Thursday, July 19, 2018

नौकरी खोने की तलवार लटक रही हो, तो कैसे पढ़ा पाएंगे बच्चों को शिक्षक

शिक्षकों के 52 हजार पद खाली पड़े हैं शिक्षकों के 

नई दिल्ली, हिसार: बरसों से हरियाणा के सरकारी स्कूलों में कार्यरत गेस्ट टीचर्स और कम्प्यूटर टीचर्स की नियमित भर्ती का मुद्दा सत्र के पहले ही दिन लोकसभा में गूंजा। इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यत चौटाला ने गेस्ट टीचर्स और कंप्यूटर टीचर्स का मुद्दा उठाते हुए केंद्र सरकार से इन्हें पक्का करने की मांग की। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जब शिक्षकों पर नौकरी से हटने की तलवार लटक रही हो तो वह बच्चों को अच्छी शिक्षा कैसे दे सकते हैं। 
इनेलो सांसद ने निशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार वित्तीय संशोधन बिल पर चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि हरियाणा सहित देश के कई अन्य राज्यों में अतिथि अध्यापक व शिक्षामित्र बरसों से कार्यरत हैं परन्तु इनकी नौकरी पर सुप्रीम कोर्ट की तलवार लटक रही है। यदि किसी शिक्षक पर नौकरी खोने का डर हो तो भला व अपने शिक्षण कार्य से कैसे न्याय कर पाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल किया कि केंद्र सरकार स्पष्ट करे कि गेस्ट टीचर्स की नियमित करने के लिए वह क्या कदम उठा रही है। 
इनेलो सांसद ने कहा कि हरियाणा में 52 हजार से अधिक शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं। उन्होंने बिल संशोधन के तहत देश में पांचवी व आठवीं कक्षा में बोर्ड की परीक्षाएं आयोजित करने के फैसला का स्वागत तो किया परन्तु उन्होंने इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों के लिए परीक्षाएं आयोजित करने प्रणाली और तौर तरीकों को लेकर सवाल खड़े किए।  उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी है और बिना शिक्षकों के सरकारी स्कूलों में बच्चे ड्राप आउट हो जाने का खतरा बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा कि खेद की बात है कि जो गेस्ट टीचर्स स्कूलों में लगे हैं उनको नियमित करने के लिए सरकार विचार नहीं कर रही है। 

काबरेल स्कूल में सभी छात्राएं फेल हो गई...
युवा सांसद दुष्यंत ने लोकसभा में गांव काबरेल के सरकारी स्कूल का हवाला देते कहा कि स्कूल में शिक्षकों की कमी के चलते वहां पढऩे वाली सभी छात्राएं बोर्ड की परीक्षा में फेल हो गई। सांसद ने कहा कि दसवीं की कक्षा में सभी छात्राएं इसलिए फेल हो गई क्यों कि उपरोक्त स्कूल में विभिन्न विषयों के शिक्षक स्कूल में थे ही नहीं। उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल पूछा कि केंद्र सरकार इन खाली पड़े पदों पर नियमित भर्ती के लिए क्या जरूरी कदम उठाने जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में स्थायी शिक्षकों की कमी के चलते पिछले पांच वर्षों में पांच लाख 87 हजार से अधिक बच्चों की कमी हो गई है। 

कंप्यूटर टीचर की नियमित भर्ती करे सरकार
दुष्यंत ने लोकसभा में कहा कि सरकार ने विभिन्न स्कीमों के तहत कम्प्यूटर तो सरकारी स्कूलों में भेज दिए परन्तु इनके लिए कम्प्यूटर टीचर नहीं है और न ही सरकारी स्कूलों में बिजली की व्यवस्था है। इनेलो सांसद ने कहा कि आईटी को बढ़ावा देने के लिए सरकार स्कूलों में कम्प्यूटर टीचर्स की नियमित भर्ती करे। 

Wednesday, July 18, 2018

सत्ता में आने पर निजी कंपनियों में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा- दिग्विजय चौटाला 


रोहतक/बहादुरगढ़, 18 जुलाई : इनसो के स्थापना दिवस के आयोजन का न्यौता देने बहादुरगढ़ और रोहतक पहुंचे इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने यह भी कहा कि सत्ता में आने के बाद युवाओं को पूर्ण भागीदारी दी जाएगी। साथ ही प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने के लिए निजी कंपनियों में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा। 
इनसो नेता ने यह भी कहा कि किसानों के लिए ट्यूबवैल व उसका कनेक्शन इनेलो सरकार आने पर मुफ्त दिया जाएगा। गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए कन्यादान के तौर पर इंडियन नेशनल लोकदल की सरकार देने का काम करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। महिलाओं व बच्चों पर अपराध की दर बढ़ी है। भाजपा के शासन में प्रदेश का आपसी भाईचारे को तोडऩे का भी काम किया है। कांग्रेस व भाजपा ने मिलकर प्रदेश को तीन बार हिंसा आग में जलाया है। 
उन्होने बड़ी संख्या में युवाओं से 5 अगस्त को कैथल में पहुंचने का आह्वान किया। इस अवसर पर युवाओं ने युवा नेता को डा. अजय सिंह चौटाला और युवा सांसद दुष्यंत चौटाला की प्रतिमाएं स्मृति चिह्न के रूप में भेंट की।
अपराधिक मामलों में भाजपा ने पेश किये गलत आंकड़े- कृष्ण गुम्बर 


सिरसा: इनेलो के शहरी प्रधान कृष्ण गुंबर ने कहा कि जब से विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने प्रदेश में एसवाईएल का मुद्दा जोरशोर से उठाना आरंभ किया है तभी से सत्तापक्ष और कांग्रेस नेताओं को तकलीफ होनी आरंभ हो गई हैं क्योंकि दोनों ही राजनीतिक दलों के नेता नहीं चाहते कि एसवाईएल का पानी हरियाणा के किसानों को मिले और वे खुशहाल बनें। बुधवार को जारी बयान में इनेलो पदाधिकारी ने कहा कि आज पूरे हरियाणा में इनेलो बसपा गठबंधन की चर्चा है और लोग अधिक से अधिक संख्या में गठबंधन से जुड़ रहे हैं क्योंकि गठबंधन का मुख्य उद्देश्य किसान और कमेरा वर्ग को लाभान्वित करना है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से गठबंधन को प्रदेश में समर्थन हासिल हो रहा है, निश्चित ही आने वाला समय गठबंधन का होगा। गुंबर ने कहा कि गठबंधन ने हमेशा जनहित के मुद्दों को लेकर संघर्ष किया है और इस बार भी एसवाईएल जैसे संवेदनशील मुद्दे पर इनेलो बसपा गठबंधन जेल भरो आंदोलन के माध्यम से केंद्र सरकार को संदेश दे रहे हैं कि वह सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को जल्द से जल्द लागू कराए। उन्होंने कहा कि हरियाणा की जीवनरेखा माने जाने वाली एसवाईएल के लिए इनेलो ने पिछले दो सालों के दौरान विभिन्न चरणों में जो संघर्ष किया है, उससे प्रदेशवासियों को स्पष्ट हो चुका है कि यही दल पूरी तरह से हरियाणा के हितों को संरक्षित करने वाला है। उन्होंने कहा कि भाजपा आज केवल झूठी घोषणाओं और जुमलों की पार्टी बनकर रह गई है। गुंबर ने कहा कि प्रदेश की जनता से छलावा करने वाली भाजपा की नीतियों से आज किसान, गरीब, कमेरा, दलित, व्यापारी, महिला, युवा सहित सभी वर्ग परेशान हैं और सड़कों पर प्रदर्शन को मजबूर हैं। इनेलो पदाधिकारी ने कहा कि प्रदेश में बढ़ी आपराधिक घटनाओं से आज प्रत्येक हरियाणवीं का सिर शर्म से झुक गया है और भाजपा गलत आंकड़ा देकर लोगों को गुमराह करने पर तुली है। उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा ने प्रत्येक वर्ष 2 करोड़ रोजगार देने की घोषणा की थी। उसके अलावा हरियाणा में कर्मचारियों को पंजाब की तर्ज पर वेतनमान देने, व्यापारियों को अधिकाधिक सुविधाएं देने, महिलाओं को सुरक्षा देने, युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने जैसे अनेक वायदे किए थे जिनमें से साढ़े तीन वर्ष से अधिक का समय बीतने के बावजूद एक भी पूरा नहीं किया गया। भाजपा सरकार केवल विकास का झूठा नारा देकर लोगों को छल रही है मगर अब प्रदेशवासी उसकी असली हकीकत जान चुकी है। आगामी चुनावों में प्रदेशवासी उसे सत्ता से बेदखल कर इनेलो बसपा गठबंधन को मौका देगी।
लोकसभा सत्र में दुष्यंत के पिटारे से निकलेंगे युवा और किसानों से जुड़े मुद्दे


हिसार: लोसकभा सत्र में सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरने के लिए सांसद दुष्यंत चौटाला ने विशेष रणनीति बनाई है। इस सेशन में सांसद न केवल सरकार से रोजगार, फसल बीमा योजना, महिला विरूद्ध अपराध सहित विभिन्न मुद्दों पर जवाब मांगेंगे बल्कि देश भर में जिला प्रशासन द्वारा सांसदों के प्रति विकास कार्यों में असहयोगात्मक रवैये को भी लोकसभा के पटल पर रखेंगे। दस अगस्त तक चलने वाले इस लोकसभा के इस सत्र में स्थानीय मुद्दों के साथ साथ प्रदेश में हुए दवा घोटाले का मुद्दा भी उठाएंगे। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार से उपरोक्त मुद्दों पर जवाब तलबी करने के लिए न केवल लिखित प्रश्न पूछे हैं बल्कि सदन में जीरो ऑवर व नियम 377 के तहत हिसार लोकसभा के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बुधवार से शुरू हो रहे सेशन के लिए 100 से अधिक लिखित प्रश्न तैयार किए हैं। सांसद ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट सांसद आदर्श ग्राम योजना का जमीनी स्तर पर क्या हश्र है, इसका खुलासा लोकसभा के पटल पर करेंगे। सांसद ने बताया कि हिसार ही नहीं देश के अधिकतर सांसदों के साथ जिला प्रशासन ऐसा ही रवैया अपना रहा है जैसा कि मेरे लोकसभा क्षेत्र के गोद लिए गांवों के साथ प्रशासन अपना रहा है। लोकसभा में बताएंगे कि किस तरह से अधिकारी गोद लिए गांवों को तिरस्कृत कर रहे हैं। इन गांवों में राज्य सरकार की योजनाएं तो दूर केंद्र सरकार की एक भी योजना प्रभावी ढंग से लागू नहीं की जा रही है। एक बानगी तो देखिए, गोद लिए गांव घुसकानी में तो सरकार ने स्कूल की बिल्डिंग को तोड़ कर बच्चों को पढऩे के लिए टेंट में बैठा दिया। इतना ही नहीं स्कूल की बिल्डिंग का मेटिरियल भी सरकार ने लाखों रूपये में बेच कर अपना खजाना भर लिया। 
सांसद दुष्यंत ने बताया कि प्रधानमंत्री की एक और महत्वाकांक्षी फसल बीमा योजना औंधे मुंह गिरी है। इस मामले को भी वह फिर से लोकसभा में उठाएंगे और केंद्र सरकार से जवाब मांंगेगे कि किसान का प्रीमियम लेने के बाद भी हिसार के किसानों को बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा एक वर्ष बाद तक क्यों नहींं दिया जा रहा। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हिसार लोकसभा क्षेत्र के साथ साथ पूरे हरियाणा में पानी की किल्लत के मामले को भी प्रमुखता से लोकसभा में रखेंगे। हालात ये हैं कि लोगों को पीने का स्वच्छ पानी भी नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि दक्षिण हरियाणा के लोग आज भी पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं और हरियाणा सरकार ने अभी तक इन्हें पीने का पानी उपलब्ध करवाने के लिए कोई भी कारगर योजना लागू नहीं की। सांसद ने हैरानी जताते हुए कहा कि पेट्रोल एवं डीजल के भाव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तुलनात्मक रूप से काफी कम हैं परन्तु केंद्र की भाजपा सरकार आज तक पेट्रोल डीजल के भाव कम करने की बजाय लगातार बढ़ा रही है। उन्होंने बताया कि बुधवार से शुरू हो रहे लोकसभा के सत्र में सरकार से यह भी पूछा जाएगा कि पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों को रोकने के लिए सरकार क्या कदम उठा रही है।
युवा सांसद ने बताया कि हरियाणा सहित देशभर में गेस्ट टीचर पर नौकरी हटने की तलवार हर समय लटकती रहती है। उन्होंने कहा कि इस बार सेशन में वह हरियाणा के गेस्ट टीचर्स को पक्का करने की मांग भी उठाएंगे। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि प्रदेश भर के कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर पिछले कई महीनों से आंदोलनरत हैं और सरकार उनकी अनुसनी कर रही है। सांसद ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली की कर्मचारियों की मांग जायज है और मांग को वह लोकसभा में जोर-शोर से उठाएंगे। 
राखी गढ़ी गांव के सैंकड़ों परिवारों को घर उजाडऩे एवं बीड़ बबरान, ढंढूर, झिड़ी सहित पांच गांवों को उजाडऩे के मामले  को भी लोकसभा में उठाएंगे तथा केंद्र सरकार से उन्हें न उजाडऩे की गुजारिश भी करेंगे। इस बार लोकसभा में सांसद दुष्यंत प्रदेश भर में पुरातत्व महत्व की इमारतों के रख-रखाव के लिए उठाए जा रहे कदमों को लेकर भी जवाब मांगेगे। 
दरिया की जिद है रास्ता नहीं दूंगा...पर तय हमने भी कर लिया समुद्र को पार करना- दुष्यंत


भिवानी: आज फिर जेल भरो आंदोलन के समापन समारोह में दुष्यंत चौटाला शायराना अंदाज में दिखे। अनाज मंडी में जेल भरो आंदोलन के समापन समारोह में उमड़े जनसैलाब को संबोधन के दौरान दुष्यंत ने अपनी बात कुछ इन शब्दों में समाप्त की...दरिया की जिद है रास्ता नहीं दूंगा... पर तय हमने भी कर लिया समुद्र को पार करना है। सांसद के इन पंक्तियों से पंडाल कई देकर तक तालियां की गडग़ड़ाहट से गूंजता रहा। दरअसल युवा सांसद ने शायराना अंदाज में भाजपा सरकार को ललकारा था। उन्होंने एसवाईएल नहर के निर्माण में हो रही देरी के संदर्भ में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश आ चुका है परन्तु प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार एसवाईएल नहर को लेकर टस से मस नहीं हो रही है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपने पिता एवं भिवानी से सांसद रहे अजय चौटाला का जिक्र किया तो..एक बार पंडाल में खामोशी सी पसर गई पर दुष्यंत ने ज्यों ही....सड़क पर गढ्ढे, खेत बिन पाणी, अजय नै याद करै उसकी भ्याणी कहा तो पंडाल में मौजूद लोगों का जोश चरम पर पहुंच गया। 
नई अनाज मंडी में उमड़े हजारों लोगों की भीड़ को संबोधित करते हुए युवा सांसद ने कहा कि चार वर्ष के खोखले विकास के जश् न में देश एवं प्रदेश की भाजपा सरकार डूबी हुई है। भाजपा को हरियाणा के हितों की तनिक भी चिंता नहीं है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला हरियाणा के हक में है परन्तु अभी तक केंद्र की भाजपा सरकार ने एक बार भी एसवाईएल नहर के निर्माण का जिक्र तक नहीं किया। उन्होंने कहा कि एसवाईएल नहर से प्रदेश के किसानों के किसानों का भाग्य सीधा जुड़ा है। उन्होंने कहा कि भाजपा का रोजगार देने का वायदा पूरी तरह से झूठा साबित हुआ है और प्रदेश के युवा रोजगार के लिए दर-दर भटक रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की मनोहर लाल खट्टर सरकार पहले से रोजगार प्राप्त युवाओं को नौकरी से निकालने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि सरकारी महकमों को प्रदेश की भाजपा सरकार ठेके पर देने पर अड़ी हुई है। 
सांसद दुष्यंत चौटाला ने सीएम मनोहर लाल खट्टर पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ऊंट रेहड़े पर नाच कर टेल पर पानी पहुंचाने का दम भरने वाले सीएम साहब टेल तो दूर प्रदेश के वाटर वक्र्सों में भी पीने का पानी नहीं है। मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता को यह बताएं कि आज तक दिल्ली को 800 क्यूसिक पानी हरियाणा का क्यों दिया जा रहा है और एसवाईएल के लिए मुख्यमंत्री एक बार भी प्रधानमंत्री से मिले। 
महिलाओं की उमड़ी भीड़ से गदगद युवा सांसद ने कहा कि मातृशक्ति के आशीर्वाद से ही इस बार प्रदेश में इनेलो की सरकार बनाएगी। उन्होंने सरकार के 24 घंटे बिजली देने के दावों की पोल खोलते हुए कहा कि प्रदेश में एक भी गांव ऐसा नहीं है जहां निर्बाध रूप से 10 घंटे भी बिजली आती हो। गांव में सिर्फ एक से दो घंटे ही बिजली आती है और टयूबवैल के लिए बिजली में कटौति कर रखी है। उन्होंने प्रदेश के युवाओं से आह्वान किया कि वे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मार्ग दर्शन में सरकार की ईंट से र्इंट बजाएं। सांसद ने अपना संबोधन कुछ यूं कहते हुए समाप्त किया कि अभी तो हम हैं लगे हालात बदलने में, किसान-कमेरे-युवा के साथ चलने में, देखने लगे हैं हवाओं में ताकत कितनी है, हमें वक्त नहीं लगेगा, इस देश का तख्त बदलने में।   
भाजपा द्वारा आश्वासन न मिलने पर 18 अगस्त को हरियाणा बंद का आयोजन करेंगे- अभय चौटाला 


भिवानी : एसवाईएल कैनाल के निर्माण के लिए चल रहे वर्तमान जेल भरो आंदोलन के अंतिम चरण में इनेलो एवं बसपा गठबंधन के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने घोषणा की कि यदि भाजपा सरकार इसके निर्माण को शुरू करने बारे कोई संतोषजनक आश्वासन नहीं दे सकी तो यह गठबंधन 18 अगस्त को प्रदेशभर के शहरों एवं कस्बों में ‘बंद’ का आयोजन करेगा। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि इस संबंध में प्रदेशभर के व्यापारियों ने अपने सहयोग का आश्वासन गठबंधन को दिया है।
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि सरकार के किसी संतोषजनक आश्वासन के अभाव में इनेलो आगामी विधानसभा सत्र को भी बाधित करेगा। इस प्रकार इस सरकार पर इनेलो-बसपा गठबंधन तब तक दबाव बनाता रहेगा जब तक केंद्र और राज्य सरकार मिलकर हरियाणा को उसके हिस्से का नदी जल एसवाईएल के माध्यम से नहीं दिलवा देती। इसके अतिरिक्त दादूपुर-नलवी नहर के निर्माण को फिर से शुरू करने और मेवात क्षेत्र के लिए आगरा कैनाल से समय पर जल लाने के लिए भी गठबंधन निरंतर प्रयास करता रहेगा। 
अभय सिंह चौटाला ने एसवाईएल नहर के निर्माण न होने का दायित्व चौधरी बंसीलाल पर डाला और कहा कि उन्हीं के कारण इस नहर के निर्माण में प्रारंभ से ही बाधाएं डाली गई। उनके विपरीत इस नहर के निर्माण में सबसे महत्वपूर्ण योगदान चौधरी देवीलाल का है जिन्होंने इसे प्रारंभ करने के लिए पंजाब सरकार को पहले एक करोड़ रुपए की राशि दी थी। उसके पश्चात वर्ष 1987 में पुन: मुख्यमंत्री बनने पर चौधरी देवीलाल ने ही नहर निर्माण के अधिकांश कार्य को पूरा करवा लिया था। तदोपरांत चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने अपने प्रयासों से एसवाईएल नहर के मुकद्दमे की पैरवी उच्च एवं सर्वोच्च न्यायालय में सफलतापूर्वक करवाई। यह दुर्भाग्य की बात है कि सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय जब हरियाणा के पक्ष में आ गया तब भी बाद की सरकारें उसके आदेशों का पालन करवाने में पूरी तरह से असफल रहीं। 
नेता विपक्ष ने जनता से यह आह्वान किया कि वे इनेलो-बसपा गठबंधन को उसी प्रकार का जनादेश दें जैसा उन्होंने वर्ष 1987 में दिया था ताकि उस जनादेश के आधार पर वह एक भगीरथी प्रयत्न करते हुए राज्य में एसवाईएल के निर्माण को पूरा करवाकर दक्षिण हरियाणा के किसानों की जल समस्या का समाधान कर सकें। उन्होंने आश्वासन दिया कि जनादेश मिलने पर वह ऐसा ही करेंगे।
नेता विपक्ष ने मोदी सरकार को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि भाजपा ने वर्ष 2014 के चुनाव को झूठे वायदों की नींव पर जीता था। इसके अतिरिक्त तब जनता बदलाव की तलाश में थी और कांग्रेस का कोई अन्य विकल्प न होने के कारण भाजपा को बहुमत दिया गया। परंतु अब देश में तीसरा मोर्चा एक ठोस विकल्प के रूप में उभरा है और जहां जनता लोकसभा में बहन मायावती के नेतृत्व में इस मोर्चे को समर्थन देगी वहीं राज्य में इनेलो और बसपा का गठबंधन विधानसभा चुनाव में विजय हासिल करेगा। उनकी इस बात की पुष्टि करते हुए राज्य बसपा के अध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि इनेलो-बसपा का गठबंधन एक मजबूत चट्टान की तरह अडिग है क्योंकि दोनों दलों के लिए जनकल्याण सर्वोपरि है। उन्होंने यह भी दावा किया कि इनेलो और बसपा में टिकटों को लेकर भी विवाद को लेकर कोई मसला नहीं है क्योंकि इसका बंटवारा उसी दिन हो गया था जिस दिन यह गठबंधन ठोस रूप में लोगों के सामने आया। 
इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने राज्य में भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि भाजपा ने किसानों के साथ स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट की सिफारिशों को लागू करने के मामले में धोखा किया है। सही लागत मूल्य के अनुपात में मुनाफा न देकर भाजपा द्वारा जो किसान हितैषी होने का ढोल पीटा जा रहा है उसे प्रदेशाध्यक्ष ने एक भद्दा मजाक बताया है। प्रदेश सरकार हर क्षेत्र में, विशेषकर कानून व्यवस्था के मामले में, असफल रही है। इसके अतिरिक्त एसवाईएल के मामले में तो यह सरकार एकदम असहाय सिद्ध हुई है। 
हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपार जनसमूह का डॉ. अजय सिंह चौटाला की कर्मभूमि में स्वागत करते हुुए कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री राज्य के लोगों की समस्याओं के प्रति पूरी तरह से संवेदनहीन हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ वे दावा करते हैं कि लोहारू हलके के टेल तक वे पानी पहुंचा चुके हैं परंतु वास्तविकता उससे बहुत दूर है। हकीकत यह है कि राज्य के सीमित जल संसाधनों में से भी उन्होंने 800 क्यूसिक दिल्ली को देकर अपने हरियाणा विरोधी होने का सबूत दिया है क्योंकि वर्तमान में हरियाणा के पास अपना पीने का भी पूरा जल उपलब्ध नहीं है। जेल भरो आंदोलन के आज आखिरी दिन 37810 कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की गई। अभय सिंह चौटाला, अशोक अरोड़ा, प्रकाश भारती एवं दुष्यंत चौटाला सहित गिरफ्तार होने वालों में अन्य मुख्य लोग पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, जिला प्रधान सुनील लाम्बा, बसपा प्रभारी हरबक्श सिंह, इनेलो सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी व रामकुमार कश्यप, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, इनेलो विधायक रणबीर प्रजापति, ओमप्रकाश बरवा, अनूप धानक, प्रो. रविंद्र बलियाला, बलकौर सिंह, रामचंद कम्बोज, मक्खन लाल सिंगला, बसपा प्रदेश सचिव कृष्ण जमालपुर, कर्ण चौटाला, प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय, नरेंद्र गागड़वास, सभी विधायक-पूर्व विधायकों सहित हजारों गठबंधन कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।

Monday, July 16, 2018

महिलाएं, बच्चियां अपने ही घर में सुरक्षित नहीं - कृष्णा फौगाट  

सिरसा: इनेलो महिला जिलाध्यक्ष कृष्णा फौगाट ने कहा कि प्रदेश में जब से भाजपा सत्तारूढ़ हुई है तभी से महिलाओं के प्रति अपराधों में बेतहाशा बढ़ौतरी हुई है। सोमवार को जारी बयान में इनेलो महिला जिलाध्यक्ष ने कहा कि पूरे प्रदेश में हालात ये हैं कि महिलाएं और छोटी बच्चियां सार्वजनिक तो क्या अपने घरों में ही सुरक्षित नहीं हैं। नेशनल क्राइम रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा में महिलाओं से दुव्र्यवहार की सर्वाधिक घटनाएं हुई हैं जो सभी हरियाणावासियों के लिए शर्मसार करने वाली है। उन्होंने कहा कि चुनावों से पूर्व भाजपा ने प्रदेशवासियों से हरियाणा के समग्र विकास, महिलाओं के उत्थान और सुरक्षा, कर्मचारियों को पंजाब की तर्ज पर वेतन देने, किसानों को डॉ. स्वामीनाथन आयोग की तर्ज पर फसलों के भावों का लाभ देने के लिए आश्वासन दिए गए थे मगर लंबा समय बीतने के बावजूद ये आश्वासन केवल आश्वासन ही बने हुए हैं। कृष्णा फौगाट ने कहा कि भाजपा सरकार केवल बलात्कार और छेड़छाड़ के प्रति कानून बनाकर ही अपनी जिम्मेदारी की इतिश्री कर रही है जबकि हरियाणा में महिलाओं के प्रति माहौल इतना असुरक्षित हो गया है कि वे दिन में भी अपने घरों से निकलने में संकोच करती हैं। जिले के गांव कैरांवाली में दफनाई गई छोटी बच्ची का उदाहरण देते हुए फौगाट ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के प्रति बने असुरक्षित माहौल को देखते हुए अभिभावक भी बच्ची को जन्म देने से गुरेज कर रहे हैं। उन्होंने पुरजोर कहा कि इनेलो ही एकमात्र ऐसा राजनीतिक दल है जिसमें व्यापारियों, महिलाओं, युवाओं, मजदूर, किसान और कमेरे वर्ग के हित पूरी तरह सुरक्षित हैं।