस दोनों ने आज तक दलित वर्ग का शोषण किया और दोनों दल झूठ बोलते हैं। बसपा नेताओं ने उम्मीद जताई कि यह गठबंधन लोकसभा की चंडीगढ़ सहित सभी 11 सीटों पर और हरियाणा विधानसभा की सभी 90 सीटों पर विजय प्राप्त करेगा। बैठक को बसपा के जिला प्रधान मानसिंह, जोगीराम घराड़सी, नसीब सिंह, हरफूल सिंह ढांडा, सुनीता पांचाल, शशि सैनी, हरकेश कुमार, अमर सिंह रंगा, अजय कुमार, सुनील सभ्रवाल, सूरजभान नरवाल, नराता राम, डाॅ. जगराम, रणधीर सिंह, बलबीर सिंह, इनेलो के जिला प्रधान कुलदीप मुल्तानी, रामकरण काला, योगेश शर्मा, नलिन गोयल, नितिन गोयल, सतबीर शर्मा, नितिन भारद्वाज लाली, संदीप टेका, सुल्तान ब्राह्मण माजरा, सरपंच संदीप बाल्मीकि, चंद्रभान बाल्मीकि, कर्ण सिंह ईश्हाक, नक्षत्र, डाॅ बाबूराम गुप्ता, कलावती सैन, हिमांशु अरोड़ा, सुरेंद्र सैनी, मोहित सैनी, दीपक फौजी, अमनदीप कांबोज, पवन शर्मा पहलवान सहित अनेक इनेलो नेताओं ने संबोधित करते हुए गठबंधन को और अधिक बनाने पर बल दिया। 
दिग्विजय सिंह चौटाला की 27 अप्रैल को ऐलनाबाद में बैठक


सिरसा: छात्र संघ के चुनावों पर राज्य सरकार को झुकाने के लिए बाध्य करने पर छात्र संगठन इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला 27 अप्रेल को सुबह 10 बजे ऐलनाबाद की अग्रवाल धर्मशाला में इनसो पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का आभार प्रकट करने के लिए विशाल बैठक को संबोधित करेंगे। 
इस बैठक की सफलता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से मंगलवार को युवा इनेलो, छात्र संगठन इनसो व बसपा के युंवा टीम के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने संयुक्त रूप से बैठक की। युवा इनेलो के जिलाध्यक्ष अजब ओला की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में मुख्य रूप से इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन शामिल हुए। उनके अलावा बसपा के जिलाध्यक्ष रविंद्र बाल्याण व प्रो. विनोद कुमार भी बैठक में विशिष्ट रूप से मौजूद थे। इस अवसर पर इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन ने कहा कि इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला के मार्गदर्शन में पूरे छात्र संगठन ने जिस प्रकार छात्र संघ के चुनाव कराने के लिए संघर्ष किया वह काबिलेतारीफ है। इस एकजुट संघर्ष से ही सफलता मिली है और राज्य सरकार छात्र हित से जुड़े छात्र संघ के चुनाव कराने के लिए बाध्य हुई है। उन्होंने कहा कि छात्र संगठन इनसो छात्र हितों के लिए पूरी तरह समर्पित संगठन है और वह सदैव उनके हितों को प्राथमिकता देते हुए संघर्षरत रहेंगे। युवा इनेलो के जिलाध्यक्ष अजब ओला ने कहा कि भाजपा कुशासन को जड़ से उखाडऩे का अब समय अब निकट आ गया है और सभी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को समर्पित भाव से घर-घर जाकर इनेलो बसपा गठबंधन की कल्याणकारी नीतियों के बारे में जागृति फैलानी होगी और भाजपा के कुशासन की गाथा बतानी होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आगामी सरकार गठबंधन की होगी और हरियाणा को सही तरीके से विकास की डगर पर चलाया जाएगा। मजदूर और किसान के हितों में फैसले लेकर उन्हें अमलीजामा पहनाया जाएगा। बसपा के जिलाध्यक्ष रविंद्र बाल्याण ने कहा कि इनेलो बसपा का गठबंधन दो दलों का नहीं दो दिलों का गठबंधन है। बसपा की युवा इकाई भी अपनी पूरी ताकत और ऊर्जा से प्रदेश से भाजपा को उखाड़ फैंकने के लिए कृतसंकल्प रहेगी। इस दिशा में जो भी दोनों दलों के नेताओं के आदेश मिलेंगे, उसे पूरी तरह से अमल में लाया जाएगा। इस अवसर पर कुलदीप करीवाला, जगजीत रानियां, कर्मवीर सिंह ओढ़ां, नरेश सहारण, भगवान कोटली, अंजनी लढ़ा, विजय कुमार कालांवाली, अमनदीप गिल, राजीव जाखड़, अशोक मोंगा व सौरभ शर्मा आदि अनेक पदाधिकारी मौजूद थे। 
प्रदेश में भाईचारा बहाल करने का लिया संकल्प, गले मिले इनेलो-बसपा कार्यकर्ता 


फतेहाबाद: इनेलो और बसपा ने गठबंधन के बाद जारी कार्यकर्ता मिलन समारोहों की कड़ी में सोमवार को स्थानीय जाट धर्मशाला में जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया। इस कार्यक्रम के जरीये दोनों दलों के बड़े नेताओं, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को गले मिलकर गठबंधन की बधाई दी और आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों में एकजुटता के साथ एकतरफा जीत दर्ज करने का संकल्प भी लिया। कार्यकर्त्ता सम्मेलन को इनेलो किसान प्रकोष्ठ प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह, बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेन्द्र प्रजापति, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक बलवान दौलतपुरिया, रविन्द्र बलियाला, बसपा प्रदेश महासचिव कृष्ण जमालपुर, पूर्व विधायक रणसिंह बैनीवाल, इनेलो राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, बसपा जिला प्रभारी डॉ मीरा नंदा, मांगेराम कश्यप, इनेलो जिलाध्यक्ष बलविन्द्र कैरों, बसपा जिलाध्यक्ष एडवोकेट पीएस फानर, इनेलो वरिष्ठ नेता कुलजीत कुलडिया, मोलूराम रूहलानियां, महिला नेत्री विद्या रत्ति आदि ने मुख्य रूप से संबोधित किया।
दोनों दलों के नेताओं ने दावा किया है कि अगले लोकसभा और विधानसभा चुनाव में कमेरा और किसान मिलकर लुटेरों को सत्ता से बेदखल करेंगे। इसके लिए दोनों दलों के नेता और कार्यकर्ता मिलकर जनता के बीच जाएंगे और सरकार की जनविरोधी नीतियों से अवगत करवाने का अभियान चलाएंगे। वक्ताओं ने इनेलो-बसपा गठबंधन को हरियाणा प्रदेश की राजनीतिक बदलाव की अहम कड़ी बताते हुए दावा किया कि गठबंधन आगामी चुनावों में बड़ी जीत दर्ज करके हरियाणा प्रदेश को विकास की पटरी पर लाने का काम करेगा और देश में बसपा प्रमुख मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे को मजबूत करके मोर्चे की सरकार बनाएगा। इनेलो नेताओं ने कहा कि इनेलो और बसपा के बीच हुए गठबंधन से भाजपा-कांग्रेस की नींद उड़ गई है। अब इस गठबंधन का उदेश्य बहन मायावती और इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला की राजनीतिक सोच पर काम करते हुए किसान और कमेरे वर्ग का भला करना है। इसीलिए दोनों पार्टियां बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर के विचारों को आत्मसात करके प्रदेश की राजनीति को नई दिशा देंगे। इनेलो नेताओं ने कार्यकर्त्ताओं के उत्साह से गदगद होते हुए कहा कि यह गठबंधन देश-प्रदेश में अच्छे दिनों का सब्जबाग दिखाकर जनता को ठगने वालों से आमजन को इंसाफ दिलाने की नींव है और आगामी चुनावों में इसके अच्छे परिणाम देश-प्रदेश हित में मिलेंगे। बसपा नेताओं ने कहा कि आज हालात बद् से बद्तर हो चुके है। महिलाएं घरों में भी सुरक्षित नहीं रही। व्यापारी मंदी की मार झेल रहा और बदमाशों के कारनामों से दहशत में हैं। कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर सरकार को कोस रहा है। किसान को भाजपा सरकार ने बर्बाद कर दिया है। बसपा प्रमुख मायावती व इनेलो सुप्रीमो औमप्रकाश चौटाला के मार्गदर्शन में अब इनेलो और बसपा मिलकर देश व प्रदेश की जनता को सुशासन प्रदान करेंगे। बसपा नेताओं ने कहा कि भाजपा ने हर वर्ग के साथ जो धोखा किया है उसका बदला जनता की ओर से बसपा इनेलो का गठबंधन लेगा। इस अवसर पर बसपा जिला प्रभारी बलवान सिंह भनखड़, उपाध्यक्ष शकुंतला महमी, जिला महासचिव ईश्वर बागड़ी, इनेलो वरिष्ठ नेत्री सत्या विद्यार्थी, सुमनलता सिवाच, इनेलो हलकाध्यक्ष भरत सिंह परिहार, शहरी प्रधान पवन चुघ, पूर्ण नारंग, बिकर सिंह हड़ोली, हरि सिंह मेहरिया, हरबंस खन्ना, राकेश सिहाग, बलदेव चौधरी, नितिन खिलेरी, खैराती लाल छौक्करा, अनिल नहला, बसपा जिला कोषाध्यक्ष शमशेर भुक्कल, जितेन्द्र एडवोकेट, अमरजीत कौर, बनवारी लाल खोबड़ा, कारु अजमेर सिंह, रमेश लाली, सुभाष गुर्ज्जर, यश तनेजा, सतेन्द्र श्योराण, राजेश ठाकुर सहित इनेलो-बसपा के अनेक कार्यकर्त्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।
सरकारी खरीद एजेंसी द्वारा गेहूँ की पेमेंट ना मिलने से व्यापारी व किसान परेशान- भगवान दास 


नरवाना: इंडियन नेशनल लोकदल के व्यापार सेल के प्रदेश उपाध्यक्ष भगवान दास ने आज नरवाना की अनाज मण्डी का दौरा किया व किसानों तथा व्यापारियों का हाल जाना। किसानों ने बताया कि हमने अपना खून पशीना एक करके जो गेहूँ की फसल उगाई थी उसे सरकार को बेचे हुए आज दस से बारह दिन हो चुके हैं लेकिन आज तक एक भी पैसा सरकार की तरफ से नहीं आया है। जब इस बारे आढतियो से बातचीत की ग ई तो उन्होंने बताया कि नरवाना मण्डी में दो एजेंसी गेहूँ की खरीद कर रही हैं यह खरीद दस अप्रैल से शुरू हुई थी। जिसमें फूड एण्ड सप्लाई ने तकरीबन पांच लाख बैग तथा हैफड ने 8.53 लाख बैग की खरीद की है। तथा फूड एंड सप्लाई की तरफ करीब 41 करोड रूपये तथा हैफेड की तरफ 50 करोड़ रुपये की पेमेंट बकाया है। जिस वजह से किसान का पैसा देने में परेशानी हो रही है। भगवान दास ने कहा कि ये सरकार की गलत नीतियों कि वजह से हो रहा है क्योंकि ये सरकार नहीं चाहती कि किसान खुशहाल हो आज जब फसल अच्छी है तो किसान को पैसा नहीं मिल रहा जब तक पैसा नहीं मिलेगा किसान अगली फसल की तैयारी कैसे करेगा।उन्होने कहा कि यह सरकार जुमला सरकार बन कर रह गई है । सरकार के नुमांइदे अपना उल्लू सीधा करने में लगे हुए हैं। इन्हें जनता से कुछ नहीं लेना
इनका तो यही कहना है- "भाड़ में जाये जनता,जब अपना काम है चलता"
भगवान दास ने कहा कि जब चौ. औम प्रकाश चौटाला जी मुख्यमंत्री थे तब 72 घण्टे में किसान को उसकी फसल का पैसा मिल जाता था। उन्होंने कहा कि सरकार या तो एक सप्ताह के अन्दर किसान के पैसे की अदायगी करदे नहीं तो इण्डियन नेशनल लोकदल धरना व प्रदर्शन करने पर मजबूर होगी। इस मौके पर उनके साथ चौ. छोटू राम बेलरखा, कृष्ण चहल, राजबीर सहारण,नरेन्द्र चहल, बलवान नैन धमतान, राममेहर जांगडा, रमेश मौण, बालकिशन शर्मा, हिम्मत सिंह, तरसेम बंसल, राजेन्द्र गर्ग, कृष्ण गोयल, पंकज सिंगला व पूर्व प्रैस प्रवक्ता नन्दलाल शर्मा आदि मौजूद थे।