Friday, June 15, 2018

भाजपा सरकार आंदोलन में भाग लेने पर जनता को डरा धमका रही है- अभय चौटाला

  
सोनीपत, 15 जून: नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह ‘जेल भरो आंदोलन’ में भाग लेने के मुद्दे पर जनता को डरा-धमका रही है। यह बात उन्होंने एसवाईएल, दादुपूर-नलवी व मेवात कैनाल का निर्माण और प्रदेश के हिस्से के पानी के लिए सोनीपत में हो रहे आंदोलन के दौरान कही। उन्होंने साथ में यह भी कहा कि अगर सरकार में हिम्मत है तो केवल एक दिन के लिए ही इनेलो-बसपा कार्यकताओं को जेल में बंद करके दिखाए। नेता विपक्ष ने केंद्र और राज्य सरकार पर एसवाईएल के निर्माण को लेकर प्रदेश की जनता को गुमराह करने का भी आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने की बजाए जनता को पानी न मिल इसके लिए नई-नई योजनाएं बना रही है। लेकिन इनेलो-बसपा गठबंधन हर आंदोलन में हजारों की तादाद में गिरफ्तारियां देकर सरकार को घुटने टेकने पर मजबूर कर देगा। उन्होंने सरकार को चेताते हुए यह भी कहा कि सरकार की नाकामियों के विरुद्ध लोगों की बढ़ती हाजरी भी इस बात का सबूत है कि वो प्रदेश के हकों के लिए किसी संघर्ष सेे नहीं डरते और सरकार को इस आंदोलन के आगे घुटने टेक कर नहर का निर्माण करवाना ही पड़ेगा। 


इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने का काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में इनेलो-बसपा गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्जमाफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। साथ ही हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए बुढ़ापा सम्मान पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी और प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी। उन्होंने याद दिलाया कि विधानसभा चुनाव 2014 के चुनावी घोषणा-पत्र में भाजपा ने वादा किया था वो एसवाईएल नहर का निर्माण करवाएंगे लेकिन चार साल केंद्र के और साढ़े तीन साल के प्रदेश सरकार के बीत जाने के बाद भी भाजपा ने कोई चुनावी वादा पूरा नहीं किया। नेता विपक्ष ने केंद्र सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि मोदी ने वादा किया था कि कांग्रेसियों केे द्वारा लूटा गया कालाधन विदेशों से वापिस लाएंगे और हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन चार साल बीत जाने के बाद भी किसी भी नागरिक के खाते में 15 नए पैसे भी जमा नहीं हुए।
इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि भाजपा राज में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। आज प्रदेश में दलित महिलाओं के साथ बलात्कार और यौन उत्पीडऩ जैसे संगीन अपराधों में वृद्धि हुई है और सरकार अपराधियों को गिरफ्तार कर दलितों को न्याय दिलवाने के बजाए उनके घर खाना-खाने का ढ़ोंग कर रही है। एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेंद्र प्रजापति, इनेलो विधायक रणबीर गंगवा, पिरथी नम्बरदार, अनूप धानक, पूर्व विधायक मामू राम गोंदर, रामफल कुंडू व रणबीर मंदोला, पदम सिंह दहिया, डॉ. केसी बांगड़, ब्रिगेडियर ओपी चौधरी, इनेलो नेत्री प्रोमिला मलिक, इनेलो प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण आत्रेय, कृष्ण राठी, बसपा जिलाध्यक्ष सतबीर रंगा सहित 35 हजार 369 लोगों ने गिरफ्तारियां दी।
फीस वृद्धि के विरोध में इनसो गरजी, राज्यपाल के नाम वाइस चांसलर को सौंपा ज्ञापन


सिरसा। छात्र संगठन इनसो ने प्रदेशभर के तमाम विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में फीस वृद्धि के विरोध में गुरुवार को महामहिम राज्यपाल के नाम पर चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डॉ. विजय कायत को ज्ञापन सौंपा और इस निर्णय को शिक्षा विरोधी करार देते उसे वापस लेने का आग्रह किया।
इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन के नेतृत्व में सौंपे गए इस ज्ञापन में कहा गया कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में नए शैक्षणिक सत्र के लिए फीस वृद्धि का तुगलकी फरमान जारी किया गया है जिससे प्रदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण करना ज्यादा महंगा हो गया है। छात्र संगठन ने कहा कि एक ओर देश में सर्वशिक्षा अभियान जैसी योजनाओं पर हजारों करोड़ खर्च हो रहे हैं वहीं फीस वृद्धि के कारण गरीब व साधारण वर्ग के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा से वंचित रखने का प्रयास किया जा रहा है। अत्यधिक महंगी फीस व जटिल दाखिला प्रक्रिया के कारण गरीब व ग्रामीण आंचल के छात्र अपनी पढ़ाई बीच में ही छोडऩे पर मजबूर हैं। छात्र नेताओं ने उल्लेखित किया है कि महंगी शिक्षा प्रणाली के कारण बहुत से होनहार छात्र उच्च शिक्षा ग्रहण करने से वंचित रह जाते हैं, इसलिए छात्र संगठन इनसो का पुरजोर आग्रह है कि विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में फीस वृद्धि के इस निर्णय को अविलंब वापस लिया जाना चाहिए ताकि प्रदेश का हर वर्ग का बच्चा उच्च शिक्षा ग्रहण कर सके। ज्ञापन में कहा गया कि सस्ती व गुणवत्तापरक शिक्षा के बगैर सर्वशिक्षा अभियान जैसी योजनाओं का कोई महत्व नहीं है। उन्होंने महामहिम से आशा जताई कि वे फीस वृद्धि के इस शिक्षा विरोधी कदम को तुरंत वापस लेकर विद्यार्थियों के हित को तरजीह देंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में इनसो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संदीप नैन के अलावा इनसो के प्रदेश उपाध्यक्ष सौरभ शर्मा, मोहित शर्मा, अमन मोर, बसपा के जिलाध्यक्ष रविंद्र बाल्याण, इदूखान, विशाल बेनीवाल, अमनदीप गाट, राहुल, अमन गिल, ऋषिपाल सिद्धु, सतीश कुमार, प्रमोद सहारण, मुकेश खीचड़, संचय गोयल, कुलदीप भाटिया सहित छात्र संगठन के अनेक पदाधिकारी व सदस्य मौजूद थे।
इनसो को मजबूत बनाने का काम करें चुनाव तो खुद जीत जाएंगे- दिग्विजय चौटाला 


चंडीगढ़: इंडियन नेशनल स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) अगामी छात्र संघ चुनाव में चंडीगढ़ के सभी सात कॉलेज और विश्वविद्यालय की सभी सीटों पर विजय परचम लहराएगी। यह बात इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने छात्रों को संबोधित करते हुए चंडीगढ़ में कही। उन्होंने यह भी कहा कि यहां के छात्र चुनाव का रूझान हरियाणा प्रदेश की राजनीति का मूड दर्शाता है इसलिए छात्र नेता कड़ी मेहनत कर अपने संगठन को मजबूत करने का काम करें। इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष ने यह भी कहा कि सभी उच्च शिक्षा संस्थानों में दाखिलों का समय चल रहा है तो यह हर इनसो सदस्य की जिम्मेदारी बनती है कि इन संस्थानों में नए छात्रों की हर संभव सहायता संगठन के लोग करे। उन्होंने यह भी कहा कि इनसो किसी प्रदेश, क्षेत्र व जाति विशेष का संगठन नहीं है यह डा. अजय सिंह चौटाला का लगाया और जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों से सींचा गया वह पौधा है जिसमें हर समाज, हर प्रदेश और हर सकारात्मक विचारधारा के लिए सम्मान और स्थान है।
दिग्विजय चौटाला ने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि छात्र इनसो को मजबूत बनाने का काम करें चुनाव तो खुद जीत जाएंगे। उन्होंने आगे यह भी कहा कि जिस प्रकार हरियाणा प्रदेश में बसपा-इनेलो गठबंधन है उसी तर्ज पर इन छात्र संघ चुनाव में सभी दलित छात्र संगठनों से सहयोग के लिए बात की जाएगी, क्योंकि इनसो और बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर जैसे संगठनों की विचारधारा समान है और समाज को जोडऩे वाली है। इनसो नेता ने छात्र संघ चुनावों को प्रदेश में होने वाले आम चुनाव और विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल बातते हुए कहा कि अगर इन चुनावोंं में आप जीतकर आते हो तो हरियाणा में सौ फीसदी इनेलो की सरकार बनेगी। प्रदेश की आबादी की लगभग 65 प्रतिशत वोटर युवा है जो इन चुनावों से प्रभावित होता है इस लिए इनसो को चंड़ीगढ में होने वाले छात्र संघ चुनाव को जीतने में कोई कोर-कसर नहीं छोडऩी है। साथ ही उन्होंने 5 अगस्त को इनसो स्थापना दिवस के अवसर पर सभी को कैथल आने का न्यौता भी किया।
इस बैठक में हिस्सा लेने वालों में इनसों राष्ट्रीय उपध्यक्ष जसविंद्र खैरा, गौतम नैन, अंकित, विनीत, अनिल ढुल, सुमित, सरब धालीवाल, पंकज, संजय सांगवान, विवेक, सचिन और विनोद सहित अनेक इनसो सदस्य शामिल थे।
हरियाणा स्कूल लेक्चरर एसोसिएशन ने अपनी मांगों को लेकर अभय चौटाला को सौंपा ज्ञापन 


सिरसा: हरियाणा में इनेलो की सरकार बनने पर लैक्चररों की पेंशन नीति में बदलाव करके उसे लागू  किया जाएगा और उनकी जो भी मांगे लंबे समय समय से लंबित पड़ी है उन्हें पूरा किया जाएगा। ये बात नेता प्रतिपक्ष और इनेलो के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला ने अपने सिरसा स्थित आवास पर हरियाणा स्कूल लैक्चरर एसोसिएशन की मांगों का ज्ञापन लेने के बाद कही। ज्ञापन देने वालों में सुरेन्द्र थोरी, कृष्ण खिचड़, राजकुमार कसवां, विधाधर बैनीवाल, प्रहलाद बैनीवाल, अमित मन्दूर, प्रेम कंबोज, सुनील वर्मा, रतन वर्मा, जसवंत बिरड़ा आदि मुख्य रूप से मौजूद थे। इस मौके पर उन्होने लैक्चररों से कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो आपका पूरा मामला में विधानसभा में भी उठाऊंगा और आपको न्याय दिलवाकर ही रहूंगा। लैक्चररों का ज्ञापन लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए अभय चौटाला ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने समय में ठेका प्रथा शुरू करके अपनी जेबें भरने का काम किया और उसका नतीजा ये निकला कि आज 53000 कच्चे कर्मचारी सुप्रीम कोर्ट द्वारा कांग्रेस की पॉलिसी को खारिज करने के कारण सड़कों पर है। उन्होने कहा कि आज चाहे प्रो.हो या अध्यापक सभी ठेका प्रथा के अंतर्गत काम कर रहे है और यही हाल हर सरकारी विभाग में नजर आ रहा है। उन्होने कहा कि सरकार नए लोगों को सरकारी नौकरी में युवाओं को मौका देने की बजाय रिटायर्ड हुए लोगों को ही दोबारा से कॉन्टैक्ट बेस पर काम पर रख रही है। उन्होने कहा कि आज भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण युवा और पढ़ा लिखा बेरोजगार घूम रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण आज हरियाणा प्रदेश का हर वर्ग सड़कों पर उतरा हुआ है लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नही रेंग रही है। उन्होने कहा कि भाजपा सरकार ने अपने घोषणा-पत्र में हरियाणा के लोगों से जो वायदे किए थे उनमें से किसी को भी पूरा नही किया,जिसके कारण हरियाणा का हर वर्ग सरकार के खिलाफ होता हुआ नजर आ रहा है। उन्होने कहा कि मंत्री-मुख्यमंत्री की नही मानते है और अधिकारी मुख्यमंत्री की बात नही मान रहे है,जिसका खामियाजा हरियाणा की आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के उस ब्यान को हास्यस्पद बताते हुए कहा कि हुड्डा किस हैसियत से काग्रेस के सत्ता में आने पर 3000 रूपये देने क ी पैशन देने की घोषणा कर रहे है जबकि वह वर्तमान मे काग्रेस के किसी भी पद पर नही है। इनेलो नेता ने कहा कि 1966 से 2005 तक हरियाणा पर 23000 का कर्ज था लेकिन हुड्डा के शासन काल में यह कर्ज बडकर 70000 करोड़ रूपये हो गया नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अपनी राजनैतिक जमीन तलाश रहे है और वह अनाप शनाप ब्यान बाजी करके जनता को गुमराह करने में लगे हुए है। उन्होने दावा जताते हुए कहा कि जिस तरह से हरियाणा का आम वर्ग दुखी और परेशान हो रहा है और सरकार के झूठे वायदों के खिलाफ सड़कों पर उतर चुका है,हरियाणा में अगली सरकार इनेलो-बसपा गठबंधन की बनने वाली है। उन्होने कहा कि इनेलो के जेल भरो आंदोलन को अपार सफलता मिल रही है लेकिन सरकार एसवाईएल के मामले पर कुछ भी करने को तैयार नही है। उन्होने कहा कि अब हरियाणा का किसान और कमेरा वर्ग जाग चुका है और इनेलो के साथ पूरी तरह से खड़ा हुआ है इसलिए हम तब तक अपना संघर्ष जारी रखेगें जब तक हरियाणा को उसके हक का पानी नही मिल जाता।इससे पूर्व अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनकर उनका मौके पर निवारण किया और कार्यकर्ताओं से आहवान किया कि वो पूरी ताकत के साथ अगले साल होने वाले चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं। इस मौके पर पूर्व मंत्री भागीराम,इनेलो जिलाध्यक्ष पदम जैन,अशोक वर्मा,विनोद बैनीवाल,राकेश चाहर,रणबीर सरपंच,गुरविन्द्र सिंह,अजब ओला, सह-प्रवक्ता महावीर शर्मामुकेश रोहिल्ला,महेन्द्र मेहता आदि नेतागण मौजूद थे।

सांसद दुष्यंत का प्रयास लाया रंग, हिसार को मिली नई ट्रेन


हिसार: दक्षिण भारत की तरफ आवागमन करने वाले क्षेत्रवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। सांसद दुष्यंत चौटाला के प्रयासों से हिसार को तीन नई ट्रेनों की सौगात मिली है। जिसमें दक्षिण की ओर जाने वाली दो ट्रेनों को हिसार तक बढ़ा दिया गया है, वहीं एक ट्रेन, जिसका रात्रि को हिसार में ठहराव था, उसे चुरू तक कर दिया गया है। रेल भवन से इस बारे में मंगलवार को आदेश जारी कर दिए गए है।
विदित हो कि पिछले दिनों सांसद दुष्यंत चौटाला ने कई बार संबंधित अधिकारियों के साथ साथ केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात करते हुए हिसार के लिए ट्रेन चलाने की मांग को प्रमुखता के साथ उठाया था। उनका कहना था कि वासिंग यार्ड बनने के बाद हिसार में ट्रेनों का ठहराव किया जा सकता है। उनकी मांग पर अब रेल मंत्रालय ने तीन ट्रेनों का विस्तार किया है। जिसमें पहली ट्रेन जो एक्सप्रेस टेªन बीकानेर से सिकंदराबाद तक चलती थी, उसे अब हिसार तक बढ़ाते हुए हिसार- बीकानेर-सिकंदाराबाद कर दिया गया है। यह ट्रेन सप्ताह में दो बार चलेगी। इसके साथ ही एक अन्य एक्सप्रेेस ट्रेन कोयंबटूर-बीकानेर को भी हिसार तक बढ़ा दिया गया है। यह ट्रेन सप्ताह में एक दिन चलेगी। इन ट्रेनों के चलने से दक्षिण भारत के लिए हिसारवासियों को सप्ताह में तीन दिन ट्रेन मिल सकेंगी, जो पहले नहीं थी। इसी तरह सांसद दुष्यंत चौटाला की मांग पर पहले जो पैसेंजर ट्रेन लुधियाना से चलकर रात्रि को हिसार आकर रूकती थी, उसे भी अब चूरू तक बढ़ा दिया गया है। यह ट्रेन लुधियाना से चलकर रात्रि आठ बजे हिसार पहुंचेगी और चूरू के लिए रवाना होगी। वहीं सुबह यही ट्रेन चूरू से चलकर सुबह आठ बजे हिसार पहुंचेगी। इस ट्रेन के विस्तार से सिवानी, झूंपा, राजगढ़ की तरफ आवागमन सुगम होगा। सांसद चौटाला ने इसके लिए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल का आभार जताया और विश्वास जताया कि उनकी मांग पर जल्द ही अन्य नई सौगातें भी हिसार को मिलेंगी।


जेल भरो आंदोलन को लेकर घर घर न्यौता दें कार्यकर्ता- राजेंद्र लितानी


हिसार: एसवाईएल को लेकर शुरू किए गए आंदेालन के तहत इंडियन नेशनल लोकदल और बहुजन समाज पार्टी की ओर से 22 जून को नई अनाज मंडी में जोरदार प्रदर्शन करते हुए सामुहिक गिरफ्तारियां दी जाएगी। इस जेल भरो आंदोलन में जिले भर के इनेलो व बीएसपी कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस आंदोलन की तैयारियों को लेकर मंगलवार को इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी की अध्यक्षता में सिरसा रोड स्थित देवीलाल सदन में इनेलो पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। जिसमें कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को जिम्मेदारियां सौंपते हुए इस आंदोलन को सफल बनाने का आह्वान किया गया।
बैठक को संबोधित करते हुए इनेलो जिलाध्यक्ष राजेंद्र लितानी ने कहा कि एसवाईएल का पानी प्रदेश की जीवन रेखा है। लेकिन इस मामले को लेकर माननीय सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आने के बावजूद बीजेपी सरकार ढुल मुल रवैया अपना रही है, जिससे प्रदेश के लोगों में भारी रोष है। इनेलो एसवाईएल को लेकर प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़े हुए है और एसवाईएल का पानी लाकर ही यह आंदोलन समाप्त होगा। उन्होंने कहा कि 22 जून को नई अनाज मंडी में किए जाने वाले जेल भरो आंदोलन में नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला मुख्य वक्ता के तौर पर शिरकत करेंगे। वहीं जेल भरो आंदोलन के प्रभारी के तौर पर स्थानीय सांसद दुष्यंत चौटाला विशेष तौर पर उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों से आह्वान किया कि वे इस आंदोलन को लेकर घर घर जाकर न्यौता दें ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग इस आंदोलन का हिस्सा हों और अपने हक की आवाज को बुलंद किया जा सके। उन्होंने कहा कि जब से इनेलो व बीएसपी का गठबंधन हुआ है, बीजेपी व कांग्रेस के होश उड़े हुए है। लोगों को अब विश्वास हो गया है कि प्रदेश का भविष्य सही अर्थों में इनेलो बीएसपी गठबंधन के हाथों में ही सुरक्षित है और 22 जून को उमड़ने वाली भीड़ से यह साबित भी हो जाएगा। इस मौके पर विधायक वेद नारंग, अनूप धानक, पूर्व मंत्री सुभाष गोयल, पूर्व विधायक पूर्ण सिंह डाबड़ा,  राष्ट्रीय सचिव युद्धवीर आर्य, चतर सिंह, राजेश गोदारा, हलका अध्यक्ष सजन लावट, सतबीर सिसाय, सत्यवान बिछपडी, सतपाल सरपंच, युवा जिला अध्यक्ष अमित बूरा, पूर्व आईपीएस राज सिंह मोर, हरफूल खान भट्टी, बहादुर सिंह नायक, डॉ अनन्त राम बरवाला, एडवोकेट मनदीप बिश्नोई, शन्नो देवी, डॉ राज कुमार दिनोंदिया, मनीष गोयल, तरुण जैन, डॉ सत्यनारायण मंगाली, विपिन गोयल, रवि आहूजा, राज कुमार जांगड़ा, मोहित अरोड़ा, राजीव शर्मा, अमित ग्रोवर, शगुन भारद्वाज, महाबीर खर्ब, कर्ण सिंह दैपल, अभिषेक बिश्नोई, सुनील बूरा, परवीन ढांडा, कैप्टन छाजू राम, मास्टर गुलाब सिंह, धोलू गोदारा, अशोक यादव सहित काफी संख्या में इनेलो पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tuesday, June 12, 2018

कांग्रेस की मंशा इनेलो पार्टी को ख़त्म करने की थी - अभय चौटाला 


जींद, 12 जून: एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए जींद में हुए जेल भरो आंदोलन के दौरान आज 20 हजार से भी ज्यादा इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारियां दी। गिरफ्तारी से पूर्व नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जींद जिले का इतिहास रहा है कि यहीं से सत्ता परिवर्तन होता है। इस आंदोलन में हजारों की संख्या में पहुंचे लोगों ने इस बात पर मुहर लगा दी है। उन्होंने कहा कि पार्टी पिछले 19 महीनों से लगातार केंद्र और प्रदेश की सरकार के खिलाफ प्रदेश को उसके हिस्से का पानी दिलवाने के लिए आंदोलनरत है और इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर जेल जलयुद्ध संघर्ष में हिस्सा लेने वाले लोगों का नाम प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखने के साथ-साथ उन्हें सम्मानित भी किया जाएगा। 
नेता विपक्ष ने यह भी कहा कि एसवाईएल के निर्माण के लिए इनेलो-बसपा वचनबद्ध है आज सरकार के पास न जो आंदोलनकारियों की गिरफ्तारियों के लिए साधन है और न ही जेलों में जगह पर इनेलो अपने हर आंदोलन में साथियों की संख्या बढ़ाकर सरकार को झुकाने का काम करेगी ताकि प्रदेश की सरकार को मजबूर होकर नहर का निर्माण करवाना पड़े। 
अभय सिंह चौटाला ने कहा कि कांग्रेस ने इनेलो के बड़े नेताओं को साजिश के तहत जेल भेजने का जो काम किया है उसके पीछे उसकी मंशा पार्टी को खत्म करने की थी लेकिन पार्टी का हर कार्यकर्ता बधाई का पात्र है जिसने पार्टी को पहले से भी ज्यादा मजबूती प्रदान की है। अब इनेलो उसे प्रदेश की राजनीति से बाहर का रास्ता दिखाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि तब तीसरे मोर्चे का गठन न होने की वजह से भाजपा को चुनना देश की जनता की मजबूरी था। कांग्रेस के दस साल के भ्रष्टाचार से देश व प्रदेश की जनता बदलाव चाहती थी। लेकिन अब तीसरे मोर्चे का गठन हो चुका है और आगामी आम चुनाव में बहन मायावती के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे की ही देश में सरकार बनेगी।
इनेलो नेता ने कहा की भाजपा ने देश व प्रदेश में झूठ का सहारा लेकर सत्ता हथियाने का काम किया है। सत्ता हासिल करने के बाद भाजपा ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया, न तो एसवाईएल का निर्माण करवाया, न प्रदेश में 24 घंटे बिजली हुई। उन्होंने कहा कि अगर प्रदेश में गठंबधन की सरकार बनती है तो वे जननायक चौधरी देवीलाल की नीतियों का अनुसरण कर किसानों के कर्ज माफ करने के साथ-साथ स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट भी लागू करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि  हर परिवार में से एक युवा को सरकारी नौकरी, गरीब की बेटी की शादी में 5 लाख रुपए की कन्यादान राशि दी जाएगी। वहीं बुजुर्गों को एकमुश्त 2500 रुपए पैंशन घर बैठे ही मिला करेगी। इसके लिए उन्हें बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने पर प्रदेश में बिजली बिल आधे किए जाएंगे। इससे पूर्व बसपा के हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती ने कहा कि प्रदेश की जनता आम चुनाव और विधानसभा चुनाव के लिए तैयार रहे। भाजपा के घटते जनाधार को देखते हुए केंद्र की सरकार समय से पहले ही देश और प्रदेश में चुनाव करा सकती है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा की रैलियों में बढ़ती भीड़ बदलाव की सूचक है जिसके कारण विरोधी दल अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं।


एसवाईएल, मेवात कैनाल व दादूपुर नलवी के निर्माण के लिए हो रहे इस जलयुद्ध संघर्ष में गिरफ्तारी देने वालों में मुख्यत: अभय सिंह चौटाला, बसपा उत्तरी जोन के प्रभारी डा. मेघराज, बसपा प्रदेशाध्यक्ष प्रकाश भारती, इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, पूर्व सीपीएस रामपाल माजरा, बृज शर्मा, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, विधायक परमेंद्र ढुल, पिरथी नम्बरदार, हरिचंद मिड्ढा, अनूप धानक, वेद नारंग पूर्व विधायक रामफल कुंडू, कलीराम पटवारी, सूरजभान काजला, रमेश खटक, महिला नेत्री शीला भ्यान, प्रदीप गिल, गुरदीप सांगवान सहित हजारों गठबंधन नेताओं ने गिरफ्तारियां दी।